GLIBS
27-12-2019
मुट्ठी भर दंगाई, उपद्रवी और हुड़दंगी राजनीतिक कठपुतलियों के कारण बदनाम हो रहा है आम मुसलमान

रायपुर। यूपी मे फिर हाई अलर्ट घोषित है। कई जिलों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। शांति की अपील की जा रही है। फ्लैग मार्च किये जा रहे हैं। जुमे की नमाज के बाद हिंसा भड़कने की आशंका व्यक्त की जा रही है। लेकिन क्या इन सब से आम मुसलमानों को लेना देना है? आम मुसलमान तो शांति और अमन से हिंदुओं के साथ मिलजुल कर सारे देश में रह रहा है। यूपी के कुछ शहरों के कुछ मुट्ठी भर लोगों ने उन्हें शक के दायरे में ला खड़ा कर दिया है। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में जिस तरह राजनीतिक पार्टियों ने मुसलमानों को इस्तेमाल किया है वह हैरान कर देने वाला है। उन्हीं राजनीतिक पार्टियों ने मुसलमानों को आजादी के बाद से आज तक अपना वोट बैंक माना लेकिन उन्हें तरक्की न करने दी और वही के वही ही रखा। आगर आम मुसलमान आज भी उन्हीं के इशारे पर खेल रहा है यह हैरानी की बात है। अक्सर देखने में आता है कि जुमे की नमाज के बाद हिंसा भड़कने की आशंका व्यक्त की जाती है।

जम्मू कश्मीर और उत्तर प्रदेश के अलावा शायद ही किसी प्रदेश में कभी कोई ऐसी वारदात देखने में आई हो। देश के अधिकांश प्रदेशों में मुसलमान इस कानून से अलग आराम से अपनी जिंदगी समाज में मिलजुल कर गुजार रहा है। वहां उसे कोई तकलीफ नहीं है। तो फिर सवाल यह उठता है कि यूपी बंगाल गुजरात और कश्मीर में ही उन्हें क्यों तकलीफ है? बाकी हिस्सों में क्यों उन्हें नागरिकता कानून का डर नहीं लग रहा है? असम जहां से अशांति और हिंसा शुरू हुई वह क्यों शांति है? वहां की हिंसा और आगजनी उत्तर प्रदेश दिल्ली और गुजरात में क्यों फैली है? सिर्फ गिनती के विश्वविद्यालयों में ही नागरिकता कानून का विरोध हो रहा है? बाकी विश्वविद्यालयों में इसका कोई असर क्यों नहीं नजर आता? बहुत से सारे सवाल सामने आते हैं जो यह साबित करने में सक्षम हैं कि मुट्ठी भर कठपुतली मुस्लिम नेता अपनी राजनीतिक इच्छा पूर्ति के लिए आम मुसलमानों को शक के दायरे में ला खड़ा कर रहे हैं? आज फिर कठपुतली मुस्लिम नेता मुसलमानों को वोट बैंक ही बनाए रखने पर तूले हुए हैं। जबकि आम मुसलमान इन सब से आजाद होकर बहुत आसानी से चैन से अमन से सभी धर्मो के साथ मिलजुल कर रह रहा है।

10-11-2019
ख़ुफ़िया एजेंसियों ने दी चेतावनी, आतंकी हमला कर सकता है 'जैश'

नई दिल्ली। पिछले 10 दिनों से जहां राज्य सरकारों से कहा गया है कि वह उच्चतम न्यायालय के अयोध्या भूमि विवाद को लेकर सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम करें। वहीं पाकिस्तान में स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के संभावित आतंकी हमलों के संदेश मिल रहे हैं। कई खुफिया एजेंसियों ने सरकार को चेतावनी दी है कि जैश कई आतंकी हमलों को अंजाम दे सकता है। यह जानकारी एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी। मिलिट्री इंटेलिजेंस, द रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) ने सरकार को संभावित आतंकी हमलों को लेकर चेताया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'यह खतरे की गंभीरता को दिखाता है।' उन्होंने कहा, 'इनमें से प्रत्येक एजेंसी व्यक्तिगत रूप से एक ही निष्कर्ष पर पहुंची है।' अयोध्या पर शीर्ष अदालत का फैसला आ चुका है जिससे पाकिस्तान के आतंकी समूहों द्वारा आतंकी हमलों की संभावना बहुत ज्यादा है।

