GLIBS
27-06-2020
जल संसाधन विभाग सिंचाई योजना का उपयोग कर रही दुधारू गाय की तरह : बसंत ताटी

बीजापुर। जिला पंचायत सदस्य एवं कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता बसंत राव ताटी ने जल संसाधन विभाग पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि विगत 15 वर्षों से पानी की तरह पैसा बहाने के बावजूद भी एक बूंद पानी किसानों के खेतों तक नहीं पहुंच सका। ताटी ने कहा की नवगठित छत्तीसगढ़ राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी के शासनकाल में क्षेत्र के किसानों को पर्याप्त सिंचाई सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से भोपालपटनम तहसील के अंतर्गत ग्राम अर्जुनल्ली में उदवहन सिंचाई योजना की स्वीकृति दिए जाने के उपरांत बीजापुर विधानसभा के तत्कालीन विधायक स्व. राजेंद्र पामभोई के द्वारा इस योजना की नींव रखते ही क्षेत्र के किसानों के चेहरों पर खुशी की लहर देखी गई थी। अब 15 वर्ष बीत जाने के बावजूद भी उक्त सिंचाई योजना का लाभ न मिल पाने की चिंता किसानों को सताने लगी है। जिला पंचायत सदस्य ताटी ने कहा कि जिस उद्देश्य को लेकर ग्राम अर्जुनल्ली में उदवहन सिंचाई योजना की शुरुआत की गई थी अब वह भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है।

ताटी का कहना है कि जल संसाधन विभाग इस योजना का उपयोग दुधारू गाय की तरह कर रही है संबंधित विभाग द्वारा प्रारंभ से लेकर आज पर्यंत तक इस योजना में करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद भी किसानों के खेतों को एक बूंद तक पानी नसीब नहीं हुआ है यह भी जांच का विषय है। जिला पंचायत सदस्य ने एक जानकारी के तहत कहा कि बीजापुर जिला में पर्याप्त सिंचाई स्रोतों की कमी के चलते यहां के किसान मात्र बरसात के पानी पर निर्भर होने की वजह से अपने खेतों में एक फसल की पैदावार ही करते है। जिससे क्षेत्र के कृषि मजदूरों को पर्याप्त रोजगार नहीं मिल पाता वहीं पड़ोसी राज्य तेलंगाना में पर्याप्त सिंचाई सुविधाओं के चलते किसान हमेशा अपने खेतों में विभिन्न प्रकार के फसलों की पैदावार करते हैं। जिस कारण तेलंगाना राज्य में कृषि कार्य के लिए मजदूरों की कमी बनी रहती है। यही वजह है कि बीजापुर जिला से सैकड़ों श्रमिक प्रतिवर्ष काम की तलाश में पड़ोसी राज्य तेलंगाना की ओर रुख करते हैं।

ताटी ने आगे कहा की विगत दिनों क्षेत्र प्रवास पर पहुंचे बीजापुर विधानसभा के ऊर्जावान विधायक विक्रम शाह मंडावी ने भी ग्राम अर्जुनल्ली पहुंच कर इस उदवहन सिंचाई योजना से संबंधित निर्माण कार्य को करीबी से देखते हुए किसानों के मंशानुरूप इस योजना को जल्द से जल्द पूरा कराने का आश्वासन दिया। इसके पश्चात पिछले दिनों भोपालपटनम प्रवास पर पहुंचे बीजापुर जिला के नव पदस्थ युवा कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने भी ग्राम अर्जुनल्ली पहुंच कर इस उदवहन सिंचाई योजना को अतिशीघ्र पूरा करने के दिशा निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिया है। ताटी ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक एवं जिला कलेक्टर के निरीक्षण के पश्चात अब क्षेत्रीय किसानों ने यह उम्मीद जताया है की क्षेत्रीय विधायक एवं जिला कलेक्टर की पहल पर अब उक्त उदवहन सिंचाई योजना का लाभ किसानों को मिलेगा।

24-06-2020
कोरोना से बचाव में एहतियात नहीं बरतने पर व्यापारी के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध

