GLIBS
26-04-2020
मन की बात के जरिए पीएम मोदी ने किया देश को संबोधित, कहा - देशवासियों के जज्बे को सलाम

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लागू लॉक डाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रेडियो पर हर माह प्रसारित अपने कार्यक्रम ‘मन की बात’ के जरिए देश को संबोधित किया। मोदी ने कहा है कि कोरोना महामारी के खिलाफ पूरा देश जिस तरह एकजुट होकर पूरी ताकत से लड़ रहा है, उससे वह अत्याधिक उत्साहित हैं और देशवासियों के जज्बे को सलाम करते हैं। उन्हों ने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ चल रहे युद्ध के बीच ‘मन की बात’ कर रहे हैं। कोरोना के खिलाफ जिस तरह से देश के लोगों को उन्होंने एकजुट और पूरी ताकत के साथ लड़ते हुए देखा है, उससे वह अत्यंत उत्साहित हैं और देशवासियों के जज्बे को सलाम करते हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने की लड़ाई देश की जनता लड़ रही है और देश का हर नागरिक अपनी शक्ति के अनुसार इस लड़ाई में शामिल है। यह लड़ाई हर नागरिक और प्रशासन लड़ रहा है। देश का आम आदमी इस लड़ाई से बराबर जूझ रहा है। गली मोहल्लों मेंं यह लड़ाई लड़ी जा रही है। लोग एक दूसरे की मदद कर रहे है और पूरा देश एक साथ कोराना महामारी से जूझ रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोराना के खिलाफ यदि ताली, थाली या घंटी बजी है या दीया जला है तो उसने भी लोगों को इस लड़ाई में एकजुट करने की भावना पैदा कर सबको एक साथ जोड़ा है।

कोरोना के खिलाफ जारी जंग को देखते हुए ऐसा लगता है, जैसा पूरा देश एक महायज्ञ कर रहा है। हर आदमी अपनी सामर्थ्य से इसका सामना कर रहा है। कोई किरायेदार से किराया नहीं वसूल रहा है, कोई अपनी पेंशन और जीवनभर की कमाई इस लड़ाई के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड में जमा कर रहा है। कोई मास्क बना रहा है तो कोई भंडारा लगा रहा है। यही उमड़ता भाव भारत की इस लड़ाई को आगे बढा रहा है और हर आदमी कोरोना को हराने में जुटा है। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि कुछ सालों से देश का हर नागरिक एक होकर ज्यादा उत्साह और जज्बे के साथ देश की सेवा करने में जुटे हैं। यह काम चाहे स्वच्छ भारत का हो या शौचालय बनाने का हो, सबने मिलकर इस काम को आगे बढ़ाया है।

13-04-2020
Breaking : प्रधानमंत्री मंगलवार सुबह 10 बजे देशवासियों को करेंगे संबोधित, सभी को बेसबरी से इंतजार

रायपुर। कोरोना से बचाव और नियंत्रण के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिवसीय लॉक डाउन का ऐलान किया था। मंगलवार को 21 दिवसीय लॉक डाउन का अंतिम दिन है। ऐसे में तरह-तरह की संभावनाएं लगातार बन रही थी कि लॉक डाउन हटेगा या बढ़ेगा? अलग-अलग तरीके से सभी इस पर मंथन-चिंतन कर रहे हैं। बहरहाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार सुबह 10 बजे देशवासियों को संबोधित करने वाले हैं। पूरे देश को इस पल का बेसबरी से इंतजार था कि प्रधानमंत्री कब देश को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री के मंगलवार को संबोधन की पुष्टि स्वयं पीएमओ इंडिया ने ट्वीट कर की है। अब देखना है कि प्रधानमंत्री कल क्या दिशानिर्देश जारी करेंगे।

