GLIBS
07-07-2020
अवैध रेत खनन मामलों पर कलेक्टर ने जाहिर की नाराजगी, अधिकारियों से कहा- करें छापामार कार्रवाई

कोरबा। समय सीमा की साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कलेक्टर किरण कौशल ने सख्त रूख आख्तियार किया। किरण कौशल ने राजस्व अधिकारियों पर भू व्यवस्थापन, भूमि आवंटन एवं डायवर्सन प्रकरणों में धीमी गति के साथ-साथ अवैध रेत खनन मामलों पर खासी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को लक्ष्यानुसार प्रकरणों को एक सप्ताह में पूरा करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने अवैध रेत खनन मामलों में खनिज विभाग के अधिकारियों की छापामार कार्यवाही करने के सख्त निर्देश दिए। किरण कौशल ने अवैध रेत, मुरूम उत्खनन पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए और ऐसी गतिविधियों पर खनिज, पुलिस तथा राजस्व विभाग के अधिकारियों की टीम बनाकर कार्यवाही के निर्देश दिए। बैठक में एडीएम संजय अग्रवाल, सीईओ जिला पंचायत कुंदन कुमार, नगर निगम आयुक्त एस.जयवर्धन, अपर कलेक्टर प्रियंका महोबिया सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे। वीडियो कांफे्रंसिंग के माध्यम से सभी एसडीएम तथा ब्लाक स्तरीय अधिकारी भी समय सीमा की बैठक में शामिल रहे।

राजस्व प्रकरण लंबित रहने पर राजस्व अधिकारी होंगे जिम्मेदार :

कलेक्टर किरण कौशल ने समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में राजस्व प्रकरणों की अनुविभाग व तहसीलवार समीक्षा के दौरान असंतोष व्यक्त करते हुए कहा कि प्रकरण लंबित होने पर संबंधित राजस्व अधिकारी जिम्मेदार होंगे। कलेक्टर ने कहा कि लोक सेवा गारंटी के तहत अधिसूचित सेवाएं से संबंधित प्रकरणों का निराकरण तत्परतापूर्वक किया जाए। कलेक्टर ने अधिकारियों को नामांतरण एवं सीमांकन के छह माह से अधिक के लंबित प्रकरणों का कारण बताते हुए जानकारी देने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने जिले में सीमांकन के प्रकरणों में प्रगति लाने और किसानों को केसीसी जारी करने की प्रक्रिया में विशेष ध्यान देने कहा।

 

07-07-2020
कलेक्टर ने कहा, शासन की योजनाओं को ग्रामीणों तक पहुंचाएं

बीजापुर। कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने अधिकारियों की बैठक लेते हुए जिले की विकास कार्यों की गहन समीक्षा की। बरसात को देखते हुए जल्द से जल्द कार्यो को पूर्ण करें जो संभव है। वहीं जिले मे जितने भी लंबित प्रकरण है समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनान्तर्गत लाभार्थी किसान परिवारों की आधार प्रविष्टि एवन अधिकार मान्यता पत्रक,रजिस्ट्री हुऐ जमीन का नामांतरण जैसे प्रकरणों का निराकरण करने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया। जनघोषणा के क्रियान्वयन के लिए ब्लाक स्तर पर सौ सौ एकड़ बंजर भूमि के चिन्हांकन के लिए एसडीएम एवं तहसीलदार को निर्देश दिए। राशन कार्ड धारियों एवं सदस्यों के आधार नंबर की जानकारी के संबंध में कार्य में तेजी लाने खाद्य अधिकारी को कहा। नक्सल प्रभावित परिवारों के पुनर्वास के लिए आवास निर्माण के लिए शासकीय भूमि पर पट्टा उपलब्ध कराने राजस्व अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।बैठक में नव पदस्थ डीएफओ अशोक पटेल एसडीएम, डिप्टी कलेक्टर सहित सभी विभाग प्रमुख तथा तहसीलदार,सीईओ जनपद पंचायत और नगरीय निकायों के सीएमओ उपस्थित थे।

 

07-07-2020
कलेक्टर रजत बंसल ने सिटी बसों के सुचारू संचालन के लिए बस्तर शहरी सार्वजनिक यातायात समिति की बैठक ली

