GLIBS
08-10-2020
राशन हेराफरी मामले में सेल्समैन के खिलाफ जांच के बाद भी कार्रवाई में हो रही देरी

कवर्धा। बारदी सोसाइटी के सेल्समैन के ऊपर पहले भी गड़बड़ी के आरोप लगे हैं। उसके बाद अब बरदुली सोसाइटी में भी उसी सेल्समैन पर गबन का आरोप लगा है। दअरसल बारदी के सेल्समैन को अटैच में बरदुली के सोसायटी में राशन वितरण करने की जिम्मेदारी दी गई थी, लेकिन सेल्समैन ने वहां भी राशन में हेराफेरी कर दी। केंद्र सरकार के हितग्राहियों के कार्ड में पर सदस्य करीब 5-5 किलो चावल अतिरिक्त दिया गया था। लेकिन इसकी जानकारी न देते हुए सेल्समेन ने हितग्राहियों को अतिरिक्त राशन वितरण नहीं किया। बरदुली कि सरपंच को वितरण के ऑनलाइन जांच में पता चला कि केंद्र की चावल का वितरण नही किया है और राशन वितरण बता रहा है। इसकी शिकायत पर खाद्य विभाग ने टीम गठित की है। कार्रवाई करने की जिम्मेदारी एसडीएम की है पर जांच रिपोर्ट नही मिली है करके कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। वही जांच टीम, मामले की जांच कर एसडीएम को सौंप देने की बात कह रही है।

वर्जन
चावल की हेराफेरी की शिकायत मिली थी, टीम बनाकर रोहित चंद्रवंशी सेल्समैन के खिलाफ जांच की गई। जांच रिपोर्ट टीम ने एसडीएम को सौंप दिए है। कार्रवाई करने का अधिकार उन्हें ही है।
अरुण मेश्राम, खाद्य निरीक्षक, खाद्य विभाग कवर्धा

वर्जन
शिकायत पर टीम मामले की जांच कर रहे है। जांच के बाद रिपोर्ट अब तक नहीं मिली है। रिपोर्ट मिलने के बाद भी कार्रवाई की जानकारी दे पाऊंगा।

विपुल गुप्ता एसडीएम कवर्धा।

 

26-09-2020
पुलिस ने फूड इंस्पेक्टर, ट्रक मालिकों व सेल्समैन को किया नोटिस जारी 

रायपुर/दंतेवाड़ा। जिले के वेयरहाउस से 403 बोरी चावल की हेराफेरी का मामला उलझता जा रहा है। एसडीएम लिंगराज सिद्धार्थ का कहना है कि मामले की जांच पुलिस द्वारा की जा रही है। पुलिस का कहना है कि अभी सभी तथ्यों पर जांच चल रही है। फूड इंस्पेक्टर ट्रक मालिक व सेल्समैन को नोटिस जारी किया गया है। जांच उपरांत आगे की कार्यवाही की जावेगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार एक ही लॉट नंबर का चावल दो स्थान पर कैसे उपयोग हो सकता है? जिस लॉट नंबर का चावल दंतेवाड़ा वेयर हाउस से भेजे जाने का मामला उजागर हुआ है। उसमें लांट नंबर 7098 का चावल 14 सितंबर को सुकमा वेयर हाउस में 400 बोरी पीडीएस का चावल जमा होने कि जानकारी मिली है, जो बस्तर जिले के बकावंड राजा राइस मिल का चावल बताया जा रहा है। 

