GLIBS
18-09-2020
Breaking: छत्तीसगढ़ में आज 3842 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले व 3281 हुए स्वस्थ,17 की मौत 

रायपुर। प्रदेश में लगातार दो दिनों से कोरोना की रफ्तार 38 सौ के ऊपर बनी हुई है। गुरुवार को 3809, तो आज शुक्रवार को 3842 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। 2614 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है और 667 मरीजों ने होम आइसोलेशन कम्पलीट किया है। 17 मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक कुल 81617 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। 44392 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 645 मरीजों की मौत हो चुकी है। एक्टिव केस 36580 हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग ने रात 10:15 बजे की स्थिति में मेडिकल बुलेटिन जारी की है। प्रदेश में रायपुर जिले से 672 मरीज मिले हैं। इसी तरह। दुर्ग  से 436, जांजगीर-चांपा से 334, राजनांदगांव से 309, बिलासपुर से 302, कोरबा से 185, रायगढ़ से 168, बस्तर से 163, बीजापुर से 145, दंतेवाड़ा से 133, धमतरी से 118, नारायणपुर से 91, बालोद से 90, कबीरधाम से 65, सुकमा व कांकेर से 63-63, बलौदाबाजार, सूरजपुर व सरगुजा से 62-62, बेमेतरा से 56, मुंगेली से 51, कोण्डागांव से 47, कोरिया से 43, गरियाबंद से 38, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही से 35, जशपुर से 30, बलरामपुर से 15, महासमुंद से 3, अन्य राज्य से 1 मरील मिले है।   मेडिकल बुुलेटिन देखने क्लिक करें   

 

18-09-2020
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा-मरवाही के विकास पर भाजपा और छजका को पीड़ा क्यों ?

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक सहित भाजपा और छजका नेताओं की ओर से मरवाही में किए जा रहे विकास कार्यों को लेकर की जा रही आपत्ति पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया दी है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि, मरवाही पेंड्रा के विकास पर भाजपा और छजका को पीड़ा क्यों हो रही है? मरवाही के विकास का अवसर भाजपा और छजका दोनों को मिला था। राज्य में पिछले पंद्रह सालों से भाजपा की सरकार थी। मरवाही की जनता विकास तो दूर सड़क, पानी, बिजली जैसी मूलभूत सुविधाओं से भी अछूती थी। मरवाही पेंड्रा गौरेला की जनता ने जिला बनाने के लिए बार-बार आवाज उठाई। जब राज्य में 9 जिलों का गठन किया गया, उस समय भी जिला बनने की सारी योग्यताओं को पूरा करने के बाद मरवाही पेंड्रा को जिला नहीं बनाया गया। मरवाही से राज्य की राजनीति के बड़ा नाम स्व. अजीत जोगी लगातार प्रतिनिधित्व कर रहे थे। उसके बावजूद मरवाही से विकास कोसो दूर था।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि,अदूरदर्शी विकास की सोच में सिर्फ नए राजधानी में 8000 करोड़ खर्च करने के बजाए पूरे प्रदेश के विकास का मैप बनाया होता, तो आज राज्य के दूरस्थ कुछ इलाके पिछड़े नहीं होते। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में विकास से अछूते मरवाही जैसे इलाकों को विकसित करने का बीड़ा उठाया है। एक वर्ष पहले ही मरवाही पेंड्रा गौरेला को जिला बनाया गया।  नए जिले के लिए जिलाधीश न्यायालय भवन सहित तमाम सरकारी दफ्तर बनाए जा रहे। क्षेत्र में सड़क पुल पुलियों पहुंच मार्ग बनाए जा रहे हैं। राजनैतिक दुर्भावना से ग्रसित भाजपा के नेता इन विकास कार्यों का विरोध कर रहे। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि, भाजपा के नेता खिसियानी बिल्ली के समान खंभा नोच रहे। प्रदेश की जनता भाजपा और छजका की विकास विरोधी सोच को देख रही और समझ भी रही,आने वाले चुनाव में जनता इसका हिसाब करेगी।

18-09-2020
सीरो सर्विलेंस के लिए आईसीएमआर की टीम ने लिए 727 सैंपल,शनिवार को तीन जिले तय

