GLIBS
11-09-2020
सुपोषण का महत्व समझाने दूरस्थ वनांचल क्षेत्रों में पहुंच रहे पोषण रथ

रायपुर। जागरुकता और सही पोषण के प्रति जानकारी के अभाव के कारण कुपोषण एक बड़ी समस्या बनता जा रहा है। इसके प्रति जनजागरुकता के लिए राष्ट्रीय पोषण माह 2020 का आयोजन किया जा रहा है। इस माह के दौरान छत्तीसगढ़ में पोषण रथ गांव-गांव पहुंचकर लोगों को सुपोषण का महत्व समझाा रहे हैं। रायपुर,बालोद सहित दंतेवाड़ा,बलरामपुर,कोरबा जैसे दूरस्थ वनांचल क्षेत्रों में ये रथ ऑडियो के माध्यम से पोषण और स्वच्छता का संदेश पहुंचा रहे हैं। पोषण रथ के माध्यम से राज्य शासन की सुपोषण संबंधी योजनाओं और महत्वपूर्ण जानकारियों का प्रचार किया जा रहा है। पोषण रथ से बच्चे के पहले 1 हजार दिवस में सही पोषण के महत्व का संदेश गांव-गांव में समझाया जा रहा है। इस दौरान एनिमिया, डायरिया, स्वच्छता तथा पौष्टिक आहार, साफ-सफाई पर आधारित संदेशों का भी प्रचार किया जा रहा है।

18-04-2020
कोरोना से मुक्ति के लिए जनजागरुकता कार्यक्रम में ही नियम की अनदेखी

कांकेर। कोरोना जागरूकता को लेकर शनिवार को ग्राम पंचायत सुरही में जो आयोजन हुआ वह लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है कि यह कैसा आयोजन,जिसमें सोशल डिस्टेंसिग का राग अलापने वाला जिला प्रशासन व नेता खुद ही नियमों को ताक में रखते हुए इस प्रकार एकत्रित भीड़-भाड़ में बेफिक्र होकर एक दूसरे से दूरी बनाने के बजाये करीबी बनाते दिखे। इस पर लोगों का कहना है कि आम जनता को जो सन्देश दे रहे कि सामाजिक दूरी बनाकर चले वही जब ऐसे आयोजनों पर मुहर लगाये तो इसे क्या कहा जाए। विदित हो कि शनिवार को ग्राम सुरही में कोरोना जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें कांकेर विधायक शिशुपाल शोरी द्वारा लोगों को कोरोना संक्रमण के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया। कोरोना से बचने के लिए मास्क का उपयोग व सोशल डिस्टेंस के बारे में समझाया गया व होम आइशोलेशन में रह रहे लोगों की जानकारी भी ली गई।

 

04-01-2020
स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए जनता से लिया जा रहा फीडबैक, ऐसे हैं सवाल....

रायपुर। नगर निगम की ओर से स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 से पहले आम नागरिकों से साफ सफाई को लेकर फीडबैक मांगा जा रहा है। इसके लिए 24 बिन्दुओं में सवाल पूछे जा रहे हैं। साथ ही प्रत्येक में संतुष्ट है कि नहीं इसमें 1 से लेकर 10 तक कितना नंबर निगम को देंगे जैसे सवाल पूछे जा रहे हैं। निगम के सभी आठ जोनों में आम नागरिकों के बीच पाम्पलेट बांटकर स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए फीडबैक लिया जा रहा है। सबसे पहला सवाल तो यह है कि आम नागरिकों को पता है की नहीं कि शहर स्वच्छता सर्वेक्षण में भाग ले रहा है। आप अपने शहर को और अपने आस-पास एरिया में साफ सफाई के लिए कितना नंबर देना चाहेंगे। डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए गीला कचरा और सूखा कचरा अलग-अलग मांगा जाता है कि जैसे सवाल भी पूछे जा रहे हैं। सवाल है कि आपसे कचरा संग्रहण के लिये घरों से 30 रुपए और दुकानों से 50 रुपए की राशि ली जाती है। साथ ही क्या आप पर कचरा फैलाने या पालतु पशुओं द्वारा मल त्याग के लिए जुर्माना लगाया है कि नहीं? जैसे सवाल भी पूछे जा रहे हैं। इसके अलावा पाॅलीथिन का उपयोग नहीं करने जैसे जनजागरुकता के बारे में भी पूछा जा रहा है। 

 

