GLIBS
26-03-2020
परिवार के साथ वक्‍त बिताने से दूर होगा मानसिक तनाव : डॉ. परिहार

 रायपुर। देशभर में लॉकडाउन होने के बाद लोग अपने ही घरों में बंद हैं। यह सब कोरोना वायरस को रोकने के लिए तीन सप्‍ताह तक सामाजिक दूरी बनाने देश की जनता से प्रधानमंत्री की अपील है। आज कीभाग दौड़ भरी जिंदगी में अचानक सामाजिक दूरी बनाए रखने और घरों से बाहर निकलने पर प्रतिबंध लगने से लोग असहज महसूस करने लगे हैं। घर में खुशनुमा माहौल बनाए रखने को लेकर मनोरोग चिकित्‍सक डॉ. डीएस परिहार का कहना है कि ये वक्‍त बहुत कीमती है और यह परिवार में आपसी दूरियां मिटाने का सुनहरा मौका है। हम अपने रिश्‍तेदारों से हाथ भले ही न मिलाएं लेकिन मोबाइल फोन पर बातचीत कर दिलों की दूरियां खत्‍म कर अपने संबंधों को मजबूत और भरोसे के लायक बना सकते हैं। डॉ परिहार कहते हैं मानसिक तौर पर तनाव के दबाव को खत्‍म करने के लिए अपने परिवार के साथ 24 घंटे बिताने का यह पल हम जिंदगीभर के लिए अनोखा बना सकते हैं। अक्‍सर नौकरी पेशा करने वाले लोग अपनी ऑफिस के काम के बोझ सुबह से लेकर देर रात तक जुझते रहते हैं। ऐसे में समय अपने परिवार मां-पिता, पत्‍नी और बच्‍चों को पूरा वक्‍त देकर तनाव को दूर कर सकते हैं।
 लॉकडाउन के दौरान आज राजधानी रायपुर के आरडीए कालोनी में एक परिवार के सदस्‍यों से फ़ोन पर लम्बी बातकर हालचाल जानने की कोशिश की और पूछा वह समय कैसे बिता रहे हैं। पेशे से एक बीमा कंपनी में चीफ एजेंसी पार्टनर के रुप में कार्यरत निलेश कुमार साहू ने बतायालॉकडाउन होने से घर पर ही रहकर मोबाइल कॉनटेक्‍ट के जरिए लोगों से पॉलिसी के बारे में जानकारी दे रहे हैं। निलेश बताते हैं बीमा के क्षेत्र में चुनौतियों काफी होने से 12 घंटे हर दिन फिल्‍ड वर्क करना पड़ता है। ऐसे में परिवार के लिए समय हीं नहीं बचता है। सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक घर से बाहर हर दिन 8 से 10 लोगों से मुलाकात करना हार्ड वर्क से भरी उनकी दिनचर्चा में मानसिक तनाव भी शामिल था। लेकिन आज परिवार कें साथ बैठ कर बच्‍चों की पढाई व कैरियर के बारे में बीतचीत कर टीवी देखते हुए आराम से समय कट रहा है। निलेश की पत्‍नी ललिता साहू बताती हैं। ऑफिस और बच्‍चों का स्‍कूल छुट्टी होने पर सुबह उठकर टीफिन फिर नास्‍ता बनाने से राहत मिली है। बच्‍चों के साथ हंसी मजाक में वक्‍त आसानी से गुजर रहा है। निलेश के बेटी अंकिता कक्षा 8 वीं में पढाई करती हैं। अंकिता कहती है लॉकडाउन से उनको जनरल प्रमोशन मिल गया इससे वे काफी खुश है। इतना ही नहीं अब पापा घर पर ही रहते हैं तो इसमें मजा आ रहा है। पहले पापा से बात करने का मौका ही नहीं मिलता था। सुबह 7 बजे से स्‍कूल जाने के बाद दोपहर में घर और ट़्यूशन में समय गुजर जाता था। लेकिन अब पूरा समय घर में भाई के साथ मस्‍ती व किताबें पढकर लॉकडाउन में खूब आनंद ले रही हूं। और पापा के घर में होने से मम्‍मी की डांट भी नहीं खानी पड़ती है। ऐसे लग रहा है माने हर दिन संडे हो गया है।
 
