GLIBS
19-10-2019
परियोजना के विरोध में ग्रामीणों ने शुरू किया अनिश्चित कालीन धरना

अंबिकापुर। जिले के उदयपुर में हसदेव अरण्य बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले कोल खनन परियोजना के विरोध में ग्रामीणों ने शनिवार से सरगुजा जिले के ग्राम तारा में अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है। धरना प्रदर्शन में उपस्थित सूरजपुर, सरगुजा एवं कोरबा के प्रभावित किसानों का आरोप है कि अडानी की परसा कोल खनन परियोजना के लिए नियम विरुद्ध ग्रामसभा की सहमति के बिना ही भूमि अधिग्रहण किया गया है। यही नहीं वन स्वीकृति भी फर्जी ग्रामसभा प्रस्ताव बनाकर हासिल की गई है। धरना पर बैठे ग्रामीणों की मांग है कि पेसा कानून 1996 एवं भूमि अधिग्रहण कानून 2013 की धारा (41) के तहत ग्रामसभा सहमति लिए बिना परसा कोल ब्लॉक हेतु किये गए जमीन अधिग्रहण को निरस्त किया जाए। वनाधिकार मान्यता कानून 2006 के तहत ग्रामसभा की सहमति पूर्व एवं वनाधिकारों की मान्यता की प्रक्रिया ख़त्म किए बिना दी गई वन स्वीकृति को निरस्त किया जाए। हसदेव अरण्य क्षेत्र में परसा, पतुरिया गिदमुड़ी, मदनपुर साऊथ कोल खनन परियोजनाओं को निरस्त किये जाए एवं परसा ईस्ट केते बासन के विस्तार पर रोक लगाई जाए।
हसदेव अरण्य के जंगल से जुडी़ आदिवासी एवं अन्य ग्रामीण समुदाय की आजीविका व संस्कृति वन क्षेत्र में उपलब्ध जैव विविधता, हसदेव नदी एवं बांगो बांध के केचमेंट, हाथियों का रहवास क्षेत्र एवं छत्तीसगढ़ व दुनिया के पर्यावरण महत्वता के कारण इस सम्पूर्ण क्षेत्र को खनन से मुक्त रखते हुए किसी भी नए कोल ब्लाकों का आवंटन नहीं किया जाए। वनाधिकार मान्यता कानून के तहत व्यक्तिगत और सामुदायिक वन संसाधन के अधिकारों को मान्यता देकर वनों का प्रवंधन ग्रामसभाओं को सौंपा जाए।

17-10-2019
चौथे दिन और जोश के साथ कोल प्रभावित बैठे धरने पर

उदयपुर। सूरजपुर जिले के ग्राम तारा में सरगुजा, कोरबा व सूरजपुर तीनों जिले के खदान प्रभावित परिवारों का शांतिपूर्ण गांधीवादी तरीके से धरना-प्रदर्शन आज चौथे दिन भी जारी है। धरना प्रदर्शन को चार दिन बीत गए परन्तु अभी तक ग्रामीणों की सुध लेने वाला कोई नहीं आया है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया  है कि खुल चुकी खदानों एवं प्रस्तावित खदानों के लिए गांव में फर्जी प्रस्ताव तैयार कर वन स्वीकृति प्राप्त की गई है। पांचवीं अनुसूची व पेसा कानून का कड़ाई से पालन नहीं किया जा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि नई खदानों की स्वीकृति से लाखों की संख्या में बहुमूल्य साल के पेड़, औषधीय व इमारती पेड़ कटेंगे, आदिवासियों की आजीविका छिन जाएगी। धर्म-संस्कृति, देवगुड़ी, देवस्थल नष्ट होगा, वन्यप्राणियों का रहवास क्षेत्र नष्ट हो जाएगा। पूूरे क्षेत्र का पर्यावरण प्रदूषण होगा। लोगों का कहना है अभी हम ग्रामवासी परसा ईस्ट एवं केते बासन खुली खदान के खुलने के बाद पडऩे वाले दुष्प्रभाव को भूले नहीं हैं। ट्रेलर और ट्रकों से कोल परिवहन से अब तक हजारों ग्रामीण सड़क दुर्घटना का शिकार होकर काल के गाल में समा चुके हैं। विकास के नाम पर प्रकृति से छेड़छाड़ बन्द करें।  ऐसे विकास का क्या मतलब जहां विकास दिखता नहीं, विनाश ही विनाश दिखता है। विनाश हमारा विकास तुम्हारा, हमें मंजूर नहीं है। सामाजिक संगठन गोंडवाना गणतंत्र गोटुल ब्लॉक ईकाई उदयपुर के सदस्यों ने धरना को समर्थन दिया। धरना में  मोहर साय कोर्राम, नवल सिंह वरकड़े, समल सिंह अर्मो, उमेश्वर अर्मो, श्रवण वरकड़े, देवशंकर मराबी, दशरथ उइके तथा सैकड़ों की तादाद में सरगुजा, सूरजपुर व कोरबा जिला के ग्रामवासी उपस्थित थे। 

