GLIBS
15-10-2020
मनरेगा डीएमएफ और विशेष केन्द्रीय सहायता के अभिसरण से नहरों का हो रहा जीर्णोद्वार

बीजापुर। जिले के अंदरूनी गावों में रोजगार,आजीविका संवर्धन और सामुदायिक एंव निजी परिसंपतियों के निर्माण के साथ ही मनरेगा किसानों को भी खुश होने का मौका दे रही है। प्रदेश मे मनरेगा और विभिन्न विभागों के अभिसरण से खेती-किसानी की मजबूती, एवं उत्पादन में बढ़ोत्तरी के साथ किसानों की आय में वृद्धि के लिए भी अनेक काम किए जा रहे हैं। मनरेगा से बारिश के भरोसे रहने वाले बीजापुर के किसानों के खेतों तक भी नहर के माध्यम से पानी पहुंचाने की व्यवस्था हो रही है। इससे वहां के किसान बहुत खुश है। जल संसाधन संभाग बीजापुर के अंतर्गत 24 तालाब, 3 नत्र व्यपवर्तन योजना, 1 उद्वहन सिंचाई योजना, 1 नहर विस्तार कुल 29 लघु सिंचाई योजनाएं के साथ ही 3 स्टापडेम एवं 5 एनीकट निर्मित है। परन्तु सिंचाई परियोजनाओं में निर्मित कई नहर लगभग अस्तित्वहीन है तथा कई जलाशयों के स्लूस गेट क्षतिग्रस्त होने से जल रिसाव के कारण 5480 हैक्टेयर रुपांकित क्षेत्र में से औसत 1000 हेक्टेयर रकबा में सिंचाई होता है। स्थल की आवश्यकता के अनुरुप वित्तीय वर्ष 2019-20 में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना एवं कन्वर्जेंस के मद में जिले के विकासखण्ड भैरमगढ़ स्थित कोडोली क्र.1, कोडोली क्र.2 एंव मिरतुर जलाशय के 3.80 किमी एंव विकासखण्ड बीजापुर स्थित दोगोली, ईटपाल एवं पापनपाल जलाशय के 2.60 किमी एवं विकासखण्ड भोपालपटनम स्थित वरदली,दम्मूर एंव सकनापल्ली जलाशय के 3.40 किमी नहरों में 49 कार्यों के कुल 9.80 किमी में सीसी लाइनिंग कार्य किया जा रहा है, जिससे बीजापुर जिले में लगभग 799 हेक्टेयर क्षेत्र को पुनरस्थापित किया जा रहा है, इससे लगभग 600 किसान लाभान्वित होगें तथा ईटपाल,पापनपाल एवं मिरतुर तालाब में क्षतिग्रस्त जलद्वार को तोड़कर नई जल द्वार बनाये जाने से कृषकों में हर्ष व्याप्त हैै। एनएमडीसी मद में ग्राम वेंगला में एनीकट निर्माण कार्य पूर्ण होने से कृषक अपने स्वयं के साधन (पंप) से 60 हेक्टेयर क्षेत्र के लगभग 50 किसान लाभान्वित हो रहे हैं तथा खनिज मद में स्वीकृत मेटलाचेरू नहर निर्माण से 160 हेक्टेयर क्षेत्र के अनुमानतः 140 किसान लाभान्वित हो रहे है।जल संसाधन विभाग के ईई सुमन ने बताया कि मार्च के बाद लॉकडाउन के दौरान भी किसानों की मांग को देखते हुए नहरों का विस्तार किया गया वही 3 स्टापडेम एंव 5 एनीकेट का भी निर्माण किया गया सारे कार्यो में गुणवत्ता के साथ कराए गए है और अब इनसे सैकड़ो किसानों को पानी मिलेगा।

15-10-2020
सीआरपीएफ के जवानों ने लर्निंग स्टेशन कम्युनिटी कंप्यूटर सेंटर का किया उद्घाटन

