GLIBS
12-09-2019
कुली नंबर 1 फिल्म की पूरी टीम को पीएम मोदी ने सराहा, ये है वजह....  

नई दिल्ली। फिल्म कुली नंबर-1 के सेट पर पीएम मोदी की मुहिम के बाद प्लास्टिक के इस्तेमाल का बहिष्कार किया गया, जिसकी खुद प्रधानमंत्री मोदी ने तारीफ की है। पीएम ने की तारीफ फिल्म कुली नंबर-1 के सेट पर वरुण धवन, सारा अली खान, डेविड धवन सहित फिल्म के पूरे क्रू ने सेट को प्लास्टिक फ्री कर दिया और लोगों ने प्लास्टिक की बोतल की जगह स्टील की बोतल का इस्तेमाल किया। फिल्म के सेट पर क्रू मेंबर्स ने एक तस्वीर भी पीएम मोदी की मुहिम का समर्थन करते हुए साझा की है, जिसे रीट्वीट करते हुए पीएम मोदी ने इसकी तारीफ की है। पीएम मोदी ने लिखा है कि कुली नंबर-1 की टीम का जबरदस्त प्रयास है। मैं यह देखकर खुश हूं कि फिल्म जगत भी भारत को सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल से मुक्त कराने के लिए अपना योगदान दे रहा है।

इससे पहले वरुण धवन ने फिल्म के सेट से इस तस्वीर को साझा किया था और लिखा था कि देश को प्लास्टिक फ्री बनाना हमारी आज की जरूरत है, जिसके लिए हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक मुहिम शुरू की है, हम सभी अपना छोटा योगदान इस मुहिम के लिए दे सकते हैं। बता दें कि कुली नंबर 1 पहली बॉलीवुड फिल्म बन गई है, जहां पर प्लास्टिक फ्री सेट का इस्तेमाल किया जा रहा है। फिल्म की प्रोड्यूसर दीपशिखा देशमुख ने 1 सितंबर को इसका ऐलान किया था। फिल्म के क्रू ने यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद लिया है, जिसका समर्थन फिल्म के पूरे क्रू ने किया है।

11-09-2019
राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी ओणम की बधाई

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को केरल में फसल तैयार होने के अवसर पर मनाए जाने वाले त्योहार ओणम की बधाई दी। राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट कर कहा, “ओणम पर, भारत और विदेशों में रह रहे केरल के हमारे भाइयों और बहनों को शुभकामनाएं एवं बधाइयां। फसल तैयार होने के अवसर पर मनाया जाने वाला यह त्योहार हम सभी के लिए असीम खुशियां और समृद्धि लेकर आता है।” पीएम मोदी ने कहा, “ओणम के शुभ अवसर पर शुभकामनाएं। मैं कामना करता हूं कि यह त्योहार हमारे समाज में खुशी, कल्याण और समृद्धि की भावना को आगे बढ़ाये।” ओणम राजा महाबली के स्वागत में प्रतिवर्ष आयोजित किया जाता है जो दस दिन तक चलता है।

11-09-2019
ब्रजभूमि ने पूरे विश्व और पूरी मानवता को किया प्रेरित : पीएम मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मथुरा पहुंचने पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया। यहां उन्होंने पं. दीनदयाल वृहद पशु आरोग्य मेला का शुभारंभ किया। इस दौरान पीएम मोदी ने गौ-सेवा भी की और टीकाकरण की जानकारी ली। मोदी ने आरोग्य मेला में आए पशु पालकों से मुलाकात कर उनसे बातचीत की। पशु चिकित्सा और पशुपालन के क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं की जानकारी देने के लिए प्रदर्शनी लगाई गई है। प्रधानमंत्री ने इस प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। पीएम मोदी ने कहा कि आज स्वच्छता ही सेवा अभियान की शुरुआत हुई है, नेशनल एनीमल डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम को भी लॉन्च किया गया है। पशुओं के स्वास्थ्य, पोषण, डेरी उद्योग और कुछ अन्य परियोजनाएं भी शुरु हुई हैं। इसके अलावा मथुरा के इंफ्रास्ट्रक्चर और पर्यटन से जुड़े कई परियोजनाओं शुभारंभ भी हुआ है।

