GLIBS
08-03-2020
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस : राजीव भवन में नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष और सदस्यों का हुआ सम्मान

रायपुर। राजीव भवन में महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष फूलों देवी नेताम के नेतृत्व में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष और सदस्यों को साड़ी व श्रीफल देकर सम्मानित किया गया। लोकसभा सांसद ज्योत्सना महंत ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि नारी का स्थान सर्वोच्च है। महिलाएं आज के युग में किसी से कम नहींं है। जैसे हम अपने बच्चे को सुधार सकते हैं, अपने पति को सही रास्ते में चलने को चलने में प्रेरित करते है। वैसे ही समाज को सुधारने का उत्तरदायी हम सबका है। ये शुरुआत अपने घर से करते हैं। अपने बेटे को नारी का सम्मान करना सिखाना होगा। राज्यसभा सांसद छाया वर्मा ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज के समय में मोबाइल फोन का इस्तेमाल सब करते हैं। फोन में बहुत सारे आप्शन रहते हैं,यदि गलती से कोई एक भी बटन दब जाता है तो हम परेशानी में पड़ सकते हैं। साइबर क्राइम के अपराध बहुत अधिक बढ़ गई है। हमें सावधानी बरतनी होगी।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री गिरीश देवांगन ने मातृ शक्ति को प्रणाम करते हुए कहा कि आज इसी मातृ शक्ति के कारण इतने अधिक बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनी है। आज पूरे प्रदेश में नरवा, गरवा, घुरूवा और बाड़ी में महिला समूह काम कर रही है। महिलाओं को सशक्त बनाने का काम कांग्रेस के सरकार कर रही है।

मुख्यमंत्री के प्रमुख सलाहकार विनोद वर्मा ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर बधाई देते हुए कहा कि बेटी बचाओ का नारा लाया गया। पुरुष कौन होता है, बेटी बचाने वाली महिलाओं में बहुत पावर होती है। महिलाएं ही बेटी को बचायेगी क्योंकि पूरी दुनिया की संरचना करने वाली नारी ही होती है। महापौर एजाज ढ़ेबर ने बधाई देते हुए कहा है कि रायपुर नगर निगम महिला कल्याण एवं उनके आर्थिक स्वावलंबन से जुड़े इस योजना का संचालन तत्काल शुरू कर रहा है। कार्यक्रम में पूर्व महापौर किरणमयी नायक,रायपुर जिला पंचायत अध्यक्ष डोमेशवरी साहू, बीजापुर जिला पंचायत सदस्य नीना रावतिया,संध्या रवानी ने भी सभा को संबोधित किया।

22-02-2020
23 फरवरी को गांधी मैदान में कांग्रेस का प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन

रायपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार एससी,एसटी और ओबीसी नागरिकों के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा के लिए रविवार 23 फरवरी को सुबह 11 बजे कांग्रेस भवन, गांधी मैदान में कांग्रेस प्रदेश स्तरीय एकदिवसीय धरना प्रदर्शन करेगी। प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और संघ परिवार की विचारधारा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग को दिए गए आरक्षण का विरोध कर रही है। भाजपा पिछले कई वर्षों से अपने बयानों और कार्यों के जरिए अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्ग के समुदायों को दिये गए आरक्षण पर सुनियोजित तरीके से हमला कर रही है। अपने इसी एजेण्डे पर आगे बढ़ते हुए भारतीय जनता पार्टी सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में असंवैधानिक रूख अपनाया है-सार्वजनिक पदों पर नियुक्तियों में आरक्षण का दावा करना मौलिक अधिकार नहीं है। आरक्षण देना राज्य सरकार का संवैधानिक कर्तव्य नहीं है। गिरीश देवांगन ने कहा कि इन सब पर भाजपा को बेनकाब करने के लिए एकदिवसीय धरना दिया जाएगा।

 

03-01-2020
राजनांदगांव नगर निगम में कांग्रेस का कब्जा, हेमा देशमुख बनीं महापौर

राजनांदगांव। प्रदेश की संस्कारधानी में महापौर की कुर्सी पर इस बार कांग्रेस का कब्जा हो गया है। यहां कांग्रेस की हेमा देशमुख महापौर चुनीं गईं है। शुक्रवार को हुए मतदान में उन्हें 31 वोट मिले। आज वोटिंग में 51 वोट डाले गए थे। इसमें भाजपा की उम्मीदवार शोभा सोनी को 20 वोट मिले। सभापति की कुर्सी कांग्रेस को मिली है, जिसमें हरिनारायण पप्पू धकेता सभापति चुने गए। बता दें कि इससे पहले राजनांदगांव में महापौर भाजपा का था। राजनांदगावं नगर निगम में कांग्रेस के 22, भाजपा के 21 और निर्दलीय पार्षदों की संख्या 8 थी। 51 पार्षदों वाले निगम में बहुमत के लिए 26 पार्षदों के समर्थन की जरूरत थी। इनमें से सभी 8 निर्दलीय पार्षदों ने कांग्रेस का साथ दिया है। हेमा देशमुख 11 मतो से विजयी रहीं। बता दें कि शुक्रवार को निगम की पहली सभा में नवनिर्वाचित पार्षदों का शपथ ग्रहण हुआ। इसमें राजनांदगांव जिला के प्रभारी मंत्री मो.अकबर, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष मोहन मरकाम,महामंत्री गिरीश देवांगन और करुणा शुक्ला उपस्थित थीं रही।

