GLIBS
विधायकों को घेरने निकले आप कार्यकर्ता, पुलिस ने रोका, ज्ञापन सौंपकर मांगा पांच साल का हिसाब 

रायपुर। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रदेश के सभी 90 विधायकों का घेराव करने सड़क पर उतरे। आप कार्यकर्ताओं का आरोप है कि पक्ष और विपक्ष के विधायकों ने पांच साल तक केवल सत्ता का सुख भोगा है, इन लोगों ने जनता के लिए कोई कार्य नहीं किया। 

आप कार्यकर्ता राजधानी के सभी चारों विधायकों का घेराव करने बरसते पानी में सड़क पर उतरे। रायपुर दक्षिण विधानसभा का घेराव करने आप प्रत्याशी मुन्ना बिसेन आप कार्यकर्ताओं के साथ निकले। आप कार्यकर्ताओं को पुलिस ने नगर निगम कार्यालय के सामने रोक लिया। मुन्ना बिसेन के नेतृत्व में आप कार्यकर्ताओं ने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। आप प्रत्याशी मुन्ना ने रायपुर दक्षिण के विधायक और कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल से दस सवालों का जवाब मांगा है। आप नेता ने बृजमोहन अग्रवाल से जवाब मांगा है कि वे सुंदर नगर में बन रहे टोल प्लाजा जिसे सुप्रीम कोर्ट ने हटाने का निर्देश दिया है, उस खाली टोल प्लाजा को वे अब तक क्यों नहीं हटवा पाए। आप नेता ने मंत्री से उनके क्षेत्र में तालाबों के घट रहे रकबा को लेकर जवाब मांंगा है। इसके अलावा क्षेत्र में साफ सफाई और गरीबों को आवंटित 

बीएसयूपी मकानों की जर्जर स्थिति को लेकर आप नेता ने मंत्री से जवाब मांगा है। 

आप पार्टी के नेता ने रायपुर दक्षिण विधायक बृजमोहन अग्रवाल पर क्षेत्र की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए क्षेत्र में रुके हुए कार्य को जल्द पूरा करने की मांग की है। मांग पूरी नहीं होने की स्थिति में आप पार्टी के नेता ने विधायकों के घेराव के बाद आंदोलन करने की चेतावनी दी है। इसी तरह आप कार्यकर्ता रायपुर पश्चिम के विधायक राजेश मूणत, रायपुर ग्रामीण सत्यनारायण शर्मा और रायपुर उत्तर विधायक श्रीचंद सुंदरानी का घेराव करने सड़क पर उतरे।

 

शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने प्रदेश के 41 स्वच्छ विद्यालयों को किया पुरस्कृत 

रायपुर। स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने स्वच्छता की श्रेणी में काम करने वाले स्कूलों को शक्रवार राजधानी में पुरस्कृत किया। सिविल लाइन स्थित न्यू सर्किट हाउस में राज्य स्तरीय स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 41 विद्यालयों को दिया गया। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता के लिए एक अभियान चलाया है जिससे स्वच्छता एक नैतिक जिम्मेदारी हो गई है। हमें स्वच्छता को स्व-प्रेरणा से कर्त्तव्य समझना चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संसदीय सचिव अंबेश जांगड़े ने कहा पुरस्कार प्राप्त होने से अपेक्षाएं बढ़ती है। आप बेहतर से बेहतर कार्य करे ताकि अन्य लोग भी आपसे प्रेरणा ले सके। जांगड़े ने कहा कि विद्यालयों में वृक्षारोपण भी करे।

