GLIBS
21-02-2020
शातिर मोबाइल चोर गिरफ्तार, अब जेल की सलाखों के पीछे

रायपुर। शहर के कबीर नगर थाना क्षेत्र में मोबाइल चोर को पुलिस ने गिरफ्तार जेल भेज दिया है। बता दें कि पिछले दिनों मोबाइल चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी, जिसकी जांच के दौरान आयुष डागा के बारे में पुलिस को सूचना मिली। जब आयुष से कड़ी पूछताछ की गई तो उसने अपना गुनाह स्वीकार कर लिया।

19-02-2020
ऑनलाइन मोबाइल मंगाया था एसईसीएल कर्मी ने,खोलकर देखा तो निकला कुछ और....

कोरबा। शहर के एक एसईसीएल कर्मी को ऑनलाइन मोबाइल मंगाना भारी पड़ गया। जब उसने मंगाए गए सामान का पैकेट खोलकर देखा तो उसमें से दूसरे सामानों के अलावा पत्थर के टुकड़े निकले। दीपका कॉलोनी निवासी अशोक कुमार कश्यप ठगी का शिकार हो गया। अशोक कुमार कश्यप के मोबाइल पर कुछ दिनों पहले एक अंजान व्यक्ति का कॉल आया। इसमें उसे ऑफर के तहत कंपनी से ऑनलाइन  मे सस्ते दर पर मोबाइल उपलब्ध कराने की बात कही गई थी। इस बात से सस्ते मोबाइल मिलने के झांसे में आकर अशोक कुमार ने 42 सौ रुपए बताए हुए पते पर पोस्ट ऑफिस में जाकर पैसा जमा कराकर  पार्सल अपने हाथ में लिया। घर में जाकर उसने पार्सल खोला तो उसके होश उड़ गए। दरअसल पार्सल में मोबाइल की जगह एक बेल्ट और दो सस्ते पर्स तथा ईंट पत्थर निकले। जब अशोक कुमार को अपने ठगे जाने का एहसास हुआ तो उसने संबंधित मोबाइल नंबर पर फोन किया। लेकिन उसे कोई जवाब नहीं मिला। अशोक कुमार अपनी शिकायत लेकर एसपी कार्यालय पहुंचा और उसने मामले की लिखित शिकायत की।

 

 

17-02-2020
जल्लाद मां मासूम बच्ची को छोड़कर गायब, चाइल्ड होम में अब बच्ची

रायपुर। भाटापारा के दामाखेड़ा में कबीरपंथ समाधि स्थल में अज्ञात महिला ने 4 माह की मासूम को छोड़कर नौ दो ग्यारह हो गई। फिलहाल पुलिस ने मामले की रिपोर्ट के बाद बच्ची को महासमुंद चाइल्ड होम सौंप दिया है, वहीं सीसीटीवी के फुटेज खंगालना शुरू कर दिया है। बता दें कि शनिवार को कबीर धर्मनगर दामाखेड़ा में कबीरपंथी आश्रम के पुजारी जीवन दास साहेब मोबाइल से कॉल कर पुलिस को सूचना दी कि समाधि स्थल पर किसी ने मासूम बच्ची को छोड़ दिया है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर समाधि स्थल से 4 माह की मासूम बच्ची को अपनी देखरेख में महासमुंद चाइल्ड होम को सौंप दिया है। अज्ञात महिला ने भोजन करने के लिए गए आश्रम में पुजारी के मौके का फायदा उठाकर बच्ची को चुपचाप छोड़कर चली गई। पुजारी के भोजन करके वापस आते ही उन्होंने बच्ची के रोने की आवाज सुनकर समाधि स्थल में जाकर देखा तो कपड़े में लिपटी हुई मासूम दिखी। आसपास पूछताछ के बाद पता नहीं चलने की स्थिति में पुजारी ने पुलिस को मामले की सूचना दी। पुलिस ने बच्चे का मेडिकल चेकअप करवाकर चाइल्ड होम महासमुंद को सौंप दिया है। ज्ञातव्य है कि कबीर धर्मनगर दामाखेड़ा में 10 दिवसीय विश्व प्रसिद्ध संत समागम मेले का समापन हुआ है। फिलहाल पुलिस लोगों से पूछताछ कर रही है।  

