GLIBS
11-08-2020
हजारों करोड़ रुपए का कर्ज लादकर प्रदेश के अर्थतंत्र को तबाह करने पर आमादा है सरकार : भाजपा

रायपुर। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि हजारों करोड़ रुपए का कर्ज लादकर प्रदेश के अर्थतंत्र को तबाह करने पर आमादा सरकार को यह पूरा कर्ज चुकाने की जरा भी फिक्र नहीं है। श्रीवास्तव ने कटाक्ष किया कि राज्य की कांग्रेस सरकार यह तय मानकर चल रही है कि आगामी चुनाव के बाद तो वह यकीनन सत्ता में लौटेगी ही नहीं, इसलिए वह कर्ज लेकर प्रदेश को कंगाली की खाई में धकेल रही है। श्रीवास्तव ने यह मांग की कि जब प्रदेश सरकार कर्ज लेकर किसानों को अंतर राशि का भुगतान कर रही है तो फिर किश्तों में यह राशि देने के बजाय किसानों को उनकी अंतर राशि एकमुश्त दी जाए ताकि अभी खेता-किसानी के काम में लगे किसानों को इससे राहत मिल सके। अभी तो सरकार ने किसानों का पिछले साल का ही पूरा भुगतान किसानों को किया नहीं है और मौजूदा खरीफ सत्र की धान खरीदी के लिए पंजीयन की प्रक्रिया वह शुरू करने जा रही है। जब सरकार के पास पिछले बकाया भुगतान के लिए ही पैसे नहीं हैं और वह कर्ज ले रही है तो आगामी धान खरीदी के लिए सरकार के पास पैसे कहाँ से आएंगे? क्या सरकार फिर किसानों का धान खरीदने के नाम पर फिर से नौटंकियाँ करके किसानों के साथ आर्थिक अन्याय करेगी और उनके आत्म-सम्मान को लहूलुहान करेगी? श्रीवास्तव ने कहा कि किश्तों में धान के मूल्य की अंतर राशि देने वाली कांग्रेस सरकार इस सत्र का धान खरीदकर उसका भुगतान कब तक करेगी, उसकी ओर से यह एकदम स्पष्ट होना चाहिए।

 

 

11-08-2020
संवेदनशून्य सरकार ने प्रदेश के गरीब मरीजों और कोरोना पीड़ितों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता भूपेंद्र सिंह सवन्नी ने प्रदेश सरकार पर स्वास्थ्य सेवाओं को बदहाल करने और कोरोना संक्रमण की रोकथाम में विफल बताया है। सवन्नी ने कहा कि यह प्रदेश सरकार पूरी तरह संवेदनशून्य हो चली है और उसने प्रदेश के गरीब परिवारों और कोरोना पीड़ितों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है। आज तो प्रदेश में सामान्य रूटीन के इलाज के लिए गरीब परिवार के मरीज परेशान हो रहे हैं जबकि कोरोना मरीज अब या तो आत्महत्या के लिए विवश हो रहे हैं या फिर सरकार की बदइंतजामी के चलते वे तड़प-तड़पकर मरने को विवश हो रहे हैं। प्रदेश सरकार अब कोरोना मरीजों के इलाज में लापरवाही का परिचय दे रही है। सवन्नी ने कहा कि प्रदेश में स्मार्ट कार्ड से लोगों का इलाज तो बंद कर दिया गया है, अब सरकार अपने वादे के बावजूद राशन कार्ड से भी गरीबों को इलाज की सहूलियत मुहैया नहीं करा रही है, जिससे गरीबी रेखा वाले परिवार अपने इलाज के लिए दर-दर की ठोकरें खाते परेशान हो रहे हैं। यह बेहद शर्मनाक स्थिति है। सवन्नी ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण की रोकथाम, जाँच और उपचार जैसे संवेदनशील मुद्दे पर भी गैर-जिम्मेदाराना व्यवहार प्रदर्शित कर रही है। लॉकडाउन के नाम पर प्रदेश को पखवाड़े भर परेशानी में डालकर भी सरकार कोरोना संदिग्धों, मरीजों और मृतकों के बढ़ते आँकड़ों को रोक नहीं पा रही है तो अपने इस नाकारापन के लिए जिम्मेदार सरकार को एक क्षण भी सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं रह जाता है।

