GLIBS
04-07-2020
Breaking: छत्तीसगढ़ में मिले 28 और कोरोना पॉजिटिव, रायपुर से 8 नए केस

रायपुर। छत्तीसगढ़ में 28 और कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। इनमें बिलासपुर से 19, रायपुर से 8 और राजनांदगांव से 1 मरीज शामिल है। शनिवार को मिले कोरोना मरीजों की भर्ती प्रक्रिया जारी है। इससे पहले देर शाम जारी मेडिकल बुलेटिन में शनिवार को 68 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए थे। इनमें रायपुर से 27, बेमेतरा से 9, नारायणपुर से 8, जांजगीर चांपा से 7, बिलासपुर से 5, रायगढ़ और दंतेवाड़ा से 3-3, सरगुजा, कोरिया, जगदलपुर से 2-2 नए मरीज मिले थे। इस तरह से दिनभर में प्रदेशभर में 96 कोरोना मरीजों की पहचान हुई है। राहत की बात है  कि शनिवार को 112 कोरोना मरीजों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया है।

 

04-07-2020
Breaking: प्रदेश में 68 और कोरोना पॉजिटिव मिले, 112 डिस्चार्ज, राजधानी में 27 नए केस 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में शनिवार को 68 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। वहीं 112 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी पुष्टि की है। जारी मेडिकल बुलेटिन में बताया गया कि 68 नए मरीजों में रायपुर से 27, बेमेतरा से 9, नारायणपुर से 8, जांजगीर चांपा से 7, बिलासपुर से 5, रायगढ़ और दंतेवाड़ा से 3-3, सरगुजा, कोरिया, जगदलपुर से 2-2 नए मरीज मिले हैं। मेडिकल बुलेटिन देखने यहां क्लिक करें..  

04-07-2020
छत्तीसगढ़ के चार कांग्रेस सांसदों ने पीएम को लिखा पत्र, गरीब कल्याण रोजगार योजना में प्रदेश को शामिल करने की मांग

रायपुर। आपदा राहत की दिशा में राज्यों में वापस लौटे प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने केंद्र सरकार द्वारा आरंभ किए गए गरीब कल्याण रोजगार योजना में छत्तीसगढ़ को शामिल नहीं किए जाने पर आपत्ति दर्ज करते हुए छत्तीसगढ़ के चार कांग्रेस सांसदों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है और मांग की है कि यथाशीघ्र इस योजना में छत्तीसगढ़ को भी शामिल किया जाए। पत्र लिखने वाले कोरबा लोकसभा सांसद ज्योत्सना चरणदास महंत, बस्तर लोकसभा सांसद दीपक बैज और राज्यसभा सांसद छाया वर्मा और सांसद फूलोदेवी नेताम शामिल सांसदों ने पत्र में कहा गया है कि डॉ.रमन सिंह 15 साल छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहे, इनके ही शासनकाल में भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी, कुशासन और जनविरोधी नीतियों के चलते छत्तीसगढ़ गरीबी रेखा के मामले में देश में नंबर वन बन गया। अब प्रदेश के भाजपा नेताओं के द्वारा छत्तीसगढ़ को गरीब कल्याण योजना से भी वंचित करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है। एनएसएसओ के आंकड़ों के आधार पर छत्तीसगढ़ में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वालों की संख्या 47.9 प्रतिशत है और यह पूरे देश में सर्वाधिक है। राष्ट्रीय औसत शहरी क्षेत्रों के लिए 13.7 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 25.7 प्रतिशत है गरीब कल्याण रोजगार योजना में शामिल किए गए राज्य उड़ीसा (45.9 प्रतिशत), मध्य प्रदेश (44.3 प्रतिशत), झारखंड (42.4 प्रतिशत) और बिहार (41.3 प्रतिशत) का गरीबी रेखा के मामले में नंबर क्रमशः 2, 3, 4 और 5 है। राजस्थान को भी शामिल किया गया है जहां गरीबी रेखा का आंकड़ा छत्तीसगढ़ के आधे से भी कम 21.7 प्रतिशत है, पर सर्वाधिक गरीबी रेखा प्रतिशत वाले राज्य छत्तीसगढ़ को दुर्भावना पूर्वक छोड़ दिया गया है।

भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय मंत्री, 9 सांसद लोकसभा के, दो राज्यसभा सांसद, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राष्ट्रीय महामंत्री बताए कि छत्तीसगढ़ की गरीब जनता से किस बात का बदला लेना चाहती है? पूर्व में भी हमने देखा कि छत्तीसगढ़ के किसानों को धान के समर्थन मूल्य 2500 रू. प्रति क्विंटल की दर से देने पर भी तमाम तरह के अड़ंगे लगाए गए, केंद्रीय पुल के तहत चावल नहीं खरीदने की धमकी देते हुए व्यवधान पैदा करने की कोशिश की गई। उक्त संदर्भ में बुलाए गए सर्वदलीय बैठक में भी भाजपा के सांसदों ने यह कहते हुए बैठक में भाग लेने से इनकार कर दिया था की ना यह उनकी प्राथमिकता में है ना उनके पास समय है! भारतीय जनता पार्टी और मोदी सरकार की नीतियां आरंभ से ही गरीब, मजदूर, किसान और आमजन के हितों के विपरीत चंद पूंजीपतियों के मुनाफे पर केंद्रित रही हैं। विगत 3 महीनों से प्रवासी श्रमिक लगातार केंद्र सरकार की उपेक्षा और अव्यवस्थाओं का सामना करते हुए कठिन परिस्थितियों में वापस लौटने मजबूर हुए हैं। अब इनको रोजगार से वंचित कर दोहरी प्रताड़ना की मार सहने मजबुर किया जा रहा है। कांग्रेस के सांसदों ने प्रधानमंत्री मोदी से मांग की है कि तत्काल छत्तीसगढ़ को इस योजना में शामिल कर छत्तीसगढ़ वापस लौटे प्रदेश के लगभग 5 लाख श्रमिकों को इसका लाभ दिया जाए, जिससे न केवल श्रमिकों को आर्थिक लाभ होगा बल्कि उनकी क्रय क्षमता बढ़ने से यह पैसा उनके द्वारा किए जाने वाले खरीदी के माध्यम से बाजार में आएगा और अर्थव्यवस्था में भी तेजी से सुधार होगा। मजदूरों और किसानों की समृद्धि के बिना प्रदेश और देश की तरक्की की कल्पना व्यर्थ है।

 

04-07-2020
Video: एनएसयूआई ने प्रधानमंत्री का पुतला फूंका, छत्तीसगढ़ के जिलों को गरीब कल्याण योजना में शामिल करने की मांग

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश एनएसयूआई ने आज पूरे प्रदेश में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर पीएम नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया। केंद्र सरकार की गरीब कल्याण रोजगार योजना में छत्तीसगढ़ के किसी भी जिले को नहीं लिए जाने पर एनएसयूआई पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के निवास का घेराव करने निकली थी। वहीं प्रदेश के भाजपा सांसदों के निवास का घेराव भी किया गया। प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी पूरे प्रदेश में रोजगार के नाम पर प्रदर्शन कर रही है और वहीं भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व जो सत्ता पर काबिज है छत्तीसगढ़ की जनता के साथ भेदभाव कर रहा है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार होने के कारण दोहरी नीति अपना रहे हैं। आज प्रदेश में 40 प्रतिशत से अधिक लोग गरीबी रेखा के नीचे हैं उसके बाद भी इस योजना का लाभ नहीं दिया गया है। केंद्र सरकार से मांग है कि छत्तीसगढ़ के सारे जिलों को इस गरीब कल्याण रोजगार योजना में शामिल किया जाए। प्रदर्शन में मुख्य तौर पर प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला, जिला अध्यक्ष अमित शर्मा, प्रदेश सचिव हनी बग्गा, अरुणेश मिश्रा, प्रदेश प्रवक्ता तुषार गुहा, जिला महासचिव संकल्प मिश्रा आदि मौजूद थे।

 

04-07-2020
गरीब कल्याण योजना में उपेक्षा का आरोप, भूपेश ने कहा प्रधानमंत्री के सामने बोलने किसी भाजपा सांसद की नहीं है हैसियत

रायपुर। गरीब कल्याण योजना में छत्तीसगढ़ की उपेक्षा का आरोप लगाकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा सांसदों पर निशाना साधा है। भूपेश बघेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सामने बोलने की किसी भाजपा नेता या सांसद की हैसियत नहीं है। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से कहना है कि प्रदेश की जनता ने 9 सांसद चुनकर ऐसे ही नहीं भेजे हैं। भाजपा सांसद छत्तीसगढ़ में गरीब कल्याण योजना के लिए प्रधानमंत्री को पत्र क्यों नहीं लिखते। भूपेश ने कहा कि छत्तीसगढ़ के लिए हमने केन्द्र से 30 हजार करोड़ की मांग की लेकिन उन्होंने नहीं दिया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को राजीव भवन में पत्रकारवार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में जो वादा किया वो एक एक कर पूरा कर रहे हैं। विलम्ब जरूर हुआ है पर अन्याय किसी के साथ नहीं होगा। उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना के अंतर्गत गोबर किस कीमत में खरीदा जाएगा इसके बारे में भी लोग जानना चाहते हैं।

