GLIBS
02-03-2020
अतिक्रमणकारियों पर लगातार कार्रवाई जारी, निगम प्रशासन ने बनाई रणनिति

रायगढ़। शहर में बेजा कब्जा और अतिक्रमण हटाओ अभियान को लेकर शहर सरकार व नगर निगम कमिश्नर सख्त हैं। नगरीय निकाय चुनाव के बाद नगर निगम रायगढ़ द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान लगातार जारी है। नगर निगम की इस कार्यवाही से निगम क्षेत्र के अतिक्रमणकारियों में हड़कंप मच गया है। निगम आयुक्त राजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने के लिए नगर निगम की टीम मेहनत कर रही है। उन्होंने बताया कि चौक ,चौराहा, तालाबों, नदी किनारों तथा अन्य शासकीय भूमि पर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही शुरू हो चुकी है। नगर निगम प्रशासन ने इसके लिए पूरी रणनीति तैयार कर ली है।

उन्होंने बताया कि अतिक्रमित स्थानों के नापजोख के बाद लगातार बेजाकब्जा पर कार्यवाही जारी है। नजूल भूमि पर बने अवैध कब्जों को चिन्हित किया गया है। राजकीय भूमि पर किए गए अतिक्रमण पर ठोस एवं प्रभावी कार्रवाई करने का प्रावधान है। नगर निगम ने उन सभी स्थानों पर अवैध अतिक्रमण को हटाने का फैसला लिया है। लगातार चल रही कार्यवाही आज रामनिवास टाकीज चौक से शहीद चौक तक सड़क के किनारे नालियों पर हुए अतिक्रमण को हटाया गया। गोपी टाकीज के दोनों ओर बेजाकब्जा कर लोग अपनी दुकानदारी चला रहे थे जिन्हें आज जेसीबी से तोड़कर नालियों को कब्जामुक्त किया गया है। निगमायुक्त राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि आज सभी दुकानों को हटा कर नालियों को कब्ज़ा मुक्त किया गया है,दुकानदारों ने विस्थापन की मांग अब तक नही की है यदि वह चाहेंगे तो नगर निगम उन्हें निर्धारित भाड़े पर दुकान आबंटित करेगी।  

बता दें कि नगर निगम की कई दुकाने आज भी किरायेदारों के लिए तरस रही हैं निगम की बनी दुकानों को लेने में कोई भी दुकानदार दिलचस्पी नहीं लेता है। जबकि सड़क के किनारे लोग अवैध कब्जा कर अपनी दुकानदारी चलाने में मशगूल हैं। ऐसे में लोग सरकारी जमीन में कब्ज़ा करने की मानसिकता के साथ व्यवसाय संचालित कर रहे है जिनपर कार्यवाही होना अत्यावश्यक है।

29-02-2020
सांसद रामविचार नेताम के बयान पर कांग्रेस ने किया पलटवार

रायपुर। वरिष्ठ भाजपा नेता एवं राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम के बयान पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार के खिलाफ भाजपा लगातार मनगढ़ंत बेबुनियाद तथ्यहिन आरोप लगाकर राजनीति करने की कुचेष्ठा किया जो असफल रहा। दो विधानसभा उपचुनाव, नगरीय निकाय चुनाव एवं त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव में भाजपा की करारी हार हुई। कांग्रेस को मिल रहे व्यापक जनसमर्थन से भाजपा भयभीत है। धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी-शाह में दम है तो रमन सरकार के 15 साल के शासनकाल के काले कारनामे भ्रष्टाचार, घोटाला का रोज पर्दाफाश हो रहा है। केंद्रीय एजेंसियों को रमन सिंह, राजेश मूणत, अमर अग्रवाल सहित तमाम भाजपा के भ्रष्ट नेताओं के यहाँ भेजे। 15 साल के रमन शासनकाल में ऐसा कोई विभाग नहीं था, ऐसा कोई काम नहीं था, जिसमें भाजपा की कमीशनखोरी, भ्रष्टाचार ना हो, छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता भाजपा के काले कारनामे घोटालों से वाकिफ हो गई है। भाजपा को छत्तीसगढ़ की जनता ने नकार दिया है। 

13-02-2020
धमतरी, मगरलोड और कुरूद जनपद में कांग्रेस का कब्जा, नगरी में भाजपा ने मारी बाजी

