GLIBS
23-05-2020
मोबाइल इंटरनेट स्पीड में पाकिस्तान से पिछड़ा भारत, जानें टॉप पांच में है कौन से देश

नई दिल्ली। भले ही भारत में टेलीकॉम कंपनियां अपने इंटरनेट स्पीड को लेकर बड़े-बड़े दावे कर लें। लेकिन ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में भारत की स्थिति काफी खराब है। मोबाइल ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में भारत अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान और नेपाल से भी पीछे है। ब्रॉडबैंड स्पीड का विश्लेषण करने वाली कंपनी ऊकला की एक रिपोर्ट से इसका पता चलता है। मिली जानकारी के अनुसार मोबाइल ब्रॉडबैंड स्पीड में भारत तीन पायदान नीचे खिसक कर 132वें स्थान पर आ गया है। मोबाइल ब्रॉडबैंड स्पीड में भारत की स्थिति पाकिस्तान और नेपाल से भी खराब है। यह आंकड़े ऊकला के स्पीड टेस्ट के हैं। आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल महीने में भारत की औसत मोबाइल ब्रॉडबैंड डाउनलोड स्पीड 9.81 Mbps रही, जबकि इसकी औसत अपलोड स्पीड 3.98 Mbps थी। बता दें कि ऊकला हर महीने मोबाइल ब्रॉडबैंड स्पीड के आधार पर 139 देशों की लिस्ट बनाती है।

 टॉप पांच में रहे ये देश :
दुनिया भर की औसत मोबाइल डाउनलोड स्पीड की बात करें तो अप्रैल के महीने में यह 30.89 Mbps और अपलोड स्पीड 10.50 Mbps रही है। स्पीडटेस्ट में दक्षिण कोरिया नंबर एक कंपनी रही है। यहीं की मोबाइल डाउनलोड स्पीड 88.01 Mbps और मोबाइल अपलोड स्पीड 18.14 Mbps रही। वहीं टॉप पांच में अन्य देश कतर, चीन, यूएई और नीदरलैंड रहे हैं।

 पाकिस्तान और नेपाल से भी पीछे भारत :
स्पीड के मामले में भारत को पाकिस्तान और नेपाल जैसे देशों ने भी पीछे छोड़ दिया। जहां नेपाल पांच पायदान ऊपर पहुंचते हुए 111वें नंबर पर रहा, वहीं पाकिस्तान ने 112वां स्थान हासिल किया है। इसके अलावा दो अन्य पड़ोसी देश श्रीलंका को 115वां और बांग्लादेश को 130वां स्थान मिला है। अन्य देशों की बात करें तो सिर्फ उज़्बेकिस्तान, लीबिया, अल्जीरिया, रवांडा, सुडान, वेनेजुएला और अफगानिस्तान जैसे देश ही भारत से नीचे रहे हैं।

23-05-2020
पढ़ई तुंहर दुआर पोर्टल में सरस्वती शिशु मंदिर के छात्र दिखा रहे रुचि

कोरिया। बैकुंठपुर के छात्र ऑनलाइन पोर्टल में अध्ययन करने रुचि दिखा रहे हैं। छत्तीसगढ़ सरकार की शिक्षा विभाग एवं संस्था भी इस पर पहल कर रही है। नई पहल पढ़ई तुंहर दुआर पोर्टल जिसका उद्देश्य लॉक डाउन के समय घर में रहकर अनुशासन का पालन करते हुए ऑनलाइन पढ़ाई करना। इस पोर्टल में सबसे पहले सभी अचार्य और छात्र का मोबाइल नम्बर डालकर कक्षावार ग्रुप बनाया गया जिसमें विषय विशेषज्ञों के द्वारा समय सारिणी के अनुसार ऑनलाइन अध्यापन कराया जा रहा है। इसका उपयोग लॉक डाउन के इस समय में सरस्वती शिशु मंदिर के छात्रों के द्वारा किया जा रहा है। शुरुवाती दौर में छात्रों का रुझान इस पोर्टल में कम दिख रहा था।

