GLIBS
16-09-2020
धन धान्य सुख समृद्धि और कारोबार में वृद्धि चाहिए तो विधि विधान से कीजिये भगवान विश्वकर्मा का पूजन

रायपुर। भगवान विश्‍वकर्मा के जन्‍मदिन को विश्‍वकर्मा जयंती के नाम से जाना जाता है। इस दिन हिंदू धर्म के लोग अपने कार्य स्थल पर भगवान विश्वकर्मा की विशेष पूजा अर्चना करते हैं।  हर साल कन्या संक्रांति के दिन विश्वकर्मा पूजा की जाती है। विश्वकर्मा जयंती पर भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने से कारोबार में वृद्धि होती है। धन-धान्य और सुख-समृद्धि के लिए भगवान विश्वकर्मा की पूजा करना आवश्यक और मंगलदायी है। आइए जानें राशि अनुसार विश्वकर्मा पूजन में क्या करें। भगवान विश्वकर्मा यंत्रों के देवता हैं। विश्वकर्मा पूजा का कारोबारियों के लिए विशेष महत्व रखता है।

क्या है पूजा महत्व :-
विश्वकर्मा की पूजा इसलिए की जाती है क्योंकि उन्हें पहला वास्तुकार माना गया था, मान्यता है कि हर साल लोहे और मशीनों की पूजा करते हैं तो वो जल्दी खराब नहीं होते है। मशीनें अच्छी चलती हैं क्योंकि भगवान उनपर अपनी कृपा बनाकर रखते है। विश्वकर्मा जयंती भारत के कई हिस्से में बेहद धूम धाम से मनाया जाता है।

पूजा विधि :-
विश्वकर्मा जयंती के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करके श्वेत वस्त्र पहनकर तैयार हो जाए।
निर्धारित पूजा स्थल पर भगवान विश्वकर्मा की फोटो या मूर्ति स्थापित करें।
पीले ये सफेद फूलों की माला भगवान विश्वकर्मा को पहनावें।
सुगंधित धूप और दीपक भी जलावें।
अपने सभी औजारों की एक-एक करके विधिवत पूजा करें।
भगवान विश्वकर्मा को पंचमेवा प्रसाद का भोग लगाएं।
हाथ में फूल और अक्षत लेकर शिल्पकार भगवान विश्वकर्मा देव का ध्यान करें।
अब भगवान विश्‍वकर्मा को फूल चढ़ाकर आशीर्वाद ले। 
अंत में भगवान विश्‍वकर्मा की आरती कर ले।

11-08-2020
श्रीकृष्ण जन्मोत्सव कैसे मनाएं जानिए पूजा की विधि...

रायपुर। कृष्ण जन्माष्टमी को भक्त काफी धूमधाम से मनाते हैं। हिंदू धर्म में भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव को काफी धूमधाम से मनाया जाता है। हिंदू पंचांग की माने तो भगवान कृष्ण को समर्पित ये पावन त्यौहार, हर साल भाद्रपद महीने के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र में मनाया जाता है। इस दिन श्रीकृष्ण के भक्त उनकी आराधना में उपवास रखते हैं। जन्माष्टमी के दिन सुबह स्नान करके गोपाल की पूजा करनी चाहिए और उन्हें भोग लगाना चाहिए। बाल गोपाल की पूजा में इस्तेमाल की जाने वाली सभी सामग्रियों का शुद्ध होना जरूरी है। भगवान कृष्ण को साफ पानी और गंगाजल से स्नान करवाएं और फिर चंदन का टीका लगाएं। 

