GLIBS
19-10-2020
कमलनाथ ने दी अपनी टिप्पणी पर सफाई,कहा- मैं किसी का अपमान नहीं करता, उनका नाम याद नहीं आ रहा था

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा नेता इमरती देवी पर की गई अपनी टिप्पणी को लेकर अब सफाई दी है। उन्होंने कहा कि उन्हें इमरती देवी का नाम याद नहीं आ रहा था इसलिए उन्होंने आइटम बोल दिया। बता दें कि डबरा विधानसभा सीट में आयोजित एक जनसभा में कमलनाथ ने कैबिनेट मंत्री इमरती देवी को आइटम कह दिया। कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा,'शिवराज सिंह तो बहाना ढूंढ रहे हैं, बैठ गए अनशन पर कि मैंने किसी का अपमान किया। कमलनाथ ने कहा कि मैं किसी का अपमान नहीं करता..मैं तो सच्चाई के साथ आपकी पोल खोलता हूं। बता दें कि कमलनाथ आज खंडवा जिले की मांधाता विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी उत्तम पाल सिंह के समर्थन में जनसभा करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने इमरती पर दिए गए बयान पर सफाई दी और साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला।
बता दें कि इस टिप्पणी पर बीजेपी के बाद खुद इमरती देवी ने कमलनाथ पर पलटवार किया है। इसके साथ ही इमरती देवी ने सोनिया गांधी से कमलनाथ को पार्टी से निकालने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता के इस बयान से वह आहत हुई हैं। वह हमेशा कमलनाथ को अपना बड़ा भाई मानती रही हैं लेकिन वह राक्षस निकले। 

18-10-2020
सामान्य प्रेक्षक जयसिंह पहुंचे मरवाही, मतदान केंद्रों में मूलभूत सुविधाओं की ली जानकारी

रायपुर। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा मरवाही उपनिर्वाचन के लिए नियुक्त सामान्य प्रेक्षक जयसिंह ने उपनिर्वाचन की तैयारियों का जायजा लेने विभिन्न मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने धनपुर स्थित मतदान केंद्र क्रमांक 136, धरहर स्थित मतदान केंद्र क्रमांक 42 एवं 40, सिवनी स्थित मतदान केंद्र क्रमांक 41,  चंगेरी स्थित मतदान केंद्र क्रमांक 12, 12 का एवं 13 का निरीक्षण किया। उन्होंने मतदान केंद्रों में मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता, इपिक कार्ड वितरण, एएसडी  लिस्ट, संवेदनशीलता के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने बीएलओ से मतदान केंद्रों में मतदाताओं की संख्या, पुनरीक्षण में जुड़े नए मतदाताओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने मतदान केंद्रों में आवश्यक सुधार के लिए जनपद सीईओ मरवाही को निर्देशित किया ।

प्रेक्षक जयसिंह ने रास्ते में चल रहे नाटक एवं नाचा कार्यक्रम की अनुमति के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर खड़े प्रचार वाहन के सम्बन्ध में जानकारी ली एवं विधिसम्मत कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। उड़नदस्ता दल ने कार्यक्रम स्थल पर जाकर कार्यवाही की। इस दौरान अनुविभागीय दण्डाधिकारी रवि सिंह, अनुविभागीय अधिकारी(पुलिस), तहसीलदार मरवाही सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।




 

18-10-2020
आदिवासी कांग्रेस प्रमुख ने नकली प्रमाण पत्र वालों के नामांकन निरस्त करने का किया स्वागत

रायपुर। छत्तीसगढ़ आदिवासी कांग्रेस के प्रमुख और खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने मरवाही विधानसभा उपचुनाव में नकली प्रमाण पत्र वालों के नामांकन निरस्त किए जाने के निर्णय का स्वागत किया है। अमरजीत भगत सहित शिक्षा मंत्री डॉक्टर प्रेमसाय सिंह, उद्योग मंत्री कवासी लखमा और कांकेर विधायक शिशुपाल शोरी ने कहा है कि आदिवासी समाज लगातार इस बात के लिए मांग करता रहा। असली आदिवासियों को ही आदिवासियों के हितों का लाभ मिले। विश्व आदिवासी दिवस और आदिवासी समाज के अनेक सम्मेलनों और कार्यक्रमों में आदिवासी समाज लगातार मांग करता रहा है कि वास्तविक आदिवासियों को ही आदिवासियों के लिए हितों का लाभ मिलना चाहिए। जो नकली आदिवासी आदिवासियों के हितों पर नौकरी से लेकर राजनीति तक नाजायज रूप से लाभ लेते रहे हैं, उस पर रोक लगनी चाहिए। आज मरवाही उपचुनाव में नकली जाति प्रमाण पत्र वालों के नामांकन रद्द किए जाने की घटना इस दिशा में एक बड़ा फैसला है, जिसका आदिवासी समाज स्वागत करता है।