16-02-2020
स्कूल के बच्चों ने नाटक के माध्यम से प्रदूषण सरंक्षण का दिया संदेश

छिंदवाड़ा। गुढ़ी अम्बाड़ा की ग्राम पंचायत पालाचौरई स्थित नेक्स्ट जेनरेशन पब्लिक स्कूल में  रविवार को वार्षिक उत्सव मनाया। इसमें स्कूल के छोटे-छोटे बच्चों ने रंगारंग व मनमोहक प्रस्तुतियां दी। इसमें डांस, कविता व नाटक की प्रस्तुति हुई। बच्चों ने नाटक के माध्यम से प्रदूषण सरंक्षण का संदेश दिया। डांस के माध्यम से मोबाइल के दुष्प्रभाव व बच्चों पर होने वाले बुरे असर के बारे में जागृत करने का प्रयास किया। इसकेे अलावा बच्चों ने फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में तरह-तरह की वेशभूषा धारण की। कार्यक्रम में बीआरसी जुन्नारदेव ओपी जोशी,जनपद सदस्य गौरव सिंह,शिव कुमार राय,मेहताब विश्वकर्मा अतिथि थे। इस अवसर पर नेक्स्ट जेनरेशन पब्लिक स्कूल के डायरेक्टर्स सुधीर तिवारी, विनोद विश्वकर्मा,अजय पवार एवं विद्यालय के शिक्षक,शिक्षिका, पालक सहित स्कूल के छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।


अरविंद वर्मा की रिपोर्ट

15-02-2020
दूरसंचार कंपनियां फिर से बढ़ा सकती है कॉल दरें, रिचार्ज कराना पड़ेगा महंगा

नई दिल्ली। दो महीने के अंदर दूसरी बढ़ोतरी दूरसंचार कंपनियां द्वारा की जा सकती है। एजीआर का भुगतान करने के लिए मोबाइल कंपनियां रिचार्ज शुल्क में 25 फीसदी तक बढ़ोतरी कर सकती है। अगर कंपनियां टैरिफ वाउचर में 10 फीसदी भी इजाफा करती हैं, तो इससे उन्हें अगले 3 वर्षों में 35 हजार करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त होने का अनुमान है। एक्यूट रेटिंग्स एंड रिसर्च ने अनुमान है कि कंपनियां अपने भुगतान का बोझ ग्राहकों पर डाल सकती हैं और आने वाले समय में टैरिफ में एक बार फिर 20 से 25 फीसदी तक इजाफा हो सकता है। इससे पहले 1 दिसंबर, 2019 से कंपनियों ने अपने बिल में 50 फीसदी तक बढ़ोतरी की थी। साथ ही ग्राहकों को मिलने वाली कई तरह की सुविधाओं को भी खत्म कर दिया था। टैरिफ में 25 फीसदी बढ़ोतरी होने पर जियो का मौजूदा 149 रुपये का प्लान 186 रुपये का हो जाएगा। इसी तरह, एयरटेल का 219 रुपये का प्लान बढ़कर 273 रुपये, वोडा आइडिया का 199 वाला प्लान 248 रुपये का हो जाएगा। परामर्श फर्म कॉम फर्स्ट इंडिया के निदेशक महेश उप्पल ने कहा, इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह भारतीय दूरसंचार क्षेत्र के लिए बुरी खबर है। खासतौर पर वोडा आइडिया के लिए परिस्थितियां पहले के मुकाबले बेहद संवेदनशील है, इसे एजीआर के रूप में सबसे ज्यादा 53 हजार करोड़ चुकाने हैं। कंपनी में 45.39 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाली ब्रिटिश इकाई वोडाफोन के सीईओ निक रीड ने पिछले सप्ताह कहा था कि एजीआर के बाद भारत में स्थितियां काफी जटिल हो गई हैं और परिचालन मुश्किल हो रहा है।

वोडा-आइडिया के शेयर 23% गिरे, निवेशकों के 2,988 करोड़ डूबे

एजीआर पर सुप्रीम कोर्ट के सख्त रुख के बाद वोडा आइडिया लिमिटेड के शेयरों 23 फीसदी की गिरावट आई। कंपनी ने गुरुवार को दिसंबर तिमाही में 6,438 करोड़ रुपये के घाटे का खुलासा किया था, जिसका भी निवेशकों पर असर पड़ा। बीएसई पर कंपनी के शेयर 23.21 फीसदी गिरकर 3.44 रुपये प्रति इकाई के भाव पर आ गए। वहीं, एनएसई पर 22.22 फीसदी गिरावट के साथ 3.50 रुपये प्रति शेयर के भाव पर बंद हुआ। इससे कंपनी का बाजार पूंजीकरण 2,988 करोड़ रुपये घटकर 9,884 करोड़ रुपये रह गया। पिछले तीन महीने में कंपनी की कुल आय 5 फीसदी कम हो गई है। हालांकि, भारती एयरटेल के शेयरों में 5 फीसदी से ज्यादा का उछाल दिखा। 

