GLIBS
06-04-2020
लॉक डाउन की सफलता पूर्ण व्यवस्था को देखते हुए शराबबंदी प्रदेश की मांग : ममता शर्मा

रायपुर। समाज सेविका ममता शर्मा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भेजे पत्र में प्रदेश में शराबबंदी की मांग की है। उन्होंने कहा है कि लॉक डाउन की सफलता पूर्ण व्यवस्था को देखते हुए शराबबंदी छत्तीसगढ़ की मांग है। ममता शर्मा ने पत्र के माध्यम से विशेषज्ञों की बातों का जिक्र करते हुए कहा कि 12 दिनों से प्रदेश की सभी शराब दुकानें बंद है। पीने की लत वाले लोग अपनी स्थिति को सामान्य कर लिए हैं और अन्य लोग भी कर भी रहे हैं। अभी की स्थिति में हमने 99 प्रतिशत जंग जीत ली गई है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन के समय में सभी पीने वालों को आर्ब्जव किया जाए,जो ज्यादा पीड़ित है या जिनमें विड्रोल के सिस्टम ज्यादा दिखाई दे रहे हो तो उन्हें तत्काल नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया जाए। इन बातों से प्रदेश की जनता भी सहमत होगी। प्रदेश में शराबबंदी कांग्रेस पार्टी के जनघोषणा पत्र में किए वायदों में से एक है। जैसा कि कहा गया था कि नोटबंदी की तरह शराबबंदी नहीं की जाएगी। कोई जनहानि नहीं होने देंगे तो अभी बिल्कुल उचित समय है। प्रशासकीय कसावट के साथ बहुत कम प्रयास में ही शराबबंदी की जा सकती है।

06-04-2020
मनरेगा श्रमिकों की सहायता के लिए केन्द्र से मिली राशि

रायपुर। छत्तीसगढ़ में श्रमिकों की सहायता के लिए केन्द्र सरकार ने राशि जारी की है। टीएस सिंहदेव ने ट्वीट कर कहा कि मनरेगा के तहत प्रदेश के श्रमिकों के हितों के लिए हमने लगातार केंद्र सरकार को छत्तीसगढ़ की स्थिति से अवगत कराया। वस्तुत: केंद्र द्वारा सामग्री व प्रशासनिक मद के लिए केन्द्रांश व राज्यांश सहित कुल 369.41 करोड़ रुपए और मजदूरी मद में 404.01 करोड़ रुपए की बकाया राशि जारी कर दी गई है।

06-04-2020
छत्तीसगढ़ के अधिकारी-कर्मचारियों ने स्वस्फूर्त आगे आकर मुख्यमंत्री सहायता कोष में दिए योगदान

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना संकट और लाॅक डाउन के लिए राज्य के अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन से किसी भी प्रकार की कटौती नहीं करने का निर्णय लिया है। जबकि कई राज्यों द्वारा कोरोना संकट के लिए अपने यहां के अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन से अनिवार्य कटौती के आदेश जारी किए गए है। इसके विपरीत छत्तीसगढ़ के अधिकारी-कर्मचारी इस संकट की घड़ी में स्वयं आगे आकर जरूरतमंदो की मदद के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष में अपना सहयोग दे रहे है।

शासकीय अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन छत्तीसगढ़ के प्रांतीय संयोजक ने मुख्यमंत्री को पत्र प्रेषित कर अवगत कराया था कि छत्तीसगढ़ शासन के समस्त शासकीय अधिकारी और कर्मचारियों ने अपने एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करने का निर्णय लिया है। इस फेडरेशन में राज्य के सभी मान्यता प्राप्त एवं गैर मान्यता प्राप्त पंजीकृत कर्मचारी अधिकारी संगठन शामिल हैं। इसी तरह राज्य प्रशासनिक सेवा संघ और छत्तीसगढ़ कनिष्ठ प्रशासनिक सेवा संघ के अधिकारी, छत्तीसगढ़ संचालनालयीन शासकीय कर्मचारी संघ, ग्राम पंचायत सचिव, कोटवार संघ, अतिथि शिक्षक, संयुक्त शिक्षाकर्मी, शिक्षक संघ, छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन, छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन सहकारी संघ मर्यादित, छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड, छत्तीसगढ़ शासकीय महाविद्यालयीन शिक्षक एवं अधिकारी संघ ने इस संकट की घड़ी में स्व स्फूर्त होकर कोरोना वायरस की रोकथाम के उपायों और जरूरतमंदों की मदद के लिए अपने एक-एक दिन का वेतन दिया है।

06-04-2020
यहां हितग्राही परिवार के एक लाख से ज्यादा सदस्यों के भोजन का पूरा इंतजाम