गुडसे राशन दुकान के सेल्समैन घेनवाराम ने फूड इंस्पेक्टर योगेश मिश्रा पर गंभीर आरोप लगाते हुए शपथ पत्र में मीडिया के सामने दिए बयान के बाद नए पहलू सामने आ रहे हैं। सेल्समैन घेनवाराम, फूड इंस्पेक्टर योगेश मिश्रा द्वारा दबाव डालकर बयान देने को कहा, जबकि सेल्समैन द्वारा अपने बयान में साफ-साफ कहा गया है कि 18 तारीख को जो चावल गुड़से के लिए निकला था वहां उसके पास नहीं पहुंचा है। इस पूरे मामले में अभी तक एसडीएम लिंगराज सिद्धार्थ जांच अधिकारी द्वारा सभी पहलुओं पर सभी के बयान ले लिए गए हैं। उसके बावजूद अब तक चावल हेरा फेरी मामले में कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। जबकि जारम लावारिस चावल से भरे ट्रक को कोतवाली में लाकर खाद निरीक्षक अधिकारी व पुलिस के सामने एक-एक बोरा का पंचनामा किया गया है। पंचनामा किए 48 घंटे होने को आए उसके बावजूद कोई जिम्मेदार अधिकारी इस विषय में बोलने को तैयार नहीं है। इस जांच के चक्कर में 7 दिनों से पीडीएस के चावल से भरे तीन ट्रक जिला कोतवाली में खड़े हैं, जिसे नक्सल प्रभावित क्षेत्र के अलग-अलग गांव में सरकारी राशन दुकानों में भेजा जाना है। इसके बाद यह चावल ग्रामीणों में वितरण किया जाएगा। इस मामले को लेकर जिला भाजपा अध्यक्ष हुंगाराम मरकाम ने आज कलेक्टर को चावल हेरा-फेरी मामले में निष्पक्ष जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा है। 

18-09-2020
कम्प्यूटर ऑपरेटर, सेल्समैन एवं सेल्स मैनेजर के लिए 26 तक आवेदन आमंत्रित

रायपुर/कांकेर। कांकेर शहर के दो प्राइवेट कंपनियों में सेल्स मैनेजर, कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं सेल्स मैन के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए जिला रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र कांकेर में 24 से 26 सितम्बर तक सुबह 11.30 बजे से शम 4.30 बजे तक स्वयं उपस्थित होकर अपना आवेदन पत्र संपूर्ण दस्तावेज के साथ जमा किया जा सकता है। जिला रोजगार अधिकारी बीआर ठाकुर ने बताया कि प्राप्त आवेदनों के आधार पर नियोक्ता द्वारा प्राथमिक चयन कर साक्षात्कार लिया जाएगा, जिसकी सूचना फोन के माध्यम से आवेदक को दिया जाएगा। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए जिला रोजगार कार्यालय कांकेर में कार्यालयीन समय पर संपर्क किया जा सकता है।

17-09-2020
निजी होटल के सेल्समैन के खिलाफ 26 लाख रुपए गबन करने का आरोप

रायपुर। शहर के तेलीबांधा थाना इलाके में स्थित एक मशहूर होटल के सेल्समैन के खिलाफ अमानत पर खयानत का मामला दर्ज हुआ है। होटल के फायनेंस कंट्रोलर ने सेल्समैन पर 26 लाख रुपए के गबन का आरोप लगया है। मामले की जानकारी देते हुए तेलीबांधा थाना प्रभारी रमाकांत साहू ने बताया कि कोटयार्ट मेरियट के फायनेंस कंट्रोलर ई.वी. रमन्ना रेड्डी ने सेल्समैन सौरव हाजरा पर यह रिपोर्ट दर्ज कराया है। रेड्डी ने पुलिस को बताया है कि सेल्समैन सौरभ साल 2016 से होटल में कार्यरत है। उसे होटल में जो भी इवेंट आते हैं उनको और उनका पैसा लाना है। जब होटल में एक शादी का कार्यक्रम हुआ था। इसका कुछ पैसा सौरव हाजरा से लेकर कम्पनी को दिया गया था, लेकिन कुछ राशि अभी भी बकाया थी। परंतु लंबे समय तक ग्राहकों से पैसा नहीं मिलने पर फायनेंस कंट्रोलर रेड्डी ने इसकी जानकारी कंपनी को दी थी।

इसके बाद कंपनी ने उन्हें इवेंट से जुड़े व्यक्तियों से संपर्क करने के निर्देश दिए थे। सम्पर्क करने पर पता चला कि इवेंट कराने वालों ने होटल के सेल्समैन सौरव हाजरा को पैसा दे दिया था। इसके बाद सौरव हाजरा से जब इस बारे में जानकारी मांगी गई तो खुलासा हुआ कि उसने ग्राहकों से राशि ले ली थी और उसे अपने निजी कार्यों में खर्च भी कर दिया। रेड्डी ने बताया कि सौरभ द्वारा कुल 26 लाख रुपयों का अमानत में खयानत किया गया है। रेड्डी की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी सौरभ के खिलाफ आईपीसी की धारा 409 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है व आरोपी की तलाश में जुटी है।

