GLIBS
17-02-2020
Exclusive : रेलवे डाल-डाल तो किन्नर पात-पात, पापी पेट का सवाल या फिर ग्लैमर, जबर्दस्त हो रही सेंधमारी

रायपुर। तू डाल-डाल तो मैं पात-पात। यह मुहावरा इन दिनों राजधानी के रेलवे स्टेशन पर सटीक बैठ रहा है। एक ओर रेलवे प्रशासन और पुलिस अपने संपत्ति की सुरक्षा के लिए चाक-चौबंद है, कोई चूक नहीं करना चाहते तो वहीं पापी पेट के सवाल के लिए, किन्नर भी रेलवे से दो कदम आगे निकल रहे हैं। सुदृढ़ सुरक्षा व्यवस्था के दावों को खोखला साबित कर किन्नर रोजाना रेलवे के अभेद किले में जबर्दस्त सेंधमारी कर रहे हैं। ग्लिब्स डॉट इन की पड़ताल में चौंकाने वाली बात सामने आई है कि इंटीग्रेटेड सिस्टम से बचकर किन्नरों ने स्टेशन में आने-जाने का नया रास्ता खोज निकाला है। किन्नर धड़ल्ले से प्रवेश के बाद अपना काम निपटाकर बड़ी आसानी से बाहर निकल रहे हैं।

शुरू में दिखी सख्ती, अब दिखने लगी लापरवाही :

आपको बता दें कि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय रेल के कुल 202 रेलवे स्टेशनों को इंटीग्रेटेड सिक्यूरिटी सिस्टम से कवर करने का निर्देश दिया गया था। इस स्टेशन सिक्यूरिटी प्लान के तहत रेलवे स्टेशन रायपुर भी शामिल किया गया। गत वर्ष 23 सितंबर से यह व्यवस्था रायपुर रेलवे स्टेशन में लागू हुई। रेलवे स्टेशन को चारों ओर से कवर करने का काम किया गया। व्यवस्था ऐसी दिखी कि कोई परिंदा भी पर नहीं मार सके। सिस्टम के लाभ से रेलवे प्रशासन ने समय-समय पर राजस्व में निरंतर वृद्धि के साथ सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ़ होने के आंकड़े भी जारी किए। अब रेलवे की लापरवाही से यह व्यवस्था समय के साथ कुछ कमजोर होती नजर आ रही है।

 

हालात जस के तस, इंटीग्रेटेड सिस्टम की उड़ी धज्जियां :

इंटीग्रेटेड सिक्यूरिटी सिस्टम लागू होने के बाद कुछ माह तो चारों ओर सख्त निगरानी देखी गई, जो अब केवल एक हिस्से में सिमट कर रह गई है। लोग धड़ल्ले से पीछे की ओर से प्रवेश कर दावों को खोखला साबित कर रहे हैं। खासकर किन्नरों ने नया रास्ता ढूंढ निकाला है। प्लेटफार्म क्रमांक 5-6 के अंतिम छोर पर स्थित रेलवे वरिष्ठ अनुभाग अभियंता कार्यालय के ठीक सामने बेखौफ किन्नरों की अवैध पार्किंग बन चुकी है तो कार्यालय के ठीक बाजू से गुढ़ियारी की ओर निकलने वाला रास्ता प्रवेश और निकासी का पॉइंट। शाम 5 बजे के बाद यह जगह किन्नरों के लिए दिनभर हुई कमाई के बंटवारे का अड्डा बन चुकी है। शायद इस बात से रेलवे प्रशासन और सुरक्षा में तैनात टीम अनजान है।

आजीविका की मजबूरी या ग्लैमर की मांग : 