 

16-10-2019
कोल ब्लॉक के विरोध में ग्रामीणों का धरना तीसरे दिन भी जारी

उदयपुर। सरगुजा जिले के विकासखंड उदयपुर अंतर्गत आने वाले कोल ब्लॉक तथा सूरजपुर व कोरबा जिले के अंतर्गत प्रस्तावित कोल ब्लॉकों से लाखों की संख्या में पेड़ों की कटाई  के विरोध में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण बीते 3 दिनों से हसदेव अरण्य बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले ग्राम तारा में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे हुए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि लाखों की संख्या में पेड़ काटे जाने से पर्यावरण का संतुलन बिगड़ जाएगा। ग्रामीणों को अब सामाजिक संगठनों का समर्थन मिलना भी प्रारंभ हो चुका है। मंच से लोगों को संबोधित करते हुए छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन के आलोक शुक्ला, रेहाना फाउंडेशन के जावेद खान तथा अन्य वक्ताओं ने कहा कि हसदेव अरण्य क्षेत्रवासियों को मालूम है कि सरगुजा, सूरजपुर और कोरबा तीनों जिला आदिवासी जिले हैं। इन क्षेत्रों में पांचवीं अनुसूची व पेशा कानून लागू है जिसका कड़ाई से पालन नहीं किया जा रहा है। कोल खदानों को अनुमति दी जा रही है जो इस क्षेत्र के लिए षडय़ंत्र प्रतीत होता है। आदिवासियों का अस्तित्व खतरे में है। एक तरफ पर्यावरण बचाओ दूसरे तरफ लाखों की संख्या में पेड़ को काटने की अनुमति जंगल उजाडऩे का परमिशन क्या जंगल से, पर्यावरण से ज्यादा जरूरी कोयला है? यदि ऐसा है तो पर्यावरण बचाओ पेड़ लगाओ जैसा नारों का कोई औचित्य नहीं है। इन जिलों में दर्जनों प्रजाति के लाखों की संख्या में बहुमूल्य औषधीय पौधे हैं। वन्यप्राणी रहवास क्षेत्र में बन्दर, भालू, सियार, हिरण आदि स्थाई रूप से इस क्षेत्र में रहते हैं। हाथियों का हमेशा आवागमन होते रहता है। दो चार माह हाथी भी इस क्षेत्र में रहते हैं। वर्तमान में हाथी इन्हीं जंगलों में विचरण कर रहे हैं। यह क्षेत्र पांचवीं अनुसूची क्षेत्र अंतर्गत आता है। बिना ग्राम सभा की अनुमति के कोई भी कार्य नहीं किया जा सकता। बिना अनुमति के बाहरी व्यक्ति गांव में नहीं रह सकता, कम्पनी तो बहुत दूर की बात है। यहां पेशा एक्ट लागू है जिसका कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए। भूमि अधिग्रहण बिना ग्रामसभा की सहमति के गलत है। यदि कोई जनप्रतिनिधि या कर्मचारी बिना ग्रामसभा की अनुमति के कोई भी प्रस्ताव करता है तो इसका मतलब है कि उसे ग्रामसभा के सदस्यों की जरूरत नहीं है।  