एसबीआई चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि पूंजी जुटाना दूरसंचार कंपनियों पर निर्भर होगा और हो सकता है कि उन्होंने अभी तक इसकी व्यवस्था भी कर ली हो। एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, अब यह दूरसंचार कंपनियों पर निर्भर है कि वे पैसा जुटाने के लिए क्या कदम उठाती हैं। मुझे लगता है कि उन्होंने इंतजाम कर लिया होगा।  कुमार ने कहा कि बैंक ने दूरसंचार क्षेत्र को 29 हजार करोड़ का कर्ज दे रखा है और 14 हजार करोड़ गैर कोष आधारित एक्सपोजर है। कंपनियां अगर अपने एजीआर भुगतान के लिए बैंक से और कर्ज लने की अपील करती हैं, तो उस हालात में इस पर विचार किया जाएगा। एसबीआई के सकल एनपीए में दूरसंचार क्षेत्र की भागीदारी 9,000 करोड़ रुपये की है।

09-02-2020
मुख्यमंत्री ने अभिभावकों से कहा, परीक्षा की तैयारी में बच्चों के सहयोगी बनें, उच्च अंकों का दबाव ना डालें

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी की सातवी कड़ी में परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर के आयाम विषय पर विद्यार्थियों से बातचीत की। मुख्यमंत्री बघेल ने परीक्षा की तैयारी, तनाव से निपटने के उपायों की जानकारी देते हुए बच्चों के पैरेंट्स से कहा कि वे परीक्षा की तैयारी में अपने बच्चों के सहयोगी बने। परीक्षा में उच्च अंक लाने का उन पर दबाव न डाले। मुख्यमंत्री ने बच्चों से कहा कि समय का पूरा सदुपयोग करें, परीक्षा के समय खाना-पीना सादा रखें, हल्का व्यायाम करें। मोबाइल, टीवी आदि से दूर रहें, जिससे आंखों को आराम मिले और दिमाग भी शांत रहे। बच्चे अपना पूरा प्रयास करें अधिक अंक मिले तो अच्छा है और न मिले तो भी अच्छा है। इससे कुछ बनता बिगड़ता नहीं है। बिना उच्चतम अंक पाए बहुत से लोग अपने बेहतर कार्यों के दम पर शिखर पर पहुंचे हैं। प्रदेश के विभिन्न शहरों और गांवों के बच्चों ने मुख्यमंत्री से अनेक सवाल पूछे जिनका मुख्यमंत्री ने सिलसिलेवार जवाब दिया। भूपेश बघेल ने बच्चों के साथ चर्चा करते हुए कहा कि मैं चाहता हूं कि ज्यादा से ज्यादा समय आपके साथ बिताऊ। बच्चों के साथ बातचीत करने से मुझे भी अपने बचपन के दिन याद आते हैं।

08-02-2020
अब बिना एटीएम के निकाल सकेंगे कैश

गुना। भारतीय स्टेट बैंक ने एक ऐप चालू किया है। योनो ऐप के जरिए एसबीआई के ग्राहक एटीएम पर जाकर अपने मोबाइल से ही पैसा निकाल सकेंगे। अब एटीएम मशीन में अपना एटीएम कार्ड नहीं लगाना पड़ेगा। इस जानकारी को लेकर गुना पुलिस लाइन में एक अवेयरनेस कैंप लगाया गया। इसमें पुलिस के कर्मचारियों और अधिकारियों को योनो एप के जरिए ट्रांजैक्शन करने की जानकारी दी गई। इस एप के कई फायदे हैं। इससे एटीएम के द्वारा होने वाली धोखाधड़ी से बचा जा सकता है।

 राकेश किरार की रिपोर्ट

08-02-2020
नया मोबाइल 1 महीने में हुआ खराब, उपभोक्ता फोरम ने लगाया रु. 30 हजार का हर्जाना