उन्होंने कहा, स्वच्छ भारत हो, जल जीवन मिशन हो या फिर कृषि और पशुपालन को प्रोत्साहन, प्रकृति और आर्थिक विकास में संतुलन बनाकर ही हम सशक्त और नए भारत के निर्माण की तरफ आगे बढ़ रहे हैं। ब्रजभूमि ने हमेशा से ही पूरे विश्व और पूरी मानवता को प्रेरित किया है। आज पूरा विश्व पर्यावरण संरक्षण के लिए रोल मॉडल ढूंढ रहा है। लेकिन भारत के पास भगवान श्रीकृष्ण जैसा प्रेरणा स्रोत हमेशा से रहा है, जिनकी कल्पना ही पर्यावरण प्रेम के बिना अधूरी हैंं। उन्होंने कहा महात्मा गांधी की 150वीं जयंती, स्वच्छता को अपनाने का संकल्प ही सच्ची श्रद्धांजलि। प्लास्टिक कचरा पशुधन, जलीय जीवों को खतरा है। उन्होंने  सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति का संकल्प दिलाया। पीएम ने कहा कि आने वाली पीढ़ियों के उज्जवल भविष्य के लिए यह करना ही होगा। जो कचरा री-साइकिल नहीं हो सकता है, उन्हें सीमेंट फैक्ट्रियों और सड़कों को बनाने में किया जाएगा। पीएम ने कहा कि मैं प्लास्टिक अलग करने वाली महिलाओं से मिला। कचरे से कंचन की सोच ही हमें इस अभियान से आगे ले जाएगी। कचरे से कंचन की सोच ही हमारे वातावरण को स्वच्छ बनाएगी। बाजार जाएं तो झोला लेकर जाएं। प्लास्टिक का उपयोग न करें।

11-09-2019
रेलवे करेगा फ्री में मोबाइल रिचार्ज, बस पूरी करनी पड़ेगी ये शर्त...

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे जल्द ही नई सुविधा शुरू करने जा रही है। इस सुविधा यात्रियों को फायदा होगा। रेलवे आपके मोबाइल नंबर में फ्री का रिचार्ज करेगा। हालांकि इसके लिए एक शर्त भी है। दरअसल, रेलवे उन यात्रियों के फोन को रिचार्ज करेगा, जो स्टेशनों पर प्लास्टिक बोतल नष्ट करने वाली मशीनों का इस्तेमाल करेंगे। रेलवे की ओर से ये पहल सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग खत्‍म करने के लिए की गई है। रिपोर्ट के अनुसार रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने बताया कि स्टेशनों पर बोतलों को नष्ट करने वाली 400 मशीनें लगाई जाएंगी। इसका इस्तेमाल करने वाले यात्रियों को मशीन में अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा और इसके बाद उनका मोबाइल फोन रिचार्ज हो जाएगा।

हालांकि, रिचार्ज की डिटेल जानकारी अभी नहीं दी गई है। इसके साथ ही रेलवे ने निर्देश जारी किया है कि इस साल 2 अक्टूबर से उसके परिसरों में एक बार प्रयोग में लाई जाने वाली प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं होगा। वीके यादव के मुताबिक फिलहाल 128 स्टेशनों पर बोतल नष्ट करने वाली 160 मशीनें लगाई गई हैं। इससे पहले रेल मंत्रालय ने सभी विक्रेताओं और कर्मचारियों को प्लास्टिक का इस्तेमाल घटाने के लिए रिसाइकिल बैग के प्रयोग का निर्देश दिया था। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने और प्लास्टिक बोतल का विकल्प तलाशने की अपील की थी।

09-09-2019
कॉप-14 सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा, जलवायु परिवर्तन हम सबके लिए बड़ी चुनौती