बीजापुर। जिले के ग्राम पिनकोंडा में सीआरपीएफ 199 बटालियन के जवानों ने लर्निंग स्टेशन कम्युनिटी कंप्यूटर सेंटर का उद्घाटन किया। दूर-दराज के जनजातीय क्षेत्रों में जहां मूलभूत सुविधाओं की बेहद कमी है,वहां पर कंप्यूटर सेंटर तथा इंटरनेट प्रिंटिंग की सुविधा मुहैया करवाना केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल की अनेकों उपलब्धियों में से एक है।इस अवसर पर मुख्यअतिथि के रूप में शामिल सीआरपीएफ के डीआईजी कोमल सिंह ने समारोह में आए लोगों को संबोधित किया। उन्होंने जानकारियों को जन-जन तक पहगुंचाने की इस पहल का स्वागत किया। साथ ही उपस्थित लोगों से इस सेवा का भरपूर लाभ लेने की भी अपील की।
समारोह में कमांडेंट 199 बटालियन लालचंद यादव ने लोगों को इसके फायदे के बारे में जानकारी दी। साथ ही उन्होंने बताया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के सौजन्य से इस कंप्यूटर सेंटर के खुलने से अंदरूनी क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों,युवाओं,बेरोजगारों तथा गरीब अशिक्षित पिछड़े लोगों को जन-कल्याणकारी नीतियों के बारे में जानकारी प्राप्त हो सकेगी। युवाओं को रोजगार संबंधी समाचार तथा विद्यार्थियों को ऑनलाइन ट्यूशन क्लासेस की जानकारी इस कंप्यूटर सेंटर से उपलब्ध हो सकेगी।इस कंप्यूटर सेंटर में इंटरनेट के साथ-साथ प्रिंटर की सुविधा भी उपलब्ध है।यादव ने कहा की लर्निंग स्टेशन कम्युनिटी सेंटर से सर्वाधिक लाभ उन विद्यार्थियों को मिल सकेगा,जो यातायात एवं जरूरी मूलभूत सुविधाओं की कमी के कारण अपनी पढ़ाई तथा भविष्य अधर में महसूस करते हैं। इस लर्निंग सेंटर की उपलब्धता से लोगों का सामाजिक दायरा बढ़ेगा, शिक्षा के नए आयाम जुड़ेंगे तथा जीवन का स्तर सुधरेगा। एक आम आदमी देश दुनिया से हर वक्त जुड़ा रहेगा। 199 बटालियन केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल का यह सराहनीय कदम लोगों के दिल में एक विशेष जगह बनाने वाला है। इसका एहसास इस बात से लगाया जा सकता है कि आज पहले दिन लोगों की भारी मौजूदगी ने इस कार्यक्रम को सफल बनाया।इस दौरान डीआईजी (परिचालन) कोमल सिंह मुख्य रूप से मौजूद रहे। इसके साथ ही सीआरपीएफ पातुरपारा के कमांडेंट लालचंद यादव, देवेंद्र सिंह पाल द्वितीय कमान अधिकारी तथा कपिल देव खांडल सहायक कमांडेंट भी उपस्थित रहे।

 

10-10-2020
स्थाई वारंटी नक्सली गिरफ्तार

रायपुर/बीजापुर। जिले में चलाए जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत ग्राम कोकरा मनकेली की ओर एरिया डॉमिनेशन पर जिला बल एवं केरिपु 85 बटालियन की संयुक्त टीम रवाना हुई थी। ग्राम ईशुलनार से एक नक्सली मड़कम मुन्ना को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार नक्सली मड़कम मुन्ना थाना बीजापुर क्षेत्रान्तर्गत ईशुलनार एवं मनकेली के मध्य जंगल में पुलिस पर हमला करने की घटना में शामिल था। जिस पर थाना बीजापुर में स्थाई वारंट लंबित था, उसे  कार्यवाही के बाद न्यायालय में पेश किया गया।

09-10-2020
प्रदेश में अब तक 1260.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज

रायपुर। प्रदेश के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष में संकलित जानकारी के अनुसार प्रदेश में एक जून से अब तक कुल 1260.5 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। प्रदेश में सर्वाधिक बीजापुर जिले में 2309.2 मि.मी. और सबसे कम सरगुजा में 896.5 मि.मी. औसत वर्षा अब तक रिकार्ड की गई है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 1386.4 मि.मी., बलरामपुर में 1177.7 मि.मी., जशपुर में 1408 मि.मी., कोरिया में 1112.7 मि.मी., रायपुर में 1074.7 मि.मी., बलौदाबाजार में 1097.9 मि.मी., गरियाबंद में 1251.4 मि.मी., महासमुन्द में 1314.4 मि.मी., धमतरी में 1162.5 मि.मी., बिलासपुर में 1299.8 मि.मी., मुंगेली में 941.4 मि.मी., रायगढ़ में 1243.8 मि.मी., जांजगीर-चांपा में 1379.1 मि.मी. तथा कोरबा में 1397.2 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है।

