GLIBS
05-09-2020
कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मी की मौत

रायपुर। शहर के कबीर नगर थाना क्षेत्र के पुलिसकर्मी की कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत हो गई। उनका इलाज रायपुर एम्स में चल रहा था। कोरोना संक्रमित उत्तरा कुमार नेताम की मौत हो गई।

24-08-2020
चार दिवसीय विधानसभा सत्र के लिए पुलिसकर्मियों की कोरोना जांच, सभी की रिपोर्ट निगेटिव...

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के चार दिवसीय सत्र के लिए परिसर में तैनात पुलिस अफसरों और कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट कराया गया है। रायपुर स्थित विधानसभा परिसर में तैनात एक आरक्षक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उसे विधानसभा की ड्यूटी से हटाया गया है। साथ ही कोरोना निगेटिव आने वाले 100 पुलिस वालों की ड्यूटी 4 दिन तक विधानसभा परिसर में ही रहेगी।

23-08-2020
Video: पालिका अध्यक्ष ने किया भूपेश बघेल के जन्मदिन पर कोरोना योद्धाओं का सम्मान

जांजगीर चाम्पा। नगरपालिका चांपा के पालिका अध्यक्ष जय थवाईत ने पालिका परिसर पर कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जन्मदिवस पर यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद पाढ़ी के निर्देशानुसार से शहर यूथ कांग्रेस के नेतृत्व में चाम्पा नगर के कोरोना वारियर्स पुलिसकर्मी ,डॉक्टर,नर्स और सफाईकर्मी का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में यूथ कांग्रेस शहर अध्यक्ष पंकज शुक्ला, सुरेश देवांगन, जिला महसचिव युवा कांग्रेस, संतोष दुबे, आलोक यादव, भूपेन्द्र यादव, राजेश देवांगन,अजय सोनी, शेखर सोनी, जय सेवायक आदि उपस्थित थे।

 

18-08-2020
आरक्षक और एएसआई को कार रोककर मास्क कहां है पूछना पड़ा महंगा, कार चालक ने चढ़ाई कार...

रायपुर। बिना नंबर की क्रेटा कार को रोकना पुलिसकर्मी को महंगा पड़ गया। क्रेटा कार के ड्राइवर ने वाहन चैकिंग में लगे एएसआई और आरक्षक पर गाड़ी चढ़ा दी। दोनों पुलिसकर्मी मौके पर ही घायल हो गए। मामला राजेंद्र थाना क्षेत्र के अमलीडीह चौक का है। जहां महासमुंद जिले से कोरोना संक्रमण ड्यूटी पर रायपुर आए सहायक उप निरीक्षक जगतपाल सिंह ठाकुर और आरक्षक ड्यूटी पर तैनात थे। घटना सोमवार की है, जब बिना नम्बर की व्हाइट कलर क्रेटा तेज रफ्तार से आ रही थी। इसी दौरान आरक्षक ने इशारे से कार को रोका, ड्राइवर और उसके साथ बैठे व्यक्ति को मास्क नहीं लगाने के संबंध में पूछताछ की, ठीक इसी समय ड्राइवर ने आरक्षक की बात को अनदेखा कर जानबूझकर गाड़ी को आगे बढ़ा दिया। अचानक कार के आग बढ़ने से आरक्षक खुद को संभाल नहीं पाया। इस दौरान कार के आगे खड़े एएसआई और आरक्षक दोनों कार की चपेट में आकर घायल हो गए। 

हादसे के बाद कार सवार वहां से कार ले​कर फरार हो गया। घटना स्थल पर तैनात आरक्षक ने तत्काल वाहन का पीछा कर ड्राइवर समेत कार को हिरासत में ले लिया। एएसआई की लिखित शिकायत पर न्यू राजेंद्र नगर थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा समेत कई अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जानकारी के मुताबिक कार सवार दोनों युवक हुंडई कंपनी के कर्मचारी हैं, गाड़ी रिपेयर करने के बाद गैरेज से ट्रायल पर निकले थे।

12-08-2020
सिटी कोतवाली सील, 4 और पुलिस कर्मी कोरोना पॉजिटिव

सुकमा। सिटी कोतवाली सुकमा के 4 पुलिसकर्मियों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद थाने को सील कर दिया गया है। बताया गया कि बुधवार को कोरोना वॉरियर्स पॉजिटिव पाए गए हैं। जिला मुख्यालय में 8 कोरोना मरीज सामने आए हैं। जिला कोविड प्रभारी व एसडीएम सुकमा नब एल इस्माइल ने पुष्टि की है।

31-07-2020
Video: पुलिसकर्मी मिला कोरोना पॉजिटिव, थाने को किया गया सील

अंबिकापुर। प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच पुलिसकर्मी भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। अब सरगुजा संभाग के दरिमा थाना में पदस्थ एक पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसके बाद दरिमा थाना को सील कर दिया गया है। थाना में पदस्थ सभी पुलिस कर्मियों और अधिकारियों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। वहीं थाना को सील करने के साथ ही सैनिटाइज किया जा रहा है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओम चंदेल ने बताया कि पुलिस जवान की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद दरिमा थाने में पदस्थ सभी पुलिस कर्मियों को क्वारेंटाइन किया गया है और उनकी जांच कराई जा रही है। वही अतिरिक्त जवान भेजकर थाने के कामकाज के लिए अन्य जगह तलाश की जा रही है ताकि थाने का काम सुचारू रूप से हो सके और लोगों को परेशानियों का सामना ना करना पड़े।

 

27-07-2020
आत्महत्या के मामले में निलंबित टीआई समेत अन्य पुलिसकर्मी वापस बहाल...