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि जलवायु परिवर्तन हम सबके सामने एक बड़ी चुनौती है और दुनियाभर के देशों को संजीदगी से इस पर सोचना होगा। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया जलवायु परिवर्तन के नकारात्‍मक असर को झेल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में चल रहे 12 दिवसीय कॉप-14 (कॉन्फ्रेंस आफ पार्टीज) को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। प्रधानमंत्री ने यहां कहा, हम अपनी धरती को मां मानते हैं, हम हमेशा पर्यावकरण से जुड़े मामलों को लेकर गंभीर हैं। भारत दुनिया को मरूस्‍थलीयकरण से बचाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसीलिए भारत ने दो साल तक इस सम्‍मेलन का होस्‍ट बनने फैसला लिया है। पीएम मोदी ने क‍हा कि हम बायो फर्टिलाइजर को बढ़ावा दे रहे हैं। केमिकल फर्टिलाइजर के इस्‍तेमाल को कम कर रहे हैं। भारत ने जल संरक्षण के लिए जल शक्ति मंत्रालय बनाया है और सिंगल यूज प्‍लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। समय आ गया है कि दुनिया को सिंगल यूज प्‍लास्टिक को गुड बाय कह देना चाहिए।

 केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि भारत ने बढ़ते मरुस्‍थलीकरण से धरती को बचाने की दिशा में कई कदम उठाए हैं। पर्यावरण संरक्षण को लेकर भी ध्यान दिए हैं। यही वजह है कि दुनिया के 77 फीसदी बाघ केवल भारत में हैं। भारत ने बढ़ती ग्‍लोबल वर्मिंग और प्रदूषण से निपटने के लिए टैक्स में छूट देकर ई-वाहनों को भी बढ़ावा दिया है। दो सितंबर से शुरू हुए कॉप-14 का शुभारंभ केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने किया था। इसका आयोजन दुनिया को बढ़ते मरुस्थलीकरण से बचाने की मुहिम के तहत किया गया है। दुनिया के 190 से ज्यादा देशों के प्रतिनिधि इस सम्मेलन में भाग ले रहे हैं।

08-09-2019
मोदी सरकार के 17 कैबिनेट मंत्री मिलकर देंगे 100 दिनों के कार्यकाल का लेखा जोखा

नई दिल्ली। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिन पूरे हो चुके हैं। सरकार ने इस अवधि में कौन-कौन से बड़े और ऐतिहासिक फैसले लिए, इससे जनता को अवगत करवाने की जिम्मेदारी 17 मंत्रियों को सौंपी गई है। ये कैबिनेट मिनिस्टर 9 और 10 सितंबर को देश के विभिन्न भागों में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार 2.0 की अब तक की उपलब्धियां गिनाएंगे। योजना के तहत जम्मू, शिमला, चंडीगढ़, मुंबई, रांची समेत कई जगहों पर प्रेस वार्ता की जाएगी। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी मुंबई में जबकि महिला एवं बाल कल्याण मंत्री स्मृति ईरानी कोलकाता में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी। बाकी के 15 केंद्रीय मंत्रियों में निर्मला सीतारमण चेन्नै, रामविलास पासवान पटना, रविशंकर प्रसाद अहमदाबाद, हरसिमरत कौर चंडीगढ़, थावरचंद गहलोत रायपुर, अर्जुन मुंडा रांची, मुख्तार अब्बास नकवी प्रयागराज, प्रह्लाद जोशी गोवा, गजेंद्र सिंह शेखावत जयपुर, रमेश पोखिरालय 'निशंक' देहरादून, जीतेंद्र सिंह जम्मू, आरके सिंह हैदराबाद, मनसुख लाल मंडवीया भुवनेश्वर, अनुराग ठाकुर शिमला और नरेंद्र सिंह तोमर ग्वालियर में मीडिया को संबोधित करेंगे।