लेकिन लगातार लॉक डाउन का समय बढ़ना और अचार्य का निरंतर प्रयास एवं प्रेरित करने से अब छात्रों की रुचि बढ़ती जा रही है। छात्र भी अब इस लॉक डाउन के समय का सदुपयोग करते हुए पोर्टल पर अपने क्लास के समय पर ऑनलाइन होकर जुड़ जाते हैं और अचार्य के द्वारा भी लगातार सहयोग और गृह कार्य कराया जा रहा है। इस संबंध में रामा कांत शुक्ला प्राचार्य ने यह जानकारी दीए की मेरे स्कूल के छात्र पोर्टल पर निरंतर पढ़ाई कर रहे हैं एवं अन्य स्कूल के छात्र यदि पढ़ना चाहते हैं तो सरस्वती शिशु मंदिर के प्राचार्य के इस मोबाइल नंबर 7987783289 पर संपर्क करें। उन्हें भी पोर्टल द्वारा पढ़ाया जा रहा है। हमारे विद्यालय के अधिकांश छात्र शासन की नई पहल पढ़ई तुंहर दुआर पोर्टल से अध्ययन कर अपना कोर्स पूर्ण कर रहे हैं। संस्था के प्रमुख शैलेश शिवहरे ने बताया कि इस विद्यालय के सभी व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से विद्यालय के सभी छात्र पढ़ाई कर रहे हैं एवं अन्य स्कूल के छात्र यदि पढ़ना चाहते हैं तो मेरे विद्यालय के व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ कर उन्हें भी पढ़ाया जाएगा।

22-05-2020
जिला न्यायालय दुर्ग में हुआ कोरोना संक्रमण के संबंध में रैपिड टेस्ट, 1 हफ्ते बाद आएगी रिपोर्ट

दुर्ग। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग के द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से जिला न्यायालय परिसर के सभागार में न्यायाधीशगणों, बार संघ के पदाधिकारियों, न्यायालीन कर्मचारियों, विधिक सेवा प्राधिकरण के कर्मचारियों का कोरोना वायरस के संबंध में रैपिड टेस्ट कराया गया। इसमें 20 लोगों का रैपिड टेस्ट स्वास्थ्य विभाग द्वारा किया गया। जिनकी रिपोर्ट एक सप्ताह बाद संबंधित के मोबाइल पर प्राप्त होगी।

जिला न्यायालय परिसर में रैपिड टेस्ट कराये जाने के लिए गोविन्द कुमार मिश्रा, अध्यक्ष/जिला न्यायाधीश, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग के द्वारा विशेष रूचि ली गई तथा उनके मार्गदर्शन पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग के सचिव राहुल शर्मा के द्वारा मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी से चर्चा एवं पत्र प्रेषित किया गया। सर्वप्रथम रैपिड टेस्ट गोविन्द कुमार मिश्रा, जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग के द्वारा कराया गया। रैपिड टेस्ट करने के लिए जिला चिकित्सालय के डॉक्टर अनुशा सिंह, अघन सिंह लैब टेकनिशियन, रिखी राज साहू वार्ड बॉय ने अपनी उपस्थिति दी। उनके सहयोग से ही कार्य सम्पादित किया गया।

11-05-2020
दुष्कर्म और लूट के दो आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

कोरबा। युवती के साथ दुष्कर्म कर लूटपाट की घटना को अंजाम देने वाले दोनों आरोपियों को पुलिस ने कुछ ही घण्टे में गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियो के खिलाफ दुष्कर्म,लूट सहित आधा दर्जन मामले दर्ज किए गए है।
रामपुर चौकी क्षेत्र के एमपी नगर में बीती रात दो युवक एक युवती के घर का दरवाजा तोड़कर घुस गए थे। युवती को रस्सी से हाथ पैर बांध उसके साथ दुष्कर्म किए। घर में रखे कुछ सामानों को भी लेकर फरार हो गए थे। इस मामले में पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी कासिफ खान 21 वर्ष और पवन चौरसिया 21 वर्ष ने लूट की नीयत से युवती के घर में घुसे थे। कासिफ खान से युवती के साथ दुष्कर्म किया जबकि पवन घर मे रखी नगदी रकम,मोबाइल लेकर फरार हो गए। युवती के बयान के आधार पर पुलिस ने 342,376,458,394,506 के तहत मामला पंजीबद्ध कर लिया है।