 

 

11-08-2020
कौशिक ने पूछा : प्रमाणित साक्ष्य हैं तो सरकार रमन सिंह के विरुद्ध जाँच का साहस क्यों नहीं जुटा पा रही?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को प्रदेश के एक मंत्री द्वारा घोटालों का महानायक कहे जाने पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि घोटालों का महानयक वाले तमगे पर तो कांग्रेस के खानदान का ही एकाधिकार सुरक्षित है और उसकी छत्रछाया में कांग्रेस के दीगर नेता भी देशभर में लूटखसोट का कलंकित इतिहास रच चुके हैं। कौशिक ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस के नेता और मंत्री डॉ. सिंह पर निराधार आरोप मढ़ते समय यह न भूलें कि भ्रष्टाचार और आर्थिक गड़बड़ियों के मामले में कौन-कौन जमानत पर बाहर घूम रहे हैं? नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार के पास प्रमाणित साक्ष्य हैं तो वह डॉ. सिंह के खिलाफ जाँच कराने का साहस क्यों नहीं जुटा पा रही है? वस्तुत: प्रदेश सरकार के मंत्रियों और कांग्रेस नेताओं को आसमान पर थूकने की लत लगी हुई है और निराधार आरोप लगाकर वे चरित्र हनन की राजनीति करने के ही आदी रहे हैं। कौशिक ने सवाल किया कि डॉ. सिंह के खिलाफ बेतुके आरोप लगाने से पहले कांग्रेस नेताओं की समझ को काठ क्यों मार जाता है, समझ से परे है। आय से अधिक संपत्ति के जिस मामले को लेकर कांग्रेस के नेता और मंत्री व्यक्तिगत विद्वेष का प्रदर्शन करते अर्श पर उड़ रहे हैं, उसमें कोई दम नहीं है और सच्चाई सामने आने पर वे औंधे मुँह फर्श पर गिर पड़ेंगे। आरोप लगाकर पीठ दिखाकर भाग जाने की  

09-08-2020
छत्तीसगढ़ सरकार कोरोना संक्रमण के प्रति लापरवाह है : विष्णुदेव साय

रायपुर। भाजपा छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम में छत्तीसगढ़ सरकार को लापरवाह बताया है। साय ने कहा कि जब शासन के स्तर पर जिम्मेदार सत्ताधीश ही इस गाइड लाइन का पालन नहीं कर रहे हैं तो फिर किसी अन्य से इसके पालन की उम्मीद कैसे की जा सकती है? प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया के शनिवार को रायपुर पहुँचने पर एयरपोर्ट, मुख्यमंत्री निवास और कांग्रेस कार्यालय में सैकड़ों लोगों का जमावड़ा कोविड-19 की गाइड लाइन का खुला उल्लंघन माना जाएगा। जहाँ मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन फिर नहीं हुआ। साय ने इस बात पर हैरत जताई कि प्रदेश सरकार के पास अपनी सियासी नौटंकियों और निगम-मंडलों की नियुक्ति जैसे गैर जरूरी विषयों पर चर्चा करने के लिए बैठकें बुलाने का समय है लेकिन कोरोना के इस संकटकाल में इस महामारी से निपटने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाकर चर्चा करने का वक़्त नहीं है। प्रदेश सरकार के इस रवैए से एकदम साफ है कि वह प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के प्रति लापरवाह हो प्रदेश के जनस्वास्थ्य से क्रूर खिलवाड़ कर रही है।

06-08-2020
सरकार को जनता की समस्याओं से कोई लेना देना नहीं : आम आदमी पार्टी

रायपुर। 14580 चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों की नियुक्ति की मांग और प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी से परेशान युवाओं की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी लगातार आंदोलन कर रही है। प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा कि शायद सरकार को जनता की समस्याओं से अब कोई सरोकार ही नहीं रह गया है। उन्हें सिर्फ पार्टी के लोगों को मलाइदार पदों पर नियुक्ति करने व उसके लिये मीटिंग करते रहने की आदत सी हो गयी है। कुछ कुछ दिनों में फिर कोई लोकलुभावन घोषणा कर दी जाएगी और फिर मंडल, निगम आदि के पदों पर नेताओं की नियुक्तियां कर दी जायेगी और जनता मुँह देखती रह जायेगी।