किन्नरों के सामने आज सबसे बड़ी मजबूरी आजीविका की है। समाज की मुख्यधारा में सही जुड़ाव और सुविधाएं नहीं मिलने से किन्नरों का एक वर्ग आज भी अपने पुश्तैनी काम में लगा हुआ है। किसी के घर शादी हो या जन्म या फिर त्यौहार, किन्नर खुशियों में शामिल होने आते हैं। ढोलक की थाप पर नाच-गाना कर दुआएं देते हैं। इसके विपरीत पापी पेट के सवाल के लिए किन्नर भिक्षावृत्ति का भी काम करने के लिए मजबूर हैं। अक्सर ट्रेनों में किन्नरों को पैसा मांगते देखा जा सकता है। अब यह ग्लैमर भी बन चुका है। किन्नरों की बढ़ती कमाई और रहन-सहन को देखते हुए लोग आज नकली किन्नर बनकर वसूली करने तक से बाज नहीं आ रहे हैं।  इस संबंध में खबरें अब आम हो चुकी है।

आम आदमी और यात्रियों की परेशानी : 

किन्नरों का ट्रेनों में मांगना रोजी-रोटी तक तो सही है, लेकिन आज यह ग्लैमर भी बन चुका है। किन्नरों की बढ़ती कमाई को देखते हुए लोग आज नकली किन्नर बन कर वसूली करने से बाज तक नहीं आ रहे हैं। यह घटनाएं भी अब आम हो चुकी है। कई किन्नर ट्रेनों में स्वेच्छा से मिलने वाले पैसों को लेकर शांति से निकल जाते हैं लेकिन यदि कोई मना कर दे तो अभद्र व्यवहार होते भी देर नहीं लगती। महंगे शौक और ग्लैमरस लाइफ को पाने के लिए अधिकाधिक किन्नरों ने मांगने का रास्ता ही अपना लिया है।

 

कार्रवाई के बाद भी वही हालात :

गत दिनों छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में किन्नरों द्वारा यात्रियों को परेशान करने की शिकायत पर रेलवे पुलिस ने तीन किन्नरों के साथ एक वेंडर को भी गिरफ्तार किया था। यह यात्रियों से ट्रेनों में अवैध वसूली करने की कोई नई बात नहीं है। ऐसे कई मामले होते हैं लेकिन ज्यादातर यात्री डर के मारे किन्नरों को पैसे दे देते हैं। रेलवे पुलिस की सख्ती और जांच के दौरान किन्नर सतर्क हो जाते हैं, थोड़ा ढिलाई होने पर फिर अपने काम में लग जाते हैं। वैसे ट्रेन में किन्नरों का पैसे मांगना अवैध है। यात्रा के दौरान अभद्र व्यवहार का सामना करना पड़े तो 182 टोल फ्री नंबर पर शिकायत कर सकते हैं। नजदीकी स्टेशन पर यात्रियों को सहायता प्राप्त होगी।

 

17-02-2020
महाकाल एक्सप्रेस के सभी कोच में बजता है ओम नम: शिवाय मंत्र, साथ ही गूंजता है अन्य भजनों की धुन

नई दिल्ली। वाराणसी से इंदौर के बीच चलने वाली आईआरसीटीसी की कॉरपोरेट ट्रेन काशी महाकाल एक्सप्रेस रविवार को पहली बार कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर आई। ट्रेन में ओम नम: शिवाय मंत्र की धुन बज रही थी। ट्रेन के एक कोच में भगवान शिव का छोटा सा मंदिर भी बनाया गया यहां पर पूजा-अर्चना के बाद नारियल फोड़कर इसका स्वागत किया गया। उल्लेखनीय है कि रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो ज्योतिर्लिंग को जोड़ने के लिए ट्रेन काशी-महाकाल एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर शुरुआत की थी। भगवान शिव के तीन ज्योतिर्लिंगों ओंकारेश्वर, महाकालेश्वर और काशी विश्वनाथ को जोड़ने वाली काशी महाकाल एक्सप्रेस सप्ताह में दो दिन वाराणसी से इंदौर के बीच चलेगी। महाकाल एक्सप्रेस में 12 कोच हैं। सभी एसी थ्री टियर कोच हैं। आईआरसीटीसी की ओर से कैटरिंग सेवाएं दी यात्रियों को जाएंगी। ट्रेन में सर्विस देने वाले कर्मियों का ड्रेस केसरिया है। इसका टिकट ऑनलाइन मिलेगा। इस ट्रेन की विषेशता है कि इसमें ऊं नम: शिवाय मंत्र बजता रहता है।

