GLIBS
01-01-2020
एसपी को फोन पर मिलि उड़ीसा के धान तस्करी की सूचना, पिकअप वाहन समेत धान जब्त

गरियाबन्द। धान खरीदी का लगभग आधा चक्र खत्म हो चुका है, लेकिन उड़ीसा से छत्तीसगढ़ धान बिकने के लिए अब भी लगातार आना जारी है। हालांकि इस इस फेरे में लगातार राजश्व, विभाग पुलिस विभाग व अन्य विभाग छापामार कार्यवाही करके लगभग हजारों क्विंटल धान को पकड़ा है और वाहनों को भी जप्त किया है। इस तरह लगभग स्पोकन बनने के बाद भी धन की आवक बन नहीं हो पा रही है। बीती रात गरियाबंद पुलिस अधीक्षक को सूचना मिली थी कि उड़ीसा के हाथी खोना गांव से छत्तीसगढ़ के केंदुवन गांव के लिए अवैध धान की खेप निकली है।

दरअसल लगातार पुलिस विभाग की सक्रियता से और कार्यवाही ओं से अब लोगों को यह विश्वास हो चला है कि पुलिस अधीक्षक को सूचना देने पर कार्यवाही जरूर होगी जिसके चलते अब लोग सीधे पुलिस अधीक्षक एमआर आहिरे को फोन कर अवैध कृतियों की जानकारी दे रहे हैं जिस पर पुलिस अधीक्षक भी मामले को काफी गंभीरता से लेते हुए तत्काल स्टॉप भेज कार्यवाही करवा रहे हैं। ऐसी ही एक सूचना बीती रात मिली जब सूचना देने वाले ने बताया कि न्यू ईयर की मध्यरात्रि का फायदा उठाकर धान तस्करी की योजना है और पिकअप वाहन में उड़ीसा से छत्तीसगढ़ के केंदुवन गांव के एक व्यापारी का धान छत्तीसगढ़ आ रहा है। इस पर तत्काल पुलिस अधीक्षक एमआर आहिरे तथा एडिशनल एसपी सुखनंदन राठौर ने मैनपुर और देवभोग क्षेत्र की पुलिस को सक्रिय किया। एसडीओपी को भी सूचना दी गई जिसके बाद पुलिस ने तत्काल केंदुवन गांव के सभी रास्तों पर पेट्रोलिंग लगा दी और चौक पर अवैध धन तस्करी करते एक पिकअप वाहन पकड़ा। वाहन चालक यादव ने बताया कि यह धान गांव के ही एक व्यापारी द्वारा उड़ीसा से मंगवाया गया है। जिस पर पुलिस ने पंचनामा बनाकर कार्यवाही प्रारंभ कर दी है। हम आपको बता दें कि 1 दिसंबर से धान खरीदी प्रारंभ होते ही अवैध धान छत्तीसगढ़ में लाने के प्रयास में जहां कुचिया किस्म के लोग जुड़ गए थे वही पहली बार इस बड़े पैमाने पर पुलिस विभाग भी अवैध धान पकड़ने के प्रयास कर रहा है। खुद आईजी और जिले के एसपी भी अवैध धान के कोच्चिया के यहां छापामार कार्यवाही कर रहे थे जिसमें अब तक लगभग 10000 बोरा धान पकड़ा जा चुका है। पुलिस विभाग द्वारा धान पकड़े जाने के बाद से उड़ीसा से धान लाकर छत्तीसगढ़ में खपाने वालों में काफी दहशत का माहौल देखा जा रहा है। तस्करी कम हुई है और जो थोड़ी-बहुत तस्करी का प्रयास को भी रहा है वह पकड़ा जा रहा है। गरियाबंद के एडिशनल एसपी सुखनंदन राठौर ने बताया कि जितना संभव हो पा रहा है उतनी अधिक कार्यवाही की जा रही है। सभी मुखबिरों को सक्रिय कर दिया गया है कि उड़ीसा का धाम छत्तीसगढ़ लाने के पहले ही सूचना मिल जाए। सीमा क्षेत्र में पर्याप्त चेकपोस्ट लगाए गए हैं। जहां चेकिंग जारी है और लगातार कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि उड़ीसा से आने वाले अवैध धन को लेकर जिले के एसपी काफी गंभीर है और कड़ाई से कार्यवाही के निर्देश सभी थाना प्रभारियों को दिए जा चुके हैं। इसके अलावा बहुत से लोगों को सीधे एसपी ने अपना नंबर दे रखा है। अवैध कृत्य होने पर अब लोग सीधे एसपी को भी फोन करने लगे हैं यह कार्यवाही भी इसी का परिणाम रही।

