GLIBS
06-09-2020
आयुर्वेद उपायों को अपनाने शहरवासियों को किया जाएगा जागरूक, महापौर ने कार्य का किया शुभारंभ

रायपुर। रायपुर स्मार्ट सिटी के साथ मिलकर खालसा रिलीफ फाउंडेशन, होप फाॅर हुमैनिटी, कुछ फर्ज हमारा भी, राग फाउंडेशन सहित कई संस्थाओं ने आयुर्वेदिक काढ़ा का शहर के सार्वजनिक स्थलों पर निशुल्क वितरण शुरू किया है। महापौर एजाज़ ढेबर ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जनसामान्य को जागरूक करने शहर के विभिन्न स्थानों पर काढा वितरण कार्य की शुरुआत की।महापौर ढेबर ने रायपुर में विभिन्न उद्यानों, सार्वजनिक स्थलों, प्रमुख बाजारों आदि में स्वयं सेवी संस्थाओं की ओर से किए जा रहे कोरोना जागरुकता अभियान की सराहना की। संस्थाओं की ओर से रायपुर के महत्वपूर्ण बाजार क्षेत्र मालवीय रोड, सदर बाजार, कोतवाली में स्थाई डिस्पेंसर लगाकर लोगों को गर्म पानी भी मुहैया कराया जा रहा है।

रायपुर स्मार्ट सिटी लि. के प्रबंध संचालक  सौरभ कुमार ने कहा कि, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के मार्गदर्शन व जिला प्रशासन के निर्देश पर यह कार्य किया जा रहा है। शहरी क्षेत्र में कोविड-19 से बचाव के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने आयुर्वेदिक उपायों के तहत तुलसी, काली, मिर्च, सोंठ, दाल चीनी मिश्रित गर्म पानी में बने काढ़ा का वितरण कर आम लोगों को इसकी उपयोगिता के संबंध में जागरूक किया जा रहा है। बता दें कि, कोविड-19 से बचाव के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग  लोगों को जागरूक कर रहा है। पूरे दिन गर्म पानी पीने, प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और ध्यान करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है। खान-पान में हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन मसालों का उपयोग करने, 40 ग्राम तुलसी, 20 ग्राम काली मिर्च, 20 ग्राम दालचीनी का पाउडर बनाकर हवा बंद डिब्बे में बंद रखकर और 3 ग्राम पाउडर को 150 एमएल पानी के साथ दिन में दो बार सेवन करने, 5 ग्राम त्रिकटु पाउडर, 3 से 5 पत्ती तुलसी को 1 लीटर पानी में उबालकर पीने से कोविड-19 संक्रमण से बचाव की संभावना बढ़ जाती है। कोरोना के बढ़ते फैलाव को रोंकने रायपुर स्मार्ट सिटी लि. की पहल पर कई सामाजिक संस्थाएं काढ़ा और गरम पानी लोगों को पिलाने आगे आ रही हैं।

11-07-2020
मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने किया औचक निरीक्षण, सौंदर्यीकरण कार्य दो माह में पूर्ण करने दिए निर्देश

रायपुर। प्रदेश के नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने शनिवार को डबरीपारा तालाब के कार्यों की प्रगति देखने औचक निरीक्षण किया। उन्होंने रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के अधिकारियो को जोन -9 के गुरु घासीदास वार्ड के अंतर्गत आने वाले तेलीबांधा शताब्दी नगर के डबरीपारा तालाब का गहरीकरण व सौंदर्यीकरण और मुक्तिधाम के स्वीकृत कार्य को दो माह के अंदर पूर्ण करने के निर्देश दिए।  मंत्री डहरिया ने रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के महाप्रबंधक एसके सुंदरानी, जोन 9 कमिश्नर अरुण साहू और संबंधित अधिकारियों की उपस्थिति में योजना की प्रगति और कार्य का अवलोकन किया। जोन कमिश्नर साहू ने मंत्री डहरिया को बताया कि नगर निगम रायपुर की ओर से डबरीपारा तालाब के विकास और सौंदर्यीकरण के लिए 112 परिवारों को लाभांडी के एएचपी आवासीय परिसर के रिक्त मकानों में व्यवस्थापन दिया जा चुका है। मकानों के खाली होने के बाद उन्हें तोड़कर तालाब एरिया का सौंदर्यीकरण करने के लिए पूरी तरह से हटाया जा चुका है। इसके बाद रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से डबरीपारा तालाब का गहरीकरण कार्य प्रारंभ किया जा चुका है। इस पर मंत्री डहरिया ने तालाब और मुक्तिधाम के सौंदर्यीकरण को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।

