GLIBS
29-06-2020
जम्मू-कश्मीर : आतंकियों से मुक्त हुआ डोडा जिला, अनंतनाग में तीन आतंकी ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की शामत आ चुकी है। त्राल के बाद डोडा डिस्ट्रिक्ट को सुरक्षाबलों ने आतंकियों से मुक्त कर दिया है। कश्मीर में आतंक का गढ़ माने जाने वाले त्राल सेक्टर के बाद अब भारतीय सुरक्षाबलों को डोडा जिले में बड़ी कामयाबी हासिल की है। सोमवार को सुरक्षाबलों ने अनंतनाग जिले के खुलचोहर में सोमवार तड़के हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों को ढेर कर दिया, जिसमें एक कमांडर भी शामिल है। सुरक्षा बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस के संयुक्त अभियान में इन आतंकवादियों को मार गिराया गया है। मारे गए आतंकवादियों के पास से एक एके राइफल और दो पिस्तौल बरामद हुई है। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) के कमांडर मसूद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है, जिसके बाद से डोडा पूरी तरह से 'आतंकवादी मुक्त' जिला बन गया है

सिंह ने कहा ने कहा कि स्थानीय आरआर यूनिट के साथ पुलिस ने अनंतनाग के खुलचोहर क्षेत्र में आज के ऑपरेशन को अंजाम दिया। इसमें एक जिला कमांडर और एक एचएम कमांडर मसूद सहित 2 लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों को ढेर कर दिया और जम्मू का डोडा जिला पूरी तरह से एक बार फिर से आतंकवाद मुक्त हो गया। डीजीपी ने कहा कि डोडा जिले का रहने वाला मसूद बलात्कार के मामले में आरोपी था और वह तब से फरार चल रहा था। वह बाद में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था और ऑपरेशन के क्षेत्र को कश्मीर में स्थानांतरित कर दिया था। 

इससे पहले त्राल को किया था आतंक मुक्त :

जम्मू-कश्मीर के त्राल क्षेत्र से सुरक्षाबलों ने 26 जून को एक ऑपरेशन में हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आंतवादियों को ढेर कर दिया था। कश्मीर पुलिस के आईजीपी ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि त्राल क्षेत्र से हिजबुल मुजाहिदीन के आंतवादियों का खात्मा हो गया और 1989 के बाद ऐसा पहली बार हुआ है।

23-06-2020
भारत करेगा पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मचारियों की संख्या आधी 

नई दिल्ली। भारत ने  पाकिस्तान को मंगलवार को करारा झटका दिया है। आतंकी और जासूसी गतिविधियों को लेकर भारत अब नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मचारियों की संख्या घटाकर आधी कर देगा। यह जानकारी विदेश मंत्रालय के बयान में कही है। जारी बयान में कहा गया है कि भारत ने पाकिस्तान के उप उच्चायुक्त को तलब कर दिल्ली स्थित उच्चायोग के अधिकारियों की गतिविधियों को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है।
 एमईए के अनुसार “भारत ने पाकिस्तान के उपउच्चायुक्त से कहा कि पाक उच्चायोग के अधिकारी जासूसी में लिप्त हैं और आतंकी संगठनों से संबंध रखे हैं। इंडिया ने पाकिस्तान से नई दिल्ली स्थित अपने उच्चायोग से कर्मचारियों की संख्या 50 फीसदी तक कम करने को कहा है। विदेश मंत्रालय के मुताबिक, भारत इसी तरह इस्लामाबाद (पाकिस्तान) स्थित भारतीय उच्चायोग में अपने कर्मचारियों की संख्या में कमी लाएगा। यह फैसला सात दिनों के भीतर प्रभाव में आएगा और इस बारे में पाकिस्तान को सूचित कर दिया गया है। विदेश मंत्रालय के अनुसार, पाकिस्तान इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों को डराने का लगातार अभियान चला रहा है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में इस्लामाबाद में हाल ही में दो भारतीय अधिकारियों का अपहरण होने और उनके साथ किये गये ‘‘बर्बर बर्ताव’’ का भी जिक्र किया गया है। मंत्रालय ने कहा, ‘‘पाकिस्तान और इसके अधिकारियों का बर्ताव वियना संधि तथा राजनयिक अधिकारियों एवं दूतावास अधिकारियों के साथ व्यवहार के बारे में द्विपक्षीय समझौतों के अनुरूप नहीं है। मंत्रालय ने कहा कि इसलिए भारत ने नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग में कर्मचारियों की संख्या 50 प्रतिशत घटाने का फैसला लिया है। मंत्रालय ने कहा, ‘यह (भारत) भी इसके बदले में इस्लामाबाद में इसी अनुपात में अपनी मौजूदगी घटाएगा। इस फैसले से, जो सात दिनों में क्रियान्वित किया जाएगा, पाकिस्तान के उप उच्चायुक्त को अवगत करा दिया गया है।’

