GLIBS
26-10-2020
Breaking : भूपेश कैबिनेट की बैठक खत्म,जल जीवन मिशन के सभी टेंडर निरस्त करने का फैसला

रायपुर। भूपेश कैबिनेट की बैठक मुख्यमंत्री निवास में खत्म हो चुकी है। बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। कैबिनेट की बैठक में जलजीवन मिशन का भी मामला रखा गया। इस पर सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। जल जीवन मिशन के सभी टेंडर निरस्त होंगे। टेंडर 10 हजार करोड़ का था। इसमें कई अनियमितता और गड़बड़ियां सामने आई है। इस संबंध में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से शिकायत की गई थी। बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जल जीवन मिशन के अंतर्गत कार्य आबंटन प्रक्रिया के संबंध में प्राप्त हो रही विभिन्न शिकायतों को गंभीरता से लिया था। उन्होंने शिकायतों के परीक्षण के लिए मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव वित्त और सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की तीन सदस्यीय टीम गठित की। जल जीवन मिशन के अंतर्गत ग्रामीण इलाकों के घरों में वर्ष 2024 तक पाइप लाइन के माध्यम से पेयजल आपूर्ति का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वर्तमान में जल जीवन मिशन में लगभग 7 हजार करोड़ रूपए के कार्यो के आबंटन की प्रक्रिया प्रगति पर है।

25-09-2020
Video: नोटिस का जवाब नहीं देने पर नगर निगम आयुक्त ने किया टेंडर निरस्त

अम्बिकापुर। नगर निगम के सामुदायिक भवनों को किराए में दिए जाने और उसके किराए की राशि में गड़बड़ी किए जाने के बाद अब बड़ी कार्यवाही की गई है। इसमें नगर निगम की पहली सामान्य सभा में उठे इस मुद्दे को लेकर निगम प्रशासन ने भवनों के ठेकेदार को नोटिस जारी कर राशि जमा करने का फरमान भी जारी किया था। वही विपक्षी दल भाजपा के पार्षद इस मामले में पूरी प्रकिया को नियम विरुद्ध बताया था। निगम आयुक्त हरेश मांडवी ने बताया की  ठेकेदार को सरगुजा सदन,राजमोहनी देवी भवन समेत निगम क्षेत्र के तीन भवनों को किराए में लेने वाले ठेकेदार पर 2017 से 2020 तक निगम को 1 करोड़ 10 लाख रूपए किराया देना था। लेकिन नगर निगम के दो नोटिस के बाद भी किसी तरह का कोई जवाब नहीं मिलने से राजमोहनी देवी भवन का टेंडर निरस्त कर दिया गया है। साथ ही और दो भवनों पर कार्यवाही करने प्रक्रिया चल रही है। इधर ठेकेदार ने इस कार्यवाही को नियम विरुद्ध बताते हुए कहा है की मेरा पैसा भी निगम पर बकाया है,जिसकी वजह से पैसे  देने में देरी हुई है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804