GLIBS
09-09-2019
पाकिस्तान की करतूत, आतंकी मसूद अजहर को 'चोरी-छुपे' किया जेल से रिहा

नई दिल्ली। पाकिस्तान एक बार फिर से भारत में नापाक हरकतों को अंजाम देने की फिराक में है। इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) ने राजस्थान के पास भारत-पाकिस्तान सीमा पर अतिरिक्त पाकिस्तानी सैनिकों की तैनाती के बारे में सरकार को सचेत किया है। साथ ही कहा है कि इस्लामाबाद "एक बड़ी कार्रवाई" की योजना बना रहा है। इंटेलिजेंस ब्यूरो ने यह भी कहा है कि पाकिस्तान ने दो वांटेड आतंकवादियों को आतंकवादी कार्रवाई को अंजाम देने के लिए रिहा भी किया है। आईबी के इनपुट के अनुसार पाकिस्तान सियालकोट-जम्मू और राजस्थान के सेक्टर में आने वाले दिनों में कुछ बड़ा करने की योजना बना रहा है। वह ऐसा सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लिए जाने की वजह से करने वाला है। इनपुट में चेतावनी दी गई है कि पाकिस्तान ने अपनी योजना को अंजाम देने के तहत ही राजस्थान सीमा पर अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती की है।

रिपोर्ट के अनुसार इनपुट के बारे में सीमा सुरक्षा बल और जम्मू और राजस्थान में तैनात सेना की टुकड़ियों को बता दिया गया है। इससे कि पाकिस्तानी सेना की किसी भी आश्चयर्जनक हरकत को नजरअंदाज न किया जा सके। भारतीय जवानों को भी अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को धमकी देते हुए कहा था कि जम्मू-कश्मीर को लेकर भारत सरकार के कदम पर उसे जवाब दिया जाएगा। आईबी के इनपुट ने बताया है कि पाकिस्तान ने चुपके से जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को जेल से रिहा कर दिया है। इसके बाद अजहर खुलेआम अपने आतंकी संगठन के साथ मिलकर भारत पर आतंकी हमले की योजना बना रहा है। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आत्मघाती हमले के बाद ऐसी अघोषित रिपोर्टें थीं कि पाकिस्तानी एजेंसियों ने अजहर को हिरासत में लिया था। जानकारी के अनुसार जैश कश्मीर मुद्दे के बहाने भारत पर हमला करने की फिराक मैं है।

24-08-2019
पुलिस के सामने पॉक्सो एक्ट के आरोपी ने ब्लेड से किया आत्मघाती हमला

महासमुन्द। नाबालिग लडक़ी को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने तथा दैहिक शोषण के आरोपी ने पुलिस ने सामने खुद को ब्लेड मारकर घायल कर लिया है। मामला कल 23 अगस्त का है जब मामले के आरोपी बेेटे के घर लौटने के बाद आरोपी के पिता आशोक चन्द्राकर अपने आरोपी बेटे आकाश चन्द्राकर 24 साल को सिटी कोतवाली लेकर पहुंचा था। सिटीे कोतवाली पुलिस आकाश से बातचीत कर ही रही थी कि आरोपी युवक ने अचानक अपने पास रखे ब्लेड से अपने गले पर वार कर लिया। युवक के स्वयं पर ब्लेड से वार करने के बाद थाने में अफरा-तफरी मच गई और पुलिस ने तत्काल युवक का हाथ पकड़ कर उसके हाथ से ब्लेड छीन उसे अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने तत्काल उपचार किया और उससे रात्रि में ही रायपुर इलाज के लिया भेजा गया। समाचार लिखते वक्त युवक के इलाज के बाद रायपुर से वापस पुलिस सुरक्षा में महासमुन्द भेज दिया गया है। 

