GLIBS
04-04-2020
जब भाजपा ने भूपेश बघेल से कहा, आपकी पार्टी के लिए राम काल्पनिक थे न..?

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दीया जलाने के आह्वान पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और भाजपा ट्वीटर पर आमने सामने हो गए हैं। एक दूसरे पर आरोपों का दौर चला है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दीया जलाने की अपील पर ट्वीट कर कहा था कि, हमने दिया विजय के प्रतीक के रूप में जलाना शुरू किया जब श्रीराम लंका से अयोध्या लौटे। यह तो संकट की घड़ी है। दर्जनों जानें जा चुकी हैं। दो हजार से ज्यादा #कोविड-19 से पीड़ित हैं। लोग भयभीत हैं। ऐसे में दिया जलाएंगे? भगवान राम के देश में तो ये शोभा नहीं देगा। इस पर भाजपा ने ट्वीट कर कहा कि आपकी पार्टी  @कांग्रेस के लिये तो राम काल्पनिक थे न दाऊ जी? क्या ट्वीट से पहले दस जनपथ से पूछ लिये थे ? अगर श्रीराम के शरण में आना चाह रहे तो दीया लिखना पहले सीख लीजिए, बाद में जलाना भी सीख जायेंगे।


 

01-03-2020
कोलकाता में गरजे अमित शाह,कहा- हम नागरिकता देना चाहते हैं,ममता दीदी क्यों कर रही विरोध

कोलकाता। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर कोलकाता में गृहमंत्री अमित शाह ने  जनसभा को संबोधित किया। यहां अमित शाह ने टीएमसी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने एक बार फिर सीएए को सही ठहराया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी सीएए लेकर आएं,लाखों बंगालियों को इससे नागरिकता मिलती है। ममता दीदी ने इसका विरोध किया। बंगाल में दंगे कराएं, ट्रेनें जला दी गई, रेलवे स्टेशन जला दिया गया। मैं सवाल पूछने आया हूं कि हम नागरिकता देना चाहते हैं और आप इसका विरोध क्यों कर रही हो। आपको घुसपैठिए ही अपने लगते हैं। मैं बताने आया हूं कि 70 साल से जो शरणार्थी यहां आए हैं हम उनको नागरिकता देकर रहेंगे।

उन्होंने कहा कि अयोध्या में जहां प्रभु श्रीराम का जन्म हुआ वहां भव्य मंदिर बनाने के लिए हम 500 साल से लड़ रहे थे। अब पीएम नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर को तीर्थ स्थल बनाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, सपा, बसपा और ममता राम मंदिर बनने के बीच में रोड़ा बने थें। अमित शाह ने कहा कि जब पीएम मोदी सीएए लेकर आए तो टीएमसी फिर से कांग्रेस और कम्युनिस्टों के साथ खड़ी हैं। उन्होंने कहा कि वे अल्पसंख्यकों को इस डर से भर रहे हैं कि वे अपनी नागरिकता खो देंगे। मैं अल्पसंख्यक वर्ग के प्रत्येक व्यक्ति को आश्वस्त करता हूं कि सीएए केवल नागरिकता प्रदान करता है और कुछ भी नहीं लेता है। यह आपको किसी भी तरह से प्रभावित नहीं करेगा। शाह ने कहा कि मैं उनसे पूछना चाहता हूं,'दलितों ने किसी भी तरह से आपके साथ कैसा अन्याय किया है? जब हम उन्हें नागरिकता देना चाहते हैं तो आप क्यों विरोध कर रहे हैं?'

Advertise, Call Now - +91 76111 07804