GLIBS
27-07-2020
केंद्र सरकार ने दिया चीन को बड़ा झटका, 47 ऐप पर लगाया प्रतिबंध

नई दिल्ली। पिछले महीने चीन के 59 ऐप बैन करने के बाद भारत सरकार ने चीन से जुड़ी कंपनियों पर फिर एक बार बड़ी कार्रवाई की है। केंद्र सरकार ने Tiktok Lite, Helo Lite, SHAREit Lite, BIGO LIVE Lite, VFY Lite सहित चीन के 47 और ऐप बैन कर दिए हैं।बता दें कि इससे पहले चीन के 59 ऐप बैन किए जा चुके हैं। अब बैन किये गए ऐप्स में ज्यादातर क्लोनिंग वाले ऐप्स शामिल हैं। इसका मतलब यह हुआ कि पहले से बैन ऐप के जैसे ऐप बनाकर बाजार में उतार दिये गए थे। इन ऐप्स पर यूजर्स का डेटा चोरी करने का आरोप है।दरअसल, भारत चीन सीमा पर लद्दाख में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई झड़प के बीच केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बीते दिनों चीन को एक और बड़ा झटका दिया था। केंद्र सरकार ने टिकटॉक, यूसी ब्राउजर समेत 59 चीनी ऐप्स को देश में बैन कर दिया था। केंद्र सरकार ने इसे देश की संप्रभुता, एकता और रक्षा के लिए खतरा बताया था। सरकार ने अलग-अलग तरीके के 59 मोबाइल ऐप को देश की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए पूर्वाग्रह रखने वाला बताते हुए उन पर प्रतिबंध लगा दिया था।अब सरकार की नजर PUBG सहित 275 चीनी ऐप्स पर है।

हालांकि, गृह मंत्रालय ने अब तक इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है। एक खबर के मुताबिक, चीन के ऐप्स का लगातार रिव्यू जारी है और यह भी पता लगाने की कोशिश हो रही है कि उन्हें फंडिंग कहां से हो रही है. जानकारी के अनुसार, कुछ ऐप्स से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पाया गया है, तो कुछ ऐप डेटा शेयरिंग और निजता के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं।आज के दौर में मोबाइल ऐप और वेबसाइट से डेटा माइनिंग और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस एक बड़ा व्यापार का रूप ले चुका है। इसके तहत एकत्र की गयी निजी जानकारियों को बेचा जाता है। ऑनलाइन सामान के ऑर्डर, जैसे खाना मंगाने, दवा या रोजमर्रा के सामान मंगाने के दौरान ही आपके द्वारा दर्ज की जानकारी की प्रोफाइलिंग की जाती है। सूचनाओं के इस बाजार में निजी जानकारियों की बिक्री रोक पाना मुश्किल होता जा रहा है। यह समस्या भारत ही नहीं है, बल्कि अन्य देशों में भी है। कई देशों ने विदेशी ऐप को प्रतिबंधित करने का फैसला लिया है। कुछ दिनों पहले ऑस्ट्रेलिया ने चीनी ऐप वी-चैट पर रोक लगा दी थी।

05-07-2020
राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर कसा तंज,कहा-'सूर्य, चंद्रमा और सत्य, देर तक छिप नहीं सकते'

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और मौजूदा नेता राहुल गांधी केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर पिछले कई दिनों से कोरोना वायरस और भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर निशाना साध रहे हैं। राहुल गांधी ने फिर से इशारों में रविवार को मोदी सरकार पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने गुरु पूर्णिमा के मौके पर भी केंद्र सरकार पर तंज किया है। राहुल गांधी ने गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं देते हुए भगवान गौतम बुद्ध को कोट को शेयर करते हुए कहा है कि 'सूर्य, चंद्रमा और सत्य, देर तक छिप नहीं सकते'। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'तीन चीजें जो देर तक छिप नहीं सकतीं-सूर्य, चंद्रमा और सत्य-गौतम बुद्ध। आप सभी को गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाए।'लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चीन के कथित अतिक्रमण को लेकर राहुल गांधी सरकार पर लगातार सवाल उठा रहे हैं। राहुल गांधी ने शनिवार (4 जुलाई) को किए ट्वीट में लिखा, ''देशभक्त लद्दाखी चीनी घुसपैठ के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। वे चिल्ला चिल्ला कर आगाह कर रहे हैं। उनकी चेतावनी को नजरअंदाज करना भारत को महंगा पड़ेगा। भारत की खातिर, कृपया उन्हें सुनें।'' राहुल गांधी ने अपने इस ट्वीट के साथ एक वीडियो शेयर किया है।

