GLIBS
16-09-2020
Video : विकास ने शिक्षकों की भर्ती का रास्ता खोलने मुख्यमंत्री का माना आभार, पूर्व सरकार पर साधा निशाना

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता व सचिव विकास तिवारी ने प्रदेश सरकार की ओर से 14580 शिक्षकों की नियुक्ति का रास्ता खोलने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस सरकार का आभार व्यक्त किया है। विकास तिवारी ने कहा है कि, शिक्षकों की नियुक्ति के बाद लगातार प्रदेश में शिक्षा के स्तर में सुधार होगा और दूरस्थ क्षेत्रों में रहने वाले गरीब और मध्यवर्गी बच्चों को सीधा फायदा मिलेगा। साथ ही कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस आदेश के बाद पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह और भारतीय जनता पार्टी को प्रदेश की जनता से माफी मांगना चाहिए। विकास तिवारी ने कहा है कि, कांग्रेस  पार्टी ने चुनाव के समय यह वादा किया था कि, प्रदेश में रिक्त शिक्षक पदों में सीधी भर्ती की जाएगी और शिक्षा के स्तर और गुणवत्ता में सुधार के लिए कार्य किया जाएगा, जो कि इस आदेश के बाद द्रुत गति से संपादित होगा। 

कांग्रेस प्रवक्ता ने आरोप लगाया है कि, 15 वर्षों के कुशासन के कारण प्रदेश में लगातार शिक्षकों की कमी थी। इसके कारण कारण 2 लाख से अधिक गरीब और मध्यमवर्गीय बच्चों ने अपनी पढ़ाई लिखाई छोड़ दी थी। इसके लिए सीधा जिम्मेदार पूर्वर्ती रमन सरकार ही थी। शिक्षा विभाग में भारी घोटाला करने वाली पूर्ववर्ती रमन सरकार का एकमात्र धेय कमीशनखोरी करना था, जिसके कारण शिक्षकों की भर्ती को लटका कर रखा गया था। छत्तीसगढ़ राज्य शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ा रहा, इसका श्रेय भी पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और भारतीय जनता पार्टी को जाता है। भाजपा को बताना चाहिए कि, किन कारणों से पंद्रह सालों में हजारों पदों में शिक्षकों की नियुक्ति नहीं की गई थी? इसके कारण लाखों बच्चे स्कूल छोड़ने को मजबूर हो गए थे। कांग्रेस प्रवक्ता ने पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह से मांग की है कि, अब समय आ गया है केंद्र में 30 लाख रिक्त पदों में कम से कम तीन लाख पदों पर प्रदेश के पढ़े-लिखे बेरोजगारों को रोजगार दिलाने की पहल करें। तत्काल प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर मोदी सरकार को भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से सीख लेते हुए केंद्र में रिक्त पदों पर तत्काल नियुक्ति प्रारंभ करने कहें।

09-09-2020
लॉक डाउन को लेकर राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना,कहा-खत्म किए रोजगार और छोटे उद्योग

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर कोरोना, लॉक डाउन को लेकर केंद्र पर निशाना साधा है। राहुल ने कहा कि वादा था 21 दिन में कोरोना ख़त्म करने का लेकिन खत्म किए करोड़ों रोजगार और छोटे उद्योग। राहुल गांधी ने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि अचानक किया गया लॉकडाउन असंगठित वर्ग के लिए मृत्युदंड जैसा साबित हुआ। वादा था 21 दिन में कोरोना ख़त्म करने का, लेकिन ख़त्म किए करोड़ों रोज़गार और छोटे उद्योग। राहुल गांधी द्वारा साझा वीडियो के अनुसार 97 लाख प्रवासी मजदूर लॉकडाउन के कारण घर लौटे हैं। इसके साथ ही 7 लाख से अधिक छोटी दुकानें बंद हो सकती है। हर तीन में से एक एमएसई बंद हुई है। जबकि लॉकडाउन में 383 लोगों की मौत हुई है। वहीं 2 करोड़ 7 लाख युवा बेरोजगार हो गए हैं। वीडियो के कांग्रेस ने मांग की है कि लॉकडाउन में गरीबों के लिए न्याय योजना केंद्र की मोदी सरकार लागू करें।

 

24-08-2020
बढ़ती बेरोजगार को लेकर राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कही यह बात...

