GLIBS
02-06-2020
Video: जिला चिकित्सालय की नर्सों ने किया हंगामा, यह थी वजह....

 रायगढ़। जम्मू से आई एक महिला मजदूर गर्भवती थी। हालांकि रैपिड टेस्ट में वह नेगेटिव आ चुकी थी ऐसे में उसे दर्द होने पर रायगढ़ मेडिकल कॉलेज भर्ती कराया गया था लेकिन प्रसव के लिए हुए टेस्ट के बाद उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। इसके बाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल के  स्टाफ और एक डॉक्टर को क्वारेंटाइन कर दिया गया था। इसके अलावा उनके संपर्क में आये मरीजों की भी पड़ताल की जा रही है।कोरोना पॉजिटिव पाई गई महिला जम्मू से आई थी और सारंगढ़ के ही क्वारंटाइन सेन्टर में थी। चूंकि रैपिड टेस्ट में वह निगेटिव आ चुकी थी तो उसकी ओर से स्वास्थ्य विभाग लापरवाह हो गया था। उसे प्रसव पीड़ा होने पर रायगढ़ मेडिकल कॉलेज लाया गया। चूंकि वह टेस्ट में निगेटिव पाई गई थी इसलिए डॉक्टर्स ने बिना किसी सावधानी (पीपीई कीट के बगैर) उसका इलाज किया। सोमवार को देर रात उसका आरटी पीसीआर टेस्ट पॉजिटिव निकला। तब से मेडिकल कॉलेज में हड़कंप मचा है। उधर क्वारेंटाइन में जाने से पहले नर्सों ने मेडिकल कॉलेज पहुंचकर रात में ही कोरोना पोसिटिव गर्भवती के सिजेरियन के समय भी डयूटी दी,देर रात कोरोना पॉजिटिव महिला का ऑपरेशन किया गया,उसने स्वस्थ्य मेल चाइल्ड को जन्म दिया।

सुबह नर्सों को पुनः जिला चिकित्सालय ड्यूटी के लिए बुलाया जा रहा था,जिसका विरोध करते हुए जिला चिकित्सालय की नर्सों ने जमकर हंगामा किया। उनका कहना था कि क्वारेन्टीन व्यक्तियों को इलाज के लिए केजीएच के बजाए मेडिकल कॉलेज ले जाया जाना चाहिए ताकि जिला चिकित्सालय कोरोना के संक्रमण से महफूज़ रहे। नर्सों के हंगामे के बाद महिला मरीज के सम्पर्क में आए सभी मेडिकल स्टाफ को एमसीएच में क्वारेन्टीन कर दिया गया है और सभी मेडिकल स्टाफ की टेस्टिंग की तैयारी की जा रही है। इस विषय मे जब हमने जिला चिकित्सालय के जिम्मेदार लोगों से बात करनी चाही तो उन्होंने कैमरे के सामने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।इजिससे इस बात की पुष्टि होती है कि कही न कही जिला चिकित्सालय की घोर लापरवाही अब सामने आ चुकी है। फ्रंट लाइन के कोरोना वारियर्स अपनी जान जोखिम में डाल कर बिना सुरक्षा उपकरणों के अपनी ड्यूटी कर रहे हैं और उनकी सुध लेने वाला कोई भी नहीं है।

29-05-2020
अजीत जोगी को डॉक्टर ने परिवार की सहमति से लगाया विशेष इंजेक्शन, स्वास्थ्य स्थिर लेकिन स्थिति गंभीर

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है। बुधवार को कार्डियक अरेस्ट के बाद परिवार की सहमति से उन्हें एक विशेष इंजेक्शन लगाया गया, जिससे स्थिति में सुधार हुआ। इसके साथ ही भोपाल के विशेषज्ञ डॉक्टर की सलाह भी ली गई। डॉ. सुनील खेमका ने मेडिकल बुलेटिन जारी कर अजीत जोगी के स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी दी। डॉ. सुनील खेमका ने बताया कि 27 मई की रात अजीत जोगी को कार्डियक अरेस्ट के बाद डॉक्टरों के प्रयास से 28 मई को उनकी स्थिति नियंत्रण में लायी गई। विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम ने अजीत जोगी के सभी अंगों की जांच की। डॉ. खेमका ने बताया कि जोगी परिवार की सहमति लेकर अजीत जोगी को एक विशेष इंजेक्शन लगाया गया। यह बहुत ही रेयर किस्म का इंजेक्शन है जिसका प्रयोग छत्तीसगढ़ में संभवत: बहुत कम हुआ है। इसको लगाने के बाद लगातार गिर रहे स्वास्थ्य में स्थिरता आई है। उन्होंने बताया कि गुरुवार शाम भोपाल के वरिष्ठ न्यूरोसर्जन डॉ. सूर्यप्रताप सिंह तोमर से अजीत जोगी की स्थिति और मेडिकल रिपोर्ट पर चर्चा की गई। डॉ. तोमर का मत रहा कि अजीत जोगी का अब तक सर्वोत्तम पद्धति से इलाज किया गया है। इलाज में डॉक्टर ने सभी चिकित्सकीय विकल्पों का प्रयोग किया है। इसी ईलाज को जारी रखते हुए उनकी स्थिति पर लगातार नजर रखी जाए।