जिन विद्यालयों को पुरस्कृत किया गया है, उसमें बालोद जिले के शासकीय हाईस्कूल खलारी, बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के शासकीय पंचम दीवान शासकीय कन्या स्कूल भाटापारा, बलरामपुर जिले के केजीबीव्ही रामानुजगंज, बस्तर जिले के शासकीय माध्यमिक स्कूल मांझीगुड़ा, शासकीय माध्यमिक मॉडल स्कूल करमारी (परचनपाल) और शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बड़े मोरथपाल तोकापाल कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, बेमेतरा जिले के शासकीय प्राथमिक स्कूल पुराना बाड़ा और कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय बेमेतरा, बिलासपुर जिले के शासकीय प्राथमिक स्कूल सराइथा पाली और शासकीय उच्चतर माध्यमिक बालक विद्यालय चिचिरदा, धमतरी जिले के शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल कोर्रा, दुर्ग जिले के शासकीय प्राथमिक शाला पोटिया (हिर्री), शासकीय उच्च प्राथमिक शाला पोटिया (हिर्री), शासकीय नवीन सेकेण्डरी स्कूल खुडमुड़ी, शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल कुम्हारी और शासकीय उच्च प्राथमिक शाला अपग्रेड अंजोरा (ढाबा), कांकेर जिले के शासकीय प्राथमिक शाला पी.व्ही. 131 और शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल छोटेबेठिया, कबीरधाम जिले के अनुसूचित जनजाति आश्रम कन्या प्राथमिक शाला कुन्डा, कोण्डागांव जिले के शासकीय प्राथमिक शाला कोडकेरा, शासकीय आदिवासी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय अड़काछेपड़ा 2, कोण्डागांव, कोरबा जिले के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय कोरबा, शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल मोरगा, जैन पब्लिक स्कूल गोढ़ी कोरबा और सरस्वती हायर सेकेण्डरी स्कूल सीएसईबी कोरबा, महासमुंद जिले के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय लाखागढ़ पिथौरा, मुंगेली जिले के नवीन प्राथमिक शाला पीथमपुर बिचारपुर, रायगढ़ जिले के शासकीय प्राथमिक शाला रामखोंदरा, शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल कोतरा, मोनेट डीएव्ही पब्लिक स्कूल नहरपाली, शासकीय

कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल सरिया, रायपुर जिले के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय केन्द्री, शासकीय हाईस्कूल सुंदरकेरा, राजनांदगांव जिले के दिल्ली पब्लिक स्कूल बनभेडी, सूरजपुर जिले के साधुराम विद्या मंदिर, सरगुजा जिले के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय अम्बिकापुर, माध्यमिक शाला गोरटा, संत मोंट फोर्ट हायर सेकेण्डरी स्कूल बनया, शासकीय माध्यमिक शाला फुन्दुलडिहारी, शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल कन्या मनिपुर अम्बिकापुर शामिल है। 

इस अवसर पर राज्य शिक्षा आयोग के अध्यक्ष चंद्रभूषण शर्मा, संस्कृत विद्यामण्डलम् के अध्यक्ष स्वामी परमात्मानंद, लोक शिक्षण संचालक एस. प्रकाश सहित बड़ी संख्या में शिक्षक-शिक्षिकाएं एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे। 

गांजा तस्करी करते दो युवक गिरफ्तार
आरोपियों के पास से 11 पैकेटों में 17 किलो गांजा जब्त, गंज पुलिस की कार्रवाई
नई तकनीक के साथ रफ्तार पकड़ने  को तैयार  तेजस एक्सप्रेस 
तमाम नए फीचर्स से लैस होंगे भगवा रंग में रंगे डिब्बे
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के केरवा कोठी मामले में कोर्ट ने जाँच कर 2 अगस्त तक डीआई रिपोर्ट मांगी

भोपाल। गुरुवार को राजधानी भोपाल के जिला सत्र न्यायालय में मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल भैया के केरवा कोठी वाले मामले पर दोपहर 12:00 बजे सुनवाई की गई। जिसमें अभिमन्यु की तरफ से साजिद अली और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की तरफ से विनीत गोंडा भोपाल कोर्ट पहुंचे।

जिला सत्र न्यायालय ने केरवा कोठी की जांच दो अगस्त तक पूरी कर डीआई रिपोर्ट को कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए हैं। ज्ञात हो कि मध्यप्रदेश विधानसभा में कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के खिलाफ उनकी मां सरोज सिंह ने जिला न्यायालय में परिवाद दायर किया था। जिला न्यायालय ने अजय सिंह और उनकी मां सरोज सिंह के घरेलू जांच की रिपोर्ट भी तलब की है।

