GLIBS
18-07-2020
भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री विक्रम वर्मा की हालत चिंताजनक

इंदौर। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री विक्रम वर्मा को धार से इलाज के लिए इंदौर लाया गया, जहां उनका एक निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है।आधिकारिक जानकारी के अनुसार 76 वर्षीय वर्मा की सुबह एक बार फिर तबीयत बिगड़ने पर धार के एक अस्पताल ले जाया गया, वहां प्रारंभिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने उन्हें इंदौर रिफर कर दिया। वर्मा को धार से इंदौर लाया गया, जहां उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्हें सांस लेने में दिक्कत महसूस हो रही है। फ़िलहाल उनका स्वास्थ्य चिंताजनक बताया जा रहा है। वर्मा को शुक्रवार को ही स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री विक्रम वर्मा के स्वस्थ होने की कामना ईश्वर से की है। चौहान ने ट्वीट कर लिखा है- ‘पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता विक्रम वर्माजी के अस्वस्थ होने का समाचार मिला है। मैं उनके पूर्ण स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना ईश्वर से करता हूं। 

30-05-2020
इंदौर में संक्रमितों की संख्या 3400 के पार, अब तक 129 मरीजों की मौत 

भोपाल। देश भर में कोरोना वायरस का कहर जारी है। नोवेल कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। देश में इस वायरस से मरने वालों की संख्या 4706 हो गई हैं। वहीं देश में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में इस महामारी का प्रकोप कायम है। जिले में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 87 नए मामलों की पुष्टि के साथ ही इस संक्रमित मरीजों की तादाद 3,344 से बढ़कर 3,431 हो गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित 54 वर्षीय महिला समेत तीन मरीजों की अलग-अलग अस्पतालों में इलाज के दौरान मौत हो गई। इसके बाद जिले में इस महामारी की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 129 पर पहुंच गई है।

40 दिनों के बाद मौत का खुलासा : 

अधिकारियों के मुताबिक इनमें शामिल 50 वर्षीय पुरुष ने शहर के एक निजी अस्पताल में 19 अप्रैल को दम तोड़ा था। लेकिन उसकी मौत की जानकारी स्वास्थ्य विभाग के शुक्रवार (29 मई) को देर रात जारी मेडिकल बुलेटिन में दी गई यानी इस मौत का खुलासा 40 दिन बाद किया गया। कोविड-19 का प्रकोप कायम रहने के कारण मद्देनजर इंदौर जिला रेड जोन में बना हुआ है। जिले में इस प्रकोप की शुरुआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी।

27-05-2020
लाॅक डाउन में राज्य सरकार की मदद से 7 मूक-बधिरों की हुई घर वापसी

रायपुर। देशव्यापी लाॅकडाउन के दौरान इंदौर में फंसे 7 मूक-बधिर दिव्यांगजन छत्तीसगढ़ सरकार की मदद से अपने घर पहुंच गए हैं। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर, राजनांदगांव, भाटापारा और कोरबा जिले के दिव्यांगजन इंदौर में नौकरी करने गए थे। इनकी जानकारी मिलने पर समाज कल्याण मंत्री अनिला भेंड़िया ने दिव्यांगजन की सुरक्षित वापसी के निर्देश दिए। समाज कल्याण विभाग के सचिव और राज्य आयुक्त दिव्यांगजन प्रसन्ना आर. ने दिव्यांगजन की कोविड-19 के तहत जारी प्रोटोकाल का पालन करते हुए दिव्यांगजन के लिए पास तैयार करवाकर निःशुल्क निजी वाहन से सुरक्षित वापसी की व्यवस्था करवाई। दिव्यांगजन ने छत्तीसगढ़ वापसी के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और छत्तीसगढ़ शासन को धन्यवाद दिया है।
छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा रास्ते में दिव्यांजन के भोजन और अन्य सुविधाओं का ध्यान रखते हुए सुरक्षित वापसी का सुनिश्चित प्रबंध भी किया गया। संचालक पी.दयानंद ने विभागीय जिलाधिकारियों और संबंधित जिला प्रशासन से समन्वय किया। विभागीय जिलाधिकारियों की मदद से दिव्यांगजन की 21 मई को उनके गृह जिले में जिला प्रशासन द्वारा चिन्हित स्थानों तक वापसी संभव हो सकी। इंदौर से बिलासपुर जिले के मूक-बधिर आशीष विश्वास, भिलाई के संतोष,राजनांदगांव के हितेश देवांगन, योगीलाल साहू, भाटापारा के टीकाराम और कोरबा के सरवर आलम और सदूफ जौफिशन छत्तीसगढ़ वापस लौटकर बहुत खुश है।