दुर्ग। सोनी कंपनी के नये मोबाइल में खरीदे जाने के 1 महीने बाद वारंटी अवधि के दौरान तकनीकी समस्या आ गई, जिसे रिप्लेस करके दूसरा मोबाइल दिया गया और दूसरा मोबाइल भी खराब निकला। इसके बाद बदलकर तीसरा मोबाइल परिवादी को दिया गया और तीसरे मोबाइल में भी एक महीने में ही खराबी आ गई। मैन्युफैक्चरिंग डिफेक्ट वाला मोबाइल बेचने और डिफेक्ट दूर नहीं कर पाने के लिये दुकानदार, सर्विस सेंटर एवं निर्माता कंपनी को जिला उपभोक्ता फोरम दुर्ग के अध्यक्ष लवकेश प्रताप सिंह बघेल, सदस्य राजेन्द्र पाध्ये और लता चंद्राकर ने व्यवसायिक कदाचरण एवं सेवा में निम्नता का जिम्मेदार माना और 30 हजार रुपये हर्जाना लगाया।

परिवाद के मुताबिक सेक्टर 7 भिलाई निवासी एन. रामाराव ने दुकानदार सेमीकंडक्टर वर्ल्ड सुपेला भिलाई से सोनी एक्सपीरिया एम 5 मोबाइल 18 जुलाई 2016 को 25500 रुपये में खरीदा था, एक महीने बाद 23 अगस्त 2016 को मोबाइल का कैमरा खराब हो गया, जिसके बाद परिवादी को  22 सितंबर 2016 को उसी कंपनी का दूसरा मोबाइल बदल कर दिया गया और यह मोबाइल भी 26 सितंबर 2016 को खराब हो गया जिसकी शिकायत करने पर सर्विस सेंटर विकास इंटरप्राइजेस ने रिपेयरिंग हेतु मोबाइल रख लिया और 4 नवंबर 2016 को बदलकर फिर एक मोबाइल परिवादी को दिया, यह मोबाइल भी उपयोग करते समय गर्म होकर बंद हो जाता था, जिसकी शिकायत करने पर सर्विस सेंटर ने मोबाइल जमा कर लिया और कोई समाधान नहीं किया। प्रकरण में दुकानदार सेमीकंडक्टर वर्ल्ड ने कोई जवाब पेश नहीं किया लेकिन सर्विस सेंटर विकास इंटरप्राइजेस और निर्माता कंपनी सोनी इंडिया ने प्रकरण में उपस्थित होकर यह बचाव लिया कि परिवादी द्वारा जब भी शिकायत की गई तब सर्विस सेंटर द्वारा तुरंत कार्यवाही करते हुये परिवादी की समस्या का समाधान निःशुल्क किया गया। अनावेदकगण नया हैंडसेट फुल वारंटी के साथ देने को तैयार हैं।

जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष लवकेश प्रताप सिंह बघेल, सदस्य राजेन्द्र पाध्ये एवं लता चंद्राकर ने सर्विस सेंटर के जवाब एवं प्रकरण में पेश दस्तावेजों के आधार पर यह पाया कि परिवादी के मोबाइल में खरीदी पश्चात वारंटी अवधि में ही गंभीर तकनीकी एवं निर्माणगत त्रुटि की समस्या आई थी, जिसके चलते दो बार मोबाइल बदलकर दिया गया और दोनों बार बदल कर दिए गए मोबाइल भी खराब निकले, तीसरी बार जब मोबाइल खराब हुआ तो अनावेदकगण ना तो उसकी खराबी दूर करने के प्रति गंभीर थे और ना ही उन्होंने परिवादी को बदलकर नया मोबाइल दिया, यह व्यवसायिक कदाचार है। जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष लवकेश प्रताप सिंह बघेल, सदस्य राजेन्द्र पाध्ये एवं लता चंद्राकर ने मोबाइल की कीमत रु. 24225, मानसिक क्षतिपूर्ति स्वरूप रु. 5000, तथा वाद व्यय के रूप में रु. 1000 कुल मिलाकर राशि रु. 30225 अनावेदकगण पर हर्जाना लगाते हुए एक माह के भीतर 6 प्रतिशत वार्षिक ब्याज सहित परिवादी को अदा करने का आदेश दिया।

