GLIBS
29-07-2020
आत्महत्या मामले में पति के खिलाफ अपराध दर्ज

रायपुर। पूनम सचदेव आत्महत्या मामले में पुलिस ने जांच के बाद मृतिका के पति के खिलाफ दूसरी महिला से अवैध संबंध व पत्नी को शारीरिक व मानसिक रुप से प्रताड़ि़त करने के चलते दबाव में आकर आत्महत्या जैसे कदम उठाने पर अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। ज्ञातव्य हो कि 27 जुलाई को कटोरा तालाब में पूनम सचदेवा ने अपने दुपट्टे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। इस मामले में मृतिका के परिजनों ने सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि विवाह के बाद से ही पति रवि वाधवानी 39 वर्ष मृतिका को शारीरिक व मानसिक रुप से प्रताडि़त करता था। इसके चलते वह खुदकुशी जैसी कदम उठा लिया। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने जांच के बाद आरोपी के खिलाफ धारा 306 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है।

 

19-07-2020
गृहमंत्री ने महिला की आत्महत्या मामले में दिए निष्पक्ष जांच निर्देश

रायपुर। प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने भिलाई में महिला के आत्महत्या मामले की निष्पक्ष जांच के निर्देश दिए हैं। उन्होंने भिलाई 3 थाना क्षेत्र में एक महिला द्वारा आत्महत्या करने के मामले में दुर्ग आईजी विवेकानंद सिन्हा को फोन कर निष्पक्ष जांच के लिए निर्देशित किया है। मंत्री साहू ने कहा कि जांच निष्पक्ष होनी चाहिए तथा दोषी को सज़ा ज़रूर मिलनी चाहिए। सरकार अच्छे काम करने वालों का सम्मान करती है तो कानून का उल्लंघन करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।उक्त प्रकरण के संबंध में आईजी दुर्ग विवेकानंद सिन्हा द्वारा अग्रिम कार्यवाही की गई है।  उल्लेखनीय है कि डीएसपी अनामिका जैन व उनकी सहेली के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है।

 

08-07-2020
महिला अफसर की आत्महत्या मामले में प्रियंका गांधी ने उठाए सवाल, कहा-निष्पक्ष जांच जरूरी

नई दिल्ली। बलिया में तैनात महिला पीसीएस अफसर मणिमंजरी के आत्महत्या के मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कई सवाल उठाए हैं। प्रियंका गांधी ने मांग की कि इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच बेहद जरूरी है। इस मामले में मणिमंजरी के पिता ने हत्या करने का आरोप लगाया था। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, “बलिया में तैनात गाजीपुर निवासी युवा अधिकारी मणिमंजरी के बारे में दुखद समाचार मिला है। खबरों के अनुसार उन्होंने प्रशासन की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल उठाए थे। मणिमंजरी के परिवार को न्याय मिले इसके लिए, सभी तथ्यों का सामने आना और निष्पक्ष जांच बहुत जरूरी है।” बलिया में मनियर नगर पंचायत के ईओ के पद पर तैनात पीसीएस अधिकारी मणिमंजरी राय के आत्महत्या मामले में परिजनों ने आरोप लगाया कि यह आत्महत्या नहीं, फर्जी पेमेंट कराने के लिए हत्या हुई है। पिता ने कहा कि मणिमंजरी ने कई ठेकेदारों की फाइल को रिजेक्ट किया था। चर्चा यह है कि पुलिस को सुसाइड नोट मौके से मिला है, लेकिन इसका जिक्र कहीं नही हो रही है। बता दें कि मणिमंजरी राय ने दो साल पहले मनियर नगर पंचायत में अधिशासी अधिकारी ने कार्यभार ग्रहण किया था। अधिशासी अधिकारी ने फांसी क्यों लगाई? इसकी जांच की जा रही है।

22-06-2020
जंगल में संदिग्ध हालात में मिला शव,पुलिस जांच में जुटी

धमतरी। कसपुर के जंगल में संदिग्ध हालात में शव मिलने से सनसनी फ़ैल गई है। हत्या है या आत्महत्या मामले की जांच के बाद ही कुछ कहा जा पाएगा। मिली जानकारी के अनुसार बोराई थाना क्षेत्र के अंतर्गत कसपुर के जंगल में एक अज्ञात शव मिलने से सनसनी फैल गई। इसके बाद पुलिस ने जब शव देखा तो कपड़ों से शव की पहचान की गई। बताया जा रहा है कि यह शव हरीश नेताम 20 वर्ष कसपुर का है,जो बोरवेल का काम करता था। कुछ दिनों पहले  ही आया था और आने के बाद क्वॉरेंटाइन में रखा गया था। क्वॉरेंटाइन से रिलीज करने के बाद वह बगैर कुछ बताएं घर से निकला हुआ था। इसकी तलाश सप्ताह भर से की जा रही थी। आज सोमवार को शव को जंगल में देखा गया तब पुलिस ने उसके परिजनों को सूचना दी और शव को पंचनामा करके पीएम के लिए भेज दिया। हालांकि युवक की मौत कैसे हुई है यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। पुलिस इस संदिग्ध मामले की जांच कर रही है।

