GLIBS
19-01-2021
भूपेश बघेल 20 जनवरी को रायपुर, बालोद और राजनांदगांव जिले के कार्यक्रमों में होंगे शामिल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 20 जनवरी को राजधानी रायपुर, बालोद और राजनांदगांव जिले में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री बघेल पूर्वान्ह 11.30 बजे अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय रायपुर सहित 5 उद्यानिकी महाविद्यालयों साजा (बेमेतरा जिला), अर्जुन्दा (बालोद जिला), धमतरी, जशपुर और लोरमी (मुंगेली जिला) और नवीन कृषि विज्ञान केन्द्र कोण्डागांव का शुभारंभ करेंगे। बघेल इस अवसर पर प्रदेश के कृषि महाविद्यालयों, कृषि विज्ञान केन्द्रों और नवीन कृषि महाविद्यालयों में 109 करोड़ 77 लाख रूपए की लागत के अधोसंरचना विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। मुख्यमंत्री इनमें से 46 करोड़ 67 लाख रूपए की लागत के कार्यों का लोकार्पण और 63 करोड़ 10 लाख रूपए की लागत के कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास करेंगे।

इन कार्यों में कृषि महाविद्यालयों के भवन, बालक-बालिका छात्रावास, अनुसंधान केन्द्र, हाइटेक नर्सरी, सीड प्रोसेसिंग भवन, हैचरी, कृषि विज्ञान केन्द्रों में प्रशासनिक भवन और कृषक छात्रावास निर्माण के कार्य शामिल हैं। बघेल इस अवसर पर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किए गए डिजिटल कृषि पंचांग और कृषि दर्शिका-2021 का विमोचन भी करेंगे।  बघेल रायपुर से दोपहर 1.15 बजे हेलीकॉप्टर द्वारा रवाना होकर 1.40 बजे बालोद जिले के डौंडी विकासखण्ड स्थित ग्राम ठेमाबुजुर्ग पहुचेंगे और वहां गैंदसिंह शहादत दिवस तथा अखिल भारतीय हल्बा-हल्बी आदिवासी समाज महासभा के कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री 3.25 बजे हेलीकॉप्टर द्वारा राजनांदगांव जिले के छुरिया विकासखण्ड के ग्राम गोडलवाही पहुंचेंगे और वहां अखिल भारतीय हल्बा-हल्बी आदिवासी समाज महासभा के कार्यक्रम में शामिल होंगे। बघेल शाम 5.15 बजे रायपुर लौटेंगे।

 

 

05-01-2021
अब प्रदेश के 21 जिलों में कोरोना वैक्सीनेशन के लिए होगी मॉकड्रिल, तैयारियां करने निर्देश जारी

रायपुर। राज्य के 21 जिलों मे कोरोना वैक्सीनेशन की तैयारियों का परीक्षण करने के लिए 7 और 8 जनवरी को मॉकड्रिल किया जाएगा। पूर्व में 7 जिलों में इसका ड्राय रन हो चुका है। इस संबंध में राष्ट्रीय य स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ प्रियंका शुक्ला ने सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश दिए हैं। मॉकड्रिल हर जिले के एक शहरी और 1 ग्रामीण क्षेत्र में किया जाएगा। इसके लिए कोविन लिंक का प्रयोग किया जाएगा। मॉक डिल के दौरान कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर का पालन किया जाना है। 6 और सात जनवरी को सभी आवश्यक तैयारियां जैसे सत्र स्थल का चयन , लाभार्थियों का चयन, कोविड वैक्सीन जिले में प्राप्त करना ,कोल्डचेन प्वांइट को वैक्सीन भेजना,एप में सत्र तैयार करना , टीकाकरण सत्र स्थल में पर्यवेक्षक नियुक्त करना , टीकाकर्मी दल की ओर से कोविन का उपयोग कर लाभार्थियों का टीकाकरण की स्थिति दर्ज करना आदि कार्य किए जाएंगे। मॉकड्रिल 7 और 8 जनवरी को चिंन्हांकित जिलों में सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक किया जाएगा। इसके बाद शाम 5 बजे इसकी समीक्षा जिला टास्क फोर्स की ओर से की जाएगी। इसकी रिपोर्ट राज्य को 9 जनवरी को प्रेषित की जाएगी। राज्य स्तरीय मॉनिटरिंग टीम की ओर से मॉक ड्रिल के पूर्व व इस दौरान स़़त्र स्थल का निरीक्षण किया जाएगा। बालोद, बलौदाबाजार, बेमेतरा , धमतरी गरियाबंद जांजगीर-चांपा, कवर्धा, कोरबा, महासमुंद, मुंगेली, रायगढ़ में 8 जनवरी और बलरामपुर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, जशपुर, कांकेर, कोंडागांव, कोरिया, नारायणपुर, सुकमा और सुरजपुर में 7 जनवरी को मॉक ड्रिल किया जाएगा।

