GLIBS
18-09-2020
शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र बिल्हा में प्रवेश के लिए आवेदन आमंत्रित

रायपुर/बिलासपुर। शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था बिल्हा में प्रवेश सत्र 2020-21 एवं सत्र 2020-22 में प्रवेश के लिए इच्छुक अभ्यर्थियों से पूर्व में ऑनलाइन आवेदन पत्र आमंत्रित कर प्रवेश की कार्यवाही की गई। लेकिन ऐसे अभ्यर्थी, जो किन्ही कारणों से ऑनलाइन आवेदन रजिस्ट्रेशन नहीं कर पाये थे अथवा जिनका पूर्व में ऑनलाइन आवेदन के पश्चात प्रवेश का अवसर समाप्त हो चुका हो वे शेष रिक्त सीटों के लिए वेबसाइट www.cgiti.cgstate.gov.in में 23 सितम्बर 2020 तक पुनः ऑनलाइन आवेदन कर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। नए आवेदन एवं पूर्व में प्राप्त आवेदनों को मिलाकर संयुक्त प्राविण्य सूची तैयार की जायेगी और इसके आधार पर प्रवेश की कार्यवाही की जायेगी।

 

17-09-2020
10वीं और 12वीं की ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल हुए 11704 विद्यार्थी,शुक्रवार को लगेंगी दो-दो क्लास

रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से कक्षा 10वीं और 12वीं अध्ययन-अध्यापन के संदर्भ में ऑनलाइन कक्षाएं प्रारंभ की गई है। गुरुवार को कक्षा 10वीं की विज्ञान व गणित और कक्षा 12वीं की अंग्रेजी व राजनीतिक विज्ञान विषयों की कक्षाएं हुई। इन कक्षाओं में प्रदेश से 11704 विद्यार्थी शामिल हुए। माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारियों ने बताया कि, शुक्रवार 18 सितंबर को कक्षा 10वीं और 12वीं की दो-दो विषयों की आनलाइन कक्षाएं संचालित होंगी। कक्षा 10वीं में अंग्रेजी विषय की कक्षा दोपहर 12.00 बजे से 12.40 बजे तक और विज्ञान विषय की कक्षा दोपहर 1:00 बजे से 1:40 बजे तक संचालित होगी। इसी प्रकार कक्षा 12वीं में भूगोल विषय की कक्षा दोपहर 12:00 बजे से 12:40 बजे तक और लेखा शास्त्र विषय की कक्षा दोपहर 1:00 बजे से 1:40 बजे तक संचालित होगी। इस समय-सारणी के अनुसार माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से ऑनलाइन कक्षाओं में प्रदेश के समस्त विद्यार्थी अपने-अपने घर में पढ़ाई कर सकते हैं। इसके लिए मंडल की वेबसाइट  www.cgbse.nic.in  में ऑनलाइन क्लास पर क्लिक करके विद्यार्थी कक्षा से जुड़ सकते हैं। इसके अतिरिक्त इस सप्ताह आगामी ऑनलाइन कक्षाओं की समय-सारणी भी मंडल की वेबसाइट पर देखी जा सकती है।

 

16-09-2020
छात्र ऑनलाइन खरीद सकेंगे 11वीं और 12वीं की पुस्तकें,मिलेगी छूट, नहीं लगेगा डाक खर्च

रायपुर। छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम द्वारा एनसीईआरटी पाठ्यक्रम पर आधारित कक्षा 11वीं और 12वीं की कला, वाणिज्य और विज्ञान संकाय की पाठ्य पुस्तकें राज्य के सभी प्राचार्यों, शिक्षकों और विद्यार्थियों को छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के पुस्तक भण्डारों से सीधे क्रय करने पर 15 प्रतिशत की विशेष छूट दी जाएगी। यह पुस्तकें छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के पुस्तक भण्डार रायपुर, राजनांदगांव, जगदलपुर, बिलासपुर, अंबिकापुर और रायगढ़ से प्राप्त की जा सकती है। इसके लिए निगम की वेबसाइट पर आर्डर करके ऑनलाइन भुगतान कर डिपो से पुस्तकें प्राप्त की जा सकेगी। छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम की प्रबंध संचालक ने बताया कि निगम द्वारा सभी प्राचार्यों, शिक्षकों और विद्यार्थियों को ऑनलाईन घर पहुंच सेवा प्रदाय की जा रही है। इसके लिए सबसे पहले छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम की वेबसाइट www.tbc.cg.nic.in पर लॉग इन करना होगा।