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आम लोगों और उच्च जोखिम वाले वर्गों में कोरोना संक्रमण के विरुद्ध रोग प्रतिरोधकता का पता लगाने किए जा रहे सीरो सर्विलेंस के लिए शुक्रवार को दूसरे दिन आईसीएमआर की टीम ने 727 सैंपल संकलित किए। टीम ने रायपुर जिले में 258, दुर्ग में 252 और राजनांदगांव में 217 सैंपल एकत्र किए। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ की ओर से आईसीएमआर के विशेषज्ञों से प्रदेश में सीरो सर्विलेंस कराया जा रहा है। इसकी रिपोर्ट से प्रदेश में कोरोना संक्रमण से निपटने की प्रभावी रणनीति तैयार करने में मदद मिलेगी। आईसीएमआर की टीम ने शुक्रवार को रायपुर जिले के अड़सेना और सांकरा में 40-40 परिवारों से सैंपल लिए। टीम ने दोनों गांवों में उच्च जोखिम समूहों के कुल 178 सैंपल संकलित किए। दुर्ग जिले के मोतीपुर, सेलूद और खर्रा में आम नागरिकों के 40-40 सैंपल और इन तीनों गांवों से ज्यादा जोखिम वर्ग के कुल 132 सैंपल संकलित किए गए। राजनांदगांव जिले के रांका, मुरमुंदा और मेधा गांव से आम नागरिकों के 40-40 सैंपल लेने के साथ ही इन तीनों गांवों से उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों के कुल 97 सैंपल लिए गए। आईसीएमआर की टीम ने सीरो सर्विलेंस के पहले दिन 17 सितंबर को रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव के अलग-अलग गांवों से कुल 692 सैंपल संकलित किए थे। इनमें दोनों वर्गों को मिलाकर रायपुर जिले के 211, दुर्ग के 244 और राजनांदगांव के 237 सैंपल शामिल हैं।  टीम 19 सितंबर को मुंगेली, बिलासपुर और जांजगीर-चांपा जिलों में सैंपल संकलित करेगी।

 

 

18-09-2020
छत्तीसगढ़ में संस्कृत भाषा के विकास के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्ति या संस्था के लिए 2 लाख का पुरस्कार

रायपुर। राज्य शासन की ओर से छत्तीसगढ़ में संस्कृत भाषा के सामाजिक, सांस्कृतिक एवं शैक्षणिक क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्ति अथवा संस्था को सम्मानित करने के लिए पुरस्कार देने का निर्णय लिया गया है। सम्मान, पुरस्कार के तहत किसी एक संस्था या व्यक्ति को दो लाख रुपए की राशि एवं प्रतीक चिन्ह के युक्त पट्टिका, प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा। पुरस्कार के लिए आवेदन देने के इच्छुक व्यक्ति अथवा संस्था द्वारा स्वयं उपस्थित होकर अथवा डाक द्वारा बंद लिफाफे में 20 नवम्बर 2020 को शाम 4 बजे तक कार्यालय आयुक्त उच्च शिक्षा संचालनालय, ब्लॉक-3, द्वितीय तल इन्द्रावती भवन, नवा रायपुर, अटल नगर में प्रस्तुत कर सकते हैं। समायावधि पश्चात प्राप्त आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा। डाक संबंधी विलंब के लिए यह कार्यालय उत्तरदायी नहीं होगा। आवेदन पत्र के बंद लिफाफे पर संस्कृति भाषा सम्मान पुरस्कार 2020 अंकित किया जाना जरूरी है।

उच्च शिक्षा विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार आवेदन में व्यक्ति अथवा संस्था का पूर्ण परिचय, तीन अद्यतन पासपोर्ट साईज फोटो, संस्कृत भाषा से संबंधित सामाजिक सांस्कृतिक एवं शैक्षणिक क्षेत्र में अभिनव प्रयत्नों के लिए किए गए कार्यों की सह प्रमाण विस्तृत जानकारी, यदि कोई अन्य पुरस्कार प्राप्त किया हो, तो उसका विवरण, संस्कृत भाषा से संबंधित, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं शैक्षणिक क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य तथा इसके सैद्धांतिक पक्ष के विषय में प्रकाशित साहित्य की सत्यापित छायाप्रति संलग्न करना जरूरी है। पुरस्कार संबंधी नियम की प्रति कार्यालय आयुक्त, उच्च शिक्षा संचालनाय, नवा रायपुर से कार्यालयीन समय में निःशुल्क रूप से प्राप्त की जा सकती है।