रायपुर। नारायणपुर सहित पूरे छत्तीसगढ़ में कोरोना लॉकडाउन के चलते दो माह (अप्रैल और मई ) का मुफ्त राशन का वितरण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लॉकडाउन के कारण गरीब तबके के पात्र राशन कार्डधारकों को यह सुविधा दी है। जिले के 29,342 गरीब राशनकार्ड धारकों को दो माह के राशन का नि:शुल्क वितरण किया जा रहा है। जिनके परिवार के 1,13,398 सदस्यों के लिए दो माह के भोजन का पूरा इंतजाम किया गया है। इसके साथ ही प्रभावित श्रमिकों, जरूरतमंदों को भी मुफ्त में राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। नारायणपुर नगर की सभी पाँच सरकारी राशन की दुकान के बाहर राशन लेने के लिए लोगों की भीड़ न लगे इसके लिए जरूरी उपाय किए गए हैं। तेज धूप से बचने के लिए टैंट की व्यवस्था भी की गई है। इस दौरान राशन की दुकान पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है ।
छत्तीसगढ़ सहित नारायणपुर जिले में भी खासकर अंत्योदय, प्राथमिकता और अन्नपूर्णा, गरीब (बीपीएल) राशनकार्ड धारकों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत दो माह अप्रैल और मई माह का राशन, चावल और नमक का नि:शुल्क एक मुश्त वितरण किया जा रहा है। कार्डधारियों को शक्कर भी मिल रही है, लेकिन उसके पैसे अलग से देने होंगे, यह नि:शुल्क नहीं है। नारायणपुर जिले के 29342 गरीब राशन कार्डधारकों के 1,13,398 परिवार सदस्य लाभान्वित हो रहे है। इनके दो माह के खाने का सरकार द्वारा पूरा इंतजाम कर दिया गया है। इसमें 16240 अन्त्योदय कार्ड धारक, 76 निराश्रित, 182 अन्नपूर्णा राशनकार्ड, 27 नि:शक्तजन कार्ड धारक और 12817 प्राथमिक कार्ड धारक है। इसके अलावा 3809 सामान्य राशन कार्ड धारक निर्धारित दर पर एक माह का राशन ले सकेंगे, लेकिन इनकों राशन का मूल्य चुकाना होगा। राशन का वितरण करते समय सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जा रहा है।

06-04-2020
अब यूएई सहित अन्य देशों से आने वालों का होगा कोरोना टेस्ट, संक्रमण रोकने सरकार की पहल

रायपुर। राज्य में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए अब यूएई और अन्य देशों से छत्तीसगढ़ आने वाले लोगों का कोरोना टेस्ट प्राथमिकता से किया जाएगा। इसके साथ ही क्वॉरेंटाईन किए गए, उन लोगों का भी कोरोना टेस्ट होगा, जो बीते 28 दिनों की अवधि में ऐसे राज्यों से छत्तीसगढ़ में आए हैं, जहां संक्रमण ज्यादा रहा है। यह निर्णय आज यहां स्टेट कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में स्वास्थ्य विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह की अध्यक्षता में आयोजित विभागीय अधिकारियों की बैठक में लिया गया। गौरतलब है कि यूके से आने वाले सभी लोगों का कोरोना टेस्ट राज्य में पूरा हो चुका है। स्वास्थ्य सचिव ने स्क्रीनिंग कोर कमेटी को विदेशों एवं अन्य राज्यों से आए लोगों की सैंपलिंग के लिए प्रतिदिन के मान से संख्या का निर्धारण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के सैंपल कलेक्शन के लिए संबंधित जिलों के कलेक्टर और मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारियों को सूचित किया जाए। बैठक में राहत शिविरों, क्वॉरेंटाईन सेंटर एवं होम क्वॉरेंटाईन में रखे गए लोगों की मॉनिटरिंग के संबंध में भी विस्तार से चर्चा की गई।

सचिव निहारिका सिंह ने कहा कि क्वॉरेंटाईन लोगों से संपर्क कर उनके स्वास्थ्य की डेली रिर्पोटिंग की जानी चाहिए, ताकि लक्षण अथवा स्वास्थ्य में गड़बड़ी की स्थिति में अविलंब इलाज मुहैया कराया जा सके। उन्होंने डेली रिर्पोटिंग के लिए जिला, ब्लॉक और ग्राम स्तरीय सर्विलेंस टीम को निर्देशित करने को कहा। बैठक में जानकारी दी गई कि हेल्प लाईन नंबर 104 पर 7 से 8 हजार काल्स प्रतिदिन आ रहे है। क्वॉरेंटाइन लोगों की मॉनिटरिंग और मार्गदर्शन के लिए स्टेट हेल्प लाईन सेंटर की क्षमता बढ़ाने और यहां चिकित्सक एवं प्रशिक्षित स्वास्थ्य कर्मियों की संख्या बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए। बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम और संभावित लोगों की सैंपलिंग के लिए जिलों को व्हीटीएम किट एवं पीपीई किट सहित अन्य सामग्री की आपूर्ति करने के भी निर्देश दिए गए। बैठक में स्वास्थ्य संचालक नीरज बंसोड़, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला, सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक भुवनेश यादव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