जिसमें कुछ लोग (जो लद्दाखी होने का दावा) चीनी घुसपैठ की बात कह रहे हैं।कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा है, क्या वास्तविक व ताजा चित्र 'पैंगोंग त्सो लेक' एरिया में 'फिंगर 4 रिज़' तक हमारी सरजमीं पर चीनी कब्जे की सच्चाई बयां नहीं करते? क्या यह भारत का ही भूभाग है,जिस पर चीनियों द्वारा अतिक्रमण कर राडार, हैलीपैड और दूसरी संरचनाएं खड़ी कर दी गई हैं?उन्होंने कहा, 'द गार्जियन' अखबार ने दो तस्वीरें छापी हैं; इनमें एक तस्वीर 22 मई की है और दूसरी 23 जून की। इन दोनों तस्वीरों को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि हमारे क्षेत्र में अतिक्रमण हुआ है।कपिल सिब्बल ने कहा, समय की मांग है कि भारत चीन की ''आंखों में आंखें'' डालकर स्पष्ट रूप से बता दें कि चीनियों को भारतीय सरजमीं पर अपने अवैध व दुस्साहसपूर्ण कब्जे को छोड़ना होगा। प्रधानमंत्री, यही एकमात्र 'राज धर्म' है, जिसका पालन आपको हर कीमत पर करना चाहिए।

24-06-2020
मोदी कैबिनेट का फैसला, पशुधन के विकास के लिए 15000 करोड़ रुपये की मंजूरी

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी सरकार ने बुधवार को कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिये। इसमें पशुधन विकास के लिए फंड और कुशीनगर हवाई अड्डा अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डा घोषित किया जाना शामिल है। मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश में कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को मंजूरी दे दी है। कुशीनगर एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का दर्जा मिलने से बौद्ध धर्म के अनुयायियों को कुशीनगर आने में आसानी होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया। बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने उत्तर प्रदेश के कुशीनगर हवाई अड्डे को अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा घोषित करने की मंजूरी दे दी है। मोदी सरकार ने पशुधन विकास के लिए 15000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। इससे कोरोना संकट के बीच आर्थिक रूप से प्रभावित दूध उत्‍पादकों को बड़ा लाभ मिलेगा। दुश का उत्पादन भी बढ़ेगा और लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा।
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग का कार्यकाल छह महीने बढ़ाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि आयोग को अन्य पिछड़े वर्गों से संबंधित विभिन्न सिफारिशें करने का काम सौंपा गया था, लेकिन कोरोना वायरस प्रकोप के कारण यह काम प्रभावित हुआ। आयोग को अन्य पिछड़े वर्गों के अंदर वर्गीकरण के मुद्दे पर गौर करने की भी जिम्मेदारी दी गई है। आयोग का कार्यकाल 31 जनवरी, 2021 तक बढ़ाया गया है। ओबीसी कमिशन अब इस बात का भी ध्यान रखेगा कि स्पेलिंग मिस्टेक की वजह से किसी जाति के लोगों को आरक्षण के लाभ से वंचित न होना पड़े। सरकार ने बुधवार को अपनी प्रमुख योजना प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (पीएमएमवाई) के तहत शिशु कर्ज श्रेणी के कर्जदाताओं को 2 प्रतिशत ब्याज सहायता देने को मंजूरी दी। शिशु श्रेणी के अंतर्गत लाभार्थियों को 50,000 रुपये तक कर्ज बिना किसी गारंटी के दिया जाता है। प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पीएमएमवाई के तहत शिशु कर्ज श्रेणी के कर्जदाताओं को 2 प्रतिशत ब्याज सहायता देने को मंजूरी दी है। पात्र कर्जदाताओं को 31 मार्च 2020 तक के बकाया ऋण पर ब्याज सहायता 12 महीने के लिये मिलेगी। प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि शहरी सहकारी बैंकों और बहु- राज्यीय सहकारी बैंकों को रिजर्व बैंक के बेहतर परिचालन के वास्ते रिजर्व बैंक के निरीक्षण के दायरे में लाया जायेगा। अब तक केवल वाणिज्यिक बैंक ही रिजर्व बैंक के निरीक्षण के तहत आते रहे हैं लेकिन अब सहकारी बैंकों का निरीक्षण भी रिजर्व बैंक करेगा। जावड़ेकर ने कहा, जमाकर्ताओं को भरोसा मिलेगा की उनका पैसा सुरक्षित है।

