GLIBS
22-04-2021
गरज चमक के साथ बारिश के आसार, तापमान में हो सकती है मामूली बढ़ोत्तरी 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में गरज चमक के साथ बारिश के असार हैं। मौसम विभाग ने इस संबंध में पूर्वानुमान जारी किया है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया है कि एक उत्तर-दक्षिण द्रोणिका दक्षिण मध्य महाराष्ट्र से दक्षिण तमिलनाडु तक स्थित है। प्रदेश में बंगाल की खाड़ी से नमी आ रही है। इसके प्रभाव से 23 अप्रैल को प्रदेश के दक्षिणी हिस्से में मौसम बदलने के आसार हैं। एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ हल्की बारिश होने या छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश के बाकी हिस्सों में हल्के बादल रह सकते हैं। प्रदेश में अधिकतम तापमान में मामूली वृद्धि संभावित है किंतु कोई बड़ा परिवर्तन होने की संभावना नहीं है।

22-04-2021
हेल्थ केयर वर्कर का टीकाकरण करने में छत्तीसगढ़ का स्थान दूसरा

रायपुर। छत्तीसगढ़ ने प्रदेश के पंजीकृत हेल्थ केयर वर्कर के 90 प्रतिशत को कोविड 19 वैक्सीन की पहली डोज दे दी है। पूरे देश में छत्तीसगढ़ का स्थान दूसरा है। झारखंड और गुजरात ने शत प्रतिशत हेल्थ केयर वर्कर को पहली डोज दे दी है। इनके बाद छत्तीसगढ़ का स्थान है। यह जानकारी आज भारत शासन के स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने नई दिल्ली मेें आयोजित पत्रकार वार्ता में दी कि छत्तीसगढ़ के पंजीकृत हेल्थ केयर वर्कर के 90 प्रतिशत और पंजीकृत फ्रंटलाइन वर्कर में से 84.63 प्रतिशत को वैक्सीन का पहला डोज दिया जा चुका है। फ्रंटलाइन वर्कर को पहला डोज देने में राज्य का स्थान 6वां है। अन्य राज्यों में गुजरात, मध्यप्रदेश और राजस्थान केवल छत्तीसगढ़ से आगे हैं। केन्द्र शासित प्रदेश दादरा नगर हवेली पहले और और लद्दाख पांचवे स्थान पर है। हेल्थ केयर वर्कर एवं फ्रंट लाइन वर्कर का राष्ट्रीय औसत क्रमश रू 87.17 और 78.55 है। इसके अलावा कल 20 अप्रैल तक की स्थिति में प्रदेश के 45 वर्ष से अधिक आयु समूह के 40 लाख से अधिक को पहली डोज और 1 लाख 86 हजार से अधिक को दूसरी डोज लगाई गई है।

22-04-2021
Breaking : छत्तीसगढ़ में नहीं होगी 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं, असाइनमेंट के आधार पर छात्रों को मिलेंगे नंबर

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी की वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल कक्षा 10वीं की परीक्षाएं निरस्त कर दी गई है।  इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव प्रोफेसर वीके गोयल ने यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि कक्षा दसवीं की परीक्षाएं नहीं होगी। मंडल की ओर से जारी असाइनमेंट के आधार पर विद्यार्थियों को अंक दिए जाएंगे। यदि किसी छात्र ने असाइनमेंट नहीं किया है या असाइनमेंट में न्यूनतम उत्तीर्ण अंक प्राप्त नहीं किए हैं,तो ऐसी स्थिति में उसे न्यूनतम उत्तीर्ण अंक दिए जाएंगे। यदि कोई विद्यार्थी प्राप्त अंकों से असंतुष्ट  रहता है तो कोरोना महामारी नियंत्रण होने के बाद उसे श्रेणी सुधार के लिए परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी। प्रो. गोयल ने बताया कि 3 मई से 24 मई तक होने वाली कक्षा 12वीं की परीक्षाएं भी स्थगित की गई हैं। कोरोना महामारी की परिस्थिति में सुधार के बाद नई समय सारणी जारी की जाएगी।

22-04-2021
Breaking : छत्तीसगढ़ को मिलेगी रेमडेसिविर की 48 हजार 250 इंजेक्शन

रायपुर। राज्य को रेमडेसिविर की 48 हजार 250 इंजेक्शन मिलेगी। 22 से 30 अप्रैल के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन रायपुर पहुंचेगी। इसके अलावा सरकारी और निजी सप्लाय के लिए 11 लाख रेमडेसिविर अलाॅट हुआ है।

21-04-2021
छत्तीसगढ़ के नाम एक और उपलब्धि, देशभर में दूसरा स्थान, केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव ने दी जानकारी 

रायपुुर। छत्तीसगढ़ ने पंजीकृत हेल्थ केयर वर्कर के 90 प्रतिशत लोगों को कोविड वैक्सीन की पहली डोज दे दी है। इसमें पूरे देश में छत्तीसगढ़ का दूसरा स्थान है। झारखंड और गुजरात ने शत प्रतिशत हेल्थ केयर वर्कर को पहली डोज दी है। इसके बाद छत्तीसगढ़ का स्थान है। बुधवार को भारत शासन के स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने यह जानकारी नई दिल्ली में पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ के पंजीकृत हेल्थ केयर वर्कर के 90 प्रतिशत और पंजीकृत फ्रंटलाइन वर्कर में से 84.63 प्रतिशत को वैक्सीन का पहला डोज दिया जा चुका है। फ्रंटलाइन वर्कर को पहला डोज देने में राज्य का स्थान 6वां है। अन्य राज्यों में गुजरात ,मध्यप्रदेश और राजस्थान केवल छत्तीसगढ़ से आगे हैं। केन्द्र शासित प्रदेश दादरा नगर हवेली पहले और और लद्दाख पांचवे स्थान पर है। हेल्थ केयर वर्कर एवं फ्रंट लाइन वर्कर का  राष्ट्रीय औसत क्रमश: 87.17 और 78.55 है। इसके अलावा 20 अप्रैल तक की स्थिति में प्रदेश के 45 वर्ष से अधिक आयु समूह के 40 लाख से अधिक को पहली डोज और 1 लाख 86 हजार से अधिक को दूसरी डोज लगाई गई है।

