GLIBS
14-06-2021
3 साल की मासूम के साथ दुष्कर्म, हालत गंभीर, आरोपी फरार 

रायबरेली/रायपुर। उत्तरप्रदेश के रायबरेली से शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। घर के बाहर खेल रही 3 साल की मासूम से दुष्कर्म किया गया है। आरोपी की तलाश जारी है। दरअसल तीन साल की बच्ची अपने घर के बाहर खेल रही थी तभी गांव का ही रहने वाला एक युवक बच्ची को फुसलाकर किसी सूनसान जगह पर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने के बाद दरिंदा आरोपी फरार है। मौके पर मासूम खून से लथपथ मिली जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मासूम की हालत गंभीर बताई जा रही है। बच्ची के परिवार को जब इस घटना के पारे में पता चला तो उन्होंने तुरंत डाल 112 पर फोन कर वारदात की जानकारी दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बच्ची को इलाज के लिए सीएचसी में भर्ती कराया। आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर उसकी तलाश की जा रही है।

11-01-2021
विवादित बयान के बाद आप विधायक सोमनाथ भारती पर फेंकी गई स्याही

रायबरेली। उत्तर प्रदेश के दौरे पर आए आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती को दो दिन पहले दिए एक विवादित बयान के मामले में रायबरेली से गिरफ्तार कर लिया गया है। रायबरेली गेस्ट हाउस में रविवार की रात गुजारने के बाद सुबह वह जैसे ही निकले तो पुलिस ने उनका रास्ता रोका, जिसके बाद उनकी पुलिसवालों से कहा सुनी हुई। इस दौरान उन पर किसी ने स्याही फेंक दी।दरअसल, शनिवार को 'आप' विधायक सोमनाथ भारती ने  अमेठी  के जगदीशपुर में पार्टी कार्यकर्ता मीटिंग में  कहा था कि भाजपा सरकार में गुंडों का राज है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि उत्तर प्रदेश के अस्पतालों में बच्चे तो पैदा हो रहे हैं, लेकिन कुत्तों के बच्चे पैदा हो रहे हैं। उनके इस बयान पर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था और इसी केस में उन्हें सोमवार को रायबरेली से गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के बाद उन्हें फुरसतगंज थाने ले जाया गया।

हालांकि, उसके बाद उन्हें कहां ले जाया गया इस बारे में पुलिस कुछ भी नहीं बता रही है। सोमनाथ भारती का आरोप है कि सुबह भाजपा कार्यकर्ता गेस्ट हाउस पहुंच गए और जैसे ही निकले उन पर स्याही फेंक दी गई। आरोप के मुताबिक, हिंदू युवा वाहिनी और भाजपा कार्यकर्ताओं ने गेस्ट हाउस में हंगामा भी खूब किया। पुलिस ने किसी तरह स्थिति को संभाला।इसके बाद आप के सांसद संजय सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि यूपी में सरकार की तानाशाही चरम पर है। संजय ने कहा, 'आप ने जब स्कूल, अस्पताल की बदहाली का सवाल उठाया तो आप नेताओं को आतंकित किया गया है। पूर्व मंत्री व विधायक सोमनाथ भारती पर रायबरेली में भाजपाइयों ने हमला कर दिया और सोमनाथ को ही पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है। 

09-12-2020
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोनिया गांधी को दी जन्मदिन की शुभकामनाएं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को जन्मदिन की बधाई देते हुए उनके दीर्घायु और स्वस्थ जीवन की कामना की। रायबरेली से सांसद सोनिया गांधी आज 74 वर्ष की हो गई। पीएम मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष को जन्मदिन की बधाई देते हुए ट्वीट किया, “सोनिया गांधी को जन्मदिन की शुभकामनाएं। ईश्वर उन्हें दीर्घायु और स्वस्थ जीवन प्रदान करें।”

20-05-2020
प्रवासी बसों की राजनीति में कूदी कांग्रेस विधायक अदिति, अपनी पार्टी पर खड़े किए सवाल