नई दिल्ली। कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक और अध्यक्ष पद को लेकर मचे बवाल के बीच राहुल गांधी ने एक बार फिर से बढ़ती बेरोजगारी को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस नेता ने एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि 'लिखा कि एक नौकरी पर 1000 बेरोजगार हैं, क्या कर दिया देश का हाल'राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में एक रिपोर्ट का हवाला दिया है, जिसमें यह दावा किया गया है कि मोदी सरकार की ओर से लॉन्च आत्मनिर्भर स्किल्ड इंप्लॉय इंप्लॉयर मैपिंग (ASEEM) पर पिछले कुछ वक्त में ही करीब 7 लाख लोगों ने नौकरी मांगी थी,लेकिन इनमें से 700 के करीब लोगों को ही नौकरी मिल पाई। बता दें, इससे पहले राहुल गांधी ने कहा था कि मैंने सरकार को पहले ही चेताया था लेकिन उस समय मेरा मजाक उड़ाया गया।

 

22-08-2020
राफेल सौदे को लेकर राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना, बोले-सच को छिपाया नहीं जा सकता

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए शनिवार को कहा कि सच को लाख कोशिश के बाद भी छिपाया नहीं जा सकता। राहुल गांधी ने सरकार के राफेल से जुड़ी सूचना कैग को नहीं देने संबंधी एक अखबार में छपी खबर का हवाला देते हुए कहा कि सरकार राफेल घोटाले पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही है और तथ्य छिपा रही है। उन्होंने ट्वीट किया, राफेल के लिए भारत सरकार के खजाने से पैसा चुराया गया।” इसके साथ ही उन्होंने सच को लेकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के एक कथन का उद्धरण करते हुए लिखा, सच एक है, रास्ते कई हैं। उन्होंने राफेल विमान के चित्र के साथ ही इस संबंध में छपी खबर को पोस्ट किया,जिसमें कहा गया है कि नियन्त्रक एवं महालेखा परीक्षक-कैग ने राफेल ऑफसेट सौदे को लेकर सरकार को रिपोर्ट सौंपी है,जिसमें राफेल पर हुए खर्च का कोई ब्यौरा नहीं है क्योंकि रक्षा मंत्रालय ने कैग को इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है।

 

08-07-2020
सोशल मीडिया में ट्रेंड हुआ #डरगईकांग्रेस, रमन-कौशिक-पांडेय ने प्रदेश सरकार पर साधा निशाना

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी का #डरगईकांग्रेस बुधवार को सुबह से ही सोशल मीडिया पर काफी ट्रेंड हुआ। भाजपा से जुड़े लोगों ने छत्तीसगढ़ सरकार पर जमकर निशाना साधा। भाजपा आईटी सेल के प्रदेश संयोजक दीपक म्हस्के ने बताया कि कांग्रेस की बौखलाहट और बदजुबानी के विरुद्ध भाजपा ने बुधवार को यह अभियान चलाया और छत्तीसगढ़ सरकार से कई सवाल पूछकर, उसके फैसलों पर टिप्पणियाँ करके कहा कि सवालों से डरी और बौखलाई कांग्रेस छत्तीसगढ़ को उजाड़ने का काम कर रही है। सवालों से उसकी घबराहट बताती है कि #डरगईकांग्रेस।पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने ट्वीट किया कि प्रश्नों से परहेज, जवाब पर बौखलाहट और विकास के नाम पर झूठे वादे करने वाली भूपेश बघेल सरकार का सच आज जनता के सामने आ गया है। जब प्रदेश के युवा रोजगार के मुद्दे उठाते हैं, तब उन्हें केवल मुख्यमंत्री का मौन मिलता है। इस प्रतिक्रिया से स्पष्ट है कि प्रश्नों से डर गई कांग्रेस।नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने ट्वीट किया कि, आज प्रदेश का युवा रोजगार के लिए भटक रहा, किसान झूठे वादों से त्रस्त हैं लेकिन कांग्रेस की सरकार भ्रष्टाचार, प्रतिशोध और नाकामी की ज्वाला में कुंठित होकर भाजपा के विरुद्ध झूठे प्रोपेगेंडा फैलाने का काम कर रही है। आज इनको जवाब देना हर प्रदेशवासियों के लिए जरूरी है।

राजनांदगाँव के सांसद संतोष पांडेय ने ट्वीट किया कि युवाओं को नहीं मिला रोजगार छत्तीसगढ़ की निकम्मी कांग्रेस सरकार। युवाओं को रोजगार के नाम पर ठगने वाले छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार के स्वास्थ्य मंत्री खुद दु:खी हैं कि वे अपने वादों को पूरा नहीं कर पा रहे हैं और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल झूठे सपने फिर दिखा रहे। एक अन्य ट्वीट संतोष पांडेय ने किया कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार ने जिस तरह किसानों, युवाओं, महिलाओं, बुजुर्गों को ठगा और छत्तीसगढ़ को बेहाल कर दियाहै, उससे लगता है, भूपेश बघेल ने गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ का नारा बदलकर उजाड़बो छत्तीसगढ़ कर दिया है।पूर्व निगम सभापति संजय श्रीवास्तव ने ट्वीट किया कि जो सरकार सवालों से घबराती हो, अपनी अक्षमता पर कवर चढ़ाती हो, सत्ता की जब ऐसी मति फिर जाती है, सच मानो तब वो सत्ता गिर जाती है।

12-06-2020
चीन सीमा विवाद पर रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कही यह बात...