21-12-2020
बांध किनारे मिली युवक की लाश, सिर पर गहरे चोट के निशान

रायपुर/बालोद। बालोद थाने से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर डेम के तट पर एक अज्ञात युवक की लाश मिली है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मृतक युवक के सिर पर गहरे चोट के निशान है, जिससे कयास लगाए जा रहे हैं युवक के सिर पर किसी व्यक्ति ने पत्थर से हमला कर उसे मौत के घाट उतारा होगा। सुबह मार्निंग वॉक पर निकले स्थानीय लोगों को अचानक लाश दिखी, जिसकी जानकारी लोगों ने बालोद थाना प्रभारी को दी। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

 

18-12-2020
इंडियन रेडक्राॅस सोसायटी पुरस्कार: राज्यपाल ने श्रेष्ठ जिला श्रेणी अंतर्गत बालोद जिले को प्रदान किया तृतीय पुरस्कार

रायपुर\बालोद। इंडियन रेडाक्राॅस सोसायटी के माध्यम से जिलों में सम्पूर्ण वर्ष में की जाने वाली सम्पूर्ण गतिविधियों के लिए, विगत महिनों में नोवल कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम के लिए किए गए प्रयासों, लाॅकडाउन के दौरान प्रभावित लोगों के लिए किए गए मानवता और सहायता के परिप्रेक्ष्य में राजभवन और इंडियन रेडक्राॅस सोसायटी राज्य शाखा के माध्यम से श्रेष्ठ जिला श्रेणी अंतर्गत जिलो को चयनित कर पुरष्कारों की घोषणा की गई। जिसमें तृतीय पुरस्कार के लिए बालोद जिले को चयनित किया गया। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने शुक्रवार राजभवन में आयोजित समारोह में बालोद कलेक्टर के प्रतिनिधि के रूप में शामिल डिप्टी कलेक्टर अभिषेक दीवान को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया है। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी आरएल ठाकुर उपस्थित थे।  

 

 

18-12-2020
मछुआ कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष निषाद ने कृषकों को सामाग्री प्रदान कर किया लाभान्वित

रायपुर\बालोद। छत्तीसगढ़ मछुआ कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष एमआर निषाद ने राज्य सरकार के दो वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर निषाद भवन बालोद में आयोजित कार्यक्रम में मत्स्य कृषकों को सामाग्री प्रदान कर लाभान्वित किया। उन्होंने 9 मत्स्य कृषकों को आईस बाॅक्स, 5 मत्स्य कृषकों को उत्कृष्ट मत्स्य उत्पादन के लिए परिपूरक मत्स्य आहार, 3 समितियों को महाजाल और 3 मत्स्य विक्रेताओं को विक्रय सुविधा के लिए मोटर सायकल के साथ आईस बाॅक्स प्रदान कर लाभान्वित किया। उन्होंने वहाॅ विशिष्ट मत्स्य कृषको को शाॅल व श्रीफल प्रदान कर सम्मानित भी किया। इस अवसर पर संसदीय सचिव और गुण्डरदेही विधायक कुंवर सिंह निषाद, नगर पंचायत अर्जुन्दा अध्यक्ष चन्द्रहास देवांगन, मत्स्य पालन विभाग के सहायक संचालक सहित जिले के मत्स्य कृषक उपस्थित थे।  

 

 

17-12-2020
हाथियों के दल ने युवक को रौंदा, खून से लथपथ मिली लाश, ग्रामीणों में आक्रोश

