GLIBS
18-09-2020
कलेक्टर की फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर ठग मांग रहा लोगों से रुपए, सोशल मीडिया पर दी जानकारी

रायपुर। रायगढ़ कलेक्टर भीम सिंह के नाम से फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर लोगों से रुपये मांगने के ​मामले में कलेक्टर ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है। बता दें कि रायगढ़ कलेक्टर भीम सिंह के नाम से फेसबुक में कुछ लोगों से रुपए मांगे गए। संदेह होने पर इसकी जानकारी कलेक्टर को दी गई। तब पूरा मामला सामने आया है। उन्होंने स्वयं आगे आकर लोगों को ठग के बारे में जानकारी दी है। दरअसल कलेक्टर भीम सिंह ने फेसबुक पर जानकारी दी है कि कुछ लोग उनके नाम से रुपए मांग रहे हैं। उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि दोस्तों मेरी फर्जी प्रोफाइल किसी ने बना ली है और कुछ लोगों से रुपए की मांग रहा है। मैंने इसकी रिपोर्ट की और पुलिस में एफआईआर भी दर्ज कराई है। आगे उन्होंने लिखा है कि कोई भी आपसे किसी भी कारण रुपए मांगे तो उस पर विश्वास न करें।

06-09-2020
28 साल बाद सौतेली बेटी ने पिता पर दर्ज कराई दिल्ली में एफआईआर, रायपुर पुलिस करेगी मामले की जांच

रायपुर। शहर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र में  पिता पर सौतेली बेटी ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। बेटी ने सौलेते पिता पर 28 साल बाद दिल्ली में एफआईआर दर्ज कराई है। दिल्ली पुलिस मामले को रायपुर भेज दिया है। शिकायतकर्ता बेटी के खिलाफ भाइयों ने पहले ही ब्लैकमेलिंग की शिकायत दर्ज कराई थी।बता दें कि 40 साल पहले पिता की पहली पत्नी से तलाक होने के बाद एक तलाकशुदा महिला से पिता ने दूसरी शादी की। पहले से ही महिला के 2 बच्चे थे। लेकिन अभी चार साल पहले दूसरी पत्नी का निधन हो गया। शिकायतकर्ता सौलेती बेटी शादी के बाद परिवार के साथ दिल्ली में रहती है, जबकि 72 वर्षीय पिता अपने 2 बेटों के साथ रायपुर में रहता है।

42 वर्षीय बेटी ने सौतेले पिता पर दिल्ली पुलिस में यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। रिपोर्ट में कहा है कि पिता ने आज से 28 साल पहले 1992 में 'तब उसकी उम्र 14 वर्ष थी' उसके साथ यौन उत्पीड़न किया था। दिल्ली पुलिस ने पिता के खिलाफ धारा 354, 506 के तहत एफआईआर दर्ज कर केस को रायपुर पुलिस को सौंप दिया है। शिकायत मिलने के बाद इस मामले में जांच की जा रही है।

 

06-09-2020
पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर 10 सितंबर से सीएम हाउस के सामने बैठेंगे धरने पर...

कोरबा। प्रदेश के पूर्व गृहमंत्री व रामपुर विधायक ननकीराम कंवर सीएम हाउस के सामने धरने पर बैठने की चेतावनी दी है। उन्होंने अपने पुत्र के साथ बंधक बनाकर मारपीट करने के मामले में यथोचित एफआईआर नहीं होने व देवेन्द्र पांडेय तथा उनके पुत्र की गिरफ्तारी 9 सितम्बर तक नहीं होने पर 10 सितम्बर से सीएम निवास के सामने भूख हड़ताल पर बैठने की चेतावनी दी है।

06-09-2020
कलेक्टर ने स्वास्थ्य जांच कराने की अपील, कहा- भ्रामक या गलत जानकारी देने पर होगी एफआईआर

रायपुर। कलेक्टर डॉ.एस. भारतीदासन ने वर्तमान में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण को ध्यान में रखते हुए अधिक से अधिक लोगों को स्वास्थ्य परीक्षण कराने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि, प्रशासन ने कोरोना वायरस महामारी से बचाव और रोकथाम के संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए हैं। कोरोना वायरस से बचाव के लिए कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की पहचान और तत्परतापूर्वक जांच बहुत आवश्यक है। कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की कॉन्टेक्ट्स ट्रेसिंग करने पर उनके प्रायमरी और सेकेन्डरी कॉन्टेक्ट्स की कोविड-19 जांच तत्परतापूर्वक कराना आवश्यक है। ट्रेसिंग के दौरान हाई रिस्क कॉन्टेक्ट्स की कोविड-19 जांच तत्काल और किसी भी दशा में जानकारी होने से 12 घंटे की अवधि में अनिवार्यतः कराने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी रायपुर को निर्देश दिया गया है। 