राजनांदगांव। कोरोना से बचाव के लिए एहतियात नहीं बरतने पर एक व्यापारी के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई की है। दरअसल गंज लाइन का एक व्यापारी,जिसकी दुकान में लखोली का मृत कोरोना संक्रमित काम करता था के द्वारा सुरक्षा मानकों का पालन नहीं किया गया। व्यापारी को संक्रमण फैलाने के आरोप में मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी के प्रतिवेदन के आधार पर थाना कोतवाली में धारा 188,269 व 270 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है।

19-06-2020
अधिकारी पर विभाग की महिला ने लगाएं आरोप, थाने में की शिकायत

कांकेर। वन परिक्षेत्र अधिकारी पर वन विभाग की एक महिलाकर्मी ने आरोप लगाए है। महिला ने अजाक थाना में इसकी लिखित शिकायत की है। इसके बाद पुलिस जांच में जुटी है।शिकायत के अनुसार पीड़ित महिला ने अधिकारी पर कार्य के दौरान बुरी नज़र रखना के आरोप लगाए हैं। महिला कर्मचारी ने लिखित में शिकायत अजाक थाने में की है। महिला ने शिकायत में लिखा है कि भद्दे एवं जाती सूचक अपशब्दों का प्रयोग कर धमकाया जाता था। पीड़िता ने वन कर्मचारी संघ जिला में भी इसकी लिखित शिकायत की थी। पीड़िता ने यह बताया कि द्वेषपूर्ण भावना से उच्च अधिकारियों से शिकायत कर राजपत्रित अवकाश के दिन बिना कोई नोटिस जारी किए निलम्बित करवा दिया। पीड़ित महिला ने महिला आयोग रायपुर, हेल्पिंग ह्यूमन राइट्स फाउंडेशन तथा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। इस सबंध में अजाक थाना प्रभारी रविन्द्र मंडावी ने बताया कि अभी सभी पहलुओं के देखते हुए गवाहों से पूछताछ की जा रही है,जिसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

 

 

12-06-2020
आरोप लगाने से पहले भाजपा सरकार में हुए भ्रष्टाचार और सरकारी जमीन की बंदरबांट पर ध्यान दे राजेश मूणत : कांग्रेस

रायपुर। भाजपा सरकार के पूर्व मंत्री राजेश मूणत के आरोप का तीखा जवाब देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा है कि राजेश मूणत भूमि आवंटन पर सवाल उठाने से पहले पूर्व में रमन सरकार के दौरान हुए भाजपा की कमीशन खोरी, भ्रष्टाचार व सरकारी जमीन की बंदरबांट पर नजर डाले। भाजपा के चहेतों को फायदा पहुंचाने रमन सरकार ने बेशकीमती सरकारी जमीनों को पानी के मोल आवंटित कर सरकारी खजाने को क्षति पहुंचाया है। पूर्वमंत्री राजेश मूणत रमन सरकार में हुई भूमि आवंटन और सरकारी भूमि घोटालों पर जनता को पहले जवाब दे? सरकारी जमीन पर बेजा कब्जा करने वाले सरकारी जमीन के रिकार्ड में हेराफेरी कर खरीदी बिक्री करने वालों को भाजपा का संरक्षण और समर्थन था। धनंजय ठाकुर ने कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार में छत्तीसगढ़ में शासकीय भूमि के आवंटन का कार्य पूरी तरह से नियमानुसार और पारदर्शी तरीके से किया जा रहा है।

12-06-2020
भाजपा का आरोप, प्रदेश सरकार आरटीई के तहत निजी शालाओं को शिक्षण शुल्क का नहीं कर रही भुगतान 