15-05-2020
इंदौर में पिछले 24 घंटे में 61 नए मामले आए सामने, संक्रमितों की कुल संख्या 2299 हुई

भोपाल। प्रदेश में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर जारी है। राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे है। शुक्रवार को कोविड-19 के 187 नए मामले सामने आए। वहीं राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4173 हो गई है। इनमें से 1937 मरीज ठीक हो गए हैं, जबकि 232 लोगों की मौत हो चुकी है। देश में कोरोना संक्रमण की सबसे ज्यादा मार झेलने वाले जिलों में शामिल इंदौर में पिछले 24 घंटे के दौरान 61 नए मामले मिलने के साथ ही महामारी के मरीजों की संख्या 2,238 से बढ़कर 2,299 पर पहुंच गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने यह जानकारी दी।

उन्होंने यह भी बताया कि कोविड-19 संक्रमित पाए गए 75 वर्षीय पुरुष और 55 वर्षीय पुरुष की यहां अलग-अलग अस्पतालों में इलाज के दौरान गुरुवार को मौत हो गई। इसके साथ ही, जिले में इस महामारी की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 98 पर पहुंच गई है। बता दें कि इंदौर जिले में कोरोना वायरस के प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी। प्रशासन ने इंदौर की शहरी सीमा में 25 मार्च से कर्फ्यू लगा रखा है, जबकि जिले के अन्य स्थानों पर सख्त लॉक डाउन लागू है।

12-05-2020
70 हजार का आंकड़ा पार हुआ कोरोना पॉजिटिव का कोरोना का कहर जारी, बिहार उज्जैन में नए पॉजिटिव मिले

दिल्ली/रायपुर। कोरोना पॉजिटिव के आंकड़े में आज भी बढ़ोतरी हुई है और इसने 70 हजार को पार कर दिया है। अब देश में 70749 कोरोना पॉजिटिव है। हालांकि पिछले 24 घंटे में 15 सौ से ज्यादा कोरोना के मरीज ठीक हो कर घर जा चुके हैं, लेकिन रोज कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा बढ़ना चिंता का विषय बना हुआ है। जिस रफ्तार से ये आंकड़ा बढ़ता जा रहा है उससे लगता है जल्द ही एक लाख का फिगर भी छू लेगा। बिहार में भी नए मरीज पाए गए हैं। उज्जैन में भी नए मरीज पाए गए हैं और इंदौर तो कोरोना का इपीसेंटर बना हुआ है। मुंबई, दिल्ली और अहमदाबाद को तो कोरोना ने जैसे अपना गढ़ बना लिया है। महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली की हालत चिंताजनक बनी हुई है।

02-05-2020
मिक्सर मशीन में छिपकर अपने गृह प्रदेश जा रहे थे मजदूर, चेकिंग नाके में पुलिस ने पकड़ा

इंदौर। महाराष्ट्र के सीमेंट-कांक्रीट मिक्सर वाले चार पहिया गाड़ी में छिपकर उत्तर प्रदेश जा रहे 14 प्रवासी मजदूरों समेत 18 लोगों को इंदौर जिले में ट्रैफिक पुलिस ने शनिवार को रोक लिया। इन्हें शेल्टर होम में भेजा गया है। ट्रैफिक पुलिस के सूबेदार अमित कुमार यादव ने बताया कि इंदौर शहर से करीब 35 किलोमीटर दूर पंथ पिपलई गांव में नियमित जांच के दौरान सीमेंट-कांक्रीट मिक्सर वाले ट्रक को रोका गया।उन्होंने बताया, "संदेह होने पर जब हमने सीमेंट-कांक्रीट मिक्सर के खुले ढक्कन से झांक कर देखा, तो इसमें एक साथ 18 लोगों को पाकर हमारी आंखें खुली की खुली रह गयीं। इनमें 14 प्रवासी मजदूर और ट्रक मालिक के चार कर्मचारी शामिल हैं। यादव ने बताया, "शुरुआती पूछताछ में मजदूरों ने बताया कि वे मूलत: यूपी के रहने वाले हैं और लॉकडाउन के चलते महाराष्ट्र में कल-कारखाने बंद होने के चलते उनके सामने पिछले कई दिन से आजीविका का संकट था।