09-07-2020
निगम स्कूलों में प्रवेश दिलाने पालकों में जबरदस्त उत्साह, अंग्रेजी माध्यम के लिए अब तक हजार से अधिक आवेदन

रायपुर। महापौर एजाज ढेबर ने गुरुवार को गरीब शहरी बच्चों के लिए इंग्लिश मीडियम स्कूलें शीघ्र शुरू करवाने के संबंध में आवश्यक बैठक ली। रायपुर स्मार्ट सिटी के अधिकारियों ने बताया कि 30 जुलाई तक तीनों निगम स्कूलों में कक्षाएं प्रारंभ की जा सकेंगी। 30 नवंबर तक पूर्ण भवन का तीनों स्कूलों में निर्माण करवा लिया जाएगा। संबंधित तीन निगम स्कूलों के प्राचार्यो ने बताया कि इंग्लिश मीडियम स्कूल में बच्चों को पढ़ाने पालकों में जबरदस्त उत्साह देखा जा रहा है। आरडी तिवारी स्कूल में 637 आवेदन कक्षा में प्रवेश लेने आ चुके हैं। जबकि शहीद स्मारक स्कूल में 150 आवेदन प्रवेश के लिए प्राप्त हुए है। बीपी पुजारी निगम स्कूल में भी इंग्लिश मीडियम कक्षा प्राप्त करने बड़ी संख्या में लोगों ने आवेदन पत्र दिए हैं।

बैठक में जानकारी दी गई कि आरडी तिवारी स्कूल के रेनोवेशन का कार्य प्रथम तल अत्यधिक जर्जर अवस्था में होने के कारण कार्य में विलंब हुआ है। भूतल में 10 कक्षों का निर्माण जारी है। 30 जुलाई तक पूर्ण कर लिया जाएगा। रिपेयरिंग का कार्य प्रगति पर है। पूरी स्कूल बिल्डिंग 30 नवंबर तक पूरी तरह तैयार कर ली जाएगी। शहीद स्मारक स्कूल में 2 ब्लॉक है, जिसमें 2 ब्लाक में 24 कक्षाओं का निर्माण किया जाना है। 30 जुलाई तक 1 ब्लॉक के 12 कक्षों का निर्माण पूर्ण कर लिया जाएगा। बीपी पुजारी स्कूल में 12 कक्षाएं, जिसमें 15 जुलाई तक भूतल पर 7 कक्षाओं के कक्ष का निर्माण पूर्ण कर लिया जाएगा। महापौर एजाज ढेबर ने अनुबंधित ठेकेदारों को कहा कि यह मुख्यमंत्री भूपेष बघेल की शासकीय स्कूलों की काफी महत्वपूर्ण योजना है। मुख्यमंत्री ने इसे प्राथमिकता से लेकर कार्य को शीघ्रता से करवाने निर्देश दिए हैं। इसे कब तक पूर्ण किया जाएगा, इस संबंध में सभी संबंधित अनुबंधित ठेकेदार लिखित जानकारी दें।
रायपुर जिला शिक्षा अधिकारी जीआर चंद्राकर ने कहा कि शासन स्तर पर प्रोजेक्ट में 100 स्कूलों को लिया जाना है। इसमें 40 का कार्य निरंतर प्रगति पर है और 60 स्कूलों को और लिया जाना है। इसमें प्रसन्नता का विषय है कि राजधानी रायपुर शहर के स्कूलों को सर्वप्रथम इसमें लिया गया। प्रथम चरण में नगर निगम की बीपी पुजारी, आरडी तिवारी, शहर स्मारक निगम स्कूल को लिया गया। अगले द्वितीय चरण में राजधानी रायपुर की बहुत सी दूसरी स्कूलों को इस प्रोजेक्ट में लिया जाएगा।

