GLIBS
03-10-2018
IND vs WI : वेस्टइंडीज से हारे तो छिन सकती है टेस्ट से भारतीय टीम की बादशाहत

नई दिल्ली। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में 1-4 से करारी हार के बाद भी भारत की बादशाहत बरकरार है। लेकिन टीम इंडिया को इंग्लैंड से मिली हार को भुनाकर नंबर-1 रैंकिंग कायम रखने के लिए वेस्टइंडीज के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना ही होगा। भारतीय टीम को गुरुवार से वेस्टइंडीज के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है जिसे जीतना या ड्रॉ करना टीम के लिए जरूरी होगा क्योंकि अब वे अगर इस बार विफल होते हैं तो टेस्ट में भारत की बादशाहत छिन सकती है। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया-पाकिस्तान सीरीज से ही तय हो सकेगा की टेस्ट में अगली नंबर-1 टीम कौन होगी। हालांकि अगर वेस्टइंडीज भारत से यदि यह सीरीज जीतता भी है तो उसे इसका ज्यादा फायद नहीं मिलेगा। वह 8वें नंबर पर ही काबिज रहेगी।

आईसीसी की ताजा टेस्ट रैंकिंग की बात करें तो भारत 115 अंकों के साथ पहले पायदान पर है। वहीं दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया 106-106 अंकों के साथ संयुक्त रूप से दूसरे-तीसरे नंबर पर हैं। इंग्लैंड 105 अंकों के साथ चौथे, न्यूजीलैंड (102) पांचवें, श्रीलंका  (97) छठे और पाकिस्तान  88 पॉइंट्स के साथ सातवें नंबर पर बना हुआ है। वहीं टेस्ट में वेस्टइंडीज का 8वां स्थान है।

भारत को 2-0 की जीत पर मिलेगा 1 अंक

भारत अगर वेस्टइंडीज के खिलाफ 2-0 से सीरीज जीत लेता है तो उसे एक अंक का फायदा होगा। ऐसा दोनों टीमों के बीच रेटिंग अंक के ज्यादा अंतर के कारण होगा। दूसरी तरफ अगर वेस्टइंडीज 2-0 से सीरीज जीत ले, तो भारत के सिर्फ 108 अंक रह जाएंगे। ऐसे में अगर ऑस्ट्रेलिया भी पाकिस्तान को 2-0 से हरा दे तो वह 109 अंक के साथ टॉप पर पहुंच जाएगा। हालांकि, मौजूदा फॉर्म और रिकॉर्ड के लिहाज से यह असंभव जैसा है कि वेस्टइंडीज की टीम सीरीज में 2-0 से जीत दर्ज करे। 

01-08-2018
Sport : Ind vs Eng: टॉस जीतकर इंग्लैंड ने लिया बल्लेबाजी का फैसला

नई दिल्ली। इंग्लैंड ने बुधवार को टॉस जीतकर भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। यह इंग्लैंड का 1000वां टेस्ट मैच है।

इंग्लैंड के खिलाफ आज से शुरू हो रही पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला में भारतीय टीम विदेश दौरों पर खराब प्रदर्शन का ठप्पा हटाने के इरादे से उतरेगी जबकि मेजबान की नजरें अपनी सरजमीं पर पांच दिनी क्रिकेट में खोया फार्म हासिल करने पर लगी होंगी। इंग्लैंड का यह 1000वां टेस्ट होगा लेकिन दुनिया की नंबर एक भारतीय टीम उसके रंग में भंग डाल सकती है। भारत ने आखिरी बार राहुल द्रविड़ की अगुवाई में 2007 में इंग्लैंड में टेस्ट श्रृंखला जीती थी। विराट कोहली की टीम के लिए उसी सफलता को दोहरा पाना आसान नहीं होगा। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम 2011 और 2014 में क्रमश: 4.0 और 3.1 से हारी। भारत ने इंग्लैंड में 57 में से छह टेस्ट ही जीते हैं।    

दोनों टीमों के लिए यह सीरीज अपने आप को साबित करने के लिए बेहद अहम मानी जा रही है। टेस्ट की शीर्ष दो टीमें आने वाली चुनौती के लिए कमर कस चुकी हैं।

09-07-2018
धोनी का यह कैच पड़ गया मंहगा, 25 लाख का नुकसान

नई दिल्ली। इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज के आखिरी मैच में भारतीय विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी का एक कैच से 25 लाख रुपए का नुकसान हो गया। इंग्लैंड की पारी के दौरान हार्दिक पांड्या के सामने इयोन मोर्गन बल्लेबाजी कर रहे थे। उस दौरान पांड्या की एक गेंद पर मोर्गन ने हवा में शॉट खेल दिया, जिसे धोनी ने लपके और कैच को पकडऩे के लिए एलईडी स्टंप्स तोड़ दिए, जिसकी कीमत लगभग 25 लाख रुपए यानि 40,000 डॉलर थी। 

