GLIBS
04-03-2020
छत्तीसगढ़ से अयोध्या जाएगी भांचा भेंट रथयात्रा, श्रीराम मंदिर निर्माण के पूर्व भव्य आयोजन

रायपुर। अप्रैल माह में भगवान श्रीराम के मंदिर का निर्माण कार्य प्रारंभ होने जा रहा है जिसे लेकर पूरे प्रदेश और देश में हर्ष का माहौल है। छत्तीसगढ़ से भगवान राम का एक रथ भी अयोध्या के लिए रवाना होगा। इसे भांचा भेट रथ का नाम दिया गया है। परशुराम जन्मोत्सव के दिन यह रथ एक यात्रा के रूप में रायपुर से अयोध्या के लिए रवाना होगा।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास ने कहा कि छत्तीसगढ़ भगवान श्रीराम का ननिहाल है। इसलिए मंदिर निर्माण को लेकर सभी छत्तीसगढ़ वासियों में भी उत्साह एवं उमंग का वातावरण है। छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़िया की भावनाओं को रथ के साथ अयोध्या लेकर जा रहे हैं। इसके फलस्वरूप एक विशाल रथ का निर्माण किया जा रहा है। इस रथयात्रा को भाँचा भेंट रथयात्रा नाम दिया गया है। इस रथ का निर्माण और पूजन 2 अप्रैल रामनवमी के दिन बिलासपुर से किया जाएगा। इस रथयात्रा में पूरे प्रदेश के हर जिले हर समाज हर वर्ग के लोग सम्मिलित होंगे। हर समाज हर वर्ग के 51 लोग इस रथ यात्रा को लेकर अयोध्या श्रीराम मंदिर के लिए निकलेंगे।

गौरीशंकर श्रीवास ने कहा कि इस रथयात्रा की खासियत यह है कि छत्तीसगढ़ के 7 नदियों का पवित्र जल, माता कौशल्या मंदिर की मिट्टी, छत्तीसगढ़ के 7 प्रकार के चावल, सात प्रकार की मिठाई इन सभी चीजों को ससम्मान छत्तीसगढ़िया आस्था के साथ रवाना होंगे। यह यात्रा भगवान परशुराम के जनमोत्स्व 26 अप्रैल के दिन रायपुर स्थित भगवान श्रीराम मंदिर से अयोध्या के लिए रवाना होगी। रथयात्रा सात दिनों के भ्रमण के बाद अयोध्या पहुंचेगी। अयोध्या में भी इस रथ का भव्य स्वागत किया जाएगा।

09-02-2020
19 फरवरी को राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक, हो सकती है मंदिर निर्माण की तिथि की घोषणा

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण तथा उसकी देखरेख के लिए बनाए गए ट्रस्ट 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' की पहली बैठक 19 फरवरी को दिल्ली में बुलाई गई है। जानकारी के मुताबिक, बैठक में ट्रस्ट के अध्यक्ष, महामंत्री और कोषाध्यक्ष का चुनाव किए जाने की योजना है। सूत्रों के मुताबिक, ट्रस्ट के दिल्ली ऑफिस में यह बैठक शाम को पांच बजे रखी गई है। बैठक में दो अतिरिक्त सदस्यों का चुनाव भी किया जा सकता है। इसके अलावा राम मंदिर निर्माण कब से शुरू करना है, इसे लेकर भी ट्रस्ट की बैठक में घोषणा की जा सकती है। सूत्रों की मानें तो आगामी रामनवमी (2 अप्रैल) या अक्षय तृतीया (26 अप्रैल) से राम मंदिर का निर्माण शुरू करने पर सहमति बन सकती है।

बता दें कि इसी महीने केन्द्र सरकार ने अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट बनाने के लिए मंजूरी दी थी। पीएम नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में इसकी घोषणा करते हुए कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार, सरकार ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के गठन का प्रस्ताव पारित किया है। उन्होंने बताया था कि यह ट्रस्ट अयोध्या में भगवान श्रीराम की तीर्थस्थली पर भव्य और दिव्य राम मंदिर के निर्माण और उससे संबंधित विषयों पर निर्णय लेने के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा। गौरतलब है कि 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट में कुल 15 सदस्यों को शामिल किया गया है। 

 

05-01-2020
मैथिली झा समाज की बैठक हुई

गुना। मैथिली झा समाज धर्मशाला ट्रस्ट के समाज बंधुओं की बैठक रविवार को हुई। बैठक में इंदौर से पधारे शैलेंद्र विश्वकर्मा ने बताया कि विश्वकर्मा भगवान के मंदिर का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। इसमें विश्वकर्मा भगवान की मूर्ति स्थापना कर गणेश पूजन, शोभा यात्रा, यज्ञ, प्राण प्रतिष्ठा एवं महाप्रसादी का आयोजन किया जाएगा। 

राकेश किरार की रिपोर्ट 

25-11-2019
राम मंदिर निर्माण में श्रमदान करने गीदम से भक्त अयोध्या रवाना

गीदम। गीदम विकासखंड से रामभक्त अयोध्या में रामजन्म भूमि में मंदिर निर्माण में अपना अमूल्य श्रमदान करने के अलावा एक-एक ईंट भेंट करेंगे। गीदम नगर से भक्त 25 नवंबर को दंतेश्वरी माई की पूजा-अर्चना कर उनसे आशीर्वाद लेकर सुबह 11 बजे अयोध्या के लिए निकल गए हैं। इस पुनीत कार्य में सहयोग देने के लिए संतोष साहू के साथ महेश सोनी, अमर नेताम, अर्जुनराम, विसुराम और बुधराम पोयाम और सभी सहयोगी निजी वाहन से अयोध्या के लिए प्रस्थान कर गए हैं ।

 

 

09-11-2019
Big Breaking : सुप्रीम कोर्ट ने रामजन्मभूमि न्यास को सौंपी विवादित जमीन

नई दिल्ली। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट में चल रहे फैसले के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन रामजन्मभूमि न्यास को सौंप दी है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आदेश देते हुए कहा कि सरकार को 3 महीनों के अंदर मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाना है।  

Advertise, Call Now - +91 76111 07804