GLIBS
Botanical Garden: बॉटनिकल गार्डन में तालाब खुदाई के नाम पर करोड़ों का घोटाला

रायपुर। वन विभाग ने बगैर प्रशासनिक व बजट स्वीकृति के करोड़ों रुपए खर्च कर दिए। विभागीय अफसरों ने बॉटनिकल गार्डन में तालाब खुदाई के नाम पर करोड़ों का घोटाला कर दिया। सूचना के अधिकार के तहत मिले दस्तावेजो के मुताबिक वन विभाग के मुख्य वन संरक्षक कार्यालय ने एक पत्र के माध्यम से 4 मई को प्रस्ताव दिया जिसमे बॉटनिकल गार्डन के तालाब क्रमांक 3 एवं 4 में तालाब गहरीकरण के लिए बजट और प्रशासकीय स्वीकृति की मांग की थी  जिसे वन विभाग के मुख्यालय ने एक माह बाद 3 जून को बजट स्वीकृत किया गया, लेकिन वन विभाग ने बिना किसी बजट स्वीकृति और अनुमति के ही इस काम को मार्च महीने में ही शुरू कर दिया।  प्रस्ताव भेजने से पहले ही वन विभाग में लाखों रुपए के बिल स्वीकृत हो गए । दस्तेवेजों के मुताबिक जिस काम की स्वीकृति जून माह मिली उसके बिल अप्रैल महीने में ही लग गए और भुगतान के लिए उनकी प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई। तालाब खुदाई के लिए जिन फर्म्स और ठेकेदारों के बिल है वे भी प्रथम दृष्टया फर्जी प्रतीत होते है। अलग अलग फर्मों  के ज्यादातर बिलो पर एक ही हैंडराइटिंग है। 

सूचना के अधिकार के तहत निकले दस्तेवेजों से जनता कांग्रेस के प्रवक्ता संजीव अग्रवाल ने खुलासा किया था कि वन विभाग ने करोड़ों रुपए की लागत से बने बॉटनिकल गार्डन में तालाब खुदाई का काम बन किसी निविदा के मनमाने ढंग से करा लिया था। यही नही तालाब खुदाई के दौरान निकली मुरुम को भी जिन वाहनों से परिवहन होना बताया गया वे सभी वाहन भी फर्जी मिले कुछ वाहन वन विभाग के अफसरों की गाड़ियां निकली तो जांच करने पर कुछ मोटर सायकिल निकली।

अजीत जोगी के खिलाफ झूठी अफवाह फैलाने के विरोध में जनता कांग्रेस ने थाने में की शिकायत 

रायपुर। जनता कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के खिलाफ झूठी अफवाह फैलाने के विरोध में सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। जनता कांग्रेस के प्रवक्ता संजीव अग्रवाल, भगवानू नायक, प्रदीप साहू ने कहा कि सोशल मीडिया के वाट्सअप ग्रुप केबिनेट मेंबर जीएमसी ग्रुप में जोगी की मृत्यू को लेकर झूठा दुष्प्रचार किया गया। इसके अतिरिक्त कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा सोशल मीडिया में इस तरह की भ्रामक जानकारी फैलाने की खबर है। इस वजह से जोगी के समर्थकों और चाहने वालों को दुख पहुंचा है। उन्होंने एक जीवित व्यक्ति की मृत्यू का झूठा प्रचार वाले असमाजिक तत्वों एवं जनविरोधी तत्वों के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत कड़ी कार्रवाई करने की मांग की गई है। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804
Visitor No.