GLIBS
19-06-2021
रायपुर में  हो रही बारिश, कई स्थानों में हल्की से मध्यम वर्षा और एक-दो जगहों पर बिजली गिरने के आसार

रायपुर। राजधानी रायपुर में शाम होते ही बारिश शुरू हो गई है। दोपहर के बाद से रायपुर में मौसम सुहावना हो गया था। शाम होते-होते आसमान में काले बादलों ने डेरा जमा लिया था। शुरुआत में तो बादल झमाझम बरसे,कुछ देर तेज बारिश के बाद अब हल्की वर्षा जारी है। मौसम विभाग ने प्रदेश के कई स्थानों के लिए अलर्ट जारी किया है।  मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने कहा है कि निम्न दाब का क्षेत्र दक्षिण पूर्व उत्तरप्रदेश और उसके आसपास स्थित है। इसके साथ हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा मध्य ट्रोपोस्फेरिक लेवल तक स्थित है। एक द्रोणिका पश्चिम राजस्थान से उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक दक्षिण हरियाणा, दक्षिण पूर्व उत्तरप्रदेश, झारखंड, गंगेटिक पश्चिम बंगाल होते हुए 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक चक्रीय चक्रवाती घेरा 5.8 किमी ऊंचाई तक बांग्लादेश में स्थित है। इन सिस्टमों के कारण 20 जून को प्रदेश के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ बिजली गिरने की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम तापमान में मामूली वृद्धि के साथ विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है।

19-06-2021
मौसम विभाग ने प्रदेश के आठ स्थानों के लिए जारी किया यलो अलर्ट

रायपुर। मौसम विभाग ने प्रदेश के 8 स्थानों में मध्यम से भारी बारिश ​के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। मौमस विभाग के मुताबिक जशपुर, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरबा, सरगुजा, ​कोरिया, मुंगेली और बिलासपुर शामिल है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के मुताबिक निम्न दाब का क्षेत्र दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश और उसके आसपास स्थित है। इसके साथ हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा मध्य ट्रोपोस्फेरिक लेवल तक स्थित है। एक द्रोणिका पश्चिम राजस्थान से उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक दक्षिण हरियाणा, दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश, झारखंड, गंगेटिक पश्चिम बंगाल होते हुए 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक चक्रीय चक्रवाती घेरा 5.8 किमी ऊचाई तक बांग्लादेश में स्थित है। 20 जून को प्रदेश के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ वज्रपात होने की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम तापमान में मामूली वृद्धि के साथ विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है।

 

19-06-2021
दक्षिण राजस्थान में 24 घंटे में पहुंचेगा मानसून, इन राज्यों में होगी बारिश

नई दिल्ली/रायपुर। अगले 24 घंटों के भीतर मानसून के दक्षिण राजस्थान के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल बन गई हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक शनिवार को पश्चिम बंगाल, झारखंड, पूर्वी और मध्य उत्तर प्रदेश, दक्षिण गुजरात के कुछ हिस्सों, गोवा, तटीय कर्नाटक में कुछ स्थानों पर मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। वहीं पश्चिमी यूपी के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश का अनुमान लगाया गया है।

18-06-2021
प्रदेश में मानसून सक्रिय, राजधानी सहित कई इलाकों में हो सकती है तेज बारिश

रायपुर। प्रदेश में मानसून सक्रिय होने के कारण मौसम विभाग ने 24 घंटों में बारिश की चेतावनी जारी की है। दरअसल पश्चिम राजस्थान से उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक बन रही द्रोणिका से यह स्थिति बन रही है। मौसम विभाग की माने तो छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर समेत प्रदेश के बेमेतरा, जांजगीर-चांपा, कोरबा, रायगढ़, राजनांदगांव, दुर्ग, बलौदा बाजार, महासमुंद, नारायणपुर, बीजापुर , सरगुजा, जशपुर, बिलासपुर, मुंगेली और कवर्धा में बारिश की आशंका व्यक्त की गई है। इनमें से कई जिलों में गरज-चमक के साथ भारी बारिश हो सकती है। जबकि बीती देर रात तक राजधानी समेत प्रदेश के कई हिस्सों में जोरदार बारिश हुई। तेज बारिश की वजह से लोगों को आवागमन में तकलीफ का सामना करना पड़ा।