राज्य शासन के आदेशानुसार अगर 15 जुलाई तक इन स्कूलों में आनलाइन कक्षाएं प्रारंभ करने के शासकीय निर्देश आ जाएंगे, तो पालकों की सहमति लेकर आनलाइन कक्षाएं प्रारंभ कर दी जाएगी। इन इंग्लिश मीडियम शासकीय स्कूलों में विद्यार्थियों का प्रवेश पूरी तरह नि:शुल्क होगा। इसमें शासन में प्रवेश की प्रक्रिया निर्धारित कर दी है। उसके अनुसार कक्षा 1 से 5 तक स्कूल के 1 किलोमीटर के दायरे के निवासी बच्चों को प्राथमिकता दी जाएगी। कक्षा 6 से 8 तक के लिए स्कूल से 2 किलोमीटर के दायरे में रहने वाले बच्चों को और कक्षा 9 से 12 वीं तक के लिए स्कूल से 3 किलोमीटर के दायरे में निवासरत बच्चों को प्रवेश में प्राथमिकता दी जाएगी। सम्पूर्ण प्रवेश प्रक्रिया लॉटरी से शासन के निर्देश अनुरूप की जाएगी। कक्षा 1 से 8वीं तक 40 सीटें और कक्षा 9 से 12वीं तक 80 सीटें शासन ने निर्धारित की है। बैठक में निगम मुख्यालय के तृतीय तल सभाकक्ष में रायपुर उत्तर विधायक कुलदीप जुनेजा, निगम सभापति प्रमोद दुबे, एमआईसी सदस्य ज्ञानेष शर्मा, सुन्दर जोगी, आकाश तिवारी, जितेन्द्र अग्रवाल, रायपुर जिला शिक्षा अधिकारी जीआर चंद्राकर, रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड महाप्रबंधक एसके सुन्दरानी, बीपी पुजारी, आरडी तिवारी, शहीद स्मारक निगम स्कूल के प्राचार्य, स्मार्ट सिटी के अधिकारी, संबंधित स्कूलों में निर्माण व विकास कार्य करवा रहे अनुबंधित ठेकेदार मौजूद थे।

 

04-07-2020
गरीब बच्चों के लिए बढ़े हाथ,नालंदा परिसर की लाइब्रेरियन सहित 10 लोगों ने स्मार्ट फोन किया दान

रायपुर। रायपुर स्मार्ट सिटी के प्रबंध संचालक सौरभ कुमार की पहल पर ऑनलाइन क्लासेस के लिए निर्धन परिवार के बच्चों को मोबाइल उपलब्ध कराने डोनेट योर मोबाइल कैंपेन से शहरवासी जुड़ रहे हैं। कैंपेन के पहले दिन ही शनिवार को नालंदा परिसर की लाइब्रेरियन मंजुला जैन और असिस्टेंट लाइब्रेरियन तृप्ति ताम्रकार, जैनम हाईट्स कॉलोनी की प्रीति जायसवाल, उत्कर्ष जायसवाल, रुचि वर्मा, हरिंदर सिंह संधू, सौरभ टिपणिस, रफाएल शाह, सौरभ अग्रवाल सहित अन्य लोगों ने 10 से अधिक स्मार्ट फोन गरीब बच्चों के लिए भेंट किया है। होप फॉर हुमिनिटी, खालसा रिलीफ फाउंडेशन,ब्रेन हंट,ग्रीन आर्मी,आभास फाउंडेशन जैसे शहर की कई सामाजिक संस्थाएं इस मुहिम का हिस्सा बनी हैं।
रायपुर स्मार्ट सिटी लि. के महाप्रबंधक जनसंपर्क आशीष मिश्रा ने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण ऑनलाइन क्लासेस में पढ़ रहे निर्धन परिवारों के बच्चों को मोबाइल उपलब्ध कराने कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसके अंतर्गत घर में रखे पुराने लेकिन सही हालत के स्मार्ट फोन आम लोगों से दान में प्राप्त कर जरूरतमंद बच्चों तक पहुंचाया जाएगा। कोरोना के संक्रमण को रोकने अभी स्कूल्स बंद हैं, लेकिन घर पर रहकर बच्चों के ऑनलाइन पढ़ाई का सिलसिला जारी है। टीचर स्मार्ट मोबाइल फोन के माध्यम से बच्चों की ऑनलाइन क्लासेस करा रहे हैं। ऐसे में शहर के कई गरीब परिवारों के बच्चे घर पर स्मार्ट फोन न होने की वजह से अपनी पढ़ाई से वंचित हो रहे हैं। सभी शहरवासियों से अपील है कि इस कार्यक्रम का हिस्सा बनने मोबाइल नंबर - 968 579 2100  या 888 999 4411, 8871737121,982786006 पर संपर्क कर गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिए स्मार्ट मोबाइल फोन दान में दे सकते हैं।