कलेक्टर ने कहा है कि, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और संबंधित इंसिडेंट कमांडर से पता चला है कि,कोविड-19 जांच के लिए सैम्पल लेने के दौरान कुछ व्यक्तियों की ओर से गलत या अपूर्ण मोबाइल नंबर या पता दिया जाता है। इसी प्रकार कुछ व्यक्तियों की ओर से जांच सैम्पल देने के बाद या पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद मोबाइल स्विच ऑफ कर लिया जाता है। इससे उनकी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग नहीं हो पाती है। मरीजों को अस्पताल पहुंचाने या होम आइसोलेसन की अनुमति देने के कार्य में संलग्न अधिकारियों, कर्मचारियों के कार्य में गंभीर बाधा उत्पन्न होती है। इस तरह ट्रेस नहीं किए जा सके कोरोना पॉजिटिव मरीजों से संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। इस प्रकार का कृत्य आपराधिक कृत्य की श्रेणी में आता है। अतः आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 सहपठित एपिडेमिक डिसीजेज एक्ट 1897 यथा संशोधित 2020 और राज्य शासन की ओर से जारी रेगुलेशन 2020 से निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए आदेशित किया जाता है कि, यदि किसी व्यक्ति को उक्त कृत्य करते पाया जाता है तो,संबंधित इंसिडेंट कमांडर और नोडल अधिकारी उपलब्ध जानकारी के आधार पर ऐसे व्यक्ति के विरुद्ध भरतीय दण्ड संहिता,1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51 सहपठित एपिडेमिक डिसीजेज एक्ट 1897 यथासंशोधित 2020 और राज्य शासन की ओर से जारी रेगुलेशन 2020 के अधीन संबंधित पुलिस थाना में एफआईआर दर्ज की जाएगी।

01-09-2020
कोरोना संक्रमित दो व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर,पता छुपाकर कर रहे थे गुमराह

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने कोरोना वायरस संकमण के नियंत्रण और रोकथाम के लिए आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि, वर्तमान में जिले में कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है।  रोकथाम और नियंत्रण में रखने के लिए सभी संबंधित उपाय अमल में लाया जाना उचित और आवश्यक हो गया है। शासन की ओर से जारी निर्देशों के उल्लंघन करने पर एपीडेमिक डिसीज एक्ट और विधि अनुकुल नियमानुसार अन्य धाराओं के तहत कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। निर्देश के पालन में मंगलवार को जोन 5 के इंसिडेंट कमांडर संदीप अग्रवाल ने दो व्यक्तियों के विरुद्ध एपेडेमीक एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज करवाई है। पहली फुटबाल हाउस के पास सुंदर नगर निवासी व्यक्ति के खिलाफ दर्ज कराई गई है। व्यक्ति की 18 अगस्त को रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसी तरह न्यू चंगोराभाठा गिट्टी खदान के पास निवासी व्यक्ति 21 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव  मिला था। दोनों से निरंतर संपर्क कर हॉस्पटिल में भर्ती होने कहा गया था, परंतु वे शासन के आदेश की अवहेलना करते हुए अपना पता छुपा कर मोबाइल में झूठी जानकारी देते रहे। प्रशासन की ओर से उनके निवास पर होम आईसोलेशन का स्टीकर और रिबन भी लगाया गया था। कोरोना संक्रमित व्यक्ति को निर्देश दिए जाने के बाद भी प्रशासन का सहयोग ना करने और संक्रमण फैलाने का कार्य किया जा रहा है। इन दोनों मामले में  एपिडेमिक एक्ट का उलंघन कर जानबूझकर संक्रामक बीमारी फैलाने के अपराध में धारा 188, 269, 270 आईपीसी के तहत अपराध दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं।

 

01-09-2020
चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में रायपुर में फिर एक बार आरोपी के खिलाफ एफआईआर...

