GLIBS
03-05-2021
भूपेश बोले-प्रदेश में मारामारी की स्थिति नहीं,बाहर से आने वालों को करें क्वारंटाइन,रिपोर्ट निगेटिव आने पर भेंजे घर 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को सरगुजा और बिलासपुर संभाग की मितानिनों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं से गांवों में कोरोना की स्थिति और संक्रमितों के स्वास्थ्य की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश और दुनिया में कोरोना संक्रमण फैला हुआ है । देश के कई राज्यों और बड़े शहरों में हॉस्पिटल ,इलाज, दवा और ऑक्सीजन को लेकर मारामारी मची है। छत्तीसगढ़ राज्य वर्तमान समय में इस स्थिति से बाहर आ चुका है। उन्होंने राज्य में कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे फ्रंटलाइन वारियर्स और मितानिनों को शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि छत्तीसगढ़ राज्य जल्द ही इस महामारी को रोकने में कामयाब होगा।

मुख्यमंत्री बघेल ने छत्तीसगढ़ राज्य में अन्य राज्यों से आने वाले लोगों, प्रवासी श्रमिकों को अनिवार्य रूप से क्वारेंटिन सेंटर में ठहराने और उनका कोरोना टेस्ट कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य के कई ग्रामीण इलाकों में अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी श्रमिकों एवं  लोगों के संक्रमित होने की जानकारी मिल रही है। कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही उन्हें गांव और घर परिवार में जाने की अनुमति दी जाए। यह इसलिए  जरूरी है कि थोड़ी सी सावधानी बरतकर हम गांव और ग्रामीणों को संक्रमित होने से बचा सकते हैं।मुख्यमंत्री ने पंचायत पदाधिकारियों, शासन के सभी विभागों के ग्रामीण अमले के कर्मचारियों विशेषकर मितानिनों,आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, कोटवारों से अन्य राज्यों से गांवों में आने वाले पर निगरानी रखने कहा है। उन्हें क्वारेंटिन सेंटर में ठहराने के लिए समझाइश देने को कहा है । मुख्यमंत्री ने कहा है कि इस निर्देश का पालन न करने वालों की सूचना तत्काल संबंधित इलाके तहसीलदार, एसडीएम एवं जिला प्रशासन को दी जानी चाहिए। 

दरअसल चर्चा के दौरान सोमवार को रायगढ़ जिले के तमनार के एक ही मोहल्ले में 30 से अधिक लोगों के संक्रमित होने की जानकारी मितानिन ने मुख्यमंत्री को दी। इस पर मुख्यमंत्री ने  जब विस्तार से पूछताछ की तो मितानिन गोमती साहू  ने बताया कि संक्रमित मिले सभी लोग बाहर कमाने गए थे। अभी लौट कर आए हैं । कोरोना जांच में सभी पॉजिटिव  पाए गए हैं। कमोबेश इसी तरह की जानकारी अन्य क्षेत्रों की मितानिनों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की ओर से दी गई थी। मुख्यमंत्री बघेल ने सभी नागरिकों से कोरोना संक्रमण के वर्तमान हालात को देखते हुए राज्य शासन की ओर से निर्धारित व्यवस्था का पालन करने की अपील की है । मुख्यमंत्री ने कहा है कि सभी के सहयोग एवं सावधानी से ही कोरोना को रोकने और उसे परास्त करने में कामयाबी मिलेगी।

25-04-2021
सरगुजा में 5 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

अंबिकापुर। सरगुजा जिले को 26 अप्रैल तक के लिए कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया हैं, जिसकी समय-सीमा में वृद्धि कर दी गई हैं। अब सरगुजा जिले में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाकर 5 मई की गई हैं। कलेक्टर संजीव झा ने यह आदेश जारी किया है। आदेश में उन्होंने उल्लेख किया है कि जिले में व्यसायिक गतिविधियों पर प्रतिबन्ध एवं संपूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के बावजूद कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में वृद्धि एवं इस महामारी में मौतों की संख्या को देखते हुए यह आदेश जारी किया गया है। सरगुजा जिला अंतर्गत संपूर्ण क्षेत्र 5 मई रात 12 बजे तक लॉक रहेगा। 