26-04-2020
सेल्समैन ने किया 4 लाख 92 हजार का गबन, पुलिस ने दर्ज किया अमानत में खयानत का जुर्म

भिलाई। 4 लाख 92 हजार रुपए का गबन का मामला छावनी पुलिस ने दर्ज किया है। डाबर कंपनी के निर्मित उत्पादों की एजेंसी में काम करने वाले सेल्समेन पर छावनी थाना पुलिस ने अमानत में खयानत का जुर्म दर्ज किया है। आरोपी ने माल सप्लाई के एवज में दुकानों से वसूली की गई रकम में से 4 लाख 92 हजार 407 रुपए का गबन किया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध नं 210/2020 धारा 406 के तहत अपराध कायम किया हैं।छावनी पुलिस ने बताया कि मामला लिंक रोड कैम्प-2 स्थित ऋषि ट्रेडर्स का है। इस संस्थान के मालिक पवन अग्रवाल ने डाबर कंपनी द्वारा निर्मित वस्तुओं की एजेंसी ले रखी है। इस एजेंसी में के. संजू (30 वर्ष) निवासी सुपेला बतौर सेल्समेन कार्यरत था। सेल्सेन संजू भिलाई क्षेत्र के छोटे बड़े दुकानदारों से सामान का आर्डर लेता और रकम की वसूली करता था। जून 2019 में पवन अग्रवाल को जानकारी हुई कि अनेक दुकानदारों से भुगतान नहीं मिला है। लिहाजा उन्होंने फोन करके तकादा किया तो पता चला कि सेल्समेन संजू नियमित भुगतान प्राप्त कर रहा है। एजेंसी के दस्तावेज खंगालने पर संजू के द्वारा लाखों रुपए के गबन की जानकारी हुई। बारीकी से जांच करने पर पता चला कि संजू के द्वारा 4 लाख 92 हजार 407 रुपए का गबन किया गया।इसके बाद संजू व उसके परिवार वालों को बुलाकर आपसी तालमेल से रकम वापसी को लेकर इकरारनामा निष्पादित किया गया। संजू व उसके परिवार वालों ने एक लाख 17 हजार 890 रुपए जमा किए और शेष रकम को किश्तों में वापस करने का भरोसा दिया। लेकिन समय पर रकम की वापसी नहीं हुई तो दबाव बनाने पर संजू ने 4 लाख 74 हजार 517 रुपए का चेक दिया जो खाते के पर्याप्त रकम नहीं होने पर बाउंस हो गया। इसका कोई जवाब नहीं देने पर थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी गई। और पुलिस ने जब मामले की विवेचना शुरू की तो लाखों रुपए की गड़बड़ी का मामला सामने आया और आरोपी से जब पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल किया।

 

 

20-04-2020
उठाई गिरी के आरोपियों को पुलिस ने 5 दिन के भीतर पकड़ा 

दुर्ग। 13 अप्रैल को मोहन नगर थाना अंतर्गत हर्ष मेडिकल के सामने गाड़ी की डिक्की से 1 लाख 30 हजार रुपए के उठाई गिरि के मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों को पकड़ लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार तीन आरोपी पकड़े गए हैं और एक आरोपी अभी फरार है। सभी आरोपी आंध्र प्रदेश के नेल्लूर के निवासी हैं और वर्तमान में दुर्ग स्थित शक्ति नगर के इलाके में किराए के मकान में रह रहे थे और इनके साथ दो महिलाएं भी रहती हैं। मोहन नगर पुलिस ने बताया कि 13 अप्रैल को आरोपियों ने भारी सुरक्षा के बीच ए​क कंपनी के सेल्समैन का एक्टिवा गाड़ी की डिक्की से पॉलिथीन में लपेट कर रखे गए 1,30,000 डिग्गी तोड़कर पार कर लिए थे।

इस मामले में पुलिस ने 379 के तहत अपराध कायम कर जांच प्रारंभ की। इस मामले को मोहन नगर पुलिस थाना ने काफी गंभीरता से लिया, जिसके लिए दुर्ग पुलिस अधीक्षक अजय कुमार यादव के निर्देशन में वारदात के 5 दिन के भीतर ही तीन आरोपी पकड़े गए और एक आरोपी की लगातार पकड़ने की कोशिश जारी है। पुलिस ने बताया कि आगे पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वे लोग इस मामले के अलावा रायपुर व राजनांदगांव में भी कई वारदात को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

