GLIBS
24-06-2020
कारोबारी समूह हिंदुजा ग्रुप के भाइयों का संपत्ति विवाद पहुंचा ब्रिटेन हाईकोर्ट

नई दिल्ली। ब्रिटेन के अग्रणी कारोबारी समूह हिंदुजा ग्रुप के भाइयों का संपत्ति को लेकर विवाद इंग्लैंड के उच्च न्यायालय में पहुंच गया है। हिंदुजा परिवार ब्रिटेन के अरबपतियों में आता है। यह मामला अदालत में परिवार के ‘संरक्षक’ कहे जाने वाले 84 वर्षीय श्रीचंद परमानंद हिंदुजा लेकर हैं। उन्होंने अपने भाइयों जीपी हिंदुजा (80), पीपी हिंदुजा (75) और एपी हिंदुजा (69) के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। यह मुकदमा दो जुलाई, 2014 के पत्र की ‘वैधता और प्रभाव’ के बारे में है। पत्र में वक्तव्य में कहा गया है कि सभी भाई एक-दूसरे को अपना ‘निर्वाहक’ नियुक्त करते हैं और किसी एक भाई के नाम पर संपत्ति में चारों भाइयों का हिस्सा होगा। इसी तरह एक जुलाई, 2014 का एक और पत्र भी इस विवाद से जुड़ा है। श्रीचंद परमानंद हिंदुजा ने अपनी अपील में इन दस्तावेजों को कानूनी रूप से अप्रभावी घोषित करने का आग्रह किया है।

उनका कहना है कि यह दस्तावेज न तो वसीयत, न पावर ऑफ अटॉर्नी और न ही किसी अन्य बाध्यकारी दस्तावेज के रूप में मान्य होना चाहिए। इसके अलावा इस दस्तावेज के इस्तेमाल को रोकने के लिए भी निर्देश देने की अपील की गई है। उच्च न्यायालय के चांसरी डिविजन में इस मामले की सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति फॉक ने इसमें आंशिक रूप से गोपनीयता आदेश जारी करने से इनकार करते हुए एसपी हिंदुजा की पुत्री वीनू को उनके पिता की बीमारी की वजह से ‘मुकदमे में मित्र’ के रूप में काम करने और अपने पिता के हितों का संरक्षण करने की इजाजत दी है।संडे टाइम्स की 2020 की अमीरों की सूची के अनुसार हिंदुजा ग्रुप ऑफ कंपनीज का संचालन करने वाले हिंदुजा भाइयों की संपत्ति 16 अरब पाउंड है। उनका कारोबारी साम्राज्य मुंबई में है, जिसका मुख्यालय लंदन में है। यह समूह वाहन, होटल, बैंकिंग और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में कार्यरत है।

11-06-2020
ब्रिटेन की अदालत ने बढ़ाई नीरव मोदी दिक्कत, 9 जुलाई तक हिरासत में भेजा

नई दिल्ली। ब्रिटेन की एक अदालत ने भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी को गुरुवार को नौ जुलाई तक और न्यायिक हिरासत में रखने के आदेश दिए। भारत में अरबों रुपये के बैंक कर्ज घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में अभियुक्त नीरव मोदी पिछले साल मई से लंदन की एक जेल में कैद है।नीरव मोदी को जेल से लंदन की वेस्टमिंस्टर अदालत में वीडियो लिंक के जरिए पेश किया गया। वह पिछले साल मार्च में गिरफ्तारी के बाद से वैंड्सवर्थ जेल में है। अदालत ने सुनवाई में उसकी हिरासत की अवधि नौ जुलाई तक बढ़ा दी।पंजाब नेशनल बैंक के साथ करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी के मामले में नीरव मोदी के खिलाफ ब्रिटेन में प्रत्यर्पण का मुकदमा चल रहा है। उसके प्रत्यर्पण के मामले पर सात सितंबर को सुनवाई होने वाली है। तब तक उसे हर 28 दिन इसी तरह सुनवाई के लिए पेश किया जाएगा।जिला न्यायाधीश सैमुअल गूजी ने नीरव मोदी से कहा कि आपके प्रत्यर्पण की प्रक्रिया के संबंध में सात सितंबर को होने वाली अगले चरण की सुनवाई से पहले आप की पेशी इसी तरह से वीडियो लिंक के जरिए होगी। इस दौरान नीरव मोदी ने सिर्फ अपना नाम व राष्ट्रीयता ही बताई। बाकी समय वह चुप ही रहा। वह (नीरव मोदी) सुनवाई के दौरान कागज पर कुछ लिख रहा था।न्यायाधीश गूजी ने प्रत्यर्पण की प्रक्रिया के पहले चरण की पिछले महीने अध्यक्षता की थी। दूसरे चरण के तहत सात सितंबर से पांच दिन की सुनवाई शुरू होगी।