ये सभी नेता आर्टिकल 370 हटाने और अमेरिकी अपाचे हेलिकॉप्टर की खरीद जैसे राष्ट्रवादी और सुरक्षा संबंधी फैसलों से लेकर किसानों और दुकानदारों के लिए पेंशन की व्यवस्था तक की जनकल्याणकारी योजनाओं तक का जिक्र करेंगे।। दो दिनों के कार्यक्रम में मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक जैसी कुप्रथा से मुक्ति दिलाने वाले कानून का बढ़-चढ़कर जिक्र होगा। साथ ही, आतंकवाद से कड़ाई से निपटने के लिए यूएपीए में किए गए संशोधन के फायदों को भी समझाया जाएगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए देश को यह भी बताया जाएगा कि मोदी सरकार 2.0 के पहले सत्र में संसद ने कैसे ओवरटाइम वर्क किया और कई महत्वपूर्ण कानून बनाए। इनके अलावा, जनता को जिन बड़े मुद्दों से अवगत करवाया जाएगा, उनमें मिशन फिट इंडिया की लॉन्चिंग, बैंकों के विलय का फैसला एवं जलशक्ति मंत्रालय और नैशनल मेडिकल कमिशन का गठन आदि शामिल होंगे। बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जुलाई महीने में मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले 50 दिनों का रिपोर्ट कार्ड पेश किया था। उन्होंने आम आदमी की रोजमर्रा की जिंदगा आसान बनाने की दिशा में किए गए सरकारी प्रयासों की भी जानकारी दी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने 23 मई को आए लोकसभा चुनाव परिणाम में पहले से भी ज्यादा बहुमत पाकर सत्ता में वापसी थी। नई सरकार ने 30 मई को शपथ ग्रहण किया था।

07-09-2019
पीएम मोदी ने मायानगरी को दी मेट्रो की सौगात

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मुंबई में कई मेट्रो परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इससे पहले उन्होंने भगवान गणेश की पूजा अर्चना की। मुंबई पहुंचने पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने एयरपोर्ट पर पीएम मोदी की अगवानी की। आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री मोदी शनिवार को यहां लगभग 19 हजार करोड़ रुपये की लागत वाले तीन और मेट्रो कॉरिडोर की आधारशिला रखी। लेकिन इससे पहले मोदी ने विले पार्ले में लोकमान्य सेवा संघ तिलक मंदिर में गणपति की पूजा-अर्चना की।

उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में अक्टूबर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। मोदी आरे कॉलोनी क्षेत्र में मेट्रो भवन के लिए भूमिपूजन किया। हालांकि पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने आरे कॉलोनी में मेट्रो परियोजना का मुख्य कारशेड बनाए जाने संबंधी महाराष्ट्र सरकार के निर्णय की आलोचना की थी। इस काम के लिए बड़ी संख्या में पेड़ों को काटे जाने की जरूरत होगी। तीन मेट्रो परियोजनाएं जिनकी प्रधानमंत्री मोदी ने घोषणा की उनमें 9.2-किलोमीटर गैमुख-शिवाजी चौक (मीरा रोड) मेट्रो -10 कॉरिडोर हैं, 12.8 किलोमीटर वाला वडाला-सीएसटी मेट्रो -11 कॉरिडोर और 20.7 किलोमीटर कल्याण-तलोजा मेट्रो -12 कॉरिडोर शामिल हैं।

07-09-2019
लैंडिंग से कुछ देर पहले लैंडर विक्रम से टुटा इसरो का संपर्क

नई दिल्ली। भारत के चंद्रयान-2 मिशन को शनिवार तड़के उस समय झटका लगा, जब लैंडर विक्रम से चंद्रमा के सतह से महज दो किलोमीटर पहले इसरो का संपर्क टूट गया। इसके साथ ही 978 करोड़ रुपये लागत वाले चंद्रयान-2 मिशन के भविष्य पर सस्पेंस बन गया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के. सिवन ने संपर्क टूटने का ऐलान करते हुए कहा कि चंद्रमा की सतह से 2.1 किमी पहले तक लैंडर का काम प्लानिंग के मुताबिक था।उन्होंने कहा कि उसके बाद उसका संपर्क टूट गया। शनिवार तड़के लगभग 1.38 बजे जब 30 किलोमीटर की ऊंचाई से 1,680 मीटर प्रति सेकेंड की रफ्तार से 1,471 किलोग्राम के विक्रम चंद्रमा ने सतह की ओर बढ़ना शुरू किया, तब सबकुछ ठीक था। इसरो ने एक आधिकारिक बयान में कहा, 'यह मिशन कंट्रोल सेंटर है। विक्रम लैंडर उतर रहा था और लक्ष्य से 2.1 किलोमीटर पहले तक उसका काम सामान्य था। उसके बाद लैंडर का संपर्क जमीन पर स्थित केंद्र से टूट गया। आंकड़ों का विश्लेषण किया जा रहा है।' इसरो के टेलीमेट्री, ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क केंद्र के स्क्रीन पर देखा गया कि विक्रम अपने तय रास्ते से थोड़ा हट गया और उसके बाद संपर्क टूट गया। लैंडर बड़े ही आराम से नीचे उतर रहा था और इसरो के अधिकारी बीच बीच में खुशी जाहिर कर रहे थे। लैंडर ने सफलतापूर्वक अपना रफ ब्रेक्रिंग चरण पूरा किया और यह अच्छी स्पीड से सतह की ओर बढ़ रहा था। इसरो के एक वैज्ञानिक के मुताबिक लैंडर का नियंत्रण उस समय समाप्त हो गया होगा, जब नीचे उतरते समय उसके थ्रस्टर्स को बंद किया गया होगा। हालांकि 978 करोड़ रुपये लागत वाले चंद्रयान-2 मिशन का सबकुछ समाप्त नहीं हुआ है।