 

21-04-2021
सरगुजा में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा, 692 पहुंची कोविड पाॅजिटिव की संख्या  

अंबिकापुर। सरगुजा में कोरोना संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। बीते दिन जिलेभर से 636 संख्या दर्ज की गई थी। वहीं बुधवार को 692 नए संक्रमितों की पहचान हुई है। इसमें अम्बिकापुर जिला मुख्यालय से सर्वाधिक 606 संक्रमित मरीजों की पहचान हुई हैं। दूसरे नंबर पर विकासखंड सीतापुर, जहां 23 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। इसके अलावा बतौली में  6, लखनपुर मे 18, लुंड्रा में 12, मैनपाट मे 13 और उदयपुर से 14 शामिल हैं। आज कुल 264 संक्रमित डिस्चार्ज हुए है। कोरोना संक्रमित एक मरीज की मौत की खबर है।

 

13-04-2021
प्रदेश के चार जिलों में आज से लॉकडाउन, आपात सेवाओं को छोड़कर बाकि सब बाधित

रायपुर। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रदेश के इन चार जिलों में मंगलवार से कलेक्टर ने लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। बता दें कि सरगुजा, गरियाबंद, जांजगीर और सूरजपुर में 13 से 23 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान यहां आपात सेवाओं को छोड़कर बाकि सेवाएं बाधित रहेंगी।

11-04-2021
सरगुजा में 13 से 23 अप्रैल तक लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

अंबिकापुर। जिले में कोरोना पॉजिटीव मरीजों की संख्या में लगातार हो रही वृद्धि को देखते हुए सरगुजा कलेक्टर संजीव झा ने पूर्ण लॉक डाउन का ऐलान कर दिया हैं। सरगुजा में 13 से 23 अप्रैल तक पूर्ण लॉक डाउन का आदेश जारी किया गया हैं। इस दौरान जिले के सभी सीमाएँ  सील रहेंगी। इस 10 दिनों के तालाबंदी में पेट्रोल पम्प, मेडिकल स्टोर, डेयरी जैसी महत्वपूर्ण सेवाए संचालित रहेंगी। लाँक डाउन के दौरान मेडिकल की होम डिलेवरी को प्राथमिकता के तौर पर रखा गया है।

18-03-2021
बठेना हत्याकांड मामले में भाजपा ने मुख्यमंत्री का किया पुतला दहन

अंबिकापुर। भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा प्रदेश संगठन के निर्देशानुसार अनुसूचित जाति मोर्चा के जिला अध्यक्ष नकुल सोनकर के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने बुधवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला फूका। विधानसभा क्षेत्र पाटन के ग्राम बठेना में एक ही दलित परिवार के पांच लोगों के संदेहास्पद हुई मौत एवं जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं करने। साथ ही मामले को षंडयंत्र के तहत दबाने के प्रयास करने व दलितों पर लगातार हो रहे अत्याचार के विरोध में सरगुजा जिला के मुख्यालय अम्बिकापुर सहित सभी 12 मण्डलों में मुख्यमंत्री का पूतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया गया। इस दौरान भाजपा जिला महामंत्री एवं मोर्चा प्रभारी अभिमन्यु गुप्ता, जन्मजय मिश्रा, अमरजित छाबडा, छोटू थाॅमस, गांधी पासवान, ध्रुवकुमार रवि, शम्भू सोनकर, राजकुमार बंसल, विनोद हर्ष, रामप्रवेश पाण्डेय, वेदान्त तिवारी, संजू वर्मा, ज्योति चैरिसिया, गणेश कश्यप, राजू पांडे, दीपक गर्ग, सुरजित सिंह, दीपक सिंह, आतिश सिंह, दीपक सोनी, बल्लू शर्मा, आशीष अग्रवाल, भीम सोनकर, क्रान्ति सोनकर, अंकित तिर्की, सरद सिन्हा, दीपक यादव, काशी केशरी, अर्जुन कश्यप, आलोक, सुमित एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

