GLIBS
18-09-2020
पिछले तीन दिनों में अलग-अलग बीमारियों से ग्रसित चार की मृत्यु

महासमुंद। विगत तीन दिनों में चार लोगों की मृत्यु होने की पुष्टि जिला स्वास्थ्य विभाग ने की है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एसपी वारे से मिली जानकारी के मुताबिक इनमें बुधवार 16 सितंबर  को ग्राम चारभाठा, सरायपाली की रहने वाली 45 वर्षीय महिला की मेकाहारा में उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। उन्हें पहले से ही दाहिने अंगों में लकवा के अतिरिक्त निमोनिया और अनियमित रक्तचाप की समस्या थी। पूर्व में उनका काफी उपचार भी चल रहा था। जांच के दौरान उन्हें कोविड-19 का धनात्मक पाया गया था। दूसरे प्रकरण में गुरूवार 17 सितंबर  को ग्राम गढ़फुलझर, बसना के 40 वर्षीय व्यक्ति की उपचार के दौरान मेकाहारा में मृत्यु हुई। बताया जा रहा है कि वे भी कोविड-19 के धनात्मक थे। उन्हें अचानक सांस लेने में तकलीफ बढ़ गई थी। वहीं तीसरे मामले में सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डाॅ. आरके परदल ने शुक्रवार 18 सितंबर को एक 35 वर्षीय युवक की ब्राॅथ डेड होने की पुष्टि की है। युवक की सांसें चिकित्सालय में भर्ती करने के पहले ही थम चुकी थीं। मरणोपरान्त मृतक के शरीर से कोविड-19 के नमूनों की जांच की गई, जिसमें वह कोविड-19 के धनात्मक निकला। मोहल्लेवासियों के अनुसार वह पिछले दो-तीन दिनों से घर से बाहर नहीं निकला था, जब उन्हें देखा गया तो वह बेहोश मिला। तत्काल उन्हें अस्पताल लाया गया। जहां प्रारम्भिक जांच के दौरान ही चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। डाॅ.वारे ने बताया कि कोविड-19 के निर्धारित प्रोटोकाॅल में संबंधित क्षेत्र के एक दण्डाधिकारी और चिकित्सा अधिकारी की उपस्थिति में सभी का विधिवत अंतिम संस्कार किया जाएगा। समाचार लिखे जाने तक आवश्यक प्रबंध किए जा रहे थे। वही एक अन्य प्रकरण में गुरूवार 17 सितंबर को सरायपाली के बालसी गांव के रहने वाले 43 वर्षीय व्यक्ति की भी उपचार के दौरान राजधानी के एक निजी चिकित्सालय में मृत्यु हो गई। वे भी कोविड-19 के धनात्मक मिले थे। शुक्रवार 18 सितंबर  को उनकी पार्थिव देह का अंतिम संस्कार कोविड-19 के निर्धारित प्रोटोकाॅल के तहत किया गया।

 

14-09-2020
प्रदेश में कोरोना से फिर एक वॉरियर डॉक्टर की मौत,मेकाहारा के अधीक्षक और माता-पिता भी अस्पताल में भर्ती