रायपुर/जगदलपुर। कलेक्टर रजत बंसल ने बस्तर शहरी सार्वजनिक यातायात सोसायटी की बैठक जगदलपुर के आस्था कक्ष में ली। बैठक में सिटी बसों का सुचारू रूप से संचालन सुनिश्चित कराने और सिटी बसों के संचालन और संधारण में आ रही समस्याओं के संबंध में विस्तृत चर्चा की गई। बैठक में कलेक्टर रजत बंसल ने अधिकारियों एवं बस संचालकों को समस्याओं का निराकरण कर हर हाल में सिटी बसों का संचालन सुनिश्चित कराने के निर्देश भी दिए हैं। बैठक में कलेक्टर बंसल ने बस संचालकों से उनके समस्याओं के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी कौशल को राज्य शासन से समन्वय स्थापित कर बस संचालकों के समस्याओं का निराकरण कराने के निर्देश दिए। बंसल ने कहा कि सिटी बस आम नागरिकों के आवागमन का महत्वपूर्णं साधन है। इसलिए आम लोगों की सुविधा की दृष्टि से सिटी बसों का सुचारू संचालन सुनिश्चित करना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने बस संचालकों को प्रशासन की ओर से हर संभव मदद उपलब्ध कराने का आश्वासन भी दिया।

 

07-07-2020
प्राकृतिक आपदा पीड़ित के परिजनों के लिए 12 लाख राहत राशि मंज़ूर की कलेक्टर ने

रायपुर/सूरजुपुर। कलेक्टर रणबीर शर्मा के निर्देशन में प्राकृतिक आपदा पीड़ित 3 हितग्राहियों के परिजनों को राहत राशि 12 लाख रुपए की स्वीकृती दी गई है। इसमें तहसील भैयाथान ग्राम रगदा से मृतक संजय राजवाड़े की मृत्यु 13 अगस्त 2015 को कुएं में गिरने से होने के कारण मृतक के निकटतम वारिस उसके पिता धनेश्वर राजवाड़े को। साथ ही तहसील प्रेमनगर ग्राम तारकेश्वरपुर से मृतिका संतरी कुमारी की मृत्यु 27 जून 2019 को डबरी के पानी में डूबने से होने के कारण मृतिका के निकटतम वारिस उसके पिता सूखसाय को। तहसील प्रतापपुर ग्राम सिलफिली से मृतक बसंतलाल की मृत्यु 29 जुलाई 2019 को आकाशीय बिजली गिरने से होने के कारण मृतक के निकटतम वारिस उसकी पत्नी श्यामवति को, चार-चार लाख रूपये आर्थिक सहायता अनुदान राशि स्वीकृत की गई है। यह राशि आवंटन की प्रत्याशा में मांग संख्या 58 शीर्ष 2245 प्राकृतिक आपदा राहत के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में विकलनीय होगा।

07-07-2020
जशपुर नगर में गोठानों के लिए 59 लाख मंज़ूर किए कलेक्टर ने, हर गोठान में बनेगा शौचालय

रायपुर/जशपुरनगर। कलेक्टर महादेव कावरे के मार्गदर्शन में जिले के 210 गौठानों के लिए 58 लाख 80 हजार की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई। इससे गौठानों में शौचालय का निर्माण किया जाएगा। प्रत्येक गौठान के लिए 28 हजार के मान से राशि दी गई है। छत्तीसढ़ शासन की नरवा, गरूवा, घुरूवा बाड़ी योजनांतर्गत गांवों के किसानों, ग्रामवासियों के लिए गौठानों का विकास किया जा रहा है। उनके गायों को रखने के लिए चारा पानी, कोटना, की सुविधा तो दी जा रही है साथ ही गौठानों में किसानों के पशुओं का टीकाकरण भी करवाया जा रहा है। गौठानों में सुविधा विकसित करने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत् 210 गौठानों के लिए 58 लाख 80 हजार की राशि शौचालय बनाने के लिए दी गई है।

 