बाल गोपाल को मक्खन, मिश्री और तुलसी के पत्ते बहुत पसंद हैं। इसलिए भोग में इन्हें जरूर शामिल करें। बाल गोपाल के श्रृंगार में उनके कान की बाली, कलाई में कड़ा, हाथों में बांसुरी और मोरपंख लगाएं। इसके बाद भगवान गणेश की आरती उतारे फिर बाल गोपाल की। आरती के बाद अपने हाथों से उन्हें भोग लगाएं, झूला झूलाएं और फिर झूले में लगे परदे को बंद करना न भूलें। बाल गोपाल की पूजा और भोग लगाएं बिना खाना नहीं खाना चाहिए। उन्हें भोग लगाने के बाद भोजन प्रसाद बन जाता है। घर में बाल गोपाल हैं तो मांस-मदिरा का सेवन, गलत व्यवहार और अधार्मिक कार्यों से बचना चाहिए।

30-07-2020
वरलक्ष्मी व्रत से धन संपन्नता वैभव सहज ही प्राप्त हो जाता है,सावन के शुक्ल पक्ष की नवमी को रखा जाता है ये व्रत

रायपुर। सावन मास में शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को वरलक्ष्मी व्रत मनाया जाता है। हिंदू धर्म में वरलक्ष्मी व्रत को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। वरलक्ष्मी व्रत करने वाले व्यक्ति के परिवार को धन, संपन्नता और वैभव की प्राप्ति सहज ही हो जाती है। वरलक्ष्‍मी की पूरे विधि विधान से पूजा करने से धन-संपदा की प्राप्‍ति होती है। इसलिए देवी के इस रूप में वर का अर्थ है वरदान और लक्ष्‍मी का अर्थ है वैभव और संपत्ति। यह व्रत केवल विवाहित महिलाएं ही कर सकती हैं। कुंवारी कन्याओं के लिए यह व्रत करना वर्जित बताया गया है। परिवार के सुख और संपन्न्ता के लिए विवाहित पुरुष भी यह व्रत कर सकते हैं। देवी लक्ष्मी को समर्पित वरलक्ष्मी का खास व्रत किया जाता है।

वरलक्ष्मी व्रत को करने की विधि
इस दिन प्रात: उठकर घर की स्वच्छता और स्नान आदि कर लें। फिर घर के पूजा स्थल पर चौक या रंगोली बनाएं। माता लक्ष्मी के विग्रह या प्रतिमा को गंगाजल से स्नान कराकर नए कपड़ों, जेवर और कुमकुम से सजाएं। इसके बाद एक पाटे पर गणेशजी और माता लक्ष्मी की मूर्ति को पूर्व दिशा में रखें। इनके पास ही कलश स्थापित करें, इस कलश में चावल भरकर रखें। गणपति और लक्ष्मीजी के साथ ही कलश पर भी चंदन से तिलक लगाएं। फिर दीप और धूप प्रज्जवलित करें। पूजा की थाली में एक नया लाल कपड़ा और चावल, खीर या सफेद मिठाई रखें। वरलक्ष्मी व्रत की कथा पढ़ें। पूजा समाप्त होने के बाद प्रसाद महिलाओं में बांट दें।

वरलक्ष्मी व्रत से प्राप्त होती है सुख-समृद्धि
मां लक्ष्मी के स्वरूप वरलक्ष्मी की उपासना करने से मनुष्य को सुख-समृद्धि और धन धान्य की प्राप्ति होती है। वरलक्ष्मी व्रत और पूजन मां लक्ष्मी को ही समर्पित होता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन जो भी विवाहित महिला पूरे विधि विधान से माँ लक्ष्मी की पूजा करती है तो माता की कृपा उस महिला और उसके परिवार पर ज़रूर बरसती है और उसके जीवन में कभी धन धान्य की कमी नहीं होती। इसके अलावा इस व्रत को करने वाले महिला के जीवन से सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं। जैसे आर्थिक परेशानी, क़र्ज़ आदि से मुक्ति मिलती है।

 