10-04-2020
एक ओर सरकार गरीबों को निशुल्क बांट रही राशन तो दूसरी ओर सेल्समैन वसूल रहा अधिक राशि

कवर्धा। कोरोना वायरस से निपटने पूरे देश व प्रदेश में लॉक डाउन कर दिया गया है। इसके कारण गरीब परिवारों को खाने से लेकर काम तक कि दिक्कतें आ रही है। इनकी मदद व कोई भी भूखा न रहे इसके लिए प्रदेश सरकार दो माह का चावल निशुल्क व शक्कर 17 रुपये किलो में बाट रही है। लेकिन दूसरी ओर कवर्धा ब्लाक के ग्राम कोठार के सेल्समैन द्वारा शक्कर को 17 रुपये के बजाय 20 रुपये में बेचा जा रहा है। दो माह का 2 किलो शक्कर 40 रुपए में बेच रहा है।
प्रदेश सरकार गरीब परिवारों को दो माह का चावल निशुल्क दे रही है। लेकिन यह सेल्समैन गरीबों को जबरन जिस बोरी में चावल है उसी बोरी में ले जाने दबाव दे रहा है। और बोरी का 20 रुपए अतिरिक्त पैसा ले रहा है। वही ग्राहकों को पैसा बाद में वापस देने की बात सेल्समेन कह रहा है। लेकिन लॉक डाउन के कारण लोगो के पास वर्तमान में ही पैसा नही है। इसके बाद भी लोगो से 17 के बजाय 20 रुपये शक्कर के वसूले जा रहे है।वर्सनचिल्हर नहीं होने के कारण ग्राहकों से 20 रुपये ले रहे हैं, जिसे वापस किया जाएगा। यदि सभी ग्राहकों से 20 रुपये शक्कर का लिया जा रहा तो ऐसे सेल्समैन पर कार्रवाई की जाएगी।बद्री चंद्रवंशी, नोडल अधिकारी, जिला सहकारी बैंक, कवर्धा।

 

29-09-2019
ओव्हर रेट पर शराब बेचकर सरकार की इमेज खराब कर रहे बाहरी लोग : कवासी लखमा

रायपुर। आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने हैरान कर देने वाला बयान दिया है। पत्रकारों से चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि शराब दुकानों पर सेल्समैन ज्यादा रेट लेकर शराब बेच रहे हैं, जिससे सरकार की बदनामी हो रही है। कवासी लखमा ने यह भी कहा कि जो भी अब ओव्हर रेट लेगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उनका कहना है कि बाहर से आए सेल्समैन और सुपरवाइजर जानबूझकर शराब महंगी दरों पर बेच रहे हैं, जिससे आम लोगों में सरकार के खिलाफ नाराजगी बढ़ रही है। अपने बयानों से हमेशा सुर्खियों में रहने वाले कवासी लखमा का यह बयान भी हैरान करने वाला ही है। शराब बेचने से नहीं बल्कि नहीं शराब को महंगा बेचने से सरकार की इमेज खराब हो रही है।

08-09-2019
सेल्समैन टिफिन में छुपाकर ले जाता था ऑटो पार्ट्स, मालिक ने पहुंचाया थाने

रायपुर। टिकरापारा स्थित ऑटो पार्ट्स शॉप में सेल्समैन अपने टिफिन बॉक्स में पार्ट्स चोरी कर ले जाता था। सामान कम होने पर मालिक को आशंका हुई तो योजना बनाकर उसे रंगे हाथ पकड़ा गया। आरोपी को थाने लाकर पुलिस को सौंप दिया गया। कोतवाली थाना पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। मोवा निवासी संजय अरोरा की टिकरापारा में पुलिस फोरेंसिक लैब के सामने ऑटो पार्टस शॉप है। शॉप में आरोपी मोहम्मद अजीज सेल्समैन का काम करता है। पूर्व में भी संजय को शॉप के सामान में कमी होने का शक हुआ था। वहीं दुकान बंद करने के दौरान उसे अजीज पर शक हुआ कि उसने अपने टिफिन में पार्ट्स चोरी कर रखे हैं। संजय उसे मोटरसाइकिल में बैठाकर मोवा की ओर निकला। रास्ते में एक मिठाई की दुकान पर अजीज को भेजा और टिफिन चेक किया। शक सही होने पर संजय उसे अपने घर ले गया। जहां अपने बेटे और ड्राइवर की मदद से उसके सामने टिफिन खोला और पकड़ कर कोतवाली थाना लेकर आया। पुलिस ने आरोपी मोहम्मद अजीज को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में धारा 381 के तहत अपराध कायम किया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है।