15-02-2020
यात्री का पर्स पार करने वाला युवक पकड़ा गया, अमरकंटक एक्सप्रेस की घटना

रायपुर। ट्रेन में सवार होते समय यात्री का पर्स पार करने वाले युवक को शनिवार को रेलवे पुलिस ने न्यायालय में पेश किया। यात्री प्रेम लाल वर्मा ( 33) केवतरा, बजरंग चौक रायपुर निवासी 14 फरवरी को अमरकंटक एक्सप्रेस की सामान्य बोगी में चढ़ रहा था, इस दौरान आरोपी ने पर्स पर किया था। यात्री ने मामले की शिकायत शासकीय रेलवे पुलिस थाना में की। इस पर मंडल टास्क टीम रायपुर ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी को पकड़ा। आरोपी दुर्गेश गुप्ता (20 ) कैलाशपुरी ,पुजारी वाटिका के पास रायपुर का रहने वाला है। आरोपी को चोरी हुए पर्स के साथ पकड़ा गया। पर्स में आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस की ओरिजिनल कॉपी नगदी -2900 रुपए थे। मंडल टास्क टीम ने आरोपी को शासकीय पुलिस थाना रायपुर को आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए सौंपा। आरोपी के विरुद्ध धारा 379 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर उसे न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। आरोपी को पकड़ने में मंडल टास्क टीम रायपुर के प्रभारी सनातन थानापति, प्रधान आरक्षक पीके मेश्राम, प्रधान आरक्षक एचएस सोलंकी, आरक्षक व्हीसी बंजारे, आरक्षक पीके सोनी और आरक्षक देवेश सिंह की भूमिका रही।

 

15-02-2020
यात्रीगण कृपया ध्यान दें- आज से 13 दिन प्रभावित रहेंगी कई ट्रेनें, देखिए रेलवे ने क्या की विशेष व्यवस्था....

रायपुर। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर मंडल के अंतर्गत जामगा-दगोरा-हिमगीर और बेलपहाड़ स्टेशनों में तीसरी लाइन कनेक्टीविटी का कार्य किया जा रहा है। इसके लिए आज 15 फरवरी से 27 फरवरी तक प्री नान-इंटरलाकिंग/नान इंटरलाकिंग कार्य किया जाएगा। इस कार्य के चलते कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित होगा। रेलवे के अनुसार इस कार्य के पूर्ण होते ही गाड़ियों की समयबद्धता और गति में तेजी आएगी। कार्य के दौरान कुछ  यात्री गाड़ियों का परिचालन प्रभावित रहेगा, लेकिन  रेलवे की ओर से यात्रियों की सुविधा के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। रेलवे प्रशासन ने यात्रियों को होने वाली असुविधा के लिए खेद व्यक्त करते हुए सहयोग की आशा की है।

यात्रियों की सुविधा के लिए विशेष व्यवस्था :
14 से 26 फरवरी तक हावड़ा से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12834 हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस को झारसुगड़ा-रायगढ़ के मध्य पैसेंजर के रूप में चलाया जाएगा। 15 से 27 फरवरी तक दुर्ग से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 13287 दुर्ग-राजेन्द्रनगर साउथ विहार एक्सप्रेस ,बिलासपुर-झारसुगडा के मध्य पैसेंजर के रूप चलाई जाएगी। इसी तरह14 से 26 फरवरी तक राजेन्द्रनगर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 13288 राजेन्द्रनगर-दुर्ग साउथ विहार एक्सप्रेस का अस्थायी ठहराव बाराद्वार, जांजगीर नैला और जयरामनगर स्टेशनों में दी गई है।