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर जिस तरह से कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार से सवाल किया था, उसको लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उनपर निशाना साधा है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी कह रहे हैं कि प्रधानमंत्री चीन के साथ सीमा मसले की संवेदनशील जानकारी लोगों के बीच साझा करें। मुझे लगता है कि उनका खुद का भी एक तंत्र है, जिससे वह यह जानकारी हासिल कर सकते हैं। क्या उन्होंने डोकलाम विवाद के समय में चीन के प्रतिनिधि से बात नहीं की थी, जिसके बारे में उन्होंने शुरुआत में इनकार किया था, लेकिन बाद में लोगों के दबाव में उन्होंने इसे स्वीकार किया था।बता दें कि राहुल गांधी ने बुधवार को ट्वीट कर कहा था कि लद्दाख में चीनी हमारे क्षेत्र में दाखिल हो गए हैं, इस बीच प्रधानमंत्री पूरी तरह खामोश हैं और कहीं नजर नहीं आ रहे, इससे पहले राहुल ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से पूछा था कि क्या क्या लद्दाख में चीनी सैनिकों ने भारतीय जमीन पर कब्जा कर लिया है? जिसके बाद रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि ये वही व्यक्ति हैं,जिन्होंने बालाकोट हवाई हमले और 2016 के उरी हमले के बाद सबूत मांगे थे, उन्हें कोई बताए कि चीन जैसे अंतरराष्ट्रीय मामलों पर ट्विटर पर सवाल नहीं पूछा जाना चाहिए। राहुल गांधी ने रविशंकर प्रसाद के इस बयान पर कहा था कि विपक्ष पर अनुचित और गैर जिम्मेदाराना हमला करने के बजाय सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पहले यह बताना चाहिए कि चीनी सैनिकों ने भारत के कितने क्षेत्र पर कब्जा किया है और इस अतिक्रमण के लिए कौन जिम्मेदार है, वो कांग्रेस पर टिप्पणी बाद में कर लें लेकिन पहले सीमा विवाद के बारे में स्पष्टीकरण दें। यही नहीं कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा था कि राष्ट्रीयता और भारतीयता पर भाजपा और आरएसएस का कोई एकाधिकार नहीं है और देश की भूमि पर किसी तरह के अतिक्रमण पर सरकार से सवाल करना बतौर भारतीय नागरिक हमारा कर्तव्य है।

 

27-05-2020
जिला कांग्रेस ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां, भाजपा पर साधा निशाना

राजनादगांव। शहर जिला कांग्रेस ने भूपेश सरकार की उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी। बुधवार को प्रेसक्लब में जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों ने चुनाव में किए गए सभी वादों को निभाने की बात कही। वहीं भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा की राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत मिले हुए पैसों से भारतीय जनता पार्टी की सहमति नहीं है तो कृपया भाजपा के तमाम नेता इस न्याय योजना के तहत मिली हुई राशि को तत्काल मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कर दें ताकि यह राशि प्रदेश में फैल रहे कोरोना संक्रमण से लड़ने के काम आ सके। शहर जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों ने कहा कि यह कैसा विरोध है कि अपने खाते में आए हुए पैसे आप चुपचाप ग्रहण कर लेते हैं और शेष किसानों को गुमराह करने का प्रयास करते हैं ? प्रेसवार्ता में शहर कांग्रेस अध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा,जिला और ग्रामीण अध्यक्ष, महिला शहर अध्यक्ष सहित कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकता मौजूद थे।

 

04-05-2020
केंद्र सरकार पर प्रियंका गांधी ने साधा निशाना, कहा- प्रवासी मुफ्त में यात्रा क्यों नहीं कर सकते