धोनी अगर मोर्गन का यह कैच ना पकड़ते तो मैच में कई बड़े उलटफेर हो सकते थे। इस मैच में धोनी ने दो वर्ल्ड रिकॉर्ड भी अपने नाम किए। एक तो यह कि अंतरराष्ट्रीय टी-20 क्रिकेट में विकेट के पीछे 5 कैच लेने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया और दूसरा, अंतरराष्ट्रीय टी-20 में 50 कैच पकडऩे वाले दुनिया के पहले विकेटकीपर भी बन गए हैं। धोनी ने डेब्यू मैच खेल रहे तेज गेंदबाज दीपक चाहर की गेंद पर जेसन रॉय को कैच आउट किया और अपने कैचों की फिफ्टी पूरी की। इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टी-20 में पांच कैच पकड़ धोनी ने अपने कैचों की संख्या को 54 तक पहुंचा दी।

भारत ने सीरीज के तीसरे मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। इंग्लैंड की और से रॉय ने 67, बटलर ने 34, एलेक्स हेल्स ने 30 और जॉनी बेयरस्टो ने 25 रन बनाए। निर्धारित 20 ओवरों में टीम ने 9 विकेट गंवा कर 198 रन बनाए। हालांकि लक्ष्य कठिन था, लेकिन रोहित शर्मा ने इसे अपने शानदार शतक से आसान बना दिया और भारत को 8 गेंदें शेष रहते जीत दिला दी। 

09-07-2018
टीम इंडिया का सीरीज पर 2-1 से कब्जा, रोहित शर्मा ने लगाया शानदार शतक

नई दिल्ली। टीम इंडिया ने तीसरे टी-20 मैच में इंग्लैंड के खिलाफ 7 विकेट से जीत दर्ज की। रोहित शर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ 56 गेंदों पर नाबाद 100 रनों की शानदार पारी में 11 चौके और 5 छक्के लगाए। इस पारी के लिए रोहित शर्मा को 'मैन ऑफ द मैच' और सीरीज में 137 रन बनाने के लिए 'मैन ऑफ द सीरीज' भी चुना गया।  इस जीत से भारत ने तीन मैचों की सीरीज पर 2-1 से कब्जा भी कर लिया। इस पारी की बदौलत रोहित टी-20 में 3 शतक लगाने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। विश्व क्रिकेट में न्यूजीलैंड के कॉलिन मुनरो के नाम ही 3 टी-20 शतक हैं, रोहित ये कमाल करने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं।

टी-20 क्रिकेट में रनों के मामले में रोहित टॉप-5 बल्लेबाजों में शामिल हैं और उनके नाम 2086 रन दर्ज है। हालांकि कप्तान विराट कोहली टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय हैं और उनके खाते में 2102 रन हैं। इस लिस्ट में न्यूजीलैंड के मार्टिन गप्टिल 2271 रनों के साथ शीर्ष पर काबिज हैं।

ब्रिस्टल में खेले गए तीन मैचों की टी-20 सीरीज के आखिरी और निर्णायक मुकाबले में 7 विकेट से मात देकर टी-20 इंटरनेशनल में लगातार छठी सीरीज पर कब्जा किया है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम ने 20 ओवर में 9 विकेट गंवा कर 198 रन बनाए और भारत के सामने सीरीज और मैच जीत के लिए 199 रनों का लक्ष्य रखा। जवाब में टीम इंडिया ने 18.4 ओवर में 3 विकेट गंवा कर 201 रन बना लिए और मैच के साथ-साथ सीरीज पर भी कब्जा कर लिया।


 

08-07-2018
फीफा वर्ल्ड कप: रूस को 4-3 से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा क्रोएशिया

नई दिल्ली। रूस के फिश्ट स्टेडियम में देर रात खेले गए क्वार्टर फाइनल में क्रोएशिया ने पेनल्टी शूटआउट तक गए फीफा वर्ल्ड कप के रोमांचक मैच में मेजबान रूस को 4-3 (2-2) में हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है। सेमीफाइनल में क्रोएशिया का मुकाबला बुधवार को इंग्लैंड से होगा।

निर्धारित समय तक स्कोर 1-1 रहा और अतिरिक्त समय में भी दोनों टीमों ने एक-एक गोल किया। जिसके बाद विजेता का फैसला पेनाल्टी शूटआउट द्वारा किया गया। पेनाल्टी शूटआउट में क्रोएशिया के चार  खिलाड़ियों  ने गोल दागे जबकि रूस के तीन खिलाड़ी ही गोल कर पाए। गौरतलब है कि इस वर्ल्ड कप में जिस टीम ने भी पहले पेनाल्टी शूटआउट लिया वो टीम हार गई है। 