इसलिए वे किसी भी तरह लखनऊ पहुंचना चाहते थे।"सूबेदार ने बताया कि मजदूरों के मुताबिक वे सीमेंट-कांक्रीट मिक्सर में छिपकर शुक्रवार को महाराष्ट्र से रवाना हुए थे। यादव ने बताया कि मजदूरों को फिलहाल शेल्टर होम में भेजा गया है। डॉक्टरों की टीम बुलाकर उनके स्वास्थ्य की जांच कराई जा रही है। उन्हें उत्तरप्रदेश भेजने के लिये बस की व्यवस्था भी की जा रही है।पुलिस अधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन कर मजदूरों को ले जा रहे वाहन को जब्त करते हुए इसके चालक पर संबद्ध धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई है। 

 

29-04-2020
राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 हजार के पार, महाराष्ट्र में 112 पुलिसकर्मी संक्रमित

नई दिल्ली। दुनिया के 200 से अधिक देशों में फैल चुके कोविड-19 का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। भारत में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। हर रोज सैकड़ों नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं राजस्थान में कोरोना कहर बरपा रहा है। राजस्थान स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में 19 और लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। राज्य में मरीजों की संख्या 2383 हो गई है। 19 नए मामलों में जयपुर में 5 मामले सामने आए हैं और अजमेर से 11 मामले सामने आए हैं। उदयपुर, बांसवाड़ा और जोधपुर में एक-एक मामले सामने आए हैं। वही मध्य प्रदेश में अब तक कोरोना संक्रमित के 2387 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से इंदौर में 1372 पॉजिटिव केस, भोपाल में 458 पॉजिटिव केस और उज्जैन में 123 पॉजिटिव केस हैं। राज्य में अब तक 120 लोगों की मौत हो चुकी है और 377 मरीज ठीक हो गए हैं।


देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर है। मगर इस महामारी के बढ़ते प्रकोप के बीच इंदौर से राहत की खबर आई है। यहां एक साथ 43 मरीज ठीक हो गए हैं। कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद इन सभी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। इंदौर में अब ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 177 हो गया है। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 2058 हो चुकी है। प्रदेश में कोरोना से 34 लोगों की मौत भी हो चुकी है और 462 लोग ठीक हो गए हैं। मंगलवार को राज्य में कुल 66 मामले सामने आए थे।

बुधवार को 725 सैंपलों की रिपोर्ट आई, जिसमें से 20 पॉजिटिव पाए गए। इनमें सबसे ज्यादा 9 संक्रमित आगरा के हैं, जबकि चार लखनऊ और सात फिरोजाबाद के हैं। अब तक प्रदेश के 59 जिलों में संक्रमण फैल चुका है, जबकि 9 जिले संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। महाराष्ट्र में भी हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे है। यहां कोरोना से मौत का आंकड़ा 400 पहुंच गया है, जबकि संक्रमित लोगों की संख्या 9318 है। अकेले मुंबई में 6169 लोग कोरोना पॉजिटिव आए हैं, जबकि 244 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं एशिया के सबसे बड़े स्लम धारावी में 300 से ज्यादा कोरोना के पॉजिटिव केस आ चुके हैं। महाराष्ट्र में 112 पुलिसकर्मी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। इसमें 3 पुलिस वालों की अब तक मौत भी हुई है।

28-04-2020
इंदौर मेें 43 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग, रिपोर्ट आई निगेटिव, अस्पताल से मिली छुट्टी

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी में कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या में कमी आई है। शहर के लिए राहत भरी खबर यह है कि यहां एक साथ 43 मरीज की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मंगलवार को इन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। इस दौरान मंत्री तुलसी सिलावट भी मौजूद रहे। इन मरीजों के ठीक होने के बाद इंदौर में ठीक होने वाले का आंकड़ा बढ़कर 177 हो गया है। डिस्चार्ज हुए मरीजों का मंत्री तुलसी सिलावट ने स्वागत किया। मंत्री ने लोगों से अपील की है कि लॉक डाउन के नियमों का पालन करें। उन्होंने कहा सावधानी बरते और घर पर रहे साथ ही सोशल डिसेंट का पालन करें।

19-04-2020
इंदौर में कोरोना सेनानी शहीद, सब इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार शहीद,पूरा परिवार आइसोलेशन में सौ सौ सलाम सच्चे सिपाही को

इंदौर/रायपुर। इंदौर में कोरोना ने एक सब इंस्पेक्टर को अपना शिकार बना ही लिया है। इंदौर के सब इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार कोरोना से जंग लड़ते-लड़ते शहीद हो गए है। कोरोना सेनानी देवेंद्र कुमार का पूरा परिवार आइसोलेशन में रखा गया है। देवेंद्र कुमार उसी इंदौर में कोरोना के हाथों शहीद हुए हैं। जहां कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे सेनानियों पर पथराव हो रहा है। जहां सैंपल लेने वालों को बदसलूकी का सामना करना पड़ रहा है।