 

11-06-2020
इंडीज के कप्तान जेसन होल्डर बोले-'हम बलि का बकरा नहीं हैं',स्थिति सामान्य करने की कोशिश कर रहे

नई दिल्ली। वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने कहा कि उनकी टीम कोविड-19 महामारी के बीच पैसे के लालच या दुस्साहस की भावना से टेस्ट श्रृंखला खेलने के लिये इंग्लैंड दौरे पर नहीं आई है बल्कि यह उसका परिस्थितियों को सामान्य करने की दिशा में एक वास्तविक प्रयास है।होल्डर ने कहा कई लोग क्रिकेट की वापसी चाह रहे थे। ऐसा नहीं है कि हम बलि का बकरा बनना चाहते थे। हमारा इन गर्मियों में ब्रिटेन का दौरा करने का शुरू से ही कार्यक्रम था। जब हमने इसकी संभावनाओं को लेकर बात की तो हर कोई सहज था और अब हम यहां हैं।

ब्रिटेन में कोरोना वायरस महामारी का व्यापक प्रभाव पड़ा है जहां अभी तक इस बीमारी के कारण 40,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। दूसरी तरफ कैरेबियाई देशों में बहुत कम संख्या में मामले सामने आये हैं। होल्डर ने कहा कि उनके यहां आने का कारण पैसा नहीं है और वे स्वास्थ्य से समझौता नहीं करेंगे। उन्होंने कहा यह हमारे लिये पैसों से जुड़ा मसला नहीं है। हम सुरक्षा चाहते हैं और हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारे लिये उचित व्यवस्था की जाए और हम उस पर अमल करें।

इग्लैंड पहुंचने के बाद क्वारंटीन में हैं वेस्टइंडीज की टीम

होल्डर ने कहा अगर आप खुद को एक स्वास्थ्यकर्मी या इस महामारी के दौरान काम करने के वाले व्यक्ति की जगह रखकर देखो तो पाओगे कि उन्हें इस घर में बैठने या वायरस से दूर रहने का मौका नहीं मिला। हम भाग्यशाली हैं कि हम उस स्थिति में नहीं है लेकिन किसी समय आपको स्थितियां सामान्य लाने के लिये अपनी तरफ से प्रयास तो करने ही होंगे।वेस्टइंडीज की टीम ब्रिटेन में पहुंचने के बाद ओल्ड ट्रैफर्ड में पृथकवास पर है। टीमें यहां तीन सप्ताह तक अभ्यास करेंगी। होल्डर इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की व्यवस्था से प्रभावित हैं। उन्होंने कहा कि उनके ठहरने के स्थान पर हैंड सैनिटाइजर, एक बार उपयोग होने वाले दस्ताने और थर्मामीटर बड़ी संख्या में उपलब्ध हैं।उन्होंने कहा इस तरह की चीजों से आपको राहत मिलती है और आप अधिक सहज होकर रहते हो।

अगर ऐसी चीजें नहीं होती तो आपको चिंता रहती कि क्या वे वास्तव में सुरक्षित हैं।’होल्डिंग ने नस्लवाद के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों के उनकी टीम पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में भी बात की। अमेरिका में अफ्रीकी मूल के जार्ज फ्लॉयड की मौत के बाद इस तरह के विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। उन्होंने कहा हमारी पिछली श्रृंखलाओं में विशेषकर इंग्लैंड के खिलाफ लोगों ने श्रृंखला से पहले कुछ बातें की जिससे कैरेबियाई होने के नाते हमें अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरणा ही मिली। कौन जानता है कि इससे हमारी संपूर्ण टीम में वास्तविक सकारात्मक ऊर्जा का संचार हो जाए।