शूटआउट से पहले क्रोएशिया के लिए एंद्रेज करामारिक (39वें मिनट) और डोमागोज विदा (101 मिनट) ने गोल किया। जबकि रूस के लिए डेनिस चेरीशेव (31वें मिनट) और मारियो फनार्डेज (115वें मिनट) ने गोल किया। क्रोएशिया ने अपने प्रदर्शन से सभी को चौंका दिया है। क्रोएशिया ग्रुप चरण में तीन मैचों में तीन जीत के साथ नौ अंक लेकर अंतिम-16 में पहुंचा था जहां उसने डेनमार्क को पेनाल्टी शूटआउट में 3-2 (1-1) से हराकर क्वार्टर फाइनल में आया था। 20 साल बाद एक बार फिर उसकी कोशिश अंतिम-4 में पहुंचने में कामयाब रही। क्रोएशिया 1998 में पहली बार वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंची थी ।

06-07-2018
टी-20: इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा मैच जीतकर सीरीज पर कब्जा करने उतरेगी टीम इंडिया

नई दिल्ली। टी-20 के पहले मैच में इंग्लैंड से शानदार जीत हासिल करने वाली टीम इंडिया अब दूसरे मैच में भी इंग्लैंड को धूल चटाकर सीरीज अपने नाम करने के उद्देश्य से मैदान पर उतरेगी। पहले मैच में एल राहुल ने नाबाद शतक लगाया था और कुलदीप यादव ने 24 रन देकर पांच विकेट लिये थे। भारत ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए मेजबान को आठ विकेट से हराकर सीरीज में बढ़त बनाई थी। टीम इंडिया टी-20 का दूसरा मैच भी जीतने की ताक में है। भारतीय टीम टी-20 क्रिकेट में लगातार छठी श्रृंखला जीतने की दहलीज पर है । इस सिलसिले का शुरूआत नवंबर 2017 में न्यूजीलैंड पर घरेलू श्रृंखला में मिली जीत के साथ हुआ था । 

भारत अगर श्रृंखला 2 -0 से जीतता है तो आईसीसी रैंकिंग में दूसरे स्थान पर कब्जा किए हुए आस्ट्रेलिया से अंतर कम हो जायेगा जबकि 3 -0 से जीतने पर वह पाकिस्तान के बाद दूसरे स्थान पर आ जायेगा । दूसरी ओर भारत को ऐसा करने से रोकने के लिये आस्ट्रेलिया को जिम्बाब्वे में चल रही मौजूदा त्रिकोणीय श्रृंखला के अगले दो मैचों में जीत दर्ज करनी होगी । दूसरी ओर इंग्लैंड अगर हारता है तो न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के बाद सातवें स्थान पर आ जाएगा । इंग्लैंड ने पिछले 10 टी-20 मैचों में से पांच ही जीते हैं । इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए सबसे बड़ी चिंता कुलदीप यादव की गेंदबाजी होगी । पहले मैच में हार के बाद कप्तान इयोन मोर्गन और बल्लेबाज जोस बटलर ने अपने खिलाडियों से क्रीज पर संयम बरतने और गेंद को सावधानी से देखने की अपील की थी ।  

04-07-2018
फीफी विश्व कप: कोलंबिया को हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचा इंग्लैंड

नई दिल्ली। मंगलवार रात स्पार्टक स्टेडियम में खेले गए प्री-क्वार्टर फाइनल के आखिरी मैच में इंग्लैंड ने कोलंबिया को पेनाल्टी शूट आउट में 4-3 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। गोलकीपर पिकफोर्ड ने पेनाल्टी शूटआउट को टीम को बचाया और जीत दिला दी। 

इंग्लैंड के कप्तान हैरी कैन ने 58वें मिनट में पेनाल्टी पर ही गोल कर इंग्लैंड को 1-0 से आगे कर दिया था। ऐसा लग रहा था कि इंग्लैंड इसी स्कोर से जीत हासिल कर लेगा, लेकिन 93वें मिनट में येरी मीना ने गोल कर कोलंबिया को बराबरी पर ला दिया। यहां से मैच अतिरिक्त समय में गया और 30 मिनट के अतिरिक्त समय में दोनों टीमें गोल नहीं कर पाईं। जिसके बाद मैच पेनाल्टी शूट आउट में गया जहां इंग्लैंड ने बाजी मारते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली।

इंग्लैंड के लिए कैन, मार्कस रैशफोर्ड, केरन त्रिपेइर और एरिक डायर ने पेनाल्टी शूटआउट में गोल किए जबकि जोर्डन हेंडरसन ने पेनाल्टी मिस की। वहीं, कोलंबिया के लिए रादेमाल फाल्को, जुयान कआड्राडो, लुइस मुरिएल ने पेनाल्टी को गोल में तब्दील किया।