13-04-2020
बैसाखी खुशहाली का त्यौहार, सभी को शुभकामनाएं : डॉ चरणदास महंत

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने बैसाखी के पावन पर्व पर समस्त देशवासियों को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा कि बैसाखी का त्यौहार खुशहाली का त्यौहार है, इसे हर साल हम सभी मिल-जुल कर उत्साह से मनाते हैं। वर्तमान हालातों पर परम पिता परमेश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि कोरोना महामारी को समाप्त कर पुन: सर्वत्र खुशहाली प्रदान करें। सभी के सुख एवं सम्पन्नता की कामना करता हूँ।

02-04-2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को दी रामनवमी की बधाई

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव रामनवमी के अवसर पर सभी देशवासियों को बधाई दी है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि “रामनवमी के पावन अवसर पर समस्त देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं। जय श्रीराम।”

25-03-2020
राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को दी नवरात्रि की शुभकामनाएं

 नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को देशवासियों को हिन्दू नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए इस वर्ष की अपनी साधना को मानवता की उपासना करने वाले तथा काेरोना वायरस के फैलाव को रोकने में लगे सभी नर्स, डॉक्टर, मेडिकल स्टॉफ, पुलिसकर्मी और मीडियाकर्मी के उत्तम स्वास्थ्य के लिए समर्पित की। मोदी ने ट्वीट कर कहा,“सभी देशवासियों को नववर्ष विक्रम संवत 2077 की हार्दिक शुभकामनाएं। यह नववर्ष आप सबके जीवन में समृद्धि और उत्तम स्वास्थ्य लेकर आए।” तो वहीं राष्ट्रपति कोविंद ने देशवासियों को चैत्र शुक्लादि, उगादी, गुडी पड़वा, चेती चाँद, नवरेह और साजिबु चेरोबा की बधाई देते हुए कोरोना वायरस (कोविड-19) के निर्देशों का पालन करने की अपील की है। कोविंद ने ट्वीट कर कहा,“चैत्र शुक्लादि, उगादी, गुडी पड़वा, चेती चाँद, नवरेह और साजिबु चेरोबा के शुभ अवसर पर सभी देशवासियों को बधाई। मेरी कामना है कि ये त्यौहार सबके जीवन में स्वास्थ्य, शांति और समृद्धि का संचार करें। साथ ही, सभी देशवासी कोविड-19 का मुकाबला करने में निर्देशों का पालन करें।”

25-01-2020
मताधिकार को पुनीत कर्तव्य मानते हुए करे मतदान : एम वेंकैया नायडू

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शनिवार को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर देशवासियों से मतदान को पुनीत कर्तव्य मानते हुए देशहित में मतदान अवश्य करने की अपील की। नायडू ने ट्वीट कर कहा कि आज राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर देश के सभी मतदाताओं से आग्रह करता हूं कि वे मताधिकार को पुनीत कर्तव्य मानते हुए, राष्ट्र और समाज के हित में उसका प्रयोग करें। जागरुक और सजग मतदाताओं को लोकतंत्र की बुनियाद बताते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव लोकतंत्र का उत्सव मात्र नहीं बल्कि देश की प्रगति के लिए यज्ञ है। अपने मत से उसकी पवित्रता अक्षुण्ण रखें। कल (रविवार) राष्ट्र अपना गणतंत्र दिवस मनाएगा। जागरुक मतदाता हमारे लोकतांत्रिक गणराज्य की नींव हैं। उपराष्ट्रपति ने मतदान को धर्म और जाति के बजाय उम्मीदवार की योग्यता से निर्धारित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि मतदान करते समय जाति, धर्म, क्षेत्रीयता की संकीर्णता से ऊपर उठ कर उम्मीदवार के चरित्र, आचरण, विचारों, क्षमता और राष्ट्रनिष्ठा का विचार अवश्य करें। धनबल, आपराधिकता से मुक्त चुनाव प्रक्रिया की शुचिता सुनिश्चित करें।



 

 

26-11-2019
भूपेश बघेल ने की विधानसभा में घोषणा, प्रदेश के स्कूलों में पढ़ाया जाएगा संविधान

