GLIBS
टेस्ट मैच में 100 विकेट लेकर उमेश बने भारत के 8 वे तेज गेंदबाज 

नई दिल्ली।  उमेश यादव ने शुक्रवार को 100 वां विकेट हासिल कर भारत के आठवें तेज गेंदबाज बन गए। उमेश ने अफगानिस्तान के रहमत शाह को आउट करके टेस्ट मैचों में  100 वां  विकेट पूरा किया। 

वहीं यह उपलब्धि हासिल करने वाले भारत के कुल 22 वें तेज  गेंदबाज हैं लेकिन अब तक के आठ भारतीय तेज गेंदबाज ही इस मुकाम पर पहुंचे हैं। 

 इस तरह से उमेश अब कपिल देव और जहीर खान जैसे गेंदबाजों की गिनती में शामिल हो गए हैं। कपिल ने 131 टेस्ट में 434 और जहीर ने 92 मैचों में 311 विकेट लिए  वहीं   टेस्ट मैचों में 100 विकेट लेने वाले अन्य भारतीय तेज गेंदबाजों में इशांत शर्मा (236), जवागल श्रीनाथ (236), मोहम्मद शमी (110), करसन घावरी (109) और इरफान पठान (100) शामिल हैं।  इस क्लब में शामिल अन्य सभी गेंदबाज स्पिनर हैं। इनमें अनिल कुंबले के नाम पर 619 विकेट दर्ज हैं। 

पहले दिन 474 रनों पर भारी पड़े भारतीय बल्लेबाज

नई दिल्ली। टेस्ट मैच के पहले दिन भारतीय बल्लेबाजों ने अफगानिस्तान के स्पिनरों को जम कर थकाया और रन भी बटोरे। हालांकि अफगानी गेंदबाजों ने दिन के आखिरी सत्र में वापसी करते हुए भारत के चार विकेट चटका दिए। मेजबान टीम ने दिन का अंत 78 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 347 रनों के साथ किया।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने अफगानिस्तान की स्पिन तिगड़ी राशिद खान, मुजीब उर रहमान और मोहम्मद नबी की जमकर धुनाई की उनके टेस्ट क्रिकेट में अनुभवहीन होने का फायदा उठाया।

धवन ने सिर्फ 96 गेंद में 107 रन बनाकर पहले सत्र में अफगान गेंदबाजों को नाकों चने चबवा दिए। वहीं विजय ने 153 गेंद में 105 रन बनाए. दोनों ने मिलकर 28.4 ओवर में 168 रन जोड़े।

दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम ने आखिरी सत्र में 32 ओवर में 99 रन के भीतर पांच विकेट गंवा दिए। पहले दो सत्र में लग रहा था कि अफगान गेंदबाज मेजबान की मजबूत बल्लेबाजी के सामने नहीं टिकेंगे, लेकिन आखिरी सत्र में उन्होंने उम्मीद जगाई।

आखिरी सत्र अफगान गेंदबाजों के नाम रहा। विजय और के एल राहुल (64 गेंद में 54 रन) को यामिन अहमदजई और वफादार ने आउट किया। अहमदजई ने 13 ओवर में 32 रन देकर दो और वफादार ने 15 ओवर में 53 रन देकर एक विकेट लिया।

विजय और राहुल ने दूसरे विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की लेकिन उनके आउट होने के बाद भारत के विकेट जल्दी गिर गए। कप्तान अजिंक्य रहाणे 45 गेंद में 10 और चेतेश्वर पुजारा 35 रन बनाकर आउट हो गए। रहाणे को राशिद खान ने पवेलियन भेजकर पहला टेस्ट विकेट लिया जबकि मुजीब रहमान ने पुजारा को लेग गली में लपकवाया।

टीम में वापसी करने वाले दिनेश कार्तिक चार रन बनाकर रन आउट हो गए। शीर्षक्रम से मिली अच्छी शुरूआत का मध्यक्रम के बल्लेबाज फायदा नहीं उठा सके। राशिद ने 26 ओवरों में 120 रन दे डाले और उन्हें एक ही विकेट मिला। आखिरी सत्र में हालांकि उसने बेहतर गेंदबाजी की और नौ ओवर में 15 रन देकर एक विकेट लिया।

बारिश के कारण मैच रुकने के बाद अफगानिस्तानी गेंदबाजों को पिच से मदद मिलने लगी। अफगानिस्तानी की ओर से यामिन अहमदजई ने 2, वफादार, राशिद खान और मुजीब उर रहमान ने 1-1 विकेट लिए. एक खिलाड़ी रन आउट हुआ।

मुरली विजय ने जड़ा 12वां टेस्ट शतक :

शिखर धवन के बाद मुरली विजय ने भी शानदार शतक लगा दिया है। यह मुरली विजय का टेस्ट क्रिकेट में 12वां शतक है. उन्होंने 50वें ओवर में अफगान गेंदबाज वफादार की गेंद पर चौका लगाते हुए अपना शतक पूरा किया। मुरली विजय 105 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने अपनी पारी में 15 चौके और एक छक्का लगाया।

धवन जब तक थे विजय शांत थे, लेकिन उनके जाने के बाद विजय ने भी थोड़ा तेज  खेला। शतक पूरा करने के बाद हालांकि वह ज्यादा देर रुक नहीं सके और वफादार की गेंद पर 280 के कुल स्कोर पर एलबीडब्ल्यू हो गए।

