GLIBS
12-07-2020
Video : लाखों की लूट के मास्टर माइंड गिरफ्तार, पुुलिस ने बरामद की पूरी रकम और दो बाइक

कवर्धा। जिले में बड़ी वारदात को अंजाम देने वाले दोनों मास्टर माइंड को आखिरकार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले 6  सह आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। दोनों मुख्य आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने लूट की शेष रकम के साथ वारदात को अंजाम देने उपयोग में ली गई दो मोटरसाइकिल को भी बरामद किया है।  वारदात के 24 घण्टे में आरोपी तक पहुंचने पर गृह मंत्री, आईजी, डीजी ने बधाई दी है। साथ ही पुलिस टीम को सम्मनित भी किया जाएगा।
बता दें कि 9 जुलाई को ग्राम जंगलपुर, थाना पाण्डातराई में अज्ञात आरोपियों ने मिर्ची पाउडर फेककर मनोज कश्यप और पारस यादव से 71 लाख 56 हजार रूपए लूटे थे। दो वाहनों में मुंह बांधकर आए लूटेरों ने प्रार्थियों की मोटरसाइकिल को धक्का मारकर कट्टे की नोंक पर वारदात को अंजाम दिया था।

वारदात की जामकारी मिलते ही थाना कुण्डा पुलिस ने तत्काल विवेचना प्रारंभ की थी। तकनीकी शाखा के हमराह अलग-अलग टीमे बनाकर अपराधियों के धर-पकड़ के लिए अभियान प्रारंभ किया गया था। आरोपियों की पतासाजी के लिए सरहदी थाना और जिला में नाकाबंदी पांइट लगाया गया था।  घटनास्थल के आस-पास के सीसीटीव्ही फुटेज प्राप्त किया गया। इसके बाद 6 आरोपी को गिरफ्तार कर 68 लाख 50 हजार रुपए बरामद किया गया। इसके बाद फरार अन्य दो आरोपी नरायन चन्द्रवशी व पप्पू चन्द्रवशी को गिरफ्तार किया है। ये दोनों लूट के मुख्य आरोपी हैं। इनके पास से 3 लाख रुपए बरामद किया गया। इस प्रकार लूट की सारी रकम व लूट में उपयोग करने वाले दो बाइक को जब्त किया गया।

11-07-2020
अबूझमाड़ के सरहदी क्षेत्र पल्ली-बारसूर मार्ग पर कड़ेमेटा गांव में पहुँचे आईजी, बस्तर दंतेवाड़ा जिले के कलेक्टर-एसपी

रायपुर/जगदलपुर। बस्तर संभाग के 5 जिलों के केंद्र बिंदु रूप में स्थित गांव कड़ेमेटा (पुलिस जिला नारायणपुर एवं राजस्व जिला बस्तर) का दौरा पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज सुंदरराज पी., कलेक्टर बस्तर रजत बंसल, कलेक्टर दन्तेवाड़ा दीपक सोनी एवं पुलिस अधीक्षक दन्तेवाड़ा अभिषेक पल्लव के द्वारा 10 जुलाई को किया गया। कडेमेरा में जनवरी 2020 को पुलिस कैम्प स्थापित किया गया है लगभग 30 वर्षों पहले राज्य की राजमार्ग क्रमांक 05 के नाम से पहचान पल्ली-बारसूर मार्ग में नक्सली गतिविधियों की वजह से आवागमन पूर्णतः बंद हो गया था। जिला बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, नारायणपुर एवं कोंडागाँव के लगभग 40 से अधिक गांव को जोड़ने वाला यह राजमार्ग बंद होने के कारण हजारों ग्रामीण अपने जिला मुख्यालय संपर्क से वंचित रह गए। इस प्रकार 5 जिलों के सरहदी गांव में शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली व अन्य मूलभूत सुविधाओं की शासकीय क्रियान्वयन करने में काफी कठिनाइयाँ हो रही थी। इस परिस्थिति को देखते हुए हजारों ग्रामीणों के जीवनयापन में सकारात्मक परिवर्तन लाने हेतु शासन की ‘‘विश्वास-विकास-सुरक्षा’’ कार्ययोजना अंतर्गत पल्ली-बारसूर मार्ग पर कड़ेमेटा में सुरक्षा कैम्प स्थापित किया गया। कड़ेमेटा गांव में सुरक्षा कैम्प की स्थापना के पश्चात् क्षेत्र का विकास कार्य भी त्वरित रूप से संपादित किया जा सके। अधिकारियों ने ग्रामीणों की मांग अनुसार कड़ेमेटा कैम्प स्थापना के पश्चात् स्वीकृत आंगनबाड़ी केंद्र, उचित मूल्य की दुकान, बोरवेल उत्खनन इत्यादि कार्यों के क्रियान्वयन के संबंध में ग्रामीणों से चर्चा की गई।