30-12-2019
Breaking : दो निर्दलीय पार्षद ने किया कांग्रेस प्रवेश  

रायपुर। प्रदेश कांग्रस कमेटी के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन के समक्ष राजनांदगांव नगर निगम के 2 निर्दलीय पार्षदों ने कांग्रेस प्रवेश किया। वार्ड क्रमांक 27 से गणेश पवार और  वार्ड क्रमांक 21 से पिंकी साहू ने कांग्रेस प्रवेश किया है।  इस अवसर पर यहां राजीव भवन में राजनांदगांव के जिला अध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा, रायपुर जिला अध्यक्ष गिरीश दुबे उपस्थित थे।

25-12-2019
निर्दलीय पार्षद कांग्रेस में हुईं शामिल 

धमतरी। जालमपुर नगर पालिका निगम से नवनिर्वाचित निर्दलीय पार्षद ज्योति वाल्मीकि का कांग्रेस भवन रायपुर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री गिरीश देवांगन ने विधिवत कांग्रेस प्रवेश कराया। इस अवसर पर महेंद्र छाबड़ा, प्रदेश महामंत्री विजय गोलछा, पूर्व ब्लाक अध्यक्ष आदिल कुछावा उपस्थित रहे।

10-12-2019
हर किसान से प्रति एकड़ 15 क्विंटल धान खरीदेंगे, 2500 रुपए का भुगतान होगा : कांग्रेस

रायपुर। धान खरीदी और किसानों से जुड़े मुद्दे पर प्रदेश कांग्रेस के मुख्यालय राजीव भवन में आज मंगलवार को पीसीसी प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन, संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने प्रेसवार्ता ली। गिरिश देवांगन ने भाजपा के द्वारा लगाए गए आरोपों को गलत कहा, उन्होंने कहा कि 15 साल किसानों को डॉ. रमन सिंह और भाजपा ने ठगा है। नगरीय निकाय चुनाव के चलते भाजपा लोगों को बरगलाने का काम कर रही है। भूपेश सरकार किसानों के प्रति संवेदनशील है। गिरीश देवांगन ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा हमेशा धोखा करते आयी है, तभी सिर्फ 14 सीट मे सिमट कर रह गई। गिरीश देवांगन ने कहा कि  रकबे के हिसाब से धान खरीदा जा रहा है, टोकन सिस्टम आज चालू नहीं हुआ हैं। भाजपा के समय से ऐसे ही चलता आ रहा है। किसानों को धैर्य रखना चाहिए,अगर अंतिम दिन तक खरीदी पूरी नहीं हुई तो खरीदी की तिथि को आगे बढ़ाया जाएगा। 