07-02-2020
200 से अधिक स्कूलों में एनिमेशन के जरिए पढ़ेंगे बच्चे

रायपुर। राज्य के प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक शालाओं के बच्चों में एनिमेशन के प्रति रूचि को देखते हुए अब उन्हें इसी पैटर्न पर पढ़ने नई तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। जटिल टॉपिक को रूचिकर बनाने के लिए जिज्ञासा परियोजना अंतर्गत कम्प्यूटर और मोबाइल के माध्यम से एनिमेशन से कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों को शिक्षा दिए जाने का प्रावधान किया गया है। जिज्ञासा परियोजना के तहत चिन्हांकित स्कूलों में मनोरंजन के साथ-साथ पढ़ाई के लिए पाठ्यक्रम पर केन्द्रित अलग-अलग गेम बनाए गए हैं, जो एनिमेशन आधारित हैं। जिज्ञासा परियोजना में राज्य के 200 प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक स्कूलों का चिन्हांकन किया गया है। इस परियोजना के तहत चयनित किए गए स्कूलों के बच्चों को एनिमेशन से पढ़ाया जाएगा। खेल-खेल में बच्चों को गतिविधियां सिखाई जाएगी। डिजिटल पैटर्न पर तैयार किए गए खेल ग्रामीण परिवेश में हैं, बच्चे टाईपिंग करना और माउस चलाना सीखेंगे। उद्देश्य है कि बच्चे कम्प्यूटर फ्रैण्डली बने। जिज्ञासा परियोजना अंतर्गत रायपुर जिले के 90 स्कूलों के 140 प्रधानपाठक और संकुल समन्वयकों को राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद में दो दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण में डिजिटल माध्यम से शिक्षण के विधिओं को बताया और समझाया गया।

स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी ने बताया कि जिज्ञासा परियोजना के तहत जिला रायपुर में 90, दुर्ग में 100 और राजनांदगांव में 10 प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक चयनित की गई है। कक्षा पहली से आठवीं तक प्रारंभिक स्कूली शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के लिए यह परियोजना संचालित की जा रही है। परियोजना के माध्यम से डिजिटल शिक्षण विधियां बतायी जाएगी। वोडाफोन-आइडिया के कापोर्रेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत संस्था आईपीई ग्लाबल सेंटर फॉर नॉलेज एडं डेव्हलपमेंट द्वारा यह कार्यक्रम तैयार किया गया है। शिक्षकों की शिक्षण विधि और कौशल में डिजिटल माध्यम में उपलब्ध संसाधनों का उपयोग कर गुणात्मक सुधार लाना इसका मुख्य उद्देश्य है। परियोजना के तहत शिक्षकों और विद्यार्थियों की बौद्धिक क्षमता विकास के माध्यम से स्कूलों में शिक्षण प्रक्रिया में सुधार लाना, एक मेंटरशिप मॉडल के माध्यम से मजबूत राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय कार्यक्रम विकसित करना है। डिजिटल तकनीक के माध्यम से शिक्षकों और विद्यार्थियों की क्षमताओं को समृद्ध करना उनका मुख्य उद्देश्य है।

06-02-2020
शहीद भगत सिंह बन फांसी पर लटका 12 साल का छात्र, वजह जान कर हो जाएंगे हैरान...

भोपाल। मध्यप्रदेश के मंदसौर स्थित एक प्राइवेट स्कूल में वार्षिकोत्सव समारोह के लिए शहीद भगत सिंह नाटक का मंचन हुआ। शहीद भगत सिंह नाटक में 12 साल के एक छात्र ने अंग्रेज सिपाही का रोल निभाया। नाटक के बाद भगत सिंह की भूमिका का रोल निभाते हुए छात्र फांसी पर लटकने की सीन करने की कोशिश करने लगा। फांसी पर लटकने की सीन करने की कोशिश के दौरान दुर्घटनावश फंदा लगा और छात्र की जान चली गई। प्रियांशु के पिता ने बताया कि शिक्षकों ने एक फरवरी को नाटक में भाग लेने के लिए उसे शामिल किया। दूसरे दिन दोपहर में खेत के पास वह स्कूल के नाटक का वीडियो देख रहा था। उसने भगत सिंह की भूमिका निभाते हुए फांसी पर लटकने का सीन करने की कोशिश की। सीन करने से पहले 12 साल के छात्र को ये नहीं पता था कि चंद पल की लापरवाही उसकी जान पर भारी पड़ जाएगी