06-04-2020
Breaking : छत्तीसगढ़ में कोरोना का अब एक ही पॉजिटिव, 10 में से 9 हुए स्वस्थ

रायपुर। कोरोना संक्रमण की रोकथाम में छत्तीसगढ़ के लिए अच्छी खबर आई है। कोरोना पॉजिटिव 9वां मरीज भी स्वस्थ हो गया है। प्रदेश में वायरस से प्रभावित 10 में से 9 पॉजिटिव स्वस्थ हो चुके हैं। एम्स रायपुर ने उसे डिस्चार्ज कर दिया है। अभी कटघोरा के 1 मरीज का एम्स में इलाज जारी है।

05-04-2020
आज कोरोना के 4 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे, 2 मरीजों का एम्स में इलाज जारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ के लिए आज रविवार का दिन राहत भरा रहा। कोरोना वायरस से संक्रमित 4 मरीज़ पूर्णतः स्वस्थ हुए। सभी चारों मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर चले गए हैं। राज्य में अभी कोरोना के मात्र दो संक्रमित मरीज हैं, जिनका इलाज एम्स रायपुर में चल रहा है। इलाजरत दोनों मरीजों की स्थिति में तेजी से सुधार जारी है। उम्मीद है ये दोनों मरीज भी जल्द ठीक हो जाएंगे। छत्तीसगढ़ में 5 अप्रैल तक कोरोना वायरस के कुल 1949 संभावित व्यक्तियों की पहचान कर सैंपल जांच किया गया। अभी तक 1888 के परिणाम नेगेटिव प्राप्त हुए हैं तथा 51 की जांच जारी है। एम्स रायपुर में इलाजरत कोरोना के 5 मरीजों में से आज तीन मरीज पूर्णतः स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। ये तीनों स्वस्थ मरीज रायपुर के रहने वाले हैं। राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज में इलाजरत एक कोरोना मरीज को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दे दी गई है। पूरे राज्य में अब कोरोना के संक्रमित मरीजों की संख्या सिर्फ 2 रह गई है। इन दोनों का इलाज रायपुर एम्स में जारी है।

 

 

05-04-2020
गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने फेसबुक लाइव के जरिए जनता से संवाद किया

रायपुर। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने रविवार को फेसबुक लाइव के माध्यम से जनता से संवाद किया। उन्होंने जनता द्वारा पूछे गए सवालों के बारे में विस्तार से बताया। साहू ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित 10 मरीज भर्ती हुए थे, जिसमें से 7 मरीज ठीक होकर अपने घर पहुँच गए है। बाकी 3 मरीजों का इलाज चल रहा है यह छत्तीसगढ़ के लिए बहुत अच्छा संकेत हैं। गृहमंत्री साहू ने कहा कि इसके लिए मैं स्वास्थ और पुलिस विभाग को बधाई देना चाहता हूं। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने जनता द्वारा पूछे गए लॉक डाउन के संदर्भ में कहा कि हम लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हैं तो निश्चित रूप से कोरोना नही फैलेगा,लॉक डाउन सिर्फ जनता की सुरक्षा के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन का पालन आप सब अच्छे से करेंगे तो 14 अप्रैल के बाद लॉक डाउन को बढ़ाने की आवश्यकता नही होगी। लॉक डाउन के संदर्भ में जनता द्वारा कई सवालो के जबाब में कहा कि घर के दैनिक उपयोग के सामान के लिए आप बाहर जाए सामान लेकर आप घर वापस आये लेकिन बहुत से लोग इसका दुरुपयोग करते हैं,बेवजह घूमने निकलते हैं उस पर पुलिस द्वारा कार्यवाही होती है। उन्होंने बताया कि जो भी दुकानदार सामानों को अधिक रेट में बिक्री कर रहा है,उसके ऊपर कार्यवाही हो रही है। जो दुकानदार ज्यादा स्टॉक जमा किया है उन पर भी कार्यवाही हो रही है। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने जेल से छूटे कैदियों के बारे में बताया कि प्रदेश से सभी मिलाकर लगभग 1000 कैदी रिहा किये गए है। गृहमंत्री साहू ने लोगों से अपील की कि आप अपने जीवन के लिए अपने परिवार की सुरक्षा के लिए लॉक डाउन का और प्रशासन द्वारा दिये गए निर्देशों का अच्छे से पालन करें और सुरक्षित रहे। उन्होंने कहा आप का जीवन और आप के परिवार की सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है। अंत मे उन्होंने अपने फेसबुक से जुड़े सभी लोगो को धन्यवाद दिया।