02-04-2020
सादगी से मनाई जा रही है रामनवमी सारे देश में

रायपुर। आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की नवमी है, जिसे रामनवमी के रूप में जाना जाता हैं और हिंदू धर्म में बहुत महत्व है। आज का दिन राम जन्म के रूप में मनाया जाता हैं। भगवान राम को विष्णु का सातवां अवतार माना जाता है। राम शब्द अपनेआप में ही पूर्ण शक्ति समेटे हुए हैं और जिस पर भी उनकी कृपा हो जाए वो व्यक्ति भवसागर को पार कर लेता हैं। इस साल चैत्र शुक्ल नवमी तिथि सुबह 3.40 बजे से शुरु हो गया है, जो 3 अप्रैल सुबह 2.43 बजे तक रहेगा। इस दिन राम नवमी मध्याह्न का मुहूर्त 2 घंटे 30 मिनट का बन रहा है। आप सुबह 11.10 बजे से दोपहर 01.40 बजे तक भगवान श्री राम का जन्मोत्सव मना सकते हैं। राम नवमी के दिन ही भगवान राम का जन्म अयोध्या में हुआ था। अयोध्या में वैसे तो प्रभु राम के जन्मोत्सव पर भव्य कार्यक्रम होते हैं, लेकिन इस साल कोरोना के कारण सभी सार्वजनिक कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं।

21-02-2020
महाशिवरात्रि पर 117 साल बाद शनि और शुक्र का है दुर्लभ योग, जानें क्या है विशेष...

रायपुर। भारत में महाशिवरात्रि बड़े धूम-धाम से श्रद्धालुओं की ओर से मनाई जाती है। भगवान शिव को मनाने का सुनहरा मौका इस दिन को खास माना जाता है। इस वर्ष बेहद खास दो योग बन रहे हैं। इस साल, शुक्रवार 21 फरवरी को महाशिवारात्रि का पावन पर्व मनाया जा रहा है। शनि और शुक्र का दुर्लभ योग 117 साल बाद बन रहा है। इस बार महाशिवरात्रि पर कई तरह के शुभ संयोग का निर्माण हो रहा है, इसे बेहत शुभ माना जाता है। महाशिवरात्रि पर शनि स्वयं की राशि मकर और शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में रहेगा। इससे पहले 1903 में इन ग्रहों का ऐसा संयोग बना था। शनि और चंद्रमा का संयोग महाशिवरात्रि पर शनि और चंद्रमा के संयोग से शश योग बन रहा है। इस संयोग में शिव आराधना का विशेष फल मिलता है। चंद्रमा मन का और शनि ऊर्जा का कारक है। महाशिवरात्रि पर सर्वार्थसिद्धि योग भी बन रहा है। इस योग में शिव-पार्वती का पूजन श्रेष्ठ माना गया है।

पूजा विधि : 
हिंदू धर्म के अनुसार भगवान शिव पर पूजा करते वक्त बिल्वपत्र, शहद, दूध, दही, शक्कर और गंगाजल से अभिषेक करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी सारी समस्याएं दूर होंगी साथ ही मांगी हुई मुराद भी पूरी होगी।

शुभ मुहू्र्त 
21 तारीख शाम को 5 बजकर 20 मिनट से 22 फरवरी, शनिवार को शाम 7 बजकर 2 मिनट तक शुभ योग रहेगी।