 

 

10-06-2020
मोदी सरकार के उपलब्धियों को घर-घर पहुंचाने भाजपा ने शुरू किया जनसंपर्क अभियान

बीजापुर। मोदी सरकार 2.0 के पहले साल की उपलब्धियों को घर-घर पहुंचाने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने जनसंपर्क अभियान शुरू किया। जिला मुख्यालय के भाजपा कार्यलय में प्रदेश महामंत्री व पूर्व संसदीय सचिव सुभाऊ कश्यप ने जनसंपर्क अभियान का शुभारंभ किया। इसी दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित कर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की 6 साल की योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि केंद्र में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने से विश्व के पटल पर भारत का नाम विश्व के कोने-कोने में रोशन हुआ है जो हमें गौरव दिलाता है। नरेंद्र मोदी की सरकार ने जो 6 साल में किया वह काम कोई भी सरकार नहीं कर सकता। 6 साल के अंदर ही नरेंद्र मोदी की सरकार ने 370, 35A धाराओं को हटाया,तीन तलाक,राम जन्मभूमि,कश्मीर में जमीन वापस देना।  

 जनसंपर्क अभियान नगर पालिका के वार्ड क्रमांक एक में पहुंचा जहां किसानों के साथ बैठकर केंद्र सरकार की योजनाओं के बारे में बताया गया।  साथी उनकी समस्याओं को भी सुन कर अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान पार्षद नंदकिशोर राणा, पार्षद संजय गुप्ता, जनपद सदस्य तिरुपति  कटला जिलाध्यक्ष भाजपा श्रीनिवास मुदलियार सहित भाजपा पदाधिकारी उपस्थित थे।

04-06-2020
तबलीगी जमात में शामिल होने वाले 960 विदेशी नागरिक के भारत आने पर लगा 10 साल का बैन

नई दिल्ली। देश में तेजी से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। इसी बीच खबर है कि भारत सरकार ने तबलीगी जमात से जुड़े 960 विदेशियों के भारत आने पर रोक लगा दी है। नरेंद्र मोदी सरकार ने जमात से जुड़े इन सभी पर 10 साल के लिए प्रतिबंध लगाया है।तबलीगी जमात से ताल्‍लुक रखने वाले 2200 विदेशियों के खिलाफ केंद्र सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। उक्‍त सभी विदेशियों को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है। इन पर यह कार्रवाई विदेशी कानून 1946 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के प्रावधानों को तोड़ने के आरोप में की गई है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पर्यटक वीजा पर तबलीगी गतिविधियों में लिप्‍त पाए जाने के कारण 960 विदेशियों को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है। पिछले दिनों ही इन सभी का भारतीय वीजा भी रद्द कर दिया गया था।पिछले दिनों केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से दिल्ली पुलिस और अन्य संबंधित राज्यों के पुलिस महानिदेशकों को भारत के कानून की धज्जियां उड़ाने वाले इन 2200 विदेशियों के खिलाफ जरूरी कानूनी कार्यवाई करने के भी निर्देश दिए गए थे।

28-03-2020
कोरोना ने ली 19 वी बलि, संक्रमित लोगों की संख्या 824 पहुंची, संख्या का लगातार बढ़ना चिंताजनक

रायपुर/दिल्ली। तीन और लोगों को कोरोना ने काल के गाल में पहुंचा दिया। मरने वालों की संख्या अब 19 हो गई है जो कल तक 16 थी। पीड़ितों की संख्या भी 824 हो गई है जो कल सुबह 700 भी नहीं थी। मृतकों और पीड़ितों की संख्या में हो रहा इजाफा ही मोदी सरकार की चिंता का असली कारण है। हालांकि छत्तीसगढ़ में अभी तक कोई मौत कोरोना से नहीं हुई है लेकिन संक्रमित लोगों की संख्या में वृद्धि तो हुई है। गुजरात ने अपनी सख्ती के कारण जहां इसकी संख्या में बढ़ोतरी पर रोक लगाने में कामयाबी हासिल की है वही केरल इस मामले में बिल्कुल असफल साबित होता नजर आ रहा है वहां संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बात करें तो इटली में मरने वालों का आंकड़ा 9000 हो गया है और वहां एक दिन में ही 1000 से ज्यादा लोग मौत की नींद सो गए हैं। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार व राज्य सरकारें कोरोना से बचने के तमाम एहतियाती उपाय करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। सोशल डिस्टेंसिंग को प्रमुख हथियार मानते हुए उस पर ज्यादा काम कर रही है सरकारें। हालांकि अन्य देशों की तुलना में भारत में कोरोना का संक्रमण उतनी तेजी से नहीं बढ़ा है लेकिन उस पर अभी तक रोक भी नहीं लग पाई है। यही एकमात्र चिंता का कारण है। कोरोना के मरीज रोज बढ़ रहे हैं। मृतकों की संख्या भी रोज बढ़ रही हैऔर यही डराने वाली बात है।

01-03-2020
बांग्ला अभिनेत्री सुभद्रा मुखर्जी ने छोड़ा भाजपा का साथ, बताई यह वजह...