क्यों है महत्वपूर्ण समाजिक दूरी -
 
स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के परिवार कल्‍याण शाखा व होम आइशोलेशन के प्रभारी उप संचालक डॉ. अखिलेश त्रिपाठी कहते हैं संकट के इस घड़ी में देश के आम नागरिकों का साथ होना जरुरी है। कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए दूसरे स्‍टेप पर ही हमारी तैयारी होने से वायरस के वाहक लोगों से बचा जा सकता है। इस समय हमें सामाजिक दूरी बनाने पर गंभीरता से काम करना चाहिए। उन्होंने यह भी बताया यह समय काफी महत्वपूर्ण है। यह कोराना वायरस के प्रसार को रोकने अथवा कम करने की रणनीति का हिस्सा है। यह सभी पर लागू होता है, चाहे उसमें किसी तरह का लक्षण हो या नहीं हो। इसमें यह बात भी मायने नहीं रखती वह उच्च जोखिम वाले वर्ग (बुजुर्ग अथवा बीमार) का हिस्सा है या नहीं। हमें अपने रहन-सहन में बदलाव करने की जरूरत है। अगर हमें इसके सकारात्मक नतीजे पाने हैं तो पूरी सख्ती से इसका पालन करना होगा। डॉ.त्रिपाठी बताते हैं खरीदारी करने के लिए ऐसे समय निकलें जब भीड़ कम होती है। आप ऑनलाइन या फोन पर भी चीजें मंगा सकते हैं। दूसरों से छह फुट की दूरी बनाकर रखें।दुकानों में मास्‍क लगाकर जाएं और कम से एक मीटर की दूरी बनाए रखें।बच्चों को खेलने के लिए बाहर न जाने दें। 21 दिन तक भीड़भाड़ वाली सार्वजनिक जगहों पर न जाएं।जिन चीजों को घर के सदस्य बारबार छूते हैं, उन्हें साबुन और पानी ने नियमित रूप से साफ करते रहें। अगर सफाई करने ब्लीच का इस्तेमाल कर सकते हैं तो वो भी ठीक रहेगी। अपने मोबाइल फोन को किसी कपड़े या रुई से किसी भी अल्कोहल वाले किटाणुनाशक से साफ किया जा सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस से बचने के लिए स्वच्छता को काफी अहम बताया है और लोगों से सफाई पर ध्यान देने की अपील की है।

25-03-2020
घर पहुंच सेवा देने निगम को चाहिए वार्ड वालिंटियर

दुर्ग। दुर्ग कमिश्नर इंद्रजीत बर्मन ने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए राज्य शासन के निर्देश अनुसार नगर पालिक निगम दुर्ग द्वारा शहर के आम नागरिकों को उनकी दैनिक सामग्रियों की पूर्ति करने घर पहुंच सेवा उपलब्ध कराने वार्ड वॉलिंटियर नियुक्त करेगी। निगम सीमा क्षेत्र के ऐसे इच्छुक नागरिक जो पैसा लेकर सामान घर पहुंचाने के कार्य का इच्छुक हैं। ऐसे लोगों को वॉलिंटियर्स नियुक्त किया जाएगा। बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के लिए भारत सरकार द्वारा लाकडाउन कर दिया गया है। इसमें जरूरी चीजों की उपलब्धता के लिए दुकानों व्यवसाय को चिन्हित किया गया है। परंतु वायरस के संक्रमण रोकने भीड़-भाड़ की स्थिति निर्मित ना हो इसे देखते हुए राज्य शासन के निर्देश पर नगर पालिक निगम दुर्ग द्वारा वार्ड वॉलिंटियर्स नियुक्त किया जा रहा है । 