02-06-2020
दुनिया का 7वां सबसे अधिक कोरोना प्रभावित देश बना भारत

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से पूरी दुनिया त्रस्त है। अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, इटली, रूस और ब्रिटेन जैसे अमीर देश भी इस महामारी के सामने घुटने टेक चुके हैं। अब भारत में भी हालात तेजी से बिगड़ते नजर आ रहे हैं। ताजा आंकड़ों के मुताबिक भारत दुनिया का 7वां सबसे अधिक कोरोना प्रभावित देश बन गया है। वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण से तीन लाख 77 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 63 लाख 66 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं जबकि 29 लाख 03 हजार से ज्यादा लोगों ने कोरोना को मात दी है। वहीं दुनिया भर में सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका में कोरोना से एक लाख छह हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और 18 लाख 59 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। 

24 घंटे में 8 हजार 171 कोरोना पॉज़िटिव मरीज :

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 8,171 नए मामले सामने आए हैं और 204 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद देश भर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 1,98,706 हो गई है, जिनमें से 97,581 सक्रिय मामले हैं, 95,527 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 5,598 लोगों की मौत हो चुकी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक भारत दुनिया का सातवां ऐसा देश बन गया है, जहां कोरोना वायरस ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है। जिस तेजी से संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं उससे लगता है कि भारत जल्द बाकी देशों से भी आगे निकल जाएगा। अभी दुनिया में अमेरिका इस जानलेवा महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां अब तक 17 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 1 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।

कोरोना वायरस का नया केंद्र बना ब्राजील :

लैटिन अमेरिकी देश ब्राजील अब कोविड-19 महामारी का नया केंद्र बन गया है। यहां अब तक 5 लाख से अधिक लोगों में वायरस की पुष्टि हो चुकी है जबकि तीस हजार से अधिक लोग काल के गाल में समा चुके हैं।

पाकिस्तान में पिछले 24 घंटे में 3938 नए मामले सामने आए :

पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में कोरोना पॉजिटिव के 3,938 नए मामले सामने आए हैं और 1,621 लोगों की मौत हुई है। नए मामलों के साथ ही देश भर में संक्रमित मरीजों की संख्या 76,398 हो गई है।

अमेरिका में कोविड-19 से जान गंवाने वालों में एक तिहाई नर्सिंग होम के मरीज :

अमेरिका में एक नई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि देश में कोविड-19 से जान गंवाने वालों में से एक तिहाई लोग नर्सिंग होम के रहने वाले हैं। यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है, जब पुलिस की बर्बरता के खिलाफ जारी प्रदर्शन के बावजूद अमेरिका में कोरोना वायरस से निपटने के लिए लगे प्रतिबंधों में सोमवार को ढील दी गई। अमेरिका के सभी गवर्नर के लिए तैयार की गई एक रिपोर्ट में कहा गया कि नर्सिंग होम (देखभाल केन्द्रों) में रहने वाली करीब 26,000 लोगों की जान कोविड-19 से संक्रमित होने की वजह से गई है। इस आंकड़ें के अधिक होने की आशंका भी बनी हुई है। यह आंकड़ें देश के 15,400 देखभाल केन्द्रों में से 80 प्रतिशत से 24 मई तक मिली रिपोर्ट पर आधारित हैं।

14-05-2020
ब्रिटेन की कोर्ट ने दिया विजय माल्या को झटका, अब लौटाना होगा भारत

नई दिल्ली। विजय माल्या को ब्रिटेन में बड़ा झटका लगा है। माल्या ने पिछले दिनों लंदन हाई कोर्ट के प्रत्यर्पण संबंधी फैसले के खिलाफ ब्रिटेन के सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर करने की ब्रिटिश प्रशासन से अनुमति मांगी थी,जिसे अब खारिज कर दिया गया है। ऐसे में अब साफ है कि माल्या को भारत लौटना होगा। आज ही शराब कारोबारी विजय माल्या ने सरकार से 100 प्रतिशत कर्ज चुकाने के उनके प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए कहा। साथ ही उन्होंने सरकार से उनके खिलाफ मामले बंद करने की अपील भी की। माल्या ने हाल में घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज पर भारत सरकार को बधाई देते हुए अफसोस जताया कि उनके बकाया चुकाने के प्रस्तावों को बार-बार नजरअंदाज किया गया।