कार्य के चलते प्रभावित होंगी ये गाड़ियां : 
गाडी संख्या 58113 टाटानगर-बिलासपुर पैसेंजर 14 से 26 फरवरी तक (कुल 13 दिन) रद्द रहेगी। 58114 बिलासपुर-टाटानगर पैसेंजर 15 से 27 फरवरी तक (कुल 13 दिन) रद्द रहेगी। 68737/68738 रायगढ़-बिलासपुर-रायगढ़ मेमू 15 से 27 फरवरी  तक (कुल 13 दिन) रद्द रहेगी। 02410 रायगढ़-संबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस 16 से 27 फरवरी तक (कुल 9 दिन) रद्द रहेगी। 02409 संबलपुर-रायगढ स्पेशल एक्सप्रेस 17 से 28 फरवरी तक (कुल 9 दिन) रद्द रहेगी। 16, 20 और 23 फरवरी को टाटानगर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22886 टाटानगर-एलटीटी अंत्योदय एक्सप्रेस रद्द रहेगी। 18, 22 और 25 फरवरी को एलटीटी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22885 एलटीटी-टाटानगर अंत्योदय एक्सप्रेस रद्द रहेगी। 18 और 25 फरवरी को इंदौर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 19317 इंदौर-पुरी हमसफर एक्सप्रेस रद्द रहेगी। 19 और 26 फरवरी को पुरी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 19318 पुरी-इंदौर हमसफर एक्सप्रेस रद्द रहेगी। 17 और 24 फरवरी को नांदेड़ से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12767 नांदेड़-सांतरागाछी एक्सप्रेस रद्द रहेगी। 19 और 26 फरवरी  को संतरागाछी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12768 सांतरागाछी-नांदेड़ एक्सप्रेस रद्द रहेगी।

गंतव्य से पहले इन गाड़ियों को किया जाएगा समाप्त : 
गाड़ी संख्या 58820/58819 झारसुगड़ा-गोंदिया-झारसुगड़ा पैसेंजर, 15  से 27 फरवरी तक (कुल 13 दिन) बिलासपुर-गोंदिया-बिलासपुर के मध्य चलेगी। यह गाड़ी उक्त दिन तक झारसुगडा-बिलासपुर-झारसुगड़ा के मध्य रद्द रहेगी। 58111/58112 टाटानगर-ईतवारी-टाटानगर पैसेंजर, 15 से 27 फरवरी तक (कुल 13 दिन) टाटानगर-झारसुगड़ा-टाटानगर के मध्य चलेगी। यह गाड़ी उक्त दिनों तक झारसुगड़ा-ईतवारी-झारसुगड़ा के मध्य रद्द रहेगी। 58213/58214 टिटलागढ़-बिलासपुर-टिटलागढ़ पैसेंजर,15 से 27 फरवरी तक (कुल 13 दिन) रायगढ़-बिलासपुर-रायगढ़ के मध्य चलेगी। यह गाडी उक्त दिनों तक टिटलागढ-रायगढ-टिटलागढ के मध्य रद्द रहेगी।

12-02-2020
ओएचई फेल्योर होने से कई ट्रेनों की थमी रफ्तार, सुधार कार्य में जुटी रेलवे की टेक्निकल टीम

रायपुर। नागपुर डिवीजन के अंतर्गत बुधवार सुबह ओएचई फेल्योर (हाई वोल्टेज लाइन टूटने) होने से नागपुर से रायपुर की ओर आने वाली कई ट्रेनों की रफ्तार थम गई है। राजनांदगांव के बाकल-मुसरा के बीच हाई वोल्टेज तार टूटने के कारण यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। घटना के संबंध में रायपुर मंडल के सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर शिव प्रसाद पंवार ने कहा कि घटना सुबह साढ़े 7 बजे के आस-पास की है। ओएचई फेल्योर होने से नागपुर से रायपुर की ओर आने वाली सभी गाड़ियां प्रभावित हुई हैं। ट्रेनों को अलग-अलग स्टेशनों में नियंत्रित किया गया है। गाड़ी संख्या 68705 और 68706 को दुर्ग स्टेशन में नियंत्रित किया गया है। कुछ ट्रेनों को डोंगरगढ़ स्टेशन में रोका गया है। घटना की जानकारी मिलने के बाद रायपुर और नागपुर से टेक्निकल टीम मौके पर रवाना हुई थी। सुधार कार्य जारी है, लाइन क्लीयर होने में कुछ  और वक्त लग सकता है।