18-10-2020
विधायक ने दी क्षेत्र में 48 लाख के विकास कार्यों की सौगात

कोरिया। विधायक गुलाब कमरो अपने विधानसभा क्षेत्र में लगातार विकास कार्य कर रहे हैं।  विधायक कमरो ने 6 शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के निर्माण के लिए 48 लाख रुपए की सौगात दी। भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र को 6 शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के लिए  कलेक्टर ने 48 लाख रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई। विधायक की अनुशंसा पर कलेक्टर ने उचित मूल्य दुकान निर्माण कार्य के लिए ग्राम पंचायत च्यूल, ग्राम पंचायत मैनपुर, ग्राम पंचायत पूँजी, ग्राम पंचायत जनकपुर, ग्राम पंचायत पसौरी और ग्राम पंचायत घाघरा को 8-8 लाख रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की। तीन विकास खंडों सोनहत, भरतपुर एवं मनेंद्रगढ़ के ग्रामीण क्षेत्र को मिलाकर बना हुआ है। तीनों विकास खंडों में विधायक कमरो की ओर से विकास कार्य बड़े पैमाने पर किए जा रहे हैं। विधायक के अथक प्रयास व अनुशंसा पर भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र को लगातार प्रशासकीय स्वीकृति विकास कार्यों को लेकर मिल रही है। उनकी ओर से लगातार बड़े पैमाने पर विकास कार्यों की सौगातें दी जा रही हैं, जिससे विधानसभा क्षेत्र की जनता खुश है और विकास कार्यों की सौगात देने के लिए विधायक केे प्रति आभार प्रगट कर रही है।

12-10-2020
नगर पालिक निगम में हंगामा नेता प्रतिपक्ष को सामान्य सभा में शामिल होने से रोका

कोरबा। नगर पालिक निगम कोरबा में सोमवार को हंगामें की स्थिति निर्मित हुई। दरअसल नेता प्रतिपक्ष हितानंद अग्रवाल को सामान्य सभा में शामिल होने से रोका। इसे लेकर सामान्य सभा से पहले बवाल मच गया। नेता प्रतिपक्ष को घर पर आइसोलेशन का हवाला देकर प्रवेश पर रोक लगा दी गई। भाजपा ने विधानसभा की तर्ज पर रेपिड टेस्ट के आधार पर प्रवेश का निर्धारण तय करने की मांग को लेकर जमकर नारेबाजी की। भाजपा का आरोप है कि सामान्य सभा में किसी भी प्रस्ताव का विरोध न हो इसलिए कोरोना प्रोटोकाल को हथियार बनाया जा रहा। इसलिए सत्ता पक्ष डरी हुई है। भाजपा का कहना है कि रोके गए तीनों पार्षदों के पास रैपिड टेस्ट रिपोर्ट है। उसके बावजूद सदन में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जा रही।

01-10-2020
Breaking : कृषि सुधार बिल के विरोध में विधायक दल की बैठक 5 बजे, विधानसभा के विशेष सत्र पर चर्चा

रायपुर। कृषि सुधार बिल के विरोध में गुरुवार शाम पांच बजे विधायक दल की बैठक होगी। बैठक में सीएम भूपेश बघेल और पीसीसी चीफ मोहन मरकाम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होंगे। बैठक में कृषि सुधार बिल के विरोध को लेकर नई रणनीति तय की जाएगी। शुक्रवार कांग्रेस कार्यकर्ता किसानों के बीच पहुंचकर रायपुर में आयोजित होने वाली किसान सम्मेलन पर चर्चा करेंगे। कृषि बिल के लिए विधानसभा के विशेष सत्र पर चर्चा की जाएगी।