16-10-2019
स्कूटर सवार को नहीं नजर आया बीस फीट गहरा नाला, रात भर पड़ी रही लाश

कोरबा। काम निपटाने के बाद अपने घर लौट रहा स्कूटर सवार शख्स की नाले में गिरकर मौत हो गई। यह नाला करीब 20 फीट गहरा है। आशंका जताई जा रही है कि रात के अंधेरे में स्कूटर चालक को यह गड्ढा नजर नहीं आया और वह उसमें वाहन समेत जा समाया। घटना बांकीमोंगरा थाना क्षेत्र के चाकाबुड़ा के पास देवरी पंचायत की है। जानकारी के मुताबिक चाकाबुड़ा के आश्रित ग्राम सलिहापारा निवासी कुंजराम अगरिया निजी कोल कम्पनी एसीबी के अंतर्गत एक ठेका कंपनी में कार्यरत था। वह  अपने सुपर एक्सेल स्कूटर से हरदिन आना-जाना करता था। कल रात वह अपने घर आने रवाना हुआ था लेकिन चाकाबुड़ा में देवरी के धनुहार पारा के पास तालाब के नालानुमा गड्ढे में बाइक समेत जा समाया। बाइक समेत गड्ढे में गिरने से कुंजराम को गंभीर चोटें आई थीं और इस तरह उसकी मौके पर ही मौत हो गई। कुंजराम की लाश पूरी रात गड्ढे में पड़ी रही। आज सुबह जब कुछ लोग नाले के पास से गुजरे तो उनकी नजर दुर्घटनाग्रस्त बाइक और  कुंजराम पर पड़ी। उन्होंने इसकी सूचना तत्काल बांकी थाने को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बरामद कर लिया है। कुंजराम के परिजनों को घटना की जानकारी दे दी गई है।

 

16-10-2019
शहरी स्लमों में रहने वालों को मिलेगा राजीव गांधी आश्रय योजना का लाभ, कलेक्टर ने जारी किए निर्देश

कोरबा। प्रदेश के नगरीय स्लम क्षेत्रों के आवासहीन गरीब लोगों के स्थायी व्यवस्थापन के लिए राज्य सरकार ने राजीव गांधी आश्रय योजना शुरू की है। कलेक्टर किरण कौशल ने आज समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में इस योजना के क्रियान्वयन के संबंध में की जा रही तैयारियों की समीक्षा की और जरूरी निर्देश दिए। कौशल ने राज्य शासन द्वारा योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए जारी किए गए दिशा-निर्देशों पर अधिकारियों से बिंदुवार चर्चा कर जरूरी निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ एस. जयवर्धन, वन मण्डालाधिकारी   गुरुनाथन, नगर निगम आयुक्त राहुल देव, अपर कलेक्टर  प्रियंका ऋषि महोबिया सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी शामिल हुए।

 

16-10-2019
जोगी कांग्रेस के सम्मेलन में नगरीय निकाय चुनाव पर फोकस

कोरबा। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) द्वारा कार्यकर्ता सम्मेलन  जिला कार्यालय में रखा गया। बैठक में कोरबा नगर पालिक निगम में होने जा रहे वार्ड पार्षद चुनाव के तैयारी के लिए 7 ब्लाक अध्यक्षों के साथ-साथ महिला जिलाध्यक्ष, युवा जनता कांग्रेस अध्यक्ष, छात्र अध्यक्ष तथा 67 वार्ड के पार्टी के समर्पित  पदाधिकारी उपस्थित हुए। बैठक में पार्षद के लिए चुनाव लडऩे इच्छुक पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं को अपने-अपने क्षेत्र के ब्लाक अध्यक्षों एवं जिला कार्यालय में आवेदन एक सप्ताह के अंदर प्रस्तुत करने कहा गया है। जानकारी दी गई कि अलग-अलग वार्डों से तीन-तीन नामों का पैनल बनाकर प्रदेश कार्यालय भेजा जाएगा, जहां से सहमति लेकर प्रत्याशियों की घोषणा की जाएगी। पार्टी के संस्थापक सदस्य व कोरबा विधानसभा के प्रत्याशी रामसिंह अग्रवाल ने उपस्थित पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं से कहा कि आगामी चुनाव के लिए अभी से प्रचार-प्रसार एवं जनसंपर्क शुरू कर दें। जिलाध्यक्ष दीपनारायण सोनी ने कहा कि राज्य सहित कोरबा जिले में नगरीय निकाय चुनाव के लिए आज से बिगुल फूंक दिया गया है। कोरबा नगर पालिक निगम के सभी 67 वार्ड से हम अपना उम्मीदवार उतारेंगे। साथ ही साथ पूरी रणनीति के साथ चुनाव लड़ेंगे। पार्टी प्रदेश कोर कमेटी के सदस्य पवन अग्रवाल ने कहा कि पार्षद पद के लिए चयनित उम्मीदवारों को जिला कार्यालय में प्रशिक्षण दिया जाएगा जिससे उन्हें चुनाव लडऩे व जीतने में आसानी हो सके। उन्होंने आगे कहा कि टिकट के लिए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी का निर्णय हम सब के लिए सर्वमान्य होगा। सम्मेलन में पार्टी के सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