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह व मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय अर्जुन सिंह की धर्मपत्नी सरोज सिंह ने केरवा कोठी में रहने के लिए जिला सत्र न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था तभी से मध्य प्रदेश की राजनीति में भूचाल सा आ गया था और भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच वाद विवाद की स्थिति व आरोप-प्रत्यारोप का दौर रोजाना देखने को मिल रहा था। तभी मध्यप्रदेश की राजनीति में " मां " के नाम से भूचाल लाने वाले मामले की आज जिला न्यायालय में सुनवाई के दौरान सनसनी रही और न्यायाधीश ने मां और बेटे दोनों की घरेलू जांच रिपोर्ट को तलब कर 2 अगस्त की सुनवाई तय की है। 
गौरतलब है कि मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री स्व अर्जुनसिंह की पत्नी श्रीमती सरोज सिंह ने अपने बेटे नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के खिलाफ भोपाल जिला न्यायालय में परिवाद 19 जून को दायर किया था,अपनी मां के साथ परिवाद दाखिल करने न्यायालय पहुंची अजय सिंह की बहन ने भी उनके ऊपर कई गंभीर आरोप लगाए थे। इसके बाद आज 19 जुलाई को इस मामले की सुनवाई दोपहर 12 बजे हुई।

पूर्व वित्तमंत्री रामचंद्र सिंहदेव की हालत नाजुक 

रायपुर। प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री और कोरिया के राजा रामचन्द्र सिंहदेव की हालत नाजुक है। वे राजधानी के एक निजी अस्पताल में भर्ती है। बता दें कि साल 2000 में मध्यप्रदेश से अलग होकर बने छत्तीसगढ़ की पहली सरकार में रामचन्द्र सिंहदेव वित्त मंत्री थे।

इससे पहले अविभाजित मध्यप्रदेश में भी वे कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। रामचंद्र सिंहदेव को कोरिया कुमार के नाम से भी जाना जाता है। डा. सिंह देव  की स्कूली शिक्षा राजकुमार कालेज से हुई है। उसके बाद आगे की शिक्षा के लिए वे इलाहाबाद विश्वविद्यालय गए ।

जहां पर उनके सहपाठी  विश्वनाथ प्रताप सिंह व नारायण दत्त तिवारी रहे। साथ ही भूतपूर्व मूख्य मंत्री अर्जुन सिंह व पूर्व प्रधानमंत्री  वी.पी सिंह उनके जूनियर रहे है। कोरिया राजघराने के रामचंद्र सिंहदेव ने 1967 में विधानसभा का चुनाव लड़ा और जीत हासिल कर सरकार में 16 विभागों के मंत्री बने थे। इसके बाद से वे अब तक 6 बार चुनाव जीतकर अविभाजित मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में विभिन्न महत्वपूर्ण मंत्री पदों पर भी रहे।

जमीन विवाद में गैती से ताबड़तोड़ हमला कर बड़े भाई की हत्या, आरोपी गिरफ्तार 

रायपुर। राजधानी के राखी थाना क्षेत्र के ग्राम निमोरा में बीती रात जमीन विवाद के चलते छोटे भाई ने गैती से ताबड़तोड़ हमला कर बड़े भाई की हत्या कर दी। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं आरोपी को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

थाना प्रभारी एनडी साहू ने बताया कि ग्राम निमोरा निवासी मृतक देवनाथ बंजारे (35) खेती करता था और अपनी पत्नी व बच्चों के साथ रहता था। वहीं पड़ोस में देवनाथ का भाई आरोपी जितेन्द्र बंजारे अपने परिवार के साथ रहता है। उन दोनों भाईयों में जमीन विवाद को लेकर पूर्व में कई बार विवाद हो चुका है। इसी बात को लेकर मंगलवार की रात भी उन दोनों भाईयों में विवाद हो गया और गुस्से में आकर आरोपी जितेन्द्र ने गैती से देवनाथ बंजारे पर ताबड़तोड़ हमला किया। जिससे गंभीर रूप से घायल देवनाथ की मौके पर ही मौत हो गई। 

सुने मकान का कुंदा टूटा, नगदी सहित लाखों के जेवर पार
मुजगहन थाना के बोरियाकला स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी की घटना
सिलतरा में डायरिया से एक की मौत, आधा दर्जन गंभीर 