दूसरे वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'आतंकी सांप्रदायिक सौहार्द को खराब करना चाहते हैं।' आतंकियों के डार्क वेब में कोडेड संचार को जब अन्य एजेंसियों से मिलाया गया तो सुरक्षा एजेंसियां इस निष्कर्ष पर पहुंची कि संभावित हमलों से निपटने के लिए किस तरह की तैयारी की जाए। आतंकी दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश को टारगेट कर सकते हैं। सुरक्षा एजेंसियों पांच अगस्त से ही हाई अलर्ट पर हैं। इस तारीख को भारतीय संसद ने जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस ले लिया था। अधिकारी ने कहा, 'आतंकियों के हमले को अंजाम देने की कोशिश पहले से अलग और पक्की लग रही है।'

 

03-10-2019
दिल्ली में घुसे जैश आतंकी! पुलिस ने की नौ जगहों पर छापेमारी

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आतंकी हमले को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया। पुलिस को खुफिया जानकारी मिली है कि दिल्ली में तीन-चार कट्टर आतंकी मौजूद हैं। सूत्रों के अनुसार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती आतंकी पिछले हफ्ते शहर पहुंच गए हैं। बताया जा रहा है कि यह आतंकी जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को निष्प्रभावी करने का बदला लेना चाहते हैं। राजधानी में मौजूद आतंकियों में कम से कम दो विदेशी (पाकिस्तानी) आतंकी है।  खुफिया सूचना के बाद कई जगहों पर छापेमारी की,दो संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

छापेमारी सीलमपुर और उत्तर पूर्वी दिल्ली के दो स्थानों, जामिया नगर और सेंट्रल दिल्ली के पहाड़गंज स्थित दो जगहों पर की गई। वहीं सुरक्षा एजेंसियां पिछले कुछ समय से लगातार अलर्ट जारी कर रही हैं। यह ताजा अलर्ट भी उसी संबंध में है। विदेशी खुफिया एजेंसी ने कुछ दिनों पहले जैश के ऑपरेटिव और उसके हैंडलर की बातचीत को इंटरसेप्ट किया था। विदेशी खुफिया एजेंसी के अनुसार जैश भारत में सितंबर 25 और 30 के बीच आतंकी हमले की योजना बना रहा था। जिसके बाद जम्मू, अमृतसर, पठानकोट, जयपुर, गांधीनगर, कानपुर के साथ-साथ लखनऊ सहित कुल 30 शहरों को हाई अलर्ट पर रखा गया। खुफिया इनपुट के अनुसार जैश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को अपना निशाना बनाने के लिए स्पेशल स्कवायड को तैयार कर रहा है। एक खुफिया अधिकारी का कहना है कि यह वही स्कवायड हो सकता है जो दिल्ली में दहशत फैलाने के इरादे से आया है।

21-09-2019
जैश-ए-मोहम्मद की धमकी के बाद रायपुर रेलवे स्टेशन में एंट्री और एग्जिट के लिए आया नियम

रायपुर। जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन की चिट्ठी मिलने के बाद से ही देश के सभी रेलवे स्टेशनों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसी कड़ी में शनिवार को राजधानी रायपुर के रेलवे स्टेशन पर एक एंट्री और एग्जिट का नियम लाया गया है। थाना प्रभारी राजपूत ने बताया कि इस नई व्यवस्था के मुताबिक प्लेटफार्म से बाहर निकलने वाले हर यात्री अब केवल वीआईपी गेट से ही बाहर निकल सकेंगे अब किसी भी यात्री को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे स्टेशन में मौजूद एटीएम के पास से बैगेज स्कैनर से हर यात्री के सामान की पूरी तरह स्कैनिंग होने के बाद ही प्लेटफार्म पर प्रवेश दिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक जैश-ए-मोहम्मद का एक नया धमकी भरा पत्र मिला है। उसमें ठीक उसी हैंडराइटिंग में लिखा गया है जो पहले रोहतक रेलवे स्टेशन डायरेक्टर को मिला था। इसमें पंजाब के मुख्यमंत्री और जम्मू कश्मीर के राज्यपाल पर भी हमले की धमकी दी गई।