कोलकाता। बांग्ला अभिनेत्री से राजनेता बनी सुभद्रा मुखर्जी ने दिल्ली हिंसा के बाद भाजपा से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि वह उस पार्टी में नहीं रह सकती, जिसमें कपिल मिश्रा व अनुराग ठाकुर जैसे नेता हैं। सुभद्रा मुखर्जी ने कुछ बांग्ला फिल्मों व टेलीविजन धारावाहिकों में काम किया है। सुभद्रा मुखर्जी ने शुक्रवार को ही भाजपा छोड़ दी थी। यह बात रविवार को सामने आई। उन्होंने पार्टी के राज्य प्रमुख दिलीप घोष को अपना इस्तीफा भेजा था। सुभद्रा मुखर्जी ने कहा कि वह बहुत उम्मीद के साथ भाजपा में शामिल हुई थीं, लेकिन हाल के घटनाक्रमों से उन्हें निराशा हुई, जो दिखाता है कि भाजपा अपनी विचारधारा से दूर जा रही है।

उन्होंने कहा कि वह नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के साथ थीं, जिसे नरेंद्र मोदी सरकार ने संसद में पारित किया, लेकिन वह इसे बढ़ावा देने के भाजपा के तरीके को लेकर वह अब विरोध में हैं। उन्होंने कहा, "इसने पूरे देश में अशांति पैदा की है। हम सबको इतने सालों बाद स्वतंत्र भारत में अपनी नागरिकता साबित करने के लिए अपने दस्तावेज क्यों दिखाने चाहिए। सुभद्रा मुखर्जी ने कहा कि दिल्ली हिंसा ने आखिकार मुझे मजबूर किया कि वह पार्टी के साथ बनी नहीं रह सकतीं। दिल्ली हिंसा पर उन्होंने कहा, "माहौल नफरत से भरा है। अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा जैसे पार्टी नेताओं के खिलाफ उनके नफरत भरे भाषणों के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। मैं ऐसी पार्टी में कैसे रह सकती हूं, जो कार्रवाई चुनकर करे?

 

25-01-2020
संविधान व संवैधानिक मूल्यों पर बोला जा रहा है षडयंत्रकारी हमला: सोनिया गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शनिवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला और आरोप लगाया कि आर्थिक मंदी एवं बेरोजगारी की समस्या से ध्यान भटकाने के लिए धार्मिक आधार पर लोगों को बांटने तथा संविधान को कमजोर करने की साजिश हो रही है। सोनिया गांधी ने 71वें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा, 70 वर्ष पूर्व देश के लोगों की आकांक्षाओं व इच्छाओं के अनुरूप भारत के संविधान को देश व देशवासियों ने अपनाया व लागू किया। हमारे संविधान की प्रस्तावना में सबके लिए न्याय, समानता, आज़ादी, धर्मनिरपेक्षता व भाईचारे की भावना रेखांकित है।

उन्होंने कहा, "संविधान का हर अक्षर केवल एक शब्द मात्र नहीं पर हर नागरिक का जीवनदर्शन व सरकारों के लिए शासन चलाने का जीवंत रास्ता है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा,'यह रास्ता गांधीजी के नेतृत्व में करोड़ों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानी से लिखा गया है, जहां हर भारतवासी को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता के अधिकार सुनिश्चित किए गए हैं।
उन्होंने आरोप लगाया, सच्चाई यह है कि आज देश के संविधान व संवैधानिक मूल्यों पर षडयंत्रकारी हमला बोला जा रहा है। संवैधानिक मान्यताओं पर संस्थागत तौर से अतिक्रमण किया जा रहा है व संवैधानिक संस्थाओं को व्यक्तिगत निरंकुशता की बलि चढ़ाई जा रही है। सोनिया ने कहा, ऐसे में संविधान की रक्षा के लिए एकजुट होकर खड़े होना हर देशवासी का कर्तव्य है।

