GLIBS
02-12-2019
विवाद सुलझाने पहुंचे पुलिसकर्मियों को लोगों ने बंधक बनाकर पीटा, दो महिला कांस्टेबल समेत चार घायल  

देहरादून। डाकपत्थर चौकी क्षेत्र अंतर्गत जीवनगढ़ स्थित कुरैशी मोहल्ले में दो पक्षों के बीच विवाद को सुलझाने पहुंचे पुलिस कर्मियों को एक पक्ष के लोगों ने जबरन कमरे में  बंद कर उनके साथ धक्का मुक्की की। इसमें चौकी प्रभारी डाकपत्थर शिशुपाल राणा समेत चार पुलिस कर्मी घायल हो गए। इन घायल पुलिस कर्मियों में दो महिला कॉस्टेबल भी हैं। सभी को उपचार के लिए सीएचसी विकासनगर ले जाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। तनाव बढ़ता देख मौके पर भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया। मामले में पुलिस ने सात महिलाओं समेत 11 लोगों के खिलाफ लोक सेवक पर हमला करने, बंधक बनाने, मारपीट और सरकारी कामकाज में बांधा का मुकदमा दर्ज किया।
 
लोगों ने पुलिस कर्मियों के साथ धक्का मुक्की और हाथापाई की

जानकारी के अनुसार रविवार सुबह इंतजार पुत्र वली मोहम्मद निवासी कुरैशी मोहल्ला जीवनगढ़ ने पुलिस को फोन पर सूचना दी कि उसके भाई गुलबहार, उसकी बेटियों और अन्य परिजनों ने उसे, उसकी पत्नी और बेटे को मारपीट कर एक कमरे में बंद कर दिया है। सूचना पर डाकपत्थर चौकी प्रभारी शिशुपाल राणा फोर्स मौके पर पहुंचे। जब वह मौके पर पहुंचे तो वहां पर काफी भीड़ एकत्र थी। पुलिस ने किसी तरह कमरे में बंद किए गए इंतजार और उसके परिवार वालों को छुड़ाया। तीनों को छुड़ाते ही वहां मौजूद लोगों ने पुलिस कर्मियों के साथ धक्का मुक्की और हाथापाई शुरू कर दी। इसके बाद उन्हें एक कमरे में बंद कर दिया गया।

किसी तरह पुलिस कर्मियों को छुड़ाया गया

इस हाथापाई में चौकी प्रभारी के साथ ही कॉस्टेबल रमिंदर महिला चीता में नियुक्त महिला हेड कांस्टेबल मंजू और कांस्टेबल दीपा चोटिल हो गई। फोन पर ही चीता पुलिस ने पुलिस फोर्स की डिमांड की। इसके बाद मौके पर भारी पुलिस बल पहुंच गया। किसी तरह कमरे में बंद पुलिस कर्मियों को छुड़ाया गया। मामले में पुलिस ने गुलबहार पुत्र वली मोहम्मद उसकी पत्नी रेहाना, पुत्री सेबो, मुस्कान, अजरा, शबाना पुत्नी फुरकान, बदलू पुत्र वली मोहम्मद,  मोहनीश व भोजा पुत्र फुरकान, सानो पत्नी फुरकान सभी निवासी कुरैशी मोहल्ला जीवनगढ़ और नाजो पुत्री इकलाख निवासी मिर्जापुर जिला सहारनपुर यूपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। एसएसआई गिरीश नेगी ने बताया कि जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।  

01-12-2019
हैदराबाद मामला : एसआई सहित 3 पुलिसकर्मी निलंबित, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

हैदराबाद। महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप के बाद कोताही बरतने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की है। साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार ने इस मामले में 3 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार ने कहा, '27-28 नवंबर की दरम्यानी रात को एक महिला के लापता होने के मामले में शमशाबाद पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज करने में देरी संबंधी ड्यूटी में कोताही बरतने के मामले में विस्तृति जांच की गई। पुलिस कमिश्नर ने आगे बताया कि जांच के नतीजों के आधार पर सब इंस्पेक्टर एम. रवि कुमार, हेड कॉन्स्टेबल पी. वेणुगोपाल रेड्डी और हेड कॉन्स्टेबल ए. सत्यनारायण गौड़ को अगले आदेश तक निलंबित कर दिया गया है।