गौरतलब है कि जिला मुख्यालय महासमुन्द के पड़ोसी ग्राम बेचमा निवासी अशोक चन्द्राकर ने 20 अगस्त को अपने बेटे आकाश चन्द्राकर के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। वहीं 20 अगस्त को ही नयापारा निवासी आनंदराम साहू ने भी अपनी नाबालिग पुत्री की गुम होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस दोनों मामले में गुम इंसान दर्ज कर मामले की जांच कर रही थी कि कल अचानक अशोक चन्द्राकर अपने पुत्र आकाश चन्द्राकर को लेकर कोतवाली पहुंचा। उसने   पुलिस को बताया कि उसका पुत्र आकाश घर आ गया है, तभी युवक ने ब्लेड से आत्मघाती हमला कर खुद को घायल कर लिया। इसी मामले में 23 अगस्त को ही नाबालिग लडक़ी के पिता ने पुलिस को सूचना दी की उसकी 15 वर्षीय नाबालिग लडक़ी को आकाश चन्द्राकर बेमचा निवासी 19 तारीख को भगा ले गया था। युवती के पिता का आरोप है कि आरोपी 22 अगस्त को महासमुन्द बस स्टैण्ड में उसकी बेटी को छोडक़र भाग निकला। अत: पुलिस ने कल दोपहर को ही नाबालिग युवती का डाक्टरी मुलाहिजा कराया और आरोपी आकाश चन्द्राकर के खिलाफ भादवि की धारा 376, 366, 4,6, पाक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। अपहृत युवती ने भी पुलिस के सामने इस बात की पुष्टि कर दी है कि आकाश चन्द्राकर उसे भगाकर ले गया था। चूंकि कल युवक ने अपने ऊपर हमला कर लिया था और उसका इलाज अभी पुलिस सुरक्षा में चल रहा है। अत: अभी युवक को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

रवि विधानी की रिपोर्ट

13-06-2019
आईएस तमिलनाडु मॉड्यूल का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, एनआईए ने जब्त किए आपत्तिजनक दस्तावेज

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने कोयंबटूर में छापेमारी के बाद आईएसआईएस तमिलनाडु मॉड्यूल के कथित मास्टरमाइंड मो. अजरुदीन को गिरफ्तार कर लिया। अजरुदीन और श्रीलंका में आत्मघाती हमला करने वाला जहरान हाशिम फेसबुक मित्र थे। एनआईए ने एक बयान में बताया कि तमिलनाडु के कोयंबटूर में छापेमारी के दौरान एजेंसी ने 14 मोबाइल फोन, 29 सिमकार्ड, 10 पेन ड्राइव, तीन लैपटॉप, छह मेमोरी कार्ड, चार हार्डडिस्क, एक इंटरनेट डोंगल, 13 सीडी/डीवीडी, एक कटार, एक इलेक्ट्रिक लाठी, एयरगन के 300 छर्रे और भारी मात्रा में आपत्तिजनक दस्तावेज जब्त किए हैं।

बयान के मुताबिक, आरोपी के मकान और कार्यस्थलों से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के कुछ पर्चे भी एजेंसी ने जब्त किए हैं। एजेंसी इन दोनों संगठनों पर नजर रखे हुए है। उसमें कहा गया है कि बरामद सामग्री के आधार पर एजेंसी ने आरोपी से पूछताछ शुरू कर दी है। इस साल 30 मई को कोयंबटूर निवासी 32 वर्षीय अजरुदीन नीत कथित मॉड्यूल और शहर के पांच अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था।

एनआईए ने कहा कि एजेंसी को सूचना मिली थी कि सभी आरोपी और उनके सहयोगी प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन आईएसआईएएस की विचारधारा का सोशल मीडिया पर कथित रूप से प्रचार कर रहे हैं। इनका लक्ष्य दक्षिण भारत, खास तौर से केरल और तमिलनाडु में आतंकवादी हमले करने के लिए संवेदनशील युवकों को अपने साथ जोड़ना था। एजेंसी ने आरोप लगाया कि अजरुदीन मॉड्यूल का नेता था। वह ‘खिलाफजीएफएक्स’ नामक फेसबुक पेज चलाता था और उसी के जरिए प्रतिबंधित संगठन की विचाराधारा का प्रचार करता था।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804