लॉग इन करते ही वेबसाइट में लाल रंग के बॉक्स में ’बाय बुक्स ऑनलाइन’ का आप्शन आएगा। उसे क्लिक करते ही एक आर्डर फार्म खुलेगा, जिसे सावधानीपूर्वक भरना होगा। फार्म में इच्छुक व्यक्तियों को अपना पूरा नाम, डाक का पूरा पता, मोबाइल नम्बर और अपनी आवश्यकता की पुस्तकों के नाम एवं संख्या (जो पहले से ही कीमत के साथ अंकित हैं) भरने होंगे। सभी जानकारी पूर्ण करने के उपरांत डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, पेटीएम आदि के माध्यम से ऑनलाइन पेमेंट करना होगा। निगम द्वारा अनुमोदन उपरान्त पुस्तकें भेंजी जाएंगी। यदि ऑनलाइन आर्डर करते समय कोई असुविधा हो तो छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम की वेबसाइट में दिए गए हेलपलाइन नम्बर 93003-93199 या 94255-10660 पर संपर्क किया जा सकता है। ऑनलाइन आर्डर करने पर डाक खर्च की छूट दी जाएगी।

 

15-09-2020
10वीं और 12वीं की ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल हुए 7754 छात्र, बुधवार को दो-दो विषयों की क्लास

रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से कक्षा 10वीं और 12 वीं के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं प्रारंभ हो गई है। 16 सितंबर को कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं की दो-दो विषयों की ऑनलाइन कक्षाएं शुरू होंगी। माध्यमिक शिक्षा मंडल से मिली जानकारी के मुताबिक कक्षा 10वीं के संस्कृत विषय की कक्षाएं दोपहर 12 बजे से 12:40 बजे तक, समाजिक विज्ञान की कक्षाएं दोपहर एक बजे से 1:40 बजे तक संचालित होगी। इसी प्रकार कक्षा 12वीं के जीवविज्ञान विषय की कक्षाएं दोपहर 12 बजे से 12:40 बजे तक, भौतिकी की कक्षाएं दोपहर 1 बजे से 1:40 बजे तक संचालित होगी। इन कक्षाओं के विद्यार्थी अपने-अपने घर में ऑनलाइन होकर पढ़ाई कर सकते हैं। ऑनलाइन कक्षा में लाइव जुड़ने के लिए विद्यार्थी www.cgbse.nic.in में ऑनलाइन क्लास पर क्लिक कर सकते हैं। विद्यार्थी इस सप्ताह ऑनलाइन कक्षाओं की समय सारिणी भी माध्यमिक शिक्षा मंडल की वेबसाइट www.cgbse.nic.in में देख सकते हैं। बताया गया कि मंगलवार 15 सितंबर को ऑनलाइन कक्षा में कक्षा 10वीं की अंग्रेजी और विज्ञान, कक्षा 12वीं की भूगोल व राजनीतिक विज्ञान विषय की कक्षाओं में प्रदेश भर के 7754 विद्यार्थी शामिल हुए।

 

12-09-2020
ऑनलाइन ठगी पर पुलिस ने की जनता से अपील, लालच में न आए, सावधान रहे

गुंडरदेही। बहुचर्चित टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति के नाम से लोगों के साथ ऑनलाइन ठगी की जा रही है। उन्हें लाखों रुपए की लॉटरी निकालने का झांसा देकर पैसे लिए जा रहे हैं। उन्हें कहा जाता है कि उनका मोबाइल नंबर लकी ड्रा में निकला है। उनसे सवाल पूछ कर कहा जाता है कि उनके नाम लाखों रुपए के नाम निकला है। उन्हें टैक्स जमा करवा कर पैसे लेने के लिए कहा जाता है। गुंडरदेही पुलिस ने जनता से अपील की  है कि लालच में ना आए और सावधान रहे। किसी भी खाते में पैसे ट्रांसफर करने से पहले संबंधित बैंक के ब्रांच मैनेजर अथवा निकटतम थाने से जरूर संपर्क करें।

10-09-2020
  12वीं की लाइव क्लास में शामिल हुए 13 हजार से अधिक विद्यार्थी,अगली कक्षाओं की जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध

रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से कक्षा 12वीं अध्ययन-अध्यापन के संदर्भ में 7 सितंबर से ऑनलाइन लाइव कक्षाएं प्रारंभ की गई है। कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों के लिए गुरुवार को अंग्रेजी, इतिहास, जीवविज्ञान और गणित विषयों की कक्षाएं हुई। इस ऑनलाइन लाइव कक्षा में प्रदेश के 13 हजार 165 विद्यार्थी शामिल हुए। माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारियों ने कहा कि, शुक्रवार 11 सितंबर को कक्षा 12वीं के 4 विषयों की ऑनलाइन लाइव कक्षाएं संचालित होगी। इसमें विषय हिन्दी की कक्षा दोपहर 12:00 से  12:40 बजे तक, रसायन शास्त्र की कक्षा दोपहर 1.00 से 1.40 बजे तक, राजनीतिक विज्ञान की कक्षा दोपहर 1:00 से 1:40 बजे तक और लेखाशास्त्र विषय की कक्षा दोपहर 2:00 से 2:40 बजे तक संचालित होगी।  इस समय-सारणी अनुसार माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से लाइव ऑनलाइन कक्षाओं में प्रदेश के समस्त विद्यार्थी अपने-अपने घर से पढ़ाई कर सकते हैं। इसके लिए मंडल की वेबसाइट 12वीं की लाइव क्लास में शामिल हुए 13 हजार से अधिक विद्यार्थी,अगली कक्षाओं की जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध

रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से कक्षा 12वीं अध्ययन-अध्यापन के संदर्भ में 7 सितंबर से ऑनलाइन लाइव कक्षाएं प्रारंभ की गई है। कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों के लिए गुरुवार को अंग्रेजी, इतिहास, जीवविज्ञान और गणित विषयों की कक्षाएं हुई। इस ऑनलाइन लाइव कक्षा में प्रदेश के 13 हजार 165 विद्यार्थी शामिल हुए। माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारियों ने कहा कि, शुक्रवार 11 सितंबर को कक्षा 12वीं के 4 विषयों की ऑनलाइन लाइव कक्षाएं संचालित होगी। इसमें विषय हिन्दी की कक्षा दोपहर 12:00 से  12:40 बजे तक, रसायन शास्त्र की कक्षा दोपहर 1.00 से 1.40 बजे तक, राजनीतिक विज्ञान की कक्षा दोपहर 1:00 से 1:40 बजे तक और लेखाशास्त्र विषय की कक्षा दोपहर 2:00 से 2:40 बजे तक संचालित होगी।  इस समय-सारणी अनुसार माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से लाइव ऑनलाइन कक्षाओं में प्रदेश के समस्त विद्यार्थी अपने-अपने घर से पढ़ाई कर सकते हैं। इसके लिए मंडल की वेबसाइट12वीं की लाइव क्लास में शामिल हुए 13 हजार से अधिक विद्यार्थी,अगली कक्षाओं की जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध

रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से कक्षा 12वीं अध्ययन-अध्यापन के संदर्भ में 7 सितंबर से ऑनलाइन लाइव कक्षाएं प्रारंभ की गई है। कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों के लिए गुरुवार को अंग्रेजी, इतिहास, जीवविज्ञान और गणित विषयों की कक्षाएं हुई। इस ऑनलाइन लाइव कक्षा में प्रदेश के 13 हजार 165 विद्यार्थी शामिल हुए। माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारियों ने कहा कि, शुक्रवार 11 सितंबर को कक्षा 12वीं के 4 विषयों की ऑनलाइन लाइव कक्षाएं संचालित होगी। इसमें विषय हिन्दी की कक्षा दोपहर 12:00 से  12:40 बजे तक, रसायन शास्त्र की कक्षा दोपहर 1.00 से 1.40 बजे तक, राजनीतिक विज्ञान की कक्षा दोपहर 1:00 से 1:40 बजे तक और लेखाशास्त्र विषय की कक्षा दोपहर 2:00 से 2:40 बजे तक संचालित होगी।  इस समय-सारणी अनुसार माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से लाइव ऑनलाइन कक्षाओं में प्रदेश के समस्त विद्यार्थी अपने-अपने घर से पढ़ाई कर सकते हैं।

