GLIBS
24-03-2020
मिनपा मुठभेड़ में नक्सलियों को खदेड़ने वाले वीर जवानों पर हमें गर्व है : पी सुंदरराज

रायपुर। मिनपा नक्सली मुठभेड़ पर बस्तर आईजी पी सुंदरराज ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ में 15 से अधिक माओवादी मारे गए हैं। साथ ही 20 से अधिक सीआरसी कम्पनी और पीएलजीए के नक्सली भी घायल हुए हैं। बस्तर आईजी ने कहा कि डीआरजी के जवानों ने नक्सलियों से 20 से 25 मीटर की दूरी से मुकाबला किया। जल्द ही मारे गए नक्सलियों के नामों की तस्दीक कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि 21 मार्च को जिला सुकमा के चिंतागुफा-बुरकापाल क्षेत्रांतर्गत मिनपा-एलमागुड़ा-कोराजडोंगरी के जंगलों में सीपीआई माओवादी नक्सलियों की मौजूदगी की जानकारी होने पर चिंतागुफा और बुरकापाल कैम्प से DRG/STF/CoBRA का संयुक्त बल नक्सल अभियान के लिए रवाना हुआ था। दोपहर लगभग 1.30 बजे कोराजडोंगरी पहाड़ एवं मिनपा जंगल के पास सुरक्षाबलों एवं नक्सलियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। कोराजडोंगरी पहाड़ के पास हुई मुठभेड़ में DRG/STF/CoBRA द्वारा की गई जवाबी कार्यवाही के 40 मिनट बाद मुठभेड़ में लगभग 6 नक्सली जख्मी हुए जिन्हें माओवादी द्वारा कव्हरिंग फायर देते हुये अपने साथ लेकर Retreat हो गए। 


इस दौरान बुरकापाल DRG/STF ने कम से कम 8 माओवादियों को मार गिराया लेकिन लगातार गोलीबारी होने से माओवादियों का शव व हथियार तत्काल बरामद नहीं किया गया। DRG/STF के कुछ जवान माओवादियों की गोली और ग्रेनेड लगने से घायल हो गये। इसके बावजूद भी जवानों द्वारा लड़ाई को निर्णायक मोड़ तक ले जाने के उद्देश्य से घायल व बाकी साथियों द्वारा नक्सलियों से मात्र 20-25 मीटर की दूरी में पहुंचकर कई माओवादियों को मार गिराया गया। विगत वर्षों में यह पहला अवसर है कि जिसमें सुरक्षाबल-माओवादियों के बीच आमने-सामने की युद्ध जैसी परिस्थिति में मुठभेड़ हुई। अभी तक विभिन्न सुत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार माओवादियों के बटालियन नंम्बर 1, CRC कंपनी एवं PLGA प्लाटून के कम से कम 15 से अधिक माओवादी मारे जाने तथा 20 से अधिक माओवादी गंभीर रूप से घायल होने की जानकारी प्राप्त हो रही है, जिन्हें तस्दीक किया जाकर बहुत जल्द उसका नाम विवरण सार्वजनिक किया जायेगा।
पी सुन्दरराज ने कहा कि हमें अफसोस है कि 17 वीर जवानों को हमने खो दिया है लेकिन उनकी शहादत और वीरता पर बस्तर पुलिस परिवार पर अत्यंत ही गर्व है। शहीद के परिजनों को सभी प्रकार सहायता के लिए हमारे विभाग संकल्पित है।

23-03-2020
Breaking : राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार आएंगे रायपुर,सुकमा का दौरा भी

रायपुर। प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय सलाहकार के विजय कुमार आज रायपुर पहुंचेंगे। बता दें कि नक्सल मामले के जानकार और प्रधान-मंत्री के सलाहाकार के विजय कुमार इंडिगो की रूटीन फ्लाइट से आएंगे। उनका यह दौरा सुकमा में  नक्सली  हमले में 17 जवानों की शहादत के बाद बेहद अहम माना जा रहा है।

21-03-2020
Breaking : बस्तर के कई इलाको में लोगों ने महसूस किए भूकंप के झटके, मौसम वैज्ञानिक ने दी जानकारी

