GLIBS
29-06-2020
अजीत जोगी का जीवन अदम्य साहस से भरा था, उनका व्यक्तित्व और कृतित्व प्रेरणादायी : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को सागौन बंगला में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की आत्मा की शांति के लिए आयोजित सर्वधर्म प्रार्थना व श्रद्धांजलि सभा में शामिल होकर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने दिवंगत अजीत जोगी की पत्नी डॉ. रेणु जोगी और उनके पुत्र अमित जोगी से भेंट कर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री जोगी का जीवन हम सबको हमेशा प्रेरणा देता रहेगा। संघर्ष के लिए, माटी के प्रति प्रेम और लक्ष्य प्राप्ति की लगन के लिए। जोगी का जीवन अदम्य साहस से भरा हुआ था। जोगी ने कभी अपने जीवन में हार नहीं मानी। चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो या प्रशासनिक अधिकारी के रूप में हो या फिर लेखन, विचार या राजनीति का क्षेत्र हो। जोगी ने प्रत्येक क्षेत्र में अपनी अमिट छाप छोड़ी है। उन्होंने गांव से निकलकर राजधानी तक के सफर में अनेक ऊंचाईयों को हासिल किया। उन्होंने जब से राजनीति के क्षेत्र में कदम रखा तब से कभी पीछे पलटकर नहीं देखा। राजनीति के इस सफर में उन्होंने अनेक उतार-चढ़ाव को भी देखा, परंतु इसमें उन्हें कभी भी टूटते हुए, रूकते हुए नहीं देखा और हमने उन्हें हमेशा आगे बढ़ते हुए पाया। उन्होंने कहा कि जोगी के निधन से छत्तीसगढ़ की राजनीति में एक शून्यता आई है, जो हम सबके लिए अपूरणीय क्षति है।

29-05-2020
राज्यपाल ने सागौन बंगला पहुंच अजीत जोगी को अर्पित की श्रद्धांजलि

रायपुर। प्रदेश की राज्यपाल अनुसुईया उइके ने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निवास सागौन बंगला पहुंचकर उनके पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने स्व.जोगी की आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। राज्यपाल ने अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी और पुत्र अमित जोगी से मिलकर अपनी संवेदना व्यक्त की।

29-05-2020
भूपेश बघेल, मंत्री और विधायकों ने सागौन बंगला पहुंच अजीत जोगी को अर्पित की श्रद्धांजलि

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार देर शाम सागौन बंगला पहुंचे। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने अजीत जोगी की धर्मपत्नी रेणु जोगी और पुत्र अमित जोगी से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त की और उन्हें ढांढस बंधाया। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री जोगी के जीवन को वे तीन हिस्सों में देखते हैं, जिसमें वे मेधावी छात्र, दक्ष प्रशासनिक अधिकारी और अच्छे राजनेता के रूप में नजर आते हैं।  विपरीत परिस्थिति में भी उन्होंने संघर्ष का दामन नहीं छोड़ा। लगातार समस्याओं से जूझने वाले बहुत ही जीवट और संघर्षशील व्यक्तित्व के धनी थे। छत्तीसगढ़ के माटीपुत्र अजीत जोगी के निधन से अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री बघेल ने आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। इसी तरह छत्तीसगढ़ मंत्रिमंडल के सदस्यों और विधायकों ने भी अजीत जोगी के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804