इसके लिए मंडल की वेबसाइट  www.cgbse.nic.in में ऑनलाइन क्लास पर क्लिक करके विद्यार्थी कक्षा से जुड़ सकते हैं। इसके अतिरिक्त इस सप्ताह आगामी ऑनलाइन कक्षाओं की समय-सारणी भी मंडल की वेबसाइट www.cgbse.nic.in पर देखी जा सकती है।में ऑनलाइन क्लास पर क्लिक करके विद्यार्थी कक्षा से जुड़ सकते हैं। इसके अतिरिक्त इस सप्ताह आगामी ऑनलाइन कक्षाओं की समय-सारणी भी मंडल की वेबसाइट www.cgbse.nic.in पर देखी जा सकती है।में ऑनलाइन क्लास पर क्लिक करके विद्यार्थी कक्षा से जुड़ सकते हैं। इसके अतिरिक्त इस सप्ताह आगामी ऑनलाइन कक्षाओं की समय-सारणी भी मंडल की वेबसाइटwww.cgbse.nic.in पर देखी जा सकती है।

 

06-09-2020
प्रमुख सचिव ने किया जिले में पढ़ई तुंहर दुआर के शैक्षिक मॉडलों का निरीक्षण  

रायपुर/रायगढ़। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ.आलोक शुक्ला रविवार को रायगढ़ जिले में संचालित हो रहे छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग की अभिनव पहल पढ़ई तुंहर दुआर अंतर्गत ऑनलाइन व ऑफलाइन सहित अन्य शैक्षिक मॉडलों के क्रियान्वयन का जायजा लिया। इस मौके पर कलेक्टर भीम सिंह, जिला पंचायत सीईओ ऋचा प्रकाश चौधरी, जिला शिक्षा अधिकारी आरपी आदित्य, मिशन समन्वयक रमेश देवांगन उपस्थित रहे।शासन की महती योजना पढ़ई तुंहर दुआर योजना अंतर्गत ऑनलाइन कक्षाओं के संचालन, वर्क कल्चर, अनुशासन एवं बेहतर क्रियान्वयन में रायगढ़ जिला समूचे प्रदेश में पहले स्थान पर है।

जिले में ऑनलाइन शिक्षा सहित अन्य शैक्षिक मॉडल्स की गतिविधियों से स्वयं रूबरू होते प्रमुख सचिव डॉ आलोक शुक्ला सारंगढ़ के प्राथमिक शाला शांति नगर कनकबीरा में शिक्षिका कमला श्याम सहा.शि.एल.बी. एवं पुष्पा बरिहा सहा.शि.पंचा.प्राथमिक शा.मलदा ब की कुमारी संगीता सिदार सहा.शि.की कक्षा टॉपिक शरीर के अंग, माध्यमिक शा.मलदा ब के मुन्नालाल सिदार की कक्षा टॉपिक कार्बोहाइड्रेट का परीक्षण एवं बरमकेला के डोगीपानी की ऑफलाइन कक्षाओं के अध्ययन-अध्यापन गतिविधियों का अवलोकन किया। तत्पश्चात रायगढ़ के शासकीय नटवर स्कूल में संचालित हो रहे सरदार वल्लभभाई पटेल आदर्श अंग्रेजी माध्यम स्कूल के शिक्षकों के अध्ययन-अध्यापन व अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।सर्किट हाउस रायगढ़ में समीक्षा के दौरान ऑफलाइन शिक्षा में बेहतर प्रयास के लिए शासकीय प्राथमिक शाला धनागर के दिव्यांग शिक्षक अंजय सूर्यवंशी, यूट्यूब में बेहतर कंटेंट अपलोड केे लिए आरएस प्रसाद प्राचार्य लोइंग, स्टाफ के बेहतर संयोजन व कक्षाओं के संचालन के लिए एसके कर्ण प्राचार्य रायकेरा, बच्चों के बेहतर ऑनलाइन टेस्ट संचालन के लिए घई व्याख्याता टारपाली, तराई माल की निशा सिंग, ऑनलाइन कक्षा में सबसे ज्यादा बच्चों को जोडऩे के लिए कन्या उच्च. विद्यालय घरघोड़ा के विजय पंडा व जिले में सबसे अधिक ऑनलाइन क्लास लेने व दूसरे नंबर पर सबसे अधिक बच्चों को जोडऩे वाले प्राथमिक शाला प्रधान पाठक निरंजनलाल पटेल से मुलाकात व चर्चा कर सभी को उनके उत्कृष्ट प्रयास के लिए शुभकामनाएं दी।