नई दिल्ली। प्रवासी मजदूरों को लेकर बसों के इंतजाम पर कांग्रेस और भाजपा के बीच चल रही सियासी जंग में एक नया मोड़ आ गया है। कांग्रेस के अपने भी इस घड़ी में उनके खिलाफ खड़े नजर आ रहे हैं। दरअसल रायबरेली से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने पूरे मामले पर अपनी पार्टी के रुख की कड़ी आलोचना की है, साथ ही सीएम योगी की तारीफ भी की है।प्रवासी मजदूरों की बस द्वारा अवाजाही के प्रकरण मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली सदर की विधायक अदिति सिंह ने ट्वीट करके कांग्रेस पर सवाल उठाए और कहा कि आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत, एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 ऑटो रिक्शा व एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई।”अदिति सिंह ने अगले ट्वीट में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ की तारीफ की। उन्होंने लिखा, कोटा में जब यूपी के हजारों बच्चे फंसे थे तब कहां थीं ये तथाकथित बसें, तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बॉर्डर तक न छोड़ पाईं, तब सीएम योगी ने रातोंरात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया, खुद राजस्थान के सीएम ने भी इसकी तारीफ की थी।

क्या है पूरा विवाद

लॉक डाउन की मार झेल रहे मजदूर नोएडा-गाजियाबाद में यूपी के बॉर्डर पर फंसे हैं। इन मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने 1000 बसें चलाने का प्रस्ताव योगी सरकार को भेजा था। योगी सरकार ने इसे मंजूरी दी और बसों की पूरी सूची मांगी। इस सूची के आधार पर योगी सरकार की तरफ से कहा गया कि लिस्ट में शामिल बसों के नंबर टू-व्हीलर और थ्री व्हीलर के भी हैं।इस विवाद के बाद कांग्रेस कह रही हैं कि जो बसें सरकार की जांच में सही पाई गई हैं उन्हीं का इस्तेमाल मजदूरों के लिए कर लिया जाए। इस बीच मंगलवार को आगरा में यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को हिरासत में ले लिया गया। वहीं, दूसरी तरफ लखनऊ और नोएडा में प्रियंका गांधी के सचिव सहित कांग्रेस के दूसरे नेताओं पर एफआईआर दर्ज कर ली गई।

08-02-2020
रंजीत बच्चन को गोली मारने वाला शूटर चढ़ा पुलिस के हत्थे

नई दिल्ली। विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन को गोली मारने वाले शूटर जितेंद्र को शुक्रवार देर रात एसीपी कैंट कार्यालय के पास आलमबाग के देवी खेड़ा में हुई पुलिस मुठभेड़ में दबोच लिया गया। इस दौरान दोनों ओर से करीब तीन राउंड फायरिंग हुई। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में शूटर गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे पुलिस ने लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने मौके से पिस्तौल, कारतूस व बाइक बरामद की है। पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय के मुताबिक जितेंद्र ने चचेरे भाई व उसकी प्रेमिका के साथ मिलकर दो फरवरी की सुबह रंजीत की गोली मारकर हत्या की थी। हत्याकांड में रंजीत की दूसरी पत्नी स्मृति वर्मा, उसके प्रेमी दीपेंद्र और चालक संजीत को पुलिस ने बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया था।

इसके बाद जितेंद्र पर पुलिस कमिश्नर ने 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। शुक्रवार रात 12.40 बजे इंस्पेक्टर हजरतगंज धीरेंद्र प्रताप कुशवाहा को सूचना मिली कि जितेंद्र बाइक से रायबरेली भाग रहा है। वह चारबाग स्टेशन के पास है। इस पर पुलिस टीम ने पीछा शुरू किया। इंस्पेक्टर धीरेंद्र के वायरलेस सेट पर सूचना प्रसारित करते ही इंस्पेक्टर आलमबाग आनंद कुमार शाही ने टीम के साथ शूटर जितेंद्र को एसीपी कैंट कार्यालय की ओर से घेरना शुरू कर दिया। देवी खेड़ा मोड़ पर पुलिस को देखते ही जितेंद्र ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में जितेंद्र के बाएं पैर पर गोली लगी। उसका लोकबंधु अस्पताल में इलाज चल रहा है।

05-02-2020
रंजीत बच्‍चन हत्याकांड : कॉल डिटेल, सीसीटीवी फुटेज बयां कर रही करीबी ने रची हत्या की साजिश