19-06-2020
जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों ने ढेर किए 8 आतंकी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में पिछले 24 घंटों के दौरान दो अलग-अलग गोलीबारी में आठ आतंकवादी मारे गए। पुलवामा जिले के अवंतीपोरा इलाके में तीन आतंकवादी मारे गए, जबकि पांच अन्य शोपियां जिले में मारे गए। जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा क्षेत्र के मिज गांव में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में गुरुवार को एक आतंकवादी मारा था। इसके बाद दो अन्य आतंकवादियों ने गांव की एक मस्जिद के भीतर शरण ली थी। इस दाैरान विजय कुमार, आईजीपी (कश्मीर) ने कहा कि हमारे सुरक्षाबलों ने बेहद सक्रियता से माेर्चा संभाला। शोपियां जिले के बांदपावा गांव में चार आतंकवादी शुक्रवार को और एक आंतकी गुरुवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। पुलिस ने कहा कि मारे गए आतंकी जेएम और हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी थे। इस संबंध में एक सीनियर ऑफिसर का कहना है कि स्थानीय पुलिस, राष्ट्रीय राइफल्स और केंद्रीय रिजर्व पुलिस सहित सुरक्षा बलों ने पुलवामा के अवंतीपोरा क्षेत्र और शोपियां जिले के बांदवा गांव में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में विशेष जानकारी प्राप्त करने के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया। रिपोर्ट में कहा गया है कि इन अभियानों के दौरान सुरक्षा बलों को कोई हताहत नहीं हुआ।

13-06-2020
एनआईए ने आतंकी संगठन की महिला हैंडलर को लिया हिरासत में, सोशल मीडिया पर सेना अधिकारियों से करती थी दोस्ती

नई दिल्ली। भारत में महिला जासूसों के नेटवर्क का भंडाफोड़ करते हुए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) की 22 वर्षीय हैंडलर को हिरासत में लिया है, जो पाकिस्तान में अन्य आतंकियों के संपर्क में थी। दिल्ली में एनआईए के सूत्रों के मुताबिक, तानिया प्रवीण को कुछ सप्ताह पहले खुफिया एजेंसियों ने हिरासत में लिया था। वह कई सिम कार्ड का उपयोग करके पाकिस्तान में अन्य हैंडलर्स के साथ संपर्क में थी। सूत्र ने कहा कि उसे भारतीय सिम भी वितरित किए गए हैं और वह व्हाट्सएप ग्रुपों के माध्यम से संपर्क की जिम्मेदारी संभाल रही थी। एनआईए ने प्रवीण की 10 दिनों की हिरासत ले ली है और आतंकवाद निरोधक एजेंसी की एक टीम कोलकाता कार्यालय में उससे पूछताछ करेगी। एनआईए ने हाल ही में इस मामले की जांच की जिम्मेदारी संभाली है और प्रतिबंधित पाकिस्तानी आतंकी संगठनों के लिए देश में काम कर रहे महिला जासूसों के नेटवर्क को निशाना बना रही है। मामले में अभी जांच चल रही है, लिहाजा आगे की जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई है। तानिया पर आरोप है कि वह फेसबुक पर पहले सेना के अधिकारियों का पता लगाती थी। उसके बाद उनसे खुद ही दोस्ती करती थी। इसके बाद वह सेना के अधिकारियों से कई तरह की महत्वपूर्ण जानकारी भी हासिल कर लेती थी। उसके पास से सेना से जुड़ी कई गुप्त जानकारियां और दस्तावेज भी बरामद हुए हैं। तानिया परवीन को पूछताछ के बाद उसे दमदम सेंट्रल जेल में कड़ी सुरक्षा में रखा गया था।

 