12-02-2020
26 फरवरी को पुरी-अजमेर के मध्य स्पेशल ट्रेन, सारनाथ में एक्स्ट्रा कोच की सुविधा

रायपुर। 808वें ख्वाजा उर्स मेला के अवसर पर गाड़ियों में होने वाली भीड़ को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। पुरी और अजमेर के मध्य एक फेरे के लिए गाड़ी संख्या 08421/08422 पुरी-अजमेर-पुरी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन चलाई जाएगी। यह गाड़ी 08421 पुरी-अजमेर एक्सप्रेस 26 फरवरी (बुधवार) को पुरी से अजमेर के लिए और 08422 अजमेर-पुरी एक्सप्रेस 2 मार्च (सोमवार) को अजमेर से पुरी के लिए स्पेशल ट्रेन के रूप में एक फेरे के लिए छुटेगी। इस गाड़ी में 2 एसएलआर, 6 सामान्य कोच, 9 स्लीपर कोच, 4 एसी-3, 1 एसी-2 सहित कुल 22 कोच रहेंगे। इसी तरह होली त्यौहार और गर्मी की छुट्टियों के लिए ट्रेन नंबर 15159 छपरा-दुर्ग और 15160 दुर्ग-छपरा सारनाथ एक्सप्रेस में एक अतिरिक्त स्लीपर कोच 10 फरवरी से लगाया गया है। इस एक्स्ट्रा कोच की सुविधा 11 अप्रैल तक दी जाएगी।

स्पेशल ट्रेन की समय-सारिणी इस प्रकार है...

 

06-02-2020
नग्नावस्था में नाले में मिली नवजात बच्ची, अस्पताल में कराया गया भर्ती

नई दिल्ली। उत्तराखंड में कभी कूड़े में तो कभी नाले में नवजातों के मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा है। नैनीताल के सात नंबर क्षेत्र में गुरूवार सुबह एक नवजात बच्ची नग्नावस्था में नाले में पड़ी हुई मिली। कड़ाके की ठंड में बच्ची को बिना कपड़ाें के देख राहगीरों का भी दिल पसीज गया। लोगों ने बच्ची को देखा तो तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बच्ची को देखा तो उसकी सांसे चल रही थी। पुलिस ने बच्ची को बीडी पांडे अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची को अभी वैंटीलेटर पर रखा गया है। ठंड में बिना कपड़ाें के रहने से उसे काफी परेशानी हुई है। बच्ची का इलाज किया जा रहा है। बच्ची प्रीमैच्योर है। बच्ची ठंड में अकड़ी हुई थी। ठंड में होने के कारण इसको हाइपोथर्मिया भी शिकायत थी। अभी स्थिति गंभीर बनी हुई है। जांचों के बाद ही सही स्थिति पता लगेगी।

रुद्रपुर में रेलवे स्टेशन पर मिली थी बच्ची

गणतंत्र दिवस की रात रुद्रपुर रेलवे स्टेशन से रवाना हुई ट्रेन में एक व्यक्ति नवजात बच्ची को एक यात्री की गोद में डालकर भाग गया था। यात्री ने चेन खींचकर ट्रेन रोकने के बाद मासूम को आरपीएफ चौकी में सौंपा। जानकारी के अनुसार, एक व्यक्ति ने सामान्य कोच के गेट पर खड़े यात्री को उसका बच्चा पकड़ने को कहा ताकि वह ट्रेन में चढ़ सके, लेकिन जैसे ही गेट पर खड़े यात्री ने उसकी मदद के लिए बच्ची को गोद में पकड़ा, वैसे वह भाग गया। समाजसेवी बत्रा ने नवजात को अस्पताल में भर्ती कराया था। अस्पताल के सर्जन डॉ. जसविंदर सिंह ने कहा था कि बच्ची को एनआईसीयू में नि:शुल्क रखा जाएगा। समाजसेवी बत्रा और सुशील गाबा ने कहा कि बच्ची रात के अंधेरे में मिली, इसलिए इसका नाम उजाला रखा।