17-09-2020
 सेवा सप्ताह में शामिल हुए नेता प्रतिपक्ष कौशिक,कहा- स्वच्छता के विचार को आत्मसात करने की जरूरत

रायपुर। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन  पर आयोजित स्वच्छता अभियान की शुरूआत की। प्रधानमंत्री मोदी ने हमें जीवन में मन,विचार और शरीर से स्वस्थ्य व स्वच्छ रहने की प्रेरणा दी है। उन्होंने कहा कि सामाजिक जीवन में हमें त्याग के साथ कार्य करने को प्रेरित किया है। हमें जीवन मे स्वच्छता के विचार को आत्मसात करने की जरूरत है। बिल्हा के सिरगिट्टी वार्ड संख्या 10 के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्वच्छता कार्यक्रम व स्वास्थ्य परीक्षण का आयोजन किया गया। जिला भाजपा सदस्य मनोज दुबे,मंडल अध्यक्ष बलराम देवांगन, महामंत्री सीनू राव,हरिश्चन्द्र साहू,तिफरा के पार्षद श्यामलाल बंजारे,संजू सिंह,जिला भाजपा मंत्री रामु साहू, राजकुमार यादव,अजय कश्यप,रामगोपाल यादव,शिवा धुरी,राजाराम प्रजापति,रितेश अग्रवाल,पवन तिवारी ,विजय मरावी,दीनू कौशिक,प्रसाद राव,लोमस कश्यप,रंजन सिंह, राशिद उल्लाह खान,हर्ष ताम्रकार,संजू गुप्ता,मोनू रजक,पवन छाबडा सहित मंडल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी उपस्थित रहे।

 

09-09-2020
धरमलाल कौशिक ने कहा, प्रदर्शनकारी व्याख्याताओं पर एफआईआर दर्ज होना निंदनीय

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने चयनित व्याख्याताओं पर दर्ज किये गए अपराध पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि चयनित व्याख्याताओं की मांग जायज़ है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने इस सम्बंध में पत्र लिखकर चयनित व्याख्याताओं के हित में शीघ्र कदम उठाए जाने की मांग की थी। विपक्ष की ओर से भर्ती प्रक्रिया में देरी के विषय मे विधानसभा में भी मुद्दा उठाया गया था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा अधिकारियों के समक्ष 1 सप्ताह के भीतर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने की बात कही थी। लेकिन ने आंदोलनकारियों से चर्चा की वजह उनपर एफआईआर दर्ज कर दी ,जो निंदनीय कृत्य है। कौशिक ने कहा कि सरकार अगर सही समय पर भर्ती प्रक्रिया को पूर्ण कर लेती तो युवाओं को इस प्रकार प्रदर्शन न करना पड़ता। नेता प्रतिपक्ष ने सवाल उठाते हुए कहा कि अगर प्रदर्शनकारियों पर भीड़ जुटाने की वजह से मामला दर्ज किया गया तो सीबीआई दफ्तर के बाहर प्रदर्शन करने वाले एवं कई अन्य मौकों पर लगातार भीड़ जुटाने वाले कांग्रेस के नेताओं, कार्यकर्ताओ पर भी मामला दर्ज होना चाहिए। उन्होंने छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया  कि कांग्रेस के नेता प्रदर्शन करते है तो उन्हें सिर्फ इसलिए छूट दी जा रही है क्योंकि प्रदेश में उनकी पार्टी सत्ता पर काबिज है और अन्य लोगों के साथ दोहरे मापदंड अपनाकर अलोकतांत्रिक लगातार कदम उठा रही है,जो निंदनीय है।

 