07-07-2020
अम्बिकापुर के आदर्श गोठान केशवपुर का कलेक्टर ने किया निरीक्षण,पाइनएप्पल और नींबू लगाने के दिए निर्देश

रायपुर/अम्बिकापुर। कलेक्टर संजीव कुमार झा ने अम्बिकापुर विकासखंड के आदर्श गोठान केशवपुर का निरीक्षण किया। उन्होंने गोठान में लगाये गए फलदार पौधे,विभिन्न किस्म की सब्जियां,वर्मी कम्पोस्ट निर्माण, चारागाह में लगाए गए नेपियर घास और एमपीचेरी का अवलोकन किया। उन्होंने अन्य फलदार पौधों के साथ पाइनएप्पल के उत्पादन की संभावनाओं को दृष्टिगत रखते हुए पाइनएप्पल लगाने और थाईलैंड नींबू लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि थाईलैंड नींबू छोटी ऊंचाई के होने के साथ ही कम समय मे अधिक फल देता है। इसके उत्पादन से अच्छी आय होगी। कलेक्टर ने गोठान के पश्चिम दिशा में अब तक खाली पड़े जमीन में गेंदे के पौधे और रामतील लगाने तथा फेंसिंग व सीपीटी के किनारे पपीता के पौधे लगाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही गोठान में मल्टी एक्टिविटी के रूप में बटेर पालन, मधुमक्खी पालन तथा मछली पालन करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

कलेक्टर झा ने कहा कि आम, अमरूद के पौधों को सुरक्षित रखने के लिए ट्री गॉर्ड लगवाये तथा पौधों की प्रजाति का उल्लेख करते हुए सभी पौधे का प्ले कार्ड तैयार कराएं। उन्होंने कहा कि पौधों के बीच में खाली जमीन पर इंटर क्रॉप सब्जी की खेती के लिए अलग अलग किस्म के सब्जी लगाएं। बारिश में पौधे न बह जाएं इसके लिए बीच बीच मे कंटूर ट्रेंच बनाएं। डबरी में बारिश के पानी का संचय  कर मछली पालन के लिए समूह की महिलाओं को प्रोत्साहित करें। डबरी के मेड पर केले और पपीता के पौधे लगवाएं।   कलेक्टर ने कहा कि गोठान में पशुओं को प्रति दिन लाने चरवाहे को निर्देशित करें। चरवाहे का पारिश्रमिक का भुगतान यदि लंबित है तो तत्काल भुगतान करें। पशुओं का टीकाकरण एवं कृत्रिम गर्भाधान के लिए पशुपालन विभाग चिकित्सा टीम के साथ नियमित अंतराल पर उपस्थित दें। उन्होंने गोठान में वर्मीकम्पोस्ट खाद तैयार कर रही महिला समूहों से वर्मीकम्पोस्ट खाद बनाने की विधि तथा अब तक तैयार खाद के बारे में पूछताछ की।

 

06-07-2020
बैकुंठपुर विधायक अम्बिका सिंहदेव ने किया नवनिर्मित कोविड-19 लैब का उद्घाटन

कोरिया। विधानसभा क्षेत्र बैकुंठपुर की विधायक अम्बिका सिंहदेव के द्वारा सोमवार को कलेक्टर  एसएन राठौर की उपस्थिति में नवनिर्मित कोविड-19 लैब का उद्घाटन किया गया। इस दौरान सीएमएचओ एवं संबंधित विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे। यह लैब जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के कंचनपुर स्थित कोविड हॉस्पिटल परिसर में स्थापित की गई है। कोविड-19 लैब में अब संदिग्ध मरीजों में कोरोना वायरस से संक्रमण की जांच की जायेगी। राजधानी रायपुर स्थित एम्स एवं मेकाहारा से आवश्यक प्रशिक्षण प्राप्त कोविड-19 लैब में कार्यरत स्वास्थ्य टीम ने उदाहरण स्वरूप टेस्टिंग की प्रक्रिया को समझाते हुए बताया कि सावधानी पूर्वक प्रक्रिया संपन्न की जाने पर 1 से डेढ़ घंटे में कोविड-19 की रिपोर्ट प्राप्त हो जायेगी। इस दौरान विधायक अंबिका सिंहदेव एवं कलेक्टर राठौर ने कोविड टेस्टिंग की पूर्ण प्रक्रिया को समझा। कोविड-19 लैब के माध्यम से पॉजिटिव मरीजों की पहचान करना आसान हो जायेगा।