17-09-2020
Breaking: प्रदेश में गुरुवार को 5 हजार से अधिक मरीज हुए स्वस्थ, 3809 नए केस व 17 की मौत

रायपुर। छत्तीसगढ़ में गुरुवार को राहत की खबर के साथ डरावने आंकड़े भी हैं। राहत की बात है 2019 कोरोना मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं और  3207 मरीजों ने होम आइसोलेशन कंप्लीट किया है। इस तरह 5 हजार से अधिक मरीज एक दिन में ठीक हुए हैं। साथ ही भयावह आंकड़े भी आज सामने आए हैं। प्रदेश से 3809 नए कोरोना मरीजों की पहचान हुई है। 17   मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में कोरोना केस और मौत की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। स्वास्थ्य विभाग ने रात 10: 30 बजे की स्थिति में मेडिकल बुलेटिन जारी की है। रायपुर जिले से आज 1109 मरीजों की पहचान हुई है। इसी तरह रायगढ से 329, दुर्ग से 322, बिलासपुर से 247, बस्तर से 225, धमतरी से 166, बलौदाबाजार से 145, बालोद से 112, जांजगीर-चांपा से 100, कोरबा से 82, गरियाबंद से 80, दंतेवाड़ा व नारायणपुर से 76-76, कोरिया व सुकमा से 74-74, महासमुंद से 72, बेमेतरा से 71, मुंगेली से 65, राजनांदगांव से 58, सरगुजा से 51, कबीरधाम व कांकेर से 47-47, सूरजपुर से 45, कोण्डागांव से 44, बलरामपुर से 27, बीजापुर से 23, जशपुर से 21, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही से 20, अन्य राज्य से 1 मरीज मिले है। मेडिकल बुलेटिन देखने क्लिक करें   


 

17-09-2020
छत्तीसगढ़ में सीरो सर्विलेंस शुरू, पहले दिन रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव जिले में लिए गए सैंपल

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आईसीएमआर की टीम ने गुरुवार से सीरो सर्विलेंस की शुरुआत कर दी गई है। आईसीएमआर की टीम ने रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव जिले में लोगों के शरीर में एंटीबॉडी की जांच के लिए सैंपल संकलित किए। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ की ओर से आईसीएमआर के विशेषज्ञों से कराए जा रहे सीरो सर्विलेंस से आम लोगों और उच्च जोखिम वर्गों में कोविड-19 के विरुद्ध रोग प्रतिरोधक क्षमता का पता चलेगा। सीरो सर्विलेंस की रिपोर्ट से प्रदेश में कोरोना संक्रमण से निपटने की रणनीति तैयार करने में भी मदद मिलेगी। आईसीएमआर की तीन अलग-अलग टीमों ने आम लोगों और ज्यादा जोखिम वाले समूहों जैसे विभिन्न तरह के इम्युनो-कॉम्प्रोमाइज्ड व्यक्तियों, अस्पताल स्टॉफ, पुलिस, प्रवासी श्रमिकों, औद्योगिक कार्मिकों, मीडिया और भीड़ के बीच काम करने वाले स्टॉफ के सैंपल एकत्र किए।

टीम की ओर से18 सितंबर को बलौदाबाजार-भाटापारा, मुंगेली, बिलासपुर और जांजगीर-चांपा में सैंपल संकलित किए जाएंगे। आईसीएमआर की टीम ने रायपुर जिले के सेरीखेड़ी, सिलियारीखुर्द, बिलाड़ी और खौना में 40-40 लोगों के सैंपल लिए। टीम ने सिलियारीखुर्द में सात और खौना में 44 उच्च जोखिम समूह के व्यक्तियों के भी सैंपल संकलित किए। दुर्ग जिले के मोहलई में आम नागरिकों व उच्च जोखिम वर्ग के 40-40, समोदा में आम नागरिकों के 40 और उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों के 44 और कोकड़ी में आम नागरिकों व उच्च जोखिम समूह के 40-40 सैंपल संकलित किए गए। राजनांदगांव जिले के सुरगी में आम लोगों के 42 और उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों के 51, रेंगाकठेरा में आम नागरिकों के 40 और उच्च जोखिम वर्ग के 34 और नवागांव में सामान्य लोगों के 40 और ज्यादा जोखिम समूह के 30 लोगों के सैंपल कलेक्शन किए गए।

