GLIBS
05-08-2020
महेंद्र कर्मा की जयंती पर जिला कांग्रेस कमेटी ने किया याद

धमतरी। छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष सलवा जुडूम के प्रणेता झीरम घाटी नक्सली हमले में शहीद बस्तर टाइगर महेंद्र कर्मा की जयंती जिला कांग्रेस कमेटी धमतरी के द्वारा जिला अध्यक्ष कांग्रेस कार्यालय रायपुर रोड बठेना चौक में मनाई गई। इस दौरान उपस्थित कांग्रेसजनों के द्वारा सर्वप्रथम शहीद महेंद्र कर्मा जी के छायाचित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित किया गया तत्पश्चात उनके व्यक्तित्व-कृतित्व एवं जीवनी पर प्रकाश डाला डालते हुए, उनके द्वारा किए गए जनकल्याणकारी कार्यों एवं कार्यकर्ताओं के साथ उनके लगाओ को स्मरण किया गया। इस दौरान जिला अध्यक्ष शरद लोहाना ने कहा कि कर्मा बस्तर क्षेत्र के आदिवासी नेता थे उनका जन्म 5 अगस्त 1950 को दंतेवाड़ा जिले के दरबोडा कर्मा में हुआ था। उन्होंने 1969 में बस्तर हायर सेकेंडरी स्कूल,जगदलपुर से उच्च माध्यमिक की शिक्षा प्राप्त की और 1975 में दंतेश्वरी कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई पूरी की। उनके बड़े भाई लक्ष्मण कर्मा भी सांसद रहे। इससे पहले नक्सलियों ने उनके भाई पोदीराम की हत्या कर दी थी भैरमगढ़ जनपद पंचायत के अध्यक्ष थे। इनके अलावा उनके 20 रिश्तेदारों को भी नक्सलियों ने मार डाला था उनके पुत्र छबील कर्मा भी दंतेवाड़ा के जिला पंचायत अध्यक्ष थे।

कर्मा जी अविभाजित बस्तर के जिला पंचायत के वह पहले अध्यक्ष के रूप में चुने गए 1996 के आम चुनाव में बस्तर लोकसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीतकर संसद बने थे बाद में वे कांग्रेस में शामिल हो गए जोगी के मंत्रिमंडल में उन्होंने उद्योग और वाणिज्य मंत्री के रूप में कार्य किया 2003 में कांग्रेस पार्टी के विधानसभा चुनाव में हार के बाद उन्हें विपक्ष का नेता बनाया गया। माओवादियों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाने के कारण उन्हें बस्तर टाइगर के रूप में जाना जाता था। मंच संचालन ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष नरेश जसूजा द्वारा किया गया। इस दौरान जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शरद लोहाना, पूर्व विधायक हर्षद मेहता, पूर्व जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी, सभापति अनुराग मसीह, जनपद अध्यक्ष गुंजा साहू, ब्लॉक अध्यक्ष नरेश जसूजा, प्रदेश प्रवक्ता कृष्ण कुमार मरकाम,अरुण चौधरी एल्डरमैन, डॉ. विजय प्रकाश जैन, देवेन्द्र अजमानी, असरफ रोकड़िया, सलीम रोकड़िया, वसीम रिज़वी, शिवओम बैगा नाग, मंजीत छाबड़ा, शंकर गवली, विक्रांत शर्मा, लखन पटेल, नकछेडु राम जगबेहड़ा, तनवीर कुरैशी, मधुकांत राठौर, दीपक सोनकर, सूरज गहरवार, तारिक रज़ा कादरी, ईश्वर देवांगन, अशोक कुर्रे, राजा कुरैशी, बालगोविंद साहू, डिलन चन्द्राकर, चौराराम वर्मा, सूर्यकांत साहू, गीताराम सिन्हा, अंबर चंद्राकर शिवम राय संकेत गुप्ता, विजेंद्र रामटेके, आशीष बंगानी, राजेन्द्र यादव, आकश यादव सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसजन उपस्थित रहे।

 