06-02-2020
रंजीत बच्चन हत्याकांड मामले में शूटर को पुलिस ने मुंबई से किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। लखनऊ में विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की हत्या के मामले में पुलिस को कामयाबी मिली है। पुलिस ने मुंबई से एक शूटर को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि पुलिस की गिरफ्त में आए शूटर को लखनऊ लाया जा रहा है। रंजीत की मॉर्निंग वॉक से लौटते वक्त रविवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सूत्रों के मुताबिक वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी ट्रेन से मुंबई फरार हो गया था।बता दें कि रविवार सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले रंजीत यादव पर हमलावरों ने हजरतगंज के छतर मंजिल इलाके में गोलियां बरसाई थीं। ग्लोब पार्क के पास बदमाशों ने इस वारदात को अंजाम दिया था। ज्यादा खून बहने के कारण उनकी मौत हो गई थी। कहा जा रहा है कि उन्हें 9 एमएम की पिस्टल से गोली मारी गई। यह पिस्टल पेशेवर लोगों द्वारा उपयोग की जाती है। एसीपी नवीन अरोड़ा ने कहा कि पुलिस ने घटनास्थल से दो मोबाइल फोन बरामद किए हैं और साइबर सेल कॉल डिटेल्स निकाल रही है। पुलिस ने एक सीसीटीवी फुटेज भी जारी किया है, जिसमें दो संदिग्धों को देखा गया है। इन पर 50 हजार रुपये का इनाम भी जारी किया गया था।

 

03-02-2020
ट्रेन की छत पर चढ़ा और ले रहा था सेल्फी, करेंट की चपेट में आने से गई जान

रायपुर। आजकल के युवाओं में सेल्फी की दीवानगी इस कदर बढ़ चुकी है कि वे कभी ट्रेन की छत पर तो कभी बांध के पुल और नदियों के बीच खतरनाक स्थिति में सेल्फी लेने के चक्कर में अपनी जान गवां रहे है। बावजूद इसके सेल्फी का क्रेज खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। बता दें कि बिलासपुर जिले के बेलगहना रेलवे स्टेशन में खड़ी ट्रेन के ऊपर चढ़कर सेल्फी ले रहा किशोर ओएचई तार की चपेट में आ कर बुरी तरह झुलस गया। किशोर को हादसे के बाद सिम्स अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

तखतपुर क्षेत्र के ग्राम हरदी निवासी धनराज बघेल 16 वर्ष ने 29 जनवरी को अपने बड़े पिता एवं अन्य लोगों के साथ पंथी नृत्य के कार्यक्रम में शामिल होने बेलगहना के पास गांव गया था। किशोर कार्यक्रम में शामिल होने के बाद सभी लोगों के साथ गांव लौटने के लिए बेलगहना रेलवे स्टेशन में ट्रेन का इंतजार कर रहा था। उस समय रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म में डीजल इंजन वाली ट्रेन खड़ी थी। धनराज अपने मोबाइल से सेल्फी लेने के लिए इंजन के पास पहुंचा और उसके बाद ट्रेन के ऊपर चढ़ गया। बता दें कि उत्सुकता के कारण धनराज डीजल इंजन को देखकर भूल गया कि ऊपर ओएचई तार में करंट प्रभावित हो रहा है, जिसके कारण वह डीजल इंजन में चढ़कर मोबाइल से सेल्फी लेने लगा। करंट की चपेट में आने से किशोर बुरी तरह से झुलस कर बेहोश हो गया। 

02-02-2020
इंदौर से वाराणसी के बीच चलेगी देश की तीसरी निजी ट्रेन, भारतीय रेलवे ने किया एलान

नई दिल्ली। रेलवे ने इंदौर से वाराणसी के बीच देश की तीसरी निजी ट्रेन चलाने की घोषणा की है। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने शनिवार को कहा, आईआरसीटीसी रात में चलने वाली इस ट्रेन के डिब्बे हमसफर एक्सप्रेस की तरह होंगे। पिछले कुछ महीनों में दो मार्गों नई दिल्ली-लखनऊ और मुंबई-अहमदाबाद पर तेजस एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है।