नई दिल्ली। प्रवासी श्रमिकों के लिए रेलवे टिकट का खर्च वहन करने की घोषणा के बाद से कांग्रेस ने सरकार पर चौतरफा हमले शुरू कर दिए हैं। सत्तारूढ़ दल पर कटाक्ष करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि अगर सरकार 'नमस्ते ट्रम्प' कार्यक्रम के लिए 100 करोड़ रुपये खर्च कर सकती है और रेल मंत्री पीएम-केआरई फंड में 151 करोड़ रुपये दान कर सकते हैं, तो ऐसी ही पारस्परिकता संकटग्रस्त प्रवासियों के लिए क्यों नहीं दिखाई जा सकती है।उन्होंने यह भी कहा कि जब विदेशों में फंसे लोगों को वहां से फ्री में लाया गया तो फिर प्रवासियों से ट्रेन टिकट का पैसा क्यों लिया जा रहा है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, "मजदूर राष्ट्र निर्माता हैं, लेकिन आज वे यह दर्द सहने के लिए मजबूर हैं।"
उन्होंने कहा, "जब हम विमानों का उपयोग कर विदेशी भूमि से लोगों को निकाल कर ला सकते हैं, नमस्ते ट्रम्प में 100 करोड़ रुपये खर्च कर सकते हैं और रेल मंत्री पीएम-केयर फंड को 151 करोड़ रुपये दान कर सकते हैं, तो फिर इस संकट के समय में मजदूरों को मुफ्त यात्रा करने की अनुमति क्यों नहीं है।"

28-04-2020
राहुल ने कर्ज माफी पर केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा- इसीलिए भाजपा ने संसद में सच को छुपाया

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक ने एक आरटीआई में स्वीकार किया है कि उसने शीर्ष 50 विलफुल डिफॉल्टर्स के 68,607 करोड़ की बड़ी रकम बट्टा खाते में डाल दी है। अब कांग्रेस ने देश के कई बड़े पूंजीपतियों के 68,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज बट्टे खाते में डाले जाने को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि कुछ सप्ताह पहले संसद में उनके प्रश्न का उत्तर नहीं देकर, इसी सच को छिपाया गया था।राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि, संसद में मैंने एक सीधा सा प्रश्न पूछा था- मुझे देश के 50 सबसे बड़े बैंक चोरों के नाम बताइए। वित्तमंत्री ने जवाब देने से मना कर दिया। अब आरबीआई ने नीरव मोदी, मेहुल चोकसी सहित भाजपा के 'मित्रों' के नाम बैंक चोरों की लिस्ट में डाले हैं। इसीलिए संसद में इस सच को छुपाया गया। राहुल गांधी ने अपने इस ट्वीट में अपना वो वीडियो भी शेयर किया है,जिसमें उन्होंने सरकार से देश के पचास डिफॉल्टरों के नाम पूछे थे। कांग्रेस का दावा है कि 24 अप्रैल को आरटीआई के जवाब में रिजर्व बैंक ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए 50 सबसे बड़े बैंक घोटालेबाजों का 68,607 करोड़ रुपए माफ करने की बात स्वीकार की है। इनमें भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी और नीरव मोदी के नाम भी शामिल हैं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस मामले पर देश को जवाब देना चाहिए। 

 

28-07-2019
केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह ने मृतक के परिजनों की मुलाकात, राज्य सरकार पर साधा निशाना

सूरजपुर। पुलिस अभिरक्षा से फरार आरोपी की मौत का मामला अब पूरी तरह राजनैतिक रंग लेता जा रहा है। पिछले 2 दिनों में पूर्व गृहमंत्री मंत्री और वर्तमान खाद्य मंत्री के दौरे के बाद आज केंद्रीय मंत्री ने मृतक के परिजनों से मुलाकात की और राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए सीबीआई जांच की मांग की। वहीं स्थानीय लोगों के द्वारा राज्य सरकार और पुलिस के खिलाफ जमकर जमकर नारेबाजी की गई। साथ ही दोषी पुलिसकर्मियों को फांसी की मांग की गई। 
22 जुलाई को अंबिकापुर में खाद्यमंत्री के रिश्तेदार की  पुलिस कस्टडी में युवक पंकज की मौत के मामले में केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह मृतक के गांव सलका पहुंचीं।  उनके साथ युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा, भाजपा के प्रदेश मंत्री अनुराग सिंहदेव, पूर्व खेल मंत्री भैया लाल राजवाड़े  सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता पहुंचे। सलका पहुंचकर केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह के मृतक की पत्नी और परिजनों से मुलाकात की और उनकी आपबीती सुनी। इसके बाद उन्होंने राज्य सरकार और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए सीबीआई जांच की मांग की। उन्होंने मीडिया को बताया कि इस पूरे मामले में पुलिस दोषी है राज्य सरकार निष्क्रिय है। उन्हें शंका है कि इस पूरे मामले में स्थानीय पुलिस जांच को प्रभावित कर सकती है इसलिए वे इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से कर रही हैं।  उन्होंने यह भी कहा कि वे इस पूरे मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री, गृहमंत्री और केंद्रीय गृह मंत्री अमित साह से चर्चा की है। वही युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष और मंत्री अनुराग सिंहदेव ने भी राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए पुलिस पर मामले की लीपापोती का आरोप लगाया।  इस पूरे मामले में परिजन भी आरोपी पुलिसकर्मियों पर  मांग करते हुए आरोपियों को फांसी की सजा की मांग कर रहे हैं। वे भी इस पूरेे मामले की सीबीआई जांच चाहते हैं। वहीं  स्थानीय लोगों में भी पंकज की मौत को लेकर खासा आक्रोश देखने को मिला। स्थानीय लोगों ने पुलिस प्रशासन और भूपेश बघेल मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए जांच की मांग की।  साथ ही दोषी पुलिसकर्मियों को फांसी देने की मांग की। मांग पूरी ना होने की स्थिति में उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। गौरतलब है कि मृतक पंकज खाद्य मंत्री अमरजीत भगत का रिश्तेदार था। ऐसे में सवाल यह भी है कि मंत्री के रिश्तेदार पुलिस से सुरक्षित नहीं हैं तो प्रदेश के आम लोगों की स्थिति क्या होगी ?