17-06-2021
मौसम अपडेट : राजधानी में गरज-चमक के साथ हो रही बारिश, प्रदेश के कई हिस्सों में तेज बारिश के आसार

रायपुर। राजधानी रायपुर में शाम होते ही गरज-चमक के साथ बारिश शुरू हो चुकी है। प्रदेश के कई हिस्सों से बारिश की जानकारी आ रही है। मौसम विभाग ने प्रदेश के कई हिस्सों के लिए त्वरित पूर्वानुमान जारी किया है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने कहा है कि बिलासपुर संभाग, दुर्ग संभाग,रायपुर, बलौदाबाजार,महासमुंद, नारायणपुर, बीजापुर और इनसे लगे जिलों में शाम 7:30 बजे से अगले 4 घंटों में तेज बारिश की संभावना है। राजनांदगांव, कवर्धा,बेमेतरा, दुर्ग,रायपुर, बलौदाबाजार,महासमुंद,जांजगीर और इससे लगे जिलों में बारिश की प्रबल संभावना है।  

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के मुताबिक एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा पूर्वी उत्तरप्रदेश और उसके आसपास 3.1 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है। एक द्रोणिका पश्चिम राजस्थान से उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक उत्तर पश्चिम मध्यप्रदेश, दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश, दक्षिण बिहार, झारखंड, गंगेटिक पश्चिम बंगाल होते हुए 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। हवा का एक चक्रीय चक्रवाती घेरा  गंगेटिक पश्चिम बंगाल और उसके आसपास 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। इस सिस्टमों के कारण 18 जून को अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा और एक दो स्थानों पर अति भारी वर्षा हो सकती है। प्रदेश में गरज-चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने और अंधड चलने की भी संभावना है। भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यत: उत्तर छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है।

17-06-2021
कोरिया जिले में अब तक हुई 129.7 मिमी बारिश

कोरिया। भू-अभिलेख शाखा के अधिकारियों ने बताया कि जिले के सभी तहसील में गुरुवार तक 9.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। इस दौरान सर्वाधिक 20.8 मिमी औसत बारिश बैकुण्ठपुर तहसील में दर्ज की गई है। इसे मिलाकर पूरे जिले में एक जून से अब तक 129.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि 1 से 17 जून तक बैकुण्ठपुर तहसील में 152.6, सोनहत तहसील में 208.0, मनेन्द्रगढ तहसील में 111.8, खड़गवां तहसील में 126.5, चिरमिरी तहसील में 143.5, भरतपुर तहसील में 119.2 और केल्हारी तहसील में 46.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है।

17-06-2021
किसानों के लिए फसलों की तैयारी करने व पशुपालन से संबंधित विशेष बातों का ध्यान रखने कृषि वैज्ञानिकों ने दी सलाह

बेमेतरा/रायपुर। बारिश के मौसम को ध्यान में रखते हुए जिले के किसानों के लिए फसलों की तैयारी करने व पशुपालन से संबंधित विशेष बातों का ध्यान रखने के लिए कृषि वैज्ञानिकों की ओर से सलाह दी गई है। मौसम आधारित कृषि सलाह के अंतर्गत मानूसन की गतिविधियों को देखते हुए जिले के किसानों को खरीफ मौसम में लगने वाले बीज, उर्वरक एवं अन्य आदान सामग्रियों की व्यवस्था कर उनका सुरक्षित भण्डारण करने की सलाह दी गई है। किसानों को बारिश के मौसम में साग-सब्जी वाले खेतों में उचित जल निकास की व्यवस्था करने एवं खेत की सफाई तथा मेड़ों की मरम्मत आवश्यक रूप से समय पर करने की सलाह दी गई है। किसानों को अनाज, फसलों के साथ-साथ बागवानी फसलों की तैयारी करने की भी सलाह दी गई है। वर्षा कालीन सब्जियों की पौध तैयार करने के लिए तथा कद्दु वर्गीय, लौकी, करेला एवं बेल वाली बागवानी फसलो को बाड़ी में लगाने की भी सलाह दी गई है। सीधे बुआई वाली सब्जियों के उन्नत किस्मों की व्यवस्था कर योजना अनुसार खेती की तैयारी करने की भी सलाह दी गई है। कृषि वैज्ञानिकों ने अमरूद, आम, नींबू एवं अनार में छंटाई करने तथा छटाई किए हुए शाखा के शीर्ष पर बोर्डो पेस्ट का लेपन करने की सलाह भी दी है।

