GLIBS
09-08-2020
पांच इनामी माओवादी सहित कुल 12 माओवादियों ने किया आत्मसपर्ण

दंतेवाड़ा। जिले में नक्सलियों के आत्मसपर्ण एवं उन्हें समाज की मुख्यधारा में जोड़ने के लिए लोन वर्राटू योजना चलाई जा रही है,जिससे प्रभावित होकर माओवादी आत्मसपर्ण कर रहे हैं। रविवार को जिले के विभिन्न क्षेत्रों में सक्रिय 12 माओवादियों ने लोन वर्राटू योजना से प्रभावित होकर एवं नक्सलियों की खोखली विचारधारा से तंग आकर समाज के मुख्यधारा में जुड़ने के उद्देश्य से पाँच इनामी माओवादी सहित 12 माओवादियों ने विधायक देवती महेंद्र कर्मा, उप पुलिस महानिरीक्षक केरिपु बल दंतेवाड़ा विनय कुमार सिंह एवं दंतेवाड़ा एसपी डॉ.अभिषेक पल्लव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा उदय किरण के समक्ष आत्मसपर्ण किया। आत्मसर्पित माओवादियों को दंतेवाड़ा एसपी डॉ.अभिषेक पल्लव के द्वारा छत्तीसगढ़ शासन की आत्मसर्पण एवं पुनर्वास नीति के तहत  प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई।

07-08-2020
BREAKING: नक्सलियों ने दी सफाई, कहा-किया जा रहा झूठा प्रचार, पढ़े पूरी खबर..

सुकमा। दंतेवाड़ा के एक पत्रकार की नक्सलियों द्वारा हत्या करने संबंधी फरमान जारी करने की अफवाह पिछले कई दिनों से चल रही है। अब इस मसले पर नक्सलियों ने प्रेस नोट जारी कर अपना पक्ष रखा है। नक्सलियों की दरभा डिवीजन कमेटी द्वारा शुक्रवार को जारी हस्तलिखित पर्चे में कहा गया है कि, ‘पत्रकार मंगल कुंजाम की हत्या करने का कोई लक्ष्य नहीं है। पत्रकार की हत्या कर संगठन को क्या फायदा होगा। इस बारे में झूठा प्रचार किया जा रहा है।’
बता दें कि कई दिनों से यह चर्चा चल रही है कि किरन्दुल के एक पत्रकार की नक्सलियों द्वारा हत्या करने की प्लानिंग की जा रही है। हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस ने पत्रकार को अलर्ट भी किया था। इस कथित फरमान के बाद से पत्रकार बिरादरी में भी असमंजस की स्थिति बन गई थी। इधर अब इस पूरे मामले में माओवादियों ने अपनी सफाई देते हुए ऐसे किसी फरमान को सिरे से खारिज किया है और इसे सरकार की साजिश करार दिया है। 

 पवन कुमार की रिपोर्ट

 

 

07-08-2020
दंतेवाड़ा में कोरोना से बचाव व सैंपल कलेक्शन का प्रशिक्षण दिया गया

रायपुर/दन्तेवाड़ा। जिले के जिला अस्पताल में मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के सभाकक्ष में कोविड-19 के संक्रमण व बचाव के लिए जिले के विभिन्न कर्मचारियों को सैंपल कलेक्शन का प्रशिक्षण दिया गया। इसमे मास्टर ट्रेनर की ओर से सैंपल लेने की विधिवत जानकारी दी गई। प्रशिक्षण में स्टाफ नर्स,लैब तकनीशियन,ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक शामिल हुए।

 