22-11-2019
कोरिया जिले को नशे के चंगुल से आजाद कराने कलेक्टर ने ठानी जिद

बैकुण्ठपुर। कोरिया जिला कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर डीएमएफ के अब तक स्वीकृत कार्यों के प्रगति की समीक्षा कोरिया कलेक्टर डोमन सिंह ने की। स्वीकृत कार्यों के प्रारंभ, अप्रारंभ एवं पूर्ण होने की स्थिति की विस्तारपूर्वक समीक्षा, संबंधित विभागों तथा निर्माण एजेंसियों के साथ की और सभी संबंधितों को गुणवत्तापूर्ण निर्माण, कार्य समयावधि में ही पूर्ण कर हितग्राहियों एवं आमजनों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाने की बात कही। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले को नशा मुक्त बनाने के लिए हम सभी को मिल कर प्रयास करना होगा और इसे जड़ से खत्म करने के लिए वचनबद्ध होकर काम करना होगा। पंचायत स्तर पर सभी सचिवों द्वारा ग्रामीण लोगों से समन्वय कर इस अभियान से जोड़ा जाए। कलेक्टर के निर्देश अनुसार नशा मुक्ति अभियान के संबंध में 10 दिसंबर को सभी ग्राम पंचायतों में ग्रामसभा आयोजित की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि हर पंचायत में पोस्टर, प्रदर्शनी, कला जत्था द्वारा कार्यक्रम, स्कूली बच्चों एवं ग्रामीणों द्वारा रैली, मानव श्रृंखला का आयोजन कर अभियान का उचित प्रचार-प्रसार किया जाए। इस संबंध में कलेक्टर ने सीईओ जिला पंचायत एवं समस्त सचिवों को भी आवश्यक निर्देश दिए। कलेक्टर ने समस्त अधिकारियों एवं सचिव को निर्देशित किया कि तीन चरण में नशा मुक्ति अभियान का क्रियान्वयन किया जाए। प्रथम चरण में नशा करने वाले का चिन्हांकन, द्वितीय चरण में काउंसिलिंग कर उन्हें नशा छोडऩे हेतु प्रेरित करने तथा तृतीय एवं अतिम चरण में उनके इलाज की प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों से कहा कि पंचायत सचिव के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में लोगों से संपर्क कर नशे के दुष्परिणाम के बारे में जनजागरुकता लाएं। कलेक्टर डोमन सिंह ने आमजन से अपील की है कि इस नशा मुक्ति अभियान को सफल बनाने में सक्रिय रूप से सहभागी बनें। इस अवसर पर डीएमएफ के नोडल अधिकारी सहित सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

15-10-2019
गांधी के चिंतन और व्यवहार पर 15 हजार पोस्टकार्ड भेजेंगे

रायपुर। गैर राजनीतिक अभियान के तहत गांधी मैदान में प्रतिमा के समक्ष पद्मश्री डॉ.महादेव प्रसाद पांडेय की उपस्थिति में पोस्टकार्डाें का विमोचन किया गया। यह विमोचन 15 तारीख को दोपहर 3 बजे किया गया। गांधीजी के 150वें जयंती वर्ष में 15 हजार पोस्टकार्ड देशभर के प्रमुख गांधी चिंतकों, जिम्मेदारों एवं समाजसेवियों को भेजे जाएंगे। इनके माध्यम से गांधीजी के जीवन दर्शन और व्यवहार को आमजन तक पहुंचाया जाएगा। बापू के स्वावलंबन, स्वराज, सत्य, अहिंसा और नवाचार के प्रयोग सदैव अनुकरणीय रहे हैं। वे सही मायनों में विश्वपुरुष हैं। गांधीजी  के प्रयोंगों के प्रति जनजागरुकता लाने के उद्देश्य से वर्ष भर यह अभियान चलाया जाएगा। कार्यक्रम में गांधी उपवासकर्ता पंडित अरुणेश कुमार शर्मा, गैर राजनीतिक संस्थान के संयोजक आदेश ठाकुर, नवीन लाजरस, दीपक चौबे एवं संजय सोनी प्रमुखता से उपस्थित थे।

 