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय शालाओं को शिक्षा का अधिकार (आरटीई) योजना के तहत दिए जाने वाले शिक्षण शुल्क का भुगतान प्रदेश सरकार द्वारा नहीं किए जाने का आरोप लगाया है। प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि कोरोना संकट की इस घड़ी में तो प्रदेश सरकार को इन शालाओं को आरटीई की मासिक फीस की राशि का पूरा भुगतान कर देना था ताकि इन शालाओं को आर्थिक दिक्कतों से नहीं जूझना पड़े। आरटीई के तहत अशासकीय शालाओं में शिक्षा ग्रहण करने वाले विद्यार्थियों का पूरा शिक्षण शुल्क केंद्र और राज्य सरकार मिलकर वहन करती है। लेकिन सत्र 2019-2020 का यह भुगतान प्रदेश सरकार के कारण इन शालाओं को नहीं किया गया है।

इससे इन निजी शालाओं के संचालन में प्रबंध समितियों को काफी आर्थिक दिक्कतें आ रही हैं। प्रदेश की ऐसी कई स्कूलों से यह शिकायत भी सामने आई है कि उन्हें पिछले एक व दो और सत्रों का भी पूरा भुगतान नहीं किया गया है। संजय ने कहा कि केंद्र सरकार ने तो अपने हिस्से की राशि प्रदेश सरकार को दे दी है लेकिन प्रदेश सरकार उसमें अपने हिस्से की राशि नही मिलाकर स्कूलों के भुगतान में हीलाहवाला कर रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण और लॉक डाउन के कारण मार्च माह से ही प्रदेश में स्कूलों का संचालन लगभग बंद है। इस कारण इन निजी शालाओं की आर्थिक व्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है। संजय ने प्रदेश सरकार से मांग की कि आरटीई के तहत केंद्र सरकार से मिली राशि में तत्काल अपने हिस्से की राशि मिलाकर इन गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय शालाओं को शिक्षण शुल्क की राशि का पूरा भुगतान करे ताकि विद्यालय प्रबंध समितियाँ इस राशि से अपने शालेय स्टाफ के वेतन भुगतान और दीगर खर्चों के लिए मोहताज न हों।

11-06-2020
केंद्र सरकार को लिखा हर पत्र प्रेस को जारी कर मुख्यमंत्री चिठ्ठियों के राजनीतिकरण में मशगूल : शिवरतन शर्मा

रायपुर। भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर लेटर पॉलिटिक्स का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हर बार केंद्र सरकार को पत्र लिखकर उसे प्रेस को जारी करके अपनी चिठ्ठियों का राजनीतिकरण करने की पैंतरेबाजी करने लगे हैं। शर्मा ने पूछा कि आखिर मुख्यमंत्री हर मुद्दे पर केंद्र सरकार को चिठ्ठी लिखकर अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ने और नाकामियों से मुँह चुराकर लोगों का ध्यान भटकाने की इस पैंतरेबाजी से कब बाज आएंगे? मुख्यमंत्री को वो पत्र भी जारी करना चाहिए,जिसके बाद चिकित्सा मंत्री को विभागीय बैठक के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करने से रोका गया और मुख्य सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए पहले अनुमति लेने संबंधित ऑर्डर जारी किया।
शिवरतन ने कहा कि बड़ी-बड़ी डींगें हाँकने और झूठी वाहवाही बटोरने वाले मुख्यमंत्री और उनकी सरकार का जमीनी सच यही है कि प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर बुरी तरह विफल सिद्ध हो चुकी है। प्रदेश में रोजगार का संकट विस्फोटक होता जा रहा है, कोरोना संक्रमण रोज बढ़ते आँकड़ों के साथ प्रदेश को दहशत में जीने के लिए मजबूर कर रहा है, प्रदेश को कंगाली के मुहाने पर खड़ा करने वाली यह प्रदेश सरकार अब लोन लेने के लिए निर्धारित मापदंडों में ढील चाहकर उधार की सीमा बढ़वाने की जुगत भिड़ा रही है।उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस शासनकाल में एक भी ऐसा काम नहीं हुआ,जिसे वह अपनी उपलब्धि के तौर पर पेश कर सके। हैरत की बात तो यह है कि कोरोना संकट को रोकने के उपायों पर काम करने के बजाय प्रदेश सरकार इस संकटकाल को भी अपने लिए राजनीतिक अवसर के तौर पर भुनाने की कोशिश कर रही है।