उन्होंने अपील की कि किसान अफवाह फैलाने वालों से सावधान रहें।  अभी भी भाजपा के सांसद अपनी पार्टी के प्रधानमंत्री से कुछ  नहीं कह रहे हैं। कांग्रेस की ताकत किसान हैं और किसानों की ताकत कांग्रेस है। गिरीश देवांगन ने आरोप लगाया है कि किसानों से झूठ बोलने का काम डॉ. रमन सिंह ने किया है। बेरोजगारों को भत्ता, 10 लीटर दूध देने वाली जर्सी गाय, 300 रुपए बोनस 5 साल तक, 2100 रुपए धान समर्थन मूल्य, चाल, चरित्र और चेहरा बेनकाब हो गया है। भाजपाईयों ने कहा कि किसानों को 2500 रुपए समर्थन मूल्य देने से बाजार की व्यवस्था बिगड़ेगी। भूपेश बघेल ने दो घंटे में 11000 करोड़ का कर्ज माफ किया।  2500 रुपए में 80 मीट्रिक टन धान खरीदी, इस वर्ष 85 मीट्रिक टन 2500 रुपए में खरीदा जाएगा। गिरीश देवांगन ने कहा कि  भाजपा की केन्द्र सरकार का झूठ  स्वामिनाथन कमेटी की सिफारिशे।  किसानों की आय दुगुना करना। राज्य में भी झूठ बोला गया। धान खरीदी में 15 वर्षों में घाटा और घोटाला रमन सिंह की सरकार ने किया है। 2013 के घोषणा पत्र में एक-एक दाना धान की खरीद की बात भाजपा ने की थी। 2100 रुपए समर्थन मूल्य और 300 रुपए बोनस जो रमन सिंह ने कभी नहीं दिया। 2018 में कांग्रेस का घोषणा पत्र में धान की खरीद की न्यूनतम दर 2500 रुपए प्रति क्विंटल में करने की बात कही।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार हर किसान से प्रति एकड़ 15 क्विंटल धान खरीदेंगे। हर उस किसान को जो धान बेचेगा, प्रति क्विंटल 2500 रुपए का भुगतान होगा। किसी भी सूरत में किसी भी किसान को इस योजना से वंचित नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोग किसानों के बीच अफवाहें फैला रहे हैं कि राज्य सरकार किसानों को 2500 रुपए नहीं देगी।या यह कि हर किसान से 15 क्विंटल धान खरीदी नहीं होगी। किसान भाई याद रखें कि किसानों से सबसे अधिक दगाबाजी इन्हीं लोगों ने की है। भाजपा ने धान का मूल्य 2100 रुपए देने की घोषणा की लेकिन मूल्य कभी दिया नहीं। भाजपा ने कहा था कि वे हर साल 300 रुपए बोनस देंगे लेकिन चुनावी वर्ष के अलावा कभी बोनस नहीं दिया। केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार आते ही राज्यों को बोनस देने से रोक दिया गया।  रमन सिंह मुख्यमंत्री थे लेकिन वे कभी प्रधानमंत्री से मिलने नहीं गए कि प्रदेश के किसानों को बोनस देने से नहीं रोकना चाहिए, एक चिट्ठी लिखकर चुपचाप बैठ गए। 

उन्होंने कहा कि केंद्र में भी भाजपा की सरकार थी और रमन सिंह भी भाजपा सरकार चला रहे थे, वे चाहते तो मामला सुलझा सकते थे लेकिन नहीं सुलझाया। अभी भी वे अपनी पार्टी के प्रधानमंत्री से कुछ  नहीं कह रहे हैं। पिछले साल जो राहत बोनस बांटने में दी गई थी वह इस साल फिर से रोक दी गई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बार-बार चिट्ठी लिखते रहे, केंद्रीय कृषि और खाद्य मंत्री से मिले। केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को बोनस देने से रोक दिया और कहा कि यदि बोनस दिया तो केंद्रीय पूल में चावल नहीं खरीदेंगे। अगर भाजपा के सांसद और विधानसभा के नेता छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ खड़े होते तो यह नौबत नहीं आती।  इन सबके बावजूद राज्य की भूपेश सरकार किसानों को बोनस देने और उनका पूरा धान खरीदना चाहती है। इसे लेकर भी भाजपा के नेता राजनीति कर रहे है। किसानों को इनके बहकावे में आने की जगह सच को पहचानना होगा।

08-12-2019
भारत बचाओ आंदोलन दिल्ली में 14 दिसम्बर को, छत्तीसगढ़ से 5000 कार्यकर्ता होंगे शामिल

रायपुर। कांग्रेस 14 दिसंबर को दिल्ली में एक बड़ा प्रदर्शन करने जा रही है। भारत बचाओ आंदोलन के नाम से होने वाले इस प्रदर्शन में देशभर से कांग्रेस कार्यकर्ता बड़ी संख्या में शामिल होंगे। प्रदेश कांग्रेस महामंत्री गिरीश देवांगन ने कहा कि इस आंदोलन में छत्तीसगढ़ से 5000 से अधिक कार्यकर्ता शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता ट्रेन से दिल्ली के सफदरजंग पहुंचेंगे। आंदोलन के लिए कांग्रेस में उत्साह है। छत्तीसगढ़ के संबंध में किसानों और धान खरीदी का मुद्दा उठाया जाएगा।

04-12-2019
Breaking : कांग्रेस ने जारी की 10 और नगरीय निकाय के प्रत्याशियों की सूची

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने नगरी निकाय चुनाव 2019 के लिए बस्तर और सरगुजा के बाद 10 और नगरीय निकायों के पार्षद प्रत्याशियों की सूची जारी की है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन ने पहले बस्तर और सरगुजा की सूचियां जारी की थी। अब नगर पंचायत नवागढ़, नगर पंचायत देवकर, नगर पंचायत साजा, नगर पंचायत पड़पोड़ी, नगर पंचायत थान खम्हरिया, नगर पालिका परिषद महासमुंद, नगर पालिका परिषद बागबाहरा, नगर पंचायत बसना, नगर पंचायत पिथौरा, नगर पंचायत तुमगांव के प्रत्याशियों की घोषणा की है। अब तक कुल 27 नगरीय निकाय के प्रत्याशियों की घोषणा हो चुकी है।