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर जमकर जारी है। विगत दिनों से कोरोना पॉजिटिव केस और मौत के ग्राफ में बढ़ोत्तरी हुई है। प्रदेश में रविवार की स्थिति में 31505 लोग कोरोना से बीमार है। 555 मरीजों की मौत हो चुकी है। रविवार जरुर राहत भरा रहा क्योकि एक ही दिन में 3953 लोग स्वस्थ हुए। प्रदेश में स्वस्थ होने वालों की कुल संख्या जरूर एक्टिव केस से आगे निकल गई है, लेकिन रोजाना सामने आ रहे 2 हजार से अधिक नए केस और मौत के आंकड़े चिंता का विषय है।
इधर सोमवार को राजधानी से फिर एक कोरोना वारियर डॉक्टर के मौत की खबर सामने आई है। वहीं प्रदेश के सबसे बड़े रायपुर स्थित शासकीय डॉ. भीमराव अंबेडकर अस्पताल के अधीक्षक डॉ. विनीत जैन और उनके माता-पिता कोरोना संक्रमित हो गए हैं। डॉ. जैन और उनके परिजनों का उपचार मेकाहारा में जारी है। तीनों की स्थिति स्थिर बनी हुई है। कोरोना से सोमवार को 60 वर्षीय डॉक्टर बीपी बघेल की मौत हो गई है। डॉ. बघेल को 8 सितंबर को अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लगातार सांस लेने में तकलीफ बनी हुई थी। हरसंभव प्रयास के बावजूद भी बचाया नहीं जा सका। डॉ. बघेल बलौदाबाजार के कसडोल में पदस्थ थे। मूलत: वे बिलासपुर के रहने वाले थे। विदित हो कि, प्रदेश में रोजाना बड़ी संख्या में आमजनों के साथ नेताओं के संक्रमित होने की जानकारी सामने आ रही है। कोरोना से जंग लड़ रहे वॉरियर्स डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिस कर्मी लगातार चपेट में आ रहे हैं। 2 विधायकों के भी कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी सामने आई।

 

 

30-08-2020
Video: जिला अस्पताल में बड़ी लापरवाही,अमानवीयता का शिकार कोविड पीड़िता ने बाहर ही बच्चे को दिया जन्म

रायपुर। राजधानी के जिला अस्पताल कालीबाड़ी में बड़ी लापरवाही सामने आई है। देर रात अस्पताल पहुंची महिला अमानवीयता का शिकार हुई है। कोरोना संक्रमित होने के कारण महिला को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। घटना के वक्त मौजूद कोई भी मेडिकल स्टाफ मदद के लिए सामने नहीं आया, जबकि यहां गर्भवती महिला के केस में 24 घंटे व्यवस्था रखी गई है। मामले में साफ तौर लापरवाही देखते हुए,अस्पताल अधीक्षक डॉ.रवि तिवारी ने जांच के आदेश दिए हैं।बता दें कि घटना शनिवार रात करीब 2 बजे की बताई जा रही है। महिला व उसके परिजन जिला अस्पताल कालीबाड़ी पहुंचे थे। जांच में कोविड पॉजिटिव आने पर महिला को बाहर का बैठा दिया गया। दर्द से तड़पते हुए गर्भवती महिला अपनी सास के पास लेटी रही,लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया। दो घंटे तक दर्द से तड़पने  के बाद करीब चार बजे महिला ने बच्चे को जन्म दिया। इसके बाद ही जैसे-तैसे पीड़िता को मदद मिली।


अस्पताल अधीक्षक डॉ. रवि तिवारी ने कहा है कि घटना का वीडियो देखने से साफ प्रतीत हो रही है कि लापरवाही हुई है। घटना के संबंध में जांच की जा रही है। लापरवाहों पर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि अस्पताल में विशेषकर गर्भवती महिलाओं के लिए 24 घंटे मेडिकल व्यवस्था की गई है। ऐसा प्रकरण आने पर लेबर रूम की व्यवस्था है। उपस्थित मेडिकल टीम की जवाबदारी थी कि महिला को निगरानी में रखा जाता। प्राथमिक जांच व उपचार दिया जाना था। जबकि एक स्टाफ को हमेशा इमरजेंसी के लिए पीपीई कीट के साथ तैयार रहने कहा गया। ऐसे प्रकरण में पीड़िता को मेकाहारा या रायपुर एम्स भेजा जाता है। उन्होंने कहा है कि महिला को मेकाहारा में भर्ती किया गया है। जहां महिला निगरानी में है और अभी महिला और बच्चा दोनों स्वस्थ है।

 

 