इस संबंध में निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन कहा कि नगर पालिक निगम दुर्ग सीमा क्षेत्र में वॉलिंटियर्स बनने वाले इच्छुक सदस्यों से अपील की जाती है कि प्रत्येक वार्ड में दैनिक आवश्यकताएं की सामग्री घर-घर पहुंचाया जाना है। अत: इच्छुक नागरिक अपना नाम पता वार्ड क्रमांक मोबाइल नंबर तथा पासपोर्ट साइज की एक फोटो भूपेंद्र गोईर (शुभम) निजी सहायक आयुक्त के मोबाइल नंबर 77240 10333 के वाट्सएप पर भेज सकते हैं। संबंधित नियुक्त वॉलिंटियर्स को निगम से आईडी कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा। इसका उद्देश्य बाजार से सब्जी मार्केट,मेडिकल स्टोर,किराना स्टोर,दूध डेयरी आदि अन्य आवश्यक सामग्री मिलती हो वहां अनावश्यक भीड़ ना हो। क्योंकि नोवल कोरोना वायरस का संक्रमण भीड़-भाड़ वाली जगहों पर होने की अधिक संभावना रहती है। इस आशय से बचाव कार्य हेतु वॉलिंटियर्स का कार्य वार्ड के नागरिकों से सामग्री की सूची लेकर किराना सामान, अनाज, दवाई, दूध, सब्जी, फल आदि आवश्यक सामग्री की आपूर्ति करना है। उन्होंने कहा एक वार्ड में तीन वॉलिंटियर्स नियुक्त किया जाएगा। सभी वॉलिंटियर्स को आई कार्ड जारी किया जाएगा। आई कार्ड के साथ ही वॉलिंटियर्स नागरिकों से संपर्क कर उनसे सूची प्राप्त करेंगे और वे उनके सामान घर तक पहुंचाएंगे। अगर यह स्कीम लोगों को पसंद आई तो निगम के इस कदम के सभी सराहना करेंगे।

08-02-2020
फीडबैक देने रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने विश्वविद्यालयों को लिखा पत्र

रायपुर। केंद्रीय आवासन एवं शहरी विकास मंत्रालय भारत सरकार के निर्देश पर स्मार्ट सिटी रायपुर में सुविधाओं, सेवाओं के संबंध में आम नागरिकों का फीडबैक लेने स्वयंसेवी और सामाजिक संस्थाएं लगातार आगे आ रही है। शासकीय व गैर शासकीय संस्थाओं व संगठनों के अलावा शैक्षणिक परिसर तक इस सर्वेक्षण को पहुंचाने रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने सभी विश्वविद्यालय के कुलसचिवों व शासकीय विभागों को भी पत्र लिखा है। इस संबंध में नगर निगम के सभी जोन कार्यालयों को भी विस्तृत दिशा निर्देश दिए गए हैं। स्मार्ट सिटी रायपुर की ओर से प्रेषित पत्र में कहा गया है कि रायपुर में स्थित विश्वविद्यालय और उनके अधीनस्थ कॉलेज परिसर में पदस्थ उनके स्टाफ सहित युवाओं को इस महत्वपूर्ण सर्वेक्षण में फीडबैक देने के लिए प्रेरित किया जाए। इस महत्वपूर्ण सर्वेक्षण में अपना फीडबैक देने के लिए  Eol2019.org/citizenfeedback लिंक पर जाकर कोई भी नागरिक अपना फीडबैक दे सकता है। इसके अलावा रायपुर स्मार्ट सिटी सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, शहर में लगे होर्डिंग, बैनर, पोस्टर, स्टीकर आदि में सर्वेक्षण के प्रचार-प्रसार के लिए लगे चित्र में प्रदर्शित क्यूआर कोड को स्कैन कर इस लिंक पर सीधे जाकर अपना फीडबैक दे सकते हैं। 

11-01-2020
31वा राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का हुआ शुभारंभ, नुक्कड़ नाटक व पोस्टर, माडल बनाकर किया गया जागरूक

बेमेतरा। आम नागरिकों में यातायात एवं सड़क सुरक्षा संबंधित जागरूकता लाने के लिए जिला बेमेतरा में शनिवार 11 जनवरी से 17 जनवरी तक एक सप्ताह का 31वॉ राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह बेसिक स्कुल मैदान में पुलिस अधीक्षक प्रशांत सिंह ठाकुर एवं अपर कलेक्टर संजय दीवान के द्वारा समाजसेवी व अधिकारी, कर्मचारी एवं स्कुली बच्चो तथा नागरिको की उपस्थिति में मॉ सरस्वती की पुजा अर्चना व दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में ज्ञानोदय पब्लिक स्कुल, इंडियन पब्लिक स्कुल के बच्चो के द्वारा नुक्कड नाटक के माध्यम से यातायात नियमों का पालन करने तथा शराब पीकर वाहन न चलाने, दुपहिया वाहन चालको को हेलमेट धारण करने के संबंध में प्रदर्शन किया गया। स्कुली बच्चो द्वारा यातायात के संबंध में जागरूकता लाने गांधी भवन में पोस्टर एवं माडल बनाकर प्रदर्शित किया गया। पुलिस अधीक्षक प्रशांत सिंह ठाकुर ने अपने उदबोधन में यातायात के नियमो व यातायात के सांकेतिक चिन्हो से सड़क दुर्घटनाओ से बचने के तरीके बताये गये एवं बच्चो को बिना लायसेंस वाहन न चलाने, दोपहिया वाहन में तीन सवारी ना बैठने, दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट पहन कर वाहन चलाने, वाहन चलाते समय मोबाईल फोन का उपयोग ना करने, साथ ही यातायात के नियमों का हमेशा पालन किये जाने एवं सभी को हेलमेट पहनने के लिए प्रोत्साहित किया।