इसके पहले नगर पालिका परिषद दंतेवाड़ा, नगर पंचायत गीदम, नगर पंचायत बारसूर, नगर पालिका परिषद सुकमा, नगर पालिका परिषद बड़े बचेली, नगर पालिका परिषद किरंदुल, नगर पंचायत भानूप्रतापपुर, नगर पालिका परिषद बीजापुर, नगर पंचायत अंतागढ़, नगर पंचायत दोरनापाल, नगर पंचायत पखांजूर ,नगर पालिका कांकेर, नगर पालिका परिषद बलरामपुर, नगर पालिका परिषद नारायणपुर ,नगर पंचायत चारामा, नगर पंचायत रामानुजगंज और नगर पंचायत बस्तर के लिए प्रत्याशियों के नाम घोषित किए गए।

देखें सूची...

03-12-2019
Breaking : कांग्रेस ने बस्तर और सरगुजा के लिए जारी की प्रत्याशियों की सूची

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने नगरीय निकाय चुनाव 2019 के लिए बस्तर और सरगुजा के नाम जारी किए हैं। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन ने बस्तर और सरगुजा की सूचियां जारी की है। इनमें नगर पालिका परिषद दंतेवाड़ा, नगर पंचायत गीदम, नगर पंचायत बारसूर, नगर पालिका परिषद सुकमा, नगर पालिका परिषद बड़े बचेली, नगर पालिका परिषद किरंदुल, नगर पंचायत भानूप्रतापपुर, नगर पालिका परिषद बीजापुर, नगर पंचायत अंतागढ़, नगर पंचायत दोरनापाल, नगर पंचायत पखांजूर ,नगर पालिका कांकेर, नगर पालिका परिषद बलरामपुर, नगर पालिका परिषद नारायणपुर ,नगर पंचायत चारामा, नगर पंचायत रामानुजगंज और नगर पंचायत बस्तर के लिए प्रत्याशियों के नाम घोषित किए गए हैं।

23-01-2019
केंद्र सरकार ने किसानों को 50 प्रतिशत लाभ देने के वादा पूरा नहीं किया : गिरीश देवांगन

रायपुर। राजीव भवन में बुधवार को कांग्रेस के महामंत्री गिरीश देवांगन ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि केंद्र सरकार की ओर से किसानों को लागत मूल्य पर 50 प्रतिशत लाभ देने का वादा किया था, जो आज तक केंद्र सरकार ने नहीं दिया। जबकि छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार की ओर से 2500 रुपए धान का मूल्य देने की पहल की गई है। 

बता दें कि कांग्रेस के महामंत्री गिरीश देवांगन ने कहा कि केंद्र सरकार के कृषि एवं लागत मूल्य आयोग की रिपोर्ट में धान की लागत 1484 रुपए प्रति क्विंटल दर्शाया गया, उसके बाद डीजल के दाम में 14-15 रुपए एवं खाद की कीमतों में 24 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इन सबको देखते हुए किए गए वादों के अनुरूप मोदी सरकार को 2500 रुपए एमएसपी की घोषणा करनी थी, जो नहीं की गई और मात्र 1750 रूपए की गई। कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ राज्य 2500 रुपए में किसानों के उत्पादित धान की खरीदी प्रारंभ कर दी है। इस कारण इस वर्ष लगभग 88 लाख टन धान का उपार्जन करने का लक्ष्य है। इससे हम केंद्र शासन से मांग करते हैं कि एमएसपी 2500 रुपए किया जाए एवं अतिरिक्त राशि को केंद्र सरकार वहन करें एवं प्रदेश की आवश्यकतानुसार पीडीएस के लिए चावल को छोड़कर शेष मात्रा के धान या चावल को केंद्रीय पूल में लिया जाए। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य जो किसानों को लागत मूल्य पर 50 प्रतिशत लाभ दे रहा है। बात किसानों की किसान हित की सब करते हैं लेकिन जब एक राज्य सरकार ने किसान हित में काम करना शुरू किया तो जरूरत उस सरकार को मदद करने की और दलगत स्वार्थ से ऊपर उठकर किसान हित में सबसे खड़े होने की है। स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को लागू करने की बात अपने घोषणा पत्र में कही। देश का एक राज्य इसे लागू कर रहा है तो उसके साथ खड़े होने के बजाय आपकी केंद्र सरकार चावल लेने से इनकार करते है और भाजपा की राज्य की इकाई इस पर तालियां बजाती है, इस पर आरोप प्रत्यारोप की राजनीति करती है। इस महाअभियान में छत्तीसगढ़ के किसानों को कर्जमुक्त करने के बाद उनकी फसल की लागत मूल्य पर 50 प्रतिशत लाभ देने के अभियान में सबको साथ होना चाहिए।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804