रायपुर। संविधान दिवस की 70वीं वर्षगांठ विधानसभा में विशेष सत्र हुआ। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसमें बड़ी घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के स्कूलों में बच्चों को अब संविधान की प्रस्तावना, मूल अधिकारों, मूल कर्त्तव्यों और राज्य की नीति निर्देशक तत्वों की जानकारी दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र के मूलभूत सिद्धांतों को जन जन तक पहुंचाने का एक अच्छा जरिया हमारे स्कूल हो सकते हैं। स्कूलों में प्रार्थना के बाद माह के प्रथम सोमवार को संविधान की प्रस्तावना, द्वितीय सोमवार को नागरिकों को दिए गए मौलिक अधिकारों, तृतीय सोमवार को को मूल कर्तव्यों और चतुर्थ सोमवार को नीति निर्देशक तत्वों का पठन किया जाना चाहिए,जिससे विद्यार्थियों को उनके बारे में जानकारी हो सके, उनमें जागरूकता बढ़े और भविष्य में वे देश के जिम्मेदार नागरिक बनें। मुख्यमंत्री ने सदन में कहा कि आज हमें अपने महान संविधान के प्रति अपने विश्वास, उसकी रक्षा करने के अपने संकल्प और उसके मूल्यों को आत्मसात कर, देश में लोकतंत्र को जिंदा रखने की वचनबद्धता को पुरजोर तरीके से दोहराने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यह जरूरी है कि संविधान की भावना जन-जन तक पहुंचे। संविधान ने देशवासियों को समता का अधिकार, इंसानी गरिमा दी और भारत को दुनिया में एक अलग पहचान दी। हमारा संविधान देशवासियों के लिए महज कागज का टुकड़ा नहीं बल्कि हमारी लोकतांत्रिक आस्थाओं का प्रतीक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा संविधान देश की अपनी तासीर, उसके मौलिक चिंतन, उसकी समतावादी आकांक्षाओं का प्रतिबिम्ब ही नहीं है, बल्कि इस बात का भी प्रतीक है कि इस देश का हर इंसान अपने संवैधानिक अधिकारों के लिए देश की सबसे बड़ी चौखट तक लड़ाई लड़ सकता है। भूपेश बघेल ने कहा कि प्रदेश में बड़ी संख्या में बच्चे कुपोषण से और महिलाएं एनीमिया से पीड़ित है। उन्हें कुपोषण और एनीमिया से मुक्ति दिलाने की हमारी जिम्मेदारी है। राज्य सरकार ने कुपोषण के खिलाफ जंग छेड़ी है। राज्य सरकार ने बस्तर के आदिवासियों की जमीन लौटा कर उनके कानूनी अधिकारों की रक्षा की। बहुत जल्द पत्रकारों की सुरक्षा का कानून लाया जा रहा है, ताकि पत्रकारों को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हक मिल सके। राज्य सरकार ने चिकित्सा सुविधा दूरस्थ अंचलों में लोगों के घर की डेहरी तक पहुंचाने का प्रयास किया है। 