धमतरी। नगरीय निकाय चुनाव में मिली जीत को बरकरार रखते हुए कांग्रेस ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी परचम लहराने में कामयाब रहा। जिले के चारों जनपद पंचायत के लिए आज गुरुवार को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के लिए चुनाव हुए। इसमें धमतरी, कुरूद और मगरलोड जनपद पंचायत पर कांग्रेस का कब्जा हुआ। वही नगरी जनपद पंचायत में भाजपा अध्यक्ष बनाने में कामयाब रहा। बता दें कि आज भारी गहमागहमी के बीच चारों जनपद पंचायत में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के लिए मतदान हुआ। अध्यक्ष,उपाध्यक्ष चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और भाजपा के बड़े नेता जनपद में डटे रहे। वही धमतरी जनपद पंचायत में क्रास वोटिंग की संभावना पहले से ही था। मतदान के वक्त भाजपा समर्थित एक जनपद सदस्य ने कांग्रेस के पक्ष में क्रास वोटिंग कर दिया। मगरलोड जनपद पंचायत में भी कांग्रेस का कब्जा हुआ है। कांग्रेस समर्थित अध्यक्ष के दावेदार ज्योति ठाकुर को 25 में से 13 वोट मिला तो भाजपा को 12 वोट।
सिहावा विधानसभा अंर्तगत जनपद पंचायत नगरी में हुए जनपद चुनाव में भाजपा और कांग्रेस समर्थित दस-दस उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी। इसके साथ ही 5 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने विजय प्राप्त की थी। बताया जा रहा है कि यहां भी कांग्रेस का जनपद अध्यक्ष बनना लगभग तय था लेकिन कांग्रेस पार्टी के कुछ आला नेताओं से नाराजगी के चलते दिनेश्वरी नेताम ऐन वक्त में भाजपा का दामन थाम लिया। जिसे भाजपा ने अपना अध्यक्ष के लिए दावेदार बनाया और दिनेश्वरी नेताम ने जीत हासिल की। नगरी जनपद में दिनेश्वरी नेताम को 13 मत मिले। वही भाजपा का गढ़ कहे जाने वाले जनपद पंचायत कुरूद में भाजपा को नगरीय निकाय चुनाव के बाद पंचायत चुनाव में भी करारी शिकस्त मिली है। नगर पंचायत को गंवाने के बाद भाजपा ने यहां जनपद पंचायत भी इनके हाथों से निकल गई। आज जनपद पंचायत के अध्यक्ष के लिए हुए मतदान में कांग्रेस के शारदा साहू को 13 मत मिले। बहरहाल जिले के चार जनपद पंचायतों में से तीन जनपद पंचायत में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों को जीत मिलने से कांग्रेस काफी गदगद नज़र आ रही है और पार्टी में जश्न का माहौल है।

 

29-01-2020
भाजपा ने पूर्व नगर पचांयत अध्यक्ष सहित 3 कार्यकर्ताओं को किया पार्टी से बर्खास्त

कांकेर। नगरीय निकाय चुनावों में पार्टी के साथ दगाबाजी व गद्दारी करने वाले भाजपा पदाधिकारियों  को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने बाहर का रास्ता दिखाते हुए पार्टी से बर्खास्त कर दिया है । नगरीय पंचायत चुनाव में पखांजूर नगर पंचायत में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष बनाने के लिए 9 पार्षदों के साथ भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिला था। किंतु पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष मायारानी सरकार व पूर्व मण्डल अध्यक्ष विकास पाल द्वारा अपने पार्टी क्रॉस वोटिंग कर दगाबाजी कर कांग्रेस के साथ जा मिले। इससे नगर पंचायत पखांजूर में भाजपा अपना अध्यक्ष व उपाध्यक्ष नहीं बना पाई। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विक्रम उसेंडी द्वारा नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों के खिलाफ कार्य करने व पार्टी संगठन के साथ दगा करने वाले पखांजूर नगर पंचायत उपाध्यक्ष मायारानी सरकार, पूर्व मण्डल अध्यक्ष विकास पाल, वरिष्ठ भाजपा नेता सुभाष सरकार व कालू सोम को भाजपा से बर्खास्त करते हुए बाहर का रास्ता दिखा दिया है। साथ ही पार्टी में रहकर पार्टी के ही खिलाफ काम करने वालों को संदेश भी दिया है कि जो भी पार्टी विरुद्ध कार्य करेगा उसे भाजपा संगठन बर्दाश्त नहीं करेगा।