28-05-2020
छत्तीसगढ़ के शासकीय अस्पतालों को मिले 361 डॉक्टर, 200 और डॉक्टरों की पदस्थापना जल्द

रायपुर। छत्तीसगढ़ के विभिन्न शासकीय अस्पतालों में 361 नए डॉक्टर सेवाएं देंगे। राज्य शासन के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने गुरुवार को नए डॉक्टरों की पदस्थापना सूची जारी की है। ये डॉक्टर शासकीय चिकित्सा महाविद्यालयों, जिला चिकित्सालयों, सिविल अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और मातृ एवं शिशु अस्पतालों के साथ ही विशेषीकृत कोविड अस्पतालों में सेवाएं देंगे। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सरकारी अस्पतालों में सेवा के साथ अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले सभी नए डॉक्टरों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि विभाग के साथ इनके जुड़ने से कोविड-19 के नियंत्रण के लिए एक बड़ी टीम मिलेगी। ये युवा डॉक्टर शहरों के अस्पतालों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों और दूरस्थ अंचलों के सरकारी अस्पतालों में काम कर कोविड-19 के साथ ही नॉन-कोविड चिकित्सा सुविधाओं को लोगों तक पहुंचाने में सक्रिय भूमिका निभाएंगे। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से जल्द ही 200 और डॉक्टरों की पदस्थापना की जाएगी। डॉक्टरों की सूची देखने यहां क्लिक करें..   

24-05-2020
कुर्रा में मनरेगा श्रमिक की मौत

खरोरा। जनपद पंचायत तिल्दा के अंतर्गत ग्राम पंचायत कुर्रा में मनरेगा महिला श्रमिक की मौत का मामला समाने आया है। दरअसल मनरेगा के तहत नया तालाब निर्माण का कार्य किया जा रहा है। यहां महिला श्रमिक पानी पिलाने का कार्य कर रही थी, इसी दौरान अचानक महिला  मालती यादव को चक्कर आने लगा, कुछ समय बाद उसको मजदूरों ने घर पहुंचाया। घर पहुंचने पर परिजनों द्वारा डॉक्टर को दिखाया गया। डॉक्टर ने मालती यादव की मृत घोषित कर दिया। इसकी सूचना ग्राम पंचायत कुर्रा के सरपंच को दी गई। घटना की सूचना सरपंच रविवर्मा द्वारा पुलिस थाना खरोरा को दी गई। खरोरा पुलिस द्वारा घटना की जांच के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए खरोरा भेज कर शव परिजनों को सौंप दिया गया।  घटना की जानकारी जनपद पंचायत तिल्दा को भी दी गई।  

 

24-05-2020
कोरोना की चपेट में डॉक्टर, एम्स के कोरोना ऑफिसर के बाद दूसरा मामला

रायपुर/बिलासपुर। एक डॉक्टर की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। सिम्स के जूनियर डॉक्टर के पद पर पदस्थ है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब डाक्टरों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि डॉक्टर की कोविड वार्ड में ड्यूटी लगी थी, जहां वे ओपीडी देख रहे थे। विगत दिनों डॉक्टर का ऐहतियातन सैंपल लिया गया था। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। डॉक्टर बिलासपुर के मसानगंज एरिया के रहने वाले हैं, वो लगातार ड्यूटी में आ रहे थे। इससे पहले एम्स में एक नर्सिंग आफिसर कोरोना ग्रसित हुआ था। जो कुछ दिन पहले ही स्वस्थ्य होकर लौटे हैं।

20-05-2020
रैपिड टेस्ट किट में युवक मिला संक्रमित,रिपोर्ट के लिए सैंपल को भेजा गया जगदलपुर, डॉक्टर ने कहा कोरोना के लक्षण नहीं  

बीजापुर। रैपिड टेस्ट किट की जांच में एक युवक की रिपोर्ट कोरोना संक्रमित आई है। आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए युवक का सैम्पल लेकर जगदलपुर मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। मिली जानकारी के अनुसार युवक तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए हैदराबाद से आया हुआ था। युवक के संपर्क में आए तीन और मज़दूरों को आइसोलेट किया गया।रैपिड टेस्ट कुटरू के करकेली में किया गया। कुटरू में पदस्थ डॉ. देवेंद्र मोरला ने जानकारी देते बताया युवक में कोरोना के लक्षण नहीं दिख रहे हैं।