21-04-2021
Breaking  : विश्वविद्यालयों की सभी परीक्षाएं होगी ऑनलाइन, ऑफ़लाइन की अनुमति निरस्त, नया आदेश जारी 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में विश्वविद्यालय की सभी परीक्षाएं ऑनलाइन/ब्लैंडेड मोड में होगी। इस संबंध में उच्च शिक्षा विभाग के उप सचिव जीएल सांकला ने आदेश जारी कर दिया है। बता दें कि बुधवार सुबह जारी आदेश में स्नातक और स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष /अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा ऑफ़लाइन होने की जानकारी दी गई थी। अन्य समस्त परीक्षाएं ऑनलाइन होने की जानकारी थी। साथ ही यह भी कहा गया था कि समस्त परीक्षाओं की प्रायोगिक परीक्षाएं ऑनलाइन/ऑफ़लाइन सुविधानुसार ली जा सकती है। शाम को आदेश में संशोधन कर नया आदेश उच्च शिक्षा विभाग की ओर से जारी किया गया है। छत्तीसगढ़ सरकार ने निर्देश दिए हैं कि कोई भी परीक्षा शासन की पूर्व अनुमति के बगैर ऑफ़लाइन न ली जाए।


 

20-04-2021
Breaking: छत्तीसगढ़ में कोराना ब्लास्ट, आज मिले 15625 नए मरीज, 15830 ने कोरोना से जीती जंग 

रायपुर। देश में कोरोना की रफ्तार थमने का नाम ही नहीं ले रही है आज छत्तीसगढ़ में 15625 में कोरोना मरीजों की पहचान हुई है। वही 15830 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे है। जबकि 181 मरीजो की इलाज के  दौरान मौत हो गई देखे मेडिकल बुलेटिन

 

20-04-2021
कानपुर के प्रोफेसर का दावा-कोरोना पीक से गुजर चुका रायपुर, कोरबा में बढ़ेगी रफ्तार,स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा...

रायपुर। देश सहित छत्तीसगढ़ में कोरोना की रफ्तार जारी है। शासन-प्रशासन युद्धस्तर पर कोरोना को नियंत्रित करने और उपचार के प्रबंधन के लिए जुटे हैं।  इस बीच आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर दावा किया है, जो राहत भरा हो सकता है। उन्होंने प्रदेश के दो जिलों में कोरोना संक्रमण के संबंध में अपनी स्टडी की जानकारी दी है। इस संबंध में प्रदेश के स्वास्थ्य अधिकारी ने भी अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा है कि अभी हमें सावधानी बरतने की बहुत आवश्यकता है।
दरअसल प्रोफेसर पद्मश्री मणिंद्र अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ के संबंध की गई अपनी स्टडी की यह जानकारी 16 अप्रैल को ट्वीट की है। उन्होंने दावा किया है कि रायपुर कोरोना के पीक से गुजर चुका है। रायपुर में कोरोना के आंकड़ों में कमी आएगी। साथ ही उन्होंने बताया है कि कोरबा जिला पीक पर है। यहां कोरोना के आंकड़े तेजी से बढ़ने के आसार हैं। प्रोफेसर अग्रवाल ने अपने ट्विटर हैंडल पर स्टडी के ग्राफ भी शेयर किए हैं। उन्होंने 1 फरवरी से 21 जून तक का ग्राफ शेयर किया है। 

इस संबंध में डॉ. सुभाष मिश्रा, संचालक एपिडेमिक कंट्रोल रूम छत्तीसगढ़ ने कहा है कि अभी संख्या बढ़ने की प्रबल संभावना है। इसके लिए सभी जिलों को अलर्ट किया गया है। उन्होंने कहा कि थोड़ा बहुत कम-ज्यादा होगा लेकिन समाप्त होने पर समय लगेगा। हमें पूरी सावधानी बरतनी होगी। हम चाहे रायपुर में हो या कोरबा में, या फिर प्रदेश के अन्य जिलों में, हमें कोरोना से बचाव के लिए जारी सभी नियमों का पालन करना होगा। जैसे मास्क पहनना, हाथ बार-बार धोना, सामाजिक और शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि दुनिया का कोई डॉक्टर या ज्योतिषी या व्यक्ति कोई चीज कंफर्म तो बोल नहीं सकता। न तो ऐसे एक्सपर्ट हमारे यहां हैं। ऐसा कहने के पीछे  यह कारण है कि कोविड एक नई बीमारी है। कोई बोलेगा मैं इसे समझ गया तो मैं इसे बिल्कुल भी नहीं मानता। कैसे समझ सकते हैं इसे जब अभी पैदा हुई है यह बीमारी। हम एक अंदाज लगा सकते हैं और हम दावा कर सकते हैं।  हम अंदाज के आधार पर ही तैयारी करते हैं। शासन, निजी और जनता तीनों। हम कोशिश करते हैं कि जो भी होने वाला है किसी का नुकसान न हो।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804