नई दिल्ली और मुंबई स्टेशन होंगे वर्ल्ड क्लास

रेलवे ने पीपीपी मॉडल पर अमृतसर, ग्वालियर, साबरमती, नागपुर स्टेशन निर्माण की योजना तैयार कर ली है। सोमवार को निजी भागीदारी के तहत चारों स्टेशन के निर्माण की जिम्मेदारी सौंप दी जाएगी। इसके साथ ही रेलवे ने 10 और स्टेशन को निजीभागीदारी के तहत निर्माण करने का निर्णय लिया है। इसमें मुंबई के साथ नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को भी शामिल किया गया है। अगले तीन महीने में इन स्टेशनों का प्रोजेक्ट फाइनल कर निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। इस योजना के लिए रेलवे ने नीति में बदलाव कर फास्ट ट्रैक मोड के तहत काम करने का निर्णय लिया है।

550 स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, सरकार के 100 दिन पूरे होने के अंदर ही 550 स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा दी गई है। इस साल 27 हजार किलोमीटर रेलवे लाइन के विद्युतीकरण के लक्ष्य की घोषणा की गई है।

रेलवे लाइन के विद्युतीकरण से बचेगा डीजल इंजन का खर्च

वित्त मंत्री ने बजट पेश करने के दौरान रेलवे का खर्च कम करने का एक खाका पेश करते हुए 2700 किलोमीटर रेलवे लाइन का विद्युतीकरण करने की बात कही। इससे डीजल इंजन के जरिये होने वाले खर्च पर लगाम लगाई जा सकेगी। इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनों की रफ्तार को भी बढ़ाया जा सकेगा। मौजूदा समय की बात करें तो रेलवे में करीब 6 हजार डीजल इंजन हैं, जबकि विद्युतीकरण वाले रेल इंजन 5500 हैं। रेलवे में बिजली उत्पादन अपने स्तर पर होने के कारण खर्च कम हो रहा है, जबकि एक डीजल इंजन एक किमी में 5 लीटर डीजल की खपत करता है। इसे ध्यान में रखते हुए अब रेलवे का जोर विद्युतीकरण पर है।

 

30-01-2020
कोहरे के कारण दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें तीन घंटे तक लेट

नई दिल्ली। दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें गुरुवार को कोहरे की वजह से एक से तीन घंटे तक देरी से चल रही हैं। सबसे ज्यादा तीन घंटे की देरी से डिब्रूगढ़-दिल्ली ब्रह्मपुत्र मेल चल रही है। रेलवे विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। इसके अलावा पुरी-नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस दो घंटे, इलाहाबाद-आनंद विहार हमसफर एक्सप्रेस एक घंटा, गया-नई दिल्ली महाबोधि एक्सप्रेस 2.30 घंटे, दरभंगा-नई दिल्ली बिहार संपर्क क्रांति 1.30 घंटे, भुनेश्वर-नई दिल्ली दूरंतो एक्सप्रेस 1.30 घंटे, कानपुर-नई दिल्ली श्रमशक्ति एक्सप्रेस 1.30 घंटे, आजमगढ़-दिल्ली कैफियत एक्सप्रेस दो घंटे लेट चल रही है।

17-01-2020
500 से अधिक ट्रेनें प्रभावित, सफर पर जाने से पहले देखें कहीं आपकी ट्रेन तो...

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने शुक्रवार को 500 से अधिक ट्रेनें रद्द की है, इनमें से कई ट्रेनें पूर्ण रूप से तो कई आंशिक रूप से रद्द की गई है। इसके अलावा कुछ ट्रेनों को मार्ग परिवर्तित करके भी चलाया जा रहा है। अब सफर पर निकलने से पहले लोगों को देखने की जरुरत है कि कहीं उनकी ट्रेन तो कैंसिल नहीं की गई। दरअसल रेलने ने आज 352 ट्रेनों को पूरी तरह कैंसिल किया है, इसके अलावा 161 गाड़ियों को आंशिक तौर पर रद्द जबकि 22 ट्रेनों को डायवर्ट भी किया गया है। कोहरे के कारण ऐसी स्थिति बनी हुई है, कई ट्रेनें लेटलतीफ चल रही है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804