24-04-2020
पेड़ के नीचे खेल रहे थे मोबाइल पर लूडो, गिरी बिजली,एक की मौत, दो घायल

कोरबा। तीन युवक की शुक्रवार को आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक युवक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि दो युवक घायल हो गए। बताया जा रहा है कि एक पेड़ के नीचे सुशील सिंह ठाकुर,नरेंद्र कुमार नायक और सुनील नायक मोबाइल में लूडो खेल रहे थे तभी अचानक मौसम में बदलाव आया। आकाशीय बिजली सीधे मोबाइल में गिर पड़ी। इसकी चपेट में आने से सुशील सिंह की मौके पर ही मौत ही गई और दो घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है।

 

19-04-2020
फाइनेंस कंपनी में चोरी करने वाले 3 आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे, लाखों के मोबाइल बरामद

सूरजपुर। फाइनेंस कंपनी के दफ्तर में ताला तोड़ कर मोबाइल चोरी करके बेचने के फिराक में घूम रहे सूरजपुर मस्जिद पारा के 3 युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम करौंदामुड़ा भैयाथान निवासी सरताज आलम ने थाना सूरजपुर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि यह स्पदंना स्फूर्ति फाईनेंशियल कम्पनी मानपुर सूरजपुर कार्यालय में काम करता है। कंपनी के द्वारा ग्रामीणों को वितरण के लिए विवो वाई-11 कंपनी के 54 नग मोबाईल रखे थे। अज्ञात व्यक्ति के द्वारा 17 अप्रैल की रात में आफिस का ताला तोड़कर 20 नग मोबाईल को चोरी कर लिया। प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में अपराध पंजीबद्व किया।

पुलिस को मुखबीर के जरिए सूचना प्राप्त हुई कि मानपुर निवासी 3 लड़के ग्राम कलुआ में मोबाईल बेचने की फिराक में घुम रहे है। मुखबीर की सूचना के आधार पर पुलिस की टीम ने ग्राम कलुआ में घेराबंदी कर 3 व्यक्ति मानपुर निवासी 20 वर्षीय साबिर हुसैन पिता ताहिर हुसैन, 18 वर्षीय भदेव सिंह उर्फ छोटा पिता केशव सिंह एवं 21 वर्षीय विनय देवांगन उर्फ चुक्की पिता त्रिलोचन देवांगन को पकड़ा। पूछताछ पर तीनों ने स्पदंना स्फूर्ति फाईनेंशियल कम्पनी मानपुर के कार्यालय का ताला तोड़कर वहां से 20 नग मोबाईल चोरी करना स्वीकार किया। आरोपियों के मेमोरण्डम के आधार पर चोरी किए गए 20 नग मोबाईल कीमत 1 लाख 99 हजार 8 सौ रूपये एवं ताला तोड़ने में प्रयुक्त औजार को जप्त कर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया।

19-04-2020
कलेक्टर ने कोटा में अध्ययन कर रहे छात्र-छात्राओं की जानकारी एकत्रित करने के लिए नियुक्त किए नोडल अधिकारी

कोरिया। कलेक्टर डोमन सिंह ने पूरे देश में लॉक डाउन के कारण राजस्थान के कोटा में अध्ययन कर रहे कोरिया जिले के छात्र-छात्राओं एवं साथ रह रहे अभिभावकों की जानकारी एकत्रित करने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी संजय गुप्ता को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। वहीं राजीव गांधी शिक्षा मिशन के जिला मिशन समन्वयक अजय कुमार मिश्रा को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। नोडल अधिकारी गुप्ता का मोबाइल नंबर 94252-57232 तथा सहायक नोडल अधिकारी मिश्रा का मोबाइल नंबर 99261-47846 है। कलेक्टर सिंह ने नागरिकों से आग्रह किया है कि यदि ऐसे छात्र-छात्राओं की जानकारी उन्हें हैं, तो उक्त दोनों अधिकारियों को उनके मोबाइल नंबर पर संपर्क कर उनका नाम, पिता का नाम, कोटा का पता, स्थानीय पता तथा मोबाइल नंबर आदि की जानकारी दें। शासन द्वारा दी जाने वाले निर्देशों का अनुपालन करते हुए उनसे संपर्क स्थापित किया जाएगा।