उल्लेखनीय है कि कलेक्टर नारायणपुर अभिजीत सिंह एवं पुलिस अधीक्षक नारायणपुर, मोहित गर्ग के विशेष पहल से कडेमेटा एवं धौड़ाई के बीच सड़क निर्माण कार्य प्रगति पर है। इस प्रकार पुलिस अधीक्षक बस्तर दीपक झा, पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा अभिषेक पल्लव एवं कलेक्टर दंतेवाडा दीपक सोनी के पहल पर बोदली-मालवाही के सड़क निर्माण कार्य भी प्रगति पर है। पल्ली-बारसूर क्षेत्र के विकास व सुरक्षा हेतु बस्तर संभाग के जिला नारायणपुर, बस्तर, कोंडागांव, बीजापुर एवं जिला दंतेवाडा के प्रशासन और पुलिस द्वारा आपसी समन्वय के साथ समर्पित होकर कार्य की जा रही है। प्रशासन एवं सुरक्षाबल की इस प्रकार की पहल से ग्रामीण संतुष्ट होकर क्षेत्र की विकास हेतु कटिबद्ध नजर आये। कड़ेमेटा गांव के भ्रमण के दौरान ग्रामीणों द्वारा उत्साह से अधिकारियों का स्वागत किये। इस दौरान अधिकारियों ने ग्रामीणों को क्षेत्र की समग्रित विकास का आश्वासन देते हुए इस दिशा में ग्रामीणों से सहयोग की अपील की गई। वर्तमान में कोरोना (कोविड-19) महामारी संक्रमण के बचाव एवं सावधानियां के संबंध में अधिकारियों द्वारा ग्रामीणों को समझाइश दी गई। इस दौरान कड़ेमेटा कैम्प प्रभारी एवं सुरक्षाबल के अन्य अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहे।

04-07-2020
रायगढ़ कैश वैन लूट के आरोपी गिरफ्तार, पुलिस जल्द करेगी खुलासा

रायगढ़। रायगढ़ में कैश वैन के ड्राइवर और गार्ड को गोली मारकर लूट के दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मामले का खुलासा पुलिस जल्द करेगी। बता दें कि शुक्रवार दोपहर जिले के किरोड़ीमल चौक पर दो नकाबपोशों ने कैश वैन के ड्राइवर को गोली मारी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। वहीं गोली लगने से गार्ड भी गंभीर रूप से घायल हुआ है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने लूट की रकम भी आरोपियों से बरामद कर ली है। आईजी और एसपी मामले की मॉनिटरिंग खुद कर रहे थे।

24-06-2020
डीजीपी अवस्थी ने आईजी और एसपी से कहा, चिटफंड कंपनी डॉयरेक्टरों की संपत्ति कुर्क करने की कार्यवाही की जाए

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप चिटफंड प्रकरणों में निर्दोष एजेंटों का केस वापस लेने, आदिवासियों पर दर्ज सामान्य अपराधिक प्रकरण खत्म करने, शराब की अवैध तस्करी रोकने और अवैध रेत खनन करने वालों पर कार्यवाही को लेकर बुधवार को सभी रेंज आईजी और पुलिस अधीक्षकों के साथ समीक्षा बैठक आयोजित की गई। डीजीपी डीएम अवस्थी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी आईजी और पुलिस अधीक्षकों से कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की प्राथमिकताओं में चिटफंड पीड़ितों को उनका पैसा वापस दिलाना, निर्दोष एजेंटों से प्रकरणों की वापसी, आदिवासियों पर दर्ज सामान्य किस्म के अपराधों को समाप्त करना शामिल है। इसलिए चिटफंड प्रकरणों में कम्पनी डॉयरेक्टरों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करते हुए उनकी संपत्ति कुर्क करने की कार्यवाही की जाए। न्यायालय के माध्यम से निर्दोष एजेंटों पर दर्ज केस वापस लें। पीड़ितों को न्याय और उनका पैसा वापस दिलाने की कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि बस्तर क्षेत्र में ऐसे आदिवासी जिन पर गंभीर प्रकरण दर्ज नहीं है उन्हें समीक्षा कर तुरंत छोड़ा जाए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा रेत का अवैध खनन करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं, जिसका पालन सख्ती से कराकर अवैध खनन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करें। दूसरे राज्यों से शराब की तस्करी करने वालों पर लगातार कार्यवाही करें। मानवाधिकार के मामलों पर भी संवेदनशीलता से कार्यवाही की जाए। डीजीपी डीएम अवस्थी ने कोरोना संकट के दौरान अच्छा कार्य करने पर सभी पुलिस कर्मियों को बधाई दी और आगे भी ऐसे ही कार्य करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि ड्यूटी के दौरान पुलिसकर्मी भी सावधानी बरते और अपना ख्याल रखें। बैठक में डीआईजी सुशील द्विवेदी, एआईजी राजेश अग्रवाल, एआईजी अरविंद कुजूर उपस्थित रहे।