रायपुर। धरसींवा क्षेत्र के सिलतरा में डायरिया से एक युवक की मौत हो गई वहीं, आधा दर्जन से ज्यादा लोग बीमारी के चपेट में आकर अस्पताल में इलाज करवा रहे हैं। जबकि सिलतरा में डायरिया का प्रकोप तीन दिनों से फैला है, बावजूद स्वास्थ्य विभाग शिविर लगाकर लोगों की जांच नहीं किया जा रहा है। 

बता दें कि राजधानी में बारिश शुरू होते ही मौसमी बीमारी के लोग शिकार होने लगे हैं और स्वास्थ्य विभाग द्वारा बीमारियों को लेकर चिंंता नहीं कर रहे हैं। सिलतरा में बीते तीन दिनों से दूषित खान-पान के वजह से डॉयरिया का प्रकोप फैला है और स्वास्थ्य विभाग के अफसर नींद में है। शनिवार को एक 19 वर्षीय युवक विजय कुमार ग्राम सांकरा निवासी की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि विजय कुमार दूषित खान पान से कुछ दिनों से बीमार था।

इलाज के लिए प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। सिलतरा पुलिस ने मृतक के शव को पंचनामा कर पोस्टमार्ट के लिए अंबेडकर अस्पताल भेजा है। वहीं डायरिया से आधा दर्जन से ज्यादा लोग सिलतरा के आसपास के अस्पताल में इलाज करवा रहे हैं। 

तीन दिनों से फैला डायरिया स्वास्थ्य विभाग की नहीं खुली नींद-

धरसींवा के सिलतरा क्षेत्र में बीते तीन दिनों से डायरिया का प्रकोप फैला है और स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को जानकारी ही नहीं थी। ग्लिब्स टीम ने जब रायपुर जिला के मुख्य चिकित्सक एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केएस शॉडिल्य को जानकारी दी इसके बाद जांच करवाने की बात की है। जबकि आधा दर्जन से ज्यादा लोगों की तबयित बिगड़ चुकी है और आसपास के अस्पतालों में इलाज करवा रहे हैं। 

तीन दिनों से फैला है डायरिया जांच करवाता हूं - डॉ. केएस शॉडिल्य 

मुख्य चिकित्सक एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केएस शॉडिल्य ने बताया कि सिलतरा में तीन दिनों से डायरिया फैला है। मैं जानकारी ले लेता हूं। कि क्षेत्र में क्या स्थिति है। मुझे मौत होने की जानकारी नहीं है।

पुलिस ने निकाला सिरफिरे रोहित का जुलूस पब्लिक ने की पिटाई, युवतीं बोली रोहित को मिले फांसी

भोपाल। शुक्रवार को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में हुए हाई वोल्टेज ड्रामे के अगले दिन राजधानी भोपाल की मिसरोद पुलिस ने सिरफिरे आशिक रोहित का भोपाल की सड़कों पर जब जुलूस निकाला तो भोपाल की पब्लिक ने भी हाथ साफ करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और रोहित की सरेआम जमकर पिटाई लगाई।

दूसरी और अस्पताल में उपचार रत आरोपी की शिकार हुई मॉडल विभा ने भी अब बयान देकर रोहित को फांसी दिए जाने की मांग की है। शुक्रवार को राजधानी भोपाल के मिसरोद थाना क्षेत्र में आने वाले फार्च्यून डिवाइन सिटी के फ्लैट नम्बर 503 में सिरफिरे आशिक रोहित ने अपनी प्रेमिका विभा को बंधक बना लिया था और हाई वोल्टेज ड्रामा करने लगा था सुबह 7:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक चले 12 घँटे के ड्रामे के बाद काफी मशक्कत करके पुलिस ने युवतीं को सिरफिरे आशिक के कब्जे से छुड़ाया था और उसे गिरफ्तार कर लिया था।

उसके बाद पहली बार मॉडल मीडिया के सामने आई और कई राज खोले। साथ ही अगले दिन मॉडल ने जहां रोहित से अपनी जान को खतरा बताया और फांसी दिए जाने की मांग की। वही पुलिस ने सिरफिरे आशिक रोहित सिंह का सरेआम जूलूस निकाला, जहां बीच बाजार में महिलाओं ने उसकी चप्पलों से पिटाई कर दी।हालांकि इस दौरान पुलिस ने उसे भीड़ से बचाया और सीधा कोर्ट ले गई । पुलिस ने उसे जिला अदालत में पेश किया। कोर्ट में पेश करने के बाद मिसरोद पुलिस ने आरोपी रोहित की रिमांड पर मांग की।