30-07-2020
भाजपा ने पूछा, आखिर झीरम मामला एनआईए को सौंपे जाने से कांग्रेस नेता और सत्ताधीश इतना डर क्यों रहे हैं?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने नक्सली हमले में दंतेवाड़ा के शहीद भाजपा विधायक भीमा मंडावी मामले में एनआईए द्वारा तीन आरोपियों को गिरफ्तार किए जाने पर बयान जारी किया है। प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने कहा कि इस गिरफ्तारी के बाद तथ्यों के खुलासे से इस मामले में अब और रोशनी पड़ेगी। सुंदरानी ने झीरम मामले में शहीद पूर्व कांग्रेस विधायक उदय मुदलियार के पुत्र की ओर से दायर याचिका पर मामला एनआईए को नहीं सौंपे जाने की कांग्रेस शासन के वकील द्वारा दी गई दलील पर सवाल किया है कि आखिर झीरम मामला एनआईए को सौंपे जाने से कांग्रेस नेता और सत्ताधीश इतना डर क्यों रहे हैं? सुंदरानी ने कहा कि झीरम की नक्सली वारदात को लेकर तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और मौजूदा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बेहद आक्रामक हुआ करते थे और झीरम मामले का सबूत जेब में लेकर चलने की बड़ी-बड़ी बातें किया करते थे, लेकिन सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री वे सबूत पेश नहीं करके झीरम मामले की जाँच और शहीद नेताओं के परिजनों के न्याय दिलाने के काम के विलंबित कर रहे हैं। सुंदरानी ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल सत्ता में आने के बाद शुरू से केंद्र सरकार द्वारा इस मामले की एनआईए से जाँच का बेवजह विरोध करके मामले को लटका रहे हैं। अब शहीद पूर्व विधायक मुदलियार मामले में कांग्रेस के वकील द्वारा झीरम की जाँच एनआईए से नहीं कराने की बात कहकर कांग्रेस और प्रदेश सरकार की मंशा पर सवाल खड़ा होना उचित ही है? सुंदरानी ने जानना चाहा कि झीरम मामले की एनआईए से जाँच कराने में प्रदेश सरकार को क्या दिक्कत है? आखिर प्रदेश सरकार झीरम के मामले में किसे फँसाने और किसे बचाने की उधेड़बुन में उलझी है?

 

29-07-2020
31 जुलाई  से 6 अगस्त दंतेवाड़ा में लॉक डाउन

दंतेवाड़ा। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी दीपक सोनी ने दंतेवाड़ा जिले में विशेषतः नगर पालिका दंतेवाड़ा, बचेली,किरन्दुल, एवं नगर पंचायत, गीदम, बारसूर क्षेत्र में कोरोना पाजिटिव मरीज पाए जाने के कारण कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। जिला दंतेवाड़ा के नगर पालिका दंतेवाड़ा, बचेली, किरन्दुल, एवं नगर पंचायत, गीदम, बारसूर क्षेत्र के अंतर्गत संक्रमण से बचाव एवं स्वास्थ्यगत् आपात स्थिति को नियंत्रण रखने के लिए 31 जुलाई शाम 5 बजे से 6 अगस्त रात्रि 12 बजे तक समस्त गतिविधियों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई गई है। इसमें दंतेवाड़ा जिले के नगर पालिका दंतेवाड़ा, बचेली, किरन्दुल, एवं नगर पंचायत, गीदम, बारसूर क्षेत्र के समस्त शासकीय, अर्द्धशासकीय, अशासकीय कार्यालयों को तत्काल प्रभाव से बंद किया गया है। सभी पदाधिकारी तथा कर्मचारी अपने घर से शासकीय कार्यों का निष्पादन करेंगे। आवश्यकता पड़ने पर कार्यालय प्रमुख उन्हें कार्यालय बुला सकते है। जिले के समस्त क्षेत्रों में समस्त सार्वजनिक परिवहन सेवाऐं, जिसमें निजी बसे, टैक्सी, आटो रिक्शा, बसें, ई-रिक्शा, रिक्शा इत्यादि  के परिचालन को तत्काल प्रभाव से बंद किया गया है। केवल ईमरजेन्सी मेडिकल सेवाओं वाले व्यक्तियों को वाहन द्वारा आवागमन की अनुमति रहेगी।