इसका समाधान जल्द हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 2200 गौठान बन चुके हैं और 2800 का काम जारी है। हर आदमी को रोजगार मिले इसकी कोशिश की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के दौर में हुए लॉकडाउन में प्रदेश में भले ही कम उत्पादन रहा लेकिन काम जारी रहा। जब कोरोना भारत पहुंचा था तब केन्द्र मध्यप्रदेश में सरकार बनाने में लगी थी। तब राहुल गांधी ने सरकार को इस पर काम करने के लिए कहा था। लेकिन भाजपा सरकार ने कुछ नहीं किया। उस दौरान यदि केन्द्र सरकार सक्रियता दिखाती तो भारत में यह भयावह स्थिति नहीं होती। प्रदेश में संसदीय सचिवों की नियुक्ति पर भूपेश बघेल ने कहा कि पूर्व में संसदीय सचिवों के लिए हमारे नेताओं ने पीआईएल लगाई थी उसे हाईकोर्ट ने निरस्त कर दिया था। अब नियमानुसार नियुक्तियां होगी। इस दौरान शनिवार को हुई बैठक के संबंध में प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि महत्वपूर्ण मुद्दों को लेकर जिला कांग्रेस अध्यक्षों की बैठक हुई। राजीव भवन हमारे लिए शुभ साबित हुआ और हमने प्रदेश में जीत दर्ज की। 22 अगस्त को जिला कार्यालयों के लिए भूमिपूजन होगा।

04-07-2020
Video: छत्तीसगढ़ के साथ भेदभाव को लेकर एनएसयूआई ने फूंका प्रधानमंत्री पुतला  

राजनांदगांव। केंद्र सरकार के द्वारा बेरोजगारों को रोजगार देने की बात कही गई थी। इसी के तहत केंद्र सरकार द्वारा गरीब कल्याण योजना का शुभारंभ किया गया है। इसके तहत सभी राज्यों में यह योजना लागू की गई है। इस योजना को छत्तीसगढ़ में लागू नहीं करने के विरोध में एनएसयूआई द्वारा शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन सांसद कार्यालय सिविल लाइन के समक्ष किया गया है। पुतला दहन के तहत एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी भी की है।  पुतला दहन कार्यक्रम के संबंध में एनएसयूआई के अध्यक्ष विप्लव शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ सरकार के साथ लगातार भेदभाव किया जा रहा है। केंद्र सरकार द्वारा गरीब कल्याण योजना,जो लागू की गई है उसे से छत्तीसगढ़ के बेरोजगार युवाओं को कोई लाभ नहीं मिल पा रहा है।

वहीं जिला भाजपा के अध्यक्ष मधुसूदन यादव का कहना है कि केंद्र सरकार द्वारा किसी भी राज्य से भेदभाव नहीं कर रही है। जिस राज्य में 25,000 से अधिक प्रवासी मजदूर आए हैं उस राज्य में यह योजना लागू की जा रही है। छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार द्वारा केंद्र सरकार को किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं भेजी गई है,जिसके कारण यह योजना छत्तीसगढ़ में लागू नहीं हो पा रही है। उन्होंने कहा कि एनएसयूआई को प्रधानमंत्री का पुतला नहीं बल्कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला फूंकना चाहिए,जिन्होंने केंद्र सरकार की गाइडलाइन के तहत काम नहीं किया है यदि वे केंद्र को सही जानकारी देते तो यह योजना छत्तीसगढ़ में भी लागू हो जाती और यदि वे अभी भी केन्द्र सरकार को सही जानकारी दे दे तो छत्तीसगढ़ में यह योजना लागू हो जाएगी।

03-07-2020
नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल की उप​लब्धि जन जन तक पहुंचाने भाजपा मंडल की हुई बैठक

कोरबा। दर्री मंगल भवन स्थित दुर्गा पंडाल में भाजपा दर्री मंडल के पदाधिकारी, संयोजक एवं सहसंयोजक की आवश्यक बैठक शुक्रवार को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए आहूत की गई। बैठक में नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के 1 वर्ष पूरा होने व किये गए कार्यो को जन जन तक पहुंचाने के लिए बूथ स्तर पर घर घर जाकर बताने के लिए सभी कार्यकर्ता को जिम्मेदारी दी गई। इसके लिए दर्री मंडल के सभी 12 वार्डो के लिए प्रभारी का चयन किया गया।  बैठक में मंडल अध्यक्ष नारायण सिंह ठाकुर, तुलसी ठाकुर,महामंत्री मनोज लहरे व मनोज यादव, उपाध्यक्ष राधा महंत व हसीम खान, मंत्री राजेश प्रजापति, रमला देवी वर्मा, पुराइन बाई कंवर,शुभाष पांडे,कोषाध्यक्ष संजय अग्रवाल,अशोक अग्रवाल,पार्षद फिरत साहू, जनक सिंह राजपूत,अवध गभेल,विद्या शुक्ला,महेंद्र पाल,विजेंद्र शर्मा के अलावा अन्य मंडल पदाधिकारी व संयोजक उपस्थित थे।