 

09-06-2020
शिवरतन ने लगाया प्रदेश में बेरोजगारों की विवशता के राजनीतिक शोषण का आरोप, पूछा सरकार बताए क्या है कार्ययोजना ?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व विधायक शिवरतन शर्मा ने छत्तीसगढ़ में बढ़ती बेरोजगारी को चिंताजनक बताते हुए प्रदेश सरकार से सवाल किया है। शिवरतन ने कहा कि रोजगार की कमी से जूझते लोगों के लिए सरकार के पास क्या कार्ययोजना है? सबको रोजगार देने का वादा करने और ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती की डींगें हाँकने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रदेश के शिक्षित और ग्रामीण बेरोजगारों की उम्मीदों पर पानी फेरने का काम ही किया है। शर्मा ने मांग की है कि प्रदेश सरकार यह बताए कि लॉक डाउन से पहले प्रदेश में कितने बेरोजगार थे और आज की स्थिति में बेरोजगारों की संख्या कितनी है? उन्होंने कहा कि प्रदेश इन दिनों रोजगार के अभूतपूर्व संकट से जूझ रहा है और प्रदेश सरकार के पास इससे निपटने की न तो कोई कार्ययोजना है, न कोई दृष्टिकोण है और न ही वह इस समस्या के समाधान के लिए कुछ सकारात्मक पहल का इरादा रखती है। कोरोना-संकट के चलते जारी लॉकडाउन के कारण प्रदेश के व्यापारिक-औद्योगिक संस्थानों को बड़ी आर्थिक मार झेलनी पड़ी है। अब लॉक डाउन में छूट के बाद इन व्यापारिक-औद्योगिक संस्थानों में कार्यरत कई लोग छँटनी के कारण बेरोजगार हो गए हैं। इधर, अन्य प्रांतों से लौटे प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों के सामने भी रोजगार की चिंता मुँह बनाए खड़ी है। इस तरह प्रदेश में लाखों लोगों के सामने अब बेरोजगारी का संकट है।

 

09-06-2020
Video: पिता ने अस्पताल पर लगाया नवजात शिशु बदली का आरोप,प्रबंधन ने सिरे से नकारा

रायगढ़। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में नवजात शिशु के बदली हो जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। परिजनों का आरोप है कि जब आईसीयू में बच्चे को ले जाया गया था तब सभी अंग सही थे अब डॉक्टर आंख खराब होने की बात कह रहे हैं। उनका आरोप है कि बच्चा बदली हो गया है। दूसरी ओर अस्पताल प्रबंधन इस आरोप को एक सिरे से खारिज कर रहा है। प्रबन्धन का कहना है कि बच्चा वही है। लेकिन जन्म से ही कुछ समस्या होने की वजह से आंख में उसका प्रभाव पड़ा है,जिसके संबंध में परिजनों को भी बता दिया गया है।दरअसल बरमकेला स्वास्थ्य केंद्र में विनय पटेल की पत्नी को प्रसव के लिए भर्ती कराया गया था। जहां उसके जुड़वां बच्चे हुए थे। एक बच्चे की जन्म के साथ ही मृत्यु हो गई थी। वहीं दूसरे की हालत खराब होने के कारण उसे रायगढ़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