 

06-07-2020
पौधरोपण महाअभियान में महापौर, कलेक्टर ने लगाएं पौधे

दुर्ग। जिला कलेक्टर सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे, महापौर धीरज बाकलीवाल, आयुक्त इंद्रजीत बर्मन,सभापति राजेश यादव, सहित जिला प्रशासन के अनेक अधिकारी, जनप्रतिनिधियों, प्रेस क्लब के पदाधिकारियों ने सोमवार को हरिहर छत्तीसगढ़ के लिए बोरसी वार्ड में 150 पौधा लगाकर संदेश प्रसारित किये। इस मौके पर नगर निगम के पर्यावरण प्रभारी सत्यवती वर्मा के अलावा महापौर परिषद के सभी प्रभारी, पार्षद, जनप्रतिनिधि, निगम अधिकारी, प्रेस क्लब के पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी सदस्य एवं नागरिकों ने पौधरोपण महाअभियन में अपनी भागीदारी निभाकर नाम पट्टिका के साथ पौधरोपण किये। जिला प्रशासन के आव्हान पर पौधरोपण महाअभियान का आयोजन पूरे शहर में किया गया। इसके अंतर्गत पूरे शहर के 60 वार्डो में वार्ड पार्षदों की सक्रियता से वृहद पैमाने पर पौधरोपण किया गया। इसके लिए महापौर धीरज बाकलीवाल एवं आयुक्त इंद्रजीत बर्मन के निर्देशानुसार निगम के समस्त 60 वार्डो के पार्षदों को निगम से पौधा दिया गया,जिसे वे वार्ड निवासियों को घर-घर पहुॅचायें। वार्ड निवासीगण अपने-अपने घरों के पास एक-एक पौधा लगाकर वृक्षारोपण के इस महा अभियान में अपनी भागीदारी निभाएं हैं।

इस मौके पर जिला कलेक्टर भूरे ने कहा स्वच्छ वातावरण सभी व्यक्ति के लिए आवश्यक है परन्तु इसके लिए हम सब को मिल कर प्रयास करना होगा। इसकी शुरुआत आज से की गई है। इस महा अभियान में शहर के समस्त आम जनता को जोड़ा गया है। उनके घरों तक पौधा पहुॅचाया गया है। बोरसी के उद्यान में जनजागरुकता के आधार पर 150 पौधा लगाकर वृक्षारोपण किया गया है। इसी प्रकार से पूरे शहर में पौधा रोपण किये जाने से शहर का वातावरण शुद्ध और बेहतर होगा। उन्होनें कहा आज यहाॅ पर अमरुद, जामुन, मुनंगा के साथ करन, अकेशिया कुसुम कचनार जैसे छायादार और फलदार पौधा लगाया गया है।

 

06-07-2020
कलेक्टर ने नव दम्पति को मुनगा पौधा भेंट कर दिया सुखमय दाम्पत्य जीवन का आशीर्वाद

बीजापुर। कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने सोमवार को दाम्पत्य सूत्र में बंधने वाले नवदम्पति जीवनलाल साहू एवं प्रसन्ना मिंज को मुनगा पौधा भेंटकर सुखमय दाम्पत्य जीवन का आशीर्वाद दिया। उन्होंने इस दौरान मुनगा पौधा रोपित कर उसकी समुचित देखभाल करने की समझाइश नवदम्पति को दी। ज्ञात हो कि नव दम्पति ने कलेक्टर एवं विवाह पंजीयन अधिकारी रितेश अग्रवाल के समक्ष स्वेच्छापूर्वक विवाह करने का पंजीयन कराया था।

 

06-07-2020
आसमान में बिजली की चमक के दौरान शॉवर लेने से बचे,जानिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं...