06-09-2019
महासमुंद की बेटी श्रीजल चंद्राकर देखेगी प्रधानमंत्री के साथ चंद्रयान-2 की लैंडिंग

नई दिल्ली। दो दिन से चंद्रमा के चारों ओर 35 किमी की ऊंचाई पर मंडरा रहा भारत का चंद्रयान-2 छह और सात सितंबर की दरमियानी रात चंद्रमा की सतह पर कदम रखेगा। लैंडिंग का समय करीब आते ही इसरो के वैज्ञानिकों सहित सभी की धड़कनें तेज होने लगी हैं। 978 करोड़ लागत वाले इस मिशन पर भारत सहित पूरी दुनिया की निगाह है। 1471 किलो के लैंडर ‘विक्रम’ की सॉफ्ट लैंडिंग सफल रही तो भारत ऐसा करने वाले दुनिया के चार देशों में शामिल हो जाएगा। चंद्रमा पर अब तक अमेरिका, रूस और चीन ही अपने यान उतार सके हैं। बंगलूरू स्थित भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) के वैज्ञानिक लैंडिंग की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सभी का ध्यान विक्रम की गतिविधि पर टिका है। इसरो अध्यक्ष के. सिवन भी लैंडिंग को बेहद चुनौतीपूर्ण बता चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसरो पहुंचकर 70 स्कूली बच्चों के साथ सॉफ्ट लैंडिंग का सीधा प्रसारण देखेंगे।

ऐसे होगी लैंडिंग
 रात 1 से 2 बजे के बीच विक्रम और इसमें रखे रोवर ‘प्रज्ञान’ को बूस्टर प्रोपल्शन सिस्टम की मदद से लैंडिंग के लिए तैयार किया जाएगा 1:30 से 2:30 के बीच विक्रम को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतारा जाएगा। ध्रुव के इस हिस्से में आज तक कोई देश लैंडिंग नहीं कर सका है। 5:30 से 6:30 के बीच छह पहिये वाला 27 किलो का प्रज्ञान लैंडर से निकलेगा। यह चांद की सतह पर 500 मीटर चलेगा। इसके पहियों पर उकेरा गया राष्ट्रचिह्न चांद की सतह पर अंकित हो जाएगा।

इसरो के पूर्व अध्यक्ष एएस किरण कुमार के अनुसार सॉफ्ट लैंडिंग मिशन का बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा है। अब तब सब योजना के अनुसार हुआ है, आगे भी ऐसा ही होगा। चंद्रयान-1 मिशन के निदेशक रहे ए अन्नादुरई ने कहा, इसरो के पास 40 से अधिक जियोसिंक्रोनस इक्वेटेरियल ऑर्बिट (जीओ) मिशन संभालने का अनुभव है। ऐसे में सॉफ्ट लैंडिंग सफल होने की पूरी उम्मीद है। करीब 35 किमी ऊंचाई से विक्रम 15 मिनट में उतरेगा। विक्रम और प्रज्ञान एक चंद्र दिवस (पृथ्वी के 14 दिन) तक काम करेंगे। चांद की परिक्रमा करते हुए ऑर्बिटर एक वर्ष शोध व अध्ययन करता रहेगा। मिशन का उद्देश्य चांद पर मौजूद खनिजों-धातुओं और तत्वों की खोज और अध्ययन, चंद्रमा की मैपिंग और पानी की खोज करना है।

06-09-2019
मोदी सरकार ने पुरे किए दूसरे कार्यकाल के 100 दिन.....