18-06-2020
एजाज़ ढेबर की पहल पर राज्य के प्रतिष्ठित दानी गर्ल्स स्कूल का होगा कायाकल्प होगा, स्मार्ट सिटी व नगर निगम ने कमर कसी

रायपुर। महापौर एजाज ढेबर की पहल पर रायपुर स्मार्ट सिटी और नगर निगम, स्कूल शिक्षा विभाग के साथ मिलकर अंचल की बेटियों की शिक्षा के लिए ख्यातिलब्ध राजधानी के जेआर दानी स्कूल का कायाकल्प कर रहा है। रायपुर स्मार्ट सिटी के प्रबंध संचालक सौरभ कुमार के अनुसार इस स्कूल के नए कलेवर में आने के बाद शैक्षणिक गतिविधियों के साथ-साथ खेल-कूद से जुड़ी सुविधाओं के हाईटेक होने से छात्राओं को बेहतर सुविधा मिलेगी। उन्होंने बताया कि दानी स्कूल में अध्ययनरत छात्राओं को बेहतर शैक्षणिक और खेल सुविधाएं मिले और इन सुविधाओं से छात्राएं अपने कैरियर को नया मुकाम देकर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करें इसके लिए शालेय शिक्षा विभाग के साथ मिलकर रायपुर स्मार्ट सिटी और नगर निगम ने 6 करोड़ के लागत की कायाकल्प की कार्य योजना तैयार की है।

इसके तहत जेआर दानी स्कूल के मुख्य भवन को शहर की विरासत मानते हुए अक्षुण्ण रखा जाएगा और ग्राउंड फ्लोर के साथ लैब समेत 32 कमरे वाला 3 मंज़िल हाईटेक भवन तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा पेवर लगाकर लैंडस्केपिंग की जाएगी। खेल सुविधाओं को बढ़ावा देने 100 मीटर के सिंथेटिक ट्रैक के साथ खेल मैदान एवं लैंडस्केपिंग के जरिए स्कूल को आकर्षक स्वरूप प्रदान किया जाएगा। रायपुर स्मार्ट सिटी के महाप्रबंधक तकनीकी एस के सुंदरानी ने इस संबंध में बताया कि रायपुर स्मार्ट सिटी इसके लिए जल्द निविदा प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है और लगभग 8 माह के अंदर इस कार्य योजना को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

10-06-2020
युवाओं को रायपुर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में इंटर्नशिप का मौका, रियल टाइम वर्किंग का मिलेगा अनुभव

रायपुर। भारत सरकार की ट्यूलिप योजना के अंतर्गत युवाओं को रायपुर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में इंटर्नशिप का मौका मिलने जा रहा है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय और केंद्रीय शहरी विकास एवं आवास मंत्रालय मिलकर इस कार्यक्रम को तैयार किया हैं। इसके अंतर्गत युवा अपने शैक्षणिक योग्यता के अनुरूप नगरीय निकायों व स्मार्ट सिटी मिशन के तहत संचालित कार्य योजनाओें का अध्ययन करेंगे। रायपुर स्मार्ट सिटी इंटर्नशिप पूरा करने वाले युवाओं को प्रमाण पत्र भी प्रदान करेगा। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल और शहरी विकास और आवास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने संयुक्त रूप से द अर्बन लर्निंग इंटर्नशिप प्रोग्राम लॉन्च किया है। इसमें युवाओं को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के साथ जुड़ने व रियल टाइम वर्किंग का अनुभव भी प्राप्त होगा। रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के प्रबंध संचालक सौरभ कुमार ने बताया कि इस इंटर्नशिप के दौरान छात्रों को स्मार्ट सिटी से जुड़े विभिन्न प्रोजेक्ट के अंतर्गत रियल टाइम प्रशिक्षण प्राप्त होगा।