20-09-2019
जैश-ए-मोहम्मद ने अब इन चार रेलवे स्टेशनों में विस्फोट करने की दी धमकी

नई दिल्ली। मुंबई, चेन्नई और बेंगलुरु समेत हरियाणा के कई रेलवे स्टेशनों और मंदिरों के बाद पंजाब के भी चार रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की धमकी मिली है। जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन ने अंबाला और फिरोजपुर डिवीजन के चार स्टेशनों पर विस्फोट करने की धमकी दी है, जिसके चलते फिरोजपुर और अंबाला डिवीजन के स्टेशनों पर चेकिंग अभियान शुरू किया गया है। फिरोजपुर रेलवे स्टेशन पर वीरवार शाम को जीआरपी और आरपीएफ ने चेकिंग अभियान चलाया। बताया जा रहा है कि आतंकी संगठन ने आठ अक्टूबर को बठिंडा, अमृतसर, पटियाला और फगवाड़ा स्टेशन को विस्फोट कर उड़ाने की धमकी दी है। जीआरपी थाना फिरोजपुर के प्रभारी सुखदेव सिंह ने कहा कि डिवीजन के स्टेशनों की चेकिंग चल रही है, वरिष्ठ अधिकारियों की तरफ से उन्हें चेकिंग करने के आदेश आए हैं। स्टेशनों और ट्रेनों की चेकिंग की जा रही है। वीरवार को फिरोजपुर शहर और छावनी रेलवे स्टेशन की चेकिंग की गई। ये अभियान लगातार जारी रहेगा। किसी आतंकी की तरफ से धमकी भरा पत्र आया है या नहीं इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, लेकिन वरिष्ठ अधिकारियों के सतर्क रहने के आदेश हैं। जैश-ए-मोहम्मद के एरिया कमांडर मैसुल अहमद के नाम से रोहतक रेलवे स्टेशन मास्टर को धमकी भरा पत्र मिला है।

रोहतक रेलवे स्टेशन मास्टर यशपाल मीणा को शनिवार की दोपहर डाकिया के माध्यम से दो पत्र मिले। जैसे ही स्टेशन मास्टर ने पहला पत्र खोलकर पढ़ा तो उनके होश उड़ गए। पत्र भेजने वाले ने अपना नाम जैश-ए-मोहम्मद का एरिया कमांडर मैसुल अहमद जम्मू-कश्मीर, करांची पाकिस्तान लिखा था। पत्र में लिखा है कि आठ अक्टूबर को जैश-ए-मोहम्मद अपने जेहादियों की हुई मौत का बदला जरूर लेगा और रेलवे स्टेशनों व मंदिरों में धमाके करेगा। पत्र में लिखा है कि रोहतक, हिसार, कुरुक्षेत्र, महाराष्ट्र के मुंबई सिटी स्टेशन, चेन्नई, बेंगलुरु, जयपुर, कोटा, भोपाल, इटारसी, दुर्ग के स्टेशनों पर बम धमाके होंगे। इसके अलावा राजस्थान, गुजरात, तमिलनाडु, मध्यप्रदेश, हरियाणा व यूपी के स्टेशन पर मंदिरों को निशाना बनाकर उड़ाया जाएगा। स्टेशन मास्टर ने तुरंत मामले की जानकारी दिल्ली मुख्यालय के अधिकारियों को दी। उसके बाद जीआरपी, आरपीएफ की एसआईवी (स्पेशल इंटेलीजेंस विंग), आईबी (इंटेलीजेंस ब्यूरो) और हरियाणा की सुरक्षा एजेंसियां हरकत में आ गई। जीआरपी और आरपीएफ के उच्चाधिकारियों ने हाई अलर्ट जारी कर दिया। जिन-जिन रेलवे स्टेशनों के नाम पत्र में लिखे गए हैं, वहां-वहां कड़ी सुरक्षा व्यवस्था कर दी गई है। मामले की गंभीरता को देख उच्चाधिकारियों का निर्देश मिलने के बाद रोहतक स्टेशन मास्टर यशपाल मीणा ने आरपीएफ से संपर्क साधा और फिर जीआरपी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। जीआरपी ने यह मामला आईपीसी की धारा 124ए, 153ए, 295ए, 505(1) बी में दर्ज करके अंबाला मुख्यालय को सूचित किया। इसकी जानकारी होने के बाद जीआरपी और आरपीएफ मुख्यालयों से रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा के मद्देनजर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया।