 

22-01-2020
भाजपा सरकार के काले नागरिकता कानून को छत्तीसगढ़ ने नकारा: कांग्रेस

रायपुर। नागरिकता कानून पर भाजपा के विफल कार्यक्रम पर तज करते हुए प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा सरकार के काले नागरिकता कानून को छत्तीसगढ़ ने एकदम नकार दिया है। सीएए को लेकर भाजपा के अंदर भी छत्तीसगढ़ में बहुत ज्यादा मतभेद की स्थिति बन गयी है। नागरिकता कानून के कार्यक्रम में भाजपा के राष्ट्रीय नेता, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विक्रम उसेंडी और भाजपा विधायक दल के नेता धरमलाल कौशिक ही पहुंचे नहीं। भारतीय जनता पार्टी के अनेक नेता इस कानून से सहमत नहीं है और सीएए के समर्थन में आयोजित कार्यक्रम में अनुपस्थित रहकर भाजपा के अनेक नेताओं ने अपनी असहमति दर्ज कराई है। काले नागरिकता कानून को समर्थन देने से छत्तीसगढ़ में भाजपा के ही नेताओं, कार्यकर्ताओं और मतदाताओं ने इंकार किया। छत्तीसगढ़ में भाजपा के 56 लाख सदस्य है लेकिन 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के 47 लाख 1 हजार 5 सौ 30 वोट ही मिले थे। सभी सदस्यों ने भी नहीं दिया था भाजपा को वोट। नागरिकता कानून के समर्थन में भाजपा के सिर्फ 5500 कार्यकर्ताओं ने ही मिस्ड काल किया जो भाजपा की कुल सदस्य संख्या का 0.1 प्रतिशत भी नहीं है। नागरिकता के काले कानून के समर्थन में धरना स्थल में आयोजित की गयी भाजपा की विशाल सभा में 550 लोग भी नहीं पहुंचे जो भाजपा की छत्तीसगढ़ में सदस्य संख्या का 0.01 प्रतिशत भी नहीं है। यह तो नागरिकता कानून और भाजपा की छत्तीसगढ़ में हालत है। भाजपा नागरिकता कानून के द्वारा धर्म से धर्म को लड़ाना चाहती हैं लेकिन छत्तीसगढ़ में कभी भी अशांति फैलाने वाली राजनीति को प्रश्रय नहीं दिया गया। भाजपा के बड़े नेता पदों के बंदरबांट में लगे है और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर रहे हैं। भाजपा अपने ही कार्यकर्ताओं को अपमानित कर रही हैं, चुनाव दर चुनाव हार रही हैं और हार की जिम्मेदारी भाजपा कार्यकर्ताओं के सिर पर ठोकते जा रही हैं। भाजपा दंतेवाड़ा विधानसभा उप चुनाव में हारी, चित्रकोट विधानसभा उप चुनाव हारी, नगरीय निकाय चुनाव में दस के दस नगर निगम हारी, पंचायत चुनाव में भी भाजपा की स्थिति बहुत खराब है। इस लगातार हार और आपसी मतभेद में सीएए में नागरिकता कानून ने करेला ऊपर से नीम चढ़ा की स्थिति उत्पन्न की है।

 

18-01-2020
दिन में शराबबंदी की मांग-रात में संरक्षण, भाजपा और उसकी बी टीम का दोहरा चरित्र उजागर : शैलेश