रायपुर। बस्तर में लोगों ने शुक्रवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए। 3 सेकेंड तक लोगों ने झटके महसूस किए और अपने घर, दफ्तर एवं दुकानों से बाहर आ गए। मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा लालपुर केंद्र ने कहा कि चेन्नई से पूर्व दिशा में 471 किलोमीटर दूर एक भूकम्प  4.8 मेग्नीट्यूड का आया है जिसका समय 11:15  बजे है इसकी गहराई भी 10 किलोमीटर है। इसका अच्छा अक्षांश 12.8 265 और देशांतर 84.6 140 है। जगदलपुर से 34 किलोमीटर दूर दक्षिण पूर्व दिशा में 4.2 रिक्टर पैमाने की तीव्रता के भूकंप 11:14 : 44 IST आया है, जिसकी गहराई 10 किलोमीटर भूकम्प का केन्द्र था। इसका अक्षांश 18.8 527 और देशांतर 82.2315 है। बता दें कि बस्तर के सुकमा, छिंदगढ़ और मलकानगिरी में 4.2 तीव्रता के भूकंप के झटके लोगों ने महसूस किए। जैसे भूकंप के झटके महसूस हुए तो लोग अपने घर, दफ्तर और दुकानों से बाहर निकल गए। इस भूकंप के बाद से लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है।  

 

18-03-2020
गरीबी उन्मूलन के लिए पूरा ध्यान केंद्रित करें : आरपी मंडल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप गरीबी उन्मूलन अभियान के लिये कारगर कार्ययोजना तैयार कर उसे बेहतर ढंग से क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। इसके साथ ही मलेरिया और कुपोषण मुक्ति के लिए सार्थक पहल किया जाये। उक्त निर्देश मुख्य सचिव आरपी मण्डल ने दन्तेवाड़ा कलेक्टोरेट के दन्तेवाड़ा एवं बीजापुर जिले के जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक के दौरान दिये। आरपी मण्डल ने कहा कि राज्य शासन ने आगामी चार वर्षो में दन्तेवाड़ा जिले में गरीबी के औसत को राष्ट्रीय औसत से कम करने का जो लक्ष्य निर्धारित किया है,इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये मिशन मोड में काम करना होगा। सभी विभागों को आपसी समन्वय स्थापित कर निर्धन तबके के लोगों की आय संवृद्धि के लिए पहल करना होगा। आरपी मंडल ने गरीबी उन्मूलन अभियान के लिये सबसे पहले बेस लाइन सर्वेक्षण कर कार्ययोजना तैयार कर क्रियान्वयन पर पूरा फोकस किये जाने अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने गरीबी उन्मूलन अभियान के लिये कृषि, उद्यानिकी, सिंचाई,पशुपालन, मत्स्यपालन, ग्रामोद्योग इत्यादि सेक्टरों को समाहित कर कारगर कार्ययोजना तैयार करने अधिकारियों को निर्देशित किया।

आरपी मण्डल ने कहा कि बस्तर में कुपोषण मुक्ति के लिए बेहतर कार्य हो रहा है, यहां बच्चों, शिशुवती एवं गर्भवती माताओं सहित शाला त्यागी किशोरी बालिकाओं को पौष्टिक गर्म भोजन के साथ ही अतिरिक्त आहार के रूप में अंडा और मूंगफली-फूटा चना एवं गुड़ का लड्डू उपलब्ध कराया जा रहा है। इसका सकारात्मक परिणाम परिलक्षित होने लगा है लेकिन अभी इस दिशा में अधिक मेहनत करना है और बस्तर के बच्चों,माताओं और किशोरी बालिकाओं को कुपोषण से निजात दिलाना है।  बैठक में लोक निर्माण तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव सिदार्थ कोमल परदेशी, संस्कृति विभाग के सचिव पी.अनबलगन, प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी,प्रबन्ध संचालक राज्य लघु वनोपज संघ संजय शुक्ला, कमिश्नर बस्तर संभाग अमृत कुमार खलखो,मुख्य वन संरक्षक जगदलपुर वृत्त मो.शाहिद सहित दन्तेवाड़ा एवं बीजापुर जिले के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक,डीएफओ, सीईओ जिला पंचायत तथा विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

 