खाद्य पदार्थ एवं किराना का सामान को चिल्हर व थोक में विक्रय करने वाले व्यक्तियों-संस्थाओं को 30 एवं 31 जुलाई के लिए प्रातः 9 बजे से संध्या 5 बजे तक रहेगी। ईद एवं रक्षाबंधन के त्योहार को ध्यान में रखते हुए 31 जुलाई  को 5 बजे तक किराना की दुकानो के माध्यम से ईद एवं रक्षाबंधन त्योहार में उपयोग आने वाले अन्य सामग्री का विक्रय, वितरण, भण्डारण, परिवहन संबंधी गतिविधियों के लिए अतिरिक्त समय दिया गया है। शेष लाकडाउन की अवधि में (अर्थात् दिनांक 31 जुलाई शाम 5 बजे से दिनांक 06 अगस्त तक) केवल होम डिलिवरी के माध्यम से किराने के सामान के विक्रय की अनुमति होगी। उक्तावधि में दुकानों को खोलने की अनुमति नहीं है। ठेले पर एक स्थान से दूसरे स्थान जा-जाकर फल-सब्जी विकय करने वाले व्यक्तियों को विक्रय करने की अनुमति प्रातः 6 से प्रातः 10 बजे तक होगी। स्थायी दुकानों-स्थानो पर विकय करने वाले व्यक्तियों को फल, सब्जी, दूध, ब्रेड, चिकन, मटन, मछली एवं अण्डा के विक्रय, वितरण, भण्डारण, परिवहन संबंधी गतिविधियों की अनुमति प्रातः 6 बजे से प्रातः 11 बजे तक होगी।

 

26-07-2020
दंतेवाड़ा पुलिस ने जारी की 405 इनामी नक्सलियों की सूची

दंतेवाड़ा। पुलिस द्वारा रविवार को दरभा डिवीज़नल कमेटी के इनामी माओवादियों की सूची जारी की गई। दरभा डिवीज़नल कमेटी में दंतेवाड़ा पुलिस द्वारा कुल 405 इनामी नक्सलियों की सूची जा की गई है। इनामी नक्सलियों की सूची जारी कर सोशल एक्टिविस्ट/मीडिया से बोला गया है कि अगर कोई माओवादी आत्मसर्पण करने को तैयार हो तो उस माओवादी को एसपी ऑफिस ले जाएं तथा शासन की पुनर्वास नीति के तहत इनाम की राशि उन्हें दी जाएगी। इनामी नक्सलियों की सूची इस प्रकार है-

21-07-2020
जिले में लॉक डाउन के लिए जारी की गई गाइडलाइन

दंतेवाड़ा। दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा जिले केे नगर पालिका बचेली, किरंदुल, दंतेवाड़ा एवं नगर पंचायत क्षेत्र गीदम बारसूर में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीज चिन्हित किए जा रहे हैं। अब तक 90 कोरोना पॉजिटिव मरीज की पहचान दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा जिले में की गई है और यह संख्या बढ़ती जा रही है। इस वायरस व संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए भारत सरकार, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जारी गाइडलाइन अनुसार कोरोना वायरस पाए जाने वाले क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। दंतेवाड़ा में भी कलेक्टर द्वारा जनता के लिए गाइडलाइन जारी की गई है।

20-07-2020
Breaking: प्रदेश में कोरोना के 114 नए मामले, सर्वाधिक केस दंतेवाड़ा से 27 

रायपुर। प्रदेश में कोरोना की स्पीड पर ब्रेक लगने का नाम ही नहीं ले रही है। आज 114 नए मामले सामने आए है। जिसमें 27 दंतेवाड़ा, 24 रायपुर, 18 जांजगीर—चांपा, 13 राजनांदगांव, 7 जशपुर, 7 बीजापुर, 6 बिलासपुर, 2 रायगढ़, 2 सुकमा, 2 सरगुजा, 1 कोरिया,1 कांकेर और 1 केस महासमुंद के है। स्वास्थ्य विभाग ने खबर की पुष्टि की है।

20-07-2020
समाज की मुख्य धारा में जोड़ने के लिए आत्मसमर्पित नक्सलियों को प्रशासन ने दिया निःशुल्क ट्रैक्टर

दंतेवाड़ा। प्रशासन द्वारा नक्सलियों को आत्मसमर्पण कर समाज की मुख्य धारा में जोड़ने के लिए एक और पहल की गई। जिस भी गांव से 10 से ज्यादा नक्सली आत्मसमर्पण कर रहे हैं उन्हें गाँव मे रह कर खेती करने के लिए कृषि उपकरण दिया जा रहा है। इस योजना का नाम "जय लय्योर जय कम्माई" है जिसका हिंदी अर्थ है "नवजवान अब खेती करेंगे"।  इसी योजना के तहत आज प्रशासन द्वारा बड़े गुडरा के आत्मसमर्पित नक्सलियों को ट्रैक्टर दिया गया। आत्मसर्पित नक्सलियों का (स्व सहायता समूह) बनाया गया और उन्हें ट्रैक्टर दिया गया।