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे हो रहे हैं। इन 100 दिनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने चाहने वालों के दिलों में हैं तो विपक्ष के निशाने पर हैं। मोदी सरकार ने इन सौ दिनों में कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं लेकिन सरकरा के सामने कई चुनौतियां भी हैं। मोदी सरकार द्वारा लिए गए फैसलों पर गौर करें तो ऐसे कई एतिहासिक निर्णय लिए गए जिनके पूरे देश और दुनिया पर असर पड़ा है। इन उपलब्धियों में अनुच्छेद-370, तीन तलाक, सड़क सुरक्षा, आतंकवाद पर लगाम और बैंकों के विलय जैसे कई ऐतिहासिक और साहसिक फैसले शामिल ।

तीन तलाक से निजात

नरेंद्र मोदी सरकार ने लगातार दूसरी बार सत्ता में आते ही सबसे पहले मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से निजात दिलाने का कदम उठाया। मोदी सरकार ने तीन तलाक पर पाबंदी के लिए 'मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक-2019' को लोकसभा और राज्यसभा से पारित कराया। इस तरह से एक अगस्त से तीन तलाक देना कानूनन जुर्म बन गया। राज्यसभा में बहुमत न होन के बाद भी मोदी सरकार इस कानून को अमलीजामा पहनाने में कामयाब रही। सरकार के पहले कार्यकाल से ही यह मुद्दा बीजेपी के प्रमुख एजेंडे में शामिल था।

अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी

मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में सबसे एतिहासिक फैसला जम्मू-कश्मीर को लेकर लिया जो जनसंघ के जमाने से उसकी प्राथमिकता रहा है। जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी बनाने का कदम उठाने के साथ-साथ राज्य को दो हिस्सों में बांटने का काम भी इसी कार्यकाल में हुआ। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को निष्प्रभावी करने का प्रस्ताव मंजूर किया और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्र शासित प्रदेश में बांट दिया गया। मोदी सरकार के इस फैसले के बाद कश्मीर में एक देश, एक विधान और एक निशान लागू हो गया है।

मोटर व्हीकल कानून

मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में ट्रैफिक नियमों को कड़ा बनाने और सड़क हादसों को रोकने के लिए देश में मोटर व्हीकल एक्ट-2019 लागू किया है। इस सख्त कानून के तहत अब यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों की खैर नहीं। मोदी सरकार ने यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों पर भारी जुर्माना लगाने का प्रावधान किया है ताकि वाहन चालक नियमों का पालन करें। मोटर व्हीकल एक्ट-2019 लागू किए जाने के बाद सड़कों पर लोग नियमों का पालन कर दिख भी रहे हैं।

UAPA एक्ट में संशोधन

नरेंद्र मोदी सरकार ने आतंकवाद पर लगाम कसने के लिए UAPA यानी गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम (संशोधन) विधेयक-2019 को संसद से अमलीजामा पहनाया। नया यूएपीए कानून आतंकी गतिविधियों में लिप्त या उसे प्रोत्साहित करते मिले किसी व्यक्ति को आतंकी घोषित करने का अधिकार देता है। हाल ही में यूएपीए कानून के तहत मोदी सरकार ने मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम, हाफिज सईद, मौलाना मसूद अजहर और जकीउर रहमान लखवी को आतंकी घोषित किया हैं। नया कानून NIA को आरोपी की प्रापर्टी जब्त करने का अधिकार देता है।