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने मानसून के दौरान आकाशीय बिजली (गाज) से बचने के लिए विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए हैं। विभाग की सचिव रीता शांडिल्य ने राज्य के सभी जिलों के कलेक्टरों को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार आवश्यक व्यवस्था और कार्यवाही करने के निर्देश जारी किए हैं। कलेक्टरों को स्थानीय स्तर पर, स्थानीय भाषा में विभिन्न सुरक्षा युक्तियों के प्रदर्शन करने और लोगों को बचाव की प्रचार सामग्री उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं।
जिले के नगरीय निकायों, पंचायतराज संस्थाओं, गैर सरकारी संगठनों, रेसीडेन्ट वेलफेयर एसोसियेशन, ग्राम सभाओं, चिकित्सा पेशेवरों और स्थानीय निकायों को आकाशीय बिजली से बचाव के लिए सावधानियों की व्यापक जानकारी देने, विशेष कार्यक्रम चलाने के निर्देश दिए गए हैं। इससे वे अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को जानकारी दे सकें।

जानिए बचाव के लिए क्या करना है आपको

राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने तीव्र गरज और आकाशीय बिजली से बचने के उपाए बताएं हैं। बताया गया कि यदि घर पर हैं तो बचने के लिए आसमान के बदलते रंग और बढ़ती हवा के वेग पर नजर रखें। गड़गडाहट सुनाई दे तो इससे सावधान रहें। आकाशीय बिजली के संपर्क में आने से बचें। अद्यतन और चेतावनी निर्देशों के लिए स्थानीय मीडिया पर निगरानी रखकर जानकारी प्राप्त करते रहें। घर के अंदर रहें और यदि संभव हो तो यात्रा से बचें। खिड़कियां और दरवाजे बंद करें और अपने घर के बाहर की वस्तुओं को सुरक्षित रखें। यह सुनिश्चित करें कि बच्चे और पालतु जानवर अंदर ही रहें। अनावश्यक बिजली के उपकरणों को अनप्लग करें। पेड़ की लकड़ी या किसी भी अन्य मलबे को हटा दें जो दुर्घटना का कारण बन सकता है।

जानिए बचाव के लिए क्या नहीं करना है आपकों  

स्नान के लिए शॉवर के उपयोग से बचें और बहते पानी से दूर रहें। ऐसा इसलिए क्योंकि धातु के पाइप के साथ आकाशीय बिजली प्रवाहित हो सकती है। दरवाजे, खिड़किया, फायरप्लेस, स्टोव, बाथटब या किसी अन्य विद्युत कंडक्टर से दूर रखें। कॉर्डेड फोन और अन्य बिजली के उपकरणों के उपयोग से बचें, जो बिजली का संचालन कर सकते हैं। घर के बाहर खुले मैदान पर हैं तो तुरंत सुरक्षित आश्रय पर जाएं, धातु संरचना या धातु की चादर के साथ निर्माण जैसे आश्रय से बचें। आदर्श रूप से एक निचले क्षेत्र में आश्रय खोजें और सुनिश्चित करें कि चुना गया स्थान बाढ़ की संभावना से परे हो। अपने आप को छोटा बनाने के लिए पैरों को एक साथ रखें और सिर नीचे रखें। आपकी गर्दन के पीछे खड़े बाल संकेत कर सकते हैं कि आकाशीय बिजली निकटस्थ हैं। जमीन पर सपाट खडे न रहें। यह एक बड़ा लक्ष्य बना देगा। सभी उपयोगिता लाईनों फोन, पावर आदि धातु की बाड़ी पेड और पहाड़ी से दूर है। इसी तरह पेड़ों के नीचे शरण न ले, जहां आकाशीय बिजली गिरने की संभावना हो सकती है। रबर-सोल वाले जूते और कार के टायर बिजली से सुरक्षा का कोई साधन नहीं है। साइकिल, मोटरसाइकिल या खेत में उपयोग करने वाले वाहनों से दूर रहे,जो आकाशीय बिजली को आकर्षित कर सकते हैं। नौका विहार या तैराकी कर रहे हो तो जितनी जल्दी हो सके सुरक्षित शरण ले लें। तूफान के दौरान अपने वाहन में तब तक रहें जब तक की मदद नहीं आती है या तूफान गुजर नहीं जाता है। वाहन की खिड़कियां बंद होनी चाहिए और पेड़ों से वाहन दूर पर पार्क करें।