इसी प्रकार गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही में 1080 मि.मी., दुर्ग में 1016.6 मि.मी., कबीरधाम में 1006.8 मि.मी., राजनांदगांव में 946.5 मि.मी., बालोद में 1058.6 मि.मी., बेमेतरा में 1100.7 मि.मी., बस्तर में 1429.2 मि.मी., कोण्डागांव में 1539.1 मि.मी., कांकेर में 1047.9 मि.मी., नारायणपुर में 1450.1 मि.मी., दंतेवाड़ा में 1608.7 मि.मी. तथा सुकमा में 1557.6 मि मी  औसत दर्ज की गई है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित की गई जानकारी के अनुसार प्रदेश के विभिन्न जिलों में आज 09 अक्टूबर को सुबह रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार सरगुजा में 12.3 मि.मी., सूरजपुर में 16.8 मि.मी, बलरामपुर में 28.5 मि.मी, जशपुर में 3.1 मि.मी, कोरिया में 5.1 मि.मी., रायपुर में 0.6 मि.मी., बलौदाबाजार में 3.0 मि.मी., गरियाबंद में 4.3 मि.मी., महासमुन्द में 1.6 मि.मी, बिलासपुर में 1.2 मि.मी, रायगढ़ में 0.2 मि.मी, जांजगीर चांपा में 4.7 मि.मी., कोरबा में 20.0 मि.मी, दुर्ग में 0.7 मि.मी., कबीरधाम में 0.2 मि.मी, राजनांदगांव में 4.9 मि.मी, बेमेतरा में 0.6 मि.मी., बस्तर में 1.4 कोंडागांव में 3.3 मि.मी., कांकेर में 8.9 मि.मी., नारायणपुर 1.1 मि.मी., दंतेवाड़ा में 2.8 मि.मी., सुकमा में 2.0 मि.मी., और बीजापुर में 5.7 मि.मी., औसत वर्षा दर्ज की गई।

06-10-2020
Breaking : नक्सलियों ने अपने ही 6 साथियों को उतारा मौत के घाट

रायपुर/जगदलपुर। बीजापुर-सुकमा इलाके में नक्सलियों ने अपने ही 6 साथियों को मौत के घाट उतारा है। सूत्रों की माने तो आगे भी नक्सली ऐसी घटनाओं को अंजाम दे सकते हैं। बता दें कि इन दिनों नक्सलियों ने कई ग्रामीणों को पुलिस का मुखबीर बताकर मौत के घाट उतार दिया।

04-10-2020
सबसे अधिक बीजापुर में बरसे बादल और कम सरगुजा में, जून माह से 1224.4 मिमी. औसत वर्षा रिकार्ड

रायपुर। प्रदेश में 1 जून से अब तक कुल 1224.4 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। प्रदेश में सर्वाधिक बीजापुर जिले में 2274.8 मिमी. और सबसे कम सरगुजा में 852.5 मि.मी. औसत वर्षा अब तक रिकार्ड की गई है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार 1 जून से अब तक सूरजपुर में 1341.0 मिमी., बलरामपुर में 1114.1 मिमी., जशपुर में 1363.2 मिमी., कोरिया में 1078.4 मिमी., रायपुर में 1043.5 मिमी., बलौदाबाजार में 1078.1 मिमी., गरियाबंद में 1213.4 मिमी., महासमुंद में 1290.9 मिमी., धमतरी में 1123.7 मिमी., बिलासपुर में 1248.5 मिमी., मुंगेली में 907.6 मिमी., रायगढ़ में 1225.3 मिमी., जांजगीर-चांपा में 1342.8 मिमी. और कोरबा में 1360.3 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसी प्रकार गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में 1059.2 मिमी., दुर्ग में 1004.2 मिमी., कबीरधाम में 963.4 मिमी., राजनांदगांव में 923.1 मिमी., बालोद में 1021.2 मिमी., बेमेतरा में 1077.1 मिमी., बस्तर में 1384.9 मिमी., कोण्डागांव में 1489.1 मिमी., कांकेर में 1026.7 मिमी., नारायणपुर में 1405.1 मिमी., दंतेवाड़ा में 1560.1 मिमी. और सुकमा में 1522.0 मि मी औसत दर्ज की गई है।

03-10-2020
Breaking : जनवरी से सितंबर तक 128 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण : सुंदरराज