 

05-08-2020
भगवान राम के ननिहाल प्रदेश के युवाओं को रोजगार के लिये अब और न तरसाए सरकार : कोमल हुपेंडी

रायपुर। 24 जून से 14580 चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों की मांगों और प्रदेश में बढ़ते बेरोजगारी से परेशान युवाओं की पीड़ा को लेकर आम आदमी पार्टी का आंदोलन जारी है। प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने प्रदेशवासियों को राम मंदिर के शिलान्यास की बधाई दी। उन्होंने कहा कि भगवान राम के ननिहाल प्रदेश के युवाओं को रोजगार के लिये अब और न तरसाए ये कांग्रेस सरकार, नहीं तो डिजिटल आन्दोलन को और धारदार बनाते हुए सरकार को विवश कर देंगे। युवाओं और शिक्षित बेरोजगारों को न्याय दिलाने के लिए इतना ही नहीं अब घोषणाओं और जुमलों से काम नहीं चलेगा। प्रदेश युवा उपाध्यक्ष संत सलाम ने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश के युवाओं के रोजगार और 14580 चयनित शिक्षकों की नियुक्ति के लिए आम आदमी पार्टी अब आर पार की लड़ाई लड़ने को तैयार है। डिजिटल युवा आंदोलन 1 अगस्त से 10 अगस्त तक लगातार इस संकल्प को और मजबूत बनाएगा। हम सरकार को बेरोजगारी के मुद्दे पर लगातार प्रकाश डाल रहे है और आम जन भी ट्वीटर और फेसबुक पर उत्साह से आंदोलन में शामिल हो कर सफल बना रहे है लेकिन सिर्फ मीठे बोल बोलने वाली कांग्रेस सरकार पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है।

 

04-08-2020
उमा भारती ने साध्वी होने का अपना धर्म पूरा करते हुए भाजपा को आइना दिखाया : आरपी सिंह

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आरपी सिंह ने उमा भारती के बयान का स्वागत किया है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि उमा भारती ने साध्वी होने का अपना धर्म पूरा करते हुए भारतीय जनता पार्टी को जो आइना दिखाने का कार्य किया है, इसके लिए वह बधाई की पात्र हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने भारतीय जनता पार्टी पर अयोध्या राम मंदिर भूमिपूजन समारोह के राजनीतिकरण का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि पूरी भाजपा राम मंदिर भूमिपूजन और कार्यारंभ को इस तरह से प्रदर्शित कर रही है, जैसे प्रभु राम भारतीय जनता पार्टी के पेटेंट हों और उनकी बपौती हों। राम मंदिर भूमिपूजन किसी साधु संत से ना करवा कर प्रधानमंत्री मोदी से करवाना और संघ प्रमुख की वहां मौजूदगी भी कांग्रेस के इन आरोपों पर पुष्टि की मुहर लगाती है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि अयोध्या में रामलला के मंदिर के निर्माण की जो प्रक्रिया प्रारंभ होने जा रही है,इसमें सबसे अधिक योगदान अगर किसी का रहा है, तो वह कांग्रेस पार्टी और स्व.प्रधानमंत्री राजीव गांधी का ही रहा है। राजीव गांधी ने ही पूजा स्थल के ताले खुलवाए, वहां पर पूजा पाठ की अनुमति प्रदान करवाई। उन्होंने ही 9 नवंबर सन 1989 को राम मंदिर का शिलान्यास भी करवाया था। बाद में राजीव गांधी की हत्या के बाद केंद्र में पीवी नरसिम्हा राव की सरकार बनी। उन्होंने संपूर्ण मंदिर क्षेत्र की जमीन का भू अधिग्रहण करके राम मंदिर बनाने का रास्ता प्रशस्त कर दिया था। राम मंदिर का निर्माण निश्चित तौर पर पूरे विश्व के लिए खुशी का क्षण है। हम सब इस क्षण का वर्षों से इंतजार कर रहे थे।