11-07-2020
अबूझमाड़ के सरहदी क्षेत्र पल्ली-बारसूर मार्ग पर कड़ेमेटा गांव में पहुँचे आईजी, बस्तर दंतेवाड़ा जिले के कलेक्टर-एसपी

रायपुर/जगदलपुर। बस्तर संभाग के 5 जिलों के केंद्र बिंदु रूप में स्थित गांव कड़ेमेटा (पुलिस जिला नारायणपुर एवं राजस्व जिला बस्तर) का दौरा पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज सुंदरराज पी., कलेक्टर बस्तर रजत बंसल, कलेक्टर दन्तेवाड़ा दीपक सोनी एवं पुलिस अधीक्षक दन्तेवाड़ा अभिषेक पल्लव के द्वारा 10 जुलाई को किया गया। कडेमेरा में जनवरी 2020 को पुलिस कैम्प स्थापित किया गया है लगभग 30 वर्षों पहले राज्य की राजमार्ग क्रमांक 05 के नाम से पहचान पल्ली-बारसूर मार्ग में नक्सली गतिविधियों की वजह से आवागमन पूर्णतः बंद हो गया था। जिला बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, नारायणपुर एवं कोंडागाँव के लगभग 40 से अधिक गांव को जोड़ने वाला यह राजमार्ग बंद होने के कारण हजारों ग्रामीण अपने जिला मुख्यालय संपर्क से वंचित रह गए। इस प्रकार 5 जिलों के सरहदी गांव में शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली व अन्य मूलभूत सुविधाओं की शासकीय क्रियान्वयन करने में काफी कठिनाइयाँ हो रही थी। इस परिस्थिति को देखते हुए हजारों ग्रामीणों के जीवनयापन में सकारात्मक परिवर्तन लाने हेतु शासन की ‘‘विश्वास-विकास-सुरक्षा’’ कार्ययोजना अंतर्गत पल्ली-बारसूर मार्ग पर कड़ेमेटा में सुरक्षा कैम्प स्थापित किया गया। कड़ेमेटा गांव में सुरक्षा कैम्प की स्थापना के पश्चात् क्षेत्र का विकास कार्य भी त्वरित रूप से संपादित किया जा सके। अधिकारियों ने ग्रामीणों की मांग अनुसार कड़ेमेटा कैम्प स्थापना के पश्चात् स्वीकृत आंगनबाड़ी केंद्र, उचित मूल्य की दुकान, बोरवेल उत्खनन इत्यादि कार्यों के क्रियान्वयन के संबंध में ग्रामीणों से चर्चा की गई।

उल्लेखनीय है कि कलेक्टर नारायणपुर अभिजीत सिंह एवं पुलिस अधीक्षक नारायणपुर, मोहित गर्ग के विशेष पहल से कडेमेटा एवं धौड़ाई के बीच सड़क निर्माण कार्य प्रगति पर है। इस प्रकार पुलिस अधीक्षक बस्तर दीपक झा, पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा अभिषेक पल्लव एवं कलेक्टर दंतेवाडा दीपक सोनी के पहल पर बोदली-मालवाही के सड़क निर्माण कार्य भी प्रगति पर है। पल्ली-बारसूर क्षेत्र के विकास व सुरक्षा हेतु बस्तर संभाग के जिला नारायणपुर, बस्तर, कोंडागांव, बीजापुर एवं जिला दंतेवाडा के प्रशासन और पुलिस द्वारा आपसी समन्वय के साथ समर्पित होकर कार्य की जा रही है। प्रशासन एवं सुरक्षाबल की इस प्रकार की पहल से ग्रामीण संतुष्ट होकर क्षेत्र की विकास हेतु कटिबद्ध नजर आये। कड़ेमेटा गांव के भ्रमण के दौरान ग्रामीणों द्वारा उत्साह से अधिकारियों का स्वागत किये। इस दौरान अधिकारियों ने ग्रामीणों को क्षेत्र की समग्रित विकास का आश्वासन देते हुए इस दिशा में ग्रामीणों से सहयोग की अपील की गई। वर्तमान में कोरोना (कोविड-19) महामारी संक्रमण के बचाव एवं सावधानियां के संबंध में अधिकारियों द्वारा ग्रामीणों को समझाइश दी गई। इस दौरान कड़ेमेटा कैम्प प्रभारी एवं सुरक्षाबल के अन्य अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804