बैंकों के विलय का फैसला

मोदी सरकार ने देश में आर्थिक सुधार की दिशा में कई अहम कदम उठाए हैं। सरकार ने दस सरकारी बैंकों के विलय करके चार बड़े बैंक बनाने का ऐलान किया हैं। ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक का पंजाब नेशनल बैंक में विलय किया गया। सिंडिकेट बैंक को केनरा बैंक और इलाहाबाद बैंक को इंडियन बैंक में मिलाया गया। आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक को यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से जोड़ने का एलान किया। इस विलय से बैंकों को बढ़ते NPA से राहत मिलेगा, साथ ही उपभोक्ताओं को बेहतर बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।

जल शक्ति मंत्रालय का गठन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव में वादा किया था कि जल संबंधी मुद्दों से निपटने के लिए एकीकृत मंत्रालय का गठन किया जाएगा। यही वजह रही कि सत्ता में आते ही नरेंद्र मोदी सरकार ने जल संसाधन और पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालयों को मिलाकर जल शक्ति मंत्रालय बनाया गया। देश के हर भारतीय को साफ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए 'जलशक्ति अभियान' के तहत 256 जिलों के 1592 खंडों की पहचान की गई है। जिन जगह पर जल स्तर नीचे है, उन जगहों की पहचान की जाएगी। हर घर में, हर नल में पानी पहुंचाने का लक्ष्य सरकार ने रखा है। साथ ही इसके जरिए जल संरक्षण और जल संचयन का लक्ष्य भी रखा गया है।

मोदी का मिशन-फिट इंडिया

नरेंद्र मोदी सरकार देश की जनता को फिट रखने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है। प्रधानमंत्री ने खेल दिवस के अवसर पर फिट इंडिया मूवमेंट की शुरूआत की। इसके तहत स्कूल, कॉलेज, जिला, ब्लॉक स्तर पर इस मूवमेंट को मिशन की तरह चलाया जाएगा। फिट इंडिया अभियान को सफल बनाने के लिए केंद्र सरकार के  खेल मंत्रालय, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, पंचायती राज और ग्रामीण विकास जैसे मंत्रालय आपसी तालमेल से काम करेंगे और इसकी रूपरेखा तैयार करेंगे। पीएम मोदी ने फिट इंडिया की शुरुआत करते हुए कई मंत्र भी दिखे, जिसमें लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल या बॉडी फिट-माइंड हिट के फॉर्मूले का अपनाया गया।

05-09-2019
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाब में हुई 23 लोगों की मौत पर जताया शोक 

नई दिल्ली। पंजाब के बटाला में 23 लोगों की मौत पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया और हादसे को दिल दहला देने वाली त्रासदी बताया। पीएम मोदी ने कहा कि पटाखा फैक्ट्री में धमाके में जान गंवाने वालों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। मुझे उम्मीद है कि घायल जल्द से जल्द ठीक हो जाएंगे। गौरतलब है कि पंजाब के बटाला में जालंधर रोड पर स्थित गुरु रामदास कालोनी में बुधवार शाम करीब चार बजे पटाखा फैक्टरी में जोरदार धमाका हुआ। इससे फैक्टरी का लैंटर गिर गया और दो घर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए। हादसे में 23 लोगों की मौत हो गई और 25 लोग घायल हो गए। इनमें से पांच की हालत गंभीर है। धमाका इतना जबरदस्त था कि पटाखा फैक्टरी से 700 मीटर दूर स्थित दुकानों तक के शीशे और फ्लैक्स बोर्ड टूट गए। फायरब्रिगेड की गाड़ियां और जेसीबी मशीनें बुलाकर राहत कार्य शुरू किया गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जब धमाका हुआ तो पूरी कालोनी के घर हिल गए। उन्हें ऐसा लगा कि जैसे कोई बम गिरा है। जब बाहर निकलकर देखा तो फैक्टरी की पूरी इमारत ध्वस्त हो गई थी।