मुख्यमंत्री ने देश के संविधान निर्माताओं को नमन करते हुए संविधान की प्रस्तावना को सदन में दोहराया। उन्होंने प्रस्तावना का उल्लेख करते हुए कहा कि हम भारत के लोग, भारत को एक संपूर्ण प्रभुत्व संपन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा इसके समस्त नागरिकों को न्याय, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिए तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखंडता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए, दृढ़ संकल्प होकर अपनी इस संविधान सभा में आज तारीख 26 नवम्बर 1949 ई. को एतद् द्वारा इस संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मार्पित करते हैं। मुख्यमंत्री ने संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ.राजेंद्र प्रसाद, संविधान निर्मात्री समिति के अध्यक्ष डॉ. भीमराव अंबेडकर, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, सरदार वल्लभभाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद और पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए उन्हें नमन किया। उन्होंने पंडित रविशंकर शुक्ल, घनश्याम सिंह गुप्ता, डॉ.हरिसिंह गौर, किशोरी मोहन त्रिपाठी, रामप्रसाद पोटाई, बैरिस्टर छेदीलाल, रघुवर जी, गणपतराव दानी, बीए मंडलोई, राजकुमारी अमृत कौर, बृजलाल बियाणी, सेठ गोविंद दास, हरि विष्णु कामथ, फ्रैंक एंथोनी, काजी सैयद करीमुद्दीन जैसे विद्वान संविधान सभा के सदस्यों को याद करते हुए उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री ने सदन में बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर के कथन का उल्लेख किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि – संविधान चाहे कितना भी अच्छा हो अगर उसे अमल में लाने वाले खराब हुए तो संविधान भी खराब सिद्ध होगा। हमें अपने कर्तव्यों के प्रति जागरूक रहना होगा। हर हाल में संवैधानिक मूल्यों की रक्षा का संकल्प लेना होगा। मुख्यमंत्री ने संविधान दिवस पर विशेष सत्र के आयोजन के लिए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि संविधान दिवस की 70 वीं वर्षगांठ पर विशेष चर्चा आयोजित कर अध्यक्ष महोदय ने संविधान और लोकतंत्र के प्रति जनप्रतिनिधियों की आस्था को अभिव्यक्त किया है।

14-09-2019
सीएम भूपेश बघेल ने देशवासियों को दी हिंदी दिवस की शुभकामनाएं

रायपुर। हिन्दी दिवस आज देश भर में मनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी देशवासियों को हिंदी दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएं दी है। उन्होंने ट्वीट किया है कि "निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।।" उन्होंने लिखा-आज ही के ऐतिहासिक दिन संवैधानिक प्रावधानों के तहत हिंदी को राजभाषा का दर्जा मिला था। सभी देशवासियों को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। हिंदी हैं हम!

22-07-2019
विस अध्यक्ष डॉ. महंत ने चन्द्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण पर देशवासियों को दी बधाई

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने आज हरिकोटा से भारत के महत्वाकांक्षी अभियान चन्द्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण और इसके प्रथम चरण की सफलता के लिए देश के सभी नागरिकों के साथ-साथ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के इस अभियान से जुड़े सभी वैज्ञानिकों, तकनीशियनों और स्टॉफ को विशेष रूप से बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। डॉ महंत ने कहा है कि भारत ने अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में एक ऊंची छलांग लगाई है और एक नया इतिहास रचा है। भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की इस अभूतपूर्व एवं गौरवशाली उपलब्धि पर सभी भारतवासियों में बेहद गर्व, खुशी और उल्लास है। उन्होंने चन्द्रयान-2 के सभी चरणों के लिए पूर्ण सफलता की कामना की और कहा है कि चांद पर इसके साफ्ट लेंडिग फिर इसी तरह सफल होगी और इसके लूनियर आर्बिटर, लैंडर और व्हीलर रोवर भी अपने उद्देश्यों में सफल होंगे। विस अध्यक्ष डॉ महंत ने उम्मीद व्यक्त की कि भारत शीघ्र ही रूस, अमेरिका और चीन के बाद चौथा ऐसा देश बनने में सफल होगा जिसके पास चांद पर साफ्ट लेंडिग करने की क्षमता उपलब्ध होगी। भारत का यह अंतरिक्ष अभियान और इससे मिलने वाली महत्वपूर्ण जानकारियां भारत और दुनिया के अंतरिक्ष विज्ञान को नई दिशा देने में भी कामयाब होंगी।

 

22-07-2019
मुख्यमंत्री  बघेल ने चन्द्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण पर देशवासियों को दी बधाई