17-09-2020
छत्तीसगढ़ में जून माह से अब तक 1128.6 मिमी.औसत वर्षा, सर्वाधिक बीजापुर में और सबसे कम सरगुजा में दर्ज

रायपुर। प्रदेश एक जून से अब तक कुल 1128.6 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। सर्वाधिक बीजापुर जिले में 2209.9 मिमी. और सबसे कम सरगुजा में 767.0 मि.मी. औसत वर्षा अब तक रिकार्ड की गई है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 1244.4 मिमी., बलरामपुर में 1035.6 मिमी., जशपुर में 1199.6 मिमी., कोरिया में 974.9 मि.मी., रायपुर में 989.9 मि.मी., बलौदाबाजार में 988.9 मि.मी., गरियाबंद में 1091.0 मि.मी., महासमुंद में 1190.5 मि.मी., धमतरी में 1044.4 मि.मी., बिलासपुर में 1163.0 मि.मी., मुंगेली में 793.0 मिमी., रायगढ़ में 1113.7 मिमी., जांजगीर-चांपा में 1181.7 मिमी. और कोरबा में 1249.4 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसी प्रकार गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही में 931.0 मिमी., दुर्ग में 946.9 मिमी., कबीरधाम में 842.7 मिमी., राजनांदगांव में 871.8 मिमी., बालोद में 979.8 मिमी., बेमेतरा में 981.6 मिमी., बस्तर में 1273.4 मिमी., कोण्डागांव में 1392.5 मिमी., कांकेर में 972.6 मिमी., नारायणपुर में 1297.0 मिमी., दंतेवाड़ा में 1478.7 मिमी. और सुकमा में 1396.1 औसत दर्ज की गई है।

आज सुबह रिकार्ड किए गए आंकड़े : 
राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष की ओर से संकलित जानकारी के अनुसार प्रदेश के विभिन्न जिलों में 17 सितंबर को सुबह रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार बलरामपुर में 1.9 मिमी., कोरिया में 1.2 मिमी., गरियाबंद में 4.5 मिमी., महासमुंद में 0.2 मिमी., धमतरी में 9.1 मिमी., दुर्ग में 0.8 मिमी.,  राजनांदगांव में 1.0 मिमी., बस्तर में 1.5 मिमी., कांकेर में 5.2 मिमी., नारायणपुर 6.5 मिमी., दंतेवाड़ा में 0.4 मिमी., और बीजापुर में 1.3 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की गई।

रायपुर जिले में अब तक 989.9 मिमी. औसत वर्षा दर्ज : 
चालू मानसून सत्र के दौरान रायपुर में 1 जून से अब तक कुल 989.9 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। कलेक्टर कार्यालय के भू-अभिलेख शाखा के अधिकारियों बताया कि, 1 जून से अब तक रायपुर तहसील में 1216.3 मिमी. और आरंग तहसील में 671.7 मिमी. वर्षा दर्ज की गई है। इसी प्रकार अभनपुर तहसील में 809.9 मिमी. और तिल्दा में 1261.6 मिमी. वर्षा दर्ज की गई है।

17-09-2020
राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक इस माह आएंगे छत्तीसगढ़,सड़कों का परीक्षण करने 6 जिलों का करेंगे दौरा

रायपुर। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत निमार्णाधीन कार्यों के गुणवत्ता परीक्षण के लिए राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षकों का दौरा इस माह सितंबर में निर्धारित किया गया है। राज्य में सड़कों के परीक्षण के लिए 3 राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक 6 जिलों के दौरे पर रहेंगे। मुख्य कार्यपालन अधिकारी छत्तीसगढ़ ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण से मिली जानकारी के मुताबिक सितंबर माह में राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक विजय कुमार श्रीवास्तव बस्तर और दंतेवाड़ा जिले में प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत निमार्णाधीन सड़कों का गुणवत्ता परीक्षण करेंगे। उनका मोबाइल नंबर-9431106230 और 7070799381 है। इसी प्रकार कांकेर और बालोद जिले में कुलदीप राव मोबाइल और कोंडागांव व नारायणपुर जिले में दिलीप कुमार प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत निमार्णाधीन कार्यों का गुणवत्ता परीक्षण करेंगे। दिलीप कुमार का मोबाइल नंबर-9918857356 और कुलदीप राव का मोबाइल नंबर-9418045000 है।