16-09-2019
जैश-ए-मोहम्मद की धमकी के बाद आरपीएफ की टीम ने डॉग स्क्वाड के साथ किया स्टेशन का मुआयना

राजनांदगांव। जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी संगठन ने चिट्ठी जारी कर रोहतक, कुरुक्षेत्र, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, दुर्ग समेत कई रेलवे स्टेशन उड़ाने की धमकी दी है। उन्होंने चिट्ठी में अपने जिहादियों की मौत का बदला लेने 8 अक्टूबर को रेलवे स्टेशन और मंदिरों को निशाना बनाने की बात लिखी है, जिससे देश सहित प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। जिसकी पुष्टि आर.पी.एफ. अधिकारियों ने की है। खास कर दुर्ग के साथ रायपुर, राजनांदगांव स्टेशन में भी हाई अलर्ट जारी किया गया है। इसी के चलते सोमवार को आर.पी.एफ. और कोतवाली थाना प्रभारी ने दल बल तथा डॉग स्क्वाड के साथ पूरे राजनांदगांव, डोंगरगढ़ स्टेशन का मुआयना किया।

28-08-2019
डेंगू रोकथाम के लिए 48 वार्डो में शुरू हुआ सफाई महाभियान 

रायगढ़ l शहर में लगातार बढ़ रहे डेंगू के प्रभाव से निपटने जिला व निगम प्रशासन अब हाई अलर्ट में नजर आ रहा हैं। जिसके मद्देनजर जिला व निगम प्रशासन ने विधायक और कलेक्टर के नेतृत्व में आज से 48 वार्डो में सफाई अभियान की शुरुआत की हैl इस सफाई महाअभियान में 8 हजार महिला कार्यकर्तओं व मितानिनों की अहम भूमिका रहेगी। जो प्रत्येक सप्ताह जले हुए मोबिल के छिड़काव व जमा पानी की निकासी को लेकर लोगो मे जागरूकता लाने का प्रयास करेंगी। शहर में सफाई व्यवस्था बनाये रखने में निगम प्रशासन पूर्ण रूप से कामयाब नही हो सकी हैं। जिसका दंश लोगो को डेंगू के रुप मे भुगतना पड़ रहा है। हालांकि नवनियुक्त निगम कमिश्नर द्वारा जिला प्रशासन के साथ संयुक्त अभियान चला वार्डो की स्थिति में सुधार की बात तो कही जा रही हैं। अब यह देखना लाजमी होगा कि क्या निगम का यह प्रयास रंग लाएगा या फिर महज दिखावा साबित होगा।

25-08-2019
श्रीलंका के रास्ते भारत में घुसे लश्कर-ए-तैयबा के संदिग्ध पकड़े गए 

नई दिल्ली। पुलिस ने केरल और तमिलनाडु में लश्कर-ए-तैयबा के ऐसे कई आतंकियों को हिरासत में लिया है, जो श्रीलंका से भारत में घुसे थे और देश भर में बड़ी आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की फिराक में थे। तमिलनाडु में पुलिस ने छह ऐसे व्यक्तियों को हिरासत में लिया है, जो लश्कर से ताल्लुक रखते थे और श्रीलंका के रास्ते देश की सीमा में दाखिल हुए थे। कोयंबटूर में भी तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है। इनके भी रिश्ते लश्कर-ए-तैयबा से थे। केरल और तमिलनाडु की पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है। केरल पुलिस ने इसी कड़ी में एक ऐसे व्यक्ति को भी पकड़ा है जो 2 दिन पहले ही बहरीन से लौटा है। इस धरपकड़ के बाद भारत और श्रीलंका से सटे समुद्र तटीय इलाकों में चौकसी बढ़ा दी गई है। नौसेना हाई अलर्ट पर है।