 

15-10-2019
दशानन दहन में पहुंचीं सांसद ज्योत्सना महंत, दी सत्मार्ग पर चलने की सीख

कोरबा। भिलाई बाजार क्षेत्र की सार्वजनिक दशहरा उत्सव समिति नराईबोध भठोरा द्वारा दशहरा पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि कोरबा लोकसभा सांसद ज्योत्सना महंत थीं। अध्यक्षता अजय जायसवाल उपाध्यक्ष जिला पंचायत कोरबा ने की। विशिष्ट अतिथि लक्ष्मीकांत जगत पार्षद नराईबोध, बलराम सिंह ठाकुर सरपंच भिलाई बाजार, उषा तिवारी कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष, उषा जायसवाल, दिनेश सोनी पार्षद, महेश अग्रवाल, संजू शर्मा व नरेश अग्रवाल थे। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सांसद महंत ने कहा कि हम सब के अंदर कुछ न कुछ बुराई होती है। आज हम सब ये संकल्प लें कि हम अपने अंदर की रावण रूपी बुराई को खत्म कर सब मिल-जुलकर भाईचारे के साथ रहें। अजय जायसवाल ने कहा कि हमें अपने मन के रावण को मारना है, जो आपस के सामंजस्य को खत्म कर रहा है। हमारे मन में किसी के प्रति घृणा न हो। कार्यक्रम के दौरान भगवान राम, लक्ष्मण, सीता, हनुमान की झांकी ने लोगों का मन मोह लिया। यह झांकी भिलाई बाजार बस्ती से शुरू होकर नराईबोध-भठोरा दशहरा मैदान में आकर समाप्त हुई। इस दौरान जमकर आतिशबाजी भी लोगों को देखने को मिली। तत्पश्चात रात्रि 9 बजे लगभग 50 फीट के रावण के पुतले का दहन किया गया। रावण दहन पश्चात लोगों के मनोरंजन के लिए रात्रि 10 बजे से छत्तीसगढ़ के जससम्राट नितिन दुबे का जसगीत जागरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जसगीत जागरण कार्यक्रम का आनंद सांसद ज्योत्सना महंत सहित हजारों लोगों ने देर रात तक लिया। मंच संचालन शशिकांत पटवा व आभार व्यक्त नरेन्द्र राठौर (अम्बे) ने किया।



 

15-10-2019
दस किश्तों में निकाल लिया प्रधानमंत्री आवास योजना का पैसा, नहीं बनाया मकान, पंच पर धोखाधड़ी का आरोप

कोरबा। पोड़ी-उपरोड़ा जनपद अंतर्गत ग्राम बरतरई निवासी जेठूराम धनुहार ने क्षेत्रीय विधायक मोहितराम केरकेट्टा से न्याय की गुहार लगाते हुए कहा है कि उसके गांव के पंच ने उनके नाम से स्वीकृत प्रधानमंत्री आवास योजना का पैसा हड़प लिया है लेकिन मकान नहीं बनवाया है। जेठू के मुताबिक पीएमएवाई के तहत उसके बैंक खाते की राशि को गांव के पंच ने छलपूर्वक आहरण कर लिया है। पीडि़त हितग्राही जेठूराम ने बैंक लेनदेन का ब्यौरा प्रस्तुत करते हुए बताया है कि बिच्छोपारा के पंच जयकरण ने उसके खाते से करीब दस किश्तों में पूरी राशि आहरित कर ली है। जबकि मकान का निर्माण भी नहीं कराया गया। शिकायत पर संज्ञान लेते हुए विधायक मोहितराम केरकेट्टा ने पोड़ी-उपरोड़ा के एसडीएम को मामले पर तत्काल संज्ञान लेते हुए दोषी पंच पर कार्रवाई की बात कही है। उन्होंने जिपं सीईओ से भी दोषी अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की अपील की है।