01-10-2019
रायगढ़ के सिमरदीप सिंह स्याल राष्ट्रपति कोविंद के हाथों सम्मानित

रायगढ़। गत 24 सितंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दरबार हॉल में रायगढ़ के सिमरदीप सिंह स्याल को राष्ट्रीय सेवा योजना के जरिये बेहतर कार्य करने के लिए सम्मानित किया है। बता दें कि सिमरदीप सिंह स्याल के दादा भारतीय सेना में सर्विस दे चुके हैं। वहीं सिमरदीप के पिता बरविंदर सिंह अपने जमाने में नटवर स्कूल के छात्र नेता रहे हैं। सिमरदीप सिंह स्याल ने रायगढ़ से अपनी उच्चतर माध्यमिक तक की पढ़ाई पूरी करने के बाद शंकरा भिलाई से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और यहीं से उनका जुड़ाव एनएसएस में हो गया। अभी सिमरदीप सिंह के नेतृत्व में शंकरा भिलाई के एनएसएस की एक कंपनी है जो कि भारत सरकार की योजनाओं को लेकर आम जनता के बीच पहुंचकर जनजागरुकता पैदा करती है। साथ ही उनकी  टीम के साथियों ने महिलाओं को आत्मरक्षा के लिये प्रशिक्षण दिया है। लगभग डेढ़ हजार लोगों के लिए रक्तदान किया है। सिमरदीप जनवरी 2018 के दौरान पुणे में आयोजित आठवीं भारतीय छात्र संसद में शामिल हो चुके हैं और स्टूडेंट कौंसिल के सदस्य भी हैं। सिमरदीप की कामयाबी और राष्ट्रपति के हाथों मिले सम्मान को लेकर पूरा परिवार गदगद है।  सबको लगता है कि बेटे ने हमारे साथ-साथ पूरे शहर का नाम रोशन  किया है। राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित होने के बाद राजधानी रायपुर में सिमरदीप ने राज्यपाल अनुसईया उइके से भेंट की।  राज्यपाल ने एनएसएस का राज्यस्तरीय कैम्प रायगढ़ में आयोजित करने की बात कही है। संभवत: दिसंबर में यह आयोजन हो सकता है। 

 

 

27-09-2019
कलेक्टर ने स्वच्छता व सुपोषण रथ को दिखाई हरी झंडी

बीजापुर। बीजापुर कलेक्टर केडी कुंजाम ने स्वच्छता एवं सुपोषण रथ को आज जिला कार्यालय के प्रांगण से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। स्वच्छता का संदेश देते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में जागरुकता लाने के लिए स्वच्छता एवं सुपोषण रथ व कला- जत्था दल को रवाना किया गया है। बीजापुर जिले के चारों विकासखण्ड में स्वच्छता ही सेवा एवं सुपोषण संबंधित हर दिन जनजागरुकता के लिए कला जत्था दल के माध्यम से जागरूक किया जाएगा। 

 

18-09-2019
सरस्वती स्कूल के बच्चों ने मानव श्रृंखला बनाकर लोगों को दिया प्लास्टिक फ्री का संदेश

कोरबा। प्लास्टिक फ्री कोरबा एवं स्वच्छता के प्रति जनजागरुकता लाने आज सरस्वती शिशु मंदिर कोरबा पूर्व के छात्र-छात्राओं ने मानव श्रृंखला बनाकर एवं स्वच्छता रैली का आयोजन कर प्लास्टिक का उपयोग न करने, गीला सूखा कचरा अलग-अलग देने तथा आसपास गदंगी न फैलाने का संदेश लोगों तक पहुंचाया। आयुक्त राहुल देव के मार्गदर्शन में नगर पालिक निगम कोरबा द्वारा प्लास्टिक फ्री कोरबा का महाअभियान चलाया जा रहा है, जिसमें विद्यालयीन छात्र-छात्राओं के साथ-साथ नगर के व्यावसायिक व स्वयंसेवी संगठनों, महिला स्वसहायता समूहों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। इसी कड़ी में आज सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल कोरबा पूर्व के छात्र-छात्राओं ने मानव श्रृंखला का निर्माण किया तथा स्वच्छता रैली निकाली। उन्होंने इसके माध्यम से प्लास्टिक का उपयोग न करने, गीला एवं सूखा कचरा अलग-अलग डस्टबिन में संग्रहित करने तथा सफाईमित्र को सूखा व गीला कचरा पृथक-पृथक देने,  अपने आसपास गदंगी न फैलाने, सार्वजनिक स्थानों पर कचरा न डालने का संदेश दिया। विद्यालय के प्राचार्य आरके देवांगन एवं विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिकाओं ने इस कार्य में भरपूर सहयोग दिया। इस मौके पर वरिष्ठ स्वच्छता निरीक्षक सुनील वर्मा, पीआईयू सुनील द्विवेदी, स्वच्छता पर्यवेक्षक अजीतकुमार परमहंस, रामप्रसाद मिर्री के साथ स्वच्छ कोारबा स्काड की टीम उपस्थित रही। आज नगर पालिक निगम कोरबा द्वारा प्लास्टिक फ्री कोरबा के अभियान के तहत शहर के विभिन्न स्थानों, बुधवारी बाजार, सरस्वती शिशु मंदिर, अंधरीकछार स्कूल चौक से होते हुए आईटीआई चौक एवं बालको रोड में सड़क के किनारे बिखरे हुए प्लास्टिक अपशिष्ट को चुनकर एकत्रित करने का अभियान चलाया तथा 100 किलो प्लास्टिक अपशिष्ट एकत्र किया।

 