इंटर्नशिप के लिए युवा पोर्टल की लिंक https://internship.aicte-india.org पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
इसके लिए मान्यता प्राप्त संस्थान से बीटेक,बी.प्लानिंग, बी.आर्क, बी.ए., समाजशास्त्र, पत्रकारिता में स्नातक,बीएससी, बी.कॉम और एलएलबी कर चुके युवा रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। सभी उम्मीदवार युवाओं को अंतिम वर्ष की परीक्षा दिए 18 महीने से अधिक का समय नहीं होना चाहिए, तभी रजिस्ट्रेशन कर पाएंगे। इस इंटर्नशिप को पूरा करने वाले युवाओं को सर्टिफिकेट दिया जाएगा। प्रोग्राम के अंतर्गत युवाओं को नीतियों का निर्माण और कार्यान्वयन करने के बारे में सिखाया जाएगा। साथ ही उन्हें शहर के अधिकारियों और नागरिकों से बातचीत करने का मौका भी मिलेगा। इससे उन्हें अपने भविष्य को बेहतर बनाने में काफी मदद मिलेगी। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए रायपुर स्मार्ट सिटी के जनसंपर्क विभाग में या दूरभाष क्र.-7970003285 पर संपर्क कर सकते हैं।

15-05-2020
कैट ने प्रवासी मजदूरों के लिए कलेक्टर को सौंपी 4 हजार चप्पलें, विधायक ने पहनाकर किया विदा

रायपुर। विभिन्न प्रांतों से चलकर राजधानी होकर गुजरने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए शुक्रवार को कैट के अध्यक्ष अमर पारवानी सहित पदाधिकारियों ने कलेक्टर डॉ.एस.भारतीदासन को 4 हजार नग चप्पल प्रदान की। टाटीबंध चौक में विधायक विकास उपाध्याय और अधिकारियों ने भोजन, पानी, बिस्किट, छाछ आदि देकर नंगे पैर सफर कर रहे मजदूरों को चप्पल पहनाकर उनके प्रदेश विदा किया। इस दौरान रायपुर स्मार्ट सिटी के जनसंपर्क महाप्रबंधक आशीष मिश्रा, हीरापुर गुरुद्वारा प्रबंध समिति के अध्यक्ष सरदार रणजीत सिंह, टाटीबंध गुरुद्वारा के अध्यक्ष महेंद्र सिंह और खालसा रिलीफ फाउंडेशन के सचिव हरिंदर सिंह भी साथ थे। प्रवासी श्रमिक टाटीबंध चौक से होकर अपने गृह प्रदेश जाने के लिए रोजाना सफर कर रहे हैं। कैट ने इन श्रमिकों के लिए डोनेशन ऑन व्हील्स पर 4 हजार नग चप्पल प्रदान की। इस प्रतिनिधिमंडल में अमर पारवानी के साथ विक्रम सिंहदेव, मांगेलाल मालू, जितेंद्र दोषी, उत्तम गोलछा, तनेश आहूजा, जिनेश जैन समेत अन्य शामिल थे। एनजीओ आभास फाउंडेशन की टीम ने जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रदत्त चप्पलें प्रवासी मजदूरों के लिए टाटीबंध पहुंचाई। यहां मौजूद रायपुर पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने बच्चों,महिलाओं और यात्रियों को चप्पलें पहनाई।