सीईओ जिला पंचायत  ऋचा प्रकाश ने प्रमुख सचिव के समक्ष रायगढ़ जिले की ऑनलाइन नेटवर्क व डेटा के बेहतर संचालन, संकलन व मेहनत के लिए एपीसी भुवनेश्वर पटेल की सराहना की। प्रमुख सचिव डॉ.आलोक शुक्ला ने रायगढ़ जिले में पढ़ई तुंहर दुआर के संचालन, वर्क कल्चर की तरीफ करते हुए कहा कि जिले में पढ़ई तुंहर दुआर के क्रियान्वयन व बेहतर संचालन से संतुष्ट हूँ। ऑनलाइन क्लासेस के मामले में जिले अन्य जिलों से बेहतर है, इसे और बेहतर करते जाएं, जिले में इसके संचालन के तरीके की समीक्षा कर रायगढ़ जिले को मॉडल के रूप में अन्य जिलों में दिखाया जाएगा।

 

02-09-2020
Video : प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग आगामी सूचना तक बंद रहेगा, सभी करेंगे वर्कफ़्राम होम

रायपुर। राजधानी में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच प्रदेश कांग्रेस ने एहतियातन बड़ा फैसला लिया है। संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि, एहतियातन आगामी सूचना तक संचार विभाग का कार्यालय नहीं खुलेगा। हम सब वर्कफ्राम होम करेंगे। टीवी लाइव डिबेट में भी कांग्रेस का पक्ष रखने वाले सभी साथियों से ऑनलाइन ही जुड़ने का आग्रह किया गया है। किसी संबंध में बाइट या प्रतिक्रिया के लिए फोन पर संपर्क करने का निवेदन किया गया है। कोई भी समस्या या आवश्यकता होने पर सीधे शैलेश नितिन त्रिवेदी से संपर्क करने का निवेदन किया गया है। यह निर्णय आगामी सूचना तक प्रभावशील रहेगा।

24-08-2020
एक व्यक्ति के नेत्रदान से मिल सकती है दो लोगों को रोशनी, नेत्र रोग विभाग में राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा 25 अगस्त से

रायपुर। पंडित जवाहर लाल नेहरु स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के नेत्र रोग विभाग में 25 अगस्त से राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन का उद्देश्य जनजागरूकता के माध्यम से लोगों को नेत्रदान के लिए प्रेरित एवं प्रोत्साहित करना है। नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डॉ.एमएल गर्ग ने आयोजन की जानकारी देते हुए बताया कि प्रतिवर्ष 25 अगस्त से 8 सिंतबर के बीच राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष कोरोना काल को देखते हुए जनजागरण अभियान के लिए इलेक्ट्रानिक मीडिया, प्रिंट मीडिया एवं सोशल मीडिया प्लेटफार्म का उपयोग किया जा रहा है। नेत्र चिकित्सकों, नेत्र सहायकों, नेत्र काउंसर एवं इस क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों के सोशल मीडिया प्लेटफार्म वॉट्सअप के माध्यम से लिंक भेजकर ऑनलाइन नेत्रदान पखवाड़ा का शुभारंभ किया जाएगा। विशेष आयोजनों के तहत समाचार पत्रों, दूरदर्शन, आकाशवाणी, वेबिनार इत्यादि के जरिए नेत्रदान हेतु चर्चाएं, व्याख्यान, गोष्ठियां किया जाना प्रस्तावित है।