बारिश में पशुओं को रोग से बचाने टीकाकरण अवश्य कराएं- फसलों की तैयारी के साथ ही जिले के पशुपालकों को अपने मवेशियों का ध्यान रखने और बारिश के मौसम में बीमारियों से बचाने विशेष ध्यान रखने की भी सलाह दी गई है। कृषि वैज्ञानिकों ने पशुओं को गलघोटु एवं लंगड़ी रोग से बचाने के लिए टीकाकरण करवाने की सलाह किसानों को दी है। चार माह से अधिक उम्र की बकरियों को गोट प्लैट रोग से बचाव के लिए एवं चार से आठ माह की बछिया को बुफेलोसिस या संक्रामक गर्भपात से बचाने के लिए टीकाकरण करवाने की विशेष सलाह दी गई है। साथ ही किसानों को अपने पालतू पशुओं को साफ पानी पिलाने एवं साफ एवं सुरक्षित जगह में रखने की भी सलाह दी गई है। धान के बीज को उपचारित कर बुआई करें किसान- कृषि वैज्ञानिकों ने मानसून वर्षा प्रारंभ होने के साथ ही खेतों की जुताई कर खरीफ फसलों की बुआई करने की अपील किसानों से की है। आवश्यकतानुसार खेतों को तैयार कर धान, अरहर एवं मक्का आदि फसलों की बुआई करने की सलाह दी है। कृषि वैज्ञानिकों ने धान का थरहा डालने या बुआई करने से पहले स्वयं उत्पादित बीजों को 17 प्रतिशत नमक के घोल से उपचारित करने की सलाह दी है। प्रमाणित या आधार श्रेणी के बीजों को पैकेट में प्रदाय किए गए फफूंद नाशक से अवश्य रूप से उपचारित करने की सलाह भी दी है। कृषि वैज्ञानिकों ने धान की रोपाई वाले कुल क्षेत्र के लगभग दसवें भाग में नर्सरी तैयार करने एवं मोटा धान वाली किस्मों की मात्रा 50 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर या पतला धान की किस्मों की मात्रा चार किलोग्राम प्रति हेक्टेयर की दर से बीज डालने की सलाह किसानों को दी है।

17-06-2021
134.4 मिमी बारिश हो चुकी इस माह अब तक, कोरबा जिले में सर्वाधिक व दंतेवाड़ा में सबसे कम बरसे बादल

रायपुर। राज्य भर में जून महीने से अब तक 134.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है। कंट्रोल रूम के मुताबिक 1 जून से अब तक राज्य में 134.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 1 जून से आज 17 जून तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार कोरबा जिलें में सर्वाधिक 234.9 मिमी और दंतेवाड़ा जिले में सबसे कम 52.8 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सरगुजा में 87.2 मिमी, सूरजपुर में 131.0 मिमी, बलरामपुर में 119.5 मिमी, जशपुर में 117.5 मिमी, कोरिया में 129.7 मिमी, रायपुर में 161.0 मिमी, बलौदाबाजार में 167.3 मिमी, गरियाबंद में 171.0 मिमी, महासमुंद में 147.4 मिमी, धमतरी में 172.8 मिमी, बिलासपुर में 136.4 मिमी, मुंगेली में 74.7 मिमी, रायगढ़ में 131.0 मिमी, जांजगीर चांपा में 143.4 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 176.6 मिमी, दुर्ग में 195.7 मिमी, कबीरधाम में 69.1 मिमी, राजनांदगांव में 79.4 मिमी, बालोद में 122.3 मिमी, बेमेतरा में 169.0 मिमी, बस्तर 100.4 मिमी, कोण्डागांव में 128.8 मिमी, कांकेर में 147.8 मिमी, नारायणपुर में 115.9 मिमी, सुकमा में 138.3 मिमी और बीजापुर में 141.5 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804