18-03-2020
मौसम के मिजाज में हो सकता है परिवर्तन, तेज बारिश के आसार

रायपुर। राज्य में मौसम का मिजाज एक बार फिर से बदल सकता है। इस दौरान बस्तर सहित राज्य के कई इलाकों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। मौसम विभाग से जुड़े सूत्रों की माने तो 20 और 21 मार्च को राज्य के उत्तरी इलाकों में गरज-चमक की संभावनाएं बन गई है। हालांकि मौसम विभाग के अनुसार इससे तापमान में कोई खास अंतर नहीं आएगा। मौसम विभाग की माने तो तमिलनाडु से पूर्वी विदर्भ तक एक द्रोणिका स्थित है। इसके साथ ही दक्षिण से हवा भी आ रही है। रायपुर समेत कुछ इलाकों में आज गरज-चमक के साथ छीटे पडऩे की संभावना ज्यादा है। इसकी संभावना शाम को ज्यादा बन रही है। इसके अलावा उत्तरी छत्तीसगढ़ में 20 और 21 मार्च को ओले गिरने के आसार हैं। 

15-03-2020
बस्तर पहुंचे विदेशी मेहमान से मारपीट और लूटपाट, राजमहल में बुलाकर भंजदेव ने मांगी माफी और दिया तोहफे में नया कैमरा

रायपुर। होली यानी रंग गुलाल और प्यार का त्यौहार लेकिन इसी बीच छत्तीसगढ़ प्रदेश के बस्तर में होली त्यौहार को देखने पहुंचे युक्रेन के पर्यटक से माड़पाल में होली स्थल से ढ़ाई किलोमीटर पहले मारपीट और कैमरा छीनने की घटना को कुछ अपराधियों ने अंजाम दिया। युक्रेन के सोलोविफ सेरजी नामक पर्यटक से मारपीट और कैमरा छीनने की बात जैसे ही बस्तर के पूर्व राजपरिवार के सदस्य कमलचंद्र भंजदेव को पता चली तो उन्होंने दुख जताते हुए सेरजे को राजमहल बुलाकर नया कैमरा दिया। यहीं नहीं कमलचंद्र ने घटना पर अफसोस जताते हुए कहा कि अतिथि देवो भव: अर्थात् मेहमान भगवान होता है। बता दें कि विगत 15 दिनों से सेरजी बस्तर घूम रहे थे। होलिका दहन देखने के लिए वह ग्राम माड़पाल पहुंचे हुए थे,जहां उनके साथ मारपीट और कैमरा छीनने की वारदात को अपराधियों ने अंजाम दिया। मारपीट में सेरजी को कुछ चोटें भी आईं। भंजदेव ने सेरजी की मदद की और जगदलपुर के महारानी अस्पताल में उनका इलाज कराया। धन्यवाद ज्ञापित करने सेरजी भंजदेव से मिलने पहुंचे तो उन्होंने नया कैमरा तोहफे में दिया और भविष्य में कभी भी बस्तर यात्रा के लिए सारी सुविधाएं मुहैया कराने की जिम्मेदारी ली।

13-03-2020
कौशिक ने आश्रम छात्रावासों में लापरवाही को आपराधिक मामला बताया, कार्रवाई की मांग