जहां कोरना सेनानियों से मारपीट हो रही है। उसी  इंदौर ने अपना सच्चा सपूत खो दिया है जो दिन रात कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा था। लोगों को और उनके परिवार को बचाने के लिए खुद की जान दांव पर लगाकर अपने परिवार की जान दांव पर लगाकर कोरोना से जंग लड़ रहा था देवेंद्र कुमार। इंदौर मध्य प्रदेश व पूरा देश कभी उनका योगदान भूल नहीं पाएगा। सौ सौ सलाम देश के इस सच्चे सपूत को। उनकी शहादत बेकार नहीं जाएगी और इंदौर के साथ ही देश भी कोरोना से जंग जीत ही जाएगा। उनका नाम कोरोना के खिलाफ जंग में शहीद होने वालों की सूची में स्वर्ण अक्षरों से लिखा जाएगा।

19-04-2020
कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 14792 और मरने वालों की संख्या भी 488 हुई और इनका लगातार बढ़ना चिंताजनक

दिल्ली/रायपुर। तमाम कोशिशों के बावजूद देश में कोरोना के संक्रमण का आंकड़ा थमने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि इसके संक्रमण की गति अन्य देशों की तुलना में काफी कम है लेकिन केवल इतना होना ही संतोषप्रद नहीं माना जा सकता। कोरोना के मरीज रोज मिल रहे हैं। खासकर दिल्ली और महाराष्ट्र की हालत बेहद चिंताजनक है। कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या अब 15000 के पास पहुंच गई है। अब तक 14792 मरीज मिल चुके हैं। कोरोना से मरने वालों की संख्या भी 500 के करीब पहुंच गई है। अब तक 488 लोगों ने कोरोना से पीड़ित होकर दम तोड़ दिया है। हैरानी की बात ये है के अब भी इंदौर समेत कुछ शहरों में कुर्ला के खिलाफ जंग में कुछ लोग सहयोग नहीं कर रहे हैं। लॉक डाउन की सख्ती का भी कुछ लोग मज़ाक उड़ा रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का भी कुछ लोग पालन नही कर रहे है जो बेहद चिंता का कारण है।

10-04-2020
इंदौर में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या पहुंची 26, कुल 235 मरीज संक्रमित, शहर में कर्फ्यू लगा

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी में कोरोना वायरस की जद में आए तीन और मरीजों की मौत की शुक्रवार को आधिकारिक पुष्टि की गई। इसके साथ ही शहर में इस संक्रमण के बाद दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 26 पर पहुंच गई है। शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि शहर के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती 52 वर्षीय पुरुष, 65 वर्षीय पुरुष और 70 वर्षीय पुरुष की पिछले दो दिन में मौत हुई। अधिकारी ने बताया कि प्रयोगशाला से आई जांच रिपोर्ट में तीनों मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 17 दिन में शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के 235 मरीज मिले हैं। इनमें से 26 लोग इलाज के दौरान दम तोड़ चुके हैं। आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि शहर में कोविड-19 के मरीजों की मृत्यु दर राष्ट्रीय स्तर से कहीं ज्यादा बनी हुई है। इंदौर में कोरोना वायरस के मरीज मिलने के बाद से प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में कर्फ्यू लगा रखा है। जिला प्रशासन द्वारा शव यात्रा में मात्र पांच व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी मनीष सिंह ने दी है।

05-04-2020
मध्यप्रदेश: इंदौर के जिस क्षेत्र में स्वास्थ्य टीम पर हुआ था पथराव,वहां से मिले 10 कोविड-19 मरीज

इंदौर। शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के 16 नए मामले सामने आए हैं। इसमें से 10 मामले टाटपट्टी बाखल से हैं। यह वही इलाका है,जहां एक अप्रैल को सर्वे के दौरान स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों पर हमला और पथराव किया गया था। इसके साथ ही राज्य में पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 128 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, 3 और 4 अप्रैल को भेजे गए सैंपल में से 16 पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। 16 में से 10 लोग इसी टाटपट्टी बाखल इलाके के हैं जहां पर पत्थरबाजी हुई थी। इनमें 5 पुरुष और 5 महिलाएं हैं। पॉजिटिव पाए गए लोगों की उम्र 29 साल से 60 साल तक है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804