रायपुर। चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में ​रायपुर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। शिकायत दर्ज होने के बाद से ही आरोपी फरार हैं। फिलहाल पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी हुई है। मामला आमानाका थाना क्षेत्र का है। दर्ज एफआईआर के मुताबिक आरोपी राजेन्द्र कुर्रे ने 30 जून की सुबह 9 से 10 बजे के बीच अपने मोबाइल नंबर से बच्चों और महिलाओं की अश्लील वीडियो पोर्न साइड पर अपलोड़ की थी। इस घटना के संबंध में दिल्ली एनसीआरबी से एक जांच रिपोर्ट आमानाका थाना और रायपुर सायबर सेल को भेजी गई थी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से देखते हुए आरोपी राजेन्द्र कुर्रे के खिलाफ आमानाका थाना में धारा 67, 67 (A), 67 (बी), के तहत अपराध दर्ज किया गया है। शिकायत के बाद से ही आरोपी राजेन्द्र कुर्रे फरार है, जिसकी खोज में पुलिस जुटी हुई है।

13-08-2020
उप सरपंच ने पीएम आवास योजना की राशि अपने खाते में ट्रांसफर कराई, हितग्राही ने दर्ज कराई एफआईआर

अंबिकापुर। उप सरपंच द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना की राशि हड़पने का मामला सामने आया है। आरोप है कि उप सरपंच ने ग्राहक सेवा केंद्र के आधिकारी को धमका कर रूपये अपने खाते में ट्रांसफर करवा लिया। इसकी शिकायत हितग्राही और ग्राहक सेवा केंद्र के अधिकारी ने पुलिस में की है। फिलहाल पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है। यह मामला अंबिकापुर जिले के मैनपाट थाना क्षेत्र के ग्राम रोपाखार का है, जहां उप सरपंच रजनीश पांडे पर आरोप है कि उसने 2 अगस्त को प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राही बरनराम विश्वकर्मा के खाते से ग्राहक सेवा केंद्र के अधिकारी को डरा-चमका के अपने खाते में 20 हज़ार रूपये ट्रांसफ़र करवा लिया। प्रार्थी ग्राहक सेवा अधिकारी का कहना है कि उप सरपंच रजनीश पांडे, ग्राहक सेवा केंद्र में पहुंचा था और वह बरनराम के खाते से 20 हजार रूपये अपने खाते में ट्रान्सफर करने को कहा। ग्राहक सेवा केंद्र के अधिकारी ने रूपये डालने से इंकार कर दिया तब उसने भाजपा से जुड़े होने का धौंस देकर उससे जबरदस्ती रूपये डलवाए। हितग्राही बरनराम अपने खाते से पीएम आवास का पैसा निकालने पहुंचा तब ग्राहक सेवा केंद्र के अधिकारी ने उसे मामले की जानकारी दी। तब 8 अगस्त को ग्राहक सेवा केंद्र के अधिकारी और बरनराम ने कमलेश्वरपुर थाने में जाकर उप सरपंच के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। इस मामले में कलेश्वरपुर थाना प्रभारी सुधीर मिंज ने बताया कि ‘ रजनीश पांडे के खिलाफ धारा 294, 506, 323 और 384 दर्ज किया गया है, आरोपी फ़िलहाल फरार है, पुलिस उसके तलाश में लगी हुई है।

 

 

04-08-2020
जानकारी छुपाने या चोरी-छुपे गांवों में आने वालों के खिलाफ होगी एफआईआर : रजत बंसल

जगदलपुर। कलेक्टर रजत बंसल ने मंगलवार को आयोजित जिला स्तरीय कोरोना समिति की बैठक में सीमा चौकी की सघन जाँच की व्यवस्था पर चर्चा । उन्होंने अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले के गाँव में चोरी छुपे आने वालों और अन्य राज्यों व जिलों के रेड जोन से आने वालों के द्वारा पूरी जानकारी नहीं देने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया जाए। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक दीपक झा, सीईओ जिपं इंद्रजीत चन्द्रवाल, अपर कलेक्टर अरविंद एक्का, सहायक कलेक्टर रेना जमील सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।बंसल ने भीड़ वाले हाट बाजार को बंद करवाने के किए कार्यवाही का संज्ञान लेकर बाजारों की व्यकल्पिक व्यवस्था के लिए पंचायत के प्रतिनिधियों से चर्चा कर के आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। साथ ही कंट्रेक्ट ट्रेसिंग के लिए तैनात दलों को सम्पूर्ण जानकारी देने के लिए  प्रशिक्षण, सेक्टर मजिस्ट्रेट की ड्यूटी,घर-घर सर्वे कार्य के सम्बंध में चर्चा किया गया। कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को पॉजिटिव केस आने के बाद एक्टिव सर्विलेंस दल के द्वारा पीपीईटी किट पहनकर ही जाँच करवाने के निर्देश दिए। साथ ही सार्वजनिक स्थलों पर रेंडम परीक्षण में विशेषकर सिम्टोंमेटिक लोंगो का ही जाँच करने कहा गया। शहर में मेडिकल दुकानों, राशन सहित अन्य दुकान संचालकों को मास्क का उपयोग, सोशल व फिजिकल दूरी का पालन करवाने के लिए निगम आयुक्त और एसडीएम को निर्देश दिए। इसके अलावा डिमरापाल अस्पताल, धरमपुरा आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्था सहित कंटेनमेंट प्लान के तहत अन्य स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिए।