प्रतिवर्ष लोगों को नेत्रदान के प्रति जागरूक एवं प्रेरित करने के उद्देश्य से जनजागरण सम्बन्धी कार्यक्रम किये जाते हैं जिसके अंतर्गत नेत्र परीक्षण शिविर लगाने के साथ-साथ पाठशाला, महाविद्यालय आदि स्थानों पर व्याख्यान दिये जाते हैं। डॉ. गर्ग ने कहा कि एक व्यक्ति के नेत्रदान से दो लोगों की जिंदगी रोशन हो सकती है इसलिए राष्ट्रीय स्तर पर इसका आयोजन किया जाता है। जनसाधारण की भागीदारी के लिए शैक्षणिक संस्थाओं, सामाजिक संस्थाओं एवं गैर शासकीय संस्थाओं का सहयोग लिया जाता है। सूचना, शिक्षा एवं संचार गतिविधियों के अंतर्गत पोस्टर प्रतियोगिता, निबंध, नुक्कड़ नाटक, नेत्रदान सम्बन्धी रैली का आयोजन किया जाता है। मीडया के सहयोग से नेत्रदान सम्बन्धी चर्चायें, गोष्ठी, व्याख्यान आदि का प्रसारण किया जाता है। अंधत्व के निवारण के लिए भिन्न-भिन्न पद्धतियों का आवश्यकतानुसार उपयोग किया जाता है। जैसे मोतियाबिंद हो जाये तो उसका ऑपरेशन हो सकता है। कांचबिंद हो जाने तो उसका निवारण दवाओं एवं ऑपरेशन से किया जाता है। दृष्टिदोष का इलाज चश्मे से होता है। उच्च रक्तचाप, मधुमेह आदि से अगर रोशनी जाने का खतरा है तो उसके लिये दवाईयां एवं ऑपरेशन का उपयोग किया जाता है।

इसी प्रकार और भी अन्य बीमारियां हैं जिनका उपचार ऑपरेशन और अन्य विधियों से किया जाता है और खोयी रौशनी वापस आ जाती है किंतु यदि कोई व्यक्ति कार्नियल ओपेसिटी से अंधत्व का शिकार हो जाये तो इसका इलाज नेत्रदान से प्राप्त कार्निया का प्रत्यारोपण करके ही किया जा सकता है। इसके लिए किसी अन्य प्रकार की दवा प्रभावी नहीं होती है। नेत्र का कार्निया अर्थात् स्वच्छ पटल जो सामने से देखने पर आंख की पुतली के रंगों के अनुसार काला या हल्का भूरा दिखाई देता है, आंख का पारदर्शी भाग है। इसमें सफेदी हो जाती है जिसे हम कार्नियल ओपेसिटी कहते हैं लेकिन सामान्य भाषा में इसे आंख का फूला होना या सफेद होना कहते हैं।हमें मोटे तौर पर लगभग दो लाख कार्निया की हर साल आवश्यकता होती है लेकिन प्राप्ति केवल 60 हजार कार्निया की होती है। इस तरह अतिरिक्त 20 हजार कार्निया की आवश्यकता प्रतिवर्ष और जुड़ जाती है इसलिए नेत्रदान पखवाड़े के माध्यम से नेत्रदान को प्रवृत्त करने के लिए जनजागरण की आवश्यकता होती है।

 

23-08-2020
भूपेश बघेल को शुभकामनाएं देने मुख्यमंत्री निवास पहुंचे जनप्रतिनिधि, प्रदेशभर से भी ऑनलाइन जुड़े लोग

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रविवार को अपने जन्मदिन पर वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने शुभचिंतकों और प्रशंसकों से रूबरू हुए। उन्होंने ऑनलाइन सभी की शुभकामनाएं स्वीकार की। सभी लोगों को उनकी शुभेच्छाओं के लिए धन्यवाद दिया। कोरोना संकट के कारण मुख्यमंत्री बघेल अपने निवास कार्यालय में प्रदेश के विभिन्न जिलों और विकासखंड मुख्यालय में उपस्थित जनप्रतिनिधियों, कार्यकर्ताओं और नागरिकों से वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ऑनलाइन जुड़े।

इधर मुख्यमंत्री निवास में कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंड़िया, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, लोकसभा सांसद  दीपक बैज, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमयी नायक, संसदीय सचिव शकुंतला साहू,  अंबिका सिंह देव, डॉ. लक्ष्मी ध्रुव, रश्मि आशीष सिंह, विधायक संगीता सिन्हा, नगर निगम रायपुर के महापौर ऐजाज ढेबर, सभापति प्रमोद दुबे, राज्य खाद्य आपूर्ति निगम के अध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष कुलदीप जुनेजा, राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, मुख्यमंत्री के सलाहकार विनोद वर्मा और राजेश तिवारी सहित अनेक जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री बघेल से मुलाकात कर उन्हें जन्मदिन की बधाई और शुभकामनाएं दी।

21-08-2020
Video: भिलाई शहर को पूरे देश में बेस्ट सेल्फ सस्टेनेबल सिटी का मिला राष्ट्रीय अवार्ड

