GLIBS
15-10-2019
जोगी, रमन भेजे जा सकते हैं जेल, मोहन मरकाम के बयान से सियासी उफान!

रायपुर। जगदलपुर में मंगलवार को प्रदेश कांग्रेसाध्यक्ष मोहन मरकाम ने मीडियाकर्मियों से चर्चा करते हुए एक ऐसा बयान दे दिया है जिससे नेताओं में हड़कंप मच गया है। कई नेताओं के दिल की धड़कनें तेज हो गई हैं। मोदी है तो मुमकिन है, की तर्ज पर  यहां भी कहा जा रहा है कि सियासत में कभी भी कुछ भी मुमकिन हो सकता है। दरअसल मोहन मरकाम ने यह खुलासा कर दिया है कि प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जेल भेजे जा सकते हैं, क्योंकि वे दोनों भ्रष्टाचार के दलदल में आकंठ डूबे हैं। कांग्रेस सरकार द्वारा  दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों को जेल भेजने की तैयारी की जा रही है। दंतेवाड़ा उपचुनाव में शानदार जीत के बाद आत्मविश्वास से भरे पीसीसी अध्यक्ष ने चित्रकोट उपचुनाव में भी जीत की कामना लिए प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे कानूनी कार्रवाई आगे बढ़ रही है, दोनों पूर्व मुख्यमंत्री  बेचैन हैं। मरकाम के अनुसार नान घोटाला, टेंडर घोटाला सहित सभी मामलों की जांच तेज हो गई है। ज्ञात हो कि अजीत जोगी के खिलाफ अंतागढ़ उपचुनाव में खरीद-फरोख्त का आरोप है।  दूसरी ओर वे फर्जी जाति प्रमाण पत्र मामले में भी फंसे हैं। इधर नान घोटाला प्रकरण में शिवशंकर भट्ट ने डॉ रमन सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए कोर्ट में शपथ पत्र दिया है। अंतागढ़ मामले में मंतुराम पवार ने भी कोर्ट में शपथ पत्र पेश कर डॉ रमन सिंह पर कई आरोप लगाए हैं। 

 

22-09-2019
मंतूराम पवार के खिलाफ धोखाधड़ी का जुर्म दर्ज कराने थाना पहुंचे भाजपा कार्यकर्ता

कांकेर। मंतूराम पवार के अंतागढ़ उपचुनाव में हुए खरीद-फरोख्त का सनसनीखेज खुलासा करने व एक के बाद एक भाजपा के दिग्गजों पर आरोप लगाने के बाद आज अंतागढ़ विधानसभा क्षेत्र के पखांजूर थाने में भाजपाइयों द्वारा मंतूराम के खिलाफ  मामला दर्ज कराये जाने के आवेदन से एक बार फिर क्षेत्र में खलबली मच गई है। आज बड़ी संख्या में भाजपाइयों ने पखांजूर थाना पहुंचकर मंतूराम के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराने थाना प्रभारी को आवेदन दिया । भाजपाइयों ने मंतूराम पवार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 1990 में सीपीआई(एम) के प्रत्याशी के तौर पर विधानसभा चुनाव में उनके द्वारा जो नामांकन दाखिल किया था उस दौरान उनकी उम्र 25 वर्ष से कम थी। मंतूराम ने उस समय झूठा शपथपत्र प्रस्तुत कर नामांकन दाखिल कराया था। मंतुराम द्वारा जो शपथ पत्र दिया गया था उस वक्त उसमें उनकी उम्र 25 वर्ष से कम थी। भाजपाईयों ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री हर मामले की जांच के लिए एसआईटी गठन कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें इस मामले के लिए भी एसआईटी का गठन करना चाहिए और जिस तरीके से अमित जोगी को जाति मामले को लेकर जेल भेजा गया ठीक उसी तरह मंतूराम के खिलाफ भी भी कार्रवाई करे अन्यथा बीजेपी कार्यकर्ता सड़क से लेकर विधानसभा तक प्रदर्शन करेंगे। शिकायत करने वालों में असीम राय नगर पंचायत अध्यक्ष, प्रीतपाल सिंह, शिरुगु बाई, फूलवती मंडावी, नारायण साहा, स्वतंत्र नामदेव, रेखा साना, दीपक दास, बाबुल, निमाई, तपन, ममता, आरती, गणेश आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे। इस संबंध में अपनी सफाई पेश करते हुए मंतूराम पवार ने कहा है कि अपनी जन्म तारीख की त्रुटि का सामना करने तैयार हूं। 1990 में मेरी उम्र 26 वर्ष थी। 16/3/63 में मेरा जन्म हुआ है। जो भी भाजपाई मेरे खिलाफ पखांजूर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने गए हैं वे माफी मांगे अन्यथा सभी प्रमुख नेताओं के नाम पर मानहानि का दावा करूंगा। वहीं इस मामले में पखांजूर थाना प्रभारी ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा आवेदन दिया गया है। मामले की जांच की जाएगी।

नरेश भीमगज की रिपोर्ट 

09-09-2019
कांग्रेस ने फूंका डॉ. रमन, अजीत जोगी और मंतु पवार का पुतला

कांकेर। अंतागढ़ उपचुनाव में हुए खरीद-फरोख्त मामले में मंतु पवार द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, अजीत जोगी और पूर्व मंत्री राजेश मूणत पर लगाये गंभीर आरोप के बाद पखांजूर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आदेश अनुसार स्थानीय विधायक एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी संयुक्त कार्यकर्ताओं द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का पुतला दहन पखांजूर पुराना बाजार चौक में किया गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रमन सिंह, अजीत जोगी, मंतुराम पवार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। इस पुतला दहन कार्यक्रम में ब्लॉक अध्यक्ष इंदजीत विस्वास, बप्पा गांगुली, राजदीप हालदार, सीमेन मंडल, मिथलेश साहू, बापी शील, हर्षित मृधा, सुबोध विस्वास, वरुण मंडल, अशोक,विप्लव, अखिल तथा अन्य कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

 

 

नरेश भीमगज की रिपोर्ट 

07-09-2019
Breaking : मंतूराम ने मजिस्ट्रेट बयान में कहा, अंतागढ़ उपचुनाव में साढ़े 7 करोड़ में हुई थी डील

रायपुर। अंतागढ़ उपचुनाव पर मंतूराम पवार ने बड़ा खुलासा किया है। मंतूराम पवार के खुलासे ने प्रदेश की राजनीति को हिला कर रख दिया है। मजिस्ट्रेट के सामने बयान में उन्होंने अंतागढ़ उप चुनाव में साढ़े 7 करोड़ रुपए की डील का खुलासा किया है। मंतूराम पवार ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया और कहा कि पूर्व मंत्री राजेश मूणत के बंगले पर यह डील हुई थी। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह, अजीत जोगी, अमित जोगी और राजेश मूणत पर आरोप लगाए हैं। मंतूराम ने धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस मामले में प्रेशर डालकर यह डील कराई गई थी। गौरतलब है कि इस मामले में एक कथित सीडी वायरल हुई थी, जिसमें प्रदेश के बड़े नेताओं सहित कुछ अन्य बड़े नेताओं की आवाजें थी। अंतागढ़ टेपकांड मामले में 11 सितम्बर को अगली सुनवाई होनी है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804