पिछले 14 दिनों से रायपुर जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में रायपुर स्मार्ट सिटी मजदूरों की सुविधा के लिए स्वल्पाहार, भोजन, पानी, छाछ, फल आदि की व्यवस्था कर रही है। रोजाना 6 हजार प्रवासी श्रमिक यहां से गुजर रहे है। इस पूरे क्षेत्र में इन श्रमिकों के लिए विश्राम, रोशनी व सफाई की व्यवस्था रायपुर नगर निगम ने की है। इसके लिए नगर निगम ने 24 घंटे अपनी टीम को तैनात की है। चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग ने नियमित जांच की व्यवस्था भी की है। जिला पुलिस व परिवहन विभाग, समाज कल्याण विभाग इन श्रमिकों को इनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था व सुरक्षा भी करा रहा है। टाटीबंध व हीरापुर गुरुसिंह सभा, खालसा रिलीफ फाउंडेशन सहित कई सामाजिक संस्थाएं प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने में मदद कर रही हैं।

03-04-2020
महापौर की पहल पर राजधानी की सड़कों पर उतरी सेनेटाइजर स्प्रेयर मशीन, जानिए कितनी है क्षमता  

रायपुर। महापौर एजाज ढेबर की पहल पर कोरोना वायरस से बचाव के लिए रायपुर स्मार्ट सिटी व नगर निगम ने एल्कोहलिक स्प्रे के लिए यांत्रिक तरीका निकाला है। रायपुर व दुर्ग के फैब्रिकेटर्स की मदद से एक ऐसा चलित वाहन तैयार किया गया है,जिसके माध्यम से एक बार में 240 लीटर दवा का छिड़काव किया जा सकता है। नगर निगम कमिश्नर व स्मार्ट सिटी एमडी सौरभ कुमार ने इस स्प्रेयर मशीन के कार्य प्रणाली की जानकारी ली। तत्काल इसे छिड़काव कार्य में लगाने के निर्देश दिए। उनके निर्देश पर शुक्रवार को जोन क्रमांक 2 के देवेंद्र नगर के सेक्टर इलाके के भीतरी क्षेत्रों में छिड़काव भी आज से ही शुरू कर दिया गया है। रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के जीएम तकनीकी एसके सुंदरानी ने कहा कि इस तिपहिया वाहन की खासियत यह है कि शहर की चौड़ी सड़कों से लेकर 4 फीट की गलियों में भी इसका उपयोग किया जाएगा। इससे कम समय में ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रों को सेनेटाइज किया जा सकता है। इस मशीन के टैंक से एल्कोहलिक सल्यूशन का छिड़काव इस वाहन नोजल के माध्यम से किया जाता है। साथ ही छिड़काव की मात्रा भी नोजल से ही कंट्रोल किया जाता है। इस मशीन के उपयोग से मेन पावर में भी कमी होगी, वहीं यह 10 व्यक्तियों के बराबर अकेले एक बार में दवा का छिड़काव कर सकती है।

01-04-2020
8 राज्यों और 15 जिलों के भटक रहे लोगों को मिला आश्रय और सुविधाएं, जानिए कैसे मिले...

रायपुर। जिला प्रशासन ने 8 राज्यों और छत्तीसगढ़ के 15 जिलों के सौ से अधिक लोगों को लाभांडी स्थित प्रधानमंत्री आवास योजना के सर्वसुविधायुक्त भवन में आश्रय दिया है। इस पूरी कार्यवाही में कलेक्टर के निर्देश व पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख, नगर निगम कमिश्नर सौरभ कुमार, जिला पंचायत सीईओ डॉ. गौरव कुमार सिंह की संयुक्त टीम ने मिलकर की है। इस दौरान रायपुर स्मार्ट सिटी, महिला बाल विकास विभाग, वन विभाग शामिल भी शामिल था। जिला पंचायत सीईओ डॉ. गौरव कुमार सिंह के नेतृत्व में अधिकारियों की यह टीम तीन बसों को लेकर ऐसे लोगों की तलाश में मंगलवार देर शाम रेलवे स्टेशन क्षेत्र पहुंची। यही पर रायपुर स्मार्ट सिटी कार्यालय में स्थापित फ़ूड कंट्रोल सेल से सर्वाधिक भोजन लेने की जानकारी मिली थी। इस आधार पर भटक रहे लोगों तक पहुंचा गया। महिला अधिकारियों के दल ने महिलाओं, उनके साथ के दुधमुहे बच्चों, वृद्ध, दिव्यांग समेत ऐसे 75 लोगों को बसों में लेकर लाभांडी स्थित प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत नवनिर्मित भवन में शिफ्ट किया।