02-08-2020
अब पंचायत सचिवों ने की नियमितिकरण की मांग, दी आंदोलन की चेतावनी

अंबिकापुर। प्रदेश की सरकार शिक्षाकर्मियों के संविलियन को लेकर शिक्षकों के पक्ष में नजर आई। लेकिन 10 हजार से अधिक पंचायत सचिवों के नियमितिकरण को लेकर सरकार गंभीरता नहीं दिखा रही हैं। वही सचिव संघ के प्रदेश महामंत्री औऱ सचिव संघ के जिला अध्यक्ष सहित सचिव संघ के सभी पदाधिकारी नियमितिकरण को लेकर अंबिकापुर जनपद पंचायत में मौजूद रहे। इधर सचिव संघ के अध्यक्ष ने बताया कि पंचायतों में पदस्थ सचिव कोरोना वैश्विक महामारी में शासन के सभी निर्देशो का पालन करते हुए पंचायतों की जनता को महामारी से बचाने के लिए हमेशा तत्पर रहे हैं। शासन के विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं को ग्राम पंचायत के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। लेकिन शासन द्वारा 500 रुपये मासिक मानदेय पर शिक्षाकर्मी एवं पंचायतकर्मी की भर्ती ग्राम पंचायत से आरंभ किया गया था। लेकिन शिक्षाकर्मियों को दो वर्ष पूर्ण होने पर संविलियन करते हुए समस्त सुविधाएं प्रदान कि जा रही हैं। लेकिन इसके विपरीत ग्रामीण क्षेत्रों में शासन के समस्त योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने वाले पंचायत सचिवों का नियमितिकरण आज तक नहीं हो पाया हैं। इसको लेकर सरकार से सचिव संघ ने पंचायत सचिवों का नियमितिकरण करने की मांग की हैं। मांग पूरी नहीं होने पर सचिव संघ ने आंदोलन करने की चेतावनी दी हैं। गौरतलब हैं कि प्रदेश में 60 से अधिक विधायकों ने पंचायत संघ के सचिवों की मांगो पर सहमति भी दे दी हैं।

 

01-08-2020
राजस्थान में हो रहे तमाशे को बंद करवाएं मोदी : अशोक गहलोत  

नई दिल्ली। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को आरोप लगाया कि भाजपा उनकी सरकार को गिराने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त का बड़ा खेल खेल रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राजस्थान में चल रहे इस ‘तमाशे’ को बंद करवाने की अपील की। अशोक गहलोत ने संवाददाताओं से कहा, ‘दुर्भाग्य से इस बार भाजपा का प्रतिनिधियों की खरीद-फरोख्त का खेल बहुत बड़ा है। वह कर्नाटक एवं मध्यप्रदेश का प्रयोग यहां कर रही है। पूरा गृह मंत्रालय इस काम में लग चुका है।’ उन्होंने कहा, हमें किसी की परवाह नहीं। हमें लोकतंत्र की परवाह है। हमारी लड़ाई किसी से नहीं है। हमारी विचारधारा, नीतियों एवं कार्यक्रमों की लड़ाई है। लड़ाई यह नहीं होती कि आप चुनी हुई सरकार को गिरा दें। हमारी लड़ाई किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं है, हमारी लड़ाई लोकतंत्र को बचाने की है।’ इसके साथ ही गहलोत ने कहा कि उन्हें चाहिए कि राजस्थान में जो कुछ तमाशा हो रहा है उसे बंद करवाएं।’ केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत द्वारा सरकार के खिलाफ ट्वीट किए जाने के बारे में गहलोत ने कहा कि सिंह तो अपनी झेंप मिटा रहे हैं जबकि आडियो टेप मामले में उन्हें नैतिकता के आधार पर खुद ही इस्तीफा दे देना चाहिए। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान में विधायकों को तोड़ने की आशंका के बीच कांग्रेस एवं उसके समर्थक विधायकों को शुक्रवार को राजधानी जयपुर से दूर सीमावर्ती शहर जैसलमेर स्थानांतरित कर दिया गया। 