12-06-2020
आतंकी जाकिर अहमद गोला बारुद के साथ गिरफ्तार, सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों के हाथ एक और एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने लश्कर के एक आतंकी को गिरफ्तार किया है। उसके पास से एक पिस्टल और भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद हुआ है। जाकिर से पूछताछ की जारी है। इस आतंकी के पकड़े जाने के बाद कई अहम खुलासे होने की संभावना भी जताई जा रही है। बता दें कि सुरक्षाबलों को इलाके में एक आतंकी के छिपे होने की सूचना मिली थी। इसी के आधार पर सेना की 1-आरआर, एसओजी जानीपोरा ने अभियान शुरू किया।
पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह पुख्ता सूचना के आधार पर पुलिस तथा सेना की एक आरआर की एक संयुक्त टीम ने खोजपोरा क्षेत्र में आतंकी की दबिश के लिए तलाशी अभियान शुरू किया। तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों ने लश्कर के एक आतंकी को पकड़ा। इस आतंकी की पहचान जाकिर अहमद खान के रूप में हुई है।

 उन्होंने बताया कि पकड़े गए आतंकी ने हाल ही में आतंकी संगठन का दामन थामा था। सुरक्षाबलों ने आतंकी से पूछताछ शुरू कर दी है। आतंकी जाकिर अहमद खान पर पुलिस ने एक लाख का इनाम भी रखा था। बता दें, पाक अपनी नापाक हरकतों से बाज आने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में पुंछ जिले के मेंढर सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की, जिसमें सेना का एक जवान शहीद हो गया और एक आम नागरिक घायल हो गया था। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने बुधवार रात पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बिना किसी उकसावे के छोटे हथियारों से गोलीबारी की और मोर्टार से गोले दाग कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। पाकिस्तानी सैनिकों ने मेंढर सेक्टर में भी गोलीबारी की जिससे एक जवान शहीद हो गया तथा एक नागरिक घायल हो गया। पाकिस्तान की ओर से गुरुवार तड़के तक गोलीबारी होती रही।

30-05-2020
जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, दो आतंकी हुए ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने बड़ी सफलता हासिल की है। जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के इस जिले के वानपुरा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद इलाके की घेराबंदी की गई और तलाश अभियान चलाया गया। दरअसल खुफिया एजेंसियों को सूचना मिली थी कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के वानपोरा इलाके में आतंकी छिपे हैं, जिसके बाद भारतीय सेना, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने इलाके को घेर लिया था। 

सुरक्षाबलों ने आतंकियों से सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। फिलहाल सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रखा है। इससे पहले गुरुवार को दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों के काफिले पर जैश-ए-मोहम्मद व हिजबुल मुजाहिदीन की फिदायीन हमले की साजिश को सुरक्षा बलों ने नाकाम कर दिया। राजपोरा इलाके के आयगुंड में 45 किलो आईईडी से लदी सेंट्रो कार को इंटरसेप्ट कर उसे निष्क्रिय कर दिया। आतंकियों ने कार पर फर्जी नंबर प्लेट रखी थी। यह नंबर प्लेट कठुआ जिले में बीएसएफ के एक जवान के नाम की मोटरसाइकिल की थी। हालांकि, आतंकी अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग निकलने में सफल रहे। पूरे इलाके में तलाशी अभियान चलाया गया।

04-05-2020
जम्मू-कश्मीर: हंदवाड़ा में आतंकी हमला, सीआरपीएफ के 3 जवान शहीद, 7 घायल

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में सोमवार को आतंकवादी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के तीन जवान शहीद हो गए हैं, जबकि सात जवान घायल बताए जा रहे हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी है। अधिकारियों ने बताया कि जिले में क्रालगुंद क्षेत्र के वंगाम-कजियाबाद में हमलावरों ने सीआरपीएफ की एक नाका पार्टी पर गोलियां चलायीं। अधिकारियों के अनुसार, इस हमले में सीआरपीएफ के तीन जवानों की मौके पर ही मृत्यु हो गयी। उन्होंने बताया कि इलाके को घेर लिया गया है तथा हमलावरों को ढूढने के लिए अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी वहां भेजे गये हैं।बता दें कि इससे पहले शनिवार और रविवार को उत्तरी कश्मीर में हंदवाड़ा क्षेत्र के एक गांव में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में एक कर्नल और एक मेजर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे और दो आतंकवादी भी मारे गए।

 

 

25-04-2020
पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में एक सहयोगी समेत दो आतंकी मारे गए

