GLIBS
02-08-2020
लोकतंत्र की हत्या पर मौन क्यों हैं तथाकथित लोकतंत्र के सेनानी : धनंजय ठाकुर

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा है कि,मीसा बंदी पेंशन योजना बंद करना, छत्तीसगढ़ के हित और जनहित में लिया गया फैसला है। पूर्व की रमन सरकार ने 2008 में भाजपा और आरएसएस से जुड़े लोगों को पालने पोषने सरकारी खजाने का दुरुपयोग किया। बीते 12 साल में सरकारी खजाने पर 100 करोड़ से अधिक की राशि का बंदरबाट किया। 100 करोड़ की राशि छत्तीसगढ़ के किसानों, नौजवानों, मजदूरों, महिलाओं के स्वास्थ, शिक्षा,रोजगार, सुरक्षा पर खर्च की जाती। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आरएसएस और भाजपा से जुड़े लोगों को सरकारी खजाने से दूधभात खिलाते रहे। बीते 6 साल से देश में अघोषित आपातकाल लगा है। लोगों के मौलिक अधिकारों का हनन किया जा रहा है। ऐसे समय में स्वयंभू लोकतंत्र के सेनानी बीते 6 साल से कहां गायब है? मोदी भाजपा की सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है। काले धन की थैलियों से खरीदफरोख्त कर निर्वाचित राज्य सरकारों को अस्थिर किया जा रहा है।

देश के नवरत्न महारत्न  मिनिरत्न सरकारी कंपनियों को बेचा जा रहा है। रेलवे स्टेशन,लाल किला, हवाई अड्डे, विमानन सेवा भेल गेल सहित अनेक सरकारी कम्पनियों संपत्तियों को बेचा जा रहा है। अभिव्यक्ति की आजादी का हनन किया जा रहा है। ऐसे में तथाकथित स्वयम्भू लोकतंत्र के सेनानी क्या मात्र पेंशन लेने के लिए प्रगट होते रहेंगें ? मोदी सरकार के लोकतंत्र विरोधी कृत्यों के खिलाफ आवाज उठाने से ये तथाकथित सेनानी क्यों डर रहे है? मोदी भाजपा के लोकतंत्र विरोधी कृत्यों को सफल बनाने में तथाकथित सेनानी क्यों जुटे हैं?

08-02-2019
Opposition: लोकतंत्र सेनानी सम्मान निधि बंद किए जाने का विरोध

रायपुर। लोकतंत्र सेनानी संघ की प्रांतीय बैठक शुक्रवार को प्रांतीय कार्यालय में हुई। बैठक में सरकार की ओर से सेनानियों की सम्मान निधि सत्यापन का बहाना कर बंद किए जाने की कार्यवाही की निंदा की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि लोकतंत्र सेनानी परिवार की ओर से सभी जिलाध्यक्षों को ज्ञापन देकर सात दिनों के भीतर सत्यापन की कार्यवाही पूर्ण कर शासन के आदेशानुसार सम्मान निधि पुन प्रारंभ करने ज्ञापन दिया जाएगा। अगर सात दिन के अंदर सत्यापन की कार्यवाही पूर्ण नहीं की जाती है या सम्मान निधि शुरू नहीं की जाती है तो संघ के सभी सदस्य जिलाधीश कार्यालय के समक्ष सभी जिलों में धरना प्रदर्शन करेंगे। लोकतंत्र सेनानी परिवार अपने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन देकर विधानसभा में सम्मान छिने जाने विषय पर चर्चा की मांग भी करेंगे। बैठक में लोकतंत्र सेनानी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष पद पर मुंगेली के लोकतंत्र सेनानी द्वारिका प्रसाद जायसवाल को मनोनीत किया गया। बैठक में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सच्चिदानंद उपासने, दत्ता त्रिपुरवार, प्रांतीय संयोजक राधेश्याम शर्मा, शिरोमणि घोरपड़े, योगेंद्र सिंह सहित प्रदेश के सभी जिलों के लोकतंत्र सेनानी उप​स्थित थे। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804