02-12-2019
मिनी स्टेडियम कटगोडी में हुआ संत सम्मेलन, पहुंचे कई धर्मप्रचारक

कोरिया। कटगोडी मिनी स्टेडियम में आयोजित संत सम्मेलन में हिंदू धर्म के प्रेमी कई प्रचारक पहुंचे और हिंदू धर्म विचारधारा साधु संत विशेषताओं के बारे में विस्तार से बताया। इसी कड़ी में पूर्व संस्कृत बोर्ड के अध्यक्ष परमानंद महाराज ने अपने धर्म के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने अपने वक्ता में अपने मूल धर्म से अन्य धर्म में किसी प्रलोभन के कारण न जाए संत सम्मेलन में पूरे जिले भर के कार्यकर्ता मौजूद थे। इसके आयोजक संदीप साहू ने बताया कि संत समाज के माध्यम से अपने समाज में जागृति लाना बहुत जरूरी है इसीलिए साधु महात्मा से अपने क्षेत्रों में धर्मांतरण जोरों पर है। संत सम्मेलन आयोजन समाज में जागरूकता के लिए किया गया है। इस आयोजन में मुख्य रूप से उपस्थि विभाग कोरिया प्रचारक गणेश साहू, विभाग कार्यवाह सिद्धिविनायक पांडे, जिला प्रचारक माखन, अमरजीत, रामसागर सिंह, कुबेर साहू, कमलेश गुप्ता, कमलेश चंद्र, राजेश यादव राजेश साहू एवं एकल विद्यालय के समस्त कार्यकर्ता उपस्थित थे।

17-10-2019
देवी-देवताओं के चित्र वाले पटाखों के विरोध में शिवसेना ने सौंपा ज्ञापन

रायपुर। शहर में पटाखों की दूकान में हिंदू धर्म के देवी-देवताओं के चित्र वाले पटाखे और चाइनीज़ पटाखों की बिक्री के विरोध में शिवसेना ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक रायपुर के नाम ज्ञापन सौंपा। शिवसेना के जिलाध्यक्ष शशांक देशमुख ने बताया कि हिंदू धर्म के देवी-देवताओं के चित्र वाले पटाखों की बिक्री से हिंदू धर्म की आस्था को ठेश पहुंचती है। इस ज्ञापन के माध्यम से शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की है।

 

06-09-2018
Hindu Religion : हिन्दू महासम्मेलन 9 सितम्बर को
जशपुर महाराज दिलीप सिंह जूदेव ने धर्म परिवर्तन करने वाले आदिवासियों की करवाई थी घर वापसी
02-09-2018
Hindu Mahasammelan: बिलासपुर में होगा विशाल हिंदू महासम्मेलन, प्रबल प्रताप सिंह जूदेव करेंगे शिरकत

बिलासपुर। धर्मांतरण को रोकने के लिए और अन्य धर्मों में कन्वर्ट हो चुके लोगों को हिंदू धर्म में वापस लाने के लिए हिंदू जागरण मंच के बैनर तले बिलासपुर के बेलगहना में स्थित मिट्ठू नवागांव में विशाल हिंदू महासम्मेलन का आयोजन 9 सितंबर को किया जा रहा है जिसमें घर वापसी अभियान के जरिए अपनी अलग पहचान बना चुके प्रबल प्रताप सिंह जूदेव भी शिरकत करेंगे और आयोजनकर्ताओं के द्वारा उन्हें ही कार्यक्रम का मुख्य अतिथि बनाया गया है ।

स्वर्गीय दिलीप सिंह जूदेव ने देश ही नहीं विदेश में भी अपने घर वापसी अभियान के जरिए एक अलग पहचान बनाई थी और उनके आकस्मिक निधन के बाद उनके पुत्र प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने इस अभियान को अपने हाथों में लिया और इस अभियान को उस बुलंदी पर ले गए जहां आज पूरे देश में उनकी पहचान हिंदुत्व के लिए पूरी तरह समर्पित रहने वाले नेताओं में होने लगी है उनके द्वारा जशपुर के अलावा प्रदेश के अलग-अलग जिलों में इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करने के अलावा पड़ोसी राज्य झारखंड में भी कई कार्यक्रम आयोजित किए जा चुके हैं ।

हिंदू महासम्मेलन में उनके अलावा हिंदू जागरण मंच के प्रांतीय संगठन मंत्री सुशील यादव मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित रहेंगे, वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता सतपाल जी महाराज की शिष्य साध्वी महात्मा चित्रा बाई करेंगी ।  इसके अतिरिक्त विशिष्ट अतिथि के रुप में गिरजाबंध हनुमान मंदिर रतनपुर के महंत तारकेश्वर पुरी जी, बर्फानी आश्रम कका पहाड़ के महंत श्यामसुंदर दास जी और मुनि कका पहाड़ के महंत शिव चैतन्य महाराज जी भी उपस्थित रहेंगे । छत्तीसगढ़ी को भी बढ़ावा देने के लिए राजधानी रायपुर के सुप्रसिद्ध कलाकारों की प्रस्तुति के साथ छत्तीसगढ़ी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन रखा गया है ।