 

 

23-12-2019
मतदान के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी की पिटाई, जोगी कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष जेल भेजे गए...

जांजगीर चाम्पा। नगर पालिका के वार्ड 7 से कांग्रेस के पार्षद प्रत्याशी गोविंद देवांगन की पिटाई और कांग्रेस नेता दीपक गुप्ता से मारपीट व दुर्व्यवहार करने वाले जनता कांग्रेस छग (जेसीसीजे) के पूर्व जिलाध्यक्ष इब्राहिम मेमन को चाम्पा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं उसका आरोपी बेटा खालिद फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। कांग्रेस के पार्षद प्रत्याशी की पिटाई और कांग्रेस नेता से बदसलूकी के बाद कांग्रेसियों ने चाम्पा थाने का घेराव कर दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी पारुल माथुर, चाम्पा थाने पहुंची और इब्राहिम मेमन की गिरफ्तारी के बाद मामला शांत हुआ। इससे पहले चाम्पा के वार्ड 7 के बूथ क्रमांक 10 के पास विवाद बढ़ने के बाद पुलिस ने लाठी के बल पर भीड़ को तीतर-बीतर किया। इस दौरान एसडीओपी पद्मश्री तंवर ने मौके पर मोर्चा संभाला और लाठी लेकर हंगामा कर रही भीड़ को खदेड़ा। जेसीसीजे के पूर्व अध्यक्ष इब्राहिम मेमन पर आरोप है कि मतदान केंद्र के पास मतदाताओं को रिझा रहे थे।

इस पर कांग्रेस प्रत्याशी गोविंद देवांगन ने आपत्ति की तो मेमन और उसके बेटे ने आपा खो दिया और कांग्रेस प्रत्याशी की पिटाई कर दी। कुछ देर बाद सूचना पर नपा अध्यक्ष राजेश अग्रवाल और कांग्रेस नेता दीपक गुप्ता ने मौके पर पहुंचकर समझाइश देने पहुंचे तो यहां दीपक गुप्ता से भी दुर्व्यवहार करते हुए मारपीट की गई। इस घटना के बाद कांग्रेसी चाम्पा थाने पहुंच गए और कार्रवाई की मांग को लेकर थाने का घेराव कर दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी पारुल माथुर थाने पहुंची, जिसके बाद आरोपी इब्राहिम मेमन की गिरफ्तारी की गई। फरार आरोपी बेटे खालिद की तलाश की जा रही है।