नई दिल्ली। विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्‍चन की हत्या के मामले में पुलिस ने जांच की तफ्तीश और मजबूत कर दी है। जांच अवैध संबंधों व रुपये के लेनदेन की ओर आगे बढ़ रही है। पुलिस ने गोरखपुर से प्रॉपर्टी डीलर समेत तीन और रायबरेली के बछरावां से एक को कस्टडी में लिया है। मंगलवार देर शाम को जेसीपी नीलाब्जा चौधरी ने रणजीत बच्चन की पत्नी कालिंदी शर्मा से लंबी पूछताछ की। हालांकि उन्होंने इसे सिर्फ रूटीन पूछताछ कहा है। परिवर्तन चौक ग्लोब पार्क के मुख्य गेट के पास रविवार सुबह 6 बजे बदमाशों ने रंजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या कर दी थी। हाई प्रोफाइल हत्याकांड के खुलासे के लिए राजधानी की 8 टीमों के अलावा गोरखपुर क्राइम ब्रांच सीओ प्रवीण सिंह के नेतृत्व में टीम लगी है। वहीं एसटीएफ की एक टीम भी लगाई गई है।

सोमवार देर रात को गोरखपुर क्राइम ब्रांच की टीम ने तीन संदिग्ध लोगों को उठाया है। उनसे पूछताछ के बाद लखनऊ पुलिस को सुपुर्द कर दिया। पुलिस के मुताबिक हत्याकांड में 89 लोगों के मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली गई। इसमें 17 लोगों के मोबाइल को पुलिस ने डायवर्जन पर ले रखा है। इन मोबाइल नंबरों की लिसनिंग की जा रही है। मोबाइल के कॉल डिटेल व डायवर्जन से कई तथ्य सामने आए हैं। इसी आधार पर राजधानी के कई इलाकों से कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया था। वहीं एक काफी करीबी के मोबाइल पर वारदात के बाद तत्काल सूचना दी गई। इसकी पुष्टि पुलिस कर रही है। लेकिन उसने सूचना मिलने की बात से इनकार भी किया। साथ ही करीब 20 मिनट बाद अपने मोबाइल के जरिए रणजीत बच्चन के रिश्तेदारों को वारदात के बारे में जानकारी देनी शुरू कर दी। रणजीत के मोबाइल से मिले कई महिलाओं के मोबाइल नंबर पर पूछताछ की। उनमें से कुछ संदिग्ध नंबरों की सूची तैयार कर उन पर निगरानी शुरू कर दी गई। इसमें गोरखपुर, लखनऊ, नोएडा, दिल्ली, प्रयागराज, रायबरेली, वाराणसी के लोग शामिल हैं। इनमें अधिकतर महिलाएं हैं। इनसे रंजीत की लंबी बातचीत और चैटिंग भी मिले हैं। पुलिस इस बिंदु पर भी जांच कर रही है।

06-12-2019
आईसीयू में मौत से लड़ रही गैंगरेप पीड़िता, एयर लिफ्ट के जरिए किया गया दिल्ली शिफ्ट  

नई दिल्ली। यूपी के लखनऊ से एयर लिफ्ट हुई उन्नाव पीड़िता गुरुवार रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल पहुंची। अस्पताल के आपातकालीन विभाग के आईसीयू में पीड़िता को भर्ती किया है। पीड़िता के साथ एक परिजन भी अस्पताल में मौजूद है। शाम करीब 6 बजे लखनऊ से दिल्ली रवाना होने के बाद इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एयर एंबुलेंस पहुंची। रात 8 बजकर 22 मिनट पर हवाई अड्डे से सफदरजंग अस्पताल तक एंबुलेंस के लिए दिल्ली पुलिस ने ग्रीन कॉरिडोर बनाया था। करीब 100 यातायात पुलिस और 50 पुलिस जवानों की मदद से ग्रीन कॉरिडोर के जरिए पीड़िता को अस्पताल पहुंचाया। इससे पहले उत्तर प्रदेश महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा भी अस्पताल पहुंची। उन्होंने बताया कि वह पीड़िता से मिलने आई हैं। उन्होंने ये भी कहा कि भले ही उत्तर प्रदेश पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया हो, लेकिन आयोग इन आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहा है। सफदरजंग अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार अस्पताल के बर्न विभाग के वरिष्ठ डॉ. शलभ की निगरानी में तीन वरिष्ठ डॉक्टरों की टीम ने पीड़िता का उपचार शुरू कर दिया है। पीड़िता का करीब 90 फीसदी शरीर आग की चपेट में आने के कारण उसकी हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों का कहना है कि फिलहाल अगले 24 घंटे तक वे कुछ भी जानकारी नहीं दे सकते हैं।