नगर निगम के इस भवन में जिला प्रशासन की ओर से सभी आवश्यक तैयारियां पहले से की जा चुकी थीं और इस परिसर में शहर की कई सामाजिक संस्थाओं से मिले सहयोग से दरी, कंबल, चादर, बाल्टी, मग, साबुन, पेस्ट, ब्रश समेत जरूरी सामान की व्यवस्था पहले से ही की गई थी। यहां ठहराए गए छोटे बच्चों को असुविधा ना हो इसके लिए रायपुर जिला प्रशासन ने दूध की पर्याप्त व्यवस्था  की तत्काल की। इन आश्रय प्राप्त करने वालों को जरूरी सुविधाओं की देखरेख का जिम्मा जिला प्रशासन ने सामर्थ चेरिटबल वी द पीपल की टीम को दिया गया है, जो 24 घंटे उनके साथ रहकर उनकी सुविधाओं का ध्यान रखेगी। डॉ. गौरव सिंह ने बताया कि मंगलवार को और भी जरुरतमंद, बेसहारा लोगों को यहां आश्रय दिया गया है। सोशल डिसटेंसिंग कायम रखते हुए उन्हें हर संभव मदद की जा रही है।

26-03-2020
अच्छी पहल : आपको रायपुर में डोर स्टेप डिलीवरी चाहिए तो निगम जोन वार नंबर जारी, सभी को करें फॉरवर्ड 

रायपुर। कोरोना के संक्रमण के प्रसार को रोकने और नियंत्रण के लिए घोषित लॉकडाउन की वजह से आम नागरिकों को असुविधा ना हो, इसके लिए रायपुर स्मार्ट सिटी व नगर निगम ने जिला प्रशासन की देखरेख में महत्वपूर्ण "फूड सप्लाई कंट्रोल" रूम स्थापित किया है। कहा गया है कि ऐेसे परिवार जिन्हें भोजन, दवा जैसी जरूरी आवश्यकताओं की जानकारी चाहिए। वह भी इस कॉल सेंटर में कॉल कर सहायता प्राप्त सकते हैं। साथ ही किराना, दवा, दुग्ध उत्पाद के होम डिलीवरी के लिए संस्थानों की एक सूची जारी की गई है। बताया गया कि कंट्रोल रूम नंबर (0771- 4055574) पर कॉल कर ऐसे सभी नागरिक जो विषम परिस्थितियों में अपने योगदान से अनाज जिसमें सभी जरूरी खाद्य आदि शामिल हैं,प्रदान करने के लिए कॉल कर सकते हैं। यह कॉल सेंटर उन लोगों तक जिन्हें भोजन-अनाज आदि की जरूरत है, अपने विशेष वाहनों के जरिए सुलभ कराएगा। 

जिला प्रशासन के निर्देश पर नगर की सामाजिक संस्थाएं व स्व सहायता समूह के सदस्य इस कंट्रोल रूम के जुड़कर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इस कंट्रोल रूम के माध्यम से नगर निगम के सभी जोन में उपलब्ध दवा-दुकानें, जिनसे ऑनलाइन दवाईयां मंगाई जा सकती हैं, उसकी भी जानकारी दी जा रही है। कोई भी व्यक्ति या संस्था जो दान की इच्छुक हैं वह भी इस कॉल सेंटर पर कॉल कर अपनी सहायता प्रदान कर सकते हैं। इसके अलावा उन परिवारों तक जिन्हें भोजन, दवा जैसी जरूरी आवश्यकताओं की जानकारी चाहिए वह भी इस कॉल सेंटर में कॉल कर सहायता प्राप्त सकते हैं। जारी नं. की लिस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें...

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804