19-12-2019
पोटाली के नीलावाय गांव में सिविक एक्शन प्रोग्राम का किया गया आयोजन

दंतेवाड़ा। आईजीपी बस्तर, एसपी दंतेवाड़ा, एएसपी दंतेवाड़ा, डीएसपी दंतेवाड़ा, एसडीओपी किरंदुल के निर्देशन में गुरूवार को डीईएफ, डीआरजी, महिला डीआरजी, एसटीएफ, सीएएफ की टीम एवं डॉक्टर टीम के साथ पोटली के नीलावाय गांव में पहुंची। जहां सिविक एक्शन प्रोग्राम रखा गया। ग्रामीण उत्सुकता पूर्वक वहां पर उपस्थित हुए। थाना प्रभारी अरनपुर, टीआई एसएस सोरी, डीआरजी कमांडर सोमेश सिंह, एसआई ओम साहू 15bn A/coy कंपनी कमांडर सीसी नंदा एवं अन्य स्टाफ के द्वारा ग्रामीणों को गर्म कपड़े स्वेटर एवं चप्पल वितरित किए गए। ग्रामीण मरीजों का डॉक्टरों द्वारा इलाज भी किया गया एवं दवाइयां वितरित की गई। ग्रामीणों ने गांव की समस्या को बताते हुए गांव में बोरिंग, आंगनवाड़ी, स्कूल, अस्पताल, सड़क, बिजली एवं अन्य सुविधाओं का अभाव होना बताया। इन सभी समस्याओं का निराकरण करने हेतु वरिष्ठ अधिकारी एसपी सर एवं कलेक्टर सर दंतेवाड़ा को अवगत कराने का ग्रामीणों को आश्वासन दिया गया।

14-12-2019

जगदलपुर। संवेदनशील ग्राम भडरी मुंह में पुलिस विभाग द्वारा सिविल एक्शन कार्यक्रम रखा गया था। इस कार्यक्रम में 500 से अधिक लोग पहुंचे। बस्तर एसपी दीपक झा ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नई पीढ़ी के लोगों के लिए सरकारे बहुत कुछ कर रही हैं। जरूरत है इन योजनाओं की जानकारी लेकर उसका लाभ उठाने का। उन्होंने आह्ववान करते कहा कि नक्सल विचारधारा से दूर रहकर बच्चों को शिक्षित करने के साथ ही उनका भविष्य सवारे ताकि आने वाले समय में उनका और पूरे इलाके का विकास हो सके कार्यक्रम के दौरान लोगों को कंबल जूते चप्पल काफी पेन सहित अन्य सामग्री का वितरण किया गया बस्तर पुलिस की मेडिकल टीम द्वारा एक हेल्थ कैंप लगाया गया। जहां बच्चे और महिलाओं को मुख्य रूप से फोकस करते हुए दवाओं का वितरण किया गया। साफ सफाई रखने के लिए डॉक्टरों द्वारा लोगों को जागरूक भी किया गया। इस कार्यक्रम में पुलिस को अपने साथ पाकर ग्रामीण खुश नजर आए। नक्सल क्षेत्र में आधारभूत सुविधाओं की कमी को दूर कर गांव में पुलिस की भूमिका और ग्रामीणों से परिचित हुए। बस्तर पुलिस द्वारा नक्सल गतिविधियों का सामना कर रहे गांव की दिक्कतों को दूर करने में मदद करते रहने का भरोसा अधिकारियों ने दिलाया।

11-12-2019
एसपी और आइटीबीपी असिस्टेंट कमांडेंट आपस में भिड़े, जाने क्या है मामला

कोंडागांव। विकासखण्ड केशकाल के संवेदनशील क्षेत्र के युवाओं को खेल के प्रति आगे लाने एक दिवसीय फुटबॉल प्रतियोगिता का अयोजन ग्राम धनोरा मैदान  में किया गया। इस दौरान कोंडागांव पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार और आईटीबीपी के असिस्टेंट कमांडेंट ललित कुमार एक दूसरे के विरुद्ध खेले। कोंडागांव पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार लगातार नक्सल क्षेत्र में युवाओं को प्रोत्साहित करने जिले के अलग अलग गांव में इस प्रकार खेलो का आयोजन करवाया जा रहा है। इस खेल में ईरागांव और धनोरा क्षेत्र के लगभग 50 युवा टीम में शामिल हुए। फुटबॉल प्रतियोगिता में धनोरा के टीम ने 3 गोल कर जीत हासिल किया। तो वहीं ईरागांव की टीम सिर्फ 1 गोल कर पाई। विजेता टीम को पुलिस अधीक्षक के द्वारा पुरस्कृत किया गया। इस दौरान एसपी ने कहा कि नक्सल क्षेत्र के युवाओं को आगे लाने समय-समय पर इस प्रकार का खेल का आयोजन किया जा रहा है और इन युवाओं को राज्य स्तरीय खेलो में भी शामिल किया जाएगा।  इस खेल को सफल बनाने में जिला पंचायत सदस्य लद्दू उईके, असिस्टेंट कमांडेंट आइटीबीपी ललित कुमार, टीआई धनोरा रोहित कुमार बंजारे, टीआई ईरागांव रविशंकर ध्रुव, आइटीबीपी ईस्पेक्टर पूरनसिंह चौहान ,अजय दया, कोच महावीर सिंह, महीराज सिंह का योगदान रहा।