25-08-2020
ट्रक की चपेट में आए दं​पत्ति, पत्नी की मौत, पति गंभीर रूप से घायल

रायपुर। तेलीबांधा थाना चौक में तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक सवार दंपत्ति को चपेट में ले लिया। हादसे में पत्नी मीना सोनी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं पति शत्रुघ्न सोनी गंभीर हालत में मेकाहारा में भर्ती है। दंपत्ति मंदिर हसौद के नकटा गांव के रहने वाले हैं। ट्रक नं. Cg04 dc 8021 को छोड़कर ड्राइवर फरार हो गया। मृतका मीना सोनी पहले से बीमार थी, उसी का इलाज कराने पति शत्रुघन सोनी ग्राम नकटा से उसे रायपुर लेकर आ रहा था। तेलीबांधा थाना चौक पर ट्रक ने दंपत्ति को अपनी चपेट में ले लिया। हादसे में मीना सोनी की मौके पर मौत हो गई और घायल पति शत्रुघन सोनी को मेकाहारा में भर्ती कराया गया है। घायल पति सिलतरा के किसी फैक्ट्री में काम करता है। मृतका मीना सोनी हॉस्टल में काम करती थी।

31-07-2020
Breaking : प्रोटीनयुक्त पेटभर खाना व नास्ता की मांग को लेकर इस अस्पताल में सफाईकर्मी हड़ताल पर

रायपुर। मेकाहारा के कोविड वार्ड के सफाईकर्मी हड़ताल पर है। कर्मचारियों का आरोप है कि उन्हें प्रोटीनयुक्त भोजन नहीं दिया जा रहा है। शाम चार बजे थोड़ा सा नास्ता पोहा या भजिया दिया जाता है, जिसके कारण वे परेशान है। उनका कहना है कि जब तक पेटभर खाना ही नहीं मिलेगा तो वे ड्यूटी कैसे करेंगे। मामले में हमने प्रबंधन से बात करने का प्रयास किया लेकिन संपर्क नहीं हो पाई।

07-07-2020
आप के छत्तीसगढ़ अध्यक्ष का आरोप, मेकाहारा में छोड़कर चले गए थे अधिकारी, डॉक्टर को भी पता नहीं क्यों लाया गया था

रायपुर। छत्तीसगढ़ में 14580 चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों की नियुक्ति और प्रदेश के सभी विभागों में रिक्त पदों की तत्काल भर्ती के लिए आम आदमी पार्टी के अनशन का आज 5वां दिन है। अनशन की शुरुआत करने वाले प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने प्रशासन पर आरोप लगाए हैं। हुपेंडी ने कहा कि यदि प्रशासन को मेरी स्वास्थ्य की चिंता थी तो मुझे जो लेकर गए थे उनकी जिम्मेदारी थी कि मेरा स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाता। उन्होंने कहा कि मेकाहारा में कोरोना वार्ड के बाजू ले जाकर छोड़ कर चले गए। दुर्भाग्य है कि जब लेकर गए तो उन डॉक्टर को भी ये ज्ञात नहीं था कि मुझे क्यों लाया गया है और मेरा क्या उपचार करना है। जब उन्होंने जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारियों को फोन लगाया तो वे भी पल्ला झाड़ते नजर आए। कोमल हुपेंडी ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस कार्रवाई से साफ जाहिर होता है कि सरकार को उनकी स्वास्थ्य की चिंता नहीं इस आंदोलन को कुचलने का एक प्रयास मात्र था।
आम आदमी पार्टी के प्रदेश सचिव उत्तम जायसवाल ने आगे बताया कि अब ये आंदोलन और तेज होगा। इस कड़ी में 8 जुलाई से आम आदमी पार्टी की महिला विंग एक दिवसीय उपवास करेगी। 9 जुलाई को आम आदमी पार्टी यूथ विंग के पदाधिकारी एक दिन के उपवास में बैठेगी। 10 जुलाई श्रमिक विकास संगठन के पदाधिकारी कोमल हुपेंडी के साथ एक दिवसीय उपवास करेंगे। इसके साथ ही 12 जुलाई को आम आदमी पार्टी पूरे प्रदेश में 14580 चयनित शिक्षकों की नियुक्ति और प्रदेश के सभी रिक्त पदों में भर्ती के लिए सभी जिला मुख्यालय में शांतिपूर्वक प्रदर्शन करेगी।

प्रेरक संघ के अध्यक्ष ने आंदोलन स्थल पर आकर अपना लिखित समर्थन दिया :