आस-पास के घर भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए थे। धमाके के कारण फैक्टरी के साथ लगे हुए गुरुद्वारा साहिब की दीवार भी टूट गई। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को बटाला में पटाखा फैक्ट्री में हुए धमाके की घटना की मजिस्ट्रेटी जांच का आदेश दिया। यह जांच एडीसी करेंगे। इसके साथ ही कैप्टन ने ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा को तुरंत घटनास्थल पर पहुंचने के निर्देश दिए ताकि राहत और बचाव कार्यों के काम और तेजी से हो सकें। मुख्यमंत्री ने इस हादसे में मारे गए प्रत्येक व्यक्ति के परिजनों को 2 लाख रुपये एक्सग्रेशिया अनुदान देने का ऐलान भी किया है। इसके अलावा अमृतसर मेडिकल कालेज के लिए रैफर किए प्रत्येक गंभीर रूप से जख्मी व्यक्ति को 50 हजार और मामूली रूप से जख्मी  व्यक्ति को 25 हजार रुपये देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने पीड़ितों को हरसंभव मदद देने के लिए जिला गुरदासपुर के सिविल और पुलिस प्रशासन को निर्देश दिए हैं। उन्होंने डिप्टी कमिश्नर गुरदासपुर से कहा है कि जख्मियों को मुफ्त में बेहतर इलाज मुहैया करवाया जाए।

05-09-2019
स्वदेश दर्शन और प्रसाद योजनाओं के तहत लद्दाख को मिलेगा बड़ा तोहफा 

नई दिल्ली। लद्दाख को जम्मू-कश्मीर के प्रशासनिक नियंत्रण से मुक्ति देने के बाद केंद्र सरकार वहां के निवासियों को पर्यटन के क्षेत्र में एक बड़ा तोहफा देने जा रही है। केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने लद्दाख में स्वदेश दर्शन योजना और प्रसाद योजना के तहत कम से कम एक-एक पर्यटन परियोजना विकसित करने का फैसला किया है। इसे अमली जामा कैसे पहनाया जाए, इसी की तैयारी के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल पर्यटन व संस्कृति मंत्रालय के अधिकारियों सहित इन दिनों लेह पहुंचे हुए हैं। हालांकि ये परियोजनाएं लेह में बनेंगी या कारगिल क्षेत्र में, अभी तक यह तय नहीं हो पाया है। पर्यटन मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि स्वदेश दर्शन और प्रसाद योजनाओं का सही फायदा अभी लद्दाख क्षेत्र को मिल नहीं पाया है। दरअसल इस योजना के तहत परियोजना विकास का प्रस्ताव तैयार करने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है। अभी तक लद्दाख का प्रशासनिक नियंत्रण जम्मू-कश्मीर के पास था। इस कारण वहां से कश्मीर घाटी या जम्मू क्षेत्र के लिए ही परियोजनाओं के प्रस्ताव आते थे। अब लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश बनने से वहां का प्रशासन सीधा केंद्र सरकार के हाथों में आ गया है। इसी कारण वहां पर्यटन के क्षेत्र में विकास की योजना बनाने की कवायद शुरू की गई है।

मंत्री के साथ लेह गई हुईं पर्यटन मंत्रालय की महानिदेशक मीनाक्षी शर्मा ने बताया कि क्षेत्र की आवश्यकता के हिसाब से योजना का खाका खींचा जा रहा है। इस मामले में सभी हितधारकों से भी सलाह ली जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशी और विदेशी पर्यटकों की संख्या बढ़ाने के लिए वर्ष 2015 में स्वदेश दर्शन एवं प्रसाद योजनाओं की शुरुआत की थी। इस योजना की निगरानी करने की जिम्मेदारी पर्यटन मंत्रालय को दी गई है। इसके तहत पर्यटन मंत्रालय तीर्थ या पर्यटन स्थलों को विकसित करने के लिए अलग-अलग सर्किट तय कर ढांचागत सुविधाओं के साथ कनेक्टिविटी और अन्य जरूरी सुविधाओं का भी इंतजाम कराता है। अधिकारियों का मानना है कि लद्दाख में पर्यटन की असीम संभावनाएं हैं। ऐसे में मंत्रालय की योजना परवान चढ़ने पर वहां देशी-विदेशी पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी। इनके लिए फाइव स्टार से लेकर बजट होटल तक विकसित होंगे। पर्यटकों की संख्या बढ़ने से रोजगार के अवसर भी बड़े पैमाने पर पैदा होंगे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804