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि भाजपा और उसकी बी टीम की मिलीभगत और दोहरा आचरण उजागर हुआ है। त्रिवेदी ने आरोप लगाया है कि नगरीय निकाय चुनाव के बाद भाजपा और भाजपा के सहयोगी दल जनता कांग्रेस पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में भी शराब का दुरुपयोग की साजिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा में सांसद प्रतिनिधि रहे और भाजपा का जिला कोषाध्यक्ष अनिल गुप्ता स्वयं की गाड़ी के साथ-साथ राज्य विद्युत मंडल की गाड़ियों में अवैध शराब परिवहन तस्करी करते हुए पकड़ा गया। इसे छुड़ाने के लिए बलौदा बाजार के जनता कांग्रेस के विधायक प्रमोद शर्मा स्वयं कवर्धा पहुंचे। भाजपा और भाजपा की बी टीम  जनता कांग्रेस लगातार राज्य में  शराबबंदी के लिए मांग करती रही लेकिन खुद इनके जिम्मेदार पदाधिकारी और जनप्रतिनिध  क्या कर रहे हैं बाहर के राज्य से शराब की तस्करी और शराब का संरक्षण दे रहे हैं।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि 2018 के चुनाव में कांग्रेस को  राज्य की जनता ने जनादेश दिया था।  यह जनादेश 5 वर्षों के लिए है। कर्जमाफी, 2500 धान का दाम, 4000 तेंदूपत्ता , छोटे प्लाटों की रजिस्ट्री सहित अनेक वादों को कांग्रेस सरकार ने पूरा भी किया है। छत्तीसगढ़ में विधानसभा  चुनाव में कांग्रेस ने शराबबंदी का वादा भी किया था। त्रिवेदी ने कहा कि शराबबंदी सहित घोषणापत्र में किए गए  वादों को  पूरा करने की दिशा में राज्य सरकार गंभीर और लगातार काम भी कर रही है। समीतियां गठित की गई है,शराब की समस्या का मूल समाधान सामाजिक स्तर पर ही संभव है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार ने इस दिशा में दु़ढ़ इच्छाशक्ति के साथ कदम भी उठाए हैं। सरकार ऐसी शराब नीति बनाने के लिए काम कर रही है। ताकि शराबबंदी होने की स्थिति में अवैध शराब और शराब तस्करी जैसी समस्याओं से निपटा जा सके। शराब बंदी हो भी जाये तो शराबतस्करी रोकनी होगी। सरकार ने इस दिशा में कदम उठाए।

त्रिवेदी ने कहा कि पूर्व में रमन सिंह के साथ कवर्धा के शराब कोचिए की फोटो भी उजागर हुई थी। इन दोनों राजनैतिक दलों का चरित्र यही है। भाजपा और भाजपा की बीम टीम की ओर से नगरीय निकाय चुनाव को प्रभावित करने के लिए और अब पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव को प्रभावित करने के लिए बड़े पैमाने पर शराब की तस्करी करके अवैध परिवहन कर के बाहर से शराब लाई गई है और यह शराब बलौदा बाजार जिले में कांग्रेस के उम्मीदवारों को हराने के लिए बांटी जा रही हैं। शराब तस्करी की इस बड़ी घटना से भाजपा और जनता कांग्रेस का दोहरा चरित्र उजागर हो गया है। भाजपा के बलौदा बाजार जिला कोषाध्यक्ष स्वयं की गाड़ी में और छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत मंडल लिखी गाड़ियों में मध्य प्रदेश से शराब तस्करी करते हुए हुए गिरफ्तार किए गए। जनता कांग्रेस के विधायक जमानत कराने पहुंचे थे। यह भाजपा और भाजपा की बी टीम द्वारा पंचायत चुनाव को प्रभावित करने के लिए अवैध शराब की तस्करी और शराब तस्करों को संरक्षण देने का स्पष्ट मामला है। यह दोनों ही राजनैतिक दल भाजपा और भाजपा की बी टीम लगातार शराबबंदी की मांग को लेकर बात करते रहे हैं और भाजपा और भाजपा की टीम इन्हीं के पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों का आचरण प्रदेश की जनता के सामने उजागर हुआ है। भाजपा और भाजपा की बी टीम का शराबबंदी के समर्थक होने का मुखौटा पूरी तरह से हट गया है।

17-01-2020
गुरु घासीदास और कबीरदास का ध्यान कर सेवा करें जनप्रतिनिधि : डॉ चरणदास महंत