मृतक डॉक्टर के परिवार वालों ने यह आरोप लगाया था कि साइबराबाद पुलिस उन्‍हें दौड़ाती रही। अगर उसने तत्‍काल कार्रवाई की होती तो पीड़‍िता को जिंदा बचाया जा सकता था। मां ने बताया कि घटना के बाद मेरी छोटी बेटी थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंची लेकिन उसे दूसरे थाने शमशाबाद भेज दिया गया। पुलिस ने कार्रवाई की बजाय कहा कि यह मामला उसके क्षेत्र में नहीं आता है। बाद में पीड़‍िता के परिवार के साथ कई सिपाही लगाए गए और सुबह 4 बजे तक तलाशी अभियान चलाया गया लेकिन उसका पता नहीं चल पाया। पीड़‍िता की बहन ने कहा, 'एक पुलिस स्‍टेशन से दूसरे पुलिस स्‍टेशन जाने में हमारा काफी समय बर्बाद हो गया। अगर पुलिस ने समय बर्बाद किए बिना कार्रवाई कर दी होती तो मेरी बहन आज जिंदा होती।'

30-11-2019
महिलाओं की सुरक्षा के लिये प्रदेश और राजधानी में पेट्रोलिंग बढ़ाने डीएम अवस्थी  ने दिए निर्देश 

रायपुर। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखकर निर्देशित किया है कि प्रमुख स्थानों ओैर सुनसान जगहों पर पेट्रोलिंग बढ़ायी जाये। हाल ही में रॉची एवं हैदराबाद में महिलाओं के साथ घटित घटनाओं को ध्यान में रखते हुए उक्त निर्देश जारी किये गये हैं। निर्देश के अनुसार महिलाओं के प्रति सुनसान जगहों या अन्य स्थानों पर दुष्कर्म, छेड़खानी या दैहिक शोषण की घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस लगातार पेट्रोलिंग करेंगी। राजधानी में अटल नगर (नवा रायपुर), टाटीबंध, रायपुरा, भाटागांव, बोरियाकला, माना, सड्डू, उरला और कबीर नगर के अलावा तीनो रिंग रोड़ के आसपास के क्षेत्रों में पेट्रोलिंग एवं फिक्स पिकेट बढा़ने के निर्देश दिये गये हैं। इसके साथ ही पुलिसकर्मियों को निर्देश दिये गये हैं कि रात्रिकालीन बस, ट्रेन एवं अन्य परिवहन साधनों में आकस्मिक चेकिंग की जाये जिससे महिलाओं के विरूद्ध कोई अपराध घटित न होने पाये।


निर्देश में कहा गया है कि चूंकि पुलिसकर्मी वर्दी में हमेशा ड्यूटी में रहते हैं इसलिए ड्यूटी आते एवं लौटते समय पुलिसिंग के लिये तत्पर रहें। पुलिस की यह समाज के प्रति नैतिक जिम्मेदारी भी है। महिलाओं की सुरक्षा के संबंध में कोई भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। किसी भी प्रकार की शिकायत मिलने पर सख्त कार्यवाही की जायेगी। महिलाओं के प्रति घटनाओं के रोकथाम के लिये कंट्रोल रूम में हेल्पलाईन नंबर, महिला डेस्क एवं अन्य सुविधायें भी प्रदान की जा रही हैं। आपात समय में हेल्पलाईन नंबर अथवा कंट्रोल रूम में तुरंत संपर्क किया जा सकता है।

28-11-2019
शिवाजी पार्क बना छावनी, दो हजार पुलिसकर्मी करेंगे शपथ ग्रहण समारोह की सुरक्षा

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर गुरुवार शाम को शपथ लेने जा रहे शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे  के शपथ ग्रहण समारोह के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। इन सुरक्षा इंतजामों के तहत शिवाजी पार्क की सुरक्षा में कम से कम 2,000 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। यह ऐतिहासिक स्थल आज शाम एक तरह से अभेद्य किले में तब्दील हो जाएगा, जहां किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए त्वरित प्रतिक्रिया दल, दंगा रोधी पुलिस, राज्य रिजर्व पुलिस बल, स्थानीय सशस्त्र पुलिस और बम निष्क्रिय दस्ते समेत विभिन्न सुरक्षा बल के कर्मियों की तैनाती की जाएगी। अधिकारी ने बताया कि दादर इलाके में स्थित विशाल मैदान की निगरानी के लिए श्वान दस्ते की भी तैनाती होगी। उन्होंने बताया कि सादी वर्दी में भी पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। साथ ही कहा कि भीड़ पर नजर रखने के लिए ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों को किसी तरह का बैग या पानी की बोतल ले जाने की इजाजत नहीं मिलेगी। पार्क के भीतर जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जांच की जाएगी। शिवसेना से जुड़े लोग शिवाजी पार्क से भावनात्मक तौर पर जुड़े हुए हैं क्योंकि यह वह स्थान है जहां पार्टी के संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे अपनी दशहरा रैलियों को संबोधित करते थे। इस परंपरा को अब उनके बेटे उद्धव ठाकरे निभा रहे हैं। 