आईसीयू में भर्ती पीड़िता का उपचार शुरू कर दिया है। कुछ मेडिकल जांच भी की गई हैं जिनकी रिपोर्ट शुक्त्रस्वार सुबह आएगी। इन रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की जानकारी दी जाएगी। मेडिकल टीम में तीन वरिष्ठ डॉक्टर के अलावा पांच सीनियर रेजीडेंट, चार नर्से भी शामिल हैं। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को एयर एंबुलेंस से दिल्ली ले जाया जाएगा इससे पहले उत्तर प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल पहुंच चुकी है। मीडिया से बात करते वक्त उन्होंने बताया कि वह पीड़िता से मिलने आई हैं। उन्होंने कहा कि यह एक जघन्य अपराध है। महिला आयोग ऐसे दोषियों के लिए फांसी के सजा की मांग करती है।  बता दें कि उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाए जाने की घटना के बाद गुरुवार को राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने इस मामले को लेकर उत्तर प्रदेश डीजीपी को एक पत्र लिखकर विस्तृत जानकारी मांगी है।

उन्होंने कहा कि युवती को अदालत जाते वक्त रास्ते में आग लगा दी गई। ऐसा सिर्फ इसीलिए हुआ क्योंकि न तो युवती को सुरक्षा दी गई थी और न ही उसके साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपियों की जमानत पर अदालत ने किसी तरह की आपत्ती जताई थी। इससे पहले उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को गुरुवार सुबह पांच युवकों ने पेट्रोल डालकर जला दिया था। पिता की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पीड़िता को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां पीड़िता की हालत गंभीर देख कानपुर हैलट रेफर कर दिया गया था। कानपुर के बाद पीड़िता को लखनऊ रेफर कर दिया गया।

पीड़िता ने बयान दिया है कि गुरुवार सुबह चार बजे वह रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकड़ने बैसवारा बिहार रेलवे स्टेशन जा रही थी। गौरा मोड़ पर गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर शुभम, शिवम, उमेश ने घेर लिया और सिर पर डंडे से और गले पर चाकू से वार किया। वह चक्कर आने से गिरी तो पेट्रोल डालकर आग लगा दी। शोर मचाने पर भीड़ को आता देख वह भाग निकले। पीड़िता ने बताया कि पूर्व में आरोपियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया था। उधर, घटना की जानकारी मिलने पर डीएम देवेंद्र पांडे, एसपी विक्रांत वीर समेत कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। पीड़िता की हालत गंभीर देख कानपुर हैलट रेफर कर दिया गया था। बताया जा रहा है कि सभी हमलावरों को हिरासत में ले लिया गया है। जानकारी के अनुसार दुष्कर्म पीड़िता रायबरेली मामले की पेशी के लिए जा रही थी। एसपी विक्रांत वीर ने बताया कि घटना के तत्काल बाद पीड़िता के बयान के आधार पर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी दो आरोपियों की तलाश के लिए चार टीमें बनाई गई हैं। लखनऊ में सिविल अस्पताल की बर्न यूनिट में भर्ती है। पीड़िता को देखने एडीजी जोन एसएन सावंत सिविल अस्पताल पहुंचे।