18-04-2020
ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों को छूट देने का चेंबर ऑफ कॉमर्स ने किया विरोध                

भिलाई। भिलाई चेंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज युवा चेम्बर के प्रदेश अध्यक्ष अजय भसीन ने सरकार द्वारा 20 अप्रेल से फ्रीज,टीवी, कूलर, मोबाइल व रेडीमेड गारमेन्ट के लिए ई-कामर्स कंपनी अमेजन, फ्लिपकार्ट व स्नेपडील जैसी कंपनियों को बेचने की छूट दिए जाने की कड़े शब्दों में निंदा की है। और प्रशासन से तत्काल इस निर्णय को वापस लेने की मांग की है। अजय भसीन ने कहा कि इस निर्णय से व्यापार जगत को बहुत गहरा आघात पहुंचा है। उन्होंने कहा कि हम लॉक डाउन के दौरान एक माह से सरकार के हर कदम के सहयोगी बने व्यापारी अपना कारोबार बंद रखकर सामाजिक जिम्मेदारियों को निभाने में हमेशा प्रधानमंत्री के आव्हान पर से सहभागी बने। प्रधानमंत्री राहत कोष हो,मुख्यमंत्री राहत कोष सभी में सहयोग किया। राशन की सेवा, भोजन पैकेट की सेवा उपलब्ध कराई पर व्यापार प्रारंभ करने के लिए केंद्र सरकार ने विदेशी ऑनलाइन कंपनियों को स्वीकृति देकर व्यापार जगत पर कुठाराघात किया है।

चेम्बर के प्रदेश उपाध्यक्ष गार्गीशंकर मिश्रा ने कहा कि देश और प्रदेश की जनता की सेवा, अर्थव्यवस्था में भागीदारी करने वाले व्यापारी वर्ग ने गर्मी के सीजन के साथ शादियों के सीजन के लिए पूर्व में तैयारी कर जरूरत का माल खरीदा था। व्यापारी को लाकडाउन के बाद छूट से कारोबार की उम्मीद थी इस वर्ग को पहले भी केंद्र सरकार ने कोई पैकेज नहीं दिया था। केंद्र सरकार द्वारा व्यापारियों को कारोबार की छूट ना देकर ऑनलाइन कंपनियों को समस्त वस्तुओं के व्यापार की अनुमति देना छोटे और मझोले व्यापार को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अपने इस निर्णय को तत्काल वापस लेकर क्रमश: लॉकडाउन समाप्त करने की दिशा में ग्रीन जोन वाले जिलों में व्यापार की अनुमति प्रदान करें। छग चैम्बर ऑफ कॉमर्स भिलाई इकाई द्वारा इस विषय पर जिलाधीश दुर्ग को एक ज्ञापन सौपकर विरोध प्रकट किया जाएगा। भिलाई चेम्बर अध्यक्ष भीमसेन सेतपाल, उद्योग चैम्बर अध्यक्ष जेपी गुप्ता, परिवहन चैम्बर अध्यक्ष पंकज सेठी, महिला चैम्बर अध्यक्ष गीता वर्मा, नरेश वासवानी, लक्ष्मण आयलानि, अखराज ओस्तवाल, शंकर सचदेव, मनोज बक्तानि, विनय सिंग, चिन्ना राव, राजकुमार जायसवाल, सुधाकर शुक्ला, अक्षय गुप्ता, राजीव गुप्ता व अनेक सदस्यों ने ऑनलाइन कंपनियों की छूट पर खेद जाहिर करते हुए रोष व्यक्त किया है।

04-04-2020
सिम्स ने डॉक्टरों व नर्सिंग स्टाफ को मोबाइल वेटिंग रूम में छोड़ने का दिया आदेश