उन्होंने कहा, आज खेती और किसान बर्बादी की कगार पर हैं। मंदी और तालाबंदी के चलते छोटे छोटे व्यवसायी व दुकानदार अपने आपको असहाय महसूस कर रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया कि अर्थव्यवस्था बदहाल है, आर्थिक प्रगति चौपट है व व्यापारिक मंदी हर पायदान पर दस्तक दे रही है। आवाज उठाने वाले हर व्यक्ति पर सरकारी तंत्र का दमनचक्र चलाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया, आर्थिक बदइंतजामी, प्रशासनिक दिवालियेपन, बेतहाशा महंगाई, चौतरफा मंदी, असहनीय बेरोजगारी जैसी विफलताओं से ध्यान हटाने के लिए देशावासियों को धर्म, क्षेत्रवाद और भाषा के आधार पर बांटने तथा संविधान को कमजोर करने की साजिश की जा रही है। 

 

14-01-2020
बढ़ती महंगाई पर मोदी सरकार पर बिफरी प्रियंका गांधी, कही यह बात...

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने खुदरा महंगाई दर बढ़कर साढ़े पांच साल के उच्चतम स्तर 7.35 फीसदी पर पहुच जाने के बाद मंगलवार को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने गरीबों की जेब काटकर उनके पेट पर लात मारी है। प्रियंका ने ट्वीट किया, "सब्जियां, खाने-पीने के सामान के दाम आम लोगों की पहुंच से बाहर हो रहे हैं। जब सब्जी, तेल, दाल और आटा महंगा हो जाएगा तो गरीब खाएगा क्या? ऊपर से मंदी की वजह से गरीब को काम भी नहीं मिल रहा है। भाजपा सरकार ने तो जेब काट कर पेट पर लात मार दी है।" बता दें कि आधिकारिक आंकड़ों में दर्शाया गया कि खाद्य कीमतों में बड़े पैमाने पर वृद्धि के बाद भारत की खुदरा महंगाई दर नवंबर के 5.55 प्रतिशत से बढ़कर दिसंबर 2019 में 65 महीनों के उच्च स्तर 7.35 प्रतिशत पर पहुंच गई है। इसके बाद प्रियंका गांधी यह बयान आया है।

 

08-01-2020
राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, किया भारत बंद का समर्थन  

नई दिल्ली। वायनाड से सांसद और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को विभिन्न श्रमिक संगठनों की ओर से बुलाए गए 'भारत बंद' का समर्थन करते हुए नरेंद्र मोदी सरकार पर सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों (पीएसयू) को कमजोर करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि बंद बुलाने वाले कामगारों को मैं सलाम करता हूं। राहुल ने ट्वीट कर कहा, 'मोदी-शाह सरकार की जनविरोधी, श्रमिक विरोधी नीतियों ने भयावह बेरोजगारी पैदा की है और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को कमजोर किया जा रहा है, ताकि इन्हें मोदी के पूंजीपति मित्रों को बेचने को सही ठहराया जा सके। आज 25 करोड़ कामगारों ने इसके विरोध में भारत बंद बुलाया है। मैं उन्हें सलाम करता हूं।' बता दें कि मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ 10 मजदूर संगठनों ने बुधवार को भारत बंद के रूप में राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। इनका दावा है कि भारत बंद में 25 करोड़ लोग शामिल होंगे। इसके कारण देश के विभिन्न स्थानों जिसमें पश्चिम बंगाल और ओडिशा भी शामिल हैं, वहां रेल सेवा प्रभावित हुई हैं। जिन दस मजदूर संगठनों ने बंद बुलाया है उनमें सेंटर ऑफ ट्रेड यूनियंस, इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस सहित अन्य शामिल हैं। इन्होंने 12-सूत्री मांग के साथ हड़ताल का आह्वान किया है। हालांकि मजदूर संगठन भारतीय मजदूर संघ इस हड़ताल में हिस्सा नहीं ले रहा है।

हड़ताल से बंगाल के कुछ हिस्सों में सड़क, रेल यातायात प्रभावित

केंद्र सरकार की 'जन-विरोधी' नीतियों के खिलाफ बुधवार को बुलाए गए एक दिन की हड़ताल के समर्थन में मजदूर संगठनों के साथ ही वामपंथी दलों और कांग्रेस समर्थकों के प्रदर्शनों के चलते पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में सड़क और रेल यातायात बाधित हुआ। हड़ताल समर्थकों ने राज्य के कुछ हिस्सों में रैलियां निकालीं और उत्तर 24 परगना जिले में सड़कों और रेलवे पटरियों को अवरुद्ध कर दिया। हालांकि, पुलिस ने तत्काल वाहनों की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए उन्हें हटा दिया।