हर संदिग्ध व्यक्ति की पूछताछ की जा रही है। खासतौर पर मन्नार की खाड़ी और पाल्क स्ट्रेट पर नौसेना और कोस्ट गार्ड दोनों ही चौकन्ना निगाहें रखे हुए हैं। इससे पहले श्रीलंका में हुए आतंकी हमलों का संबंध तमिलनाडु और केरल में बैठे आतंकियों के सिंडिकेट से पाया गया था। खुफिया एजेंसियों को शक है कि श्रीलंका के बाद यही सिंडिकेट भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की फिराक में है और इसके पीछे पाकिस्तान की बदनाम खुफिया एजेंसी आईएसआई का दिमाग है। खुफिया जानकारी के मुताबिक ये आतंकी तमिलनाडु और केरल के जरिए देश के दूसरे हिस्सों में घुसपैठ करने की फिराक में थे। दिल्ली भी इनके निशाने पर थी। अब इस बात की छानबीन की जा रही है कि क्या इस सिंडिकेट के दूसरे आतंकी पहले ही अपने मिशन पर निकल चुके हैं? इस बीच केरल और तमिलनाडु में मंदिर मस्जिद और गिरजा घरों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।

24-08-2019
आतंकी हमले की आशंका, हाई अलर्ट पर नौसेना

चेन्नई। लश्कर-ए-तैयबा के छह आतंकवादियों के तमिलनाडु में घुसपैठ करने की खुफिया जानकारी मिलने के मद्देनजर नौसेना ने समुद्री क्षेत्र में हाई अलर्ट की घोषणा की है। शनिवार को दूसरे दिन भी राज्य के विभिन्न हिस्सों में कड़ी निगरानी बरती जा रही है। इस सिलसिले में आज यहां पर छह लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि इन लोगों को इस संदेह में हिरासत में लिया गया है कि वे कथित घुसपैठ करने वाले लोगों के संपर्क में थे। हिरासत में लिये गये लोगों से एक अज्ञात स्थान पर पूछताछ की जा रही है। केरल के कोच्चि में रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि खुफिया सूचना के आधार पर भारतीय नौसेना समुद्र में और तटीय इलाकों में स्थिति पर पैनी नजर बनाये हुए है। आतंकवादी संगठन लश्कर के छह आतंकवादियों के श्रीलंका से समुद्र के रास्ते तमिलनाडु में घुसपैठ करने और वहां से बाकी शहरों की ओर रुख करने की खबर के बाद शुक्रवार को राज्य में सुरक्षा बढ़ा दी गई। पुलिस ने शनिवार को कहा कि शहर की मुख्य सड़कों और कोयंबटूर शहर को पड़ोसी राज्यों से जोडऩे वाले राजमार्गों पर वाहनों की जांच बढ़ा दी गई है और सशस्त्र पुलिसकर्मी सामान की जांच कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसी तरह से रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंडों और हवाईअड्डों पर भी जांच बढ़ा दी गई है। तमिलनाडु कमांडो बल ने सुरक्षा को लेकर लोगों में आत्मविश्वास भरने के लिये मेट्टूपलायम में फ्लैग मार्च निकाला। यह शहर कोयंबटूर से 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। केरल के डीजीपी लोकनाथ बेहेरा ने जिला पुलिस प्रमुखों को समूचे राज्य में अत्यंत सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। केरल गुरुवार शाम से हाई अलर्ट पर है। केरल-तमिलनाडु सीमा, विशेषकर पलक्कड़, त्रिशूर और एर्नाकुलम जिलों में जांच पड़ताल तेज कर दी गई है। इसके साथ ही सबरीमाला और गुरुवायूर मंदिरों सहित परिवहन स्थानों, राज्य में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों और पूजा स्थलों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

 

 