रायपुर-बिलासपुर। शहर के सिम्स अस्पताल में 24 घंटे कोरोना ओपीडी का संचालन हो रहा है।  डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ व अन्य कर्मचारियों की तीन पालियों में ड्यूटी लगाकर उनसे सेवा ली जा रही है। मोबाइल में व्यस्त होने के कारण संदेहियों की जांच प्रभावित हो जाती है। इन्ही सभी कारणों को देखते हुए ड्यूटी समय में अपने पास मोबाइल रखने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सिम्स के कोरोना ओपीडी में चौबीस घंटे मरीज पहुंच रहे हैं। कई दफा ओपीडी में मरीजों की भीड़ रहती है। ऐसे में डॉक्टर व अन्य स्टाफ मोबाइल में व्यस्त हो जाते हैं। वाट्सएप, फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया में ध्यान होने के कारण मरीजों को इंतजार करना पड़ता है। व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए ड्यूटी समय में मोबाइल रखने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सिम्स आने के साथ इन्हें अपना मोबाइल वेटिंग रूम में रखना होगा। जरूरी होने पर सभी को फोन करने की छूट दी गई है।

 

03-04-2020
अब मोबाइल एंबुलेंस के जरिए होगा सैंपल कलेक्शन, कोरोना संभावितों के घर पहुंचेंगी एंबुलेंस

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना के सभी संभावित लोगों को तेजी से टेस्ट सुनिश्चित करने के उद्देश्य से एक नई रणनीति अमल में लाई जाएगी। इसके तहत सभी संभावितों का सैंपल उनके घर पहुंचकर लिया जाएगा। सैंपल कलेक्शन के लिए मोबाइल एम्बुलेंस में सभी सुविधाओं एवं आवश्यक सामग्री के साथ सैंपल कलेक्शन विशेषज्ञ मौजूद रहेंगे। यह निर्णय शुक्रवार को राज्य स्तरीय कमांड एंड कन्ट्रोल सेन्टर में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह की मौजूदगी में आयोजित बैठक में लिया गया। सैंपल कलेक्शन की इस व्यवस्था से उपलब्ध संसाधनों का उचित उपयोग तथा टेस्टिंग में तेजी आएगी। बैठक में स्वास्थ्य सचिव सिंह ने सैंपल कलेक्शन की इस नई व्यवस्था के संबंध में सभी कलेक्टरों को पत्र प्रेषित कर इसकी व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। मोबाइल एम्बुलेंस संग्रहण के लिए संभावित मरीजों के घर के सामने पहुंचेंगी और उसमें मौजूद लैब टेक्नीशियन पीपीई किट,एन-95 मास्क एवं अन्य सुरक्षा उपकरण पहनकर एम्बुलेंस के पिछले हिस्से में एक-एक कर सभी कोरोना संभावितों का सैंपल कलेक्शन करेंगे। सचिव ने कहा कि प्रत्येक संभावित व्यक्ति का सैंपल कलेक्शन करते समय लैब टेक्नीशियन सिर्फ अपने हैण्डग्लब्स चेंज करेगा। पूरा पीपीई किट बदलने की आवश्यकता नहीं होगी। मोबाइल एम्बुलेंस के माध्यम से एक दिन में ही कई घरों में जाकर संभावितों का सैंपल कलेक्शन किया जा सकेगा।

सचिव सिंह ने विभागीय अधिकारियों को कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की अन्य सेवाओं का भी बेहतर क्रियान्वयन सुनिश्चित के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिला चिकित्सालय सहित सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं, टीकाकरण, संस्थागत प्रसव, गैरसंचारी एवं संचारी रोगों की रोकथाम तथा अन्य स्वास्थ्य कार्यक्रमों का लाभ लोगों को समुचित रूप से मिलना चाहिए। बैठक में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के ईलाज के लिए सभी जिला चिकित्सालयों में कोरोना आईसोलेशन वार्ड की स्थापना के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। सचिव निहारिका सिंह ने कोरोना आईसोलेशन वार्ड को चिकित्सालयों के अन्य वार्डों से पर्याप्त दूरी एवं अलग रखने को कहा, ताकि जिला चिकित्सालय में आने वाले मरीजों को इससे कोई परेशानी न हो। बैठक में माना रायपुर, मेडिकल कॉलेज राजनांदगांव, मेडिकल कॉलेज जगदलपुर, अम्बिकापुर तथा बिलासपुर में कोविड अस्पताल की तैयारियों की भी समीक्षा की गई। बैठक में संयुक्त सचिव स्वास्थ्य डॉ.सीआर प्रसन्ना, संचालक स्वास्थ्य नीरज बंसोड़,संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ.प्रियंका शुक्ला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