जम्मू-कश्मीर। पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है, फिर भी आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने की फिराक में लगे हुए हैं। शनिवार को जम्मू-कश्मीर में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने तीन आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया। बताया जा रहा है कि घाटी में लॉक डाउन में अब तक 21 आतंकवादी मारे जा चुके हैं। शनिवार तड़के पुलवामा जिले के अवंतिपुरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकवादियों और एक उसके सहयोगी को मार गिराया है। माना जा रहा है कि कुछ आतंकवादी अब भी छिपे हो सकते हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों के खिलाफ सर्च अभियान अब भी जारी है और अब तक मारे गए आतंकवादियों की पहचान नहीं हो पाई है। बता दें कि शुक्रवार को ही अधिकारियों ने यह जानकारी दी थी कि साल 2020 में अब तक सुरक्षाबलों ने पचास आतंकवादियों को मार गिराया है। वहीं, इस घटना से पहले लॉक डाउन के दौरान अब तक 18 आतंकवादी घाटी से मारे जा चुके हैं।

15-03-2020
अनंतनाग में सेना और आतंकियों में मुठभेड़, 4 आतंकी ढेर, इंटरनेट सेवा बंद

नई दिल्‍ली। जम्‍मू कश्‍मीर के अनंतनाग और कुलगाम में सेना ने मुठभेड़ में 4 आतंकियों को मार गिराया है। सभी आतंकी हिजबुल और लश्‍कर संगठन के हैं। मुठभेड़ के बाद सेना ने इंटरनेट सेवा को इस सेक्टर में बंद कर दिया है। फिलहाल, मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों का सर्च ऑपरेशन शुरू हो गया है।

03-03-2020
पुलवामा आतंकी हमला मामला: एनआईए ने बाप-बेटी को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। पिछले वर्ष फरवरी, 2019 में हुए पुलवामा आतंकी हमले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने जम्मू-कश्मीर के लेथपोरा से पिता और उसकी बेटी को गिरफ्तार किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एनआईए द्वारा मंगलवार को गिरफ्तार किए गए बाप-बेटी पर आरोप है कि वह पुलवामा आतंकी हमले से जुड़े हुए हैं। एनआईए के मुताबिक यह दोनों सुरक्षा काफिलों की आवाजाही पर नजर रख रहे थे और हमले में इस्तेमाल किए गए बम को इकट्ठा करने में मदद की थी। बता दें कि हाल ही में एनआईए ने इस हमले से जुड़े जैश-ए-मोहम्मद के 22 वर्षीय शाकिर बशीर को गिरफ्तार किया था।

14 फरवरी 2019 को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए सीआरपीएफ काफिले पर अत्मघाती हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इस आतंकी हमले ने पूरे विश्व को हिलाकर रख दिया था। हालांकि हमले की जांच अभी जारी है और पिछले कुछ दिनों में एनआईए ने इस मामले से जुड़े कई संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। मंगलवार को इसी क्रम में एक बाप-बेटी को गिरफ्तार किया गया है,एनआईए के मुताबिक इनके तार पुलवामा हमला से जुड़े हुए हैं। बता दें कि एनआईए ने सुसाइड बॉम्बर की पहचान अहमद डार के रूप में की थी लेकिन हमले में उसकी मौत होने के बाद जांच आगे बढ़ने में काफी मुश्किलें आ रही हैं। वहीं इस घटना से जुड़े कई संदिग्ध या तो पाकिस्तान में हैं या तो उनकी मौत हो चुकी है। हमले के बाद सुरक्षाबलों ने आत्मघाती हमले में इस्तेमाल की गई गाड़ी के मालिक की पहचान की थी लेकिन एक मुठभेड़ में उसकी भी मौत हो चुकी है। वहीं स्थानीय हैंडरल की भी मौत एक मुठभेड़ में हो चुकी है। एनआईए द्वारा मंगलवार को की गई गिरफ्तारी काफी अहम मानी जा रही है,इससे हमले से जुड़े और खुलासे सामने आ सकते हैं। 

 

09-02-2020
अफजल गुरु की बरसी पर जम्मू में बंद हुई 2जी इंटरनेट सेवा, सुरक्षा एजेंसियों ने जारी किया अलर्ट