25-11-2019
कौशिक की शिकायत पर टीआई समेत 9 पुलिसकर्मियों पर दर्ज हुई एफआईआर, जाने क्या है मामला

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक द्वारा पुलिस हिरासत में हुई मौत को लेकर विधानसभा में लगाए गए प्रश्न पर गृह विभाग रातो-रात सक्रीय हुआ और इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गयी है। इसमें सबसे दिलचस्प बात ये है कि इनमे से एक मामले को न्यायिक जांच में क्लीन चिट देती है। बता दें कि नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक का यह प्रश्न 27 नवंबर को लगा है, और इसमें गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को जवाब देना था। लेकिन शीतकालीन सत्र शुरू होने के पहले पीएचक्यू ने आनन-फ़ानन में दोनों मामलों में अपराध दर्ज करा दिया। दोनों मामले सरगुजा रेंज के हैं, जिनमें से एक चंदौरा थाने का है, जहां ASI समेत चार पर धारा 342 के तहत अपराध दर्ज किया गया है। चंदौरा के लॉकअप में व्यक्ति को रखा गया था जिसकी कोई सुचना थाने के दस्तावेजों में दर्ज नहीं थी, और उस व्यक्ति ने ख़ुदकुशी कर ली। दूसरा मामला कोतवाली अंबिकापुर का है, जहां पुलिस हिरासत से भागे चोरी के आरोपी का शव फाँसी लगे हालत में एक नीजि अस्पताल के परिसर में मिला था। प्रकरण की न्यायिक जाँच में पुलिस के ख़िलाफ़ कोई टिप्पणी नहीं की गई थी, लेकिन इस मामले में भी रातों रात FIR की गई है। कोतवाली के इस मामले में टीआई समेत पाँच के ख़िलाफ़ 306 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है।

 

21-11-2019
जली हुई लाश मिलने से इलाके में फैली सनसनी, जांच में जुटी पुलिस

भिलाई। भट्टी थाना क्षेत्र अंतर्गत रेलवे क्रॉसिंग के पास एक अनजान युवक की जली हुई लाश मिलने से आस-पास के इलाके में सनसनी फ़ैल गयी है। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार युवक की उम्र लगभग 35 से 40 वर्ष के बीच है और फ़िलहाल उसकी पहचान नहीं हो पाई है।

21-11-2019
एसपी बी.पी राजभानु ने विभाग में किया बड़ा फेरबदल, देखें सूची…

धमतरी। जिले के नए एसपी बी.पी राजभानु ने विभाग में बड़ा फेरबदल किया है। जारी सूची में 30 पुलिसकर्मियों के कार्यस्थल में फेरबदल किया गया है। इसमें निरीक्षक, उप निरीक्षक, सहायक निरीक्षक, प्रधान आरक्षक, आरक्षक शामिल है। देखें सूची किसको कहा मिली पोस्टिंग...

19-11-2019
40 एसआई, एएसआई एवं 12 आरक्षकों के हुए तबादले

रायपुर। पुलिस मुख्यालय नवा रायपुर द्वारा मंगलवार को कानून व्यवस्था के सुचारू संचालन के संबंध में 40 एसआई, एएसआई एवं 12 आरक्षकों के तबादले हुए। तबादला आदेश में निश्चित अवधि में पुलिसकर्मियों को अपनी तैनाती स्थल में कार्यभार ग्रहण करने के निर्देश दिए गए हैं।

15-11-2019
मेट्रो प्रोजेक्ट का शिलान्यास करेंगे योगी आदित्यनाथ, सुरक्षा के होंगे पुख्ता इंतजाम