7वां टेस्ट शतक जड़कर धवन ने बनाया रिकॉर्ड :

भारत की ओर से शिखर धवन और मुरली विजय ने भारत को शानदार शुरूआत दिलाई। शिखर धवन ने लंच से पहले ही शतक जड़ दिया। यह उनका टेस्ट क्रिकेट में सातवां शतक था। इसके अलावा वह लंच से पहले एक सेशन में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय और दुनिया के छठे बल्लेबाज बन गए। शिखर धवन ने पहले सेशन में 91 गेंदों पर ताबड़तोड़ 104 रन ठोक दिए। धवन ने अपनी इस पारी में 19 चौके और 3 छक्के लगाए।

भारत: शिखर धवन, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (कप्तान), लोकेश राहुल, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, ईशांत शर्मा, उमेश यादव।अफगानिस्तान से मोहम्मद शहजाद, जावेद अहमदी, रहमत शाह, असगर स्टेनिकाजई (कप्तान), अफसर जजाई (विकेटकीपर), मोहम्मद नबी, हशमतुल्ला शाहिदी, राशीद खान, मुजीब उर रहमान, यामिन अहमदजई, वफादार।

127 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा, टीम इंडिया ने कर दी वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी

नई दिल्ली। भारत और श्रीलंका के बीच दिल्ली में खेला जा रहा टेस्ट मैच भले ही मेहमान टीम ने बचा लिया हो, लेकिन इस टेस्ट को ड्रॉ करवाने के बाद भी श्रीलंका की टीम विराट सेना को इस बड़े रिकॉर्ड को तोड़ने से नहीं रोक सकी। पांचवें दिन टीम इंडिया को जीत के लिए 7 विकेट की जरुरत थी, लेकिन श्रीलंकाई बल्लेबाजों की जुझारू पारियों के चलते भारतीय टीम इस मुकाबले को जीतने में नाकाम रही और टेस्ट मैच ड्रॉ ही रहा। इसके साथ ही तीन टेस्ट मैच की सीरीज को भारत ने 1-0 से अपने नाम कर लिया और इसी के साथ टीम इंडिया ने एक वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। भारतीय क्रिकेट टीम टेस्ट क्रिकेट इतिहास में इससे पहले कभी भी ऐसा नहीं कर सकी थी।

कोहली सेना ने की इस 'विराट रिकॉर्ड' की बराबरी

श्रीलंका को इस सीरीज में मात देने के साथ ही भारतीय टीम ने लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीतने के आॅस्ट्रेलिया के  विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। दुनिया में लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीतने का रिकॉर्ड आॅस्ट्रेलियाई टीम के नाम है। ये रिकॉर्ड उन्होंने अक्टूबर 2005 से मई 2008 के बीच बनाया था और अब कोहली की विराट सेना ने श्रीलंका को पस्त कर भारतीय टीम का नाम भी संयुक्त रूप से आॅस्ट्रेलिया के साथ पहले स्थान पर दर्ज़ करवा लिया है।

टीम इंडिया ने तोड़ा इंग्लैड का ये रिकॉर्ड

तीन टेस्ट मैच की ये सीरीज 1-0 से जीतने के साथ ही भारतीय टीम ने इंग्लैंड के लगातार 8 टेस्ट सीरीज जीतने के रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ दिया। इंग्लैंड ने ये लगातार 8 सीरीज जीतने का कीर्तिमान जुलाई 1884 से जुलाई 1890 के बीच बनाया था। यानि भारतीय टीम ने 127 साल पुराने इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।

Ind vs SL 3rd Test Day 5: श्रीलंका की आधी टीम लौटी पवेलियन, जीत के करीब भारत

Ind vs SL 3rd Test: भारत-श्रीलंका के बीच दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर खेले जा रहे तीसरे और निर्णायक टेस्ट मैच के पांचवें दिन का खेल जारी है। फिलहाल श्रीलंका अपनी दूसरी पारी में 5 विकेट खो चुका है। चौथे दिन मंगलवार को टीम इंडिया द्वारा रखे गए 410 रनों के लक्ष्य के सामने श्रीलंकाई टीम अच्छी शुरुआत नहीं कर पाई। दिन का खेल खत्म होने तक उसने अपनी दूसरी पारी में 16 ओवरों पर अपने तीन विकेट 33 रनों पर ही खो दिए। भारत ने दिन के तीसरे सत्र में अपनी दूसरी पारी पांच विकेट पर 246 रनों पर घोषित कर दी थी। इसके साथ भारत ने श्रीलंका के सामने जीत के लिए 410 रनों का लक्ष्य रखा।

टारगेट का पीछा करने उतरी श्रीलंका की शुरुआत खराब रही और उसने 14 रनों के कुल स्कोर पर सदीरा समाराविक्रम (5) के रूप में अपना पहला विकेट खोया। मोहम्मद शमी की शानदार बाउंसर उनके दस्तानों को छूकर स्लिप में खड़े अंजिक्य रहाणे के हाथों में जा समाई। दिमुथ करुणारत्ने को रवींद्र जडेजा ने विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। जडेजा ने तीन गेंद बाद सुरंगा लकमल को बोल्ड कर श्रीलंका को तीसरा झटका दिया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804
Visitor No.