अस्पताल में बच्चे को आईसीयू में रखा गया था।आज बच्चे के ठीक होने पर जब छुट्टी दी गई तो परिजनों का आरोप है कि उनका बच्चा बदली हो गया है। बच्चे के पिता विनय पटेल का कहना है कि जब आईसीयू में भर्ती कराया गया तब उसके सभी अंग सही थे लेकिन अब आंख खराब होने की बात कही जा रही है। विनय का कहना है कि वह बच्चा मेरा नही है, अस्पताल प्रबंधन को डीएनए टेस्ट कराने को कहा जा रहा है तो भी प्रबंधन हमारी बात नही सुन रहा है।वहीं दूसरी ओर अस्पताल प्रबंधन की ओर से सीएन सीईओ प्रभारी अभिषेक अग्रवाल ने बच्चा बदली होने के आरोप को गलत बताया।  अग्रवाल का कहना है कि प्री मेच्योर बच्चा था। कल से बच्चे को आंख में पानी आ रहा था,जिसे आंख के डॉक्टर को दिखाया गया। डॉक्टर ने जांच के बाद बताया कि बच्चे को जन्म से आंख में बीमारी है। इसके कई कारण हो सकते हैं। माँ से भी ये बीमारी आ सकती है क्योंकी एक बच्चा मृत पैदा हुआ है और यह भी प्री मेच्योर है। परिजनों को सारी जानकारी दे दी गई है।

09-06-2020
दो पुलिसकर्मी गिरफ्तार, नक्सलियों को कारतूस मुहैया कराने का आरोप

रायपुर। प्रदेश के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में नक्सलियों को कारतूस व अन्य सामान उपलब्ध कराने के आरोप में सहायक उप निरीक्षक समेत दो पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया गया है। बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज ने बताया कि सुकमा जिले की पुलिस ने नक्सलियों को कारतूस व अन्य सामान मुहैया कराने वाली कड़ी को तोड़ते हुए सहायक उप निरीक्षक आनंद जाटव और प्रधान आरक्षक सुभाष सिंह को गिरफ्तार किया गया है। पिछले सप्ताह पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए बस्तर क्षेत्र के दो जगहों से चार आरोपियों को गिरफ्तार किया था। सा​थ ही बड़ी संख्या में इनसे कारतूस बरामद भी ​किया था। पुलिस ने इस महीने की 2 तारीख को सुकमा जिले से मनोज शर्मा और हरिशंकर गेडाम को गिरफ्तार कर लिया था। वहीं कांकेर जिले से गणेश कुंजाम और आत्माराम नरेटी को गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस ने गिरफ्तार लोगों से 303, एके 47, एसएलआर और इंसास रायफल का लगभग 695 जिंदा कारतूस बरामद किया था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि कुंजाम और नरेटी का प्रतापपुर एरिया कमेटी के नक्सली नेता पेद्दा के संपर्क में थे। पुलिस ने जब मामले की जांच शुरू की तब पुलिस लाइन में पदस्थ एएसआई आनंद जाटव और प्रधान आरक्षक सुभाष सिंह की इस मामले में संलिप्तता सामने आई। बाद में दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की गई। उन्होंने बताया कि इस पूरे मामले की जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के नेतृत्व में नौ सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया है।

07-06-2020
भाजपा अध्यक्ष सोशल डिस्टेंसिग के नियमों की धज्जियां उड़ा रहे : कांग्रेस

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने आरोप लगाया है कि मोदी और राष्ट्रीय नेतृत्व के सामने नम्बर बढ़ाने और निष्क्रिय पड़ी भाजपा की झूठी सक्रियता दिखाने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सोशल डिस्टेंसिग और कोविड-19 से बचाव के नियमों का भाजपा नेताओं के साथ मखौल उड़ा रहे हैं। भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय रविवार को राजधानी रायपुर के अशोका पार्क खमारडीह में निवासरत 12 परिवार के लोगों से मिले और 8 परिवारों से उनके घरों में बैठ कर चर्चा की।शुक्ला ने कहा कि साय का यह आचरण आपत्तिजनक है तथा लॉक डाउन के नियमों का उल्लंघन के साथ लोक स्वास्थ्य को खतरे में डालने वाला है। देश आज कोरोना की वैश्विक महामारी से जूझ रहा। कोरोना संक्रमण बढ़ते जा रहा है ऐसे समय भी भाजपाई राजनीति चमकाने के लिए जनजीवन को खतरे में डाल रहे हैं। विष्णुदेव साय प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी के अध्यक्ष होने के साथ साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री और अनेको बार सांसद भी रह चुके हैं उनसे इस प्रकार के आचरण की उम्मीद नहीं की जा सकती।