भिलाई। स्वच्छ सर्वेक्षण में भिलाई शहर को 3 से 10 लाख वाली जनसंख्या की कैटेगरी में पूरे भारत में बेस्ट सेल्फ सस्टेनेबल सिटी का राष्ट्रीय अवार्ड/पुरस्कार प्राप्त हुआ है। यह अवार्ड  प्रधानमंत्री के स्वच्छ महोत्सव कार्यक्रम के तहत राज्य मंत्री, आवास एवं शहरी मामले मंत्रालय हरदीप सिंह पुरी ने दी। कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी कक्ष में महापौर एवं भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव, महापौर परिषद के सदस्य एवं स्वच्छता प्रभारी लक्ष्मीपति राजू एवं आयुक्त  ऋतुराज रघुवंशी, नोडल अधिकारी स्वच्छ भारत मिशन तरुण पाल लहरें, स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा ने ऑनलाइन बेस्ट सेल्फ सस्टेनेबल सिटी का अवार्ड प्राप्त किया। स्वच्छता के मापदंडों पर खरा उतरने के लिए नगर पालिक निगम भिलाई के महापौर देवेंद्र यादव एवं आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के कुशल मार्गदर्शन में स्वच्छता के निचले स्तर के कर्मचारियों से लेकर सभी अधिकारियों ने कड़ी मेहनत की और शहर की जागरूकता जनता ने अवार्ड दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। निगम ने स्वच्छता के विभिन्न मापदंडों पर विशेष रुप से ध्यान देते हुए कार्य किया है। निगम के महापौर  देवेंद्र यादव ने कहा कि भिलाई की जनता हमेशा स्वच्छता के प्रति जागरूक है और महत्वपूर्ण राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त करने में अपनी पूर्ण सहभागिता दिखाई है, निगम के अधिकारी/कर्मचारी सहित, इससे जुड़े सभी लोगों को एवं शहर की जनता को इसके लिए बधाई देता हूं! कचरा मुक्त शहरों की सूची में शामिल हो चुका है भिलाई  मिल चुकी है 3 स्टार रेटिंग स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में कचरा मुक्त शहरों में भिलाई नगर को सम्मिलित किया जा चुका है तथा भिलाई 3 स्टार रेटिंग प्राप्त कर चुकी है।

भिलाई शहर की जनता स्वच्छता के प्रति जागरूक है तभी भिलाई कचरा मुक्त शहर में शामिल हो सका है। स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत निगम प्रशासन ने स्टार रेटिंग एवं वाटर प्लस पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया था। स्वच्छ सर्वेक्षण के महत्वपूर्ण पहलुओं पर काम किया गया! नालियों में कचरा को रोकने के लिए तथा सीधे जल स्रोतों में कचरा न मिले इसके लिए नालियों में जालियां लगाने का कार्य किया गया तथा जीवीपी पाइंट को समाप्त कर सौंदर्यीकरण करने का कार्य किया गया। एसएलआरएम सेंटर में कचरों का पृथकीकरण, घनी आबादी वाले क्षेत्रों की सघन सफाई व डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के अन्तर्गत सभी पैरामीटर को ध्यान में रखते हुए कार्य संपादित किया गया। एसएलआरएम सेंटर की संख्या में भी वृद्धि की जा रही है दो नए एसएलआरएम सेंटर का निर्माण कार्य किया जा रहा है। ओडीएफ प्लस प्लस का दर्जा प्राप्त कर चुका है भिलाई नगर पालिक निगम भिलाई खुले में शौच मुक्त का दर्जा पूर्व से प्राप्त करता आ रहा है और ओडीएफ प्लस प्लस का दर्जा भी इस वर्ष भिलाई निगम ने प्राप्त किया है, खुले से शौच मुक्त बनाने के लिए अधिकारियों ने प्रातः से ही ओडी वाले स्थानों पर नजर रखने का कार्य किया है, जुर्माना वसूली की, शौचालय को अपडेट किया नतीजन भिलाई को ओडीएफ प्लस प्लस का दर्जा प्राप्त हो चुका है। महापौर देवेंद्र यादव तथा आयुक्त  ऋतुराज रघुवंशी के नेतृत्व में सभी के अथक प्रयासों से निगम भिलाई ने पहली बार स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत यह राष्ट्रीय अवार्ड हासिल किया है। इसमें बीएसपी प्रबंधन एवं शहरवासियों ने अहम भूमिका निभाई है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804