03-07-2020
डिजिटल साक्षरता पर विशेष साप्ताहिक कक्षाएं प्रारंभ, ’मेमोरी पावर’ पर विशेष कार्यक्रम का प्रसारण 4 जुलाई को

रायपुर। स्कूल शिक्षा विभाग के राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) द्वारा कैरियर काउंसिंलिंग और डिजिटल साक्षरता जैसे विषयों की विस्तृत श्रृंखला पर विशेष साप्ताहिक कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। इसके तहत 4 जुलाई को दोपहर एक बजे ’मेमोरी पावर’ पर एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसका प्रसारण यूट्यूब चैनल पीटीडी छत्तीसगढ़ (PTD Chhattisgarh) पर किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा पढ़ई तुंहर दुआर के माध्यम से ऑनलाइन कक्षा का आयोजन किया जा रहा है। अब तक कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए विभिन्न विषयों पर सीजी स्कूल डॉट इन (cgschool.in) पर वर्चुअल ब्राडकास्टिंग के माध्यम से 240 से अधिक कक्षाएं आयोजित की गई हैं। इसमें राज्य के लगभग एक लाख 30 हजार छात्र शामिल हो चुके हैं। सभी रिकार्डिंग राज्य के पोर्टल सीजी स्कूल डॉट इन (cgschool.in) और यूट्यूब चैनल पीटीडी छत्तीसगढ़ (PTD Chhattisgarh) पर भी उपलब्ध कराया गया है। सभी छात्र इस पोर्टल पर पंजीकृत होकर ई-सामग्री का लाभ उठा सकते हैं।

कैरियर काउंसिंलिंग और डिजिटल साक्षरता जैसे विषयों की श्रृंखला का कार्यक्रम पिछले दो शनिवार से आयोजित किये जा रहे है। इसमें छात्रों ने बढ़-चढ़ कर रूचि दिखाई। उन्हें पढ़ाई और जीवन से संबंधित विषय-वस्तुओं को कल्पना शक्ति पर आधारित कुछ बेहतरीन तकनीक सीखने का मौका मिला है। अब तक 3 हजार से अधिक छात्र वर्चुअल कक्षा में हिस्सा ले चुके हैं। खास बात यह है कि इसमें किसी भी कक्षा के छात्रों और शिक्षकों द्वारा भाग लिया जा सकता है।
स्कूल शिक्षा विभाग के सलाहकार सत्यराज अय्यर ने बताया कि आजकल, हमारे फोन और टीवी दिन-प्रतिदिन स्मार्ट हो रहे हैं, लेकिन हमारी स्मरण शक्ति दिन-प्रतिदिन कमजोर होती जा रही है। हम में से काफी लोग ऐसे हैं जिनको अपने परिवार वालों के फोन नंबर बताने के लिए अपना मोबाइल खोजना पड़ता है, वर्चुअल असिस्टेंट के सहारे से हम रिमाइंडर सेट कर रहे हैं कि हमें कब सब्जी भाजी खरीदना और कब पानी पीना है। स्मार्ट होना अच्छी बात है, परंतु अपनी आदतों को बिगाड़ना, अपने जीवन को पूरी तरह किसी उपकरण के भरोसे गतिमान रखने का यह प्रयास, ठीक नहीं है। ऐसा करके हम अपनी नैसर्गिक क्षमता को खोते जा रहे हैं।

एक तरफ डिजिटल टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को आसान बना रही है और दूसरी तरफ इसने हमें डिजिटल गुलाम भी बना दिया है। दिलचस्प बात यह है कि हमारा दिमाग शरीर के वजन का 3 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व और शरीर की 20 प्रतिशत ऊर्जा का उपयोग करता है। कितने लोग अपने अविश्वसनीय दिमाग की शक्ति के बारे में जानते हैं ? मस्तिष्क की शक्ति से बेहतर से कोई तकनीक नहीं है। इस कार्यक्रम के माध्यम से हम कल्पना शक्ति और रचनात्मक सोच पर आधारित अपनी मस्तिष्क की शक्ति का अधिकतम उपयोग करने के लिए छात्रों और व्यस्कों के बीच अधिक जागरूकता लाने की कोशिश कर रहे है। गौरतलब है कि प्रशिक्षक द्वारा ऑनलाइन कक्षा के दौरान इच्छुक छात्रों को एक लाईव प्रदर्शन भी दिया जाएगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804