16-06-2020
लापरवाह वाहन चालकों की अब खैर नहीं, आईजी ने दिए सख्त कार्यवाही के निर्देश

कोरबा। बिलासपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा ने अपने अधीनस्थ सभी 6  जिला पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखकर अपने-अपने जिले के थाना क्षेत्रों में मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया है। यातायात नियमों का उल्लंघन करने के फलस्वरूप सड़क दुर्घटनाओं में वृद्धि हुई है। नाबालिग बच्चों द्वारा वाहन चालन से भी दुर्घटनाओं की आशंका बनी रहती है। आईजी काबरा ने बिना मास्क लगाए वाहन चलाने वाले लोगों एवं बेवजह सड़क पर घूमने वाले लोगों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। उन्होंने की गई कार्यवाही का पालन प्रतिवेदन भी एक सप्ताह के भीतर प्रस्तुत करने सभी एसपी को निर्देशित किया है।

09-06-2020
पुलिसकर्मियों ने जनता से किया दुर्व्यवहार तो निलंबन के साथ होगी एफआईआर,डीजीपी ने दिया आदेश

रायपुर। प्रदेश में पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा आमजनता के साथ दुर्व्यवहार के गंभीर मामले सामने आने के बाद डीजीपी ने नाराजगी जताई है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने सभी रेंज के आईजी और पुलिस अधीक्षकों को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। डीजीपी ने कहा कि प्रदेश में यदि किसी पुलिस अधिकारी ने किसी भी आमजन से दुर्व्यवहार किया तो उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाएगा। डीजीपी ने अधिकारियों को अपने अधीनस्थों पर कठोर नियंत्रण रखने के निर्देश दिए। डीजीपी ने कहा कि इसके पूर्व भी कई बार निर्देशित किया गया है कि आम नागरिकों के साथ पुलिस का व्यवहार सम्मानपूर्ण और सहानुभूतिपूर्ण होना चाहिए। हाल ही में कुछ घटनाएं प्रकाश में आई हैं,जिसमें पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के द्वारा आम जनता के साथ दुर्व्यवहार और जबरन मारपीट की गई है। ऐसे मामलों के कारण विभाग में लम्बे समय से मेहनत कर रहे ईमानदार और अनुशासित पुलिसकर्मियों की सारी मेहनत पर पानी फिर जाता है। और पुलिस की नकारात्मक छवि जनमानस के सामने आती है। उन्होंने निर्देश दिया कि हाल में घटित इस प्रकार के प्रकरणों पर विभागीय जांच कर कार्यवाही की जाए।

 

17-04-2020
सरगुजा संभाग आईजी ने कहा, अगर शराब, जुआं अपराधों में संलिप्त पाए गए पुलिसकर्मी तो होगी कार्रवाई

कोरिया। सरगुजा संभाग आईजी रतनलाल डांगी ने कहा कि पुलिस कर्मचारियों के जुआ खेलते पकड़े जाने की खबरें मीडिया में आ रही है। उन्होंने कहा कि शराब,जुआं जैसे अपराधों में पुलिसकर्मियों की संलिप्तता को बिना जांचे उन्हें बर्खास्त कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग में पुलिसकर्मी कर्तव्यनिष्ठ के साथ दिन रात ड्यूटी पर डटे हैं। गरीब असहाय लोगों की मदद करके,जो छवि हमारे जाबांज कर्मचारियों व अधिकारियों ने विभाग की बनाई है उसको कुछ पुलिसकर्मी के कारण नुकसान पहुंचा रहा है। उन्होंने सभी जिले के पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए हैं कि अपने अधीनस्थ स्टॉफ को सचेत करें कि आपराधिक गतिविधियों में शामिल पाए जाने पर संविधान के अनुच्छेद 311 के तहत सीधा बर्खास्त करने की कार्यवाही की जाएगी।

17-04-2020
गृहमंत्री ने आईजी-एसपी से लॉक डाउन की तैयारियों की जानकारी ली, दिए निर्देश...