 

18-06-2019
वीना मलिक ने सानिया मिर्जा पर साधा निशाना, बोलीं- बच्चे को हुक्के वाली जगह लेकर जाती हो? मिला ये जवाब

 

नई दिल्ली। भारत ने पाकिस्तान को रविवार को हुए मुकाबले में 89 रनों से मात दे दी। इसके साथ ही भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप  में पाकिस्तान से नहीं हारने का रिकॉर्ड बरकरार रखा। भारत से मिली हार के बाद पाकिस्तान में बवाल मचा हुआ। पाकिस्तानी क्रिकेटरों की जमकर आलोचना हो रही है। इसी बीच  सानिया मिर्जा  और पाकिस्तानी एक्ट्रेस वीना मलिक के बीच ट्विटर पर वॉर छिड़ गया है। दरअसल, भारत-पाकिस्तान मैच के बाद एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसको देख कहा जा रहा है कि पाकिस्तानी खिलाड़ी शनिवार की रात इंग्लैंड में डिनर के लिए एक रेस्तरां में गए थे, जबकि अगले दिन भारत से मैच था। कहा जा रहा है कि इन्हें अपनी फिटनेस की बिल्कुल चिंता नहीं की। वीना मलिक ने सानिया मिर्जा की जंक फूड वाले रेस्तरां में अपने बच्चे को ले जाने की आलोचना की थी।

वीना मलिक ने लिखा था: सानिया, मैं वास्तव में आपके बच्चे के लिए बहुत चिंतित हूं, आपलोग अपने बच्चे के साथ शीशी पैलेस में हैं क्या यह खतरनाक नहीं है? जहां तक मुझे जानकारी है कि आर्ची जंक फूड के लिए पहचान रखता है और यह किसी एथलिट और बच्चे के लिए ठीक नहीं है। क्या आपको यह पता नहीं है आप खुद एक एथलीट हैं और मां भी। वीना मलिक ने इस तरह सानिया मिर्जा पर निशाना साधा था। इसके जवाब में सानिया मिर्जा ने भी ट्वीट किया।

सानिया मिर्जा ने लिखा: वीना, मैं अपने बच्चे को शीशा पैलेस लेकर नहीं गई थी। आपको और बाकी दुनिया को यह चिंता करने की जरूरत नहीं है कि मैं अपने बच्चे का ख्याल किसी से भी कम रखती हूं। दूसरी बात यह है कि मैं ना तो पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की डाइटीशियन हूं और ना ही उनकी मां, प्रिंसिपल और टीचर। सानिया मिर्जा ने इस तरह वीना मलिक के ट्वीट का जवाब दिया है।

11-05-2019
रामविचार नेताम ने विपक्षियों पर साधा निशाना, जानिए क्या कहा....

इंदौर। राज्यसभा सांसद और भाजपा आदिवासी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविचार नेताम ने शनिवार को इंदौर में एक प्रेस कांफ्रेंंस को संबोधित किया। इसमें उन्होंने विपक्षियों को घेरा। प्रेसवार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि इस समय सारे चोर एक साथ होकर मोदी हटाओ-मोदी भगाओ के नारे लगा रहे हैं। सभी पार्टी का अस्तित्व संकट में है। 2019 में एक बार फिर मोदी पीएम बनेंगे। रामविचार नेताम ने कांग्रेस के स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू पर भी निशाना साधा। उन्होंने सिद्धू को पाकिस्तान का एंजेट करार दिया। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804