 

07-01-2020
भारतीय जनता पार्टी ने एनआरसी, सीएए के समर्थन में की प्रेसवार्ता

कोरिया। बैकुंठपुर एनआरसी, सीएए और सीएबी के भ्रम को दूर कर आमजन को वास्तविकता से अवगत कराने जिला भाजपा कार्यालय में प्रेसवार्ता ली। इसमें पूर्व विधायक लखनलाल देवांगन ने कहा कि जब महात्मा गाँधी से लेकर नेहरु व् इंदिरा गाँधी से लेकर मनमोहन सिंह ने भी समय समय पर इस्लामिक देशों में रह रहे अल्पसंख्यको की पीड़ा जानकर उन्हें भारत में सुविधाएं देने की बातें कही। इस आधार पर मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने घोषणा पत्र में इस कानून को बनाने की बात कहकर इसे लोकसभा व राज्यसभा से कानून बनाकर पास कराया तो विरोध की बात क्यों की जा रही है। पूर्व विधायक श्याम बिहारी जायसवाल ने बताया की यह कानून वर्षो से पीड़ित व भारत में रह रहे लोगों को नागरिकता देने वाला कानून है ना की किसी की नागरिकता छिनने वाला। उन्होंने संविधान के आर्टिकल 14 की व्याख्या कर बताया की कानून संविधान सम्मत है। इस कानून से किसी भी भारतीय चाहे वह हिन्दू हो या मुसलमान किसी के भी अधिकार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। कोरिया जिला अध्यक्ष कृष्ण बिहारी जसवाल ने यह भी स्पष्ट किया गया की जिन 6 समुदायों को इस कानून में नागरिकता लेने की सुविधा दी गई है उसके अलावा भी पूरे विश्व में रह रहे हर समुदाय के लोगों के लिए पुराने नागरिकता कानून इंडियन सिटीजनशिप एक्ट 1955 के तहत नागरिकता लेने का अधिकार यथावत रखा गया है। पूर्व विधायक लखनलाल देवांगन ने कहा कि इस्लामिक देशो में रह रहे अल्पसंख्यकों की पीड़ा जानकर उन्हें भारत में सुविधाएं देने की बातें कही। प्रेसवार्ता में पूर्व विधायक चंपादेवी पावले, पूर्व जिलाध्यक्ष तीरथ गुप्ता, जिला महामंत्री देवेंद्र तिवारी,पंकज गुप्ता अन्य जिला पदाधिकारी, कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

14-12-2019
भारत बचाओ रैली : मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, बयान पर नहीं मांगूंगा माफ़ी : राहुल गांधी  

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान में अर्थव्यवस्था और महंगाई को लेकर कांग्रेस 'भारत बचाओ रैली' का आयोजन कर रही है। इस रैली में कांग्रेस नागरिकता संशोधन कानून, अर्थव्यवस्था की सुस्त रफ्तार, बढ़ती बेरोजगारी और किसानों की समस्या जैसे कई मुद्दों को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला कर रही है। राहुल गांधी ने रामलीला मैदान में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी ने मनरेगा का पैसा छीन लिया। मोदी एक धर्म को दूसरे धर्म से लड़ा रहे हैं। आज किसान खुदकुशी कर रहे हैं। मोदी को देश से माफी मांगनी चाहिए। मोदी ने पूर्वोत्तर को जला दिया है। असम जल रहा है।

मोदी सरकार ने देशभर में हिंसा फैला दी है। जो दुश्मन ने नहीं किया वो मोदी ने कर दिया। हकीकत में देश की GDP 2.5 फीसदी है। मोदी सरकार झूठ बोल रही है। मोदी ने उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया और जनता से पैसा छीन लिया। उन्होंने कहा कि हमारे देश को कमजोर किया जा रहा है और देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट किया जा रहा है। पीएम मोदी पर तंज कसते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं बल्कि राहुल गांधी है। मैं अपने बयान पर माफी नहीं मांगूंगा। रैली में राहुल गांधी ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। राहुल ने कहा कि पीएम मोदी ने कालेधन का नाम लेकर झूठ बोला और नोटबंदी लागू कर दी। नोटबंदी की चोट देश अभी भी झेल रहा है। राहुल ने कहा कि मोदी सरकार ने जल्दबाजी भी जीएसटी लागू किया और अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804