05-08-2020
शहीद महेंद्र कर्मा की जयंती पर शिवानंद आश्रम में छायाचित्र पर किया गया पुष्पअर्पण

गीदम। शहीद महेंद्र कर्मा की 70वीं जयंती के शुभ अवसर पर शिवानंद आश्रम गुमरगुण्डा में गीदम ब्लाक कांग्रेस कमेटी द्वारा छायाचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर आश्रम प्रांगण में वृक्षारोपण किया गया। कार्यक्रम में स्वामी विशुद्धानंद सरस्वती, जिला पंचायत सदस्य सुलोचना कर्मा, जनपद सदस्य राजेश कश्यप, सरपंच गण ,ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कमलोचन सेठिया, जवाहर सुराना, युवा कांग्रेस के पदाधिकारी गण उपस्थित हुए।

01-08-2020
पं.रविशंकर शुक्ल ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में शीर्ष भूमिका निभाई : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सेन्ट्रल प्रोविंन्स व बरार राज्य और अविभाजित मध्यप्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री पंडित रविशंकर शुक्ल की जयंती 2 अगस्त पर उन्हें नमन किया है।मुख्यमंत्री ने पंडित शुक्ल के योगदान को याद करते हुए कहा कि भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के राष्ट्रीय आंदोलनों में उन्होंने शीर्ष भूमिका निभाई। इस दौरान उन्होंने छत्तीसगढ़ में जन-जागरूकता के साथ-साथ पत्रकारिता और वकालत के माध्यम से अथक सेवा की। आजादी के बाद पंडित शुक्ल ने सेन्ट्रल प्रोविंन्स व बरार राज्य और अविभाजित मध्यप्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री के रूप में अपनी उल्लेखनीय सेवाएं दी और विकास की नई जमीन तैयार की। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुरोधा के रूप में दी गई उनकी सीख हमेशा हमारे आगे बढ़ने का रास्ता प्रशस्त करेगी।

 

31-07-2020
झीरम घाटी नक्सल हमले में शहीद उदय मुदलियार की जयंती आज

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से शुक्रवार को नक्सल हमले में शहीद हुए पूर्व विधायक उदय मुदलियार की जयंती मनाई गई। राजीव भवन में सुबह स्व. मुदलियार की तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गई। शहीद उदय मुदलियार अमर रहे के नारे भी लगाए गए। श्रद्धांजलि कार्यक्रम में प्रमुख रूप से प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष गिरीश देवांगन, कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे, शहर प्रवक्ता बंशी कन्नौजे, ब्लाक अध्यक्ष कामरान अंसारी,राकेश धोतरे, श्रीनिवास, मनोज मसंद उपस्थित थे।

23-07-2020
चंद्रशेखर आजाद के कहे हुए शब्द आज भी हमारे अंदर जोश भर देते हैं : महापौर

धमतरी। चंद्रशेखर आजाद की जयंती पर महापौर विजय देवांगन, सभापति अनुराग मसीह एवं समस्त पार्षदों ने कोष्टापारा वार्ड (आजाद चौक) में स्थापित चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा को नमन किया। महापौर विजय देवांगन ने कहा कि चंद्रशेखर आजाद भारत के महान क्रांतिकारियों में से एक है,जिनके नाम से अंग्रेज काँपा करते थे। वह एक निर्भीक क्रांतिकारी थे, भारतीय स्वतंत्रता के स्वतंत्रता सेनानी थे। वे क्रांतिकारी गतिविधियों से जुड़कर हिंदुस्तान रिपब्लिकन के सक्रिय सदस्य बने। भगत सिंह सुखदेव और राजगुरु के साथ मिलकर हिंदुस्तान समाजवादी प्रजातंत्र सभा का गठन किया। चंद्रशेखर आजाद एक महान भारतीय क्रांतिकारी थे।उनकी उम्र देशभक्ति और साहस में उनकी पीढ़ी के लोगों को स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने के लिए प्रेरित किया।

उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर आजाद के कहे हुए शब्द "आजाद थे आजाद हैं और आजाद ही रहेंगे" आज भी हमारे अंदर जोश भर देता है। ऐसे महान क्रांतिकारी  को नमन करता हूं। इस अवसर पर एमआईसी सदस्य राजेश ठाकुर, रूपेश राजपूत, केन्द्र कुमार पेंदरिया, राजेश पांडेय, पार्षद राही नारायन यादव, दीपक सोनकर,सोमेश मेश्राम,संजय डागौर, वार्डवासी  बिसालिक देवांगन, राजू यादव, कैलाश साहू,सूरज छाटा, त्रिलोक, सुनील , भूषण देवांगन,  महेश सेन,संदीप,राजेश देवांगन आशुतोष,कुणाल यादव उपस्थित थे।

 

23-07-2020
चन्द्रशेखर आजाद, बाल गंगाधर तिलक की जंयती और बिसाहूदास महंत की पुण्यतिथि पर कांग्रेस ने दी श्रद्धांजलि

धमतरी। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक एवं शहीद चंद्रशेखर आजाद की जयंती तथा प्रदेश के वरिष्ठ नेता स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. बिसाहू दास महंत की पुण्यतिथि ब्लॉक कांग्रेस कमेटी धमतरी शहर के द्वारा कांग्रेस कार्यालय बठेना चौक रायपुर रोड में मनाया गया है। इस दौरान उपस्थित कांग्रेसजनों के द्वारा भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक एवं शहीद चंद्रशेखर आजाद प्रदेश के वरिष्ठ नेता स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. बिसाहू राम महंत के जीवनी पर प्रकाश डाला गया। जिस पर पूर्व विधायक हर्षद मेहता ने कहा कि 23 जुलाई को उत्तर प्रदेश में जन्मे और मध्य प्रदेश में पले बड़े चंद्रशेखर आजाद बचपन से क्रांतिकारी विचारों वाले थे। चंद्रशेखर आजाद भारत माता का ऐसा वीर सपूत था जो केवल 25 साल की उम्र में शहीद हो गया चंद्रशेखर आजाद ने वीरता के नई परिभाषा लिखी थी उनके बलिदान के बाद उनके द्वारा प्रारंभ किया गया आंदोलन और तेज हो गया। इस प्रकार चंद्रशेखर आजाद में देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। जिला अध्यक्ष शरद लोहाना ने कहा कि लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक हिंदुस्तान के प्रमुख नेता समाज सुधारक और स्वतंत्रता सेनानी थे। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के पहले लोकप्रिय नेता थे।

उन्होंने सबसे पहले ब्रिटिश राज के दौरान पूर्ण स्वराज की मांग उठाई तिलक का यह कथन की स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा बहुत प्रसिद्ध हुआ। लोग उन्हें आदर से लोकमान्य नाम से पुकार कर सम्मानित करते थे। उन्हें हिंदू राष्ट्रवाद का पिता भी कहा जाता है। पूर्व अध्यक्ष मोहन लालवानी ने कहा कि स्व. बिसाहू दास महंत सच्चे अर्थों में एक राजनेता थे। वे दलितों आदिवासियों और पिछड़े वर्गों के शुभचिंतक और छत्तीसगढ़ अंचल की अस्मिता के झंडा बरदार थे छत्तीसगढ़ अंचल के सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा स्वास्थ्य और सिंचाई को अति आवश्यक मानते थे एक कैबिनेट मंत्री और मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के उत्तरदायित्व का निर्वाह करते हुए भी उन्होंने खुद को कभी आम जनता से अलग नहीं होने दिया। बिसाहू दास महंत एक कृषक परिवार से थे वे किसानों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए सिंचाई के साधन और स्त्रोत का विकास जरूरी समझते थे।

तत्पश्चात ग्राम तेलीनसत्ती के युवक हरदेव सिन्हा के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए 2 मिनट का मौन धारणकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। मंच संचालन ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष योगेश लाल एवं आभार ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष योगेश लाल के द्वारा किया गया। इस दौरान पूर्व विधायक हर्षद मेहता जिलाध्यक्ष शरद लोहाना, पूर्व जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी, महापौर विजय देवांगन सभापति अनुराग मसीह, आलोक जाधव ब्लॉक अध्यक्ष नरेश जसूजा, योगेश लाल, देवेंद्र अजमानी, राजेश ठाकुर, केंद्र कुमार पेनदरिया, विक्रांत शर्मा, सुरेंद्र पांडये, आशीष बंगानी, संकेत गुप्ता, अंबर चंद्राकर, राजेंद्र यादव, आकाश यादव, सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसजन उपस्थित रहे।