17-09-2019
निगम के दफ्तरों से प्लास्टिक की बोतलें बाहर, अब इनका होगा उपयोग

रायपुर। नगर निगम रायपुर की ओर से प्लास्टिक के खिलाफ अभियान छेड़ा गया है। जगह-जगह से सिंगल यूज पॉलीथिन जब्त की जा रही है। जनजागरुकता लाने के लिये रैलियां भी निकालकर लोगों को समझाइश दी जा रही है। इससे पहले निगम की ओर से खुद ही प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करने की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। जोन क्रमांक 1 ,2 और 7 में प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद कर दिया गया है। आज जोन क्रमांक 7 के कार्यालय से प्लास्टिक की बोतलों को बाहर निकाला गया। जोन कमिश्नर विनोद पांडे ने बताया कि कर्मचारियों को प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करने की शपथ भी दिलायी गई।

पीने के पानी के लिये यहां स्टील का ड्रम, मग तथा गिलास की व्यवस्था कर दी गई है। इधर जोन क्रमांक 1 में जोन कमिश्नर दिनेश कोसरिया ने तांबे की तथा कार्यपालन अभियंता लोकेश चंद्रवंशी ने स्टेनलेस स्टील की बोतल का इस्तेमाल कर कर्मचारियों को भी प्लास्टिक की बोतलों के प्रयोग नहीं करने की हिदायत दी है। यहां भी पीने के पानी के लिये स्टील का ड्रम की व्यवस्था की गई है। इधर जोन क्रमांक 2 के जोन कमिश्नर नेतराम चंद्राकर ने बताया कि जोन कार्यालय में प्लास्टिक की बोतलों को प्रतिबंधित करते हुए कर्मचारियों को निर्देश दिये गये है कि पीने के पानी के लिये प्लास्टिक की बोतलों के बदले कांच या स्टील के गिलास का उपयोग करें। आज सुबह निगम के जोन 2 तथा रेलवे के अधिकारियों की संयुक्त टीम की ओर से रैली निकालकर जनजागरुकता अभियान चलाया गया।  साथ ही महालक्ष्मी मार्केट पंडरी तथा तेलघानी नाका चौक से स्टेशन चौक तक दुकानों की जांच की गई। 15 दुकानों में सिंगल यूज पॉलीथीन जब्त कर उनसे 5 हजार रुपए जुर्माना भी वसूला गया। इधर शास्त्री बाजार में निगम के स्वास्थ्य अधिकारी एके हलदार तथा जोन क्रमांक 4 की टीम की ओर से दुकानों और पसरे वालों की जांच की गई। बाजार में आने वाले नागरिकों को कपडेÞ़ के थैले भी बांटे गये। साथ ही नागरिकों को समझाइश भी दी गई कि पॉलीथिन से पर्यावरण को होने वाले नुकसान को देखते हुए कपड़े के थैले ही खरीदारी में इस्तेमाल किये जाएं। इधर सिविल लाइन क्षेत्र में पार्षद इंद्रजीत सिंह गहलोत के नेतृत्व में रावण पुतला से पंचशील नगर तक प्लास्टिक के इस्तेमाल नहीं करने के लिये जनजागरुकता रैली निकाली गई।

 

14-09-2019
महिला के हाथ में कपड़े का थैला देख निगम कर्मियों ने कहा धन्यवाद...

रायपुर। रायपुर नगर निगम द्वारा सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। पालीथिन की जब्ती के साथ जनजागरुकता के लिए भी अभियान चलाया जा रहा है। आज दोपहर शास्त्री मार्केट में निगम द्वारा चलाए जा रहे अभियान के दौरान एक महिला के हाथों में कपड़े का थैला देखकर निगम कर्मियों ने उनकी प्रशंसा कर उन्हें धन्यवाद दिया। बता दें कि शास्त्री मार्केट के भीतर और बाहर तीन दिनों के भीतर करीब 15 किलो पालीथिन की थैलियां जब्त की जा चुकी हैं। दुकानदारों को समझाइश देने के साथ ही दुकानों के बाहर पालीथिन का प्रयोग नहीं करने के लिए स्टीकर भी चिपकाए जा रहे हैं। इधर महादेव घाट के पास आज 30 अस्थायी दुकानों और होटलों के खिलाफ  कार्रवाई की गई। जोन क्रमांक 5 के स्वछता निरीक्षक दिलीप साहू ने बताया कि महादेव घाट के विसर्जन स्थल के आसपास अस्थायी होटल और दुकानदार पालीथिन की पन्नियों का प्रयोग कर रहे थे। उनसे करीब 3 किलो पालीथिन जब्त कर उनसे साढ़े तीन हजार रुपए का जुर्माना भी वसूला गया। इसी तरह की कार्रवाई जोन क्रमांक 1 और 8 द्वारा भी की गई।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804