 

05-12-2019
रेप पीड़िता को जिंदा जलाने वाले पांचो आरोपी गिरफ्तार, जमानत पर रिहा होकर दिया वारदात को अंजाम  

लखनऊ। उन्नाव गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने के मामले में पुलिस ने सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें मुख्य आरोपी शिवम द्विवेदी भी शामिल है। उधर बुरी तरह जली पीड़िता की हालत गंभीर है, उसे लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्नाव के एसपी विक्रांत वीर के अनुसार आरोपी को पकड़ने के लिए 4 टीमें लगाई गई थीं। उन्नाव में एक बार फिर मानवता शर्मसार हुई है। यहां गुरुवार को एक रेप पीड़िता को जमानत पर छूट कर आए दो आरोपियों ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर जिंदा जला दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवती को गंभीर हालत में जिला अस्पताल भेजा, जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने लखनऊ रेफर कर दिया। बताया जा रहा है कि पीड़िता 80 प्रतिशत तक जल गई है।

जमानत पर रिहा हुए और दिया वारदात को अंजाम

बिहार थानाक्षेत्र के हिन्दुनगर गांव की है। कुछ दिन पहले ही युवती के साथ रेप हुआ था। इस मामले में दो नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। गुरूवार को युवती इसी मामले की पैरवी के लिए रायबरेली जा रही थी। सुबह 4 बजे के करीब गांव के बाहर खेत में दोनों आरोपी व उसके तीन साथियों ने उसके ऊपर कैरोसीन छिड़ककर आग लगा दी। इसकी सूचना मिलते ही गांव में हड़कंप मच गया। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और पीड़िता को जिला अस्पताल पहुंचाया गया। जहां से उसे लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है।

04-12-2019
Breaking : नारायणपुर घटना की होगी जांच, गृहमंत्री ने दिए आदेश

रायपुर। नारायणपुर जिले के कडेनार इलाके में आईटीबीपी के जवानों में आपस में हुई फायरिंग की घटना के जांच के आदेश गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने दिए हैं। गृहमंत्री ने यहां राजीव भवन में मीडिया से चर्चा के दौरान ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि घटना की जानकारी मिलते ही नारायणपुर एसपी और आलाधिकारी घटना स्थल रवाना हो गए थे। जांच के बाद ही सही जानकारी सामने आएगी की घटना का कारण क्या है। उन्होंने कहा कि सरकार जवानों की हर आवश्यकताओं को पूरा करती है, सरकार की ओर से जारी कोई आदेश, योजना या नियमों के कारण विवाद नहीं होता, जिससे नाराजगी हो सके।

प्रारंभिक रूप से जो बातें सामने आ रही उससे पता चला है कि आपस में ही कुछ हुआ है, जिसके कारण घटना घटी। आदेश के विरोध में जाकर टकराव का कोई विषय नहीं होता और ना ही ऐसा आदेश सरकार देती है। हमारे जवान अपना कर्तव्य बखूबी निभाते हैं। जवानों की छुट्टियां तय होती है, उनको रोक नहीं जाता। फोर्स रिप्लेस करती है। फिलहाल अधिकारियों को जांच का आदेश दिया गया है, जल्द कारण सामने आएंगे।

 