24-02-2021
 बर्ड फ्लू के खतरे के बीच सरगुज़ा में राहत की खबर,इन्फेक्ट जोन से लिए गए सैंपल की रिपोर्ट आई निगेटिव

अंबिकापुर। जिले मे बर्ड फ्लू की दस्तक के साथ लोगों मे दहशत का माहौल व्याप्त था। प्रशासन भी पूरी तरह से अलर्ट मोड़ पर आ चुका था। केंद्रीय स्वास्थ्य दल अंबिकापुर पहुंच कर आवश्यक जाँच में जुटा है। पिछले 3 दिन से केंद्रीय टीम अम्बिकापुर में रहकर निगरानी कर रही है।
इसी बीच इफेक्ट जोन में 15 इंसानों की सैंपल लिए गए और जांच के लिए भेजे गए। राहत की बात यह हैं कि 15 इंसानों मे किसी मे किसी का भी H-5 N-1 इन्फ्लूएंजा के लक्षण नहीं पाए गए।  रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद अब चिकन और अंडा मार्केट खोलने की  कवायद शुरू हो गई हैं। यह भी ख़बर हैं कि मेडिकल कालेज अस्पताल में बर्ड फ्लू मरीजों के लिए 5 बेड का आइसोलेशन वार्ड भी बनाया जा रहा हैं।

 

 

 

 

16-02-2021
Video: सरगुजा में बर्ड फ्लू की दस्तक, प्रशासन ने जारी किया हाई अलर्ट

अंबिकापुर। सरगुजा जिला भी अब बर्ड फ्लू की चपेट में आ चूका है। शासकीय कुक्कुट फॉर्म सकलो में बर्ड फ्लू का मामला सामने आया है। बता दें कि शासकीय कुक्कुट फॉर्म सकलो में पिछले कुछ दिनों से मुर्गियों की मौत हो रही थी। इसे देखते हुए और बर्ड फ्लू की आशंका पर सैंपल जाँच के लिए भोपाल स्थित हाई सिक्योरिटी लैब भेजा गया था। सोमवार को आई रिपोर्ट से पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। इसके बाद प्रशासन ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है। पशुधन विभाग के सहायक संचालक एनपी सिंह ने बताया कि जाँच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद विभाग सर्वे करवाना शुरू कर चुकी हैं। अंबिकापुर के सकलो स्थित शासकीय कुक्कुट फॉर्म में मंगलवार को करीब 34 सौ बड़ा मुर्गा और 17 हजार चूजों को गड्डे में दफ्नाया गया। वहीं मामले की संजिंदगी को देखते हुए निगम प्रशासन ने अंबिकापुर के चिकन मार्केट में मुर्गा बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया हैं।

15-02-2021
खाद्य मंत्री अमरजीत भगत कल पहुुंचेंगे रायपुर

रायपुर। प्रदेश के खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत 16 फरवरी को रायपुर आएंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मंत्री भगत आज सरगुजा एवं बलरामपुर जिले में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद रात 10 बजे अम्बिकापुर से अम्बिकापुर-दुर्ग एक्सप्रेस ट्रेन से कल 16 फरवरी को रायपुर पहुंचेंगे।

12-02-2021
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री सिंहदेव ने पांच मोबाइल एटीएम को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

रायपुर। बैंकिंग सेवा की कमी वाले इलाकों में अब ग्रामीणों को अपने गांव और हाट-बाजार में ही नगद निकासी की सुविधा मिल सकेगी। छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक मोबाइल एटीएम वेन के माध्यम से यह सुविधा प्रदान करेगी। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री  टी एस सिंहदेव ने आज नाबार्ड की वित्तीय सहायता से छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक द्वारा तैयार छह मोबाइल एटीएम वेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ग्रामीणों को नगद निकासी की सुविधा स्थानीय स्तर पर ही उपलब्ध कराने के लिए बैंक द्वारा सरगुजा, कोरिया, बस्तर, रायपुर, रायगढ़ और राजनांदगांव जिले में एक-एक मोबाइल एटीएम भेजी जाएगी। बैंकिंग सेवाओं और एटीएम की कमी वाले दूरस्थ क्षेत्रों में ये मोबाइल एटीएम मौजूद रहेंगे जिससे लोगों को नगद के लिए दूर स्थित बैंक या एटीएम तक जाना न पड़े। इससे ग्रामीणों को अपने खाते से छोटी-छोटी राशियों की निकासी के लिए बार-बार बैंक या एटीएम तक आने-जाने में लगने वाले समय, श्रम और धन की बचत होगी। 