29-08-2020
भूपेश बघेल ने कहा-नवा रायपुर को आबाद करने किए जा रहें चौतरफा उपाय,विधानसभा भवन का निर्माण जल्द पूरा होगा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नए विधानसभा भवन के शिलान्यास कार्यक्रम में अपने उद्बोधन की शुरुआत छत्तीसगढ़ महतारी और भारत माता के जयकारे से की। उन्होंने कहा कि, नवा रायपुर अटल नगर आबाद हो, इसके लिए छत्तीसगढ़ सरकार चौतरफा उपाय कर रही है। मंत्रिमंडल के सहयोगियों और अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए आवास बनाने की शुरुआत बीते वर्ष की जा चुकी है। कोरोना संक्रमण की वजह से काम में थोड़ा विलंब हुआ। उन्होंने कहा कि, संसदीय सचिवों को नवा रायपुर में ही आवास आवंटित किए गए हैं। मुख्यसचिव नवा रायपुर में निवास करने लगे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि,आगामी वर्षों में यहां राज्यपाल, मंत्री और शासन-प्रशासन से जुड़े सभी लोग रहने लगेंगे। सुविधाएं बढ़ेंगी। इस नए शहर को बसाने की सभी अड़चनें दूर हो जाएंगी। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा हमारी यह कोशिश रहेगी कि, विधानसभा का नया भवन जल्दी बनकर तैयार हो जाए।

हम सब छत्तीसगढ़ की पौने तीन करोड़ जनता और छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा के लिए यहां बैठेंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विधानसभा भवन के शिलान्यास कार्यक्रम में सांसद सोनिया गांधी और राहुल गांधी की वर्चुअल उपस्थिति के लिए धन्यवाद दिया। कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी, ग्रामीण विकास एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, महिला एवं बाल विकास अनिला भेंड़िया, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत सहित संसदीय सचिव, विधायक, अनेक जनप्रतिनिधि, निगम मंडलों के अध्यक्ष, मुख्य सचिव आरपी. मंडल, विधानसभा के प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराड़े, अपर मुख्य सचिव वित्त  अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव गृह सुब्रत साहू, लोक निर्माण विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

29-08-2020
छत्तीसगढ़ विधानसभा के नए भवन का हुआ भूमिपूजन, नई दिल्ली से जुड़े सोनिया, राहुल और वोरा 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने शनिवार को नवा रायपुर में छत्तीसगढ़ विधानसभा के नए भवन के निर्माण के लिए बटन दबाकर शिलापट का अनावरण किया। भूमिपूजन कार्यक्रम में नई दिल्ली से  सांसद सोनिया गांधी, सांसद राहुल गांधी और मोतीलाल वोरा भी जुड़े। भूमिपूजन कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू, संसदीय कार्य मंत्री रविन्द्र चौबे, विधानसभा के उपाध्यक्ष मनोज मंडावी सहित मंत्रिमंडल के सदस्य, संसदीय सचिव, विधायक सहित अनेक जनप्रतिनिधि और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

28-08-2020
विधानसभा का मानसून सत्र समाप्त, डॉ.महंत ने कहा-सभी सदस्यों ने दिया अपनी कर्तव्यपरायणता का परिचय

रायपुर। विधानसभा के मानसून सत्र के समापन के अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने कहा कि कोविड-19 महामारी की विषम परिस्थितियों में विधानसभा का सत्र आहूत कर और उसे सफल बनाने में विधानसभा के सभी सदस्यों ने अपनी कर्तव्यपरायणता का परिचय दिया है। इससे कोविड-19 के विरूद्ध संघर्ष करने वाले प्रत्येक व्यक्ति, समूह, संस्था और संगठनों को एक नई ऊर्जा मिली है। सभी सदस्यों ने संकट की घड़ी में पूर्ण सजगता और समर्पण के साथ अपना योगदान दिया। कोरोना महामारी के संक्रमण से छत्तीसगढ़ राज्य को हम और अधिक कैसे सुरक्षित रख सकते हैं। इस पर भी सकरात्मक चर्चा हुई। लोकहित और सर्व कल्याण की सदस्यों की इस सामूहिक भावना को मैं सदन की सबसे बड़ी उपलब्धि मानता हूं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कोरोना काल में विधानसभा के सभी सदस्यों ने सदन की कार्यवाही में हिस्सा लिया और सुरक्षित रहते हुए अपने संवैधानिक दायित्वों का पालन करते हुए अपने मतदाताओं और अपने क्षेत्र की समस्याओं को पुरजोर उठाया। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में जब सामान्य जीवन कठिन हो गया है। ऐसे में अपने संसदीय दायित्वों को पूरा करने के लिए सदस्यों ने समर्पण से कार्य किया। सदस्यों का यह समर्पण प्रजातंत्र के प्रति उनकी निष्ठा और प्रदेश की जनता और छत्तीसगढ़ महतारी के प्रति उनके प्रेम को दर्शाता है। मुख्यमंत्री ने विधानसभा अध्यक्ष के प्रति सभी सदस्यों, अधिकारियों-कर्मचारियों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए की गई व्यवस्था के लिए आभार प्रकट किया। विधानसभा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ने सदन की कार्यवाही के संचालन में दिए गए सहयोग के लिए विधानसभा सचिवालय और राज्य सरकार के अधिकारियों और कर्मचारियों, सुरक्षाकर्मियों, मीडिया प्रतिनिधियों सहित सभी को धन्यवाद दिया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत ने जानकारी दी कि मानसून सत्र में विनियोग विधेयक सहित 12 विधेयक चर्चा के बाद पारित किए गए। राज्य सरकार के प्रथम अनुपूरक अनुमान पर 3 घंटे 33 मिनट चर्चा के उपरांत प्रथम अनुपूरक मांगे पारित की गई। इस सत्र की कुल 4 बैठकों में लगभग 24 घंटे 30 मिनट चर्चा हुई। उन्होंने सत्र के दौरान किए गए कार्यों की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विधानसभा का शीतकालीन सत्र दिसंबर माह के तीसरे सप्ताह में आहूत होने की संभावना है।