 

01-08-2020
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के नाम पर सरकार सिर्फ ड्रामेबाजी कर जनस्वास्थ्य के साथ कर रही खिलवाड़ : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार तेजी से हो रहे इजाफे पर चिंता व्यक्त की है। प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने कहा कि कांग्रेस सरकार शुरू से इस महामारी को लेकर लापरवाह रही है। घर-घर तक पहुँच रहे कोरोना संक्रमण की रोकथाम के नाम पर सिर्फ ड्रामेबाजी कर जनस्वास्थ्य के साथ क्रूर खिलवाड़ कर रही है। सुंदरानी ने कहा कि अब बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के लिए अनलॉक के दौरान लोगों द्वारा सावधानी और बचाव के उपाय नहीं अपनाने की बात कहकर मुख्यमंत्री बघेल अपनी विफलता का ठीकरा लोगों के सिर फोड़ने पर आमादा हैं। भाजपा प्रवक्ता ने सवाल किया कि कांग्रेस के नेताओं और सैंपल देकर कायदा-कानून ताक पर रख घूम रहे कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों से जो संक्रमण का खतरा ज्यादा बढ़ रहा है, मुख्यमंत्री इस पर संज्ञान कब लेंगे?

सुंदरानी ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार की ओर से घोषित सख़्त लॉक डाउन पूरी तरह ध्वस्त हो चुका है और सरकार को यह सूझ ही नहीं रहा है कि इस संक्रमण की रोकथाम के लिए किस तरह के उपाय किए जाएँ? उन्होंने कहा कि अफसरशाही पूरे प्रदेश में कोरोना के नाम पर अव्यावहारिक फैसले लेकर अपना राज चला रहे हैं, वहीं नित-नए फैसलों के चलते बाजार में जो हुजूम उमड़ रहा है, उससे संक्रमण फैलने की बढ़ती आशंका के लिए प्रदेश सरकार अपनी जिम्मेदारी से पल्ला कैसे झाड़ सकती है? यह स्थिति प्रदेश सरकार की नेतृत्वहीनता और भटकन को रेखांकित कर रही है। प्रदेश में अब भी टेस्टिंग लैब की कमी के चलते जाँच का काम धीमी गति से चल रहा है, क्वारेंटाइन सेंटर्स के बाद अब कोविड-19 सेंटर्स भी बदइंतजामी और बदहाली के चलते नरकीय यंत्रणा के केंद्र बन चुके हैं, जमीनी सच यह भी है कि प्रदेश में अब संदेही लोगों की जांच के लिये सैंपल भी नहीं लिए जा रहे हैं, जिसके चलते परिस्थितियां और चिंताजनक बनती जा रही हैं। तो, प्रदेश सरकार क्या अपनी इस नाकामी के लिए भी शर्म महसूस नहीं करेगी?

31-07-2020
अमलीडीह में स्वास्थ्य विभाग ने लगाया शिविर,100 से अधिक लोगों की हुई कोरोना जांच

रायपुर। नगर निगम जोन क्रमांक 10 कार्यालय अमलीडीह पानी टंकी परिसर में स्वास्थ्य विभाग की ओर से शिविर लगाया गया। शिविर में 100 से अधिक लोगों ने पहुंचकर चिकित्सकों से कोविड 19 संबंधी जांच करवाई। चिकित्सकों ने लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करने सहित कई महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। उन्होंने सामान्य रूप से स्वस्थ रहने,रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने सदैव मास्क पहनने, सामाजिक दूरी के स्वास्थ्य नियम का परिपालन करने सहित सामान्य स्वास्थ्य नियमों को जीवन में दैनिक रूप से अपनाने का चिकित्सकीय परामर्श दिया। कोविड 19 जांच शिविर के दौरान पूरे समय जोन 10 के कमिश्नर अरूण साहू, जोन कार्यपालन अभियंता शिबूलाल पटेल, सहायक अभियंता फत्तेलाल साहू सहित जोन अधिकारी,स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक और अधिकारी उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804