रायपुर/बालोद। हाथियों के दल ने एक युवक को मार डाला है। इससे क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार जिले के डौंडी ब्लॉक के ग्राम लिमरुडीही पंचायत के खल्लारीटोला ग्राम में बुधवार रात हाथियों के दल ने 20 वर्षीय डोमेंद्रा कुमार ध्रुव को मौत के घाट उतार दिया। सुबह गांव में उसकी लाश खून से लथपथ मिली। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पार पहुँची और शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। गांव वाले वन अमले पर आक्रोशित हैं। उनके कहना है सुरक्षा के दृष्टि से वन विभाग ने कोई इंतजाम नहीं किया है। वन अमले का कहना है इलाके में अलर्ट जारी किया गया है।

16-12-2020
बालोद के मेढकी धान खरीदी केंद्र में अव्यवस्था की शिकायत पर निरीक्षण किया तहसीलदार रश्मि वर्मा ने, कहा सब ठीक है

रायपुर/बालोद। धान खरीदी केन्द्र मेढ़की में व्यवस्थित खरीदी हो रही है। तहसीलदार रश्मि वर्मा ने बताया कि कतिपय शिकायत पर कल धान खरीदी केन्द्र मेढ़की पहुंचकर आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि कल धान खरीदी केन्द्र मेढ़की में 26 किसानों का धान खरीदी का टोकन काटा गया है, जिसके विरूद्ध 26 किसानों की ओर से धान विक्रय किया गया है। वहां उपस्थित किसानों, नायब तहसीलदार एवं समिति प्रबंधक के समक्ष धान के बोरों की तौल की गई। बोरों की तौल सही पाई गई। अतः कथित शिकायत निराधार है एवं सभी किसान उक्त तौल से संतुष्ट हैं।

06-12-2020
सीएम बघेल आज बालोद दौरे पर, सिर्री में आयोजित 75वें वार्षिक राज अधिवेशन कार्यक्रम में होंगे शामिल 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रविवार को बालोद जिले के दौरे पर रहेंगे। वे बालोद के सिर्री में आयोजित होने वाले 75वें वार्षिक राज अधिवेशन कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री आज दोपहर एक बजे रायपुर के पुलिस ग्राउंड हेलीपैड से हेलीकॉप्टर के जरिए प्रस्थान कर दोपहर 1.30 बजे गुण्डरदेही तहसील स्थित ग्राम सिर्री गाड़ाडीह पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री सिर्री के स्मृति सभा स्थल में आयोजित 75वें वार्षिक राज अधिवेशन कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद शाम 4 बजे रायपुर लौटेंगे।

22-11-2020
हाथियों का झुंड भानुप्रतापपुर और बालोद के सीमा क्षेत्र से फिर लौटा चारामा क्षेत्र में, लोगों में दहशत

कांकेर। जिले के कुछ क्षेत्रों में पिछले दो माह से हाथियों के एक झुंड ने आतंक मचा रखा है,जिससे आस-पास के लोगों में दहशत बना हुआ है। आतंक का पर्याय बन हाथियों के झुंड ने एक बार फिर चारामा क्षेत्र में जमकर उत्पात मचाया है। हाथियों का झुंड भानुप्रतापपुर और बालोद के सीमा क्षेत्र से लौटकर फिर से चारामा वन परिक्षेत्र में पहुंच गया है। हाथियों के दल ने कूर्रुटोल गांव में एक मकान को क्षतिग्रस्त कर दिया है वहीं घर के बाहर रखे सामानों को भी कुचल कर तहसनहस कर दिया है। घर में मौजूद रहे लोगों ने किसी तरह घर से भागकर अपनी जान बचाई। ज्ञात होकि चन्दा हाथी का दल पिछले 2 माह से जिले के कुछ क्षेत्रों में आतंक मचाया हुआ है। हाथियों का यह दल 16 सितम्बर को नरहरपुर वन परिक्षेत्र से जिले में घुसा था, जहां करीब 15 एकड़ की फसल हाथियों ने रौंद कर बर्बाद कर दिया।