13-05-2020
विश्व में 42.46 लाख लोग कोरोना से संक्रमित, मरने वालों की संख्या हुई 2.90 लाख के करीब

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जानलेवा कोविड-19 का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। दुनिया के 200 से अधिक  देशों में कोरोना पहुंच चुका है। दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 43.39 लाख हो गई है, जबकि अब तक 2.92 लाख लोग इस महामारी से अपनी जान गंवा चुके हैं। अगर बात कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की करे तो अब तक 16 लाख लोग कोरोना से ठीक भी हो चुके हैं। कोरोना वायरस से लोगों की मौत के मामले में ब्रिटेन दुनिया में दूसरे नंबर पर हैं, जहां 2.26 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हैं जबकि 32,692 लोगों की जान जा चुकी है। इसी तरह इटली में 2.21 लाख लोग संक्रमित हैं, जबकि करीब 31,000 लोगों की जान जा चुकी है। स्पेन और फ़्रांस में कोरोना से मरने वालों की संख्या 27,000 को पार कर गई है। ब्राजील में अब तक 12,000 लोग कोविड-19 की वजह से जान दे चुके हैं।

08-05-2020
अमेरिका में कोरोना से 24 घंटे में 2448 लोगों की गई जान, कुल मरने वालों का आंकड़ा 75 हजार के पार

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जानलेवा कोविड-19 का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश भी इस महामारी के आगे बेबस दिखाई दे रहा है। अमेरिका में कोरोना के काऱण स्थिति और गंभीर होती जा रही है। कोविड-19 ने पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा अमेरिका को नुकसान पहुंचाया है और अब तक वहां मौत का सिलसिला जारी है। मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में अमेरिका में 2448 लोगों की मौत हो गई है। अमेरिका में कोरोना वायरस से मौत के आंकड़ों में लगातार उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। बता दें कि अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 2448 लोगों की मौत से कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 75543 पहुंच गई है। वहीं अब तक 1,292,623 पॉजिटिव केस आ चुके हैं। कोरोना से होने वाली मौत के मामले में ब्रिटेन इटली और स्पेन से आगे निकलकर अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। ब्रिटेन में कोरोना से अब तक 30,615 लोग जान गंवा चुके हैं।     

इटली में 30 हजार मौत :

इटली में भी 30 हजार मौत के आंकड़े की दहलीज पर खड़ा है। इटली के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटों में इटली में 274 मौत हुई हैं, जिसके साथ ही आंकड़ा अब बढ़कर 29,958 पहुंच गया है। इटली के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार मौत का आंकड़ा और भी अधिक है। विभाग के अनुसार घरों में और नर्सिंग होम में कई वृद्धों की मौत हुई है। लेकिन दुर्भाग्य से इन लोगों का कोरोना टेस्ट नहीं हो सका। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इटली में गुरुवार को कोरोना वायरस के 1,401 नए मामले सामने आाए हैं। जिसके बाद देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 215,858 हो गई है। 
 

29-04-2020
कोरोना से जंग जीतने वाले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के घर गूंजी किलकारियां

लंदन।  ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की मंगेतर कैरी साइमंड्स ने एक बेटे को जन्म दिया है। लंदन के एक सरकारी अस्पताल में बुधवार को बच्चे का जन्म हुआ। माना जाता है कि समय से पहले ही बच्चे का जन्म हुआ है लेकिन मां और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। उनके एक प्रवक्ता ने बुधवार को बताया, ‘‘प्रधानमंत्री और साइमंड्स अपने बच्चे के जन्म की सूचना देते हुए काफी खुशी महसूस कर रहे हैं। आज सुबह लंदन के एक अस्पताल में साइमंड्स ने बेटे को जन्म दिया।’ प्रवक्ता ने कहा,‘मां और बच्चा दोनों ठीक हैं। प्रधानमंत्री और साइमंड्स ने एनएचएस (राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा) के डॉक्टरों-नर्सों का शुक्रिया अदा किया है।’’बता दें कुछ दिन पहले जॉनसन (55) कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे। अस्पताल में उपचार के बाद वह सोमवार को प्रधानमंत्री कार्यालय डाउनिंग स्ट्रीट लौटे। वह बकिंघमशायर में अपने निवास में स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं।