नई दिल्ली। संसद हमले के दोषी आतंकी अफजल गुरु को आज ही के दिन साल 2013 में फांसी दी गई थी। ऐसे में माहौल न बिगड़े इसके चलते प्रशासन ने कश्मीर में 2जी इन्टरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है। गत दिनों सुरक्षा एजेंसियों ने अलर्ट जारी करते हुए कहा था कि पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में नौ फरवरी के आस-पास किसी बड़े फिदायीन हमले की फिराक में है और इसी के मद्देनजर प्रदेश में सुरक्षा एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया था। सात साल पहले नौ फरवरी को संसद हमले के दोषी अफजल गुरु को फांसी दी गई थी। अलर्ट में बताया गया था कि इसी दिन पाकिस्तानी आतंकी जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों की छावनियों या काफिले को निशाना बना सकते हैं। जम्मू पठानकोट हाईवे पर सुरक्षा के यह बंदोबस्त जम्मू-कश्मीर में खुफिया एजेंसियो के उस अलर्ट के बाद किए गए हैं जिसमें कहा गया है, "पाकिस्तान समर्थित आतंकी नौ फरवरी के आस-पास जम्मू में फिदायीन हमला कर सकते हैं।" इस अलर्ट में ये भी कहा गया है, "पाकिस्तानी फिदायीन जम्मू में किसी सैन्य शिविर या फिर सेना या अर्धसैनिक बलों की छावनी को निशाना बना सकते हैं।" इस अलर्ट के बाद जम्मू में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं और शहर में आने वाले हर वाहन की तलाशी की जा रही है। सुरक्षा बल खासतौर पर पंजाब की तरफ से आने वाले वाहनों पर नजर रखे हुए हैं।

पूछताछ में हुआ खुलासा

दरअसल, 31 जनवरी को जम्मू के नगरोटा में हुए एनकाउंटर में जिंदा पकडे़ गए आतंकियों के मददगार समीर डार ने पूछताछ में कबूला है कि पाकिस्तान अफजल गुरु की बरसी वाले दिन यानि नौ फरवरी के आस-पास जम्मू में फिदायीन हमले की फिराक में था। खुफिया एजेंसियो की मानें तो इस हमले को अंजाम देने के लिए फिदायीन जम्मू पहुंच चुके हैं। इस अलर्ट के बाद अब जम्मू शहर में पुलिस की अतिरिक्त तैनाती के साथ ही अर्धसैनिक बलों को भी तैनात किया गया है।

सीमा पर भी हाई अलर्ट

सुरक्षा एजेंसियो की खास निगाह में जम्मू से श्रीनगर की तरफ जाने वाले ट्रक हैं। क्योंकि समीर डार से पूछताछ में खुफिया एजेंसियों को यह पता चला है कि पाकिस्तान जम्मू से श्रीनगर जाने वाले ट्रकों में आतंकियों को घाटी भेज रहा है। इसके लिए पाकिस्तान के इशारे पर ट्रकों में खास तरह के इंतजाम किए गए हैं ताकि सुरक्षाबलों को चकमा दिया जा सके। अब इस अलर्ट के बाद कश्मीर जाने वाले ट्रकों की विशेष तलाशी ली जा रही है। खुफिया एजेंसियो के इस अलर्ट के बाद सुरक्षाबल जम्मू से सटी पाकिस्तानी सीमा पर भी खास निगरानी कर रहे हैं।


 

 

03-02-2020
लंदन में हमलावर संदिग्ध आतंकी को पुलिस ने एंकाउटर में मार गिराया 

नई दिल्ली। दक्षिणी लंदन के स्ट्रेथेम इलाके में एक व्यक्ति ने तीन लोगों को चाकू मारकर वहां से भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने हमलावर को वहीं  गोली मार दी। मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने इसे आतंकी वारदात बताया है। दोपहर दो बजे स्ट्रेथम हाई रोड स्थित एक सुपरमार्केट के बाहर पुलिस ने इस हमलावर को गोली मारी। हमलावर ने नकली आत्मघाती जैकेट पहन रखी थी। स्थानीय लोगों ने बताया कि हमलावर ने अपने शरीर पर चमकीले कनस्तर बांध रखे थे। लंदन एंबुलेंस सर्विस ने कहा, घायलों की मदद के लिए पर्याप्त अमला भेजा गया है। घायलों में एक की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। हमलावर ने दो लोगों को पहले सुपरमार्केट के अंदर निशाना बनाया और इसके बाद उसने बाहर आकर एक महिला पर हमला कर दिया। 
 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804