इस मैच के हीरो इंग्लैंड के गोलकीपर जोर्डन पिकफोर्ड रहे जिन्होंने कार्लोस बारका के शॉट को रोक उसे जीत दिलाई। हालांकि बारका से पहले माटेयुस यूरिबे गेंद को बार पर मार बैठ कोलंबिया के लिए एक मौका गंवा चुके थे।

क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड का सामना स्वीडन से होगा जिसने मंगलवार को ही स्विट्जरलैंड को 1-0 से मात देकर 1994 के बाद पहली बार अंतिम-8 में कदम रखा है।
 

29-06-2018
वनडे में दो गेंदें गेंदबाजों के लिए मददगार: ब्रेट ली

नई दिल्ली। तेंदुलकर ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा वनडे में दो गेंदों के इस्तेमाल के नियम को इस प्रारूप को बिगाडऩे की सही पहल करार दिया था। इस पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने विपरीत प्रतिक्रिया देते हुए कहा, मुझे नहीं लगता कि वनडे में एक या दो गेंदों के इस्तेमाल से कोई मुद्दा खड़ा हो सकता है। दो नई गेंदों का होना वनडे प्रारूप में गेंदबाजों को मदद दे सकता है। ली का मानना है कि 50 ओवरों वाले प्रारूप में दो गेंदों का इस्तेमाल बड़ा मुद्दा नहीं है। 

ली ने यह भी कहा कि वह वनडे क्रिकेट को वापस उसी स्थिति में देखना चाहते हैं, जब 250 से 280 के स्कोर को प्रतिस्पर्धी स्कोर माना जाता था। उल्लेखनीय है कि इस माह की शुरुआत में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे मैच में छह विकेट के नुकसान पर 481 रन बनाए थे। इस कारण भारतीय क्रिकेट के दिग्गजों में शुमार सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली से नकारात्मक प्रतिक्रियाएं भी मिली थीं। ली कहते हैं कि दो गेंदों के इस्तेमाल का फायदा यह है कि ये रिवर्स स्विंग में परेशानी खड़ी नहीं करेंगी और यह आज के समय में गेंदबाजों के लिए बेहद ही अहम उपकरण है । बस यह जरूरी है कि पिच पर पर्याप्त रूप में घास होनी चाहिए।
 

27-06-2018
क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल करने की बढ़ी मांग

नई दिल्ली। वैश्विक  क्रिकेट संस्था अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के द्वारा की गई एक रिसर्च के अनुसार दुनियाभर में क्रिकेट को पसंद करने वालों की संख्या 100 करोड़ से ज्यादा हो चुकी है। भारतीय उपमहाद्वीप में 90 फीसदी लोग मौजूद हैं।
रिसर्च के नतीजों के अनुसार प्रशंसकों की औसत आयु (16 से 69 की उम्र वर्ग में) 34 साल है जिसमें से 61 प्रतिशत पुरुष और केवल 39 फीसदी महिलाएं हैं। आईसीसी ने यह शोध यह समझने के लिये कराया है कि क्रिकेट का विकास किस तरह हो रहा है जिससे उसे विकास के लिये आगे की रणनीति पर काम करने में मदद मिलेगी।
इसके मुताबिक 70 प्रतिशत के करीब प्रशंसक टेस्ट क्रिकेट में दिलचस्पी लेते हैं और इसमें सबसे ज्यादा रूचि इंग्लैंड एवं वेल्स के प्रशंसकों की है और 86 प्रतिशत इस लंबे प्रारूप के मुरीद हैं. वहीं वनडे क्रिकेट को पसंद करने वालों की तादाद दक्षिण अफ्रीका में सबसे ज्यादा 91 फीसदी है जबकि पाकिस्तान में 98 प्रतिशत लोग टी 20 अंतरराष्ट्रीय में ज्यादा दिलचस्पी लेते हैं।
वैश्विक स्तर पर टी-20 अंतरराष्ट्रीय सबसे ज्यादा लोकप्रिय है जिसे 92 प्रतिशत प्रशंसकों द्वारा पसंद किया जाता है जबकि इसके बाद वनडे का नंबर आता है जिसमें 88 फीसदी लोगों ने रूचि दिखाई है। करीब 87 फीसदी लोगों का चाहना है कि टी-20 फॉर्मेट को ओलंपिक में शामिल किया जाए ।

24-06-2018
81 दिनों के लंबे दौरे पर इंग्लैंड पहुंची टीम इंडिया
इंग्लैंड के खिलाफ भारत को खेलनी है 5 टेस्ट मैचों की सीरीज 
Advertise, Call Now - +91 76111 07804