90 प्रतिशत जल चुकी है पीड़िता

निदेशक डॉ. डीएस नेगी का कहना है कि पीड़िता 90 प्रतिशत जल चुकी है। इलाज के लिए अपनी पूरी टीम लगा रखी है। पीड़िता सुबह सवा दस बजे सिविल अस्पताल पहुंची थी। सिविल अस्पताल के प्लास्टिक सर्जन डॉ. प्रदीप तिवारी पीड़िता का इलाज कर रहे हैं। घटना की गहन तफ्तीश की जा रही है। इस घटना से जुड़े कुछ और तथ्य भी मिले हैं, जिनकी पुलिस जांच कर रही है। पीड़िता को पेन किलर समेत फ्लूड चढ़ाया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव मामले में पीड़िता का इलाज सरकारी खर्च पर कराए जाने व आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करने के प्रशासन को आदेश दिए हैं। वहीं अखिलेश यादव ने इस मामले मे योगी सरकार से सामूहिक इस्तीफे की मांग की है। आईजी ने बाताया कि पांच दिन पहले 30 नवंबर को मुख्य आरोपी हाईकोर्ट से जमानत पर जेल से बाहर आया था। उसके बाद से ही बदला लेने का मौका ढूंढ रहा था। आज मौका पाकर चार साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया।

 

05-12-2019
रेप पीड़िता को जिंदा जलाने वाले पांचो आरोपी गिरफ्तार, जमानत पर रिहा होकर दिया वारदात को अंजाम  

लखनऊ। उन्नाव गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने के मामले में पुलिस ने सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें मुख्य आरोपी शिवम द्विवेदी भी शामिल है। उधर बुरी तरह जली पीड़िता की हालत गंभीर है, उसे लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्नाव के एसपी विक्रांत वीर के अनुसार आरोपी को पकड़ने के लिए 4 टीमें लगाई गई थीं। उन्नाव में एक बार फिर मानवता शर्मसार हुई है। यहां गुरुवार को एक रेप पीड़िता को जमानत पर छूट कर आए दो आरोपियों ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर जिंदा जला दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवती को गंभीर हालत में जिला अस्पताल भेजा, जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने लखनऊ रेफर कर दिया। बताया जा रहा है कि पीड़िता 80 प्रतिशत तक जल गई है।

जमानत पर रिहा हुए और दिया वारदात को अंजाम

बिहार थानाक्षेत्र के हिन्दुनगर गांव की है। कुछ दिन पहले ही युवती के साथ रेप हुआ था। इस मामले में दो नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। गुरूवार को युवती इसी मामले की पैरवी के लिए रायबरेली जा रही थी। सुबह 4 बजे के करीब गांव के बाहर खेत में दोनों आरोपी व उसके तीन साथियों ने उसके ऊपर कैरोसीन छिड़ककर आग लगा दी। इसकी सूचना मिलते ही गांव में हड़कंप मच गया। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और पीड़िता को जिला अस्पताल पहुंचाया गया। जहां से उसे लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है।

05-12-2019
फिर सामने आई दरिंदो की हैवानियत, दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाने का किया प्रयास

नई दिल्ली। उन्नाव जिले के बिहार थाना क्षेत्र के गौरा मोड़ के पास गुरुवार की भोर में गैंगरेप पीड़िता को आरोपितों ने पांच लोगों संग मिलकर जिंदा जलाने का प्रयास किया। वारदात को उस समय अंजाम दिया गया जब पीड़िता मुकदमे की तारीख पर रायबरेली के लिए ट्रेन पकड़ने जा रही थी। रेप पीड़िता की हालत गंभीर होने पर पीड़िता को लखनऊ रेफर किया गया है। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि दो आरोपियों की तलाश में टीम बनाकर दबिश दी जा रही है। जो दो आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं वे जमानत पर छूटे थे। यह मामला बीजेपी के बर्खास्त विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से जुड़ा हुआ नहीं है। बिहार क्षेत्र के हिंदूनगर भाटनखेडा गांव के रहने वाले शिवम त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी ने 12 दिसंबर 2018 को इलाके की एक युवती को अगवा करके रायबरेली जिले के लालगंज थाना क्षेत्र में गैंगरेप किया था। इसका मुकदमा रायबरेली जिले के थाना लालगंज में पंजीकृत है और रायबरेली कोर्ट में मामले की सुनवाई चल रही है। गुरुवार की भोर में करीब 4 बजे पीड़िता रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकडने बैसवारा स्टेशन के लिए निकली थी।