03-12-2019
और कितनी निर्भया देख कर जागेंगे हम, राजधानी में जली मशाल

रायपुर। निर्भया से रोजा और फिर प्रिंयका तक गैंग रेप और बलात्कार बढ़ते जा रहे हैं । इन सबसे लड़ने के लिए सभी तबकों को अपने स्तर पर कार्य करने की जरूरत है। बलात्कार महिलाओं के खिलाफ होने वाला सर्वाधिक हिंसक अपराध है, जो उनकी शारीरिक अखंडता को नष्ट करता है, सामाजिक संबंधों के उनकी विकास की क्षमता को बाधित कर उनके जीवन व जीविका को प्रभावित करता है। यह कहना था वीमेन आर ह्यूमन की प्रमुख सदस्य मनप्रीत बग्गा का। साथ ही वीमेन आर ह्यूमन के प्रमुख सदस्य जिया गोस्वामी, आकृति सिंह, प्रियंका शुक्ला,पूनम सहित अन्य युवतियों ने मंगलवार शाम मशाल यात्रा निकाली। 


युवतियों का कहना था कि सम्मान के साथ जीने का अधिकार, जीवन के अधिकार में शामिल है, जिसे भारत का संविधान हर नागरिक के लिए सुनिश्चित करता है। महिलाओं को भी मानव होने की स्वाभाविक गरिमा तथा किसी भी प्रकार की हिंसा से मुक्त बराबरी का जीवन जीने का अधिकार है। पर पितृसत्तात्मक समाज शुरूआत से ही महिलाओं को इस अधिकार से वंचित करता आ रहा है। सरकार, संस्थाएं और समाज सभी महिलाओं के बराबरी के जीवन से भयभीत  हैं। पितृसत्ता की ओर झुकी हुई हैं। जिसका परिणाम भ्रूण हत्या, घरेलू हिंसा, दहेज हत्या , एसिड अटैक और बलात्कार के रूप में हमारे सामने है। महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ते जा रहे हैं। पर इसके ठोस समाधान के लिए कोई प्रयास नहीं कर रहा है।सबसे पहले तो ऐसे जघन्य अपराध को अंजाम देने वाले अपराधियों को दंड देना आवश्यक होता है, वहीं पीड़ित महिला को गरिमा तथा आत्मविश्वास के साथ जीने में मदद करने की आवश्यकता होती है। ताकि वह महिला एक गरिमापूर्ण व सार्थक जीवन जी सके।

युवतियों की मांग है कि स्कूलों में सभी को जेंडर शिक्षा दिलाई जाए, सरकार द्वारा सभी स्कूलों में लड़कियों को सेल्फ प्रोटेक्शन की ट्रेनिंग दी जाए, महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों के लिए राज्य सहित पूरे देश में विशेष कोर्ट बनाए जाएं, शहर के कोने कोने में सुरक्षा के लिए पैनिक बटन  हों, सभी महिलाओं को आॅन लाईन एफआईआर करने का अधिकार मिले, बलात्कर होने पर जिले स्तर में  एसपी और कलेक्टर की जिम्मेदारी तय हो उनके उस पर इसका फर्क पड़े, समाज के स्तर पर अपराधियों की पहचान कर उनका सार्वजनिक बहिष्कार किया जाए।

28-11-2019
पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, हत्या कर फेंका दिया था कुआं में 