इलाज के लिए इन बातों का रखें ध्यान

ऐसे व्यक्ति को अस्पताल ले जाएं, जो आकाशीय बिजली गिरने से घायल हुआ हो। हो सके तो बेसिक प्राथमिक उपचार दें। आकाशीय बिजली की चपेट में आने वाले लोगों को कोई विद्युत आवेश नहीं होता है। उन्हें सुरक्षित रूप से संभाला जा सकता है। टूटी हुई हड्डियों, सुनने और आंखों की रोशनी कम होने की जांच करें। आकाशीय बिजली का शिकार व्यक्ति अलग-अलग डिग्री तक जल सकते हैं, प्रभावित शारीरिक स्थान, चोट की जांच आवश्य करें।

06-07-2020
कड़ी मेहनत को जीवनशैली का हिस्सा बनाकर लक्ष्य हासिल करें : कलेक्टर

दुर्ग। प्रयास आवासीय विद्यालय के कक्षा 10वीं में उत्कृष्ट अंक अर्जित करने वाले विद्यार्थियों को प्रतीक चिन्ह एवं प्रस्शति पत्र भेंट कर कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने सम्मानित किया है। सम्मान समारोह के अवसर पर उन्होंने विद्यार्थियों को आशीर्वचन देते हुए कहा कि आज जो कामयाबी और सफलता मिली है, उसे हमेशा कायम रखना है। जीवन में हमेशा मेहनत को बरकरार रखना। आज जो सफलता मिली है। इसे यही तक सीमित मत रखना। उन्होंने आगे कहा कि एक बार अच्छी मुकाम या सफलता मिल जाने पर अक्सर स्वभाव में यह भाव घर कर जाता है कि वह हर कुछ कर सकता है। इसके कारण सफलता आगे बढ़ नहीं पाता है। मेहनत को जीवनशैली का हिस्सा बनाकर अपने लक्ष्य को अर्जित करने प्रेरित किया। उन्होंने स्वामी विवेकानंद की प्रेरितकारी वचन जहाँ बुद्धि काम न आये वहां कड़ी मेहनत कर लक्ष्य पाने को आतुर रहने वाली कथन को आत्मसात कर जीवन की हर मुकाम हासिल करने की सीख दिया।
इस अवसर पर कलेक्टर डॉ. भुरे की धर्मपत्नी डाॅ. रश्मि भुरे ने विद्यार्थियों को प्रेरितकारी उदबोधन देते हुए कहा कि मेहनत और सफलता को निरन्तर कायम रखना ही जीवन को सफल बनाता है।

मेहनत का रुक जाना सफलता के प्रयासों पर विराम लग जाता है। इसलिए आज जो सफलता मिली है इसे आगे भी हमेशा बनाये रखना जिससे कामयाबी मिलती रहे। इस अवसर पर कलेक्टर दम्पत्ति ने पौधारोपण किया। संज्ञान हो कि प्रयास विद्यालय एक शासन द्वारा संचालित संस्था है। जहां अध्ययनरत छात्र-छात्राओं की पढ़ाई के साथ-साथ रहने व खाने की व्यवस्था सरकार द्वारा मुहैया कराई जाती है। दुर्ग जिले में मुख्यमंत्री बाल भविष्य सुरक्षा योजना अंतर्गत प्रयास आवासीय विद्यालय संचालित है। इस विद्यालय का प्रमुख उद्देश्य राज्य के सुदूर नक्सल प्रभावित जिलों में रहने वाले प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को निशुल्क शिक्षण एवं आवासीय सुविधायें उपलब्ध कराकर भविष्य निर्माण के लिए एक मंच उपलब्ध कराना है। इस वर्ष प्रयास एवम विद्यार्थियों के सम्मिलित प्रयास से कक्षा 10 वीं में अध्ययनरत 25 छात्र-छात्राओं ने 90 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किये है, जिसमें कृतिका त्रिपाठी ने 95.80 अंक अर्जित किया है। संस्था में अध्ययनरत सभी विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में सफल हुए है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804