रायपुर। प्रदेश में हुए नगरीय निकाय चुनाव में विजयी कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों का सम्मान शुक्रवार को राजधानी में हुआ। समारोह में प्रदेशभर से आए जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरण दास महंत ने कहा कि कांग्रेस के परीक्षा की घड़ी थी हमने 68 सीटें जीतकर विधानसभा में इतिहास रचा है। विधानसभा के बाद भूपेश बघेल सरकार की परीक्षा थी, अगर सही काम नहीं करते तो कांग्रेस जीत कर नहीं आती। बहुत बेहतर ढंग से काम किया तो कांग्रेस सरकार को 90 प्रतिशत अंक मिला है। जनमत का सम्मान चुनकर आए कांग्रेस के नगरीय निकायों के जनप्रतिनिधियों को करना है। चरणदाास महंत ने कहा कि जनप्रतिनिधियों को अपने अपने क्षेत्रों में महत्वपूर्ण ध्यान रखना है। पहला ध्यान रखना है महात्मा गांधी का कि वैष्णव जन तो तेने कहिए जे पीर पराई जाने रे। दूसरा ध्यान रखना है कबीर साहेब का, कि कबीरा सो ही पीर है जो जाने परपीर। तीसरा ध्यान रखना है बाबा गुरु घासीदास का, कि मनखे मनखे एक समान। कोई जीता है, कोई हारा है, विरोधी भी हारे हैं परन्तु मनखे मनखे एक समान के अनुसार सबसे समान भाव से प्रेम रखना है। उनके कार्यों को भी करना है। यह हमको 5 साल बाद जीत दिलाने की बड़ी मजबूत चाबी होगी। सबसे मीठा बोलिए, सबसे मिलिए सबका काम कीजिए तभी आप अच्छे नेता बनेंगे। 

15-01-2020
16 जनवरी को एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया और चंदन यादव आएंगे रायपुर

रायपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया 16 जनवरी को रात 7.15 बजे नियमित विमान सेवा से दिल्ली से रायपुर पहुंचेंगे। रायपुर पहुंचकर वरिष्ठ कांग्रेसजनों से चर्चा करेंगे। वे 17 जनवरी शुक्रवार को दोपहर 12 बजे इंडोर स्टेडियम रायपुर में नगरीय निकाय चुनाव के नवनिर्वाचित महापौर, सभापति, नगर पालिका और नगर पंचायतों के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और पार्षदों के सम्मान समारोह में शामिल होंगे। रात्रि 7.30 बजे रायपुर से दिल्ली के लिए रवाना होंगे। इसी तरह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं छत्तीसगढ़ प्रभारी डॉ. चंदन यादव 16 जनवरी गुरुवार को शाम 4.45 बजे इंडिगो की नियमित विमान सेवा से पटना से रायपुर पहुंचेंगे। चंदन यादव भी इंडोर स्टेडियम में आयोजित सम्मान समारोह में शामिल होंगे। समारोह के बाद शाम 5 बजे रायपुर से कोलकाता के लिए रवाना होंगे।

 

14-01-2020
बसना में निर्दलीयों का पलड़ा रहता है भारी : सम्पत अग्रवाल

रायपुर। बसना में  निर्दलीयों की लगातार जीत के संबंध में नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष सम्पत अग्रवाल ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। सम्पत अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में हाल ही में नगरीय निकाय चुनाव हुए हैं। एक ओर सभी नगर निगमों में कांग्रेस पार्टी अपना महापौर बनाकर सरकार के कामकाज का बेहतर परिणाम बता रही है, तो वहीं भाजपा ने भी प्रदेश के सभी 2800 वार्डों में से 1138 पार्षदों के जीत का दावा कर भारतीय जनता पार्टी भी बेहतर स्थिति की बात कर रहे हैं। वहीं नगर पंचायत बसना में 7 निर्दलीय पार्षदों के साथ हमने अपना अध्यक्ष बनाने का ऐतिहासिक कीर्तिमान हासिल किया। सम्पत अग्रवाल ने कहा कि विगत विधानसभा चुनाव में बतौर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े जिसमें कांग्रेस के देवेन्द्र बहादुर सिंह से बहुत ही कम अंतर से हार का सामना करना पड़ा। वहीं भाजपा प्रत्याशी डीसी पटेल तीसरे स्थान पर रहे थे। सम्पत अग्रवाल ने कहा कि इसके पूर्व वे बसना नगर पंचायत के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

13-01-2020
वास्तु सुधारने से क्या फायदा हुआ भाजपा को? कुछ नहीं ना, तो फिर गेट नहीं चेहरे बदलिए, वरना ये गेट भी बन्द हो जाएगा