उनकी मंगेतर भी वहां उनके साथ हैं। जॉनसन के अस्पताल से लौटने पर साइमंड्स ने अपनी खुशी का इजहार करते हुए कुछ ट्वीट किए थे। इस जोड़े ने फरवरी के अंत में सगाई की घोषणा की थी। उसी समय यह भी पता चला था कि गर्मी में दोनों माता-पिता बनने वाले हैं।पिता बनने की खबर मिलने के बाद बोरिस और उनकी पत्नी को बधाईयों का दौर भी शुरू हो गया है। ब्रिटेन के कई नेताओं ने ट्वीट कर अपने प्रधानमंत्री को पिता बनने पर बधाई दी है।

27-04-2020
कोरोना वायरस से जंग जीतकर काम पर लौटे ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन

लंदन। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन कोरोना वायरस से जंग जीतकर वापस काम पर लौट आए हैं। कोविड-19 से संक्रमित हुए जॉनसन ने सोमवार को अपने ऑफिस में फिर से कामकाज संभाल लिया। अधिकारियों ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा, "ब्रिटिश प्राइम मिनिस्टर डाउनिंग स्ट्रीट लौट आए हैं। उम्मीद की जा रही है कि वरिष्ठ मंत्रियों और अधिकारियों के साथ बातचीत करने से पहले वह कोविड-19 महामारी पर होने वाली कैबिनेट मीटिंग की अध्यक्षता कर सकते हैं।" रिपोर्ट में कहा कि एक महीने पहले कोविड-19 वायरस के टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने के बाद जॉनसन अब काम पर लौटे हैं।

सेंट्रल लंदन के सेंट थॉमस अस्पताल में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद वह एक सप्ताह भर्ती रहे। यहां तीन रातों के लिए उन्हें इंटेंसिव केयर यूनिट में भी रहना पड़ा था। उपचार के बाद पूर्ण रूप से स्वस्थ होने पर आखिरकार 12 अप्रैल को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। गौरतलब है कि ब्रिटेन में कोरोना वायरस महामारी के चलते 20 हजार 795 मौतें हो गई हैं। साथ ही कुल संक्रमितों का आंकड़ा एक लाख 54 हजार 37 तक पहुंच गया है।

01-04-2020
787 में से 732 की रिपोर्ट निगेटिव, 46 सैंपल की रिपोर्ट बाकि, अब तक 5 पॉजिटिव मिले 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना पीड़ित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफ हो रहा है। फरवरी महीने से अभी तक ब्रिटेन से लौटने वाले 73 लोगों में 5 ही कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसमें चार लोग तो केवल रायपुर से हैं। स्वास्थ्य विभाग ने वर्तमान समय तक 787 कोरोना संदेहियों का सैंपल लिया है, जिसमें से 732 सैंपल की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं 46 सैंपल की जांच जारी है।

29-03-2020
Breaking : ब्रिटेन से लौटे सभी लोगों की होगी कोरोना जांच, 7 संक्रमित में 3 यहीं से लौटे थे

रायपुर। ब्रिटेन (यूके) से बीते एक माह के भीतर छत्तीसगढ़ राज्य में आने वाले सभी लोगों का कोरोना टेस्ट कराने का निर्णय स्वास्थ्य विभाग ने लिया है। रविवार को राज्य स्तरीय कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारिक सिंह ने राज्य में कोरोना संक्रमण एवं बचाव की स्थिति की गहन समीक्षा की। सचिव ने बैठक में कहा कि राज्य में अभी तक कोरोना वायरस से पीड़ित 7 मरीजों में से सर्वाधिक 3 मरीज ऐसे मिले हैं, जो ब्रिटेन से लौटे हैं। इस स्थिति को देखते हुए यह जरूरी है कि बीते एक  माह की अवधि में वहां से छत्तीसगढ़ आए सभी लोगों का कोरोना टेस्ट किया जाए। 