28-08-2020
छत्तीसगढ़ी भाषा को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करने का संकल्प विधानसभा में सर्वसम्मति से पारित

रायपुर। विधानसभा में शुक्रवार को छत्तीसगढ़ी भाषा को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करने का मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से प्रस्तुत शासकीय संकल्प सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। मुख्यमंत्री ने यह शासकीय संकल्प प्रस्तुत करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ी को राजभाषा का दर्जा मिल चुका है। लेकिन छत्तीसगढ़ी भाषा अभी तक संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल नहीं हो पाई है। छत्तीसगढ़ी भाषा के विकास और मान्यता के लिए छत्तीसगढ़ी भाषा का संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल होना आवश्यकता है।
 मुख्यमंत्री ने सदन में बताया कि उन्होंने इस संबंध में अशासकीय संकल्प लाया था, जो पारित नहीं हो पाया था। इसके बाद एक साल तक वातावरण निर्माण के लिए साहित्यकारों, कवियों के साथ बिलासपुर, दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव में संगोष्ठियां आयोजित की गई। वर्ष 2007 में उन्होंने पुनः विधानसभा में छत्तीसगढ़ी भाषा को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करने के लिए अशासकीय संकल्प लाया गया था, जिसे समवेत स्वर में पारित किया गया। पिछली सरकार ने भी भारत सरकार को छत्तीसगढ़ विधानसभा में छत्तीसगढ़ी भाषा को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करने के लिए प्रस्ताव भेजा था। अनेक क्षेत्रीय भाषाएं आठवीं अनुसूची में शामिल हुई, लेकिन छत्तीसगढ़ी भाषा संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल नहीं हो पाई।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार छत्तीसगढ़ी तीज-त्यौहारों, खान-पान, रहन-सहन को बढ़ावा दे रही है। अब मंत्रालय में भी अधिकारी-कर्मचारी छत्तीसगढ़ी सीख रहे हैं। अधिकारी-कर्मचारी कार्यक्रमों में स्वागत भाषण और आभार प्रदर्शन छत्तीसगढ़ी भाषा में करना शुरू कर दिए है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब ओडिशा के लोग आपस में मिलते हैं तो ओड़िया में, तेलगू लोग मिलते है तो तेलगू भाषा में और जब मराठी लोग मिलते है तो मराठी में बात करते हैं। छत्तीसगढ़ राज्य के गठन के 20 साल हो गए हैं, लेकिन छत्तीगसढ़ी 8वीं अनुसूची में शामिल नहीं हो पाई है। केन्द्र सरकार से एक बार फिर इस संबंध में आग्रह करने के लिए यह शासकीय संकल्प विधानसभा में लाया गया है। मुख्यमंत्री के सभी सदस्यों से इस संकल्प को सर्वसम्मति से पारित करने के अनुरोध के बाद यह संकल्प विधानसभा में सर्वसम्मति से पारित किया गया। चर्चा में डॉ.रमन सिंह, अजय चन्द्राकर,संगीता सिन्हा,धर्मजीत सिंह ने हिस्सा लिया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804