सुमेरपुर अस्पताल में एसडीएम दयाशंकर पाठक को दिए बयान में पीड़िता ने बताया कि वह गाैरा माेड के पास पहुंची तो पहले से माैजूद गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, रामकिशोर त्रिवेदी, उमेश बाजपेयी व रेप के आराेपित शिवम त्रिवेदी, शुभम त्रिवेदी ने लाठी, डंडे, चाकू से वार कर दिया । उसके बाद  बदन पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। चीखने चिल्लाने पर वहां पहुंचे आसपास के लोगों ने शोर मचाया तो आरोपित भाग गए।  पुलिस ने पीड़िता को सुमेरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया जहां पर हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल भेज दिया गया। पीड़िता का कहना है कि आरोपी पक्ष की ओर से मुकदमा वापस लेने के लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा था। उसने मुकदमा वापस नहीं लिया तो हमलावरों ने जान से मारने की कोशिश की। एसपी विनोद पांडे का कहना है कि रायबरेली जिले में रेप का मामला हुआ था। पीड़िता को अस्पताल पहुंचाया गया है आरोपितों की तलाश में दबिश दी जा रही है। 

27-08-2019
पूर्व विधायक अखिलेश सिंह को श्रद्धांजलि देने रायबरेली पहुंचीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी 

रायबरेली। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार को एक दिवसीय दौरे पर अपनी मां और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली पहुंची हैं। इस दौरान उन्होंने सदर विधायक अदिति सिंह के आवास लालूपुर पहुंचकर पूर्व विधायक अखिलेश सिंह को श्रद्धांजलि दी और पारिवारिक सदस्यों को ढांढस बंधाया है। प्रियंका वाड्रा ने अखिलेश सिंह की पत्नी वैशाली सिंह, उनकी बेटी सदर विधायक अदिति सिंह और दिव्यांशी सिंह से मिलकर दुख बांटा। प्रियंका एक बजे तक भुएमऊ गेस्ट हाउस में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगी। इसके बाद वह दोपहर एक बजे आधुनिक रेलकोच फैक्ट्री लालगंज, ऐहार के लिए रवाना होंगी। वहां रेलकोच के बाहर धरने पर बैठे रेलकोच फैक्ट्री के कर्मचारियों के विरोध में दोपहर 1.45 बजे शामिल होंगी। प्रियंका गांधी वाड्रा आंदोलनरत रेल कर्मियों के साथ वार्ता करने के बाद दिन में तीन बजे लखनऊ के लिए रवाना हो जाएंगी। कांग्रेस जिलाध्यक्ष वीके शुक्ला ने कहा कि प्रियंका के कार्यक्रम की तैयारी पूरी कर ली गई है। उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने वाले कार्यकर्ता भी तैयार हैं।

25-08-2019
रेलवे के निजीकरण का विरोध कर रहे कर्मचारियों से मुलाकात करने 27 को रायबरेली जाएंगी प्रियंका गांधी

लखनऊ। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी 27 अगस्त को रायबरेली का दौरा करेंगी। वे कांग्रेस नेता अखिलेश सिंह के परिजनों से मिलकर शोक व्यक्त करेंगी। बता दें कि अखिलेश सिंह का पिछले दिनों निधन हो गया था।
उनकी बेटी अदिति सिंह कांग्रेस से विधायक हैं। इसके अलावा प्रियंका गांधी रेल कोच फैक्ट्री का भी दौरा करेंगी। वहां वे रेलवे के निजीकरण का विरोध कर रहे कर्मचारियों से मुलाकात करेंगी। कार्यक्रम के अनुसार प्रियंका गांधी सुबह 8 बजकर 10 मिनट पर दिल्ली से विमान द्वारा लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगी। सुबह 9 बजकर 30 मिनट पर सड़क मार्ग द्वारा लखनऊ से रायबरेली के लिए रवाना होंगी। 11 बजकर 15 मिनट पर वे रायबरेली से विधायक अदिति सिंह के घर जाकर शोक व्यक्त करेंगी। दोपहर 1.00 बजे रेल कोच फैक्ट्री के लिए रवाना होंगी। दोपहर 1.00 बजकर 45 मिनट से 2.45 मिनट तक रेलवे के निजीकरण के खिलाफ  प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों से मुलाकात करेंगी।


  

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804