20-05-2020
दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना ‘आयुष्मान भारत’ के लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ के पार, पीएम मोदी ने दी बधाई

नई दिल्ली। आयुष्मान भारत ने एक करोड़ लाभार्थियों का आंकड़ा पार कर लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष्मान भारत योजना के तहत एक करोड़ लाभार्थियों का आंकड़ा पार करने पर खुशी जाहिर की। अभियान की कामयाबी पर पीएम मोदी ने डॉक्टर, नर्स, हेल्थकेअर स्टाफ की तारीफ की। उन्होंने कहा कि 2 साल से भी कम समय में आयुष्मान भारत ने बहुत बड़ी कामयाबी हासिल की है। यह योजना विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है। इस अभियान का कई जिंदगियों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। बता दें कि  मोदी ने सितंबर 2018 को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना-आयुष्मान भारत की शुरूआत की थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की संख्या एक करोड़ को पार कर गई है। प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, 'यह प्रत्येक भारतीय के लिए गर्व का विषय है कि आयुष्मान भारत के लाभार्थियों की संख्या एक करोड़ को पार कर गई है। दो वर्ष से भी कम समय में इस कार्यक्रम ने काफी संख्या में लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है। उन्होंने इस योजना के सभी लाभार्थियों और उनके परिवार के लोगों को शुभकामनाएं दी और उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की। उन्होंने आयुष्मान भारत से जुड़े सभी डॉक्टरों, नर्सो, स्वास्थ्य कर्मियों एवं अन्य लोगों की सराहना करते हुए कहा कि उनके प्रयासों ने ही इसे दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम बनाया है। मोदी ने कहा, 'इस योजना ने अनेक भारतीयों का भरोसा जीता है जिसमें खासतौर पर गरीब एवं पिछड़े वर्ग के लोग शामिल हैं।' उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना का सबसे बड़ा फायदा इसकी सुगमता है। उन्होंने बताया, 'लाभाथिर्यों को गुणवत्तापूर्ण और सस्ती चिकित्सा सेवा न केवल पंजीकृत स्थान पर बल्कि भारत के किसी भी हिस्से में उपलब्ध हो सकती है।' उन्होंने कहा कि इससे उन लोगों को भी मदद मिलती है जो घर से दूर होते हैं या ऐसे स्थान पर पंजीकृत होते हैं जहां से वे संबंधित नहीं हैं।

19-05-2020
अजीत जोगी का स्वास्थ्य अभी हिमो डायनामिकली स्थिर, मेडिकल बुलेटिन जारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के सोमवार को ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट में जो अत्यधिक उतार-चढ़ाव चल रहा था, उसे डॉक्टरों ने लगातार सूक्ष्म निगरानी रखकर फिलहाल नियंत्रण में ले लिया है। डॉक्टर सुनील खेमका मैनेजिंग डायरेक्टर नारायणा हॉस्पिटल रायपुर ने कहा कि अजीत जोगी का स्वास्थ्य अभी हिमो डायनामिकली स्थिर है। वे लगातार कोमा में चल रहे हैं और वेंटिलेटर के माध्यम से सांस ले रहे हैं। उनकी हालत अभी लगातार गंभीर बनी हुई है।

19-05-2020
3 दिन पहले हो गई थी तेंदुए की मौत विभाग था बेखबर, मेडिकल टीम ने बताया संक्रमण से मौत होने की आशंका

कवर्धा। सहसपुर लोहारा रेंज के कक्ष क्रमांक- 291 अंतर्गत कर्नानाला बांध के डूबान क्षेत्र में सोमवार को एक मादा तेंदूए का शव मिला है। शव देखने में 3 दिन पुरानी होने की आशंका जताई जा रही है, लेकिन इसकी जानकारी विभाग के अधिकारियों को नहीं हुई। जबकि एक वन्य जीव की मौत हो गई। वैसे डॉक्टर तेदुएं की मौत संक्रमण से होने की संका जता रहे है। जिस स्थान पर तेदुएं का शव मिला वहां के आसपास दो शवकों के पंजे के निशान भी मिले हैं। आशंका जताई जा रही है कि दोनों शवक मृत तेंदूए की हो सकती है। खास बात यह है कि बांध के डूबान क्षेत्र में जहां तेंदूए का शव बरामद किया गया, वहां पर 2 फीट ही पानी भरा है।