रायपुर। भाजपा राज्य बनने के बाद पहले चुनाव में विजयी रही थी और उसने पहले चुनाव में विजयी होने के रिकॉर्ड को तीन बार बनाए रखा। हैट्रिक बनाने के बाद भाजपा की बुरी हार पर बहुत से लोगों ने इसमें पार्टी के प्रदेश कार्यालय के वास्तु को दोषी माना। वास्तुदोष सुधारने के लिए विशाखापट्टनम से वास्तु विशेषज्ञ बुलाया गया। वास्तु विशेषज्ञ ने अपने ज्ञान के अनुरूप राष्ट्रीय राजमार्ग धमतरी पर खुलने वाले मुख्य गेट को बंद करवा दिया। वास्तुशास्त्री को भवन में दोस्त नजर आया और उन्होंने भवन का वास्तु दोष ठीक करने के लिए राजमार्ग की ओर खुलने वाले गेट को बंद करवा कर माना बस्ती की ओर जाने वाले गेट को खुलवा दिया। तब पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ ही पार्टी के कर्ता-धर्ताओं को लगा के प्रवेश का रास्ता बदलने से शायद हार का मार्ग बंद हो गया और जीत का मार्ग प्रशस्त हो गया हो। पर वास्तुशास्त्री का वह ज्ञान सिर्फ भवन के लिए था पार्टी के लिए नहीं। पार्टी नए गेट को खुलवाने के बाद भी जीत के लिए तरस गई और नए गेट से भी नगरीय निकाय चुनाव की करारी हार पार्टी दफ्तर में पसर गई। यानी यह तो तय हो गया है कि दोष पार्टी के प्रदेश कार्यालय में नहीं है बल्कि दोष पार्टी के नेतृत्व में है। अभी भी समय है पार्टी का गेट बदलने की बजाय पार्टी का चेहरा बदले। चेहरा बदलने से हो सकता है कि लोग जीत के लिए नया रास्ता बना दे। अन्यथा गेट बदल कर देख लिया जीत का अता पता नहीं है। हार रास्ता बदल बदल कर दफ्तर तक पहुंचने से चूक नहीं रही है। पार्टी के चुके हुए चेहरों को अगर नहीं बदला जाता तो फिर पार्टी को हार के लिए फिर तैयार रहना चाहिए। जीत के लिए उसे नया गेट नहीं नया भवन नहीं नए चेहरे की जरूरत होगी। इस बात को समझना अब जरूरी हो गया है।

 

10-01-2020
कलेक्टर ने पकड़ी थी लापरवाही, शिकायत पर तहसीलदार हुआ सस्पेंड

रायपुर। प्रदेश में  नगरीय निकाय चुनाव में कार्य के दौरान लापरवाही बरतना तहसीलदार को महंगा पड़ गया। शिकायत के बाद राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने तहसीलदार को निलंबित कर दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार बस्तर कलेक्टर ने जगदलपुर तहसीलदार सुंदर लाल धृतलहरे के खिलाफ निर्वाचन कार्य में लापरवाही बरतने  की रिपोर्ट भेजी थी। इसके बाद राज्य निर्वाचन आयुक्त ने आज कार्रवाई करते हुए निलंबित कर दिया। प्रदेश में हाल ही में  नगरीय निकाय निर्वाचन संपन्न हुए हैं। विगत 24 दिसंबर को परिणाम घोषित हुए है। शिकायत पर राज्य निर्वाचन द्वारा कार्रवाई की गई।

 

09-01-2020
पंचायत चुनाव के लिए जल्द होगी उम्मीदवारों की घोषणा : मोहम्मद अकबर

रायपुर। छत्तीसगढ़ में जनवरी के अंत मे पंचायत चुनाव होना है। इसके लिए कांग्रेस की ओर से पूरे प्रदेश में उम्मीदवारों की घोषणा करने की बात मंत्री मोहम्मद अकबर ने कही। मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि पंचायत चुनाव में कांग्रेसी को ही उम्मीदवार बनाया जाएगा। इसके साथ ही कांग्रेस में रहते हुए उनके आचरण पर कोई आरोप न हो, किसी दल के साथ मिलीभगत का आरोप नही होना चाहिए। साथ ही वह जिस क्षेत्र से चुनाव लड़ना चाहते हैं वहाँ के लोगों की मांग होनी चाहिए कि इन्हें उम्मीदवार बनाया जाए। मंत्री अकबर ने कहा कि जिस प्रकार से कांग्रेस ने नगरीय निकाय चुनाव में एक तरफा जीत हासिल की है जिससे आवेदनों की संख्या बहुत अधिक है उसे छाँटने में समय लगा है। जिलों में अधिकृत उम्मीदवारों की घोषणा शुरू हो चुकी है। एक दो दिनों के भीतर पूरे प्रदेश में इसकी घोषणा कर दी जाएगी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804