18-07-2020
राज्यपाल ने डॉ.खूबचंद बघेल को किया नमन,कहा-छत्तीसगढ़ राज्य के स्वप्नदृष्टा थे

रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने डॉ. खूबचंद बघेल की जयंती पर उन्हें नमन किया है। राज्यपाल ने कहा है कि डॉ.बघेल छत्तीसगढ़ राज्य के स्वप्नदृष्टा थे। उनका पूरा जीवन समाज और कृषकों के कल्याण के लिए समर्पित था। उन्होंने राष्ट्रीय आंदोलन में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। उनका संपूर्ण जीवन प्रदेशवासियों के लिए अनुकरणीय है।

 

 

06-07-2020
Video: श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती पर भाजपा मंडल ने किया पौधरोपण

कोरबा। भारतीय जनता पार्टी मंडल दर्री द्वारा सोमवार को श्यामाप्रसाद मुखर्जी के जयंती पर पौधरोपण आईबीपी चौक कुशाभाऊ ठाकरे परिसर चोरभट्टी गोपालपुर में सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए किया गया। इस अवसर पर दर्री मंडल के अध्यक्ष नारायण सिंह ठाकुर ,पूर्व मंडल अध्यक्ष ईश्वर प्रसाद साहू ,पूर्व जिला उपाध्यक्ष तुलसी ठाकुर,महामंत्री मनोज लहरे,मनोज यादव,पूर्व महामंत्री अनिल यादव,युवा मोर्चा मंडल उपाध्यक्ष मुकुंद सिंह कंवर,पार्षद विजय कुमार साहू,पुष्पा कंवर,फिरतराम साहू,बुधवार साय यादव,जनकसिंह राजपूत,रतिराम देवांगन,विक्की भरिया,सालिकराम कौसल,इस्माइल एवं मंडल के अन्य कार्यकर्ता बन्धु उपस्थित थे।

05-06-2020
कबीर के संदेश को मेरी तरह प्रदेश के अनेकों ने आत्मसात किया : डॉ. चरणदास महंत 

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने संत कबीरदास की जयंती पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत ने कहा है कि संत कबीर मध्यकालीन भारत के स्वाधीनचेता महापुरुष, सफल साधक, भक्त कवि, मतप्रवर्तक और समाज सुधारक थे। सत्य, अहिंसा, दया, करुणा, परोपकार और सामाजिक समरसता के उनके संदेश को मेरी तरह अनेकों छत्तीसगढ़ के लोगों ने भी आत्मसात किया है।

04-06-2020
संत कबीर एक समाज सुधारक ही नहीं युग-प्रवर्तक भी थे : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संत कबीर दास की जयंती पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा है कि संत कबीर दास न सिर्फ एक आध्यात्मिक संत थे, बल्कि वे एक समाज सुधारक और युग-प्रवर्तक भी थे। उनके विचारों ने भारत समेत पूरी दुनिया को प्रभावित किया। सत्य, अहिंसा, दया, करुणा, परोपकार और सामाजिक समरसता के उनके संदेश को छत्तीसगढ़ के लोगों ने भी आत्मसात किया है। कबीरधाम से लेकर दामाखेड़ा तक उनके अनुयायियों ने आज भी उनके विचारों की अलख जगा रखी है। कबीर दास ने हमेशा सामाजिक कुरीतियों को प्रहार किया और मानवतावादी समाज की रचना के लिए प्रेरित किया। उनके विचार आज भी प्रासंगिक बने हुए हैं। उन्हीं के जीवन मूल्यों को लेकर ही हम नवा-छत्तीसगढ़ गढ़ने की परिकल्पना के साथ आगे बढ़ रहे हैं।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804