 

16-01-2020
आत्महत्या मामला: पुलिस ने पति,जेठ,जेठानी को किया न्यायालय में पेश

आरंग। महिला की आत्महत्या के मामले में आरंग पुलिस ने कार्यवाही करते हुए आरोपियों को संबंधित न्यायालय में पेश किया। आरंग थाना प्रभारी लेखधर दीवान ने बताया कि 29 दिसम्बर को आरंग निवासी 23 वर्षीय सोनम देवांगन ने घर में जहर सेवन कर लिया था। इसके बाद उसे उपचार के लिए रायपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था,जहां उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद मृतिका के मायके वालों ने आरंग थाने में उसके पति शेखर देवांगन, जेठ, जेठानी पर दहेज प्रताड़ना और मारपीट करने की शिकायत दर्ज करवाई थी। जांच के बाद आरंग पुलिस ने धारा 304(ब),34 के तहत मामला दर्ज कर आरोपियों को गुरुवार को न्यायालय में पेश किया। 

 

16-01-2020
नवविवाहिता के आत्महत्या मामले में, पति समेत भाई-भाभी गिरफ्तार

रायपुर। आरंग पुलिस ने नवविवाहिता के आत्महत्या मामले में पति सहित जेठ, जेठानी के खिलाफ दहेज प्रताड़ना का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना शुरू कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आरंग थाना क्षेत्र में नवविवाहिता ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी। इसके बाद मायके वालों ने दहेज प्रताड़ना का आरोप लगाया था। पुलिस जांच में पता चला कि आत्महत्या का कारण मानसिक प्रताड़ना है। हालांकि पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद उसके पति, जेठ और जेठानी को हिरासत में ले लिया है और कार्यवाही शुरू कर दी है।


 

14-01-2020
नवविवाहिता आत्महत्या मामले में प्रताड़ित करने वाला पति गिरफ्तार

पखांजूर। नवविवाहिता के आत्महत्या मामले में पुलिस ने प्रताड़ित करने वाले पति को गिरफ्तार कर लिया। 3 जनवरी को प्रार्थिया सरस्वती घरामी ने रिपोर्ट दर्ज कराया था कि अमीषा सरकार पति विप्रो सरकार उम्र 24 वर्ष निवासी पीव्ही 45 के द्वारा मिट्टी तेल छिड़क कर आत्महत्या कर ली थी। अमीषा के आग लगाने के बाद इलाज़ के लिए सिविल अस्पताल पखांजूर में भर्ती किया गया था। डॉक्टर द्वारा मृतिका का मरणासन्न कथन लेख किया था, जिसमें मृतिका ने प्रताड़ना के संबंध जानकारी दिया था। थाना पखांजूर में मर्ग क्रमांक 02/20 धारा 174 जाफौ पंजीबद् कर जांच की जा रही थी। मृतिका अमीषा सरकार के शव का पंचनामा कार्यपालक दंडाधिकारी कराया गया था। पुलिस अधीक्षक कांकेर भोजराम पटेल द्वारा मामले की त्वरित जांच कर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था। पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में अति.पुलिस अधीक्षक पखांजूर राजेन्द्र जायसवाल एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस पखांजूर मयंक तिवारी के पर्यवेक्षण में मर्ग की जांच किया गया। मर्ग के सम्पूर्ण जांच मृतिका के मरणासन्न कथन एवं अन्य गवाहों के कथन में मृतिका के पति द्वारा प्रताड़ित करना पाया गया। इससे तंग आकर मृतिका द्वारा आत्महत्या करना पाया गया। आरोपी मृतिका के पति विप्रो सरकार पिता निर्मल सरकार उम्र 26 वर्ष निवासी पीव्ही 46  के ख़िलाफ़ थाना पखांजूर में अपराध क्रमांक 09/20 धारा 306,498 आईपीसी पंजीबद कर आरोपी को 14 जनवरी को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया। न्यायालय के आदेश पर आरोपी को जेल दाखिल किया गया है।  

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804