अपर कलेक्टर संजय दीवान, अति. पुलिस अधीक्षक विमल कुमार बैस, एसडीओपी बेमेतरा राजीव शर्मा, जिला स्वास्थ अधिकारी सतीश शर्मा ने यातायात के नियमो की विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि यातायात सड़क संकेत तथा वाहन चलाते समय हेलमेट लगाना आवश्यक है व किसी भी वाहन को चलाने के लिए उस वाहन का रजिस्ट्रेशन कार्ड, इन्श्योरेंस एवं स्वयं का ड्राइविंग लाइसेंस होना कितना आवश्यक है तथा इन सब में से एक के भी अभाव में कितना ज्यादा नुकसान हो सकता है। पुलिस अधीक्षक प्रशांत सिंह ठाकुर के द्वारा नगर निरीक्षक राजेश मिश्रा, यातायात प्रभारी उप निरीक्षक प्रकाश तिवारी एवं सुबेदार संजय सुर्यवंशी, उप निरीक्षक रंजीत प्रताप सिंह के नेतृत्व में अधि.,कर्म. का मोटर सायकल हेलमेट रैली को हरी झंडी दिखाकर नगर भ्रमण के लिए रवाना किया गया। कार्यक्रम का संचालन थाना बेमेतरा के सउनि राजेश ठाकुर के द्वारा किया गया। उक्त कार्यक्रम में एसडीओ (पीडब्लूडी) साय, शिक्षा विभाग के अधिकारी तथा समाजसेवी जगजीत सिंह, थाना एवं ज्ञानोदय पब्लिक स्कुल, इंडियन पब्लिक स्कुल, सिंघौरी हाई स्कुल, सरस्वती शिशु मंदिर, राठी हायर सेकंड्री स्कुल, शासकीय कन्या महाविद्यालय बेमेतरा के छात्र-छात्राएं व शिक्षकगण तथा यातायात, पुलिस लाईन, थाना बेमेतरा के स्टाफ सहित शहर के नागरिकगण उपस्थित थे।

 

06-01-2020
सुविधा: पुलिस थानों में रिपोर्ट नहीं लिखने पर अब कर सकेंगे डीजीपी से सीधी शिकायत

रायपुर। प्रदेश के आम नागरिकों को पुलिस से होने वाली परेशानियों, पुलिस थानों में उनके द्वारा प्रस्तुत शिकायतों-रिपोर्ट पर त्वरित कार्यवाही न करने और थानों में रिपोर्ट करने जाने पर उनके साथ पुलिस कर्मचारियों द्वारा दुर्व्यवहार करने अथवा अनावश्यक विलंब करने एवं पुलिस कार्यवाही से असंतुष्ट होने पर राज्य का कोई भी व्यक्ति पुलिस महानिदेशक के समक्ष उपस्थित होकर सीधे आवेदन प्रस्तुत कर सकता है। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी द्वारा आवेदकों द्वारा प्रस्तुत शिकायत पर त्वरित कार्यवाही के लिए पुलिस महानिदेशक कार्यालय में शिकायत विरूद्ध पुलिस सेल जो पूर्व से संचालित है, इसके प्रभारी अधिकारी राजेश अग्रवाल सहायक पुलिस महानिरीक्षक अपराध अनुसंधान विभाग, पुलिस मुख्यालय रायपुर को नियुक्त किया गया है। आवेदकों द्वारा उपस्थित होकर प्रस्तुत समस्त आवेदनों पर इनके द्वारा विधिवत त्वरित कार्यवाही कराई जाएगी।

07-11-2019
 संविधान दिवस 26 नवंबर और समरसता दिवस 14 अप्रैल को होंगे विशेेष कार्यक्रम