रायपुर। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने प्रदेश के सभी रेंज के आईजी और एसपी से फोन पर लॉक डाउन के दौरान चल रही गतिविधियों के संबंध में जानकारी ली। गृहमंत्री ने लॉक डाउन का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए हैं। गृहमंत्री ने आला अधिकारियों से कहा कि आवश्यक वस्तुओं जैसे दूध, सब्जी, राशन, दवाईयां आदि की आपूर्ति पर नजर रखी जाए। इन आवश्यक वस्तुओं के विक्रम मूल्यों को भी नियंत्रित रखने आकस्मिक जांच भी की जाए। कोई मजदूर भूखा ना रहे इसके लिए शासन की गाइडलाइन का पालन किया जाए। गृहमंत्री ने इस ओर ध्यान आकर्षित किया कि लॉक डाउन बढ़ने पर लोगों की समस्या उत्पन्न हो रही होगी, परन्तु इसी दौरान राहगीरों और सुनसान गलियों में चोरों की संख्या, लूट की वारदात बढ़ने लगी है इस ओर भी पुलिस को ध्यान देना है। प्रदेश में अवैध शराब बिक्री और अन्य शराब दुकनों में चोरी सहित अन्य नशे पर प्रकरण बनाएं और आरोपियों पर कार्रवाई करें।

गृहमंत्री ने कहा कि शहरों के स्लम एरिया और मोहल्लों में अनावश्यक भीड़ होने की सूचना समाचार के माध्यम से प्रकाशित हो रही है और लोग लॉक डाउन का खुले आम उल्लंघन कर रहे हैं, इसे देखते हुए लगातार मॉनिटरिंग की जरूरत है। लॉक डाउन 2.0 लागू होने के बाद मजदूरों को राशन की समस्या ना हो इसका भी ध्यान रखना होगा। वहीं कृषि कार्य और ग्रामीण क्षेत्र के उद्योगों को प्रारम्भ करने के आदेश दिए गए हैं, निगरानी करें और फिजिकल डिस्टेंस का पालन करें। राज्य सरकार की ओर से जिस क्षेत्र में छूट दी गई है वहां फिजिकल डिस्टेंस का पालन कराया जाए। डॉक्टर, नर्स सहित कोविड-19 के इलाज में लगे कर्मचारियों को पर्याप्त सुरक्षा पुलिस की ओर से दी जाए।

08-04-2020
सरगुजा आईजी ने किया छत्तीसगढ़ सीमा से लगे उत्तर प्रदेश बॉर्डर का निरीक्षण

वाड्रफनगर। सरगुजा आईजी रतनलाल डांगी एवं बलरामपुर एसपी टीआर कोसीमा के द्वारा उत्तर प्रदेश सीमा में लगे पुलिस बल व अन्य विभाग के द्वारा की जा रही सघन जांच व बिना अनुमति चल रहे वाहनों की जांच एवं आने जाने वाले लोगों का स्वास्थ्य जांच एवं जारी सरकारी पास को चेक कर रहे सभी कर्मचारियों का हाल जानने पहुंचे थे। इस दौरान आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए सभी के पास कोविड 19 कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी सामान जैसे हैंड सैनिटाइजर मास्क इत्यादि बॉर्डर पर उपलब्ध है कि नहीं इसका जायजा लिया। इस दौरान आईजी ने ड्यूटी पर तैनात सभी जवानों के शारीरिक लक्षण की जानकारी ली। कहीं किसी को किसी भी प्रकार का कोई बीमारी नहीं पाया गया। उन्होंने कहा कि बॉर्डर पर तैनात सभी अन्य राज्य से आने वाले व्यक्तियों से पहली मुलाकात होती है इस वजह से सावधानी बरतने के सुझाव दिए। इस दौरान बॉर्डर पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा की जा रही थर्मल स्कैनिंग का जायजा लेते हुए आईजी एवं एसपी ने भी स्वयं के बॉडी टेंपरेचर के थर्मल स्कैनिंग कराई।इस दौरान आईजी ने कहा कि दिन रात एक कर 22 मार्च से पुलिस एवं प्रशासन प्रोटोकॉल का पालन कर रही है। बिना अनुमति किसी को भी उत्तर प्रदेश से नहीं आने दिया जा रहा है। अच्छे कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत किया जा रहा है और आगे भी किया जाएगा।

 

01-04-2020
बिलासपुर कमिश्नर और आईजी ने किया तीन जिलों का किया निरीक्षण, लोगों से अपील