01-04-2020
मध्यप्रदेश सरकार ने सिंगल क्लिक के माध्यम से हितग्राहियों के खातों में ट्रांसफर किए 589 करोड़ रुपए

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंगल क्लिक के माध्यम से विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों के बैंक खाते में कुल 589 करोड़ 3 लाख 8 हजार रुपए की राशि ऑनलाइन ट्रांसफर की। यह राशि आज हितग्राहियों के खातों में प्राप्त हो जाएगी। आधिकारिक जानकारी के अनुसार सीएम चौहान ने कल मंत्रालय से सिंगल क्लिक के माध्यम से विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों के बैंक खाते में यह राशि ट्रांसफर की। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश में लॉकडाउन की स्थिति है। इसके कारण शालाओं में पका हुआ भोजन दिया जाना संभव नहीं है। ऐसे में शासन ने निर्णय लेते हुए आठवीं तक के बच्चों की मध्यान्ह भोजन की राशि उनके अभिभावकों के बैंक खातों में अंतरित कर दी है।

इसी प्रकार रसोईयों को उनके मानदेय की राशि भी शासन की ओर से सीधे उनके खाते में डाल दी गई है। समेकित छात्रवृत्ति योजना की राशि भी विद्यार्थियों के खाते में अंतरित की गई है। मुख्यमंत्री चौहान ने तीनों योजनाओं की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से आज संबंधितों के खातों में भिजवा दी। मुख्यमंत्री ने मध्यान्ह भोजन की हितग्राही बच्ची गीता एवं उसकी मां रमाबाई जिला खरगोन से मोबाइल पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने मिडिल स्कूल रेंगई जिला विदिशा की मध्यान्ह भोजन रसोईया मायाबाई एवं ग्वालियर की प्रेमवती से भी मोबाइल पर बात की तथा बताया कि उनके खाते में मानदेय की 2000 रुपये की राशि पहुंच जाएगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने छात्र अल्केश जिला झाबुआ एवं छात्रा प्राची जिला सीहोर से मोबाइल पर वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत की तथा बताया कि उनके खाते में आज छात्रवृत्ति की राशि पहुंच जाएगी। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास मनोज श्रीवास्तव, सचिव जनसंपर्क पी. नरहरि, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि अरूण शमी, आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री कियावत, अपर संचालक लोक शिक्षण डॉ. कामना आचार्य एवं तकनीकी निदेशक एनआईसी सुनील जैन आदि उपस्थित थे।

28-03-2020
कोरोना से बचने नगर निगम ने की पहल, अब घर बैठे मोबाइल से समान ऑर्डर कर सकेगी जनता

धमतरी। जिला को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जिला प्रशासन, पुलिस, स्वास्थ्य, निगम एवं अन्य विभागों की ओर से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में कलेक्टर रजत बंसल के दिशा निर्देश पर नगर निगम की ओर से एक पहल और की गई है, जिसमें आप घर बैठे किराना सामान का आर्डर कर सकते हैं। निकाय क्षेत्र में निगम की ओर से मोबाइल नंबर 7470739265 के माध्यम से राशन सामानों की फ्री होम डिलीवरी सर्विस दी जा रही है। इसके साथ ही साथ आपके वार्डों के किराना दुकानों की सूची (दुकान का नाम,पता,मोबाइल नं.) भी दिया गया है, जिस क्षेत्र में निवास करते हैं, उस क्षेत्र के किराना (राशन) दुकान के नंबर पर कॉल कर आप घर बैठे ऐसे दुकानदारों को अपने सामानों की सूची को व्हाट्सएप या मैसेज के माध्यम से घर बैठे राशन प्राप्त कर सकते हैं। दुकान संचालक की ओर से आपको सूचित करता है, कि उनके द्वारा पूरी सामग्री की पैकिंग कर दी गई है, तब आप दुकान में स्वयं उपस्थित होकर तुरंत सामान ले आवे। अथवा दुकानदार के पास अगर सहयोगी है तो सहयोगी के माध्यम से प्राप्त कर लेवे। साथ ही निगम आयुुुक्त ने लोगों सेे अपील की है कि किसी भी परिस्थिति में आप अपने घर से दूर के किसी अन्य थोक बाजार में पैसे बचत के नियत से ना जावे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804