रायपुर/दंतेवाड़ा। जिले में विगत 5 वषों में नक्सलवाद छोड़कर जितने नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया उससे कहीं अधिक नक्सलियों ने इस वर्ष 9 महीने के अंतराल में आत्मसमर्पण किया है। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार 1 जनवरी 2020 से सितंबर 2020 तक कुल 128 नक्सलियों ने हिंसा छोड़ समाज की मुख्यधारा में लौटे हैं। जबकि विगत 5 वषोंं में कुल 116 नक्सलियों ने ही आत्मसमर्पण किया था। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दंतेवाड़ा पुलिस द्वारा चलाए जा रहे लोन वर्राटू अभियान सबसे ज्यादा कारगर साहिब हुआ है। इस अभियान के शुरू होने के बाद से विगत 3 महीने में 109 नक्सलियों ने हिंसा छोड़कर आत्मसमर्पण किया है। नक्सलवाद के साथ जुड़कर हिंसा के रास्ते पर चल पड़े दंतेवाड़ा के ग्रामीण युवाओं का अब नक्सलवाद से मोह भंग हो रहा है। इसका अंदाजा आत्मसमर्पण के आंकड़ों से लगाया जा सकता है। 

उल्लेखनिय है कि बस्तर संभाग के नक्सल प्रभावित जिले जिसमें सबसे ज्यादा बीजापुर और सुकमा जिला नक्सल प्रभावित माना जाता है, जहां इन दिनों नक्सलियों के द्वारा हत्या का अनवरत सिलसिला जारी है। यहां नक्सलियों के मध्य फूट पड़ने की भी जानकारी मिल रही है, जिसके कारण नक्सलियों ने अपने ही 8 लाख के ईनामी नक्सली कमांडर मोडय़ामी विच्चा की गोली मारकर हत्या कर दी। लेकिन बीजापुर और सुकमा जिला सबसे अधिक नक्सल प्रभावित होने के बावजूद आत्मसमर्पण की संख्या कम है। वहीं दूसरी ओर नारायणपुर जिले में भी आत्मसमर्पण कम हुए हैं। कोंड़ागांव और कांकेर जिला भी इसमें पीछे हैं। सबसे कम नक्सल प्रभावित बस्तर जिला माना जाता है, जहां यदा-कदा नक्सली वारदात देखने को मिलती है।
बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि हिंसा का रास्ता छोड़कर इस वर्ष 2020 में सबसे अधिक नक्सलियों की घर वापसी हुई है। उन्होंने बताया कि हिंसा छोड़कर समाज की मुख्यधारा में वापस लौटे आत्मसर्मपित नक्सलियों में 8 लाख के इनामी कोसा मरकाम, मल्ला, लक्ष्मण, नंदा, साधु सहित अन्य का कहना है कि नक्सली दबाव व बहकावे में वे भटक गए थे। हिंसा में कुछ भी नहीं रखा है, बल्कि हमने अपनों का ही खून बहाया है।

02-10-2020
जिला पंचायत परिसर में भजन गाकर मनाई गई गांधी जयंती

बीजापुर। जिला पंचायत परिसर बीजापुर में गांधी जयंती पर जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम व उपाध्यक्ष कमलेश कारम व सदस्य बी पुष्पा राव, मुख्य कार्यपालन अधिकारी पोषण चंद्राकर ने महात्मा गांधी के तैल चित्र पर दीप प्रज्वलित कर याद किया। इस अवसर पर गांधी के प्रिय भजन वैष्णो जन तेने कहिये पीर पराई जाने रे का गायन किया गया।


 

02-10-2020
युवा कांग्रेस बीजापुर ने मोदी,योगी का फूंका पुतला, की नारेबाजी

बीजापुर। जिला युवक कांग्रेस बीजापुर ने हाथरस में राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा पर किए गए धक्का मुक्की के विरोध में शुक्रवार को नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ का पुतला दहन किया। जिला कांग्रेस अध्यक्ष लालू राठौर ने कहा सत्ता लोभी भाजपा की गुंडागर्दी खुलेआम दिख रही है। इसकी जितना निंदा की जाए कम है। भाजपा की तानाशाही रवैया के खिलाफ विरोध की आवाज को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। बीजापुर जिला अध्यक्ष मोहम्मद एजाज अहमद सिद्दीकी ने कहा कि भाजपा ने जो आज हरकत की है उससे पूरे देश में तीव्र निंदा हो रही है। भाजपा ने विपक्षी पार्टी एवं आम नागरिक की आवाज उनके अधिकार को कुचलने और दबाने का प्रयास किया है।

उक्त कार्यक्रम में मुख्य रूप से जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष लालू राठौर,प्रदेश कांग्रेस सचिव अजय सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुडियम, जिपं. उपाध्यक्ष कमलेश कारम, नगर पालिका अध्यक्ष बेहनुर रावतिया, उपाध्यक्ष नगर पालिका पुरषोत्तम सल्लुर, पार्षद प्रवीण डोंगरे, मोहम्मद एजाज अहमद सिद्दीकी, सन्तोष गुप्ता, मनोज अवलम,जितेंद्र हेमला, विनोद बड्डदी,ऋषभ कुंमार, सदाशिव राणा,वीरेंद्र ठाकुर,केसव कुमार के अलावा अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।