छिन्दवाडा/चॉद। चॉद थाना क्षेत्र के अर्तगत आने वाला ग्राम नोनी बर्रा निवासी किसान चरणसिंह रघुवंशी के खेत में बने कुएं में 19 नवंबर को एक युवती का शव बरामद किया गया था। इसमें पुलिस ने जांच के दौरान शिनाख्त गुमशुदा युवती की पहचान काजल के रूप में हुई थी। पुलिस ने बताया कि एसपी और एएसपी के मार्गदर्शन में जब जांच शुरू हुई तो इस अंधे हत्याकांड खुलासा हुआ। इस दौरान कुछ लोगों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया की गोलू उर्फ सुशील यादव पिता भागचंद यादव निवासी नोनीबर्रा उम्र 32 वर्ष, जो की काजल पर बुरी नियत रखता था लेकिन काजल पसंद नहीं करती थी। इस पर नाराज गोलू ने 23 सितबंर की रात काजल की हत्या कर शव पर पत्थर बंधकर कुएं में फेंक दिया था। इस जगह से लोगों का आना जाना नहीं होता था। जब पुलिस ने गोलू को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस ने गुरुवार को उसे न्यायालय मै कर रिमांड पर लिया है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी बलवंद सिंह कौरव, उनि धर्मेन्द कुशराम, आरक्षक सूर्यादय बघेल,रामकुमार सनोडिया,जितेन्द्र बघेल की भूमिका रही।

अरविंद वर्मा की रिपोर्ट

20-11-2019
कलेक्टर-एसपी की सबसे बड़ी कार्रवाई, 1 करोड़ 55 लाख का ओडि़शा का धान जब्त

गरियाबन्द। अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई में ओडि़शा के धान माफियाओं के यहां छापे मारकर गरियाबंद कलेक्टर और एसपी ने 1 करोड़ 55 लाख रुपए का धान बरामद किया है। जब्त धान को ओडि़शा से आधी कीमत पर लाकर यहां समर्थन मूल्य पर 2500 में खपाने की तैयारी थी। इतनी बड़ी मात्रा में ओडि़शा का धान देखकर कलेक्टर व एसपी हैरान रह गए। अकेले ग्राम पीतलखूंटी के एक धान माफिया के यहां से लगभग 1 करोड़ रुपए का धान बरामद हुआ। कलेक्टर श्याम धावड़े एवं पुलिस अधीक्षक एमआर आहिरे ने ओडि़शा सीमा से लगे गांवों में पहुंचकर लोगों से पूछकर लगभग 7 व्यापारियों के यहां छापा मारा जिनमें से 5 के यहां अवैध रूप से संग्रहित किया गया धान मिला। कुछ व्यापारियों ने पहले उसे अपना धान बताया मगर रिकॉर्ड में उन्होंने धान उगाया ही नहीं था। बता दें कि गरियाबंद जिले की 60 प्रतिशत  सीमा ओडि़शा राज्य से लगती है। ओडि़शा में धान की कीमत काफी कम होने के चलते वहां से लगभग 13 सौ रुपए में खरीद कर गरियाबंद जिले की सीमा पर स्थित धान खरीदी समितियों में खपाने का प्रयास सालों से किया जाता रहा है लेकिन धान का समर्थन मूल्य बढऩे से धान माफियाओं का लाभ कई गुना अधिक बढ़ गया है जिसके फेर में किसी भी स्थिति में यह ओडि़शा का धान लाने के प्रयास में रहते हैं । ऐसे में चोरी-छिपे ओडि़शा से लाए गए 16000 क्विंटल धान आज एक ही दिन में कलेक्टर और एसपी ने छापा मारकर बरामद किया। प्रदेशभर की यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। कलेक्टर और एसपी ने कार्रवाई आगे और तेज करने की बात कही है और किसी भी शर्त पर गरियाबंद जिले की मंडियों में ओडि़शा का धान नहीं बिकने देने की बात कही है।

 

13-11-2019
सुरक्षा बल के जवानों ने किया नक्सलियों की साजिश को नाकाम

दंतेवाड़ा। सुरक्षा बल के जवानों ने नक्सलियों के कायराना करतूत को नाकाम कर दिया। दरअसल अरनपुर पोटली के बीच नक्सलियों की ओर से 5 किलो आईईडी प्रेशर बम रखा था। इसको मौके पर सीआरपीएफ के जवानों ने डिफ्यूज कर दिया। बता दें कि इसी रास्ते से एसपी और कलेक्टर गए थे। यह घटना अरनपुर थाना क्षेत्र की है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804