पेंड्रा। प्रदेश में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए शासन प्रशासन पूरी तरह से लगा हुआ है आला अधिकारी दिन रात लोगों को सुरक्षित करने में लगे हुए हैं। बिलासपुर संभाग के कमिश्नर बीएल बंजारे और आईजी दीपांशु काबरा ने बुधवार को 3 जिलों, जिसमें बिलासपुर मुंगेली और गौरेला पेंड्रा मरवाही का दौरा किया। यहां स्थानीय लोगों के साथ बैठक कर स्थिति का जायजा लिया। इसके साथ ही इन सभी अधिकारियों ने मध्यप्रदेश की सीमा में लगी नाकेबंदी और सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। उच्च अधिकारियों ने लोगों से अपील  की, जो जहां है वही रहे, रहने, खाने और दूसरी सुविधाओं के लिए पुलिस प्रशासन लगातार लोगों की सहायता में लगा हुआ है।

 

30-03-2020
VIDEO: संभागायुक्त और आईजी ने ली अधिकारियों की बैठक, जिले में कोरोना वायरस से निपटने तैयारियों का लिया जायजा

रायगढ़। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के साथ-साथ जिले की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बिलासपुर संभाग के आयुक्त और संभाग के पुलिस महानिरीक्षक रायगढ़ पहुंचे। उन्होंने पुलिस अधीक्षक व कलेक्टर के साथ अन्य अधिकारियों की बैठक लेकर स्थिति के बारे में चर्चा की। साथ ही साथ प्रशासनिक अधिकारियों को राज्य शासन से मिले दिशा निर्देशों को अवगत कराते हुए कड़ाई से पालन करने के लिए भी कहा। बैठक के बाद बिलासपुर संभाग के आयुक्त ने बताया कि पूरे संभाग में स्थिति कंट्रोल में है और सभी कलेक्टर को यह निर्देश दिए गए हैं कि इस दौरान गरीबों को मिलने वाले राशन वृद्धा पेंशन के अलावा अन्य सहयोग समय पर मिलें। उन्होंने यह भी कहा कि पूरे संभाग में दवाओं को पर्याप्त स्टाक है। साथ ही साथ जनता तक राहत पहुंचाने के लिए भी प्रशासनिक टीम तैयार है। वहीं बिलासपुर संभाग के आईजी ने भी बताया कि पुलिस विभाग लॉक डाउन का पालन करने के लिए लगातार सजगता से काम कर रही है। उनका कहना है कि विदेशों से आए लोगों की पूरी सूची पुलिस के पास है और इनमें से अगर किसी ने नियमानुसार सूचना संबंधित थाने में नही दी है तो उनके ऊपर एफआईआर दर्ज की जा रही है। उनका कहना था कि पुलिस को वॉलिंटियर की भी बड़ी जरूरत है और जो भी इसमें शामिल होना चाहे उन्हें बकायदा पुलिस के कुछ पावर देकर जिम्मेदारी दी जा सकती है और इसके लिए संबंधित पुलिस अधीक्षकों को भी निर्देश दिए गए हैं।

 

27-03-2020
 नागरिकों से दुर्व्यवहार पर डीजीपी सख्त, कहा - लॉक डाउन पालन में पुलिस मानवीय चेहरा बनाए रखे

रायपुर। डीजीपी डीएम अवस्थी ने सभी आईजी और पुलिस अधीक्षकों को लॉक डाउन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही डीएम अवस्थी ने निर्देश दिए हैं कि लॉक डाउन का पालन कराते समय पुलिस अपना मानवीय चेहरा बनाये रखे। आम नागरिकों के साथ मारपीट, दुर्व्यवहार जैसी घटनायें नहीं होनी चाहिए।  सभी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, नगर पुलिस अधीक्षक और पुलिस अनुविभागीय अधिकारियों को इसके लिये जिम्मेदार माना जायेगा। वे अपने क्षेत्र में लगातार भ्रमण कर पुलिस बल का मनोबल बनाये रखें एवं लॉक डाउन का दृढता से पालन कराएं। डीजीपी ने कहा है कि लॉक डाउन का कुछ जिलों के कस्बों में सख्ती से पालन नहीं कराया जा रहा है। इसके लिए राजपत्रित अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों की ड्यूटी फिक्स पिकेट एवं पेट्रोलिंग आदि में इस प्रकार लगाये कि इस लॉक डाऊन का सख्ती से पालन कराया जा सके। बता दें कि प्रदेश में जरूरत का सामान खरीदने बाहर निकले नागरिकों से दुर्व्यवहार का मामला सामने आया था। वहीं बीते दिन पेट्रोलपंप कर्मी पर बेरहमी से थाना प्रभारी ने लाठी चलाई थी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804