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने बस्तर संभाग के स्कूल आश्रम छात्रावासों में व्याप्त लापरवाही को आपराधिक मामला बताते हुए प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है। कौशिक ने कहा कि सुकमा क्षेत्र के पोटाकेबिन आश्रम-छात्रावास में एक छात्र की बीमारी से मौत के कुछ ही दिनों के अंतराल में जगदलपुर के मोरठपाल बालिका आश्रम में दो छात्राओं की बीमारी से हुई मौतें प्रदेश सरकार के तमाम दावों की पोल खोल देने के लिए पर्याप्त हैं। कौशिक ने इन मामलों में दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने और पीड़ित परिजनों को पर्याप्त आर्थिक मदद देने की मांग की है।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि इन आश्रमों के अधीक्षकों ने पूरे मामले को दबाने व छिपाने का दुस्साहस तक किया। सुकमा के पोटाकेबिन छात्रावास के अधीक्षक ने तो खुद जाँच करने पहुँचे अधिकारियों को गुमराह किया ही, मृत छात्र के परिजनों से भी झूठा बयान दिलाने का दंडनीय अपराध किया। इधर मोरठपाल बालिका आश्रम की अधीक्षक ने अपने आला अफसरों को दो छात्राओं की मौत की जानकारी तक देना मुनासिब नहीं समझा। अगर पीड़ित परिजनों ने आश्रम की अव्यवस्था पर सवाल खड़ा नहीं किया होता तो न जाने कैसा मंजर होता। कौशिक ने कहा कि हाल के ही महीनों में दंतेवाड़ा के एक छात्रावास में एक छात्रा के गर्भधारण का गंभीर प्रकरण सामने आने के बावजूद न तो शासन-प्रशासन ने संजीदा होना जरूरी समझा और न ही अपनी कार्यप्रणाली में सुधार लाने की इच्छा शक्ति दिखाई है, इसलिए तमाम दावों के बावजूद बस्तर के ये आश्रम-छात्रावास अराजकता के प्रतीक केंद्र बनते जा रहे हैं।

 

08-03-2020
Breaking : मंदिर हसौद थाना प्रभारी को डीजीपी ने किया सस्पेंड, भेजा बस्तर

रायपुर। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने मंदिर हसौद थाना प्रभारी नरेश कांगे को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का निर्देश जारी किया है। उन्हें निलंबन अवधि में रक्षित केंद्र बस्तर सम्बद्ध किया गया है। नरेश कांगे पर यह कार्रवाई मंदिर हसौद थाना इलाके में 7 मार्च को बड़ी मात्रा में अवैध शराब मिलने के बाद की गई है। डीजीपी की ओर से जारी निर्देश पत्र में कहा गया है कि इस प्रकरण में थाना प्रभारी की ओर से कोई वांछित कार्रवाई तुरंत नहीं की गई। यह कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही है। इसके बाद नरेश कांगे को निलंबित करने के निर्देश जारी किए गए हैं। निलंबन अवधि के दौरान उन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता रहेगी।

03-03-2020
स्थानीय लोगों की उपेक्षा को लेकर दायर जनहित याचिका की अगली सुनवाई 6 मार्च को

बिलासपुर। हाइकोर्ट में दायर जनहित याचिका में शिक्षक भर्ती में स्थानीय लोगों की उपेक्षा को लेकर समयाभाव के कारण अगली सुनावाई 6 मार्च को होगी। खंडपीठ ने तय की है कि प्रारंभिक सुनवाई के बाद बस्तर व सरगुजा संभाग के अलावा कोरबा जिले में नियुक्ति आदेश पर रोक लगा दी है। राज्य सरकार ने शिक्षकों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया था। इसके बाद राज्य सरकार द्वारा राजपत्र में संशोधन कर नियमित शिक्षक भर्ती में स्थानीय लोगों को लाभ न दिए जाने का खुलासा कर दिया है। शासन के इस निर्णय के खिलाफ बस्तर व सरगुजा संभाग के उम्मीदवारों ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर दी है। प्रारंभिक सुनवाई के दौरान खंडपीठ ने यथास्थिति बनाए रखने का आदेश जारी करते हुए नियुक्ति आदेश जारी करने पर रोक लगा दी थी। जनहित याचिका की बीते दिन सुनवाई होनी थी लेकिन समयाभाव होने के कारण अगली सनुवाई 6 मार्च की तिथि खंडपीठ ने तय कर दी है।


 

02-03-2020
मुख्यमंत्री ने सड़क दुर्घटना में चार लोगों की मौत पर किया दुख प्रकट 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बस्तर जिले के रायकोट के पास हुए सड़क दुर्घटना में चार लोगों की मृत्यु पर गहरा दुख प्रकट किया है। उन्होंने जिला प्रशासन को इस घटना में घायलों के उचित उपचार और हर संभव मदद के निर्देश दिए हैं। ज्ञात हो कि सोमवार सुबह गीदम मार्ग पर रायकोट के पास पिकअप वाहन अनियंत्रित होकर पलट गई जिससे चार लोगों की मृत्यु हो गई। वाहन में सवार अन्य लोग घायल हो गए, जिनका उपचार डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में किया जा रहा है।
 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804