चारामा, भानुप्रतापपुर और बालोद जिले के कुछ गांव में भी इसी हाथी के दल ने जमकर उत्पात मचाया था। अब हाथियों का यह दल उसी रास्ते वापस लौट रहा है,जिससे क्षेत्र के ग्रामीणों में दहशत बनी हुई है। वही वन विभाग हाथियों के हलचल पर नज़र बनाये हुए है और ग्रामीणों से अलर्ट रहने की अपील की है। कूर्रुटोला गांव के एक किसान परिवार के घर को तहस नहस कर दिया साथ ही घर के बाहर खड़े बैलगाड़ी को भी तोड़ डाला है। हाथियों के बढ़ते आतंक से जहां ग्रामीणों में भारी दहशत है। वही पूरे मामले में वन विभाग के उदासीन रवैये से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

 

05-11-2020
किसानों ने किया हल्ला बोल, धमतरी,बालोद कांकेर के मार्ग में किया चक्का जाम

धमतरी। केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ किसानों ने गुरुवार को प्रदर्शन किया। किसानों ने 8 सूत्रीय मांगों को लेकर नेशनल हाईवे पुरूर चौक में चक्का जाम किया। दरअसल धमतरी के गांधी मैदान में छत्तीसगढ़ किसान यूनियन जिला धमतरी द्वारा 28 अक्टूबर से एक नवंबर को धान खरीदी एवं खुला बाजार में न्यूनतम समर्थन मूल्य से नीचे लेने पर सजा का प्रावधान और पूर्ण कर्जा माफी व अन्य मुद्दों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना दे रहे थे उसे 1 नवंबर को समापन किया गया और उसी दिन प्रदेश छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ ने समर्थन देने तथा देशव्यापी किसान आंदोलन के साथ एकजुटता कायम करते हुए राज्यव्यापी किसान आंदोलन की रणनीति बनाने 1 नवंबर को 25 संगठनों के समन्वय में से बनी छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ की संचालक मंडल सहित गांधी मैदान धमतरी में एकजुट हुए। आज देशव्यापी चक्का जाम के नेशनल हाईवे पुरूर में सैकड़ों किसानों चक्काजाम किया। 9 नवंबर को गांधी मैदान धमतरी में जेल भरो कार्यक्रम करने का निर्णय लिया गया।

किसानों ने केंद्र और राज्य की सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेसी विपक्ष में थी तब उन्होंने 1 नवंबर से समर्थन मूल्य धान खरीदी व्यवस्था को लागू करने की वकालत किया था और एक-एक दाना धान खरीदने की मांग की करती थी परंतु जब सत्ता में है तक किसानों के मांगों की ओर ध्यान नहीं दे रही है सरकार द्वारा आयोजित विधानसभा में विशेष सत्र से किसानों को उम्मीद थी की किसानों को पंजाब सरकार की तर्ज पर न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी तो मिलेगी लेकिन निराशा हाथ लगी वहीं दूसरी ओर भाजपा धान खरीदी के नाम पर केवल राजनीति कर रही है ।क्योंकि वह सत्ता में थी तो 2015 में धान खरीदी की सीमा 25 क्विंटल से घटाकर 10 क्विंटल प्रति एकड़ कर दिया और किसान आंदोलन के दबाव में 14 क्विंटल 80 किलो प्रति एकड़ की जो आज भी जारी है इस प्रकार से 10 क्विंटल प्रति एकड़ का नुकसान भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किया था और जब 2009 में धमतरी में बोनस और समर्थन मूल्य के लिए लड़ रहे थे  किसान उसके ऊपर लाठी चार्ज किया था तो भारतीय जनता पार्टी को बोलने का अधिकार ही नहीं है। भाजपा के केंद्र सरकार भी किसानों को सभी जगह न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी देने के मूड में नहीं हैं। ऐसे में किसान दोनों दलों के राजनीति में पीस जा रहे हैं। केंद्र व राज्य सरकार की कारपोरेट परस्त तथा किसान कृषि उपभोक्ता विरोधी नीतियों के खिलाफ किसान लामबंद हो रहे हैं। इसलिए 350 संगठनों के राष्ट्रीय समन्वय के बाद चक्का जाम किया ।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804