पुलिस के अनुसार प्रियांशु ज्ञानसागर स्कूल का छात्र था। नाटक के मंचन के बाद वह खेत में बने टपरे में अपने नाटक का वीडियाे देख रहा था। वीडियो देखते हुए उसके मन में फांसी का सीन करने की कोशिश हुई। उसने पास में ही बल्ली पर रस्सी डाली। वह जिस खटिया पर खड़े होकर बल्ली पर रस्सी डाल रहा, अचानक वह खटिया दूसरी तरफ से उठ गई। खटिया उठने से प्रियांशु का संतुलन बिगड़ने लगा। देखते ही देखते वह फंदे पर झूूल गया। थोड़ी देर बाद खेत में काम कर रहे प्रियांशु के चाचा की नजर पड़ी तो मानो उनके पैर तले जमीन खिसक गई। भतीजे को फांसी पर लटका देख उसने पुलिस को सूचना दी। पुलिस जांच में सामने आया कि फांसी से पहले प्रियांशु मोबाइल में भगत सिंह पर आधारित नाटक का वीडियो देखा था। स्कूल के प्राचार्य अरुण जैन का कहना है कि प्रियांशु स्कूल कम ही आता था। उसके पिता के कहने पर ही हमने उसे नाटक में अंग्रेज सिपाही का रोल दिया था। नाटक में भी फांसी वाला कोई सीन नहीं था। प्रियांशु के मन में यह बात कहां से आई, यह समझ से परे है।

 

06-02-2020
मानक ज्वेलर्स में हुई चोरी के मामले में पुलिस ने एक को किया गिरफ्तार

जगदलपुर। शहर में 22 जनवरी को ठाकुर स्थित मानक ज्वेलर्स में दो लाख रुपये के सोना चोरी के मामले में एक आरोपी संजू नामदेव को पुलिस ने नागपुर से गिरफ्तार कर लिया है। इस आरोपी तक पुलिस के पहुंचने की कहानी बेहद दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण रही पुलिस ने आरोपियों तक पहुंचने में साइबर सेल का अहम रोल रहा। वारदात के दिन को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने इस दिन nh30 में सक्रिय सभी मोबाइल के बारे में जानकारी जुटाई। इसके बाद ऐसे नंबर जो लगातार इस सड़क में आगे बढ़ते रहे उनका नंबर निकाला जिसके बाद हासिल हुआ सारे डेटा को लगातार 5 दिन तक खंगाला। कोतवाली पुलिस ने घटना के आठवें दिन इस डाटा को डीकोड किया फिर कहीं आरोपी के नंबर तक पहुंच सके। 1 फरवरी को कोतवाली से 4 लोग की टीम नागपुर पहुंची और यहां के नंदनवन इलाके में संजू नामदेव निहारे को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। आरोपी से पूछताछ पूरी करने के बाद उसे न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे न्यायालय रिमांड में जेल भेज दिया गया।

 

03-02-2020
ट्रेन की छत पर चढ़ा और ले रहा था सेल्फी, करेंट की चपेट में आने से गई जान

रायपुर। आजकल के युवाओं में सेल्फी की दीवानगी इस कदर बढ़ चुकी है कि वे कभी ट्रेन की छत पर तो कभी बांध के पुल और नदियों के बीच खतरनाक स्थिति में सेल्फी लेने के चक्कर में अपनी जान गवां रहे है। बावजूद इसके सेल्फी का क्रेज खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। बता दें कि बिलासपुर जिले के बेलगहना रेलवे स्टेशन में खड़ी ट्रेन के ऊपर चढ़कर सेल्फी ले रहा किशोर ओएचई तार की चपेट में आ कर बुरी तरह झुलस गया। किशोर को हादसे के बाद सिम्स अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

तखतपुर क्षेत्र के ग्राम हरदी निवासी धनराज बघेल 16 वर्ष ने 29 जनवरी को अपने बड़े पिता एवं अन्य लोगों के साथ पंथी नृत्य के कार्यक्रम में शामिल होने बेलगहना के पास गांव गया था। किशोर कार्यक्रम में शामिल होने के बाद सभी लोगों के साथ गांव लौटने के लिए बेलगहना रेलवे स्टेशन में ट्रेन का इंतजार कर रहा था। उस समय रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म में डीजल इंजन वाली ट्रेन खड़ी थी। धनराज अपने मोबाइल से सेल्फी लेने के लिए इंजन के पास पहुंचा और उसके बाद ट्रेन के ऊपर चढ़ गया। बता दें कि उत्सुकता के कारण धनराज डीजल इंजन को देखकर भूल गया कि ऊपर ओएचई तार में करंट प्रभावित हो रहा है, जिसके कारण वह डीजल इंजन में चढ़कर मोबाइल से सेल्फी लेने लगा। करंट की चपेट में आने से किशोर बुरी तरह से झुलस कर बेहोश हो गया। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804