17-09-2020
Breaking : 37470 एक्टिव केस, बुधवार को मिले 3 हजार से अधिक कोरोना मरीज व 23 की मौत

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना कहर बरपा रहा है। कोरोना की रफ्तार और मौत के आंकड़े थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। बुधवार को 3189 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। राहत की बात जरूर है कि, 689 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं और 958 मरीजों ने बुधवार को होम आइसोलेशन कंप्लीट किया है, लेकिन चिंता की बात है कि 23 मरीजों की मौत हुई है। यह जानकारी रात 11:00 बजे की स्थिति में जारी मेडिकल बुलेटिन में दी गई है। प्रदेश में बुधवार को रायपुर जिले से 717 मरीजों की पहचान हुई है।

राजनांदगांव से 398,रायगढ़ से 294, बिलासपुर से 293, दुर्ग से 282, जांजगीर चांपा से 208,बलौदा बाजार से 106, कबीरधाम से 96, कोरबा से 88, कांकेर से 80,सरगुजा से 79, बालोद से 78,महासमुंद से 75,सूरजपुर से 68, कोंडागांव से 53, गरियाबंद से 50, धमतरी से 46,बेमेतरा से 37, सुकमा से 28, कोरिया व बलरामपुर से 26-26, नारायणपुर से 23, गौरेला पेंड्रा मरवाही से 21, जशपुर से 16,मुंगेली से 1 मरीज मिले हैं। प्रदेश में आज हुई 23 मौत में से 18 के मरीज अन्य बीमारियों से ग्रसित थे। शेष 5 मौत कोविड-19 की वजह से हुई है। एक महिला की मृत्यु घर पर ही हो गई थी। एक पुरुष की एम्स रायपुर एंबुलेंस में लाते समय मौत गई थी। एक पुरुष की मृत्यु सर्पदंश की वजह से हुई। जांच में इन सभी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। बताया गया है कि,रायपुर निवासी 40 वर्षीय पुरुष की मृत्यु 30 अगस्त को सुयश हॉस्पिटल रायपुर में हुई थी। इसकी जानकारी 17 दिन बाद आज मिली है। प्रदेश के कुल आंकड़ों पर गौर करें तो अब तक 73966 कोरोना पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। इनमें कुल 35885 मरीज ठीक हो चुके हैं। 611 मरीजों की मौत अब तक हो चुकी है। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 37470 पहुंच पहुंच चुकी है। मेडिकल बुलेटिन देखने के लिए यहां क्लिक करें... 

 

16-09-2020
14 हजार 580 शिक्षकों की नियुक्ति की अनुमति पर मुख्यमंत्री का आभार जताया डीएड बीएड संघ ने

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बुधवार को उनके निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ प्रशिक्षित डीएड एवं बीएड संघ के पदाधिकारियों ने मुलाकात कर राज्य में शिक्षकों की 14 हजार 580 पदों पर नियुक्ति की अनुमति दिए जाने के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया। संघ के पदाधिकारियों ने इसे एक ऐतिहासिक निर्णय बताते हुए कहा कि आपके नेतृत्व वाली सरकार ने कोरोना संकट काल में शिक्षकों की भर्ती की अनुमति देकर पूरे देश के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। इस अवसर पर संसदीय सचिव विकास उपाध्याय, वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, सर्व आर.पी. सिंह, संजीव शुक्ला, छत्तीसगढ़ प्रशिक्षित डीएड एवं बीएड संघ के अध्यक्ष दाउद खान, सचिव सुशांत शेखर धराई, अन्नपूर्णा पाण्डेय, अनिरूद्ध साहू सहित संघ के अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। संघ के अध्यक्ष दाउद खान ने कहा कि 23 साल के बाद इतनी बड़ी संख्या में शिक्षकों की भर्ती हो रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का यह निर्णय शिक्षित युवाओं के रोजगार के प्रति उनकी संवेदनशीलता का परिचायक है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य में नियमित शिक्षकों की भर्ती का निर्णय लेकर शिक्षा के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण प्रस्तुत किया है। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने संघ के पदाधिकारियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। 

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804