रायपुर। मुख्य सचिव आरपी मंडल की अध्यक्षता में गुरुवार को मंत्रालय महानदी भवन में सामान्य प्रशासन विभाग की बैठक आयोजित की गई। बैठक में संविधान दिवस और समरसता दिवस के आयोजन के संबंध में कार्यक्रमों के निर्धारण एवं जरूरी तैयारियों के संबंध में चर्चा किया गया। संविधान दिवस का आयोजन 26 नवम्बर को मनाया जाना है और समरसता दिवस बाबा साहेब अम्बेडकर की जयंती 14 अप्रैल 2020 को मनाई जाएगी। मंडल ने भारतीय संविधान के प्रमुख आधारभूत तथ्यों के प्रति जागरूकता लाने, अभियान के रूप में 26 नवम्बर 2019 से 14 अप्रैल 2020 तक विभिन्न कार्यक्रम करने के निर्देश दिए है। इसके तहत विधानसभा के शीतकालीन सत्र में संविधान दिवस 26 नवम्बर के अवसर पर विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। राज्य के समस्त ग्राम पंचायतों और शहरी क्षेत्रों में विशेष सभा का आयोजन किया जाएगा और भारत के संविधान के सम्मान में शपथ ली जाएगी। 26 नवम्बर से 14 अप्रैल तक की अवधि में राज्य के समस्त विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में प्रतिदिन एक-एक मूल कर्त्तव्य और मूल अधिकारों की जानकारी दी जाएगी और उनसे संबंधित चर्चा का आयोजन किया जाएगा। साथ ही विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से भारत के संविधान को जानने-समझने का अवसर विद्यार्थियों और आम नागरिकों को उपलब्ध कराया जाए। समरसता दिवस 14 अप्रैल 2020 को राज्य स्तर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। मुख्य सचिव ने भारतीय संविधान के गरिमा के अनुरूप कार्यक्रमों के रूपरेखा का निर्धारण और उससे जुड़ी तैयारियों के क्रियान्वयन के निर्देश दिए है।
उल्लेखनीय है कि भारत में हर साल 26 नवम्बर को संविधान दिवस मनाया जाता है। संविधान सभा द्वारा भारत देश के संविधान को 26 नवम्बर 1949 को स्वीकार किया गया था। भारत देश में 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू हुआ था। भारतीय संविधान के जनक डॉ.भीमराव अम्बेडकर की जन्म तिथि 14 अप्रैल को सामाजिक समरसता दिवस के रूप में मनाया जाता है। बैठक में प्रमुख सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास सुब्रत साहू, सचिव संसदीय कार्य सोनमणी बोरा, सचिव खेल एवं युवा कल्याण सिद्धार्थ कोमल परदेशी, सचिव आदिम जाति कल्याण विभाग डीडी सिंह, सचिव विधानसभा चंद्रशेखर गंगराड़े, सीईओ चिप्स देवसेनापति, संचालक स्कूल शिक्षा  एस.प्रकाश सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

16-06-2019
अर्जुनी पुलिस ने आमदी शराब भट्ठी के पास के अवैध खोमचे को हटाया 

धमतरी।  प्रदेश के आम नागरिकों को अपराधों के प्रति जागरूक करने और अपराध के प्रति सजग रहने के उद्देश्य से पुलिस विभाग द्वारा सभी जिलों में 'अंजोर रथ' चलाया जा रहा है कि इसी तारतम्य में  पिछले दिनों  ग्राम आमदी में 'अंजोर रथ' पहुंचा था। यहां लोगों द्वारा प्राप्त शिकायतों का मौके पर ही निराकरण किया गया। इसी क्रम में लोगों ने शराब दुकान के पास अवैध रूप से संचालित खोमचों से आने-जाने वाले लोगों व महिलाओं को होने वाली परेशानियों से अवगत कराया गया था, जिस पर कार्रवाई करते  हुए आज  थाना प्रभारी अर्जुनी प्रणाली वैद्य, उप निरीक्षक रमेश साहू ,सउनि. संतोष साहू एवं  स्टाफ  द्वारा तथा आमदी की शराब भट्ठी जाकर अवैध रूप से बने खोमचे को तत्काल हटाया गया और संचालकों को हिदायत दी गई कि भविष्य में अवैध रूप से खोमचा संचालन किया तो उनपर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।  

Advertise, Call Now - +91 76111 07804