 

27-08-2018
धमतरी का मामला: धर्म बदलकर शादी करने वाले इब्राहिम की पत्नी ने कहा- बहकाकर की थी शादी, SC ने की याचिका खारिज 

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ में धर्म बदलकर शादी करने वाले इब्राहिम सिद्धीकी को सुप्रीम  कोर्ट से बड़ झटका मिला है। सुप्रीम कोर्ट ने उसकी याचिका खारिज कर दी है। दरअसल इस मामले में  सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को पेश हुई लड़की ने कोर्ट को बताया कि इब्राहिम ने उसे बहलाकर शादी की थी। सुप्रीम कोर्ट ने इब्राहिम सिद्दीकी की याचिका खारिज कर दी है। सिद्दीकी का कहना था कि उसने शादी करने के लिए हिंदू धर्म अपनाया था, लेकिन लड़की के परिवार और कट्टरपंथी समूह ने उन्हें अलग कर दिया था। जिसके बाद से वह अपनी पत्नी से दूर रह रहा है। दरअसल, छत्तीसगढ़ में 23 साल की एक हिंदू लड़की से शादी करने के लिए मुसलमान से हिंदू बन गये 33 वर्षीय इब्राहिम ने अपनी प्रेमिका को उसके माता-पिता के कब्जे से आजाद कराने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। पिछली सुनवाई में सीजेआई दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने छत्तीसगढ़ सरकार से जवाब मांगा था और याचिका की प्रति राज्य सरकार के वकील को देने का निर्देश दिया था। 

सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के पुलिस अधीक्षक को प्रतिवादी नंबर 4, अशोक कुमार जैन की बेटी अंजलि जैन को 27 अगस्त, 2018 को अदालत में पेश करने का निर्देश दिया था। पीठ ने अदालत के अधिकारियों को इस आदेश की प्रति पुलिस अधीक्षक को भेजने का निर्देश दिया था। बता दें कि हिंदू बनकर आर्यन आर्य नाम अपना चुके मोहम्मद इब्राहिम सिद्दीकी ने छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी और कहा था कि हाईकोर्ट ने उसकी पत्नी के परिवार को  उसे मुक्त करने का आदेश देने से इनकार कर गलती की है। 

इब्राहिम के मुताबिक उसकी और उसकी पत्नी अंजली की जान को अंजली के परिवार से खतरा है।  उसकी पत्नी को उसके माता-पिता उसकी मर्जी के विरुद्ध स्वतंत्रता से वंचित कर रहे हैं। उसे भी उसकी पत्नी के घरवाले और समाज के कुछ अन्य कट्टरपंथी तत्व धमकी दे रहे हैं। उसने कहा कि उसकी पत्नी ने उच्च न्यायालय में कहा कि वह 23 साल की है और बालिग है तथा अपनी मर्जी से उसने उससे शादी की है। उच्च न्यायालय ने उसे अपने माता-पिता के साथ रहने या छात्रावास में उसके रहने का इंतजाम कराने का निर्देश दिया। दोनों ने 25 फरवरी, 2018 को रायपुर में एक आर्य समाज मंदिर में शादी की थी। 

 

इस पूरे मामले में युवक की बातों को युवती ने नकार दिया। उसने कहा कि आरोपी युवक ने उसे अपने जाल में फंसाया। उसे बहकाकर शादी की। युवक की तमाम दलीलों को युवती ने झुठला दिया। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद युवती के पक्ष में फैसला देते हुए इब्राहिम सिद्धकी की याचिका को खारिज करने का फैसला सुनाया। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804