बैठक में बताया गया कि ब्रिटेन से छत्तीसगढ़ आने वालों की कुल संख्या 73 है। इनके नाम, पता एवं कांटेक्ट की जानकारी संबंधित जिलों के कलेक्टर, एसपी और सीएमएचओ को दे दी गई है और इन लोगों का तत्परता से सैंपल कलेक्ट कर टेस्ट के लिए उपलब्ध कराने को कहा गया है। बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि दुनिया के अलग अलग देशों से छत्तीसगढ़ राज्य में आने वालों की संख्या लगभग 2500 है। इनकी  सूची भी विभाग ने तैयार कर संबंधित जिलों को उपलब्ध करा दी है। इन सभी लोगों और इनके परिजनों को क्वॉरेंटाइन में रहने की सलाह दी गई है। एक्टिव सर्विलेंस टीम इन लोगों से सतत संपर्क में है और उनके स्वास्थ्य पर निगरानी बनाए हुए हैं। बैठक में सचिव ने ब्रिटेन से आए लोगों के आस-पास के इलाकों को भी एक्टिव सर्विलेंस में रखने के निर्देश दिए। निहारिका बारिक सिंह ने विभागीय अधिकारियों से जिले के सीएमएचओ से सतत संपर्क बनाए रखने तथा वहां आवश्यकतानुसार मास्क व्यक्तिगत सुरक्षा किट, सैंपल किट (वीटीएम) भिजवाए जाने के भी निर्देश दिए। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ राज्य में अभी तक कोरोनावायरस के संक्रमण की स्थिति काफी हद तक नियंत्रित है। कोरोना के समुदाय संक्रमण का अभी कोई प्रमाण राज्य में नहीं मिला है। राज्य में कोरोना के अभी तक 9921 संदेहास्पद लोगों में से 9788 लोगों को चिन्हित कर लिया गया है। 6241 लोग होम क्वॉरेंटाइन में हैं।

27-03-2020
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन आएं कोरोना की चपेट में, खुद को किया आइसोलेट

नई दिल्ली। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने ट्विटर के माध्यम से इसकी जानकारी दी है। ब्रिटिश पीएम ने लिखा, पिछले 24 घंटों में कुछ लक्षण नजर आए हैं और कोरोना वायरस की जांच पॉजिटिव आई है। कोविड-19 से संक्रमित होने के साथ ही उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। हालांकि, उन्होंने कहा है कि कोरोना के खिलाफ जंग में वे सरकार का नेतृत्व करते रहेंगे और घर से ही वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कार्य करेंगे।
वहीं, ब्रिटेन में कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बुधवार (25 मार्च) सुबह तक बढ़कर कुल 9,529 हो गई है। यूके के डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ एंड सोशल केयर ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि मंगलवार के आधिकारिक आंकड़ों की तुलना में कुल 1,452 मामलों की वृद्धि देखने को मिली। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, देश में अब तक कोविड-19 से संक्रमित कुल 463 मरीजों की मौत हो चुकी है। इंग्लैंड के चीफ मेडिकल ऑफिसर (सीएमओ) प्रोफेसर क्रिस व्हिट्टी ने कहा कि ब्रिटेन कोरोना वायरस के टेस्ट की दर को बढ़ा रहा है। देश के कुल 9,529 पुष्ट मामलों में आधे से ज्यादा (3,000 से ज्यादा) लंदन के ही हैं। ब्रिटेन में गुरुवार (26 मार्च) लॉकडाउन का तीसरा दिन है। अस्पतालों के प्रमुखों के प्रतिनिधि संगठन एनएचएस प्रोवाइडर्स के मुख्य कार्यकारी क्रिस हॉप्सन ने कहा कि उन्हें सूचना मिल रही है कि जिस दर से अस्पतालों के बिस्तर भर रहे हैं, वह बहुत चिंताजनक है क्योंकि संक्रमण के कारण अस्पतालों में कर्मियों की संख्या भी कम हो रही है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804