इतनी कम गहराई में तेंदूए की डूबकर मौत होने की बात गले नहीं उतर रही है। वही डॉक्टरों के हिसाब से तेदुएं की मौत किसी संक्रमण बीमारी से हुई है। ऐसे में मृत तेदुएं का जांच करना आवश्यक हो गया है क्योंकि पूरे देश में कोरोना वायरस फैला हुआ है। कही यह वायरस वन्यजीवों तक तो नहीं फैल गया। पंचनामा के बाद तेंदुए के शव को बानो के वन डिपो में लाया गया जहां वेटनरी डॉक्टर ने पोस्टमॉर्टम किया। इसके बाद डॉक्टर किसी संक्रमण से मौत होने की सनका जता रहे हैं। लोहारा रेंजर संजय रौतिया ने बताया कि विसरा को जांच के लिए भेजा जाएगा। पोस्टमार्टम के बाद शव को डिपो में जलाया गया है। डॉक्टर मौत के कारण किसी संक्रमण से होने की बात कह रहे हैं। यह संक्रमण वन्यजीवों को होने वाला संक्रमण है।

18-05-2020
अमित जोगी का मार्मिक पोस्ट - पापा, उठों न पापा, आंखें खोलों...

रायपुर। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का उपचार जारी है। डॉक्टर उनके दिमाग में गतिविधि जागृत करने की कोशिश कर रहे हैं। प्रदेश सहित देश में लोग अजीत जोगी के जल्द स्वस्थ्य होने की कामना कर रहे हैं। इस बीच उनके बेटे अमित जोगी का मार्मिक पोस्ट आया है। अमित ने लिखा है कि "पापा, उठो न पापा, आंखें खोलो!
कुछ तो बोलो,पापा। 
आज 9 दिन हो गए,आपकी बंद आंखों को देखते देखते। हर पल ऐसा लगता है,एकदम से उठोगे और कहोगे,अमित बेटा!
इतनी गहरी नींद मत सो पापा।जी घबरा रहा है!
आपके बिना कुछ अच्छा नहीं लगता।
उठ जाओ न पापा, 
देखो,छत्तीसगढ़ की आंखे रो-रो कर कितनी लाल हो गई है, इस इंतज़ार में कि उसका बेटा 'अजीत जोगी' कब आंखे खोलेगा..."

18-05-2020
अजीत जोगी की स्थिति में कोई सुधार नहीं, डॉक्टर मस्तिष्क एक्टिव करने कर रहे प्रयास

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के स्वास्थ्य के संबंध में डॉक्टर ने मेडिकल बुलेटिन जारी की है। उनके मस्तिष्क में खून का प्रवाह होना देखा गया है। डॉक्टर ने कहा कि अभी भी कोमा में चल रहे हैं, अजीत जोगी की स्थिति गंभीर बनी हुई है। डॉ. सुनील खेमका ने बताया कि अजीत जोगी की हिमो डयनमिक स्थिति अभी स्थिर है। कल उनका डोपलर स्कैन किया गया जिसमें उनके मस्तिष्क में खून का प्रवाह होना देखा गया है। यह एक अच्छा संंकेत तो है लेकिन डॉक्टरों के अनुसार इससे अभी मस्तिष्क की गतिविधि को लेकर निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता। डॉक्टरों द्वारा अजीत जोगी के मस्तिष्क समेत सभी अंगों पर लगातार नजर रखी जा रही है। उन्हें स्वस्थ करने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

17-05-2020
अजीत जोगी के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं, डॉक्टर कर रहे दिमाग को एक्टिव करने की कोशिश

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का लगातार विशेषज्ञ डॉक्टर उपचार करने में लगे हैं लेकिन उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। उनके दिमाग को एक्टिव करने की हर संभव कोशिश डॉक्टर कर रहे हैं। देश विदेश के विभिन्न डॉक्टर से संपर्क कर उपचार के संबंध में चर्चा भी की जा रही है। डॉ. सुनील खेमका ने बताया कि अजीत जोगी अभी भी कोमा में चल रहे हैं। राईल्स ट्यूब से उन्हें आहार दिया जा रहा है। श्रीनारायणा अस्पताल के न्यूरो फिजिशियन और न्यूरोसर्जन उनके मस्तिष्क का परीक्षण कर रहे हैं।

डॉक्टर अजीत जोगी के मस्तिष्क को एक्टिव करने के लिए टीसीडी, वीएनएस, इंफ्रारेड रेडिएशन सहित विभिन्न तकनीकों का उपयोग कर रहे हैं लेकिन अब भी स्थिति वैसी ही बनी हुई है। डॉ. खेमका ने बताया कि देश-विदेश के विभिन्न विशेषज्ञ चिकित्सकों की सलाह ली जा रही है। अस्पताल के डॉक्टर सहित डॉ. रेणु जोगी और अमित जोगी ने बेंगलुरु के निम्हांस हॉस्पिटल के न्यूरोलॉजी डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ. संजीब सिन्हा से अजीत जोगी के स्वास्थ्य के संबंध में चर्चा की। डॉ. सिन्हा सहित अन्य डॉक्टर एकमत हुए कि अजीत जोगी को जो ट्रीटमेंट अभी दिया जा रहा है उसे ऐसे ही जारी रखा जाए।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804