29-09-2020
पत्रकार से मारपीट की घटना पर बीजापुर के पत्रकारों ने जताया विरोध,राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन

बीजापुर। पत्रकार के साथ हुए दुर्व्यवहार की घटना को लेकर मंगलवार को बीजापुर प्रेस क्लब ने राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा और विरोध जताया। प्रेस क्लब अध्यक्ष सतेंद्र पंत के नेतृत्व में पत्रकारों ने एसडीएम डॉ.हेमेंद्र भुआर्या को ज्ञापन सौंपा। इसमें घटना का जिक्र करते हुए दोषियों के विरुद्ध धारा 307 कायम करते उनकी यथाशीघ्र गिरफ्तारी की मांग की। प्रदेश में पत्रकारों से दुर्व्यवहार, मारपीट,राजनीतिक षड्यंत्र के विरुद्ध शीघ्र पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की मांग की गई। घटना पर रोष व्यक्त करते प्रेस क्लब अध्यक्ष सतेंद्र पंत ने कहा कि कांकेर में जो कुछ भी हुआ,वह सीधे तौर पर लोकतंत्र पर हमला है। महासचिव पुष्पा ने घटना को निंदनीय करार देते कहा कि लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ को बचाए रखने और समाज मे स्वस्थ्य,जिम्मेदार और निर्भीक पत्रकारिता के लिए आवश्यक है कि प्रदेश में प्राथमिकता से पत्रकार सुरक्षा कानून लागू हो। पूर्व प्रेस क्लब अध्यक्ष गणेश मिश्रा का कहा कि घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। इस दौरान बीजापुर जिले के समस्त पत्रकार मौजूद थे। सभी ने एक स्वर में पत्रकार कमल शुक्ला को न्याय दिलाने आंदोनरत रहने का संकल्प भी दोहराया।

 

29-09-2020
प्रदेश में अब तक 1208.9 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीजापुर में सर्वाधिक और सरगुजा में सबसे कम 

रायपुर। प्रदेश के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष में संकलित जानकारी के मुताबिक एक जून से अब तक प्रदेश में कुल 1208.9 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। प्रदेश में सर्वाधिक बीजापुर जिले में 2273.7 मिमी और सबसे कम सरगुजा में 821.6 मिमी औसत वर्षा अब तक रिकार्ड की गई है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के मुताबिक एक जून से अब तक सूरजपुर में 1306.7 मिमी, बलरामपुर में 1084.9 मिमी, जशपुर में 1292.3 मिमी, कोरिया में 1042.9 मिमी, रायपुर में 1042.1 मिमी, बलौदाबाजार में 1063.5 मिमी, गरियाबंद में 1189.9 मिमी, महासमुन्द में 1260.4 मिमी, धमतरी में 1116.2 मिमी, बिलासपुर में 1238.7 मिमी, मुंगेली में 904.9 मिमी, रायगढ़ में 1207.2 मिमी, जांजगीर-चांपा में 1315.7 मिमी तथा कोरबा में 1330.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसी प्रकार गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही में 1051.3 मिमी, दुर्ग में 1004.2 मिमी, कबीरधाम में 953.4 मिमी, राजनांदगांव में 921.6 मिमी, बालोद में 1020.5 मिमी, बेमेतरा में 1077.1 मिमी, बस्तर में 1378.3 मिमी, कोण्डागांव में 1487.6 मिमी, कांकेर में 1020.7 मिमी, नारायणपुर में 1405.1 मिमी, दंतेवाड़ा में 1557.7 मिमी तथा सुकमा में 1490.1 मिमी औसत दर्ज की गई है।

28-09-2020
प्रदेश में सर्वाधिक बस्तर संभाग के बीजापुर में हुई वर्षा

रायपुर/जगदलपुर। प्रदेश में 1 जून से अब तक कुल 1207.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। प्रदेश में सर्वाधिक बस्तर संभाग के बीजापुर जिले में 2267.5 मिमी. वर्षा अब तक रिकार्ड की गई है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के मुताबिक 1 जून से अब तक बस्तर संभाग के बस्तर जिले  में 1367.मिमी., कोण्डागांव में 1487.6 मिमी., कांकेर में 1020.6 मिमी.,नारायणपुर में 1405.1 मिमी., दंतेवाड़ा में 1555.5 मिमी. और सुकमा में 1486.5 मिमी औसत दर्ज की गई है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804