05-06-2020
नक्सलियों ने समर्पित नक्सली गोपी को बताया गद्दार, जनअदालत में सजा देने की कही बात

बीजापुर। जिले के गंगालुर एरिया कमेटी के सचिव दिनेश मोडियाम ने प्रेस नोट जारी कर समर्पित नक्सली गोपी मोडियाम को गद्दार बताते हुए जनअदालत में सजा देने की बात कही। प्रेस नोट में नक्सली कमांडर ने समर्पित नक्सली गोपी पर पुलिस के साथ मिलकर गंगालुर क्षेत्र के पामलवाया, चेरपाल, पदेडा, रेगडगट्टा, मुनगा पेद्दाकोरमा, मनकेलि, गोरना, इसुलनार सहित कई जगह पर ग्रामीणों को परेशान करने और मुठभेड़ करवाने का आरोप लगाया। ज्ञात हो कि आठ लाख के इनामी नक्सली कमांडर गोपी ने कुछ दिनों पहले ही सुकमा-रायपुर पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया था।

गोपी मोडियाम 2002 में नक्सलियों की टीम में शामिल हुए था और 2006 में गंगालुर एरिया सरकार का अध्यक्ष बनाया गया था। प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार 2008 में भी नक्सली विचारधारा से क्षुब्ध होकर समर्पण करने के फिराक में था लेकिन बड़े नक्सलियों ने समझा कर वापस पार्टी में बनाये रखा लेकिन 2020 में शादी शुदा रहने के बावजूद  दो अन्य महिला नक्सलियों के साथ अवैध संबंध की शिकायत मिलने पर जांच की जा रही थी उसी दौरान गोपी ने अपनी नक्सल प्रेमिका के साथ पुलिस के सामने समर्पण कर दिया।

03-06-2020
नौकरी लगाने व रकम दुगना का झांसा  देने के आरोप में पुलिस ने 3 महिलाओं को गिरफ्तार किया

दुर्ग। नौकरी लगाने एवं रकम दोगुना का झांसा देकर 25 लाख की धोखाधड़ी करने वाली 3 महिलाओं को उतई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। प्राप्त जानकारी में ग्राम पतोरा में आरोपी महिलाओं द्वारा नवरंग कला निकेतन तथा ओम साईं फैंसी ड्रेस संस्था की आड़ में पीडि़ता और उसके परिवार से पहले 5 लाख फिर 20 लाख रुपए की धोखाधड़ी की। पीड़िता के पुत्रों को पहले अपनी संस्था में नौकरी में लगाया फिर पक्की नौकरी लगाने के नाम पर धन उगाही की। उक्त रकम 5 लाख के आसपास है। शिकायत मिलने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव दुर्ग के निर्देशन में थाना उतई की त्वरित कार्यवाही करते हुए धोखाधड़ी करने वाली तीनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया। इसमें कांति बाई वर्मा निवासी ग्राम खोपली के लिखित आवेदन प्रस्तुत किया कि छग नवरंग कला निकेतन पतोरा की प्राचार्य एवं उनके दो अन्य सहयोगी के द्वारा प्रार्थिया के दो लड़कों को नौकरी के एवज में दो वर्ष पूर्व 500000 रुपए लिया है एवं रकम दोगुना करने के एवज में 20,00,000 रुपए धोखाधड़ी कर लिया है। आरोपी के द्वारा कहा गया कि हमारी संस्था छग सरकार व इंदिरा संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ से मान्यता प्राप्त है और ओम सांई फैंसी ड्रेस का बहुत बड़ा व्यवसाय है। हम आपका पैसा एक साल में दोगुना कर देंगे बताकर पैसे की मांग किए। प्रार्थिया द्वारा ग्राम बीसी समिति से ब्याज में पैसा लेकर 10 लाख रुपए एवं 10 लाख रिश्तेदारों से लेकर आरोपियों को दिया है। प्रार्थिया के रिपोर्ट पर थाना उतई में अपराध दर्ज किया गया है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804