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज श्री हरिकोटा से भारत के महत्वाकांक्षी अभियान-चन्द्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण और इसके प्रथम चरण की सफलता के लिए देश के सभी नागरिकों के साथ-साथ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के इस अभियान से जुड़े सभी वैज्ञानिकों, तकनीशियनों और स्टॉफ को विशेष रूप से बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा है कि भारत ने अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में एक ऊंची छलांग लगाई है और एक नया इतिहास रचा है। मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा है कि भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की इस अभूतपूर्व एवं गौरवशाली उपलब्धि पर सभी भारतवासियों में बेहद गर्व, खुशी और उल्लास है। मुख्यमंत्री ने आशा और विश्वास व्यक्त करते हुए चन्द्रयान-1 की सफलता के बाद चन्द्रयान-2 के सभी चरणों के लिए पूर्ण सफलता की कामना की और कहा है कि चांद पर इसके साफ्ट लेंडिग फिर इसी तरह सफल होगी और इसके लूनियर आर्बिटर, लैंडर और व्हीलर रोवर भी अपने उददेश्यों में सफल होंगे। मुख्यमंत्री ने उम्मीद व्यक्त की कि भारत शीघ्र ही रूस, अमेरिका और चीन के बाद चौथा ऐसा देश बनने में सफल होगा जिसके पास चांद पर साफ्ट लेंडिग करने की क्षमता उपलब्ध होगी। भारत का यह अंतरिक्ष अभियान और इससे मिलने वाली महत्वपूर्ण  जानकारियां भारत और दुनिया के अंतरिक्ष विज्ञान को नई दिशा देने में भी कामयाब होंगी।

09-04-2019
भारत माता की जय का मतलब 130 करोड़ देशवासियों के सपनों की जय

नई दिल्ली। राष्ट्रवाद को लेकर अकसर विपक्ष के निशाने पर रहने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि राष्ट्रवाद की परिभाषा व्यापक है और हमारा राष्ट्रवाद जन-जन के कल्याण के लिए है। उन्होंने कहा है कि  राष्ट्रवाद का मतलब 'भारत माता की जय' है। एक बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने राष्ट्रवाद का मतलब बताते हुए कहा कि जब मैं भारत माता की जय बोलता हूं और अगर मेरी भारत माता गंदी है तो फिर वह राष्ट्रवाद है क्या? अगर मैं भारत माता को स्वच्छ करने का अभियान चलाता हूं, तो वह राष्ट्रवाद है कि नहीं? अगर गरीब के पास रहने के लिए घर नहीं है और मैं घर बनाता हूं तो ये राष्ट्रवाद है कि नहीं? अगर मैं भारत माता की जय बोलता हूं लेकिन अगर हमारा गरीब बीमार है और वह अस्पताल तक जाने का इंतजार कर रहा है। अगर आयुष्मान भारत योजना के तहत उसको पांच लाख तक के दवाई की मदद मिलती है तो यह राष्ट्रवाद है कि नहीं?  हमारे देश के किसान आधुनिक खेती करें, अन्न उत्पादन करें, अन्न के पूरे दाम पाएं, एमएसपी लागू करूं, लागत का डेढ़ गुना कीमत दूं तो यह राष्ट्रवाद है कि नहीं? देश के जवानों को ताकतवर बनाने के लिए आधुनिक हथियार और सामग्री उपलब्ध करवा सकूं तो वह राष्ट्रवाद है कि नहीं? मोदी ने कहा कि भारत माता की जय का मतलब होता है, 130 करोड़ देशवासियों के सपनों की जय। इस बार के लोकसभा चुनाव में जनता के सामने वोट मांगने के आधार पर चर्चा करते हुए कहा कि विकास का मुद्दा ही है जिसे लेकर लोगों के बीच जाएंगे। विकास दो पटरियों पर चलता है-सोशल इन्फ्रास्ट्रक्चर और फिजिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर। देश के अंदर बहुत से लोग ऐसे हैं जिनको अभी भी प्राथमिक सुविधाएं पहुंची नहीं हैं। जिसके पास घर नहीं है उनको घर देना, जिसके पास दवाई नहीं है उसको दवाई देना। जिसके पास शिक्षा नहीं है उसको शिक्षा देना स्वास्थ्य सेवाएं आदि। भारत का हर नागरिक सम्मान और निश्चिंतता के साथ जी सके, इस बात का ख्याल रखना हमारी प्राथमिकता है। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804