20-08-2019
देश में घुसे 4 आतंकी, प्रशासन ने जारी किया हाई अलर्ट

नई दिल्ली। राजस्थान के सिरोही जिले में सोमवार को पाक आईएसआई एजेंट के साथ चार सदस्य राजस्थान गुजरात सीमा में दाखिल हुए हैं। जानकारी मिलने के बाद हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक आईएसआई एजेंट के साथ चार सदस्य अफगानिस्तान के पासपोर्ट पर देश में दाखिल हुए हैं। इसके बाद राजस्थान गुजरात सीमा के साथ साथ देशभर में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। हाई अलर्ट जारी किए जाने के बाद से ही पुलिस महा निरीक्षक के निर्देश पर एसपी कल्याणमल मीणा द्वारा सिरोही जिले के बॉर्डर वर्ती क्षेत्रों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। सिरोही जिले के आबूरोड राजस्थान-गुजरात बॉर्डर के मावल और छापरी चौकी पर वाहनों की चेकिंग की जा रही है। सिरोही जिले के पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीणा ने एक संदेश जारी करते हुए इसकी जानकारी जिले के सभी पुलिस स्टेशन में दी है। संदेश में उन्होंने कहा, 'आईएसआई एजेंट के साथ चार लोगों के एक समूह ने भारत में प्रवेश कर लिया है जिसकी वजह से राजस्थान और गुजरात सीमा सहित पूरे देश में हाई अलर्ट जारी किया गया है। यह आतंकी किसी भी समय आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दे सकते हैं।' पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि वह भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों की सख्ती से जांच करे जैसे कि होटल और बस स्टेशन। इससे कि किसी भी अप्रिय घटना को होने से रोका जा सके। पुलिस को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि वह विशिष्ट क्षेत्रों में चेकप्वाइंट लगाए और संदिग्ध वाहनों की आवाजाही पर नजर रखे। इसके अलावा पुलिसकर्मियों को पूरी तरह से अलर्ट रहने और संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ करने को कहा गया है। इससे पहले नौ अगस्त को खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट में आतंकी हमले को लेकर अलर्ट जारी किया गया था। इसमें कहा गया था कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के जेहादी आतंकी जम्मू-कश्मीर और उसके बाहर बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं।

 

 

05-08-2019
जम्मू-कश्मीर की सीमा की सभी चौकियों पर हाई अलर्ट

चंबा। चंबा जिले की जम्मू-कश्मीर की सीमाओं के साथ लगती सुरक्षा चौकियों में अलर्ट जारी किया गया है। सुरक्षा चौकियों में तैनात आईआरबीएन जवान और एसपीओ पेट्रोलिंग को अंजाम दे रहे हैं। तीसा सेक्टर के अधीन 250 किलोमीटर क्षेत्र, किहार सेक्टर का मीलों क्षेत्र जम्मू-कश्मीर की सीमा के साथ सटा हुआ है। जिले में वर्ष 1998 के बाद किसी प्रकार की कोई भी संदिग्ध घटना या आतंकी घटना घटित न हो, इसके लिए यहां पर तैनात जवान मुस्तैद हैं। चुराह सेक्टर के मंगली, टपण, भनौड़ी, आयल, नोड़लधार, सतरूंडीधार में सुरक्षा चौकियों में आईआरबीएन के जवान सुरक्षा का जिम्मा संभाले हुए हैं। किहार सेक्टर के खुंडी मराल, गढ़ माता, गुल्लू की मंडी, किहार, हुनाड़ और सेवा ब्रिज पर भी सुरक्षा चौकियां स्थापित हैं। जवान स्थानीय ग्रामीणों की भी मदद ले रहे हैं। पुलिस अधीक्षक चंबा डॉ. मोनिका ने बताया कि सीमा पर स्थित चौकियों में अलर्ट जारी किया गया है।

05-08-2019
हाई अलर्ट पर जम्मू-कश्मीर, घाटी के लिए रवाना हुए  राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल कश्मीर के लिए रवाना हो गए हैं। वह व्यक्तिगत तौर पर वहां पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेंगे। उनके वहां पहुंचने से पहले दस हजार सुरक्षा जवानों को और वहां भेजा गया है। जवानों की तत्काल तैनाती के लिए उन्हें हवाई रास्ते से जम्मू-कश्मीर ले जाया गया है।
बता दें कि आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में हलचल तेज हो गई है। जम्मू-कश्मीर में कड़े इंतजाम किए गए हैं। मौजूदा समय में अर्धसैनिक बलों के करीब एक लाख जवान मोर्चा संभाले हुए हैं। श्रीनगर और जम्मू में धारा 144 लागू हो चुकी है। दोनों शहरों में मोबाइल, इंटरनेट सेवा भी बंद है। यह पहला मौका है जब घाटी में मोबाइल, इंटरनेट सेवाओं के साथ लैंडलाइन सर्विस को भी बंद कर दिया गया है। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804