तेजेन्द्र तोड़कर ने कहा कि बेरोजगारों व शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया को आगे बढ़ते हुए नियुक्ति का आदेश जारी कर हमारे छत्तीसगढ़ में शिक्षा के गिरते स्तर को सुधारने का काम करें। आंदोलन के समर्थन में प्रेरक समूह के 16802 प्रेरकों के प्रतिनिधि के रूप में उनके प्रदेश अध्यक्ष संदीप द्विवेदी ने आकर समर्थन किया और आगे की लड़ाई में साथ रहने का वादा किया।

 

27-06-2020
महिला डॉक्टर की शिकायत पर मेकाहारा के डॉक्टर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज

रायपुर। शहर के मेकाहारा अस्पताल के एमबीबीएस डॉक्टर पर दुष्कर्म का आरोप लगा है। अंबिकापुर की रहने वाली एक आयुर्वेदिक महिला डॉक्टर ने उस पर रेप का आरोप लगाते हुए मामले की शिकायत डीडी नगर थाना पुलिस से की है। महिला की शिकायत पर जांच के बाद पुलिस ने डॉक्टर के खिलाफ दुष्कर्म की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक डॉ.दीपांकर साहू के खिलाफ डीडी नगर थाना पुलिस ने पीड़ित महिला डॉक्टर के आरोप के बाद मामला दर्ज किया है। महिला डीडी नगर सेक्टर—2 में किराए के मकान में रहती है। 2 साल से आरोपी डॉक्टर उससे शादी करने का वादा करके शारीरिक शोषण कर रहा है। महिला ने आरोपी डॉक्टर से जब शादी करने की बात की तो उसने शादी करने से इंकार कर दिया जिसके बाद पीड़ित महिला डॉक्टर ने मामले की शिकायत पुलिस से की। जांच में सभी बाते सही पाए जाने के बाद डॉक्टर के खिलाफ दुष्कर्म की धाराओं में मामला दर्ज किया है। फिलहाल आरोपी डॉक्टर मेकाहारा के कोरोना वार्ड में ड्यूटी करने के बाद निमोरा स्थित क्वांरटाइन सेंटर में 14 दिन की अवधि ​पर है।

25-06-2020
Breaking : चचेरे भाई ने किया दुष्कर्म, लोक-लाज के भय में पीड़िता ने खुद को किया आग के हवाले

रायपुर। खरोरा के वार्ड क्रमांक 3 में रिश्तों को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। अपनी ही चचेरी बहन को दुष्कर्मी भाई ने हवस का शिकार बनाया है। वही चचेरी बहन ने खुद पर मिट्टी तेल डालकर आत्महत्या करने की कोशिश की जिसका इलाज रायपुर के मेकाहारा में जारी है। मिली जानकारी के अनुसार करियादामा निवासी कक्षा सातवीं की नाबालिग ने 19 जून की रात साढ़े 10 बजे अपने चाचा स्व. राम नारायण के घर के कमरे में मिट्टी तेल डालकर आग लगा ली। परिवार के सदस्यों ने किसी तरह आग बुझाई और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने स्थिति को देखते हुए उसे रायपुर रिफर कर दिया।    

दरअसल पीड़ित ने अपने साथ चचेरे भाई द्वारा किए गए दुष्कर्म की जानकारी न तो खरोरा पुलिस को दी थी और न ही इलाज कर रहे डॉक्टरों को। पुलिस घटना को आत्महत्या करने की कोशिश मान रही थी। मामला तब उजागर हुआ जब 20 जून को मेकाहारा के बर्न युनिट में कार्यपालन दण्डाधिकारी दीपक कुमार भारद्वाज व बाजार थाने के उपनिरीक्षक इंदिरा ठाकुर पीड़िता का बयान लेने पहुंचे। तब पीड़िता ने अपने साथ हुए हादसे को क्रमबद्ध बयान में बताया कि उसके चचेरे भाई सूरज मरकाम निवासी करियरदामा ने 19 जून की रात 9 से 10 के बीच घर पहुंचकर अकेले देखकर हवस का शिकार बनाने की कोशिश करने लगा। पीड़िता ने बताया कि उसने अपने भाई को ऐसा करने से रोका लेकिन उसने उसका मुंह दबाकर दुष्कर्म किया। कक्षा सातवीं की छात्रा 15 वर्षीय बालिका घटना से सहम गई थी और समाज के भय से अपने चाचा के घर पहुंच कर मिट्टी तेल डालकर आत्महत्या करने का प्रयास की।