रोहित से मुझे जान का खतरा उसे फांसी हो-

युवती ने मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान दर्ज कराते हुए कहाँ हैं कि उसने सारे एफिडेविट जान बचाने के लिए दबाव में साइन किए थे।रोहित उसे लंबे समय से परेशान कर रहा था। इसके पहले भी रोहित उस पर हमला कर चुका है। उसने कल भी चाकू और पिस्टल की नोंक पर मुझसे स्टाम्प पर साइन करवाए थे। उसके चंगुल से रिहा होने के लिए ही मैने उसकी हां में हां मिलाई थी ।अगर मैं हां नहीं करती तो रोहित मुझे मार डालता। युवती ने कहा कि उसे रोहित से हमेशा जान का खतरा है।वो बहुत खतरनाक इंसान है। अगर वो जेल से छूटा तो मेरी और मेरे परिवार की जान ले सकता है इस लिए रोहित को फांसी सजा होनी चाहिए।

घटना स्थल पर महिलाओं और युवतियों ने की पिटाई-

शनिवार को राजधानी भोपाल की मिसरोद थाना पुलिस आरोपी रोहित को लेकर घटनास्थल पहुंची और अपने स्तर से तफ्तीश की। उसी दौरान वहां पर एक महिला आ दमकी और उसने रोहित को चांटा लगाना शुरु कर दिए महिला को देख वहां मौजूद लड़कियों ने भी रोहित की जूते चप्पल से पिटाई कर दी। इस बीच आरोपी रोहित पर कोई शिकन नहीं देखने को मिली। उसने कहा कि मॉडल से उसका प्यार एकतरफा नहीं था, वह मुझसे शादी करना चाहती है। वह अपने मां-बाप के दबाव में शादी करने से इनकार कर रही है।।

 

संजीवनी व महतारी एम्बुलेंस  कर्मचारियों का जिलेवार धरना शुरू, 16 से अनिश्चितकालीन हड़ताल 

रायपुर। राजधानी में 108 संजीवनी और 102 महतारी एम्बुलेंस कर्मचारियों ने एक बार फिर से आंदोलन का बिंगुल फूंका है। शुक्रवार से प्रदेशभर में काम करने वाले कर्मचारियों ने जिलेवार फिर से आंदोलन शुरू कर दी है। संजीवनी और 102 महतारी एम्बुलेंस कर्मचारी दो दिनों तक जिलेवार आंदोलन करेंगे। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि शासन कर्मचारियों की शर्त पूरी नहीं करते तो वे 16 जुलाई से अनिश्चितकालीन कॉलीन हड़ताल करेंगे। 

बता दें कि कर्मचारी कल्याण संघ ने आज शुक्रवार काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया। साथ ही जिनका अवकाश है वे लोग धरने पर बैठे हैं। हालाकिं इसके पहले भी कर्मचारियों ने अपनी मांगो को लेकर प्रदेश में प्रदर्शन किया था। इस बार भी समय पर वेतन देने, ठेका प्रथा बंद करने और न्यूनतम मजदूरी देने की मांग सरकार से कर रहे है।

गौरतलब है कि एम्बुलेंस कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से एम्बुलेंस सेवा पूरी तरह से ठप हो जाएगी। कर्मचारी कल्याण संघ के अध्यक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने बताया कि कर्मचारियों ने 5 अप्रैल से 11 अप्रैल तक अपनी इन्हीं मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल किया था। लेकिन उस समय इन्होंने सरकार द्वारा मांगे माने जाने के आश्वासन के बाद हड़ताल वापस ले ली थी। अब तीन महीने बीत जाने के बाद भी इनकी मांगों पर अमल नहीं किया गया है। जिससे फिर अब ये आंदोलनरत हो गए हैं। 12 और 13 जुलाई को जिला मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन करेंगे। उसके बाद भी उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो 16 जुलाई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाने की चेतावनी दी है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804
Visitor No.