05-04-2020
डी मार्ट के फाउंडर ने पीएम केयर्स फंड में किया 155 करोड़ का योगदान,छत्तीसगढ़ को दिए 2.5 करोड़

नई दिल्ली। डी मार्ट के फाउंडर राधाकिशन दमानी ने पीएफ केयर्स फंड के अलावा कई राज्यों को करोड़ों रुपयों का फंड दिया है। राधाकिशन दमानी ने महामारी के खिलाफ लड़ाई के लिए पीएम-केयर्स फंड में 100 करोड़ रुपए का योगदान दिया है। वहीं उन्होंने कई राज्य के राहत कोषों में भी 55 करोड़ रुपए का योगदान दिया है। इनमें महाराष्ट्र और गुजरात को 10-10 करोड़ रुपए, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, राजस्थान और पंजाब को 5-5 करोड़ रुपए और तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश को ढाई-ढाई करोड़ रुपए दिए हैं।


दमानी ने अपनी ग्रुप कंपनी ब्राइट स्टार इन्वेस्टमेंट्स के माध्यम से यह दान दिया है। कंपनी ने कहा कि हम आम जनता की सुरक्षा के लिए भारत के केंद्रीय, राज्य और स्थानीय सरकारी निकायों द्वारा तेजी से उठाए जा रहे कदमों का पूरी तरह से समर्थन करते हैं। दमानी एवेन्यू सुपरमाट्र्स लिमिटेड के मालिक हैं,जो कि वन-स्टॉप सुपरमार्केट चेन डीमार्ट संचालित करती है।
इससे पहले पीएम केयर्स फंड में टाटा ग्रुप ने 1500 करोड़, रिलायंस 500 करोड़ और बाकी उद्योगपतियों ने भी अरबों रुपयों का सहयोग किया है।

 

05-04-2020
सीएम भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कोरोना के मरीजों के लिए कही यह बात..

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना के 10 पॉजिटिव मरीजों में से 7 स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। कोरोना संक्रमण के प्रदेश में हो रहे इलाज पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मेडिकल स्टाफ की सराहना की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में आज 3 कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों का पूर्णत: इलाज होने के बाद उन्हें एम्स द्वारा डिस्चार्ज कर दिया गया है। 10 में से 7 मरीज इलाज करवाकर घर जा चुके हैं। मैं आशा करता हूँ कि बचे हुए 3 भी जल्द स्वस्थ होकर घर वापस लौटेंगे। वहीं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि हमारे यहां छत्तीसगढ़ में तीन और कोविड 19 मरीज ठीक हो गए हैं और पूरी तरह से स्वस्थ हैं। 10 में से 7 बिल्कुल ठीक हो चुके हैं। हमारा मेडिकल स्टाफ हर मरीज की देखभाल के लिए 24 घंटे काम कर रहा है। आइए हम सभी सतर्कता बनाए रखें और मुझे यकीन है कि हम इस आपदा से विजय हो कर बाहर आएंगे।

 

 

 

05-04-2020
शेयर बाजार से दूर हुए छत्तीसगढ़ के 2 लाख से अधिक निवेशक, एसआईपी के लिए अच्छा समय

रायपुर। शेयर बाजार में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। यहीं कारण है कि निवेशकों के हौसले टूटते दिख रहे है। प्रदेश की बात करे तो दो लाख से अधिक निवेशकों ने शेयर मार्केट से दूरी बना ली है। रोजाना होने वाले 300 करोड़ का निवेश अब घटकर 10 करोड़ रुपए हो गया है। सेंसेक्स 674.36 अंक टूटकर 27590.95 अंक और निफ्टी 170 अंक टूटकर 8083.80 अंक पर शुक्रवार को बंद हुआ।

शेयर बाजार में आ रही लगातार गिरावट के कारण 15 फरवरी से लेकर आज तक छत्तीसगढ़ के निवेशकों के 5 हजार करोड़ से अधिक रुपए डूब चुके है। शेयर बाजार के विशेषज्ञों की माने तो इन दिनों शेयर बाजार में भले ही गिरावट का रुख है, लेकिन महीने भर पहले की तुलना में थोड़ी सी स्थिति संभली हुई दिख रही है। कोरोना को लेकर आने वाले समय में कोई सकारात्मक खबर शेयर बाजार में आती है तो निश्चित रूप से शेयर बाजार और संभल सकता है। शेयर बाजार में गिरावट आने के कारण एसआईपी के लिए यह बहुत अच्छा समय माना जा रहा है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804