 

31-07-2020
सुशांत सिंह राजपूत मामले में महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की कैविएट

नई दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती की याचिका पर पक्ष रखने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने भी सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दाखिल की है। राज्य सरकार चाहती है कि रिया की याचिका पर कोई भी आदेश पारित करने से पहले उसका पक्ष भी सुना जाए। इसके पहले बिहार सरकार और सुशांत के पिता भी कैविएट दाखिल कर चुके हैं। दरअसल, दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण कुमार सिंह ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना में एफआईआर दर्ज करवाई है। इसी केस को मुंबई ट्रांसफर कराने की मांग करते हुए रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। रिया की याचिका पर 5 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। इसको लेकर बिहार सरकार का कहना है कि इस याचिका का विरोध करेंगे। राज्य के महाधिवक्ता ललित किशोर ने कहा कि शीर्ष अदालत में मुकुल रोहतगी राज्य का प्रतिनिधित्व करेंगे।
 

30-07-2020
रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जानकारी छिपाने के मामले में युवक के खिलाफ एफआईआर दर्ज

रायपुर। शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीज के खिलाफ जानकारी छिपाने और मोबाइल बंद करने के आरोप में पुलिस ने मामला दर्ज किया है। मिली जानकारी के मुताबिक जोन नंबर-5 मंगलबाजार कॉलोनी निवासी विनय सोनी की रिपोर्ट प़ॉजिटिव आने पर उन्होंने अपनी जानकारी छिपाई और अस्पताल ले जाने के लिए जब उनसे मोबाइल पर संपर्क करने की कोशिश की गई तो उन्होंने अपना मोबाइल जानबूझकर बंद कर दिया था। 

बता दें कि आरोपी विनय सोनी की रिपोर्ट 26 जुलाई को पॉजिटिव आई थी। उनसे सहयोग की अपील करने पर भी उनके द्वारा निरंतर शासन के आदेश की अवहेलना करते हुए अपना पता छिपाकर मोबाइल में झूठी जानकारी देते रहे। उनके निवास में टीम भेजने पर वे निवास में नहीं पाए गए। मामले में निगम प्रशासन ने आजाद चौक थाने में एक लिखित आवेदन दिया था, जिस पर पुलिस ने महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए कोविड-19 पीड़ित के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

28-07-2020
Video : होटल संचालक के खिलाफ हुई एफआईआर,पकड़ाया था 6.50 लाख का जुआ

राजनांदगांव। शहर के रेवाडीह के पास स्थित एक होटल में गत दिनों लालबाग पुलिस ने जुआरियों को गिरफ्तार किया था। यहां से 13 जुआरियों को गिरफ्तार कर उनके पास से लगभग 6.50 लाख की रकम और मोबाइल बरामद किए गए थे। लॉक डाउन का उल्लंघन करने तथा एक कमरे में 13 लोगों के होने पर उक्त होटल संचालक के खिलाफ धारा 188, 269, 270 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। बता दें कि इस होटल कांग्रेस नेता राहुल गांधी चुनाव के समय अपने दो दिवसीय छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान यहीं रुके थे। इस संबंध में प्रशिक्षु डीएसपी मयंक रणसिंह ने बताया कि होटल संचालक को नोटिस जारी किया गया था और स्पष्टीकरण मांगा गया था। लेकिन गोलमोल जवाब आने के बाद लालबाग थाना में होटल संचालक ने खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804