रायपुर/अंबिकापुर। बहुचर्चित पंकज बेक आत्महत्या मामले में डीजीपी डीएम अवस्थी ने एक आदेश जारी कर टीआई समेत अन्य लोगों को ​बहाल कर दिया है। बता दें कि चोरी के मामले में पंकज बेक को पुलिस पूछताछ के लिए थाने लाई थी। जहां बेक ने भागकर अंबिकापुर के एक निजी अस्पताल में आत्महत्या कर ली थी। लेकिन एक साल बाद भी यह केस सुलझा नहीं है। मामले में एक साल पहले टीआई समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया था। उन्हें अब निलंबन से मुक्त करते हुए रायपुर में नई पदस्थापना दी गई है। बहाल किए गए पुलिसकर्मियों में टीआई विनीत दुबे, उप निरीक्षक मनीष यादव, उप निरीक्षक प्रियेश जॉन, आरक्षक दीनदयाल सिंह और लक्ष्मण राम कुजूर शामिल हैं। सभी पुलिसकर्मी पहले सरगुजा में तैनात थे।

23-07-2020
112 के कर्मचारियों की रिपोर्ट आने के बाद आरंग थाना सील

रायपुर। आरंग पुलिस थाना में पदस्थ डायल 112 के पांच कर्मचारियों और उनके परिवार के चार लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद थाने को सील कर दिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक डॉयल 112 में तैनात एक पुलिसकर्मी का स्वास्थ्य खराब होने पर आरंग के सरकारी अस्पताल में रेपिड किट से कोरोना टेस्ट कराया गया था। बुधवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद पुलिस थाना के सारे कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट किया गया। टेस्ट में डॉयल 112 में तैनात तीन पुलिसकर्मी, दो ड्राइवर और उनके परिवार के चार सदस्यों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एक संक्रमित पुलिसकर्मी की पत्नी, बेटी के अलावा अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई कर रहा बेटा भी पॉजिटिव निकला है। एक पुलिसकर्मी की पत्नी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सभी कोरोना संक्रमितों को रायपुर स्थिति कोविड-19 हॉस्पिटल भर्ती करा दिया गया है। अब आरंग थाने को भी सील कर दिय गया है।

17-07-2020
हिर्री थाना पुलिस को चकरभाठा थाने की मिली जिम्मेदारी, चकरभाठा थाना सील

रायपुर/बिलासपुर। शहर के चकरभाठा थाना में पदस्थ एक पुलिसकर्मी के एक परिजन को कोरोना वायरस पॉजिटिव आने की खबर के बाद चकरभाटा थाने को सील कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक ने चकरभाठा थाने में पदस्थ सभी अधिकारियों कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट कराने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही आगामी आदेश तक चकरभाठा थाने को सील कर वहां का सारा कार्य हिर्री थाने से किए जाने का निर्देश दिया है।

09-07-2020
Breaking : महाकाल के दर्शन करने पहुंचा कुख्यात आरोपी विकास दुबे गिरफ्तार

कानपुर/रायपुर। कुख्यात गैंगस्टर और आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का गुनाहगार आरोपी विकास दुबे उज्जैन में गिरफ्तार हो गया है। जानकारी के मुताबिक विकास दुबे सुबह 7:45 अपने कुछ साथियों के साथ 250 रुपए का टिकट लेकर महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए आया था। इस दौरान वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों को शक हुआ तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिसकर्मी उसे चौकी लेकर पहुंचे।‌ बाद में उज्जैन एसपी मनोज सिंह दुबे को गिरफ्तार कर कंट्रोल रूम ले गए।

यह भी बताया जा रहा है कि मंदिर के अंदर पहुंचा एक शख्स चिल्ला-चिल्लाकर खुद को विकास दुबे बताने लगे, इस पर परिसर में तैनात सुरक्षा गार्ड ने उसे पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दी। तुरंत ही इस बात की सूचना पुलिस अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश पुलिस को दी। विकास दुबे के पकड़े जाने को लेकर दो बातें सामने आ रही हैं, पहली यह कि वो सरेंडर करने के लिए ही यहां आया था और दूसरी उसे महाकाल मंदिर के सुरक्षा गार्ड ने पहचान लिया और पुलिस को सूचना दे दी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804