06-06-2020
मेकाहारा जा रहे हैं तो ध्यान रखें, डीपी वार्ड के भूतल में शिफ्ट हो गई है ओपीडी

रायपुर। राजधानी के डॉ.भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय परिसर के इंडियन कॉफी हॉउस भवन में संचालित कफ, कोल्ड, फीवर और कोविड-19 ओपीडी को शनिवार को शिफ्ट किया गया है। अब इस ओपीडी का संचालन रोटरी कॉस्मो डीपी वार्ड के ग्राउंड फ्लोर यानी भूतल में कर दिया गया है। इस ओपीडी में सर्दी, खांसी, बुखार व फ्लू के साथ ही कोविड-19 के संभावित लक्षणों वाले मरीज अपना इलाज करा सकते हैं। यह ओपीडी चिकित्सालय के मुख्य बिल्डिंग से पृथक चिकित्सा महाविद्यालय के गेट क्रमांक 2 के ठीक सामने स्थित है।

 

30-05-2020
शनिवार को मिले दो पॉजिटिव केस रायपुर के इन इलाकों से, एक आई थी इलाज कराने  

रायपुर। छत्तीसगढ़ में शनिवार को मिले कुल 32 कोरोनो पॉजिटिव में से 2 रायपुर के शामिल हैं। इनमें एक बिरगांव और दूसरा चंगोराभाटा क्षेत्र में मिला है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक चंगोराभाटा निवासी महिला का उपचार मेकाहारा आइसोलेशन वार्ड में जारी था। 27 मई की शाम महिला कफ कोल्ड ओपीडी पहुंची थीं। कोरोना के लक्षण होने पर जांच की सलाह देकर सैम्पल लिया गया था। रिपोर्ट शनिवार को पॉजिटिव आई है। इसी तरह दूसरी महिला बिरगांव में ही मिली है। महिला मूलत: जांजगीर की रहने वाली है, दांत की समस्या का उपचार कराने रायपुर आई थी। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर माना कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया है। बिरगांव से यह तीसरा केस सामने आया है। इनमें से 1 युवक की मौत शुक्रवार को हुई थी। एक अन्य,जो मेकाहारा की सफाईकर्मी है उसका उपचार कोविड अस्पताल में जारी है। इधर रायपुर में शनिवार को दो नए मरीजों की पहचान होने के बाद प्रशासन की टीम अलर्ट हो गई है। सीएमएचओ डॉ.मीरा बघेल ने बताया कि दोनों मरीजों को माना कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया है।

11-04-2020
पंजाबी सनातन सभा ने की जरूरतमंदों की सहायता, सोशल डिस्टेंसिंग की अपील

रायपुर। छत्तीसगढ़ पंजाबी सनातन सभा ने कोरोना संक्रमण के इस काल में लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की है। सभा की ओर से रायपुर के विभिन्न चौक-चौराहों पर ड्यूटी कर रहे पुलिस वालों, सफाई कर्मचारियों को छाछ का वितरण किया। इसके साथ ही पंजाबी सनातन सभा के सदस्य मेकाहारा पहुंचे और वहां कार्यरत कर्मचारियों को छाछ का वितरण किया। विभिन्न स्थानों पर जरूरतमंद लोगों को राशन भी दिया गया। इन सब कार्यों के लिए सभा की 4 टीम काम कर रही है। इसमें सतिंदर कोहली, सुनील डोगर, नीरज सेठी, वायरससतीश भूटानी, विनोद पाहवा, भूषण टावरे, विकास मोदी, दीपक शाह, अरुण लूथरा और प्रदीप गुप्ता ने सहयोग किया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804