नई दिल्ली। शुक्रवार को कानपुर में मेट्रो प्रोजेक्ट का शिलान्यास करने आ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। ड्रोन से निगरानी होगी। डेढ़ हजार जवानों को सुरक्षा में तैनात किया गया है। आईआईटी परिसर के आसपास के घरों की छतों पर भी पुलिस के जवान मुस्तैद रहेंगे। आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री का डेढ़ घंटे का कार्यक्रम है। सुरक्षा व्यवस्था में 15 सीओ, पांच एएसपी, तीन आईपीएस, बीस इंस्पेक्टर समेत डेढ़ हजार सिपाहियों के साथ एक कंपनी पीएसी भी रहेगी। आईआईटी के आसपास बगैर वर्दी भी पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे। एलआईयू भी सक्रिय रहेगी। सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में गुरुवार को आईआईटी में बैठक हुई। बैठक में डीएम विजय विश्वास पंत, एडीजी प्रेम प्रकाश, आईजी मोहित अग्रवाल, एसएसपी अनंत देव, एसपी पश्चिम अनिल कुमार प्रमुख रूप से मौजूद रहे। बीते करीब पांच सालों से मेट्रो की खबरें पढ़ते-सुनते आए शहरवासियों के लिए अब खुशी का मौका है। शुक्रवार को आईआईटी से मोतीझील तक प्रस्तावित मेट्रो परियोजना के काम की शुरुआत होगी। इसके साथ ही मेट्रो के ट्रैक व स्टेशन बनाने का काम शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री के आगमन के मद्देनजर गुरूवार को जिला प्रशासन, उप्र मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूपीएमआरसी), नगर निगम, केडीए आदि विभागों के अधिकारी तैयारियों को अंतिम रूप देते नजर आए।

 

14-11-2019
Breaking : स्कूटी और बाइक में हुई भिड़ंत, गंभीर रूप से घायल हुआ अध्यापक

 

दंतेवाड़ा। गीदम के हारम चौक में स्कूटी और बाइक की टक्कर हो गयी। बाइक क्रमांक CG 05 U 9630 सवार अशोक पिचदा को गंभीर चोटें आई है और स्कूटी सवार अरुण यादव एवं पुलिसकर्मी कृष्णा नाग को मामूली चोट आई है। बता दें कि अशोक पिचदा एक स्कूल में अध्यापक है।

07-11-2019
आज भी ठप रहेंगे निचली अदालतों के कामकाज, वकील कर सकते है प्रेस कॉन्फ्रेंस

नई दिल्ली। दिल्ली की जिला अदालतों की कॉर्डिनेशन कमेटी ने बुधवार शाम सभी बार एसोसिएशनों के अध्यक्षों के साथ बैठक की। इसमें अध्यक्षों ने सभी निचली अदालतों में हड़ताल जारी रखने का निर्णय लिया। इससे गुरुवार को भी सभी निचली अदालतों में कामकाज ठप रहेगा। इसके साथ ही जानकारी मिल रही है कि वकील गुरुवार सुबह प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। कॉर्डिनेशन कमेटी के अध्यक्ष महावीर सिंह और धीर सिंह कसाना ने बुधवार को कहा था कि तीस हजारी कोर्ट में वकील को गोली मारने के आरोपी पुलिसकर्मी अब भी खुले घूम रहे हैं। उन्हें पुलिस के अधिकारी गिरफ्तार क्यों नहीं कर रहे। उन्होंने कहा कि बार एसोसिएशन तब तक काम पर नहीं लौटेंगी, जब तक आरोपी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता। इसलिए तीस हजारी, साकेत, द्वारका, पटियाला हाउस, राउज एवेन्यू और कड़कड़डूमा कोर्ट में पूरी तरह काम की हड़ताल रहेगी।

उधर, बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने कहा कि अदालतों के बाहर किसी भी प्रकार की हिंसक गतिविधि को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने साफ कर दिया कि अदालतों के बाहर वकील, पुलिस या किसी अन्य के द्वारा कोई हिंसा होती है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।उन्होंने बताया कि बार काउंसिल ऑफ इंडिया इन दिनों हो रही सभी घटनाओं को गंभीरता से ले रहा है। पुलिसकर्मियों सहित वकीलों की गतिविधियों पर भी नजर है। उन्होंने वकीलों से अपील की है कि वे किसी भी हालत में हिंसात्मक गतिविधि में शामिल होने से बचें।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804