 

14-10-2019
राष्ट्रप्रेम की अभिव्यक्ति के साथ आरएसएस ने किया पथ संचलन, अनुशासित सज्जन शक्ति से देश होगा मजबूत: डॉ.सुरेन्द्र  

कोरबा। जननी जन्म भूमि स्वर्ग से महान है, हम प्रेम से सबको जोड़ेंगे मर्यादा को नहीं तोड़ेंगे। राष्ट्र प्रेम की यह अभिव्यक्ति प्रकट हुई कोरबा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पथ संचलन में। सैंकड़ों स्वयंसेवक इसमें शामिल हुए। भ्रमण पथ पर अनेक स्थानों में लोगों ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कोरबा केंद्र स्तर पर विजयादशमी उत्सव एसईसीएल हेलीपैड मैदान, घंटाघर मार्ग में आयोजित किया। निर्धारित समय अनुसार अपरान्ह 3 बजे विभिन्न क्षेत्रों के पूर्ण गणवेशधारी स्वयंसेवकगण यहां एकत्रित हुए। सामान्य प्रक्रिया की पूर्ति के बाद संघ के घोष दल की अगुवाई में भव्य पथ संचलन प्रारंभ हुआ। घंटाघर चौराहा, मुख्य मार्ग, नेताजी सुभाषचंद्र बोस चौराहा, डॉ.राजेन्द्र प्रसाद नगर, एसबीआई कॉलोनी, महाराणा प्रताप नगर में पथ संचलन का स्वागत नागरिक समाज ने पुष्प वर्षा कर किया। इन क्षेत्रों से होते हुए पथ संचलन हेलीपैड मैदान पर पहुंचकर पूर्ण हुआ।
अगले चरण के कार्यक्रम में स्वयंसेवकगणों की ओर से लयबद्ध व अनुशासित व्यवस्था में शारीरिक प्रदर्शन, दंड योग प्रस्तुत किए गए। कोरबा सर्वश्रीवास समाज के जिलाध्यक्ष मोहनलाल श्रीवास के मुख्य आतिथ्य व  नगर संघ चालक डॉ.विशाल उपाध्याय की उपस्थिति में मंचीय कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। मुख्य वक्ता डॉ. सुरेन्द्र कुमार ने उपस्थित नागरिकों और स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए कहा कि रामायण की रचना करने वाले महर्षि वाल्मीकि की जयंती और शरद पूर्णिमा पर आयोजित किया गया यह अत्यंत महत्वपूर्ण संयोग है। सज्जन शक्ति को संगठित कर श्रेष्ठ कार्यों में उसकी उपयोगिता तय की जाए, यह ध्येय को सामने रख कार्य जारी है। स्वच्छता, पर्यावरण संरक्षण, सद्भाव और सामाजिक समरसता को लेकर भी उन्होंने प्रेरणादायक विचार रखे। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग, जिला, नगर और उपनगर क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की काफी उपस्थिति रही। 

13-10-2019
गोंगपा ने जनपद पंचायत पोड़ी उपरोड़ा के सीईओ के खिलाफ सौंपा ज्ञापन

कोरबा। गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने आज जनपद पंचायत पोड़ी उपरोड़ा सीईओ के खिलाफ धरना व रैली निकालकर अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन सौंपा है। पार्टी ने सीईओ पर भ्रष्टाचार व ठेकेदारी प्रथा व सरपंचों के साथ मनमानी करने का आरोप लगाया है। गोंडवाना गणतंत्र पार्टी का आरोप है कि जनपद पंचायत के सीईओ वीके राठौड़ सरपंचों के साथ लगातार मनमानी कर पंचायतों में ठेकेदारी प्रथा चला रहे हैं। अनुभवी अधिकारी ने इस मामले में जांच कर उचित कार्रवाई करने की बात कही है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804