रायपुर स्थित एक निजी होटल में आयोजित मोबाइल एटीएम वेन के लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री  टी एस सिंहदेव ने कहा कि नई तकनीकों और मशीनरी के उपयोग से जनसुविधाएं दूरस्थ अंचलों और लोगों के घरों तक पहुंच रही हैं। आज लोकार्पित मोबाइल एटीएम से लोग गांव में ही अपनी जरूरत की नगद राशि निकाल सकते हैं। जिस तरह राज्य शासन की मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना और मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना लोगों को उनके घरों के पास ही स्वास्थ्य सेवा मुहैया करा रही है, उसी तरह ‘आपका बैंक आपके द्वार’ के ध्येय के साथ शुरू यह सेवा लोगों को उनके गांव में ही नगद निकासी की सुविधा प्रदान करेगी। सिंहदेव ने लोगों को बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराने में छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक की सराहना करते हुए कहा कि प्रदेश में इसकी 613 शाखाओं में से 310 शाखाएं वामपंथ उग्रवाद प्रभावित इलाकों में हैं। इससे साबित होता है कि गांवों और दूरदराज के क्षेत्रों में बैंकिंग सेवा प्रदान करने के लिए बैंक गंभीरता व सक्रियता से कार्य कर रहा है। अपनी बेहतर सेवाओं से इसने अच्छी विश्वसनीयता और साख बनाई है। पंचायत मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार भी बैंक सखी के माध्यम से दूरस्थ अंचलों में नगद राशियों के लेन-देन को सुगम बना रही है। बैंक सखियां पेंशन और मजदूरी राशि का भुगतान लोगों के गांवों और घरों तक जाकर कर रही हैं। शासन प्रत्येक पांच ग्राम पंचायतों में एक बैंक सखी की नियुक्ति का लक्ष्य लेकर चल रही है।

छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक के अध्यक्ष आई के गोहिल, नाबार्ड क्षेत्रीय कार्यालय के मुख्य महाप्रबंधक  एम. सोरेन, भारतीय रिजर्व बैंक की क्षेत्रीय निदेशक शिवागामी एवं राज्य स्तरीय बैंकिंग समिति के संयोजक परविंदर भारती ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया और अपनी-अपनी संस्थाओं द्वारा ग्रामीण व दूरस्थ अंचलों तक बैंकिंग सेवा पहुंचाने के लिए उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी। गोहिल ने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक द्वारा ग्राहकों की सुविधा और उनके द्वार पर बैंकिंग सेवा प्रदान करने के लिए 14 मोबाइल एटीएम वेन तैयार कराए गए हैं। इनमें से छह मोबाइल एटीएम को आज लोगों की सेवा में समर्पित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में भी बैंक ने लगातार लोगों को सेवाएं प्रदान की हैं। वैश्विक महामारी के बावजूद सेवाओं को बाधित नहीं होने दिया गया। छत्तीसगढ़ ग्रामीण बैंक की शाखाएं दूरस्थ एवं ग्रामीण अंचलों में अन्य बैंकों की तुलना में अधिक हैं।
छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक ने अंबिकापुर के शासकीय अस्पताल में डिजिटल एक्स-रे मशीन और पुलिस विभाग को सीसीटीवी कैमरा प्रदान किए जाने की घोषणा की। कार्यक्रम में बैंक के महाप्रबन्धक ए के निराला, अतुल्य बेहेरा एवं  के पद्मिनी, सी.व्ही.ओ. गुरदीप सिंह, मुख्य प्रबन्धक अमरजीत सिंह खनूजा तथा वरिष्ठ प्रबंधक एस.एन. शुक्ला भी मौजूद थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804