07-09-2019
नकली नोट छापने वाले 5 आरोपी गिरफ्तार

नई दिल्ली। आगरा में एसटीएफ ने शहीद नगर एकता पार्क से स्कैनर और प्रिंटर की मदद से स्टांप पेपर पर 100-100 के जाली नोट छापने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को शुक्रवार सुबह गिरफ्तार किया है। ये लोग जाली करेंसी को शराब के ठेकों पर चलाते थे। पिछले डेढ़ साल से यह गोरखधंधा चल रहा था। गिरोह के पास से 100-100 के नकली नोट की 3.5 गड्डी (35000 रुपये), लैपटॉप, स्कैनर, प्रिंटर, मोबाइल बरामद किए गए हैं। नकली नोटों का यह कारखाना सदर बाजार के शहीद नगर की एकता कॉलोनी में चल रहा था। गिरफ्तार आरोपी कृष्णापुरी, कहरई मोड़, शमसाबाद रोड के शिवम तोमर और ओमकार झा, नया बांस रोड, शमसाबाद का अवधेश सविता, धिमश्री शमसाबाद का सुनील, मियांपुर ताजगंज का लाखन हैं। इन्होंने एकता कॉलोनी में मकान किराए पर ले रखा था।  ये शातिर 10 रुपये के स्टांप पेपर की कटिंग करके तीन नोट बनाते थे। इन पर बड़ी सफाई से सिल्वर थ्रेड लगाते थे।

10 हजार रुपए की नकली नोट की एक गड्डी तैयार करने में 450 रुपये का खर्च आता था। एक गड्डी शराब के ठेकों पर सेल्समैन को 5000 रुपये में दी जाती थी। सेल्समैन नशे में धुत लोगों को बड़ी आसानी से नकली नोट चला देते थे। शमसाबाद रोड का रहने वाला मोनू, देवरी रोड का विनोद, सेवला का जीतू, धनौली का मुकेश सेल्समैन हैं जो नोट चलाते थे। इनकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। एसटीएफ के सीओ श्यामकांत ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि जाली करेंसी को बिचपुरी, शमसाबाद, अछनेरा, किरावली में ज्यादा चलाया गया। देसी ठेकों की कैंटीन में भी इनकी सप्लाई की जाती थी। हर महीने चार से पांच लाख रुपये की जाली करेंसी खपाई जा रही थी। 100 के नोट पर कोई ज्यादा ध्यान नहीं देता है, इसलिए इसे ही बना रहे थे।

24-06-2019
नगर सैनिक ने किया शराब दुकान के सेल्समैन पर प्राणघात हमला 

कवर्धा। नगर सैनिक ने पंडरिया शराब दुकान के सेल्समेन पर प्राणघात हमला करने की घटना सामने आई है। यहां नगर सैनिक शराब दुकान के सेल्समेन से तय सीमा से अधिक शराब की मांग कर रहा था। इस पर सेल्समेन के द्वारा मना किये जाने पर नगर सैनिक उत्तम साहू के द्वारा गाली गलौच की गई। तय सीमा से अधिक शराब की मांग करने पर जब सेल्समेन द्वारा नहीं दिए जाने पर नगर सैनिक ने शराब की बोतल से सेल्समेन के सिर पर प्राणघात हमला कर दिया। इससे सेल्समेन घायल हो गया। इसके बाद नगर सैनिक फरार बताया जा रहा है। पीड़ित सेल्समेन ने पंडरिया थाने में पहुंचकर उत्तम साहू के विरुद्ध पंडरिया थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी उत्तम साहू के विरुद्